कांग्रेस पार्टी का अर्थ क्या है?...


play
user

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कि कांग्रेस पार्टी का है देखिए कांग्रे जो शब्द है मूलत अमेरिका के जो सांसद उसको कांग्रेसी विश्व के कई देशों देशों का नाम कांग्रेस संसदीय है तो कांग्रेस पार्टी का अर्थ है कि लोगों का समूह है जो भी है किसी भी समाज के लोग हो सकते हैं कांग्रेस पार्टी का कांग्रेस पार्टी का स्थापना का उद्देश्य था कि अंग्रेजों के समय कांग्रेस पार्टी की स्थापना हुई थी 1885 में अंग्रेजी के विश्वविद्यालय 85 कुछ ऐसे लोग थे दोनों ने मिलकर पहला अधिवेशन क्या और पार्टी की स्थापना की और उसके पति बने और पार्टी का कि हम कांग्रेस सरकार से कोई भी मांग है वह सुरक्षा के पार्टी के माध्यम से फोरम पार्टी का वार्षिक अधिवेशन हो गया और इसमें सरकार क्या मांगना अगर सरकार कोई नहीं देते समय कॉलेज में अध्यक्ष चुनाव पूर्व खिलाफ आवाज उठने लगी 8 अगस्त 1942 को जब यह एक रूपरेखा तैयार की कि भारत छोड़ो आंदोलन की रूपरेखा तैयार की गई और अंग्रेजों को भगाने का तरीका और छोड़ना पड़ा और देश की आजादी देश की आजादी दिलाने में क्योंकि उस टाइम की एकमात्र राष्ट्रीय स्तर का पुरा संकल्प और उसने अंग्रेजों को धूल चटाई थी उनको आंखें उसकी एकमात्र यही माना जाता है लेकिन कुछ व्यक्ति विशेष योगदान देते देश को आजाद कराने में उनका भी योगदान कांग्रेसका जितना भी उन लोगों का जितने भी दोस्त हैं सुभाष चंद्र बोस है बाबासाहेब आंबेडकर है गांधी जी भी है जो भी है पार्टी के अलावा भी

aapka prashna hai ki congress party ka hai dekhiye kangre jo shabd hai mulat america ke jo saansad usko congressi vishwa ke kai deshon deshon ka naam congress sansadiya hai toh congress party ka arth hai ki logo ka samuh hai jo bhi hai kisi bhi samaj ke log ho sakte hain congress party ka congress party ka sthapna ka uddeshya tha ki angrejo ke samay congress party ki sthapna hui thi 1885 me angrezi ke vishwavidyalaya 85 kuch aise log the dono ne milkar pehla adhiveshan kya aur party ki sthapna ki aur uske pati bane aur party ka ki hum congress sarkar se koi bhi maang hai vaah suraksha ke party ke madhyam se forum party ka vaarshik adhiveshan ho gaya aur isme sarkar kya maangna agar sarkar koi nahi dete samay college me adhyaksh chunav purv khilaf awaaz uthane lagi 8 august 1942 ko jab yah ek rooprekha taiyar ki ki bharat chodo andolan ki rooprekha taiyar ki gayi aur angrejo ko bhagane ka tarika aur chhodna pada aur desh ki azadi desh ki azadi dilaane me kyonki us time ki ekmatra rashtriya sthar ka pura sankalp aur usne angrejo ko dhul chatai thi unko aankhen uski ekmatra yahi mana jata hai lekin kuch vyakti vishesh yogdan dete desh ko azad karane me unka bhi yogdan kangresaka jitna bhi un logo ka jitne bhi dost hain subhash chandra bose hai babasaheb ambedkar hai gandhi ji bhi hai jo bhi hai party ke alava bhi

आपका प्रश्न है कि कांग्रेस पार्टी का है देखिए कांग्रे जो शब्द है मूलत अमेरिका के जो सांसद

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  361
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!