भगत सिंह कौन थे भगत सिंह कौन थे भगत सिंह कौन थे?...


user

prabhat sinha

Assistant Professor, Dept Of History

4:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उत्तर प्रश्न है भगत सिंह कौन थे भगत सिंह कौन थे भगत सिंह कौन थे तो दोस्तों भगत सिंह के बारे में आप सभी परिचित होंगे भगत सिंह भारत के महान क्रांतिकारी नेता थे जिन्होंने देश की आजादी की लड़ाई में अपनी जान को कुर्बान कर दिया फांसी के तख्ते पर झूल गए तो भगत सिंह का जन्म 1960 में पंजाब में हुआ था और वह बचपन से ही क्रांतिकारी स्वभाव के थे भुने हुए नौजवान भारत सभा और हिंदुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिकन एसोसिएशन की स्थापना में योगदान दिया और आपको बता दें कि 1928 में भगतसिंह जन शेखर आजाद और राजगुरु डे लाहौर में लाला लाजपत राय पर लाठी बरसाने वाले एक पुलिस अधिकारी सांडर्स की हत्या कर दी और इसके बाद इसे पहले है भगत सिंह ने 1926 में नौजवान भारत सभा की स्थापना की थी इस सभा के सदस्यों ने साइमन कमीशन का विरोध करने में मुख्य भूमिका निभाई थी और भगत सिंह तथा बटुकेश्वर दत्त ने 8 अप्रैल 1929 को केंद्रीय लेजिसलेटिव असेंबली में अरे दिल्ली में सेंट्रल लेजिसलेटिव असेंबली में बम फेंका था और बम फेंकने का उद्देश्य किसी की हत्या करना नहीं था बल्कि बहरे कानों तक अपनी आवाज पहुंचाना था फलता भगत सिंह बटुकेश्वर दत्त पर मुकदमा चला बाद में भगत सिंह सुखदेव राजगुरु और अन्य क्रांतिकारियों पर भी कई आरोप लगाकर मुकदमा चलाया गया भगत सिंह राजगुरु और सुखदेव को 7 अक्टूबर 1930 को फांसी की सजा सुनाई गई और 23 मार्च 1921 को फांसी दे दी गई तो आप समझ रहे हैं कि भगत सिंह जैसे नेता विरले ही पैदा होते हैं और देश की आजादी में उन्होंने अपना अप्रतिम योगदान दिया इसलिए भगत सिंह को शहीद ए आजम के नाम से भी जाना जाता है और उन्होंने अंग्रेजों को दिखला दिया अंग्रेजों को अगर वे चाहते तो असेंबली में बम से हत्या भी कर सकते थे लोगों की लेकिन उन्होंने कहा था कि कि बहरे कानों तक अपनी आवाज पहुंचाना ही उद्देश्य है तो दोस्तों भगत सिंह राजगुरु बटुकेश्वर दत्त चंद्र शेखर आजाद जैसे भर क्रांतिकारी थे और उन्होंने इन लोगों ने देश की आजादी शांति से नहीं शस्त्रों के बल पर आजादी पाने का प्रयास किया और यहां के 9 युवकों में जोश खरोश का विचार किया तो इसलिए भगत सिंह जैसे महान नेताओं क्रांतिकारी नेताओं का देश की आजादी में बहुत बड़ा योगदान

uttar prashna hai bhagat Singh kaun the bhagat Singh kaun the bhagat Singh kaun the toh doston bhagat Singh ke bare me aap sabhi parichit honge bhagat Singh bharat ke mahaan krantikari neta the jinhone desh ki azadi ki ladai me apni jaan ko kurban kar diya fansi ke takhte par jhul gaye toh bhagat Singh ka janam 1960 me punjab me hua tha aur vaah bachpan se hi krantikari swabhav ke the bhune hue naujawan bharat sabha aur Hindustan socialist republican association ki sthapna me yogdan diya aur aapko bata de ki 1928 me bhagatsinh jan shekhar azad aur raajguru day lahore me lala lajpat rai par lathi barsane waale ek police adhikari sandars ki hatya kar di aur iske baad ise pehle hai bhagat Singh ne 1926 me naujawan bharat sabha ki sthapna ki thi is sabha ke sadasyon ne simon commision ka virodh karne me mukhya bhumika nibhaai thi aur bhagat Singh tatha batukeshvar dutt ne 8 april 1929 ko kendriya lejisletiv assembly me are delhi me central lejisletiv assembly me bomb fenkaa tha aur bomb fenkne ka uddeshya kisi ki hatya karna nahi tha balki behre kanon tak apni awaaz pahunchana tha phalata bhagat Singh batukeshvar dutt par mukadma chala baad me bhagat Singh sukhadeva raajguru aur anya krantikariyon par bhi kai aarop lagakar mukadma chalaya gaya bhagat Singh raajguru aur sukhadeva ko 7 october 1930 ko fansi ki saza sunayi gayi aur 23 march 1921 ko fansi de di gayi toh aap samajh rahe hain ki bhagat Singh jaise neta virle hi paida hote hain aur desh ki azadi me unhone apna apratim yogdan diya isliye bhagat Singh ko shaheed a azam ke naam se bhi jana jata hai aur unhone angrejo ko dikhla diya angrejo ko agar ve chahte toh assembly me bomb se hatya bhi kar sakte the logo ki lekin unhone kaha tha ki ki behre kanon tak apni awaaz pahunchana hi uddeshya hai toh doston bhagat Singh raajguru batukeshvar dutt chandra shekhar azad jaise bhar krantikari the aur unhone in logo ne desh ki azadi shanti se nahi shastron ke bal par azadi paane ka prayas kiya aur yahan ke 9 yuvakon me josh kharosh ka vichar kiya toh isliye bhagat Singh jaise mahaan netaon krantikari netaon ka desh ki azadi me bahut bada yogdan

उत्तर प्रश्न है भगत सिंह कौन थे भगत सिंह कौन थे भगत सिंह कौन थे तो दोस्तों भगत सिंह के बार

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  182
KooApp_icon
WhatsApp_icon
2 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!