कभी कभी जीवन में कुछ लोग आते है जिनकी संगत से हमें बहुत नुक़सान होता है। ऐसे में हमें किस तरह के दोस्तों से दूर रहना चाहिए?...


user

Megh Achaarya

vastu Expert,Motivational Speaker Meditation Studio.

1:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत अच्छा प्रश्न है आपका और इसमें कोई दो राय नहीं है इसमें कोई शक की बात नहीं है कि बहुत से लोग ऐसे आते हैं बहुत से नहीं तो ज्यादातर लोग ऐसे ही होते हैं नाइनटी परसेंट से आने लगे हैं जिनकी संगत से आपको नुकसान हो सकता है यह हो रहा है यह हो चुका है ऐसे में आपको क्या करना होगा ऐसे दोस्तों से आप पीछा छुड़ा पाएंगे बिछुड़ा पाएंगे लेकिन आप अपने आप को सेव कर सकते हैं आप अब एक डिस्टेंस मेंटेन कर सकते हैं अपनी अहमियत दूसरों को ना दे करके आप अपना डिस्टेंस मेंटेन कर सकते हैं जब भी आप अपनी अहमियत दूसरों को देना शुरू कर देते हैं दूसरों को अपने से ज्यादा बड़ी देना शुरू कर देते हैं तो आप उनके संकट में फंस जाते हैं यदि आप उनके साथ डिस्टेंस बनाकर रखे हैं अपने परिवार से लेकर किसी भी शख्स से अगर आप डिस्टेंस बनाकर रखें तो आपको किसी की भी संगत का बुरा असर नहीं हो सकता है आना आप इसके संगत में फंस सकते हैं तो आप सिर्फ अपने आपको अहमद दीजिए अपने आप को गाली दीजिए और लोगों के साथ बात करें तो डिस्चार्ज बना कर बात करें कि सिर्फ वो भी अपने ऊपर हावी ना होने से यही एकमात्र रास्ता है बुरी संगत और बुरे लोगों से बचने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद मेरी शुभकामनाएं आपके साथ हैं

bahut accha prashna hai aapka aur isme koi do rai nahi hai isme koi shak ki baat nahi hai ki bahut se log aise aate hain bahut se nahi toh jyadatar log aise hi hote hain ninte percent se aane lage hain jinki sangat se aapko nuksan ho sakta hai yah ho raha hai yah ho chuka hai aise me aapko kya karna hoga aise doston se aap picha chuda payenge bichuda payenge lekin aap apne aap ko save kar sakte hain aap ab ek distance maintain kar sakte hain apni ahamiyat dusro ko na de karke aap apna distance maintain kar sakte hain jab bhi aap apni ahamiyat dusro ko dena shuru kar dete hain dusro ko apne se zyada badi dena shuru kar dete hain toh aap unke sankat me fans jaate hain yadi aap unke saath distance banakar rakhe hain apne parivar se lekar kisi bhi sakhs se agar aap distance banakar rakhen toh aapko kisi ki bhi sangat ka bura asar nahi ho sakta hai aana aap iske sangat me fans sakte hain toh aap sirf apne aapko ahmad dijiye apne aap ko gaali dijiye aur logo ke saath baat kare toh discharge bana kar baat kare ki sirf vo bhi apne upar haavi na hone se yahi ekmatra rasta hai buri sangat aur bure logo se bachne ke liye bahut bahut dhanyavad meri subhkamnaayain aapke saath hain

बहुत अच्छा प्रश्न है आपका और इसमें कोई दो राय नहीं है इसमें कोई शक की बात नहीं है कि बहुत

Romanized Version
Likes  183  Dislikes    views  2032
KooApp_icon
WhatsApp_icon
19 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!