हिस्ट्री को कितने भागों में बांटा गया है?...


user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपने पूछा है हिस्ट्री को कितने भागों में बांटा गया है अगर हम भारत देश के इतिहास के बारे में बात कर रहे हैं तो इतिहास को लोगों ने तीन भागों में बांट रखा है पहला प्राचीन इतिहास इसके अंतर्गत हम अपनी सभ्यता की शुरुआत से अर्थात सिंधु घाटी या हड़प्पा सभ्यता से शुरुआत करते हैं और यहां तक और उसके बाद उसमें वैदिक सभ्यता रामायण महाभारत काल मौर्य काल तक के इतिहास को हम उसमें पढ़ते हैं दूसरों से शुरू होता है मेडिकल लीजिए मध्यकालीन भारत मध्यकालीन भारत से शुरू होता है जब यहां पर विदेशी आक्रमणकारियों ने आना शुरू किया गुलाम वंश खिलजी वंश तुगलक वंश मुगल शासन प्रणाली इनके कार्यकाल को माना जाता है मध्ययुगीन इतिहास और उसके बाद शुरू होता आदमी की इतिहास जो कि अंग्रेजों के आगमन और स्वतंत्रता संग्राम और आजाद भारत सब कुछ इसमें शामिल है कि तीन समय हमारे देश में इतिहास को बांटा गया है ऐसे ही पढ़ाया भी जाता है

apne poocha hai history ko kitne bhaagon me baata gaya hai agar hum bharat desh ke itihas ke bare me baat kar rahe hain toh itihas ko logo ne teen bhaagon me baant rakha hai pehla prachin itihas iske antargat hum apni sabhyata ki shuruat se arthat sindhu ghati ya hadappa sabhyata se shuruat karte hain aur yahan tak aur uske baad usme vaidik sabhyata ramayana mahabharat kaal maurya kaal tak ke itihas ko hum usme padhte hain dusro se shuru hota hai medical lijiye madhyakalin bharat madhyakalin bharat se shuru hota hai jab yahan par videshi aakramanakaariyon ne aana shuru kiya gulam vansh khilji vansh tuglak vansh mughal shasan pranali inke karyakal ko mana jata hai madhyayugin itihas aur uske baad shuru hota aadmi ki itihas jo ki angrejo ke aagaman aur swatantrata sangram aur azad bharat sab kuch isme shaamil hai ki teen samay hamare desh me itihas ko baata gaya hai aise hi padhaya bhi jata hai

अपने पूछा है हिस्ट्री को कितने भागों में बांटा गया है अगर हम भारत देश के इतिहास के बारे मे

Romanized Version
Likes  35  Dislikes    views  480
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

रवि प्रकाश सिंह"रमण"

Industrialist/Businessman/Poet/Writer

0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है हिंदी में हिस्ट्री को कितने भागों में बांटा गया है इसी को मुख्य रूप से तीन भागों में बांटा गया है कि नरेंद्र मोदी ने प्राचीन इतिहास मध्यकालीन इतिहास और आधुनिक इतिहास इसके अलावा भी हिस्ट्री के और कई विभेद हैं धन्यवाद

aapka prashna hai hindi me history ko kitne bhaagon me baata gaya hai isi ko mukhya roop se teen bhaagon me baata gaya hai ki narendra modi ne prachin itihas madhyakalin itihas aur aadhunik itihas iske alava bhi history ke aur kai vibhed hain dhanyavad

आपका प्रश्न है हिंदी में हिस्ट्री को कितने भागों में बांटा गया है इसी को मुख्य रूप से तीन

Romanized Version
Likes  31  Dislikes    views  485
WhatsApp_icon
user

A.k

Teacher

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए अध्ययन की सुविधा के लिए हिस्ट्री को तीन भागों में बांटा गया है एक प्राचीन इतिहास मध्यकालीन इतिहास और आधुनिक इतिहास प्राचीन इतिहास का वह समय जिसमें आदिमानव से लेकर आज तक दिल्ली सल्तनत काल स्टार्ट नहीं होता इस टाइम पीरियड का प्राचीन इतिहास रहता है दिल्ली सल्तनत से लेकर और 1857 तक किसे कहा जाता है मध्यकालीन इतिहास और 18 सो 57 के बाद से इतना भी इतिहास है वह सारा आधुनिक इतिहास या मॉडर्न हिस्ट्री कहा जाता है थैंक यू

dekhiye adhyayan ki suvidha ke liye history ko teen bhaagon me baata gaya hai ek prachin itihas madhyakalin itihas aur aadhunik itihas prachin itihas ka vaah samay jisme adimanav se lekar aaj tak delhi sultanate kaal start nahi hota is time period ka prachin itihas rehta hai delhi sultanate se lekar aur 1857 tak kise kaha jata hai madhyakalin itihas aur 18 so 57 ke baad se itna bhi itihas hai vaah saara aadhunik itihas ya modern history kaha jata hai thank you

देखिए अध्ययन की सुविधा के लिए हिस्ट्री को तीन भागों में बांटा गया है एक प्राचीन इतिहास मध्

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  246
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!