वस्तु का द्रव्यमान तथा भार में क्या अंतर है?...


play
user

Aditya Kumar Tiwari

Director, Eduvento Classes

1:11

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर हम साधारण भाषा में समझे तो किसी भी वस्तु का द्रव्यमान आसपास के वातावरण पर डिपेंड नहीं करता है द्रव्यमान कांस्टेंट रहता है द्रव्यमान एक्चुअल जो चीज कंटेंट है बॉडी में और अगर हर की बात करें या वेट की बात करें तो वेट ग्रेविटेशनल फील्ड लिया गुरुत्वाकर्षण जिससे किसी द्रव्यमान को खींचता है उसको हम बाहर कहते हैं तो बाहर ग्रेविटेशनल फील्ड पर गुरुत्वाकर्षण पर निर्भर करता है तो भाषा में समझाने की कोई एक वस्तु है जिसका वजन 1 किलोग्राम है जिसका द्रव्यमान 1 किलोग्राम द्रव्यमान पृथ्वी पर देखे हैं या मंगल पर देखे हैं यार चंद्रमा पर देखें एक किलोग्राम ही रहेगा लेकिन उसका बाहर है वह बदलेगा के भाषण पे डिपेंड करता है उसका भार चंद्रमा और मंगल पर कम होगा जबकि पृथ्वी पर ग्रेविटी है

agar hum sadhaaran bhasha mein samjhe toh kisi bhi vastu ka dravyaman aaspass ke vatavaran par depend nahi karta hai dravyaman constant rehta hai dravyaman actual jo cheez content hai body mein aur agar har ki baat kare ya wait ki baat kare toh wait gravitational field liya gurutvaakarshan jisse kisi dravyaman ko khinchata hai usko hum bahar kehte hai toh bahar gravitational field par gurutvaakarshan par nirbhar karta hai toh bhasha mein samjhane ki koi ek vastu hai jiska wajan 1 kilogram hai jiska dravyaman 1 kilogram dravyaman prithvi par dekhe hai ya mangal par dekhe hai yaar chandrama par dekhen ek kilogram hi rahega lekin uska bahar hai vaah badlega ke bhashan pe depend karta hai uska bhar chandrama aur mangal par kam hoga jabki prithvi par gravity hai

अगर हम साधारण भाषा में समझे तो किसी भी वस्तु का द्रव्यमान आसपास के वातावरण पर डिपेंड नहीं

Romanized Version
Likes  186  Dislikes    views  4400
WhatsApp_icon
10 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Dr Raj Kumar Kochar

Ayurvedic Doctors ( Researcher )

0:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

याद नहीं

yaad nahi

याद नहीं

Romanized Version
Likes  210  Dislikes    views  2982
WhatsApp_icon
user

Dr. A K Tiwari

Doctorate in Physics

1:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी वस्तु के द्रव्यमान और भार में स्पष्ट अंतर है किसी वस्तु का द्रव्यमान मिश्माश उसमें उपस्थित संहिता है मेडिकल कॉन्टेंट है या पदार्थ की मात्रा है जो कभी बदलती नहीं है ना दिशा पर निर्भर करती है ना विभिन्न स्थान पर निर्भर करती है ना हम चीजों पर लेकिन बाहर की बात है तो भारी ग्रुप पीपल है जो द्रव्यमान * करती तन के बराबर होता है किसी वस्तु के भार में अंतर हो सकता है किसी वस्तु का भार अन्य स्थानों पर अलग हो सकता है गुरुत्वाकर्षण यानी समालजी पर डिपेंड कर सकता करता है पृथ्वी के केंद्र पर किसी वस्तु का भार शून्य हो जाएगा किसी वस्तु का भार पृथ्वी के तल से ऊपर जाने पर कम होगा किसी वस्तु का भार पृथ्वी तल के नीचे जाने में कम होगा पृथ्वी तल का भार हमारे पुल पर सबसे अधिक होगा और विश्वत रेखा पर सबसे कम होगा वस्तु का द्रव्यमान लेकिन वही रहेगा इस तरह नियतांक है और भार में परिवर्तन होता रहता है पालक की वस्तु के द्रव्यमान को केंद्र को द्रव्यमान केंद्र कहते हैं और वस्त्र के वस्तु का भार 10 बिंदु पर निर्भर करता है उसे ग्रुप केंद्र कहते हैं वस्तु का द्रव्यमान केंद्र भी द्रव्यमान की वेतन पर निर्भर करता है और जबकि भारत में जो है उसका दुष्प्रभाव लग रहा है जबलपुर टू केंद्र गोरखपुर लग रहा है उस रेखा पर निर्भर करता है वस्तु का द्रव्यमान केंद्र वस्तु के बाहर भी हो सकता है और जैसे की रिंग में रिंग से बाहर है उसकी केंद्र पर है लेकिन हर हमेशा जहां होगा तो भार भंगी लगेगा जहां गुरुत्व केंद्र है वह अपनी गलियारे का के बाहर जाने पर वस्तु का संतुलन बिगड़ जाएगा

kisi vastu ke dravyaman aur bhar mein spasht antar hai kisi vastu ka dravyaman mishmash usme upasthit sanhita hai medical content hai ya padarth ki matra hai jo kabhi badalti nahi hai na disha par nirbhar karti hai na vibhinn sthan par nirbhar karti hai na hum chijon par lekin bahar ki baat hai toh bhari group pipal hai jo dravyaman karti tan ke barabar hota hai kisi vastu ke bhar mein antar ho sakta hai kisi vastu ka bhar anya sthano par alag ho sakta hai gurutvaakarshan yani samalji par depend kar sakta karta hai prithvi ke kendra par kisi vastu ka bhar shunya ho jaega kisi vastu ka bhar prithvi ke tal se upar jaane par kam hoga kisi vastu ka bhar prithvi tal ke niche jaane mein kam hoga prithvi tal ka bhar hamare pool par sabse adhik hoga aur vishwat rekha par sabse kam hoga vastu ka dravyaman lekin wahi rahega is tarah niyatank hai aur bhar mein parivartan hota rehta hai paalak ki vastu ke dravyaman ko kendra ko dravyaman kendra kehte hain aur vastra ke vastu ka bhar 10 bindu par nirbhar karta hai use group kendra kehte hain vastu ka dravyaman kendra bhi dravyaman ki vetan par nirbhar karta hai aur jabki bharat mein jo hai uska dushprabhav lag raha hai jabalpur to kendra gorakhpur lag raha hai us rekha par nirbhar karta hai vastu ka dravyaman kendra vastu ke bahar bhi ho sakta hai aur jaise ki ring mein ring se bahar hai uski kendra par hai lekin har hamesha jaha hoga toh bhar bhangi lagega jaha gurutva kendra hai vaah apni galiyare ka ke bahar jaane par vastu ka santulan bigad jaega

किसी वस्तु के द्रव्यमान और भार में स्पष्ट अंतर है किसी वस्तु का द्रव्यमान मिश्माश उसमें उप

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  112
WhatsApp_icon
user

Ujjwal Deep

Physics Faculty, Motivational Speaker ,Career Guide, Educator at Youtube & Unacademy

2:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है कि मांस और वीर में क्या अंतर है तो एक बहुत ही अच्छी अंतर में बता दी जा रहा हूं आपको गौर से सुनिए गा की मान लीजिए आप एक झूला पर झूलते हो तो आपने गौर किया होगा कि एक समय आता है जो आपको झूले में हल्का महसूस होता है तो आपने यह भी ध्यान दिया होगा कि ऐसा तो नहीं है कि आपके अंदर से आपके अंदर से चीजें गायब हो गए हो आपके अंदर जितने भी चीजें हैं वह गायब हो गए और हल्का महसूस करने वाले हो इसका मतलब यह हुआ कि आपका मांस जो है वही है माली जी आप 50kg हो तो 50kg क्यों लेकिन जैसे ही आप झूले में ऊपर क्यों हो जाते हो तो आपको अपना वेट माफ नहीं वेट हल्का महसूस होता है यानी कभी भारी महसूस होता है कभी हल्का महसूस होता है कि बैटरी सवेर जैसे कि आप मून पर जाओ तो ऐसा नहीं कि मून पर आपका मांस जो है 50kg से आप ही पी वाई सिक्स हो जाएगा ठीक है वहां पर 50 भाई जो सेक्स होता है वह क्या होता है वह आपका वेट होता है ठीक है ओके इसका मतलब यह हुआ कि आप जब वहां पर उस लोगे ठीक है तो आप ज्यादा उच्च लोगे यहां से सिक्स टाइम ज्यादा उस लोगे वहीं फोर्स लगाओगे तो क्योंकि आप हल्का महसूस करोगे क्योंकि आपको पृथ्वी के रिस्पेक्ट में चंद्रमा वन 226 आपको उसका वन 221 क्या कर रही है खींच रही है जैसे यहां का जी का जो वैल्यू है उसका वहां का जी का वैल्यू क्या होता है जी बाय सिक्स डिजिट लेना तो पृथ्वी और चंद्रमा आपको यहां के वन 2266 ही चाहिए ठीक है ओके और मांस को कैसे लिखते हैं यानी किलोग्राम में मेजर करते हैं और पेट को कैसे मजाक करते एम इन 2G मतलब आप कितना भार महसूस करते हैं ठीक है तो द बेस्ट एग्जांपल जो मैंने आपको बताया धन्यवाद

aapka sawaal hai ki maas aur veer me kya antar hai toh ek bahut hi achi antar me bata di ja raha hoon aapko gaur se suniye jaayega ki maan lijiye aap ek jhoola par jhoolate ho toh aapne gaur kiya hoga ki ek samay aata hai jo aapko jhule me halka mehsus hota hai toh aapne yah bhi dhyan diya hoga ki aisa toh nahi hai ki aapke andar se aapke andar se cheezen gayab ho gaye ho aapke andar jitne bhi cheezen hain vaah gayab ho gaye aur halka mehsus karne waale ho iska matlab yah hua ki aapka maas jo hai wahi hai maali ji aap 50kg ho toh 50kg kyon lekin jaise hi aap jhule me upar kyon ho jaate ho toh aapko apna wait maaf nahi wait halka mehsus hota hai yani kabhi bhari mehsus hota hai kabhi halka mehsus hota hai ki battery saver jaise ki aap moon par jao toh aisa nahi ki moon par aapka maas jo hai 50kg se aap hi p why six ho jaega theek hai wahan par 50 bhai jo sex hota hai vaah kya hota hai vaah aapka wait hota hai theek hai ok iska matlab yah hua ki aap jab wahan par us loge theek hai toh aap zyada ucch loge yahan se six time zyada us loge wahi force lagaoge toh kyonki aap halka mehsus karoge kyonki aapko prithvi ke respect me chandrama van 226 aapko uska van 221 kya kar rahi hai khinch rahi hai jaise yahan ka ji ka jo value hai uska wahan ka ji ka value kya hota hai ji bye six digit lena toh prithvi aur chandrama aapko yahan ke van 2266 hi chahiye theek hai ok aur maas ko kaise likhte hain yani kilogram me major karte hain aur pet ko kaise mazak karte M in 2G matlab aap kitna bhar mehsus karte hain theek hai toh the best example jo maine aapko bataya dhanyavad

आपका सवाल है कि मांस और वीर में क्या अंतर है तो एक बहुत ही अच्छी अंतर में बता दी जा रहा हू

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  113
WhatsApp_icon
user
0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वस्तु का द्रव्यमान उसका जो वास्तु निर्माण होता है और वेट वेट 14 सोता है आप वेट एक पोस्ट होता है जैसे कि आप किसी भी माली जी आपको एक लोग किसी भी वक्त खत्म 1 किलो है उसका वेट जो मेरा होगा वह 10 न्यूटन का होगा न्यूटन का लो खुदा जो हमारा वेट होता है वह ₹1000 फुट होता है यह अंदर होता

vastu ka dravyaman uska jo vastu nirmaan hota hai aur wait wait 14 sota hai aap wait ek post hota hai jaise ki aap kisi bhi maali ji aapko ek log kisi bhi waqt khatam 1 kilo hai uska wait jo mera hoga vaah 10 newton ka hoga newton ka lo khuda jo hamara wait hota hai vaah Rs feet hota hai yah andar hota

वस्तु का द्रव्यमान उसका जो वास्तु निर्माण होता है और वेट वेट 14 सोता है आप वेट एक पोस्ट हो

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  1
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वस्तु का द्रव्यमान तथा भार में क्या अंतर है वस्तु के द्रव्यमान तथा भार में विभिन्न अंतर है जैसे वस्तु के द्रव्यमान किसी वस्तु में उपस्थित द्रव्य की मात्रा होती है तथा भार भार हर जगह यानी सभी जगह एक जैसा नहीं होता है जैसा कि पृथ्वी पर किसी वस्तु का भार 6kg है तो चंद्रमा पहुंच का 1 बटा 6 भाग होगा

vastu ka dravyaman tatha bhar mein kya antar hai vastu ke dravyaman tatha bhar mein vibhinn antar hai jaise vastu ke dravyaman kisi vastu mein upasthit dravya ki matra hoti hai tatha bhar bhar har jagah yani sabhi jagah ek jaisa nahi hota hai jaisa ki prithvi par kisi vastu ka bhar 6kg hai toh chandrama pohch ka 1 bataa 6 bhag hoga

वस्तु का द्रव्यमान तथा भार में क्या अंतर है वस्तु के द्रव्यमान तथा भार में विभिन्न अंतर है

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  58
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत रमन में अंतर किसी वस्तु दोस्त पर परथीदा लगाया गया का शोर उसका भार कहलाता है जब किसी वस्तु में धृतराष्ट्र की मात्रा उसका द्रव्यमान होती है धर्म आने का संकेत रहता है इसका मात्रक किलोग्राम होता है जबकि भारत एक आस्था बदलता रहता है इसका मात्रक जो है किग्रा भार याने टन होता है

bharat raman mein antar kisi vastu dost par parthida lagaya gaya ka shor uska bhar kehlata hai jab kisi vastu mein Dhritarashtra ki matra uska dravyaman hoti hai dharm aane ka sanket rehta hai iska matrak kilogram hota hai jabki bharat ek astha badalta rehta hai iska matrak jo hai kigra bhar yane ton hota hai

भारत रमन में अंतर किसी वस्तु दोस्त पर परथीदा लगाया गया का शोर उसका भार कहलाता है जब किसी व

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  528
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पूछा है बाहर तथा द्रव्यमान में क्या अंतर है तो देखिए बाहर जो होता है उसमें ग्रेविटेशनल फोर्स कौन-कौन करते हैं और द्रव्यमान होता उसमें ऑपरेशन पोस्ट कौन नहीं होता तो आप देखिए पृथ्वी पर जो है वो द्रव्यमान द्रव्यमान किसी भी जगह पर जहां पर ग्रेविटेशनल फोर्स अलग-अलग भी होता है उस वक्त वह उसका जो द्रव मान होगा वह हमेशा एक रहेगा किसी वस्तु का लेकिन बाहर जो होता है क्रिस्टल पोस्ट के साथ साथ बदलता जाता है जैसे यहां पर कोई आदमी 80 किलो का है तो मन चंद्रमा पर आदमी सिर्फ और सिर्फ 8 किलो पर आ जाएगा इसलिए आपको धन्यवाद

aapne poocha hai bahar tatha dravyaman mein kya antar hai toh dekhiye bahar jo hota hai usme gravitational force kaun kaun karte hain aur dravyaman hota usme operation post kaun nahi hota toh aap dekhiye prithvi par jo hai vo dravyaman dravyaman kisi bhi jagah par jaha par gravitational force alag alag bhi hota hai us waqt vaah uska jo drav maan hoga vaah hamesha ek rahega kisi vastu ka lekin bahar jo hota hai crystal post ke saath saath badalta jata hai jaise yahan par koi aadmi 80 kilo ka hai toh man chandrama par aadmi sirf aur sirf 8 kilo par aa jaega isliye aapko dhanyavad

आपने पूछा है बाहर तथा द्रव्यमान में क्या अंतर है तो देखिए बाहर जो होता है उसमें ग्रेविटेशन

Romanized Version
Likes  21  Dislikes    views  711
WhatsApp_icon
user

priya tiwari

Volunteer

0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको किसी ने भारत में द्रव्यमान में अंतर जब भी मन किसी वस्तु में रहने वाले पदार्थ की मात्रा है द्रव्यमान से वस्तु के जड़त्व की माप होती है यह एक अदिश राशि है द्रव्यमान एक अचर राशि है यानी कि इसका मान सभी जगह एक समान रहता है वस्तु का भार वस्तु का भार वह वह बल है जिसमें वस्तु पृथ्वी के केंद्र की ओर से आकर्षित होती है यह एक सदिश राशि है बाहर एक चर राशि है यानी कि इसका माल एक स्थान से दूसरे स्थान पर बदलता है

aapko kisi ne bharat mein dravyaman mein antar jab bhi man kisi vastu mein rehne waale padarth ki matra hai dravyaman se vastu ke jadatva ki map hoti hai yah ek adish rashi hai dravyaman ek achar rashi hai yani ki iska maan sabhi jagah ek saman rehta hai vastu ka bhar vastu ka bhar vaah vaah bal hai jisme vastu prithvi ke kendra ki aur se aakarshit hoti hai yah ek sadish rashi hai bahar ek char rashi hai yani ki iska maal ek sthan se dusre sthan par badalta hai

आपको किसी ने भारत में द्रव्यमान में अंतर जब भी मन किसी वस्तु में रहने वाले पदार्थ की मात्र

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  91
WhatsApp_icon
user

Faiz

Software Tester at Cognizant Technology Solutions.

0:15
Play

Likes    Dislikes    views  3
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
रिंग का द्रव्यमान केंद्र होता है ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!