श्रमिकों के प्रतिनिधि कैसे बनें?...


user

Umesh Upaadyay

Life Coach | Motivational Speaker

2:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोसा का सवाल है श्रमिकों के प्रतिनिधि कैसे बने तो थोड़ा सा आपको बोलूंगा किसको थोड़ा अलग तरीके से देखने की कोशिश मत कीजिए उस दिशा में मत सोचिए प्रतिनिधि क्यों बनना चाहते हैं पहले यह देखिए उनके लिए कुछ करना चाहते हैं तो मेरा कहने का मतलब है आप उनके लिए कुछ करने का प्रयास कीजिए जब आप ऐसा करते हैं तो ऑटोमेटिक के लिए थोड़े समय में आप लड़ते नेतृत्व करने लगेंगे और लोग आपको प्रतिनिधि की तरह देखेंगे यह अप्रोच अगर आप लेते हैं और वह भी निष्काम भाव वाला बाला कि मैं वास्तव में ऐसा वर्ग को श्रमिकों को हेल्थ प्रदान करना चाहता हूं तो डेफिनेटली काम नइखे आपका अगर तरीका सही होगा तो डेफिनिटी उनको फायदा होगा उनको जो फायदा होगा तो उनके लिए उनके प्रतिनिधि कौन हो गए वह आप हो गए तो मैं कहता हूं कि सोच को थोड़ा चीन यह देखें कि मैं उनके लिए क्या कर सकता हूं मुझे क्या कहने की जरूरत है मुझे टीम बनानी है और टीम व मिलकर बनकर हम क्या करेंगे क्या मेरे पास वह रिसोर्सेज है जिससे मैं कुछ करना चाहता हूं इन लोगों के लिए आप ऐसे ही जाकर बोलेंगे मैं आपका प्रतिनिधि तो कुछ होने वाला नहीं कैसे क्या भाई जब तक आप अपने आपको थोड़ा प्रूफ नहीं करेंगे उनके साथ चलना यूं कंधे से कंधा नहीं मिलेंगे उनको यह विश्वास नहीं होगा कि यह डेफिनेटली हमारे हित की सोच रहे हैं हमारे बारे में बात करें तो वह आपको प्रतिनिधि क्या-क्या मान लेंगे प्रतिनिधि या तो कोई बनाता है आपको तब आप होते हैं या फिर लोग अपने आप से मतभेद होते किसी ने आप को नॉमिनेट किया और आप बन गए दूसरा होता है कि वह लोग खुद अपना भाई नो अनीता अपना प्रतिनिधि जॉब के लिए लीडर के लिए उसको चुनते हैं ठीक है हम खुद से जाकर नहीं बोलते कि मैं आपका प्रतिनिधि तो आप यह देखे कि हमारे भाई बहन के लिए कुछ कर सकते हैं तो उसी समय दिशा में आगे बढ़िए ऑटोमेटिक के लिए आप आज नहीं तो कल उनका प्रतिनिधित्व करेंगे जब आप ऐसा करेंगे उनके हित में बात करेंगे तो आप प्रतिनिधि बन सकते हैं

dosa ka sawaal hai shramiko ke pratinidhi kaise bane toh thoda sa aapko boloonga kisko thoda alag tarike se dekhne ki koshish mat kijiye us disha me mat sochiye pratinidhi kyon banna chahte hain pehle yah dekhiye unke liye kuch karna chahte hain toh mera kehne ka matlab hai aap unke liye kuch karne ka prayas kijiye jab aap aisa karte hain toh Automatic ke liye thode samay me aap ladte netritva karne lagenge aur log aapko pratinidhi ki tarah dekhenge yah approach agar aap lete hain aur vaah bhi nishkam bhav vala bala ki main vaastav me aisa varg ko shramiko ko health pradan karna chahta hoon toh definetli kaam naikhe aapka agar tarika sahi hoga toh definiti unko fayda hoga unko jo fayda hoga toh unke liye unke pratinidhi kaun ho gaye vaah aap ho gaye toh main kahata hoon ki soch ko thoda china yah dekhen ki main unke liye kya kar sakta hoon mujhe kya kehne ki zarurat hai mujhe team banani hai aur team va milkar bankar hum kya karenge kya mere paas vaah resources hai jisse main kuch karna chahta hoon in logo ke liye aap aise hi jaakar bolenge main aapka pratinidhi toh kuch hone vala nahi kaise kya bhai jab tak aap apne aapko thoda proof nahi karenge unke saath chalna yun kandhe se kandha nahi milenge unko yah vishwas nahi hoga ki yah definetli hamare hit ki soch rahe hain hamare bare me baat kare toh vaah aapko pratinidhi kya kya maan lenge pratinidhi ya toh koi banata hai aapko tab aap hote hain ya phir log apne aap se matbhed hote kisi ne aap ko nominate kiya aur aap ban gaye doosra hota hai ki vaah log khud apna bhai no anita apna pratinidhi job ke liye leader ke liye usko chunte hain theek hai hum khud se jaakar nahi bolte ki main aapka pratinidhi toh aap yah dekhe ki hamare bhai behen ke liye kuch kar sakte hain toh usi samay disha me aage badhiye Automatic ke liye aap aaj nahi toh kal unka pratinidhitva karenge jab aap aisa karenge unke hit me baat karenge toh aap pratinidhi ban sakte hain

दोसा का सवाल है श्रमिकों के प्रतिनिधि कैसे बने तो थोड़ा सा आपको बोलूंगा किसको थोड़ा अलग तर

Romanized Version
Likes  880  Dislikes    views  8696
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Rakesh Tiwari

Life Coach, Management Trainer

1:25

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अब तो प्रश्न है श्रमिकों के प्रतिनिधि कैसे बने रंगों की अजमत बनने के लिए आपको संतो के साथ मित्रवत प्रेम मत और बिहार कुशल होना पड़ेगा शंकु प्रक्षेप का मतलब है उनके हितों की रक्षा करने का वादा या वचन अगर आप संतो की दिन पर दिन की समस्याओं से वाकिफ होंगे उनकी परेशानियों की आप पर बात करेंगे और उनके हित के मुद्दों को प्रबंधन के सामने अगर आप रखेंगे रखने का प्रयास करेंगे तो आप संतों का दिल और हरे जी आगे चलकर एक लीडर के रूप में आप को स्वीकार कर सकते हैं इसलिए उनकी मनोवृत्ति उनकी मनोदशा और उनके साथ मित्रवत व्यवहार रखना संतों का प्रतीक बनने में मदद करेगा

ab toh prashna hai shramiko ke pratinidhi kaise bane rangon ki ajamat banne ke liye aapko santo ke saath mitravat prem mat aur bihar kushal hona padega shanku prakshep ka matlab hai unke hiton ki raksha karne ka vada ya vachan agar aap santo ki din par din ki samasyaon se wakif honge unki pareshaniyo ki aap par baat karenge aur unke hit ke muddon ko prabandhan ke saamne agar aap rakhenge rakhne ka prayas karenge toh aap santo ka dil aur hare ji aage chalkar ek leader ke roop me aap ko sweekar kar sakte hain isliye unki manovritti unki manodasha aur unke saath mitravat vyavhar rakhna santo ka prateek banne me madad karega

अब तो प्रश्न है श्रमिकों के प्रतिनिधि कैसे बने रंगों की अजमत बनने के लिए आपको संतो के साथ

Romanized Version
Likes  330  Dislikes    views  2769
WhatsApp_icon
user
0:29
Play

Likes  76  Dislikes    views  1570
WhatsApp_icon
user

Anil Bajpai

Writer | Publisher | Investor | Hotelier | Devloper

0:20
Play

Likes  146  Dislikes    views  2310
WhatsApp_icon
user

Manoj Kumar Srivastava

सेवानिवृत्त उपसचिव,स्वास्थ्य, चिकित्सा शिक्षा एवं परिवार कल्याण विभाग, झारखंड रांची

0:24
Play

Likes  21  Dislikes    views  686
WhatsApp_icon
user

Bharat Mathur

Branch Manager @ Sri Ram Fortune Solution Ltd.

2:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

श्रमिकों के प्रतिनिधि बनने के लिए या किसी भी ऐसी ग्रुप का प्रतिनिधित्व करने के लिए सबसे पहले आपको उस पार्टिकुलर फील्ड की नॉलेज होना बहुत ज्यादा जरूरी है आप किसी भी मैच्योरिटी का अगर नेतृत्व कर रहे हैं आप लीडरशिप अगर आप में डिवेलप पहले आपको लीडरशिप क्वालिटी क्वालिटी का मतलब होता है आपके अंदर उस पर्टिकुलर मैटर सब्जेक्ट की नॉलेज होनी बहुत ज्यादा जरूरी है आप अच्छे बुरे में फर्क करना समझे आपको उन सभी लोगों के हितों का ध्यान रखना होगा जो आपकी बात को मानते हैं अपने निजी स्वार्थ को आपको छोड़कर उन व्यक्तियों को मैक्सिमम पर लिखवा सिम सपोर्ट की तरफ बढ़ना होगा तभी तो लोग आपका बात को मानेंगे और आपका नेतृत्व स्वीकार करेंगे जब आप उनके रखते हुए उनकी सहायता करेंगे तभी आप में अच्छे नेतृत्व करता बन सकते हैं जैसे पुराने जमाने में महाराजा लोग अपनी क्या करता है किसी भी दृष्टि के मालिक को अपने सैनिकों को पूरा ध्यान रखना होता है उनकी जरूरतों का जो वाजिद जरूरत है उनका पूरा ध्यान रखना है तभी वह अच्छा नेतृत्व कर पाते हैं तो अगर हम भी किसी भी मेजर रितिका किसी भी श्रमिकों की एक समूह का नेतृत्व करना है तो हमें सबसे पहले उस पर टिक लेटेस्ट सब्जेक्ट को जानना पड़ेगा कि किस तरह की के श्रमिक हमारी बेज्जती में है और वह क्या करना चाहते हैं अपने जीवन में आगे और आपको हमेशा कोशिश करनी चाहिए उन श्रमिकों में से ऐसे व्यक्ति को छठे जो व्यक्ति बाद में जाकर खुद नेतृत्व नेतृत्व करता है और आप टीम को लीड कर सकता है

shramiko ke pratinidhi banne ke liye ya kisi bhi aisi group ka pratinidhitva karne ke liye sabse pehle aapko us particular field ki knowledge hona bahut zyada zaroori hai aap kisi bhi maturity ka agar netritva kar rahe hain aap leadership agar aap me develop pehle aapko leadership quality quality ka matlab hota hai aapke andar us particular matter subject ki knowledge honi bahut zyada zaroori hai aap acche bure me fark karna samjhe aapko un sabhi logo ke hiton ka dhyan rakhna hoga jo aapki baat ko maante hain apne niji swarth ko aapko chhodkar un vyaktiyon ko maximum par likhva sim support ki taraf badhana hoga tabhi toh log aapka baat ko manenge aur aapka netritva sweekar karenge jab aap unke rakhte hue unki sahayta karenge tabhi aap me acche netritva karta ban sakte hain jaise purane jamane me maharaja log apni kya karta hai kisi bhi drishti ke malik ko apne sainikon ko pura dhyan rakhna hota hai unki jaruraton ka jo wajid zarurat hai unka pura dhyan rakhna hai tabhi vaah accha netritva kar paate hain toh agar hum bhi kisi bhi major ritika kisi bhi shramiko ki ek samuh ka netritva karna hai toh hamein sabse pehle us par tick latest subject ko janana padega ki kis tarah ki ke shramik hamari beijjati me hai aur vaah kya karna chahte hain apne jeevan me aage aur aapko hamesha koshish karni chahiye un shramiko me se aise vyakti ko chhathe jo vyakti baad me jaakar khud netritva netritva karta hai aur aap team ko lead kar sakta hai

श्रमिकों के प्रतिनिधि बनने के लिए या किसी भी ऐसी ग्रुप का प्रतिनिधित्व करने के लिए सबसे पह

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  239
WhatsApp_icon
user

Renshi Rajkumar Menaria

International Martial Arts Expert, Awarded By President of INDIA, Specialist Of Women Self Defense & Motivational Speaker With Spiritual Root.

3:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सैनिकों के प्रतिनिधि कैसे बने श्रमिकों के प्रतिनिधि बनने के लिए जरूरी है जब हम किसी चीज का किसी किसी का प्रतिनिधित्व करते हैं तो हमारे बस उसका ज्ञान होना आवश्यक है तो हमें पता होना चाहिए कि समय क्या होता है जो सब करते हैं सबसे दनादन करते हैं और शान से अपनी आजीविका चलाते हैं उस समय जिन्हें साधारण शब्दों में मजदूर भी कहा जाता है कि किसी भी प्रकार की हो सकती हैं उनके बारे में उनके सोचने के तरीके उनके काम करने के तरीके से काम करने की परिस्थितियां उनके मानस स्थितियां उनके परिवार की समस्या है और उन्हें उनके कारण मजदूर और उसके कार्य करने की परिस्थितियां उसके कार्यशाला जहां वह काम करता है उसके बारे में इन सब चीजों के बारे में हमें ज्ञान होना जरूरी है हम उसके बारे में ज्ञान अर्जित करें हम उसके बारे में पढ़ें हम उसके बारे में चीजें उसके बाद सर्वप्रथम हमें श्रमिकों के अली हमारे मन में प्रेम और सच्ची श्रद्धा होनी चाहिए यदि हमारे अंदर सैनिकों के लिए सच्ची श्रद्धा और प्रेम है और हम उनकी प्रस्तुतियों उनकी समस्याओं उनके आसपास उनकी खुशियों के बारे में जानते हैं तो हम उनके साथ उनके जैसे उनके हार्दिक मित्र हो सकते हैं और जब हम उनके हार्दिक मित्र बनेंगे उनके लिए क्या अच्छा है क्या बुरा है उनके क्या-क्या है उनकी समस्याएं क्या है यदि हम उन्हें जानते हैं और हमारे पास में ऐसे उपाय हैं जिससे उनकी समस्याओं को दूर किया जा सकता है और उन्हें इस योग्य बनाया जा सकता है कि वह अपनी समस्याओं से स्वयं हो भरकर खुशियां हासिल करें और अपनी प्रगति करें जब तक हमें यह ज्ञान और हमारी तरह देता उसके साथ जुड़ी हो तब हम उनके सच्चे प्रतिनिधि हो सकते हैं तीसरी आवश्यक बात है इस समय आपको अपना माना जब मैं आपको अपना मानते हैं अपने साथ था मानते हैं अपने योग्य समझते हैं तभी वह आपको अपना प्रतिनिधित्व और उन्हें यह विश्वास आपको जगाना होगा कि मैं मन वचन और कर्म से ज्ञान से और भावनाओं से सच्चे मायने हैं उन सब की परिस्थितियों को अच्छा करने उनकी प्रगति के लिए कार्य करें और उसका नेतृत्व करने के योग्य कभी कोई भी समय आपको अपना प्रतिनिधि मानेगा फिर दूसरी बात हुई जब ऐसा जवाब प्रतिनिधि हो गए तो फिर दुनिया के हर व्यक्ति को आपको प्रतिनिधि स्वीकार करना पड़ेगा मैं समझता हूं श्रमिकों की ओर से और श्रमिकों के लिए उनका प्रतिनिधि बनने के लिए यह बातें जरूरी है अब कहीं पर आपको उनका प्रतिनिधित्व करने के लिए आपको आवेदन करना है या आपके सी जगह पर उनका प्रतिनिधि करना चाहते हैं तो वहां पर किस प्रक्रिया के तहत आप अपना आवेदन करेंगे आप अपने आपको प्रस्तुत करेंगे इससे दूसरी बात है आशा है मेरा उत्तर आपको संतोषप्रद लगा होगा धन्यवाद

sainikon ke pratinidhi kaise bane shramiko ke pratinidhi banne ke liye zaroori hai jab hum kisi cheez ka kisi kisi ka pratinidhitva karte hain toh hamare bus uska gyaan hona aavashyak hai toh hamein pata hona chahiye ki samay kya hota hai jo sab karte hain sabse danadan karte hain aur shan se apni aajiwika chalte hain us samay jinhen sadhaaran shabdon me majdur bhi kaha jata hai ki kisi bhi prakar ki ho sakti hain unke bare me unke sochne ke tarike unke kaam karne ke tarike se kaam karne ki paristhiyaann unke manas sthitiyan unke parivar ki samasya hai aur unhe unke karan majdur aur uske karya karne ki paristhiyaann uske karyashala jaha vaah kaam karta hai uske bare me in sab chijon ke bare me hamein gyaan hona zaroori hai hum uske bare me gyaan arjit kare hum uske bare me padhen hum uske bare me cheezen uske baad sarvapratham hamein shramiko ke ali hamare man me prem aur sachi shraddha honi chahiye yadi hamare andar sainikon ke liye sachi shraddha aur prem hai aur hum unki prastutiyon unki samasyaon unke aaspass unki khushiyon ke bare me jante hain toh hum unke saath unke jaise unke hardik mitra ho sakte hain aur jab hum unke hardik mitra banenge unke liye kya accha hai kya bura hai unke kya kya hai unki samasyaen kya hai yadi hum unhe jante hain aur hamare paas me aise upay hain jisse unki samasyaon ko dur kiya ja sakta hai aur unhe is yogya banaya ja sakta hai ki vaah apni samasyaon se swayam ho bharkar khushiya hasil kare aur apni pragati kare jab tak hamein yah gyaan aur hamari tarah deta uske saath judi ho tab hum unke sacche pratinidhi ho sakte hain teesri aavashyak baat hai is samay aapko apna mana jab main aapko apna maante hain apne saath tha maante hain apne yogya samajhte hain tabhi vaah aapko apna pratinidhitva aur unhe yah vishwas aapko jagaana hoga ki main man vachan aur karm se gyaan se aur bhavnao se sacche maayne hain un sab ki paristhitiyon ko accha karne unki pragati ke liye karya kare aur uska netritva karne ke yogya kabhi koi bhi samay aapko apna pratinidhi manega phir dusri baat hui jab aisa jawab pratinidhi ho gaye toh phir duniya ke har vyakti ko aapko pratinidhi sweekar karna padega main samajhata hoon shramiko ki aur se aur shramiko ke liye unka pratinidhi banne ke liye yah batein zaroori hai ab kahin par aapko unka pratinidhitva karne ke liye aapko avedan karna hai ya aapke si jagah par unka pratinidhi karna chahte hain toh wahan par kis prakriya ke tahat aap apna avedan karenge aap apne aapko prastut karenge isse dusri baat hai asha hai mera uttar aapko santoshaprad laga hoga dhanyavad

सैनिकों के प्रतिनिधि कैसे बने श्रमिकों के प्रतिनिधि बनने के लिए जरूरी है जब हम किसी चीज क

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  101
WhatsApp_icon
user

Aashish Shrotroya

FINANCE & BUSINESS PLANNER

0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

श्रमिकों के प्रतिनिधि बनने के लिए सबसे जरूरी है कि आप को श्रमिकों के भारत सरकार संविधान द्वारा प्राप्त अधिकारों राज्य सरकार राज्य शासन द्वारा श्रमिकों प्राप्त अधिकारों का ज्ञान होना चाहिए उनको क्या क्या अधिकार सरकार ने दे रखे हैं उन अधिकारों का ज्ञान अगर आपके पास होगा तो आप उन श्रमिकों का प्रतिनिधित्व अच्छे से कर सकते हैं क्योंकि सभी श्रमिक इतने पढ़े लिखे और सभी अधिकारों को जानने वाले नहीं होते हैं इस अभाव में कंपनी वाले व्यवसाय करने वाले प्राइवेट सेक्टर के लोगों का शोषण करते हैं अगर आप उनका प्रतिनिधि बनना चाहते हैं तो उन अधिकारों की जानकारी लें और जो शोषित वर्ग है जिनका शोषण हो रहा है उनको साथ ले कम्युनिटी बनाएं और आवाज उठाएं और उनको उन चीजों का लाभ दे करके उनका प्रतिनिधि बने यही सच्ची श्रमिक प्रतिनिधि बन सकता है

shramiko ke pratinidhi banne ke liye sabse zaroori hai ki aap ko shramiko ke bharat sarkar samvidhan dwara prapt adhikaaro rajya sarkar rajya shasan dwara shramiko prapt adhikaaro ka gyaan hona chahiye unko kya kya adhikaar sarkar ne de rakhe hain un adhikaaro ka gyaan agar aapke paas hoga toh aap un shramiko ka pratinidhitva acche se kar sakte hain kyonki sabhi shramik itne padhe likhe aur sabhi adhikaaro ko jaanne waale nahi hote hain is abhaav me company waale vyavasaya karne waale private sector ke logo ka shoshan karte hain agar aap unka pratinidhi banna chahte hain toh un adhikaaro ki jaankari le aur jo shoshit varg hai jinka shoshan ho raha hai unko saath le community banaye aur awaaz uthaye aur unko un chijon ka labh de karke unka pratinidhi bane yahi sachi shramik pratinidhi ban sakta hai

श्रमिकों के प्रतिनिधि बनने के लिए सबसे जरूरी है कि आप को श्रमिकों के भारत सरकार संविधान द्

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  148
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

श्रमिकों की स्थिति बनने के लिए आपको पहले उनके हित के काम करने पड़ेंगे श्रमिकों का प्रतिनिधि बनना है आपको इसलिए उनके हित के काम करने पड़ेंगे उन्हें जहां जरूरत हो वहां जाना पड़ेगा उनके रुके हुए कार्य उनके रुके हुए पैसे या वह बेरोजगार हैं तो उन्हें काम दिलाना पड़ेगा उनके परिवार में कोई समस्या है तो उसको दूर करनी हेल्प करनी पड़ेगी स्वास्थ्य केंद्र में सभी तरीके किसी भी तरीके उन्हें जरूरत है तो आप उन्हें हेल्प करेंगे तभी आप उनके हितेषी है लाइए

shramiko ki sthiti banne ke liye aapko pehle unke hit ke kaam karne padenge shramiko ka pratinidhi banna hai aapko isliye unke hit ke kaam karne padenge unhe jaha zarurat ho wahan jana padega unke ruke hue karya unke ruke hue paise ya vaah berozgaar hain toh unhe kaam dilana padega unke parivar me koi samasya hai toh usko dur karni help karni padegi swasthya kendra me sabhi tarike kisi bhi tarike unhe zarurat hai toh aap unhe help karenge tabhi aap unke hiteshi hai laiye

श्रमिकों की स्थिति बनने के लिए आपको पहले उनके हित के काम करने पड़ेंगे श्रमिकों का प्रतिनिध

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  184
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उनके हितों को ध्यान में रखकर उनकी सेवा करना उनके लिए कुछ अच्छी योजनाएं दिखानी पड़ेगी और तभी उनमें एकता बनाकर उनकी और उनके नेता बन सकते हो

unke hiton ko dhyan me rakhakar unki seva karna unke liye kuch achi yojanaye dikhaani padegi aur tabhi unmen ekta banakar unki aur unke neta ban sakte ho

उनके हितों को ध्यान में रखकर उनकी सेवा करना उनके लिए कुछ अच्छी योजनाएं दिखानी पड़ेगी और त

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  68
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

श्रमिकों के प्रतिनिधि प्रतिनिधि बनने के लिए उनके हित के साथ साथ उनके सेठों का भी हित का ख्याल रखना पड़ेगा दोनों में तालमेल रखकर उनके बारे में सोच कर अच्छा सोच कर उनके प्रतिनिधि बन सकते

shramiko ke pratinidhi pratinidhi banne ke liye unke hit ke saath saath unke sethon ka bhi hit ka khayal rakhna padega dono me talmel rakhakar unke bare me soch kar accha soch kar unke pratinidhi ban sakte

श्रमिकों के प्रतिनिधि प्रतिनिधि बनने के लिए उनके हित के साथ साथ उनके सेठों का भी हित का ख

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  65
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां जी आप देखिए यह है कि श्रमिकों को प्रतिनिधि कैसे बने तो श्रमिक को को साथ में रही है उसका हर मजबूरी को समझ गए उसको मदद करिए उसको उससे अच्छा बातचीत करी है उसके मन को भूल मिलकर यह मधुर वचन बोलिए मधुर मिठास लाइए उसको दुख को समाधि आपका रे कुछ नहीं लेकिन फिर भी अगर उसका दुख होकर समझते हैं उसको मन को उससे अच्छा बात करते हंसते बोलते हैं तो जरूर है उसके साथ समय दीजिएगा श्रमिकों लोग को प्रसन्न करिएगा तो जरूर है इस पर बहुत सारा ऐसे उपाय है जो कि आप पर श्रमिकों के प्रतिनिधि को प्रसन्न कर सकते हैं

haan ji aap dekhiye yah hai ki shramiko ko pratinidhi kaise bane toh shramik ko ko saath me rahi hai uska har majburi ko samajh gaye usko madad kariye usko usse accha batchit kari hai uske man ko bhool milkar yah madhur vachan bolie madhur mithaas laiye usko dukh ko samadhi aapka ray kuch nahi lekin phir bhi agar uska dukh hokar samajhte hain usko man ko usse accha baat karte hansate bolte hain toh zaroor hai uske saath samay dijiyega shramiko log ko prasann kariega toh zaroor hai is par bahut saara aise upay hai jo ki aap par shramiko ke pratinidhi ko prasann kar sakte hain

हां जी आप देखिए यह है कि श्रमिकों को प्रतिनिधि कैसे बने तो श्रमिक को को साथ में रही है उसक

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  85
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कि संतों का प्रतिनिधि कहते बने लीडर बनने के लिए कुछ गुणों की आवश्यकता होती है इमानदारी है मित्र है टीम में तार करने का वाक्य नए प्रयोगों के साथ काफी कुछ हमेशा अलग हटके की थी ऐसे कीजिए कि किसी भी कर्मचारी को कोई परेशानी इंसानों के साथ जब आप खुद को कुछ नए ऑडियो के साथ नए उत्साह था कमर अपने चार में लगे रहना दूसरों की सहायता करते रहना किसी व्यक्ति को किसी को कोई परेशानी है उस पर तुरंत एक्शन लेना कि वह उसे क्या परेशानी है उसकी मदद करना यह सब चीजें आपको संपर्क आप बना सकते जवाब अपने आप को नए प्रयोगों के साथ छात्रों की टीम भावना इस आप लोगों से बात करवाओ दें तो आप उनके अपने आप वह आपको फॉलो कर बात आपसे पूछ सकता हूं अगर आप तीन बार नहीं करोगे लोगों को आपके कार्य से आपकी परेशानी होती तो आप अपनी टीम का मतलब होता है कि टीम बनाकर किसी भी ठाकुर करना और ऐसे करना कि टीम का प्रतिशत आपके परिवार को आपके परिवार जैसा वो तीन ही एक परिवार बन जाती है और यही जन्मदिन भावना से बात करेंगे तब हमारा परिवार है तो आप बहुत जो भी लोड होंगे आपको फॉलो करेंगे और आपसे बिना पूछे कार्य नहीं करेंगे ईमानदारी की दिखाइए और लगन और मेहनत से अपने आप को किसी भी तार में लगाए रखना है तो यह आदेश मत दीजिए आदेश नहीं दिया जाता आदेश नहीं होता है टीम भावना होती है और जब हमारे पास करने की भावना होती है अपने आपको कारण लगाएगा तभी तो आप निश्चित संतों का

aapka prashna hai ki santo ka pratinidhi kehte bane leader banne ke liye kuch gunon ki avashyakta hoti hai imaandari hai mitra hai team me taar karne ka vakya naye prayogon ke saath kaafi kuch hamesha alag hatake ki thi aise kijiye ki kisi bhi karmchari ko koi pareshani insano ke saath jab aap khud ko kuch naye audio ke saath naye utsaah tha kamar apne char me lage rehna dusro ki sahayta karte rehna kisi vyakti ko kisi ko koi pareshani hai us par turant action lena ki vaah use kya pareshani hai uski madad karna yah sab cheezen aapko sampark aap bana sakte jawab apne aap ko naye prayogon ke saath chhatro ki team bhavna is aap logo se baat karwao de toh aap unke apne aap vaah aapko follow kar baat aapse puch sakta hoon agar aap teen baar nahi karoge logo ko aapke karya se aapki pareshani hoti toh aap apni team ka matlab hota hai ki team banakar kisi bhi thakur karna aur aise karna ki team ka pratishat aapke parivar ko aapke parivar jaisa vo teen hi ek parivar ban jaati hai aur yahi janamdin bhavna se baat karenge tab hamara parivar hai toh aap bahut jo bhi load honge aapko follow karenge aur aapse bina pooche karya nahi karenge imaandaari ki dikhaiye aur lagan aur mehnat se apne aap ko kisi bhi taar me lagaye rakhna hai toh yah aadesh mat dijiye aadesh nahi diya jata aadesh nahi hota hai team bhavna hoti hai aur jab hamare paas karne ki bhavna hoti hai apne aapko karan lagaega tabhi toh aap nishchit santo ka

आपका प्रश्न है कि संतों का प्रतिनिधि कहते बने लीडर बनने के लिए कुछ गुणों की आवश्यकता होती

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  129
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए यह जो प्रश्न है इसको मैं आपको ऐसा कहूंगा कि आप यह नेतागिरी वाला शब्द है श्रमिकों के कैसे प्रतिनिधि कैसे बने दोस्त लोगों की बहुत सारी समस्याएं हैं उनको उनको उनकी प्रॉब्लम है सॉल्व कीजिएगा आपको अपने आप ही सर आंखों पर बैठेंगे धन्यवाद

dekhiye yah jo prashna hai isko main aapko aisa kahunga ki aap yah netagiri vala shabd hai shramiko ke kaise pratinidhi kaise bane dost logo ki bahut saari samasyaen hain unko unko unki problem hai solve kijiega aapko apne aap hi sir aakhon par baitheange dhanyavad

देखिए यह जो प्रश्न है इसको मैं आपको ऐसा कहूंगा कि आप यह नेतागिरी वाला शब्द है श्रमिकों के

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  148
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

श्रमिकों के प्रतिनिधि कैसे बनाएं इस समय देश में भी पूरे संसार में ही महामारी का दौर चल रहा है इस समय कई ऐसे श्रमिक हैं जो बेरोजगार हो गए हैं खाना खाने के लिए नहीं है रहने के लिए नहीं है अपने घर जाने के लिए नहीं है तो इसमें उनको सबसे ज्यादा जरूरत है पैसे की और खाने-पीने की सामग्री कि आप उनका खाने पीने में सहयोग करें उनके घर जाने में सहयोग करें तो आप खुद ही उनके प्रतिनिधि हो जाते हो कि आप अगर ऐसा करते हैं उन को खुशी मिलती है और वह आपको ही सब कुछ समझ बैठते हैं जिसमें प्रतिनिधि बनने जैसा कुछ है नहीं आप इतनी चीजें करेंगे तो खुद ही प्रतिनिधि बन जाएंगे

shramiko ke pratinidhi kaise banaye is samay desh me bhi poore sansar me hi mahamari ka daur chal raha hai is samay kai aise shramik hain jo berozgaar ho gaye hain khana khane ke liye nahi hai rehne ke liye nahi hai apne ghar jaane ke liye nahi hai toh isme unko sabse zyada zarurat hai paise ki aur khane peene ki samagri ki aap unka khane peene me sahyog kare unke ghar jaane me sahyog kare toh aap khud hi unke pratinidhi ho jaate ho ki aap agar aisa karte hain un ko khushi milti hai aur vaah aapko hi sab kuch samajh baithate hain jisme pratinidhi banne jaisa kuch hai nahi aap itni cheezen karenge toh khud hi pratinidhi ban jaenge

श्रमिकों के प्रतिनिधि कैसे बनाएं इस समय देश में भी पूरे संसार में ही महामारी का दौर चल रहा

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  65
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

श्रमिकों के प्रतिनिधि क्या करना है उसके पास बुद्धि नहीं है वह तो बिल्कुल पूछिए को रखकर काम करते श्रम करते बुद्धि नहीं है इसलिए तो श्रमिक है उसके प्रतिनिधि बनना है तो आप उसको बुद्धिशाली है और आप उसको अपनी बात कल मिलकर आते

shramiko ke pratinidhi kya karna hai uske paas buddhi nahi hai vaah toh bilkul puchiye ko rakhakar kaam karte shram karte buddhi nahi hai isliye toh shramik hai uske pratinidhi banna hai toh aap usko buddhishali hai aur aap usko apni baat kal milkar aate

श्रमिकों के प्रतिनिधि क्या करना है उसके पास बुद्धि नहीं है वह तो बिल्कुल पूछिए को रखकर काम

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  162
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

श्रमिकों का प्रतिनिधि दोस्त बनकर करें और हमेशा उसको यह ना महसूस हो कि मैं श्रमिक हूं हमेशा उसे मान सम्मान देना चाहिए और हमेशा साथ देना चाहिए हर मुसीबत में साथ देना चाहिए कोई काम अगर उनसे गलत भी हो गया तो भी उससे अच्छे व्यवहार करना चाहिए

shramiko ka pratinidhi dost bankar kare aur hamesha usko yah na mehsus ho ki main shramik hoon hamesha use maan sammaan dena chahiye aur hamesha saath dena chahiye har musibat me saath dena chahiye koi kaam agar unse galat bhi ho gaya toh bhi usse acche vyavhar karna chahiye

श्रमिकों का प्रतिनिधि दोस्त बनकर करें और हमेशा उसको यह ना महसूस हो कि मैं श्रमिक हूं हमेशा

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  107
WhatsApp_icon
play
user

Saroj Jain

Working at Bajaj Allianz L I C

0:26

Likes  2  Dislikes    views  111
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उसके लिए वहां के जितने फिल्म है क्या उसके हितों में अपना विचार अपना काम करने का प्रयास करें जो खाली टाइम है उसमें उसके हितों के बारे में कुछ बोले कुछ बताएं ऑटोमेटेकली सभी आप को लेकर मारना शुरू कर देगा

uske liye wahan ke jitne film hai kya uske hiton me apna vichar apna kaam karne ka prayas kare jo khaali time hai usme uske hiton ke bare me kuch bole kuch bataye atometekli sabhi aap ko lekar marna shuru kar dega

उसके लिए वहां के जितने फिल्म है क्या उसके हितों में अपना विचार अपना काम करने का प्रयास करे

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  83
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

श्रमिकों के प्रतिनिधि बनने के लिए श्रम को के साथ में सड़क पर उतरना पड़ता है तभी उनके सच्चे और सही प्रतिनिधि आदमी बन सकता है

shramiko ke pratinidhi banne ke liye shram ko ke saath me sadak par utarna padta hai tabhi unke sacche aur sahi pratinidhi aadmi ban sakta hai

श्रमिकों के प्रतिनिधि बनने के लिए श्रम को के साथ में सड़क पर उतरना पड़ता है तभी उनके सच्चे

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  97
WhatsApp_icon
user
0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

श्रमिकों के प्रतिनिधि उनके प्रति आस्था और उनके काम के प्रति आस्था रखना और उनके सभी जरूरतों के समान को आपूर्ति उनकी देखभाल उनके स्वास्थ्य का ध्यान रखते हुए यही श्रमिकों के प्रतिनिधित्व का कार्य करती है

shramiko ke pratinidhi unke prati astha aur unke kaam ke prati astha rakhna aur unke sabhi jaruraton ke saman ko aapurti unki dekhbhal unke swasthya ka dhyan rakhte hue yahi shramiko ke pratinidhitva ka karya karti hai

श्रमिकों के प्रतिनिधि उनके प्रति आस्था और उनके काम के प्रति आस्था रखना और उनके सभी जरूरतों

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  98
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत आसान है सोशल डिस्टेंसिंग का मेंटेन करते हुए श्रमिक श्रमिकों को निस्वार्थ भाव से सेवा कीजिए बहुत सारे श्रमिक प्रवासी मजदूर दिल्ली मुंबई ऐसे बहुत सारे महानगर से चलकर आ रहे हैं जैसे तैसे आ रहे हैं रास्ते में भूखे प्यासे जैसे तैसे आ रहे हैं आप उनकी सेवा कीजिए मदद कीजिए निस्वार्थ भाव से जितना आपको जो बन पाता है उसमें पीछे नहीं रही है जरूर आप उन्नति करेंगे और आगे तक बैठेंगे

bahut aasaan hai social distensing ka maintain karte hue shramik shramiko ko niswarth bhav se seva kijiye bahut saare shramik pravasi majdur delhi mumbai aise bahut saare mahanagar se chalkar aa rahe hain jaise taise aa rahe hain raste me bhukhe pyaase jaise taise aa rahe hain aap unki seva kijiye madad kijiye niswarth bhav se jitna aapko jo ban pata hai usme peeche nahi rahi hai zaroor aap unnati karenge aur aage tak baitheange

बहुत आसान है सोशल डिस्टेंसिंग का मेंटेन करते हुए श्रमिक श्रमिकों को निस्वार्थ भाव से सेवा

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  129
WhatsApp_icon
user

Hemant

Infection Control

1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं किसी भी स्तर अमित को चाहे वह गंभीर गरीब हो या फिर मीडियम क्लास कहो हमने खुशी भी आ जाए हम बाइक पर चल रहे हो या कार्मेल रहे हो कभी किसी पैदल वाले को या किसी प्रमुख को छोटा ना समझे क्योंकि अगर आपने छुपा समझते हो तो वक्त बदलने में किसी का समय नहीं लगता है आपने को श्रमिक नहीं इंसान समझो क्योंकि आप भी एक इंसान हो और वह भी एक इंसान है फर्क सिर्फ इतना है कि आप अपना काम कर रहे हो और वह अपना काम कर रहा है भगवान ने आपको इस लायक बनाया है कि आप गाड़ियों में चल रही हो और भगवान ने उसको इस लायक बनाया है कि अपनी मजदूरी करके अपना और अपने बच्चों का पेट भरता है इसलिए सभी को जहां कभी भी आपकी जरूरत पड़े मैं किसी गरीब आदमी को आपकी जहां जरूरत पड़े आपको वहां अपना योगदान बढ़कर कर देना चाहिए अगर कोई भी गरीब कोई भी समय आपके सामने रखा होता है तो यह आपके लिए बड़ा चैलेंज वाली बात है कि आप अगर किसी गरीब को या किसी समय को एक वक्त का खाना नहीं रह सकते तो आप इस चीज का

main kisi bhi sthar amit ko chahen vaah gambhir garib ho ya phir medium class kaho humne khushi bhi aa jaaye hum bike par chal rahe ho ya karmel rahe ho kabhi kisi paidal waale ko ya kisi pramukh ko chota na samjhe kyonki agar aapne chupa samajhte ho toh waqt badalne me kisi ka samay nahi lagta hai aapne ko shramik nahi insaan samjho kyonki aap bhi ek insaan ho aur vaah bhi ek insaan hai fark sirf itna hai ki aap apna kaam kar rahe ho aur vaah apna kaam kar raha hai bhagwan ne aapko is layak banaya hai ki aap gadiyon me chal rahi ho aur bhagwan ne usko is layak banaya hai ki apni mazdoori karke apna aur apne baccho ka pet bharta hai isliye sabhi ko jaha kabhi bhi aapki zarurat pade main kisi garib aadmi ko aapki jaha zarurat pade aapko wahan apna yogdan badhkar kar dena chahiye agar koi bhi garib koi bhi samay aapke saamne rakha hota hai toh yah aapke liye bada challenge wali baat hai ki aap agar kisi garib ko ya kisi samay ko ek waqt ka khana nahi reh sakte toh aap is cheez ka

मैं किसी भी स्तर अमित को चाहे वह गंभीर गरीब हो या फिर मीडियम क्लास कहो हमने खुशी भी आ जाए

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  95
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज के समय में सैनिकों का प्रतिनिधि बनना कोई बड़ी बात नहीं है जो भी व्यक्ति परेशान है उसकी मदद करें और उनकी सहायता करें आज देश में श्रमिकों कोई सहायता की बहुत ज्यादा जरूरत है भारत

aaj ke samay me sainikon ka pratinidhi banna koi badi baat nahi hai jo bhi vyakti pareshan hai uski madad kare aur unki sahayta kare aaj desh me shramiko koi sahayta ki bahut zyada zarurat hai bharat

आज के समय में सैनिकों का प्रतिनिधि बनना कोई बड़ी बात नहीं है जो भी व्यक्ति परेशान है उसकी

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  108
WhatsApp_icon
user
0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

श्रमिकों के प्रतिनिधि कैसे बने इसका मतलब यह नहीं है कि आप श्रमिकों के ऊपर कोई कोई ऐसा पद होगा जिसके ऊपर आप बैठकर उनका प्रतिनिधि करें श्रमिकों का प्रतिनिधित्व होता है कि श्रमिक श्रमिक मजदूर गरीब हो उनको पहचान करें उसके काम को पड़ोसन दें तथा उसका जीवन में आगे बढ़ने के तरीके समझाए दिखाओ उसे मोटिवेशन करके आप उसके प्रतिनिधि कर सकते हैं

shramiko ke pratinidhi kaise bane iska matlab yah nahi hai ki aap shramiko ke upar koi koi aisa pad hoga jiske upar aap baithkar unka pratinidhi kare shramiko ka pratinidhitva hota hai ki shramik shramik majdur garib ho unko pehchaan kare uske kaam ko padosan de tatha uska jeevan me aage badhne ke tarike samjhaye dikhaao use motivation karke aap uske pratinidhi kar sakte hain

श्रमिकों के प्रतिनिधि कैसे बने इसका मतलब यह नहीं है कि आप श्रमिकों के ऊपर कोई कोई ऐसा पद ह

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  46
WhatsApp_icon
user
0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पहले खुद को साबित बनना पड़ेगा तू ही अच्छे समय के प्रतिनिधि बन सकते हैं श्रमिक होता है क्या हो पहले उसको खुद को ही समझना पड़ेगा

pehle khud ko saabit banna padega tu hi acche samay ke pratinidhi ban sakte hain shramik hota hai kya ho pehle usko khud ko hi samajhna padega

पहले खुद को साबित बनना पड़ेगा तू ही अच्छे समय के प्रतिनिधि बन सकते हैं श्रमिक होता है क्या

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  75
WhatsApp_icon
user
0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए श्रमिकों के प्रतिनिधि बनने के लिए आपको जीत और श्रमिकों के लिए मेहनत करनी पड़ेगी उनका जो भी समस्या है उसका निवारण करना पड़ेगा ना कि कंपनी के अधिकारियों या उनसे मिलकर ऐसा नहीं कि

dekhiye shramiko ke pratinidhi banne ke liye aapko jeet aur shramiko ke liye mehnat karni padegi unka jo bhi samasya hai uska nivaran karna padega na ki company ke adhikaariyo ya unse milkar aisa nahi ki

देखिए श्रमिकों के प्रतिनिधि बनने के लिए आपको जीत और श्रमिकों के लिए मेहनत करनी पड़ेगी उनका

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  86
WhatsApp_icon
user

Dilip Atras

Counstroction

1:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

श्रमिकों के प्रतिनिधि बनने के लिए सबसे पहले आपको यह देखना होगा कि आप कौन से फील्ड में आप कहां पर मजदूरी करते हैं आपके साथी लोग कहां पर मजदूरी करते हैं आप कौन सा व्यवसाय करते इसके लिए सबसे जरूरी है आपको आपका व्यवसाय देखना होगा आप चाहे कोई सभी विषय में हो इसके लिए आपको श्रमिकों के प्रतिनिधि बनना चाहते हैं आपको मित्र बनना पड़ेगा मित्र बनने के लिए आपको उनकी सारी समस्याओं से जागरूक होना पड़ेगा उनके हर सुख दुख में साथ देना होगा शासकीय सेवाओं में अगर आप उनकी जो भी मदद करना चाहते हैं अगर किसी मजदूर को किसी प्रकार की कोई जरूरत पड़ती है यहां पर परेशानी आती है आपको उनको वहां पर साथ दोगे धीरे-धीरे आप श्रमिकों के दिल में अपनी जगह बनाती जाओगे और अगर की कोई स्कीम अगर निकलती है यहां पर अगर कोई इलेक्शन वगैरह कर होते हैं घर पर श्रमिक लिटर बनाए जाते हैं जो अगर आपके द्वारा चाहे आपकी मजदूरों से बातचीत करने की पकड़ अच्छी है तो आप सभी लीडर भी बन सकते हैं और श्रमिकों से अच्छा काम भी करवा सकते हैं

shramiko ke pratinidhi banne ke liye sabse pehle aapko yah dekhna hoga ki aap kaun se field me aap kaha par mazdoori karte hain aapke sathi log kaha par mazdoori karte hain aap kaun sa vyavasaya karte iske liye sabse zaroori hai aapko aapka vyavasaya dekhna hoga aap chahen koi sabhi vishay me ho iske liye aapko shramiko ke pratinidhi banna chahte hain aapko mitra banna padega mitra banne ke liye aapko unki saari samasyaon se jagruk hona padega unke har sukh dukh me saath dena hoga shaaskiye sewaon me agar aap unki jo bhi madad karna chahte hain agar kisi majdur ko kisi prakar ki koi zarurat padti hai yahan par pareshani aati hai aapko unko wahan par saath doge dhire dhire aap shramiko ke dil me apni jagah banati jaoge aur agar ki koi scheme agar nikalti hai yahan par agar koi election vagera kar hote hain ghar par shramik litter banaye jaate hain jo agar aapke dwara chahen aapki majduro se batchit karne ki pakad achi hai toh aap sabhi leader bhi ban sakte hain aur shramiko se accha kaam bhi karva sakte hain

श्रमिकों के प्रतिनिधि बनने के लिए सबसे पहले आपको यह देखना होगा कि आप कौन से फील्ड में आप क

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  49
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

श्रमिकों के प्रतिनिधि बनने का सवाल मैंने कल भी शायद इस विषय पर एक बार कहा था कि 1 श्रमिकों मजदूरों का प्रतिनिधित्व करने के लिए उस प्रतिनिधि जब तक उस गतिविधियों से ना गुजरा हो वह उनकी परेशानियों से मूलभूत ना हो वह उनका प्रतिनिधि कभी नहीं कर सकता इसलिए अगर आपको श्रमिकों का प्रतिनिधि चुना है उन्हीं में से किसी ऐसे व्यक्ति को चुनिए जो उनके क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ है

shramiko ke pratinidhi banne ka sawaal maine kal bhi shayad is vishay par ek baar kaha tha ki 1 shramiko majduro ka pratinidhitva karne ke liye us pratinidhi jab tak us gatividhiyon se na gujara ho vaah unki pareshaniyo se mulbhut na ho vaah unka pratinidhi kabhi nahi kar sakta isliye agar aapko shramiko ka pratinidhi chuna hai unhi me se kisi aise vyakti ko chuniye jo unke kshetra me sarvashreshtha hai

श्रमिकों के प्रतिनिधि बनने का सवाल मैंने कल भी शायद इस विषय पर एक बार कहा था कि 1 श्रमिकों

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  121
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!