सफल उधमिता के लिए मुख्य कौशल और गुण क्या है?...


play
user

Adv_vinayak Ahirkar

Business Owner

3:42

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हे हाय गुड मॉर्निंग माय नेम इज विनय एलएलबी कॉलेज थर्ड ईयर में हूं चैमसिस के एग्जाम के लिए योगदान हुआ था तो थोड़ा एग्जाम पोस्टपोन हो गई है आपका क्वेश्चन भी बड़ा खतरनाक है सफलता के लिए मुख्य कौशल और गुण क्या है वाओ अमेजिंग स्टोरी है मेरे पास एक आदमी मेले में गुब्बारे बेचकर अपना गुजर-बसर करता था उसके पास लाल नीले पीले हरे और इसके अलावा कई रंगों के गुब्बारे थे जब उसकी बिक्री कम होने लगती है तो वह हिलियम गैस से भरा एक गुब्बारा हवा में उड़ा ले बिक्री का मोदी का गुब्बारा वा में उड़ते गुब्बारे को देखते चाई गुब्बारा पाने के लिए हां तो रोते मतलब लेने के लिए चल जाता कि मेरे को भी घूम पहुंची तो वे उसके पास गुब्बारा खरीदने के लिए पहुंच जाते और उस आदमी की बिक्री फिर बढ़ने लगती है उस आदमी को उस आदमी की बिक्री जब भी गति उसे बनाने बढ़ाने के लिए वह गुब्बारे उड़ाने की उड़ाने का यह तरीका अपनाया था 1 दिन गुब्बारे वाले को मैसेज हुआ कि कोई उसके जैकेट को खींच रहा है उसने पलट कर देखा तो वहां एक बच्चा खड़ा था बच्चे ने उससे पूछा अगर आप हवा में किसी काले गुब्बारे को छोड़ो तो क्या वह भी उठेगा हम बच्चे ने उससे पूछा अगर आप हवा में किसी काले गुब्बारे को छोड़ोगे तो क्या हुआ अभी उदय का बच्चे की इस सवाल ने गुब्बारे वाले के मन को छू लिया बच्चे की ओर मुड़कर उसने जवाब दिया बेटे गुब्ब अपने रंग की वजह से नहीं बल्कि उसके अंदर भरी चीज की वजह से उड़ता है तो हमारी जिंदगी में भी यही उसूल लागू होता है हम चीज हमारी अंदरूनी शख्सियत है हमारी शख्सियत की वजह से हमारा जो नजरिया बनता है वही हमें ऊपर होता है मतलब अपना एटीट्यूड अच्छा होना चाहिए तो हम अच्छी तरह से सक्सेसफुल हो सकते हैं हार्वर्ड विश्वविद्यालय द्वारा किए गए अध्ययन के मुताबिक 5% मौकों पर इंसान को नौकरी और तरक्की उसके नजरिए की वजह से मिलती है मतलब है 5% नौकरियां एटीट्यूड की वजह से मिलते हैं और 15% नौकरियां सिर्फ पढ़ाई लिखाई से मिलती है तो आप सोच सकते हो तो हंड्रेड मैसेज पढ़ा है आप पर जो भी कुछ पढ़ते हो उसका सिर पर पंजा प्रतिशत होता लेकिन आप जो आपका जो नजरिया होता है देखने का उससे आपको एटिफाई परिषद नौकरी मिलने का चांस ज्यादा रहते हैं और सक्सेसफुल भी ऐसे ही होते हैं एक नजर यह आपका एटीट्यूड अच्छा होगा तो सक्सेसफुल आराम से हो जाओगे तो एटीट्यूड पॉजिटिव एटीट्यूड होता है तो हम कहीं भी जगह पर हो कहीं भी सत्र में कहीं पर भी सेक्टर में कोई भी फील्ड में हो चाहे सक्सेस शुरू हो जाते हैं लेकिन मन्ना सक्सेसफुल हो जाए

hai hi good morning my name is vinay llb college third year me hoon chaimsis ke exam ke liye yogdan hua tha toh thoda exam postpone ho gayi hai aapka question bhi bada khataranaak hai safalta ke liye mukhya kaushal aur gun kya hai vao amazing story hai mere paas ek aadmi mele me gubbare bechkar apna gujar basar karta tha uske paas laal neele peele hare aur iske alava kai rangon ke gubbare the jab uski bikri kam hone lagti hai toh vaah helium gas se bhara ek gubbara hawa me uda le bikri ka modi ka gubbara va me udte gubbare ko dekhte chai gubbara paane ke liye haan toh rote matlab lene ke liye chal jata ki mere ko bhi ghum pahuchi toh ve uske paas gubbara kharidne ke liye pohch jaate aur us aadmi ki bikri phir badhne lagti hai us aadmi ko us aadmi ki bikri jab bhi gati use banane badhane ke liye vaah gubbare udane ki udane ka yah tarika apnaya tha 1 din gubbare waale ko massage hua ki koi uske jacket ko khinch raha hai usne palat kar dekha toh wahan ek baccha khada tha bacche ne usse poocha agar aap hawa me kisi kaale gubbare ko chodo toh kya vaah bhi uthega hum bacche ne usse poocha agar aap hawa me kisi kaale gubbare ko chodoge toh kya hua abhi uday ka bacche ki is sawaal ne gubbare waale ke man ko chu liya bacche ki aur mudkar usne jawab diya bete gubb apne rang ki wajah se nahi balki uske andar bhari cheez ki wajah se udta hai toh hamari zindagi me bhi yahi usul laagu hota hai hum cheez hamari andaruni shakhsiyat hai hamari shakhsiyat ki wajah se hamara jo najariya banta hai wahi hamein upar hota hai matlab apna attitude accha hona chahiye toh hum achi tarah se successful ho sakte hain Harvard vishwavidyalaya dwara kiye gaye adhyayan ke mutabik 5 maukon par insaan ko naukri aur tarakki uske nazariye ki wajah se milti hai matlab hai 5 naukriyan attitude ki wajah se milte hain aur 15 naukriyan sirf padhai likhai se milti hai toh aap soch sakte ho toh hundred massage padha hai aap par jo bhi kuch padhte ho uska sir par panja pratishat hota lekin aap jo aapka jo najariya hota hai dekhne ka usse aapko etifai parishad naukri milne ka chance zyada rehte hain aur successful bhi aise hi hote hain ek nazar yah aapka attitude accha hoga toh successful aaram se ho jaoge toh attitude positive attitude hota hai toh hum kahin bhi jagah par ho kahin bhi satra me kahin par bhi sector me koi bhi field me ho chahen success shuru ho jaate hain lekin manna successful ho jaaye

हे हाय गुड मॉर्निंग माय नेम इज विनय एलएलबी कॉलेज थर्ड ईयर में हूं चैमसिस के एग्जाम के लिए

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  56
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!