पीरियड के कितने दिन बाद पूजा करना चाहिए?...


play
user

Dr Kanchan singh

Dental Surgeon , Health Advisor

2:03

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पीरियड में पूजा करें या ना करें यह एक सोशल में थे नॉरमल साइंटिफिकली ऐसा पीरियड से कोई लेना देना नहीं होता है यह एक तरह का मिसकनसेप्शन है जो आज भी एक मिसकनसेप्शन यानी प्रथा है जो आदमी पौधों की जाती है पीरियड के समय पूजा करना एक धार्मिक रोग का प्रतीक है जो कि आजकल के पढ़े लिखे समाज में नहीं माना जाता यह अवधारणा में आपको इतना जरूर बताना चाहूंगी क्योंकि मैं इस फिल्म में काम करती हूं मैं आपको यह बताना चाहूंगी कि धरना कहां से चली आ रही है पुराने टाइम में जब पीरियड्स और जब औरतों को पीरियड होते थे जिस समय पर इतनी सुविधाएं उपलब्ध नहीं थी पैड की पानी की यह सारी सुविधाएं उपलब्ध नहीं थी उस टाइम पर औरतों को मंदिर जाने में दिक्कत होती थी इसलिए रोका जाता था क्योंकि उनके पास पानी कपड़े ऐसी सुविधाएं नहीं होती थी और यह उस टाइम की बात है तुम्हारे दादा दादी से भी पहले किस जमाने की बात तू उस टाइम पर तो बहुत ही बिल्कुल ही इंसान उसने विकसित नहीं था और यही धारणा है फिर आगे चलती रही क्योंकि उन उन दिनों के दौरान औरतों को इसमें पानी की सुविधाएं कपड़ों की सुविधाएं न होने के कारण मंदिर जैसे जगह में जहां पर के पर जाएंगे तो ब्लड की ड्राप गिरेंगे और नीचे भी गंदगी फैली कि इस वजह से रोका जाता था कि वह अपने घर के बाहर कम होने चाहिए ताकि बार-बार कपड़े ना बदलने पड़े और बार-बार सारी जगह दनदीना पर धीरे-धीरे इसको एक प्रथा में बदल दिया क्या और यही प्रथा पर दादी से दादी दादी से धंधा दिखता है पवित्र पवित्र मन होता है शरीर नहीं होता इसीलिए इसे कोशिश करें कि इस धारणा से बाहर आए और अपने आसपास भी जो औरतें हैं या अपने बेटी बहू यही शिक्षा धन्यवाद

period me puja kare ya na kare yah ek social me the normal scientifically aisa period se koi lena dena nahi hota hai yah ek tarah ka misakanasepshan hai jo aaj bhi ek misakanasepshan yani pratha hai jo aadmi paudho ki jaati hai period ke samay puja karna ek dharmik rog ka prateek hai jo ki aajkal ke padhe likhe samaj me nahi mana jata yah avdharna me aapko itna zaroor batana chahungi kyonki main is film me kaam karti hoon main aapko yah batana chahungi ki dharna kaha se chali aa rahi hai purane time me jab periods aur jab auraton ko period hote the jis samay par itni suvidhaen uplabdh nahi thi pad ki paani ki yah saari suvidhaen uplabdh nahi thi us time par auraton ko mandir jaane me dikkat hoti thi isliye roka jata tha kyonki unke paas paani kapde aisi suvidhaen nahi hoti thi aur yah us time ki baat hai tumhare dada dadi se bhi pehle kis jamane ki baat tu us time par toh bahut hi bilkul hi insaan usne viksit nahi tha aur yahi dharana hai phir aage chalti rahi kyonki un un dino ke dauran auraton ko isme paani ki suvidhaen kapdo ki suvidhaen na hone ke karan mandir jaise jagah me jaha par ke par jaenge toh blood ki drop girenge aur niche bhi gandagi faili ki is wajah se roka jata tha ki vaah apne ghar ke bahar kam hone chahiye taki baar baar kapde na badalne pade aur baar baar saari jagah dandina par dhire dhire isko ek pratha me badal diya kya aur yahi pratha par dadi se dadi dadi se dhandha dikhta hai pavitra pavitra man hota hai sharir nahi hota isliye ise koshish kare ki is dharana se bahar aaye aur apne aaspass bhi jo auraten hain ya apne beti bahu yahi shiksha dhanyavad

पीरियड में पूजा करें या ना करें यह एक सोशल में थे नॉरमल साइंटिफिकली ऐसा पीरियड से कोई लेना

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  128
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

Related Searches:
पीरियड के कितने दिन बाद पूजा करनी चाहिए ; पीरियड के कितने दिन बाद पूजा करना चाहिए ; माहवारी के कितने दिन बाद पूजा करनी चाहिए ; पीरियड के कितने दिन बाद पूजा करें ; पीरियड के कितने दिन बाद पूजा कर सकते हैं ; मासिक धर्म में कितने दिन बाद पूजा करनी चाहिए ; पीरियड में कितने दिन बाद पूजा करना चाहिए ; मासिक धर्म के कितने दिन बाद पूजा करनी चाहिए ; पीरियड के पांचवें दिन पूजा कर सकते हैं ; माहवारी के कितने दिन बाद पूजा करना चाहिए ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!