कर्म और पूजा में क्या फर्क है?...


user

रवि प्रकाश सिंह"रमण"

Industrialist/Businessman/Poet/Writer

1:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कर्म और पूजा में क्या फर्क है तो भगवान श्री कृष्ण निष्काम कर्म को पूजा बताया है अर्थात ओ कर्म जिसमें फल की कामना नहीं होती अर्थात मेरा क्या फायदा होगा यह सोच उसमें नहीं होती वैसे कर्म को उन्होंने पूजा अथवा धर्म की संज्ञा दी है ऐसा करो जो जीव और जगत की भलाई के लिए हो जो धर्म के लिए हो धर्म अर्थात सबके सुख की कामना के लिए इस सब का भला हो और यही सोच धर्म है तो योगेश्वर श्रीकृष्ण ने कर्म को ही पूजा बताया अब जो दुष्कर्म है वह पूजा नहीं है दुष्कर्म क्या है धर्म नहीं है वह धर्म है वह पाप है और वही कर्म पूजा है जियो और जगह सबका भला हो धन्यवाद

aapka prashna hai karm aur puja me kya fark hai toh bhagwan shri krishna nishkam karm ko puja bataya hai arthat O karm jisme fal ki kamna nahi hoti arthat mera kya fayda hoga yah soch usme nahi hoti waise karm ko unhone puja athva dharm ki sangya di hai aisa karo jo jeev aur jagat ki bhalai ke liye ho jo dharm ke liye ho dharm arthat sabke sukh ki kamna ke liye is sab ka bhala ho aur yahi soch dharm hai toh yogeshwar shrikrishna ne karm ko hi puja bataya ab jo dushkarm hai vaah puja nahi hai dushkarm kya hai dharm nahi hai vaah dharm hai vaah paap hai aur wahi karm puja hai jio aur jagah sabka bhala ho dhanyavad

आपका प्रश्न है कर्म और पूजा में क्या फर्क है तो भगवान श्री कृष्ण निष्काम कर्म को पूजा बता

Romanized Version
Likes  46  Dislikes    views  503
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पापा क्या-क्या प्रश्न कर्म और पूजा में क्या फर्क है प्राप्त जानकारी के लिए बता दूं कि ऐसे वेदों में भी बताया जाए कि कर्म ही पूजा जी हां दोस्तों आप जिस तरह का कर्म करते हैं उसी तरह का आपको फोन मिलता और पूजा का मतलब ही होता है जब आप पूजा करते तो आपको फल मिलता है तो पूजा एक होती है जो हम अपने विश्वास के लिए करते हैं आत्मा की शांति के लिए सदा के लिए करते हैं और कर्म हमारा वह होता है जो हम आगे बढ़ने के लिए करते अपने जीवन में जी धन्यवाद

papa kya kya prashna karm aur puja me kya fark hai prapt jaankari ke liye bata doon ki aise vedo me bhi bataya jaaye ki karm hi puja ji haan doston aap jis tarah ka karm karte hain usi tarah ka aapko phone milta aur puja ka matlab hi hota hai jab aap puja karte toh aapko fal milta hai toh puja ek hoti hai jo hum apne vishwas ke liye karte hain aatma ki shanti ke liye sada ke liye karte hain aur karm hamara vaah hota hai jo hum aage badhne ke liye karte apne jeevan me ji dhanyavad

पापा क्या-क्या प्रश्न कर्म और पूजा में क्या फर्क है प्राप्त जानकारी के लिए बता दूं कि ऐसे

Romanized Version
Likes  62  Dislikes    views  1245
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!