मिर्च की नर्सरी में डंपिंग और बीमारी का क्या उपाय है?...


play
user

Ajay Kumar Singh

Pharmacist

5:00

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

फ्रेंड मिर्ची नर्सिंग में डंपिंग और बीमारी में के उपाय के बारे में कुछ आज जानकारी हासिल किया जाए फ्रेंड मिर्च के पौधे में थ्रिप्स इतरा का किट का रंग हल्का पीला होता है माता की 50 से 60 अंडे देता है इनकी वजह से पौधे के दही क्रिया मसलन प्रकाश संश्लेषण स्वासन वाष्प उत्सर्जन भोज्य पदार्थों का स्थानांतरण में भी बाधा पहुंचता है यानी उसके खाना उस कितनी के द्वारा सारे पेड़ में नहीं पहुंच पाती जिससे रोगी हो जाता है पेड़ मिर्च की रूप पहचान ऐसा है पति या ऊपर की तरफ मुड़ जाती है पत्तियां पीली पड़ जाती है और सूखने लगती है फ्रेंड इस रुख को बचाव के लिए रुक का लक्षण देखते ही पुलिस पौधे को उखाड़ कर फेंक देते हैं खेत में जितने खरपतवार है उसको हटा दीजिए और इमिडाक्लोप्रिड 200ml की 10 लीटर पानी अथवा क्लोरोफिनायल की 2 मिलीलीटर पानी की दर से दो-तीन छिड़काव 12 15 दिनों के अंतराल में कर दें तो इस रोग से बचा जा सकता है पीली माइट्रेन यह भी एक तरह का बीमा हरी फैलाने में कारगर है या पीले रंग का कीट है पीठ पर सफेद धारियां होती है इस रोग के पहचान आप इस तरह से कर सकते हैं पत्तियां नीचे मुड़ जाती है देखने में सुकड़ी लगती है जैसे शुक्रिया है किसका प्रोड तथा शिशु दोनों हानि पहुंचाते हैं यानी कि बड़ा हो या छोटा दोनों पौधे को हानि पहुंचाते इसके बचाव के लिए किट से प्रभावित पौधे को एकत्र कर डंपिंग कर दें नष्ट कर दें कि पतवार से मुक्त कर दें और प्रो 500057 ईसी की 3 पॉइंट 5 एम एल का 1 लीटर पानी में घोल बनाएं अथवा घुलनशील सल्फर यानी तरल सर्फर 2 ग्राम 1 लीटर पानी में घोल बनाकर 15 दिनों के अंतराल में दो या तीन बार छिड़काव कर दे बीमारी समाप्त हो जाएगी तीसरा फ्रेंड शीशराम भी लोग कहते हैं या नहीं फल सड़न जफर लगता है तो धीरे-धीरे जांच में ही मिर्चा चढ़ने लगती है पौधे की टहनियां सूख जाती है पौधे धोने रह जाते या नहीं हो ज्यादा ग्रुप नहीं कर पाता है अगर इस तरह का लक्षण पाया जाए तो किसान को चाहिए कि क्लोरो हेलो निकल 75% डब्ल्यूपी 2 ग्राम 1 लीटर पानी में घोल बनाएं अथवा मीटर टर्न ओन 25% चूर्ण 2 ग्राम 1 लीटर पानी में घोल बनाकर 23 छिड़काव 10 या 12 दिन के अंतराल में करें तो यह बीमारी से आप निजात पा जाएंगे एक बीमारी है जो आमतौर पर होती है पति मरोड़ा पत्ती मुड़ जाती आपस में एक दूसरे में सड़ जाते हैं या रोग विषाणु के जरिए होता है रोग के फैलाव सफेद मक्खी भी होते रूप की पहचान पतिया सिकुड़ जाती है पौधा झाड़ी नुमा दिखने लगता है मैंने काफी भूत बन जाता उसमें पर भाई पौधे में फल नहीं लगते इसके बचाव के लिए प्रभावित पौधे को उखाड़ दे और खेत से काफी दूर जाकर कहीं जला दिया दबा दें 3ml इमिडाक्लोप्रिड आठ 10 लीटर पानी में घोल तैयार कर दो कि दो-तीन छिड़काव करें तो यह बीमारी से निजात पा जाएंगे धन्यवाद

friend mirchi nursing me dumping aur bimari me ke upay ke bare me kuch aaj jaankari hasil kiya jaaye friend mirch ke paudhe me thrips itra ka kit ka rang halka peela hota hai mata ki 50 se 60 ande deta hai inki wajah se paudhe ke dahi kriya maslan prakash sanshleshan swasan vashp utsarjan bhojya padarthon ka sthanantaran me bhi badha pahuchta hai yani uske khana us kitni ke dwara saare ped me nahi pohch pati jisse rogi ho jata hai ped mirch ki roop pehchaan aisa hai pati ya upar ki taraf mud jaati hai pattiyan pili pad jaati hai aur sukhne lagti hai friend is rukh ko bachav ke liye ruk ka lakshan dekhte hi police paudhe ko ukhad kar fenk dete hain khet me jitne kharapatavar hai usko hata dijiye aur imidakloprid 200ml ki 10 litre paani athva klorofinayal ki 2 Militer paani ki dar se do teen chhidkav 12 15 dino ke antaral me kar de toh is rog se bacha ja sakta hai pili maitren yah bhi ek tarah ka bima hari felane me kargar hai ya peele rang ka kit hai peeth par safed dhariyan hoti hai is rog ke pehchaan aap is tarah se kar sakte hain pattiyan niche mud jaati hai dekhne me sukdi lagti hai jaise shukriya hai kiska prod tatha shishu dono hani pahunchate hain yani ki bada ho ya chota dono paudhe ko hani pahunchate iske bachav ke liye kit se prabhavit paudhe ko ekatarr kar dumping kar de nasht kar de ki petwar se mukt kar de aur pro 500057 EC ki 3 point 5 M el ka 1 litre paani me ghol banaye athva ghulansheel sulphur yani taral surfer 2 gram 1 litre paani me ghol banakar 15 dino ke antaral me do ya teen baar chhidkav kar de bimari samapt ho jayegi teesra friend SHISHRAM bhi log kehte hain ya nahi fal sadan jafar lagta hai toh dhire dhire jaanch me hi mircha chadhne lagti hai paudhe ki tahniyan sukh jaati hai paudhe dhone reh jaate ya nahi ho zyada group nahi kar pata hai agar is tarah ka lakshan paya jaaye toh kisan ko chahiye ki chloro hello nikal 75 WP 2 gram 1 litre paani me ghol banaye athva meter turn own 25 churn 2 gram 1 litre paani me ghol banakar 23 chhidkav 10 ya 12 din ke antaral me kare toh yah bimari se aap nijat paa jaenge ek bimari hai jo aamtaur par hoti hai pati maroda patti mud jaati aapas me ek dusre me sad jaate hain ya rog vishnu ke jariye hota hai rog ke failaaw safed makkhi bhi hote roop ki pehchaan patiya sikud jaati hai paudha jhari numa dikhne lagta hai maine kaafi bhoot ban jata usme par bhai paudhe me fal nahi lagte iske bachav ke liye prabhavit paudhe ko ukhad de aur khet se kaafi dur jaakar kahin jala diya daba de 3ml imidakloprid aath 10 litre paani me ghol taiyar kar do ki do teen chhidkav kare toh yah bimari se nijat paa jaenge dhanyavad

फ्रेंड मिर्ची नर्सिंग में डंपिंग और बीमारी में के उपाय के बारे में कुछ आज जानकारी हासिल कि

Romanized Version
Likes  38  Dislikes    views  355
KooApp_icon
WhatsApp_icon
3 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!