कभी कभी जीवन में कुछ लोग आते है जिनकी संगत से हमें बहुत नुक़सान होता है। ऐसे में हमें किस तरह के दोस्तों से दूर रहना चाहिए?...


user

Megh Achaarya

vastu Expert,Motivational Speaker Meditation Studio.

1:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत अच्छा प्रश्न है आपका और इसमें कोई दो राय नहीं है इसमें कोई शक की बात नहीं है कि बहुत से लोग ऐसे आते हैं बहुत से नहीं तो ज्यादातर लोग ऐसे ही होते हैं नाइनटी परसेंट से आने लगे हैं जिनकी संगत से आपको नुकसान हो सकता है यह हो रहा है यह हो चुका है ऐसे में आपको क्या करना होगा ऐसे दोस्तों से आप पीछा छुड़ा पाएंगे बिछुड़ा पाएंगे लेकिन आप अपने आप को सेव कर सकते हैं आप अब एक डिस्टेंस मेंटेन कर सकते हैं अपनी अहमियत दूसरों को ना दे करके आप अपना डिस्टेंस मेंटेन कर सकते हैं जब भी आप अपनी अहमियत दूसरों को देना शुरू कर देते हैं दूसरों को अपने से ज्यादा बड़ी देना शुरू कर देते हैं तो आप उनके संकट में फंस जाते हैं यदि आप उनके साथ डिस्टेंस बनाकर रखे हैं अपने परिवार से लेकर किसी भी शख्स से अगर आप डिस्टेंस बनाकर रखें तो आपको किसी की भी संगत का बुरा असर नहीं हो सकता है आना आप इसके संगत में फंस सकते हैं तो आप सिर्फ अपने आपको अहमद दीजिए अपने आप को गाली दीजिए और लोगों के साथ बात करें तो डिस्चार्ज बना कर बात करें कि सिर्फ वो भी अपने ऊपर हावी ना होने से यही एकमात्र रास्ता है बुरी संगत और बुरे लोगों से बचने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद मेरी शुभकामनाएं आपके साथ हैं

bahut accha prashna hai aapka aur isme koi do rai nahi hai isme koi shak ki baat nahi hai ki bahut se log aise aate hain bahut se nahi toh jyadatar log aise hi hote hain ninte percent se aane lage hain jinki sangat se aapko nuksan ho sakta hai yah ho raha hai yah ho chuka hai aise me aapko kya karna hoga aise doston se aap picha chuda payenge bichuda payenge lekin aap apne aap ko save kar sakte hain aap ab ek distance maintain kar sakte hain apni ahamiyat dusro ko na de karke aap apna distance maintain kar sakte hain jab bhi aap apni ahamiyat dusro ko dena shuru kar dete hain dusro ko apne se zyada badi dena shuru kar dete hain toh aap unke sankat me fans jaate hain yadi aap unke saath distance banakar rakhe hain apne parivar se lekar kisi bhi sakhs se agar aap distance banakar rakhen toh aapko kisi ki bhi sangat ka bura asar nahi ho sakta hai aana aap iske sangat me fans sakte hain toh aap sirf apne aapko ahmad dijiye apne aap ko gaali dijiye aur logo ke saath baat kare toh discharge bana kar baat kare ki sirf vo bhi apne upar haavi na hone se yahi ekmatra rasta hai buri sangat aur bure logo se bachne ke liye bahut bahut dhanyavad meri subhkamnaayain aapke saath hain

बहुत अच्छा प्रश्न है आपका और इसमें कोई दो राय नहीं है इसमें कोई शक की बात नहीं है कि बहुत

Romanized Version
Likes  183  Dislikes    views  2032
WhatsApp_icon
19 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Bhim Singh Kasnia

Acupunctrist,Motivational Speaker

0:36
Play

Likes  21  Dislikes    views  336
WhatsApp_icon
user

Dr. Suman Aggarwal

Personal Development Coach

0:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जिंदगी में हमें हमेशा हर चीज में बैलेंस बनाकर चलना होता है कभी भी आप किसी एक बात को पकड़ कर उसके हिसाब से सारे निर्णय नहीं ले सकते हर जगह हमको बैलेंस बनाने जैसे आप कभी जो यह सवाल है कि कुछ लोग पास आते हैं तो नुकसानदायक होते हैं तो कुछ लोग पास आते हो तो भी फायदेमंद भी होते हैं अब हमें बैलेंस किस तरीके से बनाया जाना है कि हमको यह नहीं कि हम किसी के पास आ नहीं बंद कर देंगे पर नुकसान हो गया था लेकिन हमको हमको इतना पास नहीं करना कि वह हमको इस हद तक नुकसान पहुंचा सके हमें सब से मिलना जुलना है अपनी जान पहचान बढ़ाने के साथ समय बिताना है एक दूसरे को अपने जीवन में भी देनी है लेकिन बाउंड्री को एक अपनी पिक दायरे में रखते हुए अपने आप को एक टाइम में रखते हुए अपनी भांजी को मेंटेन करते हैं ताकि अगर कुछ बुरा भी होता है तो भी हम मुझसे टूट ना जाए उतना हमें बैलेंस बनाना पड़ेगा

zindagi mein hamein hamesha har cheez mein balance banakar chalna hota hai kabhi bhi aap kisi ek baat ko pakad kar uske hisab se saare nirnay nahi le sakte har jagah hamko balance banane jaise aap kabhi jo yah sawaal hai ki kuch log paas aate hain toh nukasanadayak hote hain toh kuch log paas aate ho toh bhi faydemand bhi hote hain ab hamein balance kis tarike se banaya jana hai ki hamko yah nahi ki hum kisi ke paas aa nahi band kar denge par nuksan ho gaya tha lekin hamko hamko itna paas nahi karna ki vaah hamko is had tak nuksan pohcha sake hamein sab se milna julana hai apni jaan pehchaan badhane ke saath samay bitana hai ek dusre ko apne jeevan mein bhi deni hai lekin boundary ko ek apni pic daayre mein rakhte hue apne aap ko ek time mein rakhte hue apni bhanji ko maintain karte hain taki agar kuch bura bhi hota hai toh bhi hum mujhse toot na jaaye utana hamein balance banana padega

जिंदगी में हमें हमेशा हर चीज में बैलेंस बनाकर चलना होता है कभी भी आप किसी एक बात को पकड़ क

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  321
WhatsApp_icon
user

Dr. Priya Shatanjib Jha

Psychologist|Counselor|Dentist

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्ते दोस्तों मेरी आई डॉक्टर प्रिया झा के तरफ से आप सबको दिन की शुभकामनाएं दोस्त वह होता है लाइफ में जो आपको आपका जैसे आप हो जिंदगी में क्या कर रहे हो प्रोग्रेस कितना कर रहे हो क्या अच्छा कर रहे हो क्या बुरा कर रहे हो वह आपका आइना होता है तो दोस्त ऐसे ही बनाए जो आपको आपके बारे में सीधा आपके मुंह पर सब कुछ कह दे एंड मेरा पर्सनल स्टडी जो है वह मुझे यह कहता है और मैं अपनी पेशेंट्स में भी सबको यही सब बताती हूं कि लाइफ में यूरो नहीं टू हैक मिनी फ्रेंड्स यू कैन हैव ओन्ली वन और टू फ्रेंड्स व्हाट इज इनफ क्योंकि जितना ज्यादा आपके फ्रेंड होंगे उतना डिस्ट्रक्शन ज्यादा बढ़ती हैं ऊपर से 10 मिनट बाद 10 यूरो नॉट कॉल द डिफरेंस बिटवीन टेंस और ठीक है आपने बहुत सारी बातें कर ली उनके साथ पर वह दोस्त नहीं बन गए फ्रेंडशिप में जलन और सर एंड ब्वॉय व्हाट टाइम से किसी को आप जानते हो कंसिस्टेंटली आपने किसी से रिश्ता बनाए रखा है वह फ्रेंड जो है वह रिलेशनशिप निखार के आता है तो दोस्त लाइफ में ऐसे बनाएं जो आपको लाइफ में जो आपका हु इज हु हु हेल्प यू इन योर बेटरमेंट फूड नॉट पुट यू डाउनलोड नॉट ब्रिंग यू डाउन आपके जो लाइफ के जो जो आपका दिनचर्या है जो आपका करियर है यह सब मैं यू मस्ट बे मोटिवेटेड एंड हीरो आप को उनके प्रेजेंट से लाइफ में जिंदगी अच्छी लगनी चाहिए ना ही कि उनसे नेगेटिविटी मिले जो नेगेटिव बूटी लाते हैं आपके लाइफ में वह किस रेंज नहीं है जो आपसे जलन फील करते हैं वह आपके फ्रेंड नहीं है वे ऑल हैव इनट्यूशन हम सब जानते हैं वह पेट के नीचे सीलिंग एक होती है गर्म मूवी ऑल सिल्वर्म राम सम पीपल सुरेश नेगेटिव एनर्जी पीपीटी ऑफ फ्रेंड्स ऐसे लोगों से दूर रहे हैं शुक्रिया

namaste doston meri I doctor priya jha ke taraf se aap sabko din ki subhkamnaayain dost vaah hota hai life mein jo aapko aapka jaise aap ho zindagi mein kya kar rahe ho progress kitna kar rahe ho kya accha kar rahe ho kya bura kar rahe ho vaah aapka aaina hota hai toh dost aise hi banaye jo aapko aapke bare mein seedha aapke mooh par sab kuch keh de and mera personal study jo hai vaah mujhe yah kahata hai aur main apni patients mein bhi sabko yahi sab batati hoon ki life mein euro nahi to hack mini friends you can have only van aur to friends what is enough kyonki jitna zyada aapke friend honge utana destruction zyada badhti hain upar se 10 minute baad 10 euro not call the difference between tense aur theek hai aapne bahut saree batein kar li unke saath par vaah dost nahi ban gaye friendship mein jalan aur sir and bway what time se kisi ko aap jante ho kansistentali aapne kisi se rishta banaye rakha hai vaah friend jo hai vaah Relationship nikhaar ke aata hai toh dost life mein aise banaye jo aapko life mein jo aapka hoon is hoon hoon help you in your betterment food not put you download not bring you down aapke jo life ke jo jo aapka dincharya hai jo aapka career hai yah sab main you must be motivated and hero aap ko unke present se life mein zindagi achi lagani chahiye na hi ki unse negativity mile jo Negative buti laate hain aapke life mein vaah kis range nahi hai jo aapse jalan feel karte hain vaah aapke friend nahi hai ve all have inatyushan hum sab jante hain vaah pet ke niche ceiling ek hoti hai garam movie all silwarm ram some pipal suresh Negative energy PPT of friends aise logo se dur rahe hain shukriya

नमस्ते दोस्तों मेरी आई डॉक्टर प्रिया झा के तरफ से आप सबको दिन की शुभकामनाएं दोस्त वह होता

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  318
WhatsApp_icon
user

Umesh Upaadyay

Life Coach | Motivational Speaker

1:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हम अपने जीवन काल में बहुत सारे लोगों से मिलते रहते हैं अलग अलग से न्यारी से मिलते हैं सिचुएशन में मिलते हैं कभी स्कूल में मिलते हैं कॉलेज में मिलते हैं ऑफिस में बताइए भेजने से मिलते हैं कहीं पर भी मिल सकते हैं फैमिली में चलते हैं क्या शूली मिल सकते हैं बहुत सारे तरीकों से हम मिल सकते हैं तो क्या हम इन सब के साथ असोसिएट होकर रहना चाहिए एकदम जरूरी नहीं है यह डिपेंड करता है कि किन के साथ हमें रहना चाहिए क्योंकि संगत में रहना चाहिए क्योंकि संगत में नहीं रहना चाहिए बहुत कंपल्शन भी है बहुत आवश्यकता भी है कि इनके साथ रहना ही पड़ेगा काम करना पड़ेगा तो भी आपको सोच समझ कर आगे बढ़ना चाहिए पहली बार मैं आपको बता नहीं चलेगा कि इंसान क्या है इसका दृष्टिकोण क्या है यह व्यक्तित्व क्या है पर्सनालिटी क्या है वह को धीरे धीरे पता चलेगा लेकिन अगर आप चाहे तो पहली बार में ही उसको सोच समझ कर आगे बढ़ सकते हैं वह कैसे हाथ यह देख सकते हैं कि किन हालात में मेरे को यह इंसान मिला क्या उस इंसान के साथ मेरे को आगे जाने की जरूरत है या नहीं है आजा जाने की जरूरत है आपको सही लगता है तो आप फिर भी थोड़ा केयरफुली आगे बढ़ सकते हैं यह नहीं कि ब्लाइंड्ली आप चले मिल गया और आगे बढ़ते हैं सब कुछ ठीक-ठाक है बातें बताइए अच्छी लग रही है बड़ा अच्छा लगा आगे बढ़ते हैं जी नहीं ऐसा कोई जरूरी नहीं है हमेशा हर इंसान अपने आप को अच्छा प्रोजेक्ट करने की कोशिश करते हैं यहां पर डिपेंड करता है कि आप अपने किस विजडम के साथ यह आते हैं समझते हैं जानते हैं पर रखते हैं और फिर अगला कदम उठाते हैं तो बहुत जरूरी है कि आप सोच समझकर आगे बड़े जरूरी नहीं है हर किसी के साथ जो भी कुछ कोई आपके लाइफ में आता है उसके साथ आप आगे बढ़े कोई जरूरत नहीं है आप वह कीजिए जो आपको सही लगता है अपने वजन के हिसाब से अपनी बुद्धिमानी का प्रयोग कीजिए यहां पर

ji hum apne jeevan kaal mein bahut saare logo se milte rehte hain alag alag se nyari se milte hain situation mein milte hain kabhi school mein milte hain college mein milte hain office mein bataye bhejne se milte hain kahin par bhi mil sakte hain family mein chalte kya shuli mil sakte hain bahut saare trikon se hum mil sakte hain toh kya hum in sab ke saath associate hokar rehna chahiye ekdam zaroori nahi hai yah depend karta hai ki kin ke saath hamein rehna chahiye kyonki sangat mein rehna chahiye kyonki sangat mein nahi rehna chahiye bahut compulsion bhi hai bahut avashyakta bhi hai ki inke saath rehna hi padega kaam karna padega toh bhi aapko soch samajh kar aage badhana chahiye pehli baar main aapko bata nahi chalega ki insaan kya hai iska drishtikon kya hai yah vyaktitva kya hai personality kya hai vaah ko dhire dhire pata chalega lekin agar aap chahen toh pehli baar mein hi usko soch samajh kar aage badh sakte hain vaah kaise hath yah dekh sakte hain ki kin haalaat mein mere ko yah insaan mila kya us insaan ke saath mere ko aage jaane ki zarurat hai ya nahi hai aajad jaane ki zarurat hai aapko sahi lagta hai toh aap phir bhi thoda keyarafuli aage badh sakte hain yah nahi ki blaindli aap chale mil gaya aur aage badhte hain sab kuch theek thak hai batein bataye achi lag rahi hai bada accha laga aage badhte hain ji nahi aisa koi zaroori nahi hai hamesha har insaan apne aap ko accha project karne ki koshish karte hain yahan par depend karta hai ki aap apne kis wisdom ke saath yah aate hain samajhte hain jante hain par rakhte hain aur phir agla kadam uthate hain toh bahut zaroori hai ki aap soch samajhkar aage bade zaroori nahi hai har kisi ke saath jo bhi kuch koi aapke life mein aata hai uske saath aap aage badhe koi zarurat nahi hai aap vaah kijiye jo aapko sahi lagta hai apne wajan ke hisab se apni budhhimani ka prayog kijiye yahan par

जी हम अपने जीवन काल में बहुत सारे लोगों से मिलते रहते हैं अलग अलग से न्यारी से मिलते हैं स

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  310
WhatsApp_icon
user

Bhavin J. Shah

Life Coach

1:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सेल्फ डिसिप्लिन जीवन में कुछ ऐसे सिद्धांत और मूल्यों को चुनना चाहिए जिससे कहीं से भी कोई भी व्यक्ति जो ऐसी संगत वाला है जो हम को नुकसान पहुंचा सकता है या व्यक्ति खुद को नुकसान पहुंचा रहा है वह व्यक्ति हमसे दूर हो जाए इसका सॉल्यूशन एक ही है जब भी हम किस व्यक्ति को पहली बार मिलते हैं और मिलने के बाद जब हम बातचीत करके उससे अलग होते हैं तब अपने आप को पूछा जाए कि क्या इस व्यक्ति को दूसरी बार मिलने की जरूरत है अगर आप कारी देना कहता है तो मेहरबानी करके दूसरी बार मत मिली नुकसान तभी होता है जब हम किसी एक व्यक्ति को मिलने के बाद बार बार बार बार मिलते हैं पैसे का नुकसान सहन किया जा सकता है क्योंकि कहीं और से पैसा आपको मिल जाएगा लेकिन उस व्यक्ति से पैसा कमाने के लिए उस व्यक्ति के साथ संगत रखना जो व्यक्ति गलत है हम को नुकसान आगे जाकर पहुंचा सकता है तो वह मुरकामी है वैसा व्यवहार कभी नहीं करना चाहिए जो बात इतनी ही है हमें खुद के ऊपर कंट्रोल रखना पड़ेगा एनालिसिस करना पड़ेगा और उस हिसाब से सेलेक्शन लेने पड़ेंगे थैंक यू

self discipline jeevan mein kuch aise siddhant aur mulyon ko chunana chahiye jisse kahin se bhi koi bhi vyakti jo aisi sangat vala hai jo hum ko nuksan pohcha sakta hai ya vyakti khud ko nuksan pohcha raha hai vaah vyakti humse dur ho jaaye iska solution ek hi hai jab bhi hum kis vyakti ko pehli baar milte hain aur milne ke baad jab hum batchit karke usse alag hote hain tab apne aap ko poocha jaaye ki kya is vyakti ko dusri baar milne ki zarurat hai agar aap kaari dena kahata hai toh meharbani karke dusri baar mat mili nuksan tabhi hota hai jab hum kisi ek vyakti ko milne ke baad baar baar baar baar milte hain paise ka nuksan sahan kiya ja sakta hai kyonki kahin aur se paisa aapko mil jaega lekin us vyakti se paisa kamane ke liye us vyakti ke saath sangat rakhna jo vyakti galat hai hum ko nuksan aage jaakar pohcha sakta hai toh vaah murkami hai waisa vyavhar kabhi nahi karna chahiye jo baat itni hi hai hamein khud ke upar control rakhna padega analysis karna padega aur us hisab se selection lene padenge thank you

सेल्फ डिसिप्लिन जीवन में कुछ ऐसे सिद्धांत और मूल्यों को चुनना चाहिए जिससे कहीं से भी कोई भ

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  323
WhatsApp_icon
play
user

Rishi Mishra

Rehabilitation Psychologist

1:05

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे को ऐसे लोगों से दूर रहना चाहिए है जो आप पहली बात तो आपको अब गलत है कि आपका साथ दे रहे हो तो इसका मतलब यह है कि वह आपको कमजोर बना रहे हैं अगर कोई आदमी आपको गलत में दिव्या का साथ दे रहा है तो वह यह कह रहा है कि नहीं हमें आपको आपके आने वाले हैं जो है भविष्य की चिंता नहीं है ज्योति देवी कहते हैं तू मुझसे यहां तक के रहना चाहिए

hamare ko aise logo se dur rehna chahiye hai jo aap pehli baat toh aapko ab galat hai ki aapka saath de rahe ho toh iska matlab yah hai ki vaah aapko kamjor bana rahe hain agar koi aadmi aapko galat mein divya ka saath de raha hai toh vaah yah keh raha hai ki nahi hamein aapko aapke aane waale hain jo hai bhavishya ki chinta nahi hai jyoti devi kehte hain tu mujhse yahan tak ke rehna chahiye

हमारे को ऐसे लोगों से दूर रहना चाहिए है जो आप पहली बात तो आपको अब गलत है कि आपका साथ दे रह

Romanized Version
Likes  66  Dislikes    views  1728
WhatsApp_icon
user

Dr. Renu Bhatia

Clinical Psychologist

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कुछ तो कई बार पता भी नहीं चलता है कि हमारी जरूरत है और हमारी आंखों में लगे हुए हैं आपके साथ वाली आकृति वो अपने लेवल पर चढ़ाई करने की कोशिश करते लेकिन कि मैं ठीक हम जैसे लोगों के पास लेकर आते हैं हम लोग विभिन्न को इंसर्ट पैदा किया जा सके ना हम को है क्या हो सकता है आपका फीचर क्या हो सकता है क्या नुकसान है अगर प्रेगनेंट कार्य करते हैं लेकिन अगर ज्यादा हो चुका है तो फिर तो लोकेशन

kuch toh kai baar pata bhi nahi chalta hai ki hamari zarurat hai aur hamari aankho mein lage hue hain aapke saath wali akriti vo apne level par chadhai karne ki koshish karte lekin ki main theek hum jaise logo ke paas lekar aate hain hum log vibhinn ko insert paida kiya ja sake na hum ko hai kya ho sakta hai aapka feature kya ho sakta hai kya nuksan hai agar pregnant karya karte hain lekin agar zyada ho chuka hai toh phir toh location

कुछ तो कई बार पता भी नहीं चलता है कि हमारी जरूरत है और हमारी आंखों में लगे हुए हैं आपके सा

Romanized Version
Likes  36  Dislikes    views  610
WhatsApp_icon
user

Prachi Rathi

Psychologist & Life Coach

1:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीवन में हमें दोनों तरह के दोस्त मिलेंगे कुछ ऐसे जो हमें मुश्किल समय में डालेंगे भी समझा लेंगे भी संभाल लेंगे हम भी और कुछ ऐसे दोस्त रहेंगे जो बुरे वक्त में हमारा साथ छोड़ देते हैं बट अच्छे वक्त में हमारे साथ रहेंगे हम बुरे दोस्तों से दुख बुरे दोस्तों की पहचान हमें हमारे मुसीबत के वक्त में पता चलती है हमारे मुश्किल के दिनों में पता चलती है और ऐसे दोस्तों से हम जितनी दूरी बनाकर रखे हमारे लिए उतना अच्छा है मेरे दोस्त जो सिर्फ अपने हमारी अच्छी बातें बताते हैं बट बुरा कुछ करने पर हमारा हमें रुकते नहीं हमें डांटते नहीं ऐसे लोगों से दूर रहना चाहिए ऐसे लोगों से हमें बच के रहना चाहिए हमें हमारी किसी भी तरह की दोस्ती को थोड़ा समय देना चाहिए कोई भी दोस्ती जो तुरंत तुरंत बनती है और हम आंख बंद करके विश्वास कर लेते हैं उसे हमें थोड़ा सा वक्त देना चाहिए अच्छी दोस्ती समय के साथ निखर कर बाहर आती है बुरे दोस्त समय के साथ छोड़ कर चले जाते हैं तो आप अपनी दोस्ती को थोड़ा समय दीजिए थोड़ा सा सावधान रही है ऐसे लोगों से जैसे आपकी तारीफ करते आपको बुरा नहीं बता क्या आपकी गलतियों के बारे में आपको नहीं बताते और आप अपनी लाइफ में आगे बढ़ जाएंगे

jeevan mein hamein dono tarah ke dost milenge kuch aise jo hamein mushkil samay mein daalenge bhi samjha lenge bhi sambhaal lenge hum bhi aur kuch aise dost rahenge jo bure waqt mein hamara saath chod dete hain but acche waqt mein hamare saath rahenge hum bure doston se dukh bure doston ki pehchaan hamein hamare musibat ke waqt mein pata chalti hai hamare mushkil ke dino mein pata chalti hai aur aise doston se hum jitni doori banakar rakhe hamare liye utana accha hai mere dost jo sirf apne hamari achi batein batatey hain but bura kuch karne par hamara hamein rukte nahi hamein dantate nahi aise logo se dur rehna chahiye aise logo se hamein bach ke rehna chahiye hamein hamari kisi bhi tarah ki dosti ko thoda samay dena chahiye koi bhi dosti jo turant turant banti hai aur hum aankh band karke vishwas kar lete hain use hamein thoda sa waqt dena chahiye achi dosti samay ke saath nikhar kar bahar aati hai bure dost samay ke saath chod kar chale jaate hain toh aap apni dosti ko thoda samay dijiye thoda sa savdhaan rahi hai aise logo se jaise aapki tareef karte aapko bura nahi bata kya aapki galatiyon ke bare mein aapko nahi batatey aur aap apni life mein aage badh jaenge

जीवन में हमें दोनों तरह के दोस्त मिलेंगे कुछ ऐसे जो हमें मुश्किल समय में डालेंगे भी समझा ल

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  407
WhatsApp_icon
user

Anil Kumar Tiwari

Yoga, Meditation & Astrologer

0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जो मित्र हर समय रोते रहते हो नकारात्मक सोच रखते हो हर समय अपनी परेशानी होने और न होने की स्थिति में यही कहते हो कि हम परेशानी चल रहे हैं व्यापार ठीक नहीं चल रहा है व्यापार में नुकसान चल रहा है हानि नहीं हो आनी हो रही है हम बहुत ज्यादा परेशान है और वास्तव में जिन व्यक्तियों का रोग शोक से परेशान हो ढंग से परेशान हो अपने ग्रह नक्षत्रों के कारण तो प्रयास करना चाहिए उनके साथ से दूर रहें वरना उनका प्रभाव आप पर भी आना प्रारंभ हो जाएगा

jo mitra har samay rote rehte ho nakaratmak soch rakhte ho har samay apni pareshani hone aur na hone ki sthiti mein yahi kehte ho ki hum pareshani chal rahe hai vyapar theek nahi chal raha hai vyapar mein nuksan chal raha hai hani nahi ho aani ho rahi hai hum bahut zyada pareshan hai aur vaastav mein jin vyaktiyon ka rog shok se pareshan ho dhang se pareshan ho apne grah nakshatron ke karan toh prayas karna chahiye unke saath se dur rahein varna unka prabhav aap par bhi aana prarambh ho jaega

जो मित्र हर समय रोते रहते हो नकारात्मक सोच रखते हो हर समय अपनी परेशानी होने और न होने की स

Romanized Version
Likes  48  Dislikes    views  414
WhatsApp_icon
user

Rakesh Tiwari

Life Coach, Management Trainer

1:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका पेट में कभी कभी जीवन में कुछ लोग आते हैं जिनकी संगत से हमें बहुत नुकसान होता है ऐसे में हमें किस तरह के दोस्तों से दूर रहना चाहिए वास्तव में दोस्ती हमारी तब होती है जब समान गुण और मैत्री प्रकृति हमारी एक जैसे हो किसी की दोस्ती है अगर मजबूरी है दोस्ती का आधार सकारात्मकता है तो निश्चित रूप से आपके और आपके दोस्त के अंदर भी वैसे गुणों का मिलान होना चाहिए एवं डकैत के विरुद्ध की दोस्ती हमेशा टिकाऊ में रहती है उनमें कहीं न कहीं डिफरेंस आफ ऑपिनियन अंतर आ ही जाएगा इसलिए ऐसे लोग जिनकी संगत से हम नकारात्मक दिशा की ओर जाते हैं यह हमारी उर्जा नकारात्मक दिशा की तरफ जाती है नकारात्मक सोच पैदा होती है ऐसे दोस्तों की संगत से हमें दूर रहना चाहिए दिन के अंदर गैस का भाव और जो सहयोग देकर और लेकर नहीं करते हैं ऐसे लोगों से आपको दूर रहना चाहिए थैंक यू

aapka pet mein kabhi kabhi jeevan mein kuch log aate hain jinki sangat se hamein bahut nuksan hota hai aise mein hamein kis tarah ke doston se dur rehna chahiye vaastav mein dosti hamari tab hoti hai jab saman gun aur maitri prakriti hamari ek jaise ho kisi ki dosti hai agar majburi hai dosti ka aadhar sakaraatmakata hai toh nishchit roop se aapke aur aapke dost ke andar bhi waise gunon ka milaan hona chahiye evam dacoit ke viruddh ki dosti hamesha tikauu mein rehti hai unmen kahin na kahin difference of opinion antar aa hi jaega isliye aise log jinki sangat se hum nakaratmak disha ki aur jaate hain yah hamari urja nakaratmak disha ki taraf jaati hai nakaratmak soch paida hoti hai aise doston ki sangat se hamein dur rehna chahiye din ke andar gas ka bhav aur jo sahyog dekar aur lekar nahi karte hain aise logo se aapko dur rehna chahiye thank you

आपका पेट में कभी कभी जीवन में कुछ लोग आते हैं जिनकी संगत से हमें बहुत नुकसान होता है ऐसे म

Romanized Version
Likes  243  Dislikes    views  2544
WhatsApp_icon
user

Dr. Swatantra Jain

Psychotherapist, Family & Career Counsellor and Parenting & Life Coach

7:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कृष्ण है आपका कभी कभी जीवन में कुछ लोग आते हैं जिनके पंकज से हमें बहुत नुकसान होता है ऐसे में हमें किस तरह के दोस्तों से दूर रहना चाहिए आपको बधाई देते हो मैं आपका बहुत ही अच्छा प्रश्न है और यह सभी को सोचना चाहिए कि जिन लोगों की संगत से हमें नुकसान होता और किन लोगों की संगत से हमें फायदा होता है और किस तरह के दोस्तों से दूर रहना चाहिए व्हाट्सएप पर उनके दोस्त बनाने चाहिए सभी को बहुत बहुत गंभीर चाहिए जो लोग हमें नुकसान पहुंचा सकते हैं उनकी संगत हमें नहीं करनी चाहिए यह आप भी समझते हैं और आप उसको और समझना चाहते हैं ठीक है ऐसे लोग जिनके संगत से नुकसान होते होते आप समझ लीजिए कि नकारात्मक सोच तो उनकी संगत से आपको नुकसान होगा क्योंकि वह खुद नकारात्मक हो गई आप मेरी नकारात्मकता बनाते रात में जरूर अपने आदेश में नकारात्मक लोगों से दूसरा शराब पीने की जुआ खेलने की बीड़ी पीने की क्योंकि वो खुद गलत आदत के शिकार हैं और आपको भी गलत आदत के शिकार बना सकते हैं और बनाना चाहेंगे और आप उनकी तरफ आकर्षित हो सकते हो क्योंकि देखिए जनाब तो कितनी जल्दी आकर्षित हो जाती है गड्ढे में डूब सकते इसलिए ऐसे लोगों से दूर रहना चाहिए और इस तरह की गलत आदतों के शिकार चोरी करना वह गलत आदत है यह गलत लोग हैं और इन लोगों के साथ रहो ऐसे लोगों के साथ रहोगे तो आप भी वैसे ही काम धीरे-धीरे करना शुरू कर सकते ठीक है तो इसलिए ऐसे लोगों से भी दूर रहना चाहिए क्योंकि किसके बोलोगे जैसे दूर रहना चाहिए जो खुद जो खुद पॉजिटिव नहीं है जो खुद किसी तरह का जोखिम नहीं उठा सकते हैं जो खुद कुछ काम हिम्मत से नहीं करते जो खुद चल क्यों नहीं है जो खुद जिसमें कॉन्फिडेंस नहीं है जो खुद हीन भावना के शिकार है जिनके व्यक्तित्व में खुद कमी है जबरदस्त कमी है तो वह आपको वही चीज देंगे जो उनके पास है इन भावना के शिकार हैं तो आप आपको भी वही उसी टाइप से बातें करेंगे आप भी अपने अनुभवों से शिकार हो सकते हैं तो ऐसे लोगों से भी दूर रहना चाहिए क्योंकि अगर आप स्टूडेंट हैं तो ऐसे बच्चों से दूर है जो खुद नहीं खुद मेहनत नहीं करना चाहते खुद कॉपी करना चाहते हैं खुदा से बात करते यार मैं कल मारेंगे यार ऐसा हो जाएगा तो हो जाएगा तो गलत बातों के शिकार हैं क्योंकि वह चाहते तो आपको भी नहीं पड़ने देंगे ऐसे दूर रहना चाहिए और फिर कुछ ऐसे लोग हैं जो खुद सिर्फ शेर भी काम नहीं करते अगर में नौकरी में है तो वह अपनी नौकरी को इमानदारी से नहीं निभाते कैसे स्कूल में टीचर से हैं अगर वह खुद काम नहीं करते तो आपको भी नहीं करने देंगे खुद से पहले नहीं पढ़ाते तो आपको भी नहीं पता है आपका या तो मजाक उड़ाएंगे आपको डांस करेंगे मेरी मरवा आएगा यह मेरे भाई की तू जो लोग खुद गंभीर नहीं अपने कर्तव्य के प्रति अपनी ड्यूटी के प्रति जो खुद अच्छी तरीके से नहीं करना चाहते वह दूसरों को भी नहीं करने देना चाहते इसलिए ऐसे लोगों से भी दूर रहना चाहिए और कुछ ऐसे लोग हैं जो कि दूसरे की चुगली करते रहते हैं ऐसे चुगली करने वालों से भी दूर रहिए क्योंकि वह आपका टाइम वेस्ट करेंगे क्योंकि आपके सामने कर रहा है इसलिए 1:00 बजे से और आप टाइम वेस्ट नहीं करना चाहिए एक बार आपको इतना आत्मविश्वास है इतना मजबूत है आपकी आप किसी की गलत बात से प्रभावित हो ही नहीं सकते आपको अपने ऊपर इतना विश्वास दूसरों की गलत बातें घोषणा की एक कमजोरी दूसरे का भाव आप पर भी प्रभाव नहीं डाल सकता बल्कि आपकी अच्छाई उस पर प्रभाव डाल सकते हैं तो फिर यह जोखिम उठाकर देख सकते हैं कि आपकी अच्छाई दो प्रभावित करें तैयार दोषियों को बदल सकते हैं तो अगर आपको इस निगेटिव विचार वाले दोस्त का अपने सकारात्मक तब से मन बदलने का दम हो तो करें

krishna hai aapka kabhi kabhi jeevan mein kuch log aate hain jinke pankaj se hamein bahut nuksan hota hai aise mein hamein kis tarah ke doston se dur rehna chahiye aapko badhai dete ho main aapka bahut hi accha prashna hai aur yah sabhi ko sochna chahiye ki jin logo ki sangat se hamein nuksan hota aur kin logo ki sangat se hamein fayda hota hai aur kis tarah ke doston se dur rehna chahiye whatsapp par unke dost banane chahiye sabhi ko bahut bahut gambhir chahiye jo log hamein nuksan pohcha sakte hain unki sangat hamein nahi karni chahiye yah aap bhi samajhte hain aur aap usko aur samajhna chahte hain theek hai aise log jinke sangat se nuksan hote hote aap samajh lijiye ki nakaratmak soch toh unki sangat se aapko nuksan hoga kyonki vaah khud nakaratmak ho gayi aap meri nakaratmakta banate raat mein zaroor apne aadesh mein nakaratmak logo se doosra sharab peene ki jua khelne ki bidi peene ki kyonki vo khud galat aadat ke shikaar hain aur aapko bhi galat aadat ke shikaar bana sakte hain aur banana chahenge aur aap unki taraf aakarshit ho sakte ho kyonki dekhiye janab toh kitni jaldi aakarshit ho jaati hai gaddhe mein doob sakte isliye aise logo se dur rehna chahiye aur is tarah ki galat aadaton ke shikaar chori karna vaah galat aadat hai yah galat log hain aur in logo ke saath raho aise logo ke saath rahoge toh aap bhi waise hi kaam dhire dhire karna shuru kar sakte theek hai toh isliye aise logo se bhi dur rehna chahiye kyonki kiske bologe jaise dur rehna chahiye jo khud jo khud positive nahi hai jo khud kisi tarah ka jokhim nahi utha sakte hain jo khud kuch kaam himmat se nahi karte jo khud chal kyon nahi hai jo khud jisme confidence nahi hai jo khud heen bhavna ke shikaar hai jinke vyaktitva mein khud kami hai jabardast kami hai toh vaah aapko wahi cheez denge jo unke paas hai in bhavna ke shikaar hain toh aap aapko bhi wahi usi type se batein karenge aap bhi apne anubhavon se shikaar ho sakte hain toh aise logo se bhi dur rehna chahiye kyonki agar aap student hain toh aise baccho se dur hai jo khud nahi khud mehnat nahi karna chahte khud copy karna chahte hain khuda se baat karte yaar main kal marenge yaar aisa ho jaega toh ho jaega toh galat baaton ke shikaar hain kyonki vaah chahte toh aapko bhi nahi padane denge aise dur rehna chahiye aur phir kuch aise log hain jo khud sirf sher bhi kaam nahi karte agar mein naukri mein hai toh vaah apni naukri ko imaandari se nahi nibhate kaise school mein teacher se hain agar vaah khud kaam nahi karte toh aapko bhi nahi karne denge khud se pehle nahi padhate toh aapko bhi nahi pata hai aapka ya toh mazak udaenge aapko dance karenge meri marava aayega yah mere bhai ki tu jo log khud gambhir nahi apne kartavya ke prati apni duty ke prati jo khud achi tarike se nahi karna chahte vaah dusro ko bhi nahi karne dena chahte isliye aise logo se bhi dur rehna chahiye aur kuch aise log hain jo ki dusre ki chugli karte rehte hain aise chugli karne walon se bhi dur rahiye kyonki vaah aapka time west karenge kyonki aapke saamne kar raha hai isliye 1 00 baje se aur aap time west nahi karna chahiye ek baar aapko itna aatmvishvaas hai itna majboot hai aapki aap kisi ki galat baat se prabhavit ho hi nahi sakte aapko apne upar itna vishwas dusro ki galat batein ghoshana ki ek kamzori dusre ka bhav aap par bhi prabhav nahi daal sakta balki aapki acchai us par prabhav daal sakte hain toh phir yah jokhim uthaakar dekh sakte hain ki aapki acchai do prabhavit kare taiyar doshiyon ko badal sakte hain toh agar aapko is negative vichar waale dost ka apne sakaratmak tab se man badalne ka dum ho toh kare

कृष्ण है आपका कभी कभी जीवन में कुछ लोग आते हैं जिनके पंकज से हमें बहुत नुकसान होता है ऐसे

Romanized Version
Likes  185  Dislikes    views  1828
WhatsApp_icon
user

Shipra Ranjan

Life Coach

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप बताइए कभी कभी जीवन में कुछ लोग आते हैं जिनकी संगत से हमें बहुत नुकसान होता है ऐसे में हमें किस तरह के दोस्तों से दूर रहना चाहिए यदि आप जानते ही हैं कि आप जिसके साथ वक्त बिता रहे हैं उसकी संगत सही नहीं है आपके लिए ऐसे लोगों से तो बिल्कुल तुरंत आपको दूरी बना लेनी चाहिए इसके अलावा ऐसे भी बहुत सारे हमारे आसपास लोग मौजूद होते हैं जो हमसे सिर्फ और सिर्फ अपने स्वार्थ के कारण जोड़ते हैं ना कि हमारे हित के लिए ऐसे सभी लोगों को ऑब्जर्व करना चाहिए हैं आप को समझना चाहिए कि सामने वाला आपके हित में कितनी बात कर रहा है और अपने स्वार्थ की कितनी बात कर रहा है जितने भी स्वार्थी लोग हैं इनसे हमेशा दूरी बनाकर ही रखनी चाहिए है क्योंकि यही वह लोग होते हैं जो जीवन में आगे हमें धोखा देते हैं आपका दिन शुभ रहे धन्यवाद

aap bataiye kabhi kabhi jeevan me kuch log aate hain jinki sangat se hamein bahut nuksan hota hai aise me hamein kis tarah ke doston se dur rehna chahiye yadi aap jante hi hain ki aap jiske saath waqt bita rahe hain uski sangat sahi nahi hai aapke liye aise logo se toh bilkul turant aapko doori bana leni chahiye iske alava aise bhi bahut saare hamare aaspass log maujud hote hain jo humse sirf aur sirf apne swarth ke karan jodte hain na ki hamare hit ke liye aise sabhi logo ko abjarv karna chahiye hain aap ko samajhna chahiye ki saamne vala aapke hit me kitni baat kar raha hai aur apne swarth ki kitni baat kar raha hai jitne bhi swaarthi log hain inse hamesha doori banakar hi rakhni chahiye hai kyonki yahi vaah log hote hain jo jeevan me aage hamein dhokha dete hain aapka din shubha rahe dhanyavad

आप बताइए कभी कभी जीवन में कुछ लोग आते हैं जिनकी संगत से हमें बहुत नुकसान होता है ऐसे में ह

Romanized Version
Likes  450  Dislikes    views  4244
WhatsApp_icon
user

Vaibhav Sharma

Spiritual and Motivational Speaker

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप सभी को जय माता जी आपने जो प्रश्न किया है उसका सीता का समाधान यही है कि जीवन में हमें सदैव ऐसे लोगों से मित्रता करनी चाहिए जो हमारी प्रत्येक बात को ना मान मतलब हमारी गलतियों को भी हमें बताते हो और हमारी बुरी बातों को कतई स्वीकार ना करते तो सही रूप में वही हमारे लिए अच्छे मित्र कहेगा किंतु होता है इसके विपरीत है हम ज्यादातर अपने सर्किल में ऐसे मित्र चाहते हैं जो हमारी प्रत्येक बात को माने हम चाहे जो भी कहे उसमें हमारी प्रशंसा करें हमारी सही गलत कोई भी बात क्यों ना हो उसको स्वीकार करें उसको मान और यही हमारे लिए घातक होता है जबकि सच्चा मित्रों से कहा जा सकता है जो आप की गलतियों को सुधारे ना कि आप की गलतियों में सम्मिलित होकर खुद भी गलतियां करें बल्कि आपको भी बुराइयों से बचाए बुरी चीजों से बताए तो सच्चे मित्र की पहचान यही है कि जो हमारे दोस्तों को भी बताता हो और आंख बंद करके हमारी प्रत्येक बात को स्वीकार ना करता धन्यवाद

aap sabhi ko jai mata ji aapne jo prashna kiya hai uska sita ka samadhan yahi hai ki jeevan me hamein sadaiv aise logo se mitrata karni chahiye jo hamari pratyek baat ko na maan matlab hamari galatiyon ko bhi hamein batatey ho aur hamari buri baaton ko katai sweekar na karte toh sahi roop me wahi hamare liye acche mitra kahega kintu hota hai iske viprit hai hum jyadatar apne circle me aise mitra chahte hain jo hamari pratyek baat ko maane hum chahen jo bhi kahe usme hamari prashansa kare hamari sahi galat koi bhi baat kyon na ho usko sweekar kare usko maan aur yahi hamare liye ghatak hota hai jabki saccha mitron se kaha ja sakta hai jo aap ki galatiyon ko sudhare na ki aap ki galatiyon me sammilit hokar khud bhi galtiya kare balki aapko bhi buraiyon se bachaye buri chijon se bataye toh sacche mitra ki pehchaan yahi hai ki jo hamare doston ko bhi batata ho aur aankh band karke hamari pratyek baat ko sweekar na karta dhanyavad

आप सभी को जय माता जी आपने जो प्रश्न किया है उसका सीता का समाधान यही है कि जीवन में हमें सद

Romanized Version
Likes  107  Dislikes    views  1057
WhatsApp_icon
user

Mehnaz Amjad

Certified Life Coach

1:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है कि कभी कभी जीवन में कुछ लोग आते हैं जिनकी संगत में हमें बहुत नुकसान होता है ऐसे में हमें किस तरह के दोस्तों से दूर रहना चाहिए देखे आपके सवाल में ही आपने अच्छे से जवाब दिया है कि संगत लोगों की दोस्तों की कंपनी जिनमें हम उठते बैठते हैं यह हम पर बहुत गहरा प्रभाव डालती है यह चाहे जीवन के किसी भी क्षेत्र में क्यों ना हो तो हमें अगर आपको कभी यह लगे कि किसी भी जीवन के किसी भी पहलू में के गलत संगत में पड़ गए हैं क्योंकि उनके वैल्यू सिस्टम जो वो उनके संस्कार हैं जो उनकी सोच लो आप से मेल नहीं खाती तो हमारा काम है क्या हम धीरे-धीरे एक बहुत ही पोलाइट तरीके से अपने आपको डिस्टेंस कर ले या नहीं ज्यादातर उनके साथ घूमे फिरे नहीं पहले शुरू शुरू कुछ बहाना बना ले क्योंकि एकदम भी आप झगड़ा करोगे लड़ाई करोगे दोस्ती तोड़ोगे वह ठीक नहीं लेकिन धीरे-धीरे जैसे जैसे हम किसी के साथ ज्यादा आंखों में ना फिर तो अपने आप ऐसा होता है कि हम एक तरह से लोगों के इस चीज से बाहर आ जाते हैं मतलब यह कि उनकी संगत से हम बाहर आ सकते हैं क्योंकि वह लोग ऐसे लोगों को पसंद नहीं करते जो ज्यादा साथ घूमते नहीं यार ज्यादा उन से मेलजोल रखते नहीं तो फिर शुरू थोड़ा बहुत 72 इंसिस्ट करें कहे कि आओ मिलो लेकिन जब यह देखेंगे कि आप ज्यादा उस में इंटरेस्ट नहीं दिखा रहे और बहुत ज्यादा उनके साथ घूमने फिरने में बल्कि आपके एक्टिविटी थोड़ी अलग हो गई तो अपने आप देखोगे कि आप इनसे ऐसी संगत से अपना पीछा छुड़ा सको तो जब भी यह लगे के संगत हालत है उनके आपके वैल्यू जिया संस्कार पहुंच में नहीं खाते तो एक बड़ी ही डिस्टेंस हेल्थी डिस्टेंस मेंटेन करते करते धीरे-धीरे उससे बाहर आने की कोशिश कीजिए धन्यवाद

aapka sawaal hai ki kabhi kabhi jeevan me kuch log aate hain jinki sangat me hamein bahut nuksan hota hai aise me hamein kis tarah ke doston se dur rehna chahiye dekhe aapke sawaal me hi aapne acche se jawab diya hai ki sangat logo ki doston ki company jinmein hum uthte baithate hain yah hum par bahut gehra prabhav daalti hai yah chahen jeevan ke kisi bhi kshetra me kyon na ho toh hamein agar aapko kabhi yah lage ki kisi bhi jeevan ke kisi bhi pahaloo me ke galat sangat me pad gaye hain kyonki unke value system jo vo unke sanskar hain jo unki soch lo aap se male nahi khati toh hamara kaam hai kya hum dhire dhire ek bahut hi polite tarike se apne aapko distance kar le ya nahi jyadatar unke saath ghume fire nahi pehle shuru shuru kuch bahana bana le kyonki ekdam bhi aap jhagda karoge ladai karoge dosti todoge vaah theek nahi lekin dhire dhire jaise jaise hum kisi ke saath zyada aakhon me na phir toh apne aap aisa hota hai ki hum ek tarah se logo ke is cheez se bahar aa jaate hain matlab yah ki unki sangat se hum bahar aa sakte hain kyonki vaah log aise logo ko pasand nahi karte jo zyada saath ghumte nahi yaar zyada un se meljol rakhte nahi toh phir shuru thoda bahut 72 insist kare kahe ki aao milo lekin jab yah dekhenge ki aap zyada us me interest nahi dikha rahe aur bahut zyada unke saath ghoomne phirne me balki aapke activity thodi alag ho gayi toh apne aap dekhoge ki aap inse aisi sangat se apna picha chuda Sako toh jab bhi yah lage ke sangat halat hai unke aapke value jiya sanskar pohch me nahi khate toh ek badi hi distance healthy distance maintain karte karte dhire dhire usse bahar aane ki koshish kijiye dhanyavad

आपका सवाल है कि कभी कभी जीवन में कुछ लोग आते हैं जिनकी संगत में हमें बहुत नुकसान होता है ऐ

Romanized Version
Likes  353  Dislikes    views  3429
WhatsApp_icon
user

Deepaben R.Shimpi

Mind Trainer | Trainer Motivational | Trainer Textbook Writer don't Copy My Answer

1:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार सुप्रभातम कभी कभी जीवन में कुछ लोग आते हैं इनकी संगत में हमें बहुत नुकसान होता है ऐसे लोगों से ऐसे दोस्तों से हमें किस तरह दूर रहना चाहिए जी हां ऐसे लोगों से ऐसे दोस्तों से बहुत ही जल्दी पीछा छुड़ा लेना चाहिए जितना जल्दी हो सके उनसे दूर हो जाना चाहिए आप एकदम से अलग नहीं हो सकते तो धीरे-धीरे करके उनकी दोस्ती तोड़ देनी चाहिए उनसे दूरी बना लेनी चाहिए क्योंकि जो लोग आप को नुकसान पहुंचा रहे हैं आपके समझ में आ गया कि यह दोस्त आप को नुकसान पहुंचा रहे हैं आपके लिए कोई फायदेमंद नहीं आपके लिए कोई कुछ कर नहीं सकते तो ऐसे लोगों ऐसे लोगों को ऐसे लोगों की संगत में रहकर क्या होगा आपका जीवन बर्बाद हो जाएगा तब जल्दी ही ऐसे लोगों की संगत छोड़ दीजिए और अच्छे मित्र बनाइए अच्छे लोगों की संगत में रहिए जिससे आपको कुछ सीखने को मिले जिंदगी में कुछ तरक्की कर पाए

namaskar suprabhatam kabhi kabhi jeevan me kuch log aate hain inki sangat me hamein bahut nuksan hota hai aise logo se aise doston se hamein kis tarah dur rehna chahiye ji haan aise logo se aise doston se bahut hi jaldi picha chuda lena chahiye jitna jaldi ho sake unse dur ho jana chahiye aap ekdam se alag nahi ho sakte toh dhire dhire karke unki dosti tod deni chahiye unse doori bana leni chahiye kyonki jo log aap ko nuksan pohcha rahe hain aapke samajh me aa gaya ki yah dost aap ko nuksan pohcha rahe hain aapke liye koi faydemand nahi aapke liye koi kuch kar nahi sakte toh aise logo aise logo ko aise logo ki sangat me rahkar kya hoga aapka jeevan barbad ho jaega tab jaldi hi aise logo ki sangat chhod dijiye aur acche mitra banaiye acche logo ki sangat me rahiye jisse aapko kuch sikhne ko mile zindagi me kuch tarakki kar paye

नमस्कार सुप्रभातम कभी कभी जीवन में कुछ लोग आते हैं इनकी संगत में हमें बहुत नुकसान होता है

Romanized Version
Likes  118  Dislikes    views  952
WhatsApp_icon
user

Aniel K Kumar Imprints

NLP Master Life Coach, Motivational Speaker

1:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार मैं रिंकी कुमारी प्रींटमास्टर लाइफ ओक आज आपके साथ खड़ा हूं आप का सवाल है कि कुछ लोग ऐसे आते हैं आपकी जिंदगी में जो आपको नुकसान होता है तो उनसे कैसे दूर है पीके दोस्त जिंदगी में जिनसे आपको नुकसान होता है उनसे दूर कर उन्हें दूर करने की जरूरत नहीं होती वह तो ऑटोमेटिक आपसे दूर होते चले जाते हैं कोई भी व्यक्ति आपके पास आज हो तो आप ही बन नहीं खा कर आ कर देखिए वह वैसे ही व्यक्ति हैं जैसे आप हो आपको सिगरेट पसंद है तो पीने वालों के साथ बैठते हो आपको और आपको पसंद नहीं है वह बार-बार बार-बार आपके साथ सिगरेट पी रहा है और आपके उसे डिस्टर्ब हो रहा है तो आप उसे छोड़ दो आदमी वैसे लोगों को पसंद करता है जैसा वह खुद है और यदि कोई व्यक्ति आपको नुकसान कर रहा है किसी तरह से फिजिकली मेंटली या किसी भी तरह इसमें कोई को दूर करने के लिए कुछ नहीं करना है जैसे आप जैसी संगत के हैं आप जैसे विचारों के आप जैसे दोस्त के यहां आप जैसे आइडियाज के हैं वह लोग आपके साथ जुड़ते चले जाएंगे प्रकृति का नियम है यह पूरी तरह तू भी हो चुका है आज लॉ ऑफ अट्रैक्शन पूरी तरह काम करता है आप जैसे लोगों को चाहोगे वैसे ही लोग आपके साथ आपके साथ एसोसिएट होते चले जाएंगे और वैसे ही लोग आपको जीवन में आगे बढ़ाते जय हिंद जय भारत आपका दिन शुभ रहे

namaskar main rinki kumari printamastar life oak aaj aapke saath khada hoon aap ka sawaal hai ki kuch log aise aate hain aapki zindagi me jo aapko nuksan hota hai toh unse kaise dur hai pk dost zindagi me jinse aapko nuksan hota hai unse dur kar unhe dur karne ki zarurat nahi hoti vaah toh Automatic aapse dur hote chale jaate hain koi bhi vyakti aapke paas aaj ho toh aap hi ban nahi kha kar aa kar dekhiye vaah waise hi vyakti hain jaise aap ho aapko cigarette pasand hai toh peene walon ke saath baithate ho aapko aur aapko pasand nahi hai vaah baar baar baar baar aapke saath cigarette p raha hai aur aapke use disturb ho raha hai toh aap use chhod do aadmi waise logo ko pasand karta hai jaisa vaah khud hai aur yadi koi vyakti aapko nuksan kar raha hai kisi tarah se physically mentally ya kisi bhi tarah isme koi ko dur karne ke liye kuch nahi karna hai jaise aap jaisi sangat ke hain aap jaise vicharon ke aap jaise dost ke yahan aap jaise ideas ke hain vaah log aapke saath judte chale jaenge prakriti ka niyam hai yah puri tarah tu bhi ho chuka hai aaj law of attraction puri tarah kaam karta hai aap jaise logo ko chahoge waise hi log aapke saath aapke saath associate hote chale jaenge aur waise hi log aapko jeevan me aage badhate jai hind jai bharat aapka din shubha rahe

नमस्कार मैं रिंकी कुमारी प्रींटमास्टर लाइफ ओक आज आपके साथ खड़ा हूं आप का सवाल है कि कुछ लो

Romanized Version
Likes  100  Dislikes    views  1970
WhatsApp_icon
user

Pankaj Kr(youtube -AJ PANKAJ MATHS GURU)

Motivational Speaker/YouTube-AJ PANKAJ MATHS GURU

0:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह सही सही कहा गया है कि आप जैसी संगत करेंगे ऐसा गुनाह है आप अच्छे दोस्त से संगत करेंगे काम में अच्छे अच्छे अच्छे गुण है मेरे दोस्त संगत करेंगे आपको बहुत बुरा बुरा प्रभाव पड़ेगा आपको बहुत बड़ा नुकसान होगा इसलिए आप जैसे दोस्तों से दूर है जो आपको मिस का धोखा देते हैं जो आप कौन सा ठगने का प्रयास करते हैं ऐसे मैं तुझसे दूर रहे जो आपको मिल सके मुसीबतों देखकर हम पीछे हट जाते हैं आप ऐसे दोस्तों से दोस्ती करें जो आपकी मुसीबत हमेशा करते हैं निस्वार्थ भाव सबके साथ रहते हैं वैसे दोस्त अच्छे होते हैं

yah sahi sahi kaha gaya hai ki aap jaisi sangat karenge aisa gunah hai aap acche dost se sangat karenge kaam mein acche acche acche gun hai mere dost sangat karenge aapko bahut bura bura prabhav padega aapko bahut bada nuksan hoga isliye aap jaise doston se dur hai jo aapko miss ka dhokha dete hain jo aap kaun sa thagane ka prayas karte hain aise main tujhse dur rahe jo aapko mil sake musibaton dekhkar hum peeche hut jaate hain aap aise doston se dosti kare jo aapki musibat hamesha karte hain niswarth bhav sabke saath rehte hain waise dost acche hote hain

यह सही सही कहा गया है कि आप जैसी संगत करेंगे ऐसा गुनाह है आप अच्छे दोस्त से संगत करेंगे का

Romanized Version
Likes  179  Dislikes    views  1297
WhatsApp_icon
user

Indu Nara

Psychologist and Research scholar

4:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो देखिए यह जीवन में सबसे ज्यादा अगर हमारी जिंदगी में बुरा प्रभाव पड़ता है तो शायद बुरे दोस्तों का ही पड़ता है और जो बुरे दोस्तों के जीवन में कुछ पाठ भी ऐसे पड़ा देते हैं और सबसे ज्यादा दुख भी पहुंचाते हैं और सबसे ज्यादा कठिनाइयां दोस्ती पहुंचाते हैं तो जैसे अगर मैं अगर अपने जीवन की बात करूं प्रणाम कल तो एक बार ऐसा हुआ कि हम कैंट के आसपास कुछ ऐसे दोस्तों का साथ मेरे पकड़ लिया था कि जो यहां पढ़ाई में बिल्कुल भी अच्छी नहीं थी और अब हमेशा खेल मस्ती बकवास बाजी में रहते हैं और नीचा दिखाना और इस तरह की हरकतें करते थे डांस करना बस इसी में रहना उसके लिए मैं बहुत परेशानी से मंजूरी मैंने उनसे एलिमेंट 51 के साथ रहकर मैंने अपनी पढ़ाई को बिल्कुल परसेंटेज 20% कमी आई थी उनके साथ रहने से वापस गई अच्छी किया दोबारा से अलग से एक्टिविटीज अपनी कमेंट में इतना ज्यादा प्रभाव मैंने खुद महसूस किया और खुद मैनेज किया कि बुरी संगत कितनी बुरी चीज होती है उसके बाद जिंदगी में एक बार और कुछ ऐसे ही दोस्तों का मैंने यार सामना किया और देखा कि जिंदगी में कोई रास्ते की तरफ जिन्होंने खींचने की कोशिश की वहां पर भी शायद बहुत जल्दी आ गई और मैं उन सब चीजों से निकल पाई और जिंदगी में यह सीखा कि अगर बुरे दोस्त अगर कुछ बुरा काम कर रहे हैं अगर आप उनका साथ दे रहे हो ना वह भी आपकी जिंदगी को फूल बना देते और आप अपनी जिंदगी में कभी भी खुद को बचा नहीं पाते नहीं बचाओगे तो ऐसे लोगों से हमेशा दूरी बनाकर रखें और यह समझ हमारे अंदर मेरे हिसाब से तो समझ में आ जाती है कि हमारे लिए क्या अच्छा है क्या बुरा है कैसे दूर समय गंदी गंदी चीजें दिखा रहे हैं या हमें नीचा दिखाने की कोशिश करने या अपने किसी और चीज की तरफ डारिया मतलब तारीफें करके आपको नीचा दिखा रहे थे ऐसे लोगों से दूर रहे बिल्कुल या कोई दोस्त अगर आपने पैसे का घमंड दिखा रहे हैं आपको शराब पीने के लिए ड्रग्स के लिए सिगरेट पीने के लिए या किसी और चीज के लिए उकसा रहे हैं कुछ दोस्त ऐसे भी होते हैं जो खुद बहुत लापरवाह होते अपने मां-बाप की परवाह नहीं करते तो कभी-कभी आप चाहते हैं कि क्या यार तू अपने दोस्तों से नहीं कर सकता दोस्तों के लिए शराब नहीं पी सकता तो दोस्तों से ट्राई नहीं कर सकता तरीके से वह बातों बातों में आपको आते हैं और आपको एक बुरी संगत की तरफ ले जाते हैं तो ऐसे दोस्तों से तो हमेशा दूरी बनाकर रखें वह तो टाइम पास करते रहते हैं और ना खुद पढ़ते हैं ना रुको पड़ने देते हैं ऐसे लोगों से भी हमेशा दूरी बनाकर रखें हमेशा उन्हीं लोगों के साथ रहे जिनका मतलब जैसे आपके साथ मानसिक संतुलन बिल्कुल एक हो दोनों का पढ़ाई में अच्छे हैं जो अच्छे अच्छे और संस्कारों वाली है अच्छे दिन के अंदर आदतें हैं आपने भी अच्छी चीज नहीं आएंगी और ऐसे ही लोगों का साथ हमें रखना चाहिए जो पढ़ने में अच्छी आदतें सबसे ज्यादा जरूरी हो तो अच्छे इंसान है या नहीं दिखाना दूसरे की कॉपी करना उनको परेशान करना उनकी कॉपिया जाम से 1 दिन पहले निकाल लेना मेरे बच्चे के साथ हुआ तो मैंने देखा कि यह कैसा मतलब किस तरह के माहौल में हम हैं कि बच्चे एक दिन पहले एग्जाम से पहले कॉपी निकाल लेते हैं व्यक्ति और फिर आगे वह यह भी नहीं सोचते कि मुझे फ्रेंड है उसका क्या होगा तुम इस तरह की चीजें मैंने आज समाज में देखिए आपको एग्जांपल से सीखना चाहिए और ऐसे दोस्तों से दूरी बना कर रखना चाहिए दोस्तों का साथ कभी नहीं रखना चाहिए क्योंकि वो हमेशा गलत चीज में आपको पैसा देंगे और खुद बच के निकल जाएंगे ऐसा भी होता है

hello dekhiye yah jeevan me sabse zyada agar hamari zindagi me bura prabhav padta hai toh shayad bure doston ka hi padta hai aur jo bure doston ke jeevan me kuch path bhi aise pada dete hain aur sabse zyada dukh bhi pahunchate hain aur sabse zyada kathinaiyaan dosti pahunchate hain toh jaise agar main agar apne jeevan ki baat karu pranam kal toh ek baar aisa hua ki hum cantt ke aaspass kuch aise doston ka saath mere pakad liya tha ki jo yahan padhai me bilkul bhi achi nahi thi aur ab hamesha khel masti bakwas baazi me rehte hain aur nicha dikhana aur is tarah ki harakatein karte the dance karna bus isi me rehna uske liye main bahut pareshani se manjuri maine unse element 51 ke saath rahkar maine apni padhai ko bilkul percentage 20 kami I thi unke saath rehne se wapas gayi achi kiya dobara se alag se activities apni comment me itna zyada prabhav maine khud mehsus kiya aur khud manage kiya ki buri sangat kitni buri cheez hoti hai uske baad zindagi me ek baar aur kuch aise hi doston ka maine yaar samana kiya aur dekha ki zindagi me koi raste ki taraf jinhone kheenchne ki koshish ki wahan par bhi shayad bahut jaldi aa gayi aur main un sab chijon se nikal payi aur zindagi me yah seekha ki agar bure dost agar kuch bura kaam kar rahe hain agar aap unka saath de rahe ho na vaah bhi aapki zindagi ko fool bana dete aur aap apni zindagi me kabhi bhi khud ko bacha nahi paate nahi bachaoge toh aise logo se hamesha doori banakar rakhen aur yah samajh hamare andar mere hisab se toh samajh me aa jaati hai ki hamare liye kya accha hai kya bura hai kaise dur samay gandi gandi cheezen dikha rahe hain ya hamein nicha dikhane ki koshish karne ya apne kisi aur cheez ki taraf dariya matlab tarifen karke aapko nicha dikha rahe the aise logo se dur rahe bilkul ya koi dost agar aapne paise ka ghamand dikha rahe hain aapko sharab peene ke liye drugs ke liye cigarette peene ke liye ya kisi aur cheez ke liye ukasa rahe hain kuch dost aise bhi hote hain jo khud bahut laaparavaah hote apne maa baap ki parvaah nahi karte toh kabhi kabhi aap chahte hain ki kya yaar tu apne doston se nahi kar sakta doston ke liye sharab nahi p sakta toh doston se try nahi kar sakta tarike se vaah baaton baaton me aapko aate hain aur aapko ek buri sangat ki taraf le jaate hain toh aise doston se toh hamesha doori banakar rakhen vaah toh time paas karte rehte hain aur na khud padhte hain na ruko padane dete hain aise logo se bhi hamesha doori banakar rakhen hamesha unhi logo ke saath rahe jinka matlab jaise aapke saath mansik santulan bilkul ek ho dono ka padhai me acche hain jo acche acche aur sanskaron wali hai acche din ke andar aadatein hain aapne bhi achi cheez nahi aayengi aur aise hi logo ka saath hamein rakhna chahiye jo padhne me achi aadatein sabse zyada zaroori ho toh acche insaan hai ya nahi dikhana dusre ki copy karna unko pareshan karna unki kapiya jam se 1 din pehle nikaal lena mere bacche ke saath hua toh maine dekha ki yah kaisa matlab kis tarah ke maahaul me hum hain ki bacche ek din pehle exam se pehle copy nikaal lete hain vyakti aur phir aage vaah yah bhi nahi sochte ki mujhe friend hai uska kya hoga tum is tarah ki cheezen maine aaj samaj me dekhiye aapko example se sikhna chahiye aur aise doston se doori bana kar rakhna chahiye doston ka saath kabhi nahi rakhna chahiye kyonki vo hamesha galat cheez me aapko paisa denge aur khud bach ke nikal jaenge aisa bhi hota hai

हेलो देखिए यह जीवन में सबसे ज्यादा अगर हमारी जिंदगी में बुरा प्रभाव पड़ता है तो शायद बुरे

Romanized Version
Likes  176  Dislikes    views  1961
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!