भोजन के पचाने में लार की क्या भूमिका है?...


user

Virendra Singh

Public figure

0:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भोजन पचाने में लार का पहली बात तो यह है कि लार में 2 तारीख एंजाइम होते हैं एक बताया माइलेज जो कार्बोहाइड्रेट का पाचन शुरू कर देता है दूसरा होता है लाइफ हो जाएं जो बैक्टीरिया को मार देता है दूसरा लाल एक माध्यम बनाती है का भोजन के साथ में मिक्स होकर एक semi-solid मिक्स बनाती है जिससे उसका मोमेंट इजी हो जाता है और वह इसोफागस से होता हुआ आहार नली में प्रवेश होता है

bhojan pachane me laar ka pehli baat toh yah hai ki laar me 2 tarikh enzyme hote hain ek bataya mileage jo carbohydrate ka pachan shuru kar deta hai doosra hota hai life ho jayen jo bacteria ko maar deta hai doosra laal ek madhyam banati hai ka bhojan ke saath me mix hokar ek semi solid mix banati hai jisse uska moment easy ho jata hai aur vaah isofagas se hota hua aahaar nali me pravesh hota hai

भोजन पचाने में लार का पहली बात तो यह है कि लार में 2 तारीख एंजाइम होते हैं एक बताया माइलेज

Romanized Version
Likes  168  Dislikes    views  901
WhatsApp_icon
14 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Dr Raj Kumar Kochar

Ayurvedic Doctors ( Researcher )

0:19

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भोजन में पाचन में लार की भूमिका बहुत जबरदस्त है क्योंकि लाल के साथ एंजॉय निकासी क्रिश्चियन होता है और इसलिए भोजन को पचने में के लिए लाल की भूमिका बहुत जरूरी है

bhojan mein pachan mein laar ki bhumika BA hut jabardast hai kyonki laal ke saath enjoy nikasi Christian hota hai aur isliye bhojan ko pachane mein ke liye laal ki bhumika BA hut zaroori hai

भोजन में पाचन में लार की भूमिका बहुत जबरदस्त है क्योंकि लाल के साथ एंजॉय निकासी क्रिश्चियन

Romanized Version
Likes  117  Dislikes    views  1557
WhatsApp_icon
user
0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भोजन को पचाने में लार की क्या भूमिका है भोजन के पचाने में लार की बहुत अधिक भूमिका है लार को हम सलाइवा भी बोलते हैं इंग्लिश में सिलाई वाजो क्या करता है भोजन को गीला कर देता है और उसको 1 बॉल्स बना देता बोलस मतलब एक गिला टुकड़ा जैसा बना देता है ताकि वह इस ओके काश हमारे गले के अंदर जो होता है उसके अंदर वह आराम से जा सके तो जाने और उसमें लाइसेंस और बहुत सारे सेन जॉइन सोते हैं जो कि उसको ब्रेकडाउन करने में हेल्प करते हैं तो सबसे पहला जो भी चीजें होती हैं भोजन को पचाने में उसमें सबसे अत्यधिक सबसे पहली प्रक्रिया में सिलाई व का होना बहुत इंपॉर्टेंट है

bhojan ko pachane mein laar ki kya bhumika hai bhojan ke pachane mein laar ki BA hut adhik bhumika hai laar ko hum saliva bhi bolte hai english mein silai vajo kya karta hai bhojan ko geela kar deta hai aur usko 1 BA lls BA na deta bolus matlab ek gila tukda jaisa BA na deta hai taki vaah is ok kash hamare gale ke andar jo hota hai uske andar vaah aaram se ja sake toh jaane aur usme license aur BA hut saare sen join sote hai jo ki usko breakdown karne mein help karte hai toh sabse pehla jo bhi cheezen hoti hai bhojan ko pachane mein usme sabse atyadhik sabse pehli prakriya mein silai va ka hona BA hut important hai

भोजन को पचाने में लार की क्या भूमिका है भोजन के पचाने में लार की बहुत अधिक भूमिका है लार क

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  162
WhatsApp_icon
user
0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भोजन के पाचन में लार की बहुत अहम भूमिका होती है जब हम खाना खाते हैं तो उस खाना खाने में जो भी इतनी कार्बोहाइड्रेट की मात्रा होती है उसमें बिहार में जो निभा जाते हैं उस दिन 30% जो पसंद है वह कार्रवाई के कपाट नेवल आर्मी होना स्टार्ट हो जाता है बाकी पाचन फिर आगे अमाशय में होता है लेकिन लाडपुरा रोड

bhojan ke pachan mein laar ki BA hut aham bhumika hoti hai jab hum khana khate hai toh us khana khane mein jo bhi itni carbohydrate ki matra hoti hai usme bihar mein jo nibha jaate hai us din 30 jo pasand hai vaah karyawahi ke kapaat neval army hona start ho jata hai BA ki pachan phir aage amashay mein hota hai lekin ladpura road

भोजन के पाचन में लार की बहुत अहम भूमिका होती है जब हम खाना खाते हैं तो उस खाना खाने में जो

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  178
WhatsApp_icon
user

Sameer Baloch

Teacher - Biology

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी भोजन के पाचन के लिए शुरुआत होती है वह हमारे मुंह में ही स्टार्ट हो जाते हैं और क्योंकि मुंह के अंदर लार उपस्थित होते हैं यानी कि जो हमारी सलाइवेरी ग्लैंड होती है यानी लार ग्रंथियां होती हैं उन ग्रंथों से लार का स्राव होता है और यह नार्कन दिया जो होती है भोजन को पचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं और जैसे की लार ग्रंथियां होती है उसके अंदर म्यूकस होता है और यह भोजन को एकदम चिपचिपा नरम बना लेता है और भोजन के कणों को आपस में जोड़ देता है जिसे निकलने में बहुत आसानी हो जाती है इसके अलावा लाइव के अंदर एक महत्वपूर्ण एंजाइम होता है जिसे हम कहते हैं यह टेलिंग भोजन के अंदर जो स्टार्ट होता है उस स्टार्ट का पाचन मुंह में शुरू कर देता है थैंक यू

dekhi bhojan ke pachan ke liye shuruat hoti hai vaah hamare mooh mein hi start ho jaate hai aur kyonki mooh ke andar laar upasthit hote hai yani ki jo hamari salaiveri gland hoti hai yani laar granthiyan hoti hai un granthon se laar ka srav hota hai aur yah narkan diya jo hoti hai bhojan ko pachane mein mahatvapurna bhumika nibhate hai aur jaise ki laar granthiyan hoti hai uske andar mucus hota hai aur yah bhojan ko ekdam chipchipa naram BA na leta hai aur bhojan ke kanon ko aapas mein jod deta hai jise nikalne mein BA hut aasani ho jaati hai iske alava live ke andar ek mahatvapurna enzyme hota hai jise hum kehte hai yah telling bhojan ke andar jo start hota hai us start ka pachan mooh mein shuru kar deta hai thank you

देखी भोजन के पाचन के लिए शुरुआत होती है वह हमारे मुंह में ही स्टार्ट हो जाते हैं और क्योंक

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  312
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भोजन को पचाने के लिए अलार्म जो उपस्थित टायलिन एंजाइम होता है वह कार्रवाई डेट का पाचन करता है तंग करता का झटका और उसके बाद हम आशा में चला जाता है कारण उत्पादन के लिए अमाशय में टैलेंट का कार्य नहीं होता है क्योंकि वहां पर जो एनजीआेमोंग एसपीएल होता है वह टैलेंट को नष्ट कर देता है

bhojan ko pachane ke liye alarm jo upasthit taylin enzyme hota hai vaah karyawahi date ka pachan karta hai tang karta ka jhatka aur uske baad hum asha me chala jata hai karan utpadan ke liye amashay me talent ka karya nahi hota hai kyonki wahan par jo enajiomong SPL hota hai vaah talent ko nasht kar deta hai

भोजन को पचाने के लिए अलार्म जो उपस्थित टायलिन एंजाइम होता है वह कार्रवाई डेट का पाचन करता

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  58
WhatsApp_icon
user
0:15
Play

Likes  4  Dislikes    views  102
WhatsApp_icon
user

omee ji

:"All Subject Basic Taiyari को सब्सक्राइब करें Ji.........👏👏🌷🌺

0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भोजन में पाचन में भोजन के पाचन में लार का महत्व बहुत अधिक होता है धार का महत्व भोजन को सबसे पहले टाइप टेस्ट करने के लिए होता है क्योंकि हमारा भोजन के बैंक खाते हैं तो सबसे पहले उसका पाचन होता है जो लड़के दुआ तो है लार में एंजाइम पाया जाता है जो कि हमारे भोजन को पचाने में सहायक होता है यार काम है तुम्हारे भोजन को नाश्ता बनाना है ओके धन्यवाद आपको सवाल का जवाब अच्छा लगा तो खोलो

bhojan mein pachan mein bhojan ke pachan mein laar ka mahatva BA hut adhik hota hai dhar ka mahatva bhojan ko sabse pehle type test karne ke liye hota hai kyonki hamara bhojan ke BA nk khate hai toh sabse pehle uska pachan hota hai jo ladke dua toh hai laar mein enzyme paya jata hai jo ki hamare bhojan ko pachane mein sahayak hota hai yaar kaam hai tumhare bhojan ko naash ta BA nana hai ok dhanyavad aapko sawaal ka jawab accha laga toh kholo

भोजन में पाचन में भोजन के पाचन में लार का महत्व बहुत अधिक होता है धार का महत्व भोजन को सबस

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  4
WhatsApp_icon
user

Ashish Verma

IAS Officer

2:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कहा जाता है कि बिना लार के भोजन को पचा ना अति असंभव है तो सबसे पहले आप क्या करें कि हमारे भोजन को पचाने के लिए अति आवश्यक जान ले कि बिना लार के भोजन पच ही नहीं सकता जब हम किसी खाने को अगर खाते हैं तो हमारी पाचन किया मुख से ही स्टार्ट हो जाती है अगर मुंह में अगर आपके कोई प्रॉब्लम हुआ तो समझ लीजिए कि आपके भोजन को पचने में भी प्रॉब्लम हो जाएगा इसलिए कभी भी भोजन करें तो उसे 32 बार चबाना चाहिए इसीलिए इस सिस्टम को साइंस के द्वारा प्रमाणित कर चुके कर दिया गया है और इस चीज को आप समझ सकते हैं कि भोजन को जितना अधिक चलाया जाए अगर अगर वह सॉलिड ग्रुप में तो उसे इतना चला जाए जमा दिया जाए कि वह लिक्विड रूप में जा और कितना ही लिक्विड रूप में वह शरीर के अंदर जाएगा उतना ही वह आसान हो जाएगा पचने में क्योंकि हमारे मुख में अगर वह खड़ा खड़ा कर गले में से नीचे उतर गया तो समझ जाइए कि नीचे कोई या तो नहीं होता है को पचाने में बड़ी मेहनत करनी पड़ जाती है हमारे रिलीवर को और इसलिए बाद आदमी का जोर कई सारी बीमारियां में खेल लेती है और फिर भोजन पचता नहीं है तो अंदर ही अंदर करने लगता है और हम और हमें कई सारी बीमारी खेल लेती है जैसे मेकअप जो जाती है दो-तीन दिन तक पहुंच नियम कर पाते को पेट में ही सड़ने लगता इसलिए भोजन को पचाने के लिए सबसे पहले उसे सॉलिड रूप में अगर आप खा रहे हो कुछ भी तुम्हारे डीजे रोटियां खा रहे हैं तो रोटी बैठना चाहिए कोई लिक्विड रुक ना हो जाए मुंह में आई और गले से उतरते हुए को लिखित रूप में ही नीचे जाए जब वह इस स्थिति में जाएगा तो आपकी पूरी पर को पचाने में बहुत ही आसानी होगी और आप जो भी खाएंगे आपके शरीर में तुरंत जाकर लगेगा और आपके दम स्वस्थ और फिट महसूस करेंगे अगर आप इसे खड़ा-खड़ा नीचे उतार कर अपने गले से तो समझ गए कि इसमें ना लगी लार पहुंच पाएगा और ना ही यह लिखित रूप में जाएगा कि नीचे और लीवर को बहुत ही मेहनत करनी पड़ेगी अब यह पचे गा नहीं तो किस करने लगेगा और जितना उसमें से तत्व सुखना चाहिए लीवर को उत्सुक नहीं पाएगा वह तब तो उसे मिल नहीं पाए जो आपके शरीर को चाहिए इसलिए कभी भोजन को चबा चबा कर खाना चाहिए जिससे वह उसके साथ मिलकर जब जाता है मिक्स होकर पेट में तो उसे उसे पचाने का काम करता है और वह हमारे गले से बहुत ही आसानी तरह से उतर जाता और पेट में भी जाकर अच्छी तरह से बचके और हमारे लीवर के पाइप के माध्यम से वह मलद्वार के माध्यम से बाहर भी निकल जाता है और इस तरह से हम पूर्ण स्वस्थ रहते हैं पेट भी साफ रहता है हमारा और मन मस्तिष्क अशुद्ध आता है इसलिए दीवाना भोजन को पचाने के लिए इसमें लार की अहम भूमिका होती है इसलिए कभी भी भोजन को चबा चबा कर खाना चाहिए और लार जरूर से उससे उत्पन्न करना चाहिए ताकि भोजन को अच्छी तरह से बचाया जा सके

kaha jata hai ki bina laar ke bhojan ko pacha na ati asambhav hai toh sabse pehle aap kya kare ki hamare bhojan ko pachane ke liye ati aavashyak jaan le ki bina laar ke bhojan pach hi nahi sakta jab hum kisi khane ko agar khate hai toh hamari pachan kiya mukh se hi start ho jaati hai agar mooh mein agar aapke koi problem hua toh samajh lijiye ki aapke bhojan ko pachane mein bhi problem ho jaega isliye kabhi bhi bhojan kare toh use 32 BA ar chabana chahiye isliye is system ko science ke dwara pramanit kar chuke kar diya gaya hai aur is cheez ko aap samajh sakte hai ki bhojan ko jitna adhik chalaya jaaye agar agar vaah solid group mein toh use itna chala jaaye jama diya jaaye ki vaah liquid roop mein ja aur kitna hi liquid roop mein vaah sharir ke andar jaega utana hi vaah aasaan ho jaega pachane mein kyonki hamare mukh mein agar vaah khada khada kar gale mein se niche utar gaya toh samajh jaiye ki niche koi ya toh nahi hota hai ko pachane mein BA di mehnat karni pad jaati hai hamare reliever ko aur isliye BA ad aadmi ka jor kai saree bimariyan mein khel leti hai aur phir bhojan pachta nahi hai toh andar hi andar karne lagta hai aur hum aur hamein kai saree bimari khel leti hai jaise makeup jo jaati hai do teen din tak pohch niyam kar paate ko pet mein hi sadane lagta isliye bhojan ko pachane ke liye sabse pehle use solid roop mein agar aap kha rahe ho kuch bhi tumhare DJ rotiyan kha rahe hai toh roti BA ithana chahiye koi liquid ruk na ho jaaye mooh mein I aur gale se utarate hue ko likhit roop mein hi niche jaaye jab vaah is sthiti mein jaega toh aapki puri par ko pachane mein BA hut hi aasani hogi aur aap jo bhi khayenge aapke sharir mein turant jaakar lagega aur aapke dum swasthya aur fit mehsus karenge agar aap ise khada khada niche utar kar apne gale se toh samajh gaye ki isme na lagi laar pohch payega aur na hi yah likhit roop mein jaega ki niche aur liver ko BA hut hi mehnat karni padegi ab yah pache ga nahi toh kis karne lagega aur jitna usme se tatva sukhana chahiye liver ko utsuk nahi payega vaah tab toh use mil nahi paye jo aapke sharir ko chahiye isliye kabhi bhojan ko chaba chaba kar khana chahiye jisse vaah uske saath milkar jab jata hai mix hokar pet mein toh use use pachane ka kaam karta hai aur vaah hamare gale se BA hut hi aasani tarah se utar jata aur pet mein bhi jaakar achi tarah se BA chake aur hamare liver ke pipe ke madhyam se vaah maladwar ke madhyam se BA har bhi nikal jata hai aur is tarah se hum purn swasthya rehte hai pet bhi saaf rehta hai hamara aur man mastishk ashuddh aata hai isliye deewana bhojan ko pachane ke liye isme laar ki aham bhumika hoti hai isliye kabhi bhi bhojan ko chaba chaba kar khana chahiye aur laar zaroor se usse utpann karna chahiye taki bhojan ko achi tarah se BA chaya ja sake

कहा जाता है कि बिना लार के भोजन को पचा ना अति असंभव है तो सबसे पहले आप क्या करें कि हमारे

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  1
WhatsApp_icon
user

Deepa Misra

volunteers

0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो भोजन खाते हैं उद्बोधन को एक प्रक्रम से गुजर ना होता है जिससे वह छोटे-छोटे कणों में बदल जाता है इसे हम दांतो से चबाकर पूरा कर लेते हैं अतः भोजन को गिला करने का कार्यालय द्वारा किया जाता है ताकि इसका मार्ग आसान हो जाए लास्ट में एक एंजाइम होता है जिसे लारे माइलेज कहते हैं मुंह से निकलने वाला रस केवल जलना होकर लार ग्रंथि से निकलने वाला लाडला सोता है भोजन को कोमल बनाने का कार्य लार ग्रंथि द्वारा किया जाता है जिसके द्वारा भोजन को आगे पाचन के लिए तैयार किया जाता है

jo bhojan khate hai udbodhan ko ek prakram se gujar na hota hai jisse vaah chote chhote kanon mein BA dal jata hai ise hum daanto se chabaakar pura kar lete hai atah bhojan ko gila karne ka karyalay dwara kiya jata hai taki iska marg aasaan ho jaaye last mein ek enzyme hota hai jise lare mileage kehte hai mooh se nikalne vala ras keval jalna hokar laar granthi se nikalne vala ladla sota hai bhojan ko komal BA naane ka karya laar granthi dwara kiya jata hai jiske dwara bhojan ko aage pachan ke liye taiyar kiya jata hai

जो भोजन खाते हैं उद्बोधन को एक प्रक्रम से गुजर ना होता है जिससे वह छोटे-छोटे कणों में बदल

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  468
WhatsApp_icon
user

Ashwani Thakur

👤Teacher & Advisor🙏

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पूजा क्या पोस्ट क्वेश्चन है भोजन के पाचन में लार की क्या भूमिका है तो मैं बताना चाहता हूं दोस्तों लहार के कारण भी जो हमारा भोजन है वह अच्छी तरह से आप पाचन हो पाता है ठीक है तो लाल की बहुत अधिक भूमिका है जिस व्यक्ति को अधिक लार नहीं बनता है उसका जो है भोजन जल्दी पच नहीं पाता है ठीक है थैंक यू सो मच को चमकाने के लिए मुझे लगता है आपको आपका उत्तर मिल गया होगा

puja kya post question hai bhojan ke pachan mein laar ki kya bhumika hai toh main BA taana chahta hoon doston lahaar ke karan bhi jo hamara bhojan hai vaah achi tarah se aap pachan ho pata hai theek hai toh laal ki BA hut adhik bhumika hai jis vyakti ko adhik laar nahi BA nta hai uska jo hai bhojan jaldi pach nahi pata hai theek hai thank you so match ko chamkane ke liye mujhe lagta hai aapko aapka uttar mil gaya hoga

पूजा क्या पोस्ट क्वेश्चन है भोजन के पाचन में लार की क्या भूमिका है तो मैं बताना चाहता हूं

Romanized Version
Likes  34  Dislikes    views  1016
WhatsApp_icon
user
0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भोजन में जो भोजन के पाचन में जो लड़की भूमिका है वह सबसे ज्यादा है कि कि जो लाल या फिर चला है वह हमारे मुंह से निकलता है वह भोजन को हमारे गले से हो क्या हमारे पेट के अंदर लेकर जाता है अगर यह सूखा होगा या फिर नमी रहित होगा तो खाना आसानी से नहीं बचेगा और जो कि हमारी गली में काफी ज्यादा दिक्कत मचा सकती है जो हमारा लाल होता है उस खाने को आसानी से निकलने और पेट के या फिर बाद में पहुंचाने के लिए काफी ज्यादा मददगार होती है

bhojan mein jo bhojan ke pachan mein jo ladki bhumika hai vaah sabse zyada hai ki ki jo laal ya phir chala hai vaah hamare mooh se nikalta hai vaah bhojan ko hamare gale se ho kya hamare pet ke andar lekar jata hai agar yah sukha hoga ya phir nami rahit hoga toh khana aasani se nahi BA chega aur jo ki hamari gali mein kaafi zyada dikkat macha sakti hai jo hamara laal hota hai us khane ko aasani se nikalne aur pet ke ya phir BA ad mein pahunchane ke liye kaafi zyada madadgaar hoti hai

भोजन में जो भोजन के पाचन में जो लड़की भूमिका है वह सबसे ज्यादा है कि कि जो लाल या फिर चला

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  3
WhatsApp_icon
user

shekhar11

Volunteer

0:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भोजन के पाचन में जो लड़की भूमिका होती है काफी अहम होती है हमारे जो भोजन होते हैं उसे स्लिपी बनाते हैं ताकि हमारे पेट के अंदर पहुंच सके और मजा रेंज होती है जो मारे भोजन को छोटे-छोटे टुकड़ों में तोड़ दी है जिसे इसे बहुत ही आसानी होता है पचाने में पेट के लिए

bhojan ke pachan mein jo ladki bhumika hoti hai kaafi aham hoti hai hamare jo bhojan hote hai use sleepy BA nate hai taki hamare pet ke andar pohch sake aur maza range hoti hai jo maare bhojan ko chote chote tukadon mein tod di hai jise ise BA hut hi aasani hota hai pachane mein pet ke liye

भोजन के पाचन में जो लड़की भूमिका होती है काफी अहम होती है हमारे जो भोजन होते हैं उसे स्लिप

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  1
WhatsApp_icon
user

Gulnaz

लेवल 1 (बिगिनर)

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भोजन के बचाने में लार की क्या भूमिका है देखे 50 लाख की पहचान कार्यों में नमकीन भोजन और भोजन बनाने में मदद शामिल होती है लार में जो है एंजाइम इन वाली जूती है जिससे अट्टालिम भी कहा जाता है जो माल्टोज और जो है विकसित ट्रेन जैसे सरल और जैसे के और सरल सूगर स्टार्स को तोड़ने में सक्षम होता है जिसे छोटी और इंटेस्टाइन में और तोड़ा जा सकता है

bhojan ke BA chane mein laar ki kya bhumika hai dekhe 50 lakh ki pehchaan karyo mein namkeen bhojan aur bhojan BA naane mein madad shaamil hoti hai laar mein jo hai enzyme in wali juti hai jisse attalim bhi kaha jata hai jo maltoj aur jo hai viksit train jaise saral aur jaise ke aur saral sugar stars ko todne mein saksham hota hai jise choti aur intestine mein aur toda ja sakta hai

भोजन के बचाने में लार की क्या भूमिका है देखे 50 लाख की पहचान कार्यों में नमकीन भोजन और भोज

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  76
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
भोजन के पाचन में लार की क्या भूमिका है ; bhojan ke pachan mela ki kya bhumika hai ; bhojan ke pachan me lar ki kya bhumika hai ; क्या भोजन के पाचन में लार की भूमिका है ; भोजन पाचन में लार की क्या भूमिका है ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!