भारत एक उदारवादी लोकतंत्र राज्य है, टिप्पणी लिखें?...


play
user

Dr Padmakar Jha

Lekkchr Pol Sc Tmprori

2:08

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देश की विशालतम जाति धर्म क्षेत्र आदि के आधार पर विविधताओं के कारण हमारे हमारे द्वारा 26 जनवरी 1950 को स्थापित लोकतांत्रिक राज्य अनेक उत्तरदायित्व को युद्ध है या भारतीय लोकतंत्र की एक मौलिक विशेषता है जो इसकी स्थिति में विकास का आधार है भारत में लोकतंत्र शासन में जनता की भागीदारी मात्र नहीं है बल्कि जनता को शासन में भागीदारी योग बनाना भी है 74 वें संविधान संशोधन के द्वारा सरकार में ऐसा किया है इन संशोधन के माध्यम से सत्ता का विकेंद्रीकरण किया गया इसमें शासनकाल में नौकरशाही पर दबाव कम हुआ और जनकल्याण को भी बढ़ावा मिला सरकार के तीन कल पालिका विधायिका न्यायपालिका दूसरे से स्वतंत्र न्यायपालिका संविधान संरक्षण के रूप में प्रक्रिया है नागरिकों को मौलिक अधिकार एवं संविधान के मूल भावना सरकार के कार्यों को प्रभावित हूं इसका ध्यान नेपाली पत्नी का न्यायपालिका पर आती है भारतीय मीडिया भी लोकतंत्र की मजबूती बनाने में अपना योगदान दिया है कुछ विषय सरकार गैस डैनी की संघटना नेताओं के विवश करती है इधर लोक सभा विधायक सरकार द्वारा मुद्दे राजनीति व्यक्तियों के विचार विमर्श भारतीय लोकतंत्र की ओर संकेत करता है अलावा संविधान की प्रस्तावना में वर्णित समाजवादी धर्मनिरपेक्ष लोकतांत्रिक गणराज्य शब्द राज्य के नीति निदेशक तत्व नागरिकों का मौलिक अधिकार संविधान में कुछ अन्य प्रावधान प्रावधानों में लोकतंत्र में जनता की शक्ति वशीभूत सरकार द्वारा चलाए जा रहे विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाएं आधार पर भारत के उदारवादी लोकतांत्रिक राज्य कहा जा सकता है धन्यवाद

desh ki vishaltam jati dharm kshetra aadi ke aadhar par vividhtaon ke karan hamare hamare dwara 26 january 1950 ko sthapit loktantrik rajya anek uttardayitva ko yudh hai ya bharatiya loktantra ki ek maulik visheshata hai jo iski sthiti me vikas ka aadhar hai bharat me loktantra shasan me janta ki bhagidari matra nahi hai balki janta ko shasan me bhagidari yog banana bhi hai 74 ve samvidhan sanshodhan ke dwara sarkar me aisa kiya hai in sanshodhan ke madhyam se satta ka vikendrikaran kiya gaya isme shasankal me naukarshahi par dabaav kam hua aur jankalyan ko bhi badhawa mila sarkar ke teen kal palika vidhayika nyaypalika dusre se swatantra nyaypalika samvidhan sanrakshan ke roop me prakriya hai nagriko ko maulik adhikaar evam samvidhan ke mul bhavna sarkar ke karyo ko prabhavit hoon iska dhyan nepali patni ka nyaypalika par aati hai bharatiya media bhi loktantra ki majbuti banane me apna yogdan diya hai kuch vishay sarkar gas danny ki sanghatana netaon ke vivash karti hai idhar lok sabha vidhayak sarkar dwara mudde raajneeti vyaktiyon ke vichar vimarsh bharatiya loktantra ki aur sanket karta hai alava samvidhan ki prastavna me varnit samajwadi dharmanirapeksh loktantrik ganrajya shabd rajya ke niti nideshak tatva nagriko ka maulik adhikaar samvidhan me kuch anya pravadhan pravdhano me loktantra me janta ki shakti vashibhut sarkar dwara chalaye ja rahe vibhinn janakalyankari yojanaye aadhar par bharat ke udarvaadi loktantrik rajya kaha ja sakta hai dhanyavad

देश की विशालतम जाति धर्म क्षेत्र आदि के आधार पर विविधताओं के कारण हमारे हमारे द्वारा 26 जन

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  177
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!