भारतीय मीडिया कब खुदको बेचना बंद कर देश की गिरती हालत को संभालेगी?...


user

Vatsal

Engineering Student

1:60
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत अच्छा सवाल आपने पूछा क्योंकि मौजूदा जो हकीकत है उसमें यही है कि हर चैनल बताऊंगा यह बात नहीं करूंगा कौन बिका है किसने खरीदा लेकिन आप वास्तव में हकीकत देखोगे तो हर न्यूज़ के पीछे एक इंटेंशन चुकी है हर चीज के पीछे गन टेंशन यानी कि कौन सी न्यूज़ दिखानी है कौन सी नहीं यह सब पैसा डिपेंड करता है मैं तो ठीक नहीं मिला तो दिखाएंगे आप देखिए जानिए ट्रांसपोर्टरों की हड़ताल हुई थी पिछले 1 महीने पहले और 10 दिन तक चली थी वह हड़ताल और वह कोई मामूली हड़ताल नहीं थी ऐसी हड़ताल नहीं तो कुछ दिन बाद होती रहती हड़ताल पूरे देश की बड़ी से बड़ी फैक्ट्री बंद हो गई लेकिन 1 सेकंड को भी 10 दिनों में उस टॉपिक पर खबर नहीं चली है तो आप यकीन मानिए इस तरीके की व्यवस्था कैसे पैसे के दम पर लगातार वैसे भी मैं आपको उसका उदाहरण दें हर चैनल से बड़े से लेकर छोटे पतंजलि साइड में आ जाओ पैसा कमा रहा है रामदेव किस के पक्षकार हैं इस तरीके से और भी माध्यमों से कोई मीडिया चैनल ने बीजेपी प्रवक्ता से सवाल पूछा कि आप विपक्ष में किस बैंक की बात करते थे किस का काला धन जमा उसकी बात करते थे क्या कितना आया किसी ने पूछा कि दो सर मार दो मारेंगे तो हम जिसके सर लाएंगे 4 साल तक पता नहीं चला आप को महबूबा मुफ्ती कैसी है जो अब आप को इस्तीफा देना पड़ा समर्थन वापस लेना पड़ा जिसकी जमीनी हकीकत आपकी क्या है बुलेट ट्रेन क्या नार्मल ट्रेन पहुंचा नहीं पा रहे हैं समय से उनके एक्सीडेंट हो रहा है

bahut accha sawaal aapne poocha kyonki maujuda jo haqiqat hai usme yahi hai ki har channel bataunga yah baat nahi karunga kaun bika hai kisne kharida lekin aap vaastav mein haqiqat dekhoge toh har news ke peeche ek intention chuki hai har cheez ke peeche gun tension yani ki kaun si news dikhaani hai kaun si nahi yah sab paisa depend karta hai toh theek nahi mila toh dikhayenge aap dekhiye janiye transaportaron ki hartal hui thi pichle 1 mahine pehle aur 10 din tak chali thi vaah hartal aur vaah koi mamuli hartal nahi thi aisi hartal nahi toh kuch din baad hoti rehti hartal poore desh ki badi se badi factory band ho gayi lekin 1 second ko bhi 10 dino mein us topic par khabar nahi chali hai toh aap yakin maniye is tarike ki vyavastha kaise paise ke dum par lagatar waise bhi main aapko uska udaharan de har channel se bade se lekar chote patanjali side mein aa jao paisa kama raha hai ramdev kis ke pakshakar hain is tarike se aur bhi maadhyamon se koi media channel ne bjp pravakta se sawaal poocha ki aap vipaksh mein kis bank ki baat karte the kis ka kaala dhan jama uski baat karte the kya kitna aaya kisi ne poocha ki do sir maar do marenge toh hum jiske sir layenge 4 saal tak pata nahi chala aap ko mahbuba mufti kaisi hai jo ab aap ko istifa dena pada samarthan wapas lena pada jiski zameeni haqiqat aapki kya hai bullet train kya normal train pohcha nahi paa rahe hain samay se unke accident ho raha hai

बहुत अच्छा सवाल आपने पूछा क्योंकि मौजूदा जो हकीकत है उसमें यही है कि हर चैनल बताऊंगा यह बा

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  111
KooApp_icon
WhatsApp_icon
4 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!