क्रिकेट खेलते समय झगड़ा क्यों होता है?...


user

VIJAY RAJ YADAV

Sports Teacher,Coach,Yoga Teacher, Fitness Guru

3:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार मैं विजय डिपार्टमेंट ऑफ फिजिकल एजुकेशन जैसा कि आज का सवाल क्रिकेट खेलते समय झगड़ा क्यों होता है तो मैं आपको बता देना चाहता हूं कि झगड़े की बहुत सी वजहें होती हैं खेल के दौरान मैदान में जब दो टीमें आपस में मैच के लिए उतरती है और जब दोनों ही टीमें इस मैच में जीत के प्रबल दावेदार होती हैं और जब दोनों ही टीमें एक दूसरे पर भारी पड़ती नहीं दिखाई देती है कभी टाइम लगता है मैं जीत जाएगी कभी 3 दिन लगता है मैं दी जाएगी उस कंडीशन में कभी-कभी एक स्टडी के थ्रू क्वेश्चन और कुछ टीम के प्लेयर सामने वाले खिलाड़ी जिनका परफॉरमेंस काफी अच्छा चल रहा होता है या ऐसे प्लेयर जो थोड़ा सा एड्रेस इन माइंड के होते हैं उनको उकसाने और उनको भड़काने की कोशिश करते हैं जिससे क्रोध में आ जाएं और क्रोध में आने के बाद भी गलतियां ज्यादा से ज्यादा करें और जिससे उनके बॉलिंग में रन बनाए जा सकता हो या उनका विकेट लिया जा सकता हूं ऐसे कंडीशन क्रिएट किए जाते हैं जिसकी वजह से वह गलतियां ज्यादा करें और उन गलतियों की वजह से वह मैच हार जाए कभी-कभी कुछ डिसीजन ऑफ फैसले को लेकर खिलाड़ियों में आपस में वैसा वैसी हो जाती है और झगड़े भी हो जाते हैं हालांकि धीरे-धीरे वक्त के साथ आशीष जी सी हो गई है क्योंकि टेक्नोलॉजी कब जमाना आ गया है तो जहां यदि कहीं भी इस तरह की दिक्कतें आती हैं तो थर्ड अंपायर फोर सिम पर इस तरह की स्मार्ट टेक्नोलॉजी को इस तरीके से कन्वर्ट कर दिया गया है कि डिसीजन पर आने वाली परेशानी और उससे होने वाले झगड़ों को तो लगभग खत्म कर दिया गया लेकिन मैच के दौरान खिलाड़ियों का आपस में तू-तू मैं-मैं हो ना वैसा वैसी हो ना यह सामान्य सी चीजें हैं और इसको एक स्टडी के रूप में खिलाड़ी अप्लाई करते हैं कभी-कभी जब टीमें दूसरे की कट्टर प्रतिद्वंदी होती हैं तो उनकी बॉडी लैंग्वेज की वजह से उनमें आपस में मनमुटाव और आपस में झगड़े हो जाते हैं ऐसी कंडीशन पैदा हो जाते हैं तो जब टीम एक दूसरे पर भारी पड़ती है या टीमें एक-दूसरे के कट्टर प्रतिद्वंदी जब इस तरह की स्थितियां होती है तो उनके खिलाड़ियों के बीच में आपस में झगड़े और तनाव भरे माहौल पैदा हो जाते हैं एक सामान्य सी बात है जो खेल के दौरान देखा जा सकता है और खेल भी हो भी जाता है धन्यवाद थैंक यू

namaskar main vijay department of physical education jaisa ki aaj ka sawaal cricket khelte samay jhagda kyon hota hai toh main aapko bata dena chahta hoon ki jhagde ki bahut si vajhen hoti hain khel ke dauran maidan me jab do teamen aapas me match ke liye utarati hai aur jab dono hi teamen is match me jeet ke prabal davedaar hoti hain aur jab dono hi teamen ek dusre par bhari padti nahi dikhai deti hai kabhi time lagta hai main jeet jayegi kabhi 3 din lagta hai main di jayegi us condition me kabhi kabhi ek study ke through question aur kuch team ke player saamne waale khiladi jinka performance kaafi accha chal raha hota hai ya aise player jo thoda sa address in mind ke hote hain unko ukasane aur unko bhadkaane ki koshish karte hain jisse krodh me aa jayen aur krodh me aane ke baad bhi galtiya zyada se zyada kare aur jisse unke bowling me run banaye ja sakta ho ya unka wicket liya ja sakta hoon aise condition create kiye jaate hain jiski wajah se vaah galtiya zyada kare aur un galatiyon ki wajah se vaah match haar jaaye kabhi kabhi kuch decision of faisle ko lekar khiladiyon me aapas me waisa vaisi ho jaati hai aur jhagde bhi ho jaate hain halaki dhire dhire waqt ke saath aashish ji si ho gayi hai kyonki technology kab jamana aa gaya hai toh jaha yadi kahin bhi is tarah ki dikkaten aati hain toh third umpire four sim par is tarah ki smart technology ko is tarike se convert kar diya gaya hai ki decision par aane wali pareshani aur usse hone waale jhagadon ko toh lagbhag khatam kar diya gaya lekin match ke dauran khiladiyon ka aapas me tu tu main main ho na waisa vaisi ho na yah samanya si cheezen hain aur isko ek study ke roop me khiladi apply karte hain kabhi kabhi jab teamen dusre ki kattar pratidwandi hoti hain toh unki body language ki wajah se unmen aapas me manmutaav aur aapas me jhagde ho jaate hain aisi condition paida ho jaate hain toh jab team ek dusre par bhari padti hai ya teamen ek dusre ke kattar pratidwandi jab is tarah ki sthitiyan hoti hai toh unke khiladiyon ke beech me aapas me jhagde aur tanaav bhare maahaul paida ho jaate hain ek samanya si baat hai jo khel ke dauran dekha ja sakta hai aur khel bhi ho bhi jata hai dhanyavad thank you

नमस्कार मैं विजय डिपार्टमेंट ऑफ फिजिकल एजुकेशन जैसा कि आज का सवाल क्रिकेट खेलते समय झगड़ा

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  116
WhatsApp_icon
9 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Lalit Kumar

Motivational Speaker

2:02
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड्स क्रिकेट खेलते समय झगड़ा क्यों होता है बहुत अच्छा खुशी दिखी जवाब क्रिकेट खेलते हैं तो झगड़ा तो होना ही एक गेम का हिसाब इसके में हो ही जाता है इसकी मैं थोड़ा-थोड़ा किसी के में झगड़ा हो ही जाता है लेकिन क्रिकेट में चांसेस और कैमों की तुलना में बढ़ जाते हैं और यह मुंह में इतना झगड़ा नहीं होता है लेकिन क्रिकेट में झगड़ा कुछ ज्यादा हो जाता है जैसे क्रिकेट स्कोर हमारे हिंदुस्तान में यदि कोई खेल सबसे ज्यादा प्रचलित है तो वह क्रिकेट है चाहे वह अंतरराष्ट्रीय तौर पर हो राष्ट्रीय तौर पर हो या अंकली क्रिकेट क्रिकेट खेलते हैं उसमें हम अभी पूरा इंटरेस्ट हम उसमें डालते हैं कोई आउट नहीं होना चाहता और और मकसद होता है एक ही हमें आउट करना है रन नहीं देने हैं चुप-चुप अपनी-अपनी स्पॉट लगे रहते हैं कि मैंने अपना हर आदमी इसमें अपना और चीजों में भले ही अंडर परसेंट ना दे लेकिन क्रिकेट अकादमी जितना वह कर सकता है उतना अधिक को करता ही है पूरी क्षमता जितनी उसकी है भूतनी उसमें लगा देता है और क्रिकेट के ऊपर पूरा अपना ध्यान योग देता है जब ऐसा होता है हर आदमी जब ऐसा ही करता है जब उसमें कहीं थोड़ी सी गड़बड़ हो जाती है या वह हार नहीं लगता है इधर नहीं बनते हैं तो इस वजह से इंसान को गुस्सा आने लगता है और वह झगड़े का रूप ले लेता है इसलिए क्रिकेट में झगड़ा होता है धन्यवाद

hello friends cricket khelte samay jhagda kyon hota hai bahut accha khushi dikhi jawab cricket khelte hain toh jhagda toh hona hi ek game ka hisab iske me ho hi jata hai iski main thoda thoda kisi ke me jhagda ho hi jata hai lekin cricket me chances aur kaimon ki tulna me badh jaate hain aur yah mooh me itna jhagda nahi hota hai lekin cricket me jhagda kuch zyada ho jata hai jaise cricket score hamare Hindustan me yadi koi khel sabse zyada prachalit hai toh vaah cricket hai chahen vaah antararashtriya taur par ho rashtriya taur par ho ya ankali cricket cricket khelte hain usme hum abhi pura interest hum usme daalte hain koi out nahi hona chahta aur aur maksad hota hai ek hi hamein out karna hai run nahi dene hain chup chup apni apni spot lage rehte hain ki maine apna har aadmi isme apna aur chijon me bhale hi under percent na de lekin cricket academy jitna vaah kar sakta hai utana adhik ko karta hi hai puri kshamta jitni uski hai bhootni usme laga deta hai aur cricket ke upar pura apna dhyan yog deta hai jab aisa hota hai har aadmi jab aisa hi karta hai jab usme kahin thodi si gadbad ho jaati hai ya vaah haar nahi lagta hai idhar nahi bante hain toh is wajah se insaan ko gussa aane lagta hai aur vaah jhagde ka roop le leta hai isliye cricket me jhagda hota hai dhanyavad

हेलो फ्रेंड्स क्रिकेट खेलते समय झगड़ा क्यों होता है बहुत अच्छा खुशी दिखी जवाब क्रिकेट खेलत

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  280
WhatsApp_icon
user

Ansh jalandra

Motivational speaker

1:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्रिकेट खेलते समय झगड़ा जांगू सीन किया जाता गेम रिकॉर्डिंग होता है ऐसे बल्लेबाज है उठाकर करके खड़ा है स्कूल अपडेट क्रिकेट हो गया टेस्ट क्रिकेट में बल्लेबाज घंटों खड़े रहते हैं स्पेशलिस्ट होते हैं उनका ध्यान केंद्रित हो जाता है तो ज्यादातर लोगों में जो विवाद होते हैं उनका ध्यान केंद्रित करने के लिए लड़ाई झगड़ा करती है अपनी लड़ाई झगड़ा दूर करने की कोशिश करेगा वही रहता है ज्यादातर यही रहता है कि आवाज को डिस्टर्ब किया जाए बाकी कोई पर्सनल किसी की दुश्मनी फील्ड में एक अग्रेसिव आक्रामकता रखते हैं सिर्फ जीत के लिए नारियल कोई दुश्मन

cricket khelte samay jhagda jangu seen kiya jata game recording hota hai aise ballebaaz hai uthaakar karke khada hai school update cricket ho gaya test cricket me ballebaaz ghanto khade rehte hain specialist hote hain unka dhyan kendrit ho jata hai toh jyadatar logo me jo vivaad hote hain unka dhyan kendrit karne ke liye ladai jhagda karti hai apni ladai jhagda dur karne ki koshish karega wahi rehta hai jyadatar yahi rehta hai ki awaaz ko disturb kiya jaaye baki koi personal kisi ki dushmani field me ek aggressive aakraamakata rakhte hain sirf jeet ke liye nariyal koi dushman

क्रिकेट खेलते समय झगड़ा जांगू सीन किया जाता गेम रिकॉर्डिंग होता है ऐसे बल्लेबाज है उठाकर क

Romanized Version
Likes  30  Dislikes    views  502
WhatsApp_icon
user

Yogesh Shekhawat

Sports Coach

1:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है क्रिकेट खेलते समय झगड़ा क्यों होता है तो मैं आपको बता दूं कि क्रिकेट खास करके बाकी जो गेम में उनसे थोड़ा सा डिफरेंट है तो किस में फिजिकल एक्टिविटी बहुत ज्यादा होती है हर खिलाड़ी अपना अच्छा परफॉर्मेंस करता है और हर टीम जीतना चाहती है ऐसा बाकी खेलों में भी होता है लेकिन इसमें थोड़ा सा कुछ जो रुचि ज्यादा होती है लोगों की जिसकी वजह से लोग इसको ज्यादा देखते हैं और झगड़े का कारण ऐसा होता है कि कभी कभी कुछ गलत टाइप हो जाता है कोई जजमेंट के लिए दिया जाता है यह कुछ खिलाड़ी आपस में एक दूसरे खिलाड़ी को कोई ऐसा अकाउंट कर देता है या कोई ऐसा मिसबिहेव कर देता है जिसकी वजह से ज्यादा चांसेस रहते झगड़े होने के वैसे देखा जाए तो एक अच्छा खिलाड़ी वह होता है जो खेल को खेल की भावना से खेले खेल को किसी दो पत्थर से ना जोड़ें खेल को सिर्फ खेल की भावना से खेले खेल जो होता है वह आपसी मेलजोल से खेला जाता है तभी वो खेल होता है वरना वो खेल नहीं रहता है इसलिए झगड़े के बहुत सारे छोटे छोटे कारण होते तो एक अच्छे खिलाड़ी को यह सब झगड़े की जो करने इग्नोर करने चाहिए

aapka prashna hai cricket khelte samay jhagda kyon hota hai toh main aapko bata doon ki cricket khas karke baki jo game me unse thoda sa different hai toh kis me physical activity bahut zyada hoti hai har khiladi apna accha performance karta hai aur har team jeetna chahti hai aisa baki khelo me bhi hota hai lekin isme thoda sa kuch jo ruchi zyada hoti hai logo ki jiski wajah se log isko zyada dekhte hain aur jhagde ka karan aisa hota hai ki kabhi kabhi kuch galat type ho jata hai koi judgement ke liye diya jata hai yah kuch khiladi aapas me ek dusre khiladi ko koi aisa account kar deta hai ya koi aisa misbihev kar deta hai jiski wajah se zyada chances rehte jhagde hone ke waise dekha jaaye toh ek accha khiladi vaah hota hai jo khel ko khel ki bhavna se khele khel ko kisi do patthar se na joden khel ko sirf khel ki bhavna se khele khel jo hota hai vaah aapasi meljol se khela jata hai tabhi vo khel hota hai varna vo khel nahi rehta hai isliye jhagde ke bahut saare chote chote karan hote toh ek acche khiladi ko yah sab jhagde ki jo karne ignore karne chahiye

आपका प्रश्न है क्रिकेट खेलते समय झगड़ा क्यों होता है तो मैं आपको बता दूं कि क्रिकेट खास कर

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  128
WhatsApp_icon
play
user

Rakesh Kumar Chandra

BE ( Electrical )/ MBA ( Marketing) Electrical Engineer

1:37

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल 121 खरीदते समय झगड़ा क्यों होता है अपने बहुत ही सवाल पूछा क्यों होता है तो देखिए आप जानते हैं कि खेल खेल की जो प्रतियोगिता होती है और खेल में हर आदमी आगे निकलना चाहता है और आजकल का जो समय है वह साम दाम दंड वाला रह गया है आदमी दूसरे की टांग खींचते से पीछा करना चाहता है वह शेयर प्रतियोगिता नहीं रखता है यदि व्यक्ति फेयर प्रतियोगिता रखें और नीम के जो नियम है खेल के उनका पालन करके आगे निकले वास्तव में मेहनत करके तो कोई बात नहीं है लेकिन आजकल समय रह गया है लोगों को नियम तोड़कर के किसी की टांग खींचना और टांग खींच करके उसको पीछे करना इसी कारण से जगे हो जाते हैं जब एक नियम तोड़ता है तो दूसरा नियम की दुहाई देता है लिहाजा आपस में तू-तू मैं-मैं होती है और फिर जो है झगड़ा हो जाता है तो हमको ईमानदार बनना होगा नियमों का पालन करना होगा खेल की भावना जागृत करनी होगी हमें बहुत सारे लोग खेल के बहाने अपनी दुश्मनी निकाल लेते हैं खेल के बहाने जो है हम पुरानी जो रंजिश में होती हैं उनको निकाल लेते हैं तो यह जो तरीका होता है यह गलत होता है तो खेल को खेल की भावना से खेले और खेल के नियमों का पालन करें और आत्मीयता रखें एक दूसरे की टांग ना खींचे तो झगड़ा बिल्कुल भी नहीं होगा ठीक है धन्यवाद

aapka sawaal 121 kharidte samay jhagda kyon hota hai apne bahut hi sawaal poocha kyon hota hai toh dekhiye aap jante hain ki khel khel ki jo pratiyogita hoti hai aur khel me har aadmi aage nikalna chahta hai aur aajkal ka jo samay hai vaah saam daam dand vala reh gaya hai aadmi dusre ki taang khichte se picha karna chahta hai vaah share pratiyogita nahi rakhta hai yadi vyakti fair pratiyogita rakhen aur neem ke jo niyam hai khel ke unka palan karke aage nikle vaastav me mehnat karke toh koi baat nahi hai lekin aajkal samay reh gaya hai logo ko niyam todkar ke kisi ki taang khinchana aur taang khinch karke usko peeche karna isi karan se jage ho jaate hain jab ek niyam todta hai toh doosra niyam ki duhaai deta hai lihaja aapas me tu tu main main hoti hai aur phir jo hai jhagda ho jata hai toh hamko imaandaar banna hoga niyamon ka palan karna hoga khel ki bhavna jagrit karni hogi hamein bahut saare log khel ke bahaane apni dushmani nikaal lete hain khel ke bahaane jo hai hum purani jo Ranjish me hoti hain unko nikaal lete hain toh yah jo tarika hota hai yah galat hota hai toh khel ko khel ki bhavna se khele aur khel ke niyamon ka palan kare aur atmiyata rakhen ek dusre ki taang na khinche toh jhagda bilkul bhi nahi hoga theek hai dhanyavad

आपका सवाल 121 खरीदते समय झगड़ा क्यों होता है अपने बहुत ही सवाल पूछा क्यों होता है तो देखिए

Romanized Version
Likes  45  Dislikes    views  883
WhatsApp_icon
user

G P Kanaugia

Teacher And Career Counselor With Personal Advisor.

0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है क्रिकेट खेलते समय झगड़ा क्यों होता है वैसे क्रिकेट का जो खेल है एक जेंटलमैन खेल माना जाता है और जब आप किसी खेल को हार जीत के लिए नहीं आप खेल भावना के साथ उस खेल को खेले और अपने शारीरिक मानसिक फिटनेस के लिए आपके ले को निश्चित रूप से हार जीत कोई मांगता है लेकिन सिर्फ अगर आप जीतना ही चाहते हैं चाहते हैं चाहे जैसे तो निश्चित रूप से वह झगड़े का कारण होता है इसलिए आप क्रिकेट ही नहीं कोई भी खेल खेलें खेल भावना के साथ खेलने निश्चित रूप से आपके साथ कभी भी लड़ाई नहीं

aapka prashna hai cricket khelte samay jhagda kyon hota hai waise cricket ka jo khel hai ek gentleman khel mana jata hai aur jab aap kisi khel ko haar jeet ke liye nahi aap khel bhavna ke saath us khel ko khele aur apne sharirik mansik fitness ke liye aapke le ko nishchit roop se haar jeet koi mangta hai lekin sirf agar aap jeetna hi chahte hain chahte hain chahen jaise toh nishchit roop se vaah jhagde ka karan hota hai isliye aap cricket hi nahi koi bhi khel khele khel bhavna ke saath khelne nishchit roop se aapke saath kabhi bhi ladai nahi

आपका प्रश्न है क्रिकेट खेलते समय झगड़ा क्यों होता है वैसे क्रिकेट का जो खेल है एक जेंटलमैन

Romanized Version
Likes  37  Dislikes    views  735
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्रिकेट खेलने के टाइम झगड़ा होने के सबसे बड़ा कारण यह है कि क्रिकेट में ना सबसे बड़ा बात होता है एंपायर एंपायर कभी-कभी जब एक कप्तान के अंदर आ जाता है तो एंपायर एक कप्तान का बात जब ज्यादा सुनने लगता है तो दूसरे कप्तान को लगता है कि वह मेरे साथ चैटिंग कर रहा है तो इसी वजह से क्रिकेट में झगड़ा होता है और भी बहुत सारा कारण है कि बॉलिंग करते समय लाइन क्रॉस पढ़ो या फिर कुछ भी इसी तरह का बहुत सारा कारण होता है

cricket khelne ke time jhagda hone ke sabse bada karan yah hai ki cricket me na sabse bada baat hota hai Empire Empire kabhi kabhi jab ek captain ke andar aa jata hai toh Empire ek captain ka baat jab zyada sunne lagta hai toh dusre captain ko lagta hai ki vaah mere saath chatting kar raha hai toh isi wajah se cricket me jhagda hota hai aur bhi bahut saara karan hai ki bowling karte samay line cross padho ya phir kuch bhi isi tarah ka bahut saara karan hota hai

क्रिकेट खेलने के टाइम झगड़ा होने के सबसे बड़ा कारण यह है कि क्रिकेट में ना सबसे बड़ा बात ह

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  105
WhatsApp_icon
user

Bhgtesh Choudhary

Psychiatrist

0:29
Play

Likes  4  Dislikes    views  176
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्रिकेट खेलते समय झगड़ा क्यों होता है झगड़ा ऐसी बात होता झगड़ा नहीं होना चाहिए कि दोनों अगर टीम सही से खेलता है तो झगड़ा नहीं हो सकता किसी के मन में झगड़ा करने का विचार रहता है तो झगड़ा करता है जो मुझसे अगले वाले को जीतने नहीं देंगे

cricket khelte samay jhagda kyon hota hai jhagda aisi baat hota jhagda nahi hona chahiye ki dono agar team sahi se khelta hai toh jhagda nahi ho sakta kisi ke man me jhagda karne ka vichar rehta hai toh jhagda karta hai jo mujhse agle waale ko jitne nahi denge

क्रिकेट खेलते समय झगड़ा क्यों होता है झगड़ा ऐसी बात होता झगड़ा नहीं होना चाहिए कि दोनों अग

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  87
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!