आप एक मर्द हों या औरत, इस सवाल का जवाब ज़रूर दें - एक पति अपनी पति से सबसे बुरी बात क्या कह सकता है?...


user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक पति अपनी पत्नी से सबसे बुरी बात यह कह सकता है आप पत्नी से सब कुछ कह सकते हो लेकिन उसने गाली दे दी वालों का भला कर दिया तो निश्चित बांध के चलो कभी भी आपका नहीं बंद करेगी बल्कि दिन रात घर में झगड़े होते रहेंगे इसलिए सफल पति यदि घर में शांति रखना चाहते हैं तो उनको कभी भी पति के पीर वालों के बारे में कुछ नहीं कहना चाहिए हमेशा प्रशंसा करते रहना चाहिए कि घर में एक शांति का उपाय हैं

ek pati apni patni se sabse buri baat yah keh sakta hai aap patni se sab kuch keh sakte ho lekin usne gaali de di walon ka bhala kar diya toh nishchit bandh ke chalo kabhi bhi aapka nahi band karegi balki din raat ghar me jhagde hote rahenge isliye safal pati yadi ghar me shanti rakhna chahte hain toh unko kabhi bhi pati ke pir walon ke bare me kuch nahi kehna chahiye hamesha prashansa karte rehna chahiye ki ghar me ek shanti ka upay hain

एक पति अपनी पत्नी से सबसे बुरी बात यह कह सकता है आप पत्नी से सब कुछ कह सकते हो लेकिन उसने

Romanized Version
Likes  311  Dislikes    views  3047
WhatsApp_icon
7 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

4:12

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आप एक मर्द हो या औरत इस सवाल का जवाब जरूर एक पति अपनी पत्नी से सबसे बुरी बात क्या कर सकता है एक पत्नी अपने पति अपनी पत्नी असली सबसे बुरी बात क्या कर सकता है पति पत्नी का रिश्ता क्या होता है दोनों एक दूसरे के पूरक होते हैं और एक दूसरे की अच्छाई और बुराई के एक दूसरे को आत्मसात करके जीते हैं लेकिन जो वैवाहिक जीवन होता है वह काफी लंबा होता है और उसमें अलग-अलग समय आते हैं अलग-अलग तरह के अवसर आते उसमें रूठना मनाना गिले-शिकवे एक दूसरे की अच्छाई बुराई सब कुछ सामने आती है बहुत सारे प्रॉब्लम चाहते हैं आ गया ना कि संसार में जो जीव एक छत के नीचे रहते हैं तो बहुत सारी समस्याएं भी आती हैं और बहुत सारे एंजॉयमेंट के मौके दिया लेकिन इंसान है एक इंसान दूसरे इंसान के साथ कभी खुशी कभी गम लेकिन तब भी अपनी-अपनी जो भावनाएं हैं वह अपना एंगर है या अपनी अपेक्षाएं पर को नहीं होती है तो अपने जीवन साथी के साथ शिकायत भी करता है सब शिकायत करता है सब शिकायत एक दूसरे की सहन कर लेते हैं लेकिन ऐसी जो शिकायत होती है कि जिसकी जिम्मेदार पति नहीं है शिकायत कोई भी शिकायत करने के लिए तैयार नहीं होता है और वह तुरंत उसका सामना करना चाहती हो या पत्नी अगर पति अपनी पत्नी को यह बोलते उसके माता-पिता के बारे में के पेमेंट के बारे में कभी भी कबूल नहीं करेगी और वह तुरंत सामना करेगी कि मैं आपके साथ शादी करके घर में ही हूं मेरे माता-पिता का कसूर क्या है जो आपको करना है जो करना है उसकी जिम्मेदार मैं हूं मेरे माता-पिता नहीं यही बात अगर पत्नी अपने पति को अगर कुछ ऐसा कर दे उसके माता-पिता के बारे में तो पति को भी यह सहन नहीं होता है और वह भी भड़क जाता है कि जो भी कहना है मुझसे कहो लेकिन मेरे माता-पिता को कभी मत करो जो भावनाएं सभी शादीशुदा लोगों की जिंदगी में कभी न कभी आती हम एक दूसरे का ख्याल रखते हैं एक दूसरे का भरण पोषण पत्नी कोई पतंग पोषण करता है तो कोई इसके बदले में बहुत कुछ दिखता है भरण-पोषण की तो क्या कीमत दे सकते हैं हम किसी पत्नी को वह तो हमें आने वाली जो हमारी जनदर्शन पैदा करके देती है उसका उपचार तो हम भीतर से उतार नहीं सकते लेकिन उसके माता-पिता को हमें कभी भी दोस्त नहीं देना चाहिए धन्यवाद

aap ek mard ho ya aurat is sawaal ka jawab zaroor ek pati apni patni se sabse buri baat kya kar sakta hai ek patni apne pati apni patni asli sabse buri baat kya kar sakta hai pati patni ka rishta kya hota hai dono ek dusre ke purak hote hain aur ek dusre ki acchai aur burayi ke ek dusre ko aatmsat karke jeete hain lekin jo waiwahik jeevan hota hai vaah kafi lamba hota hai aur usmein alag alag samay aate hain alag alag tarah ke avsar aate usmein ruthna manana gile shikve ek dusre ki acchai burayi sab kuch saamne aati hai bahut saare problem chahte hain aa gaya na ki sansar mein jo jeev ek chhat ke neeche rehte hain toh bahut saree samasyaen bhi aati hain aur bahut saare enjoyment ke mauke diya lekin insaan hai ek insaan dusre insaan ke saath kabhi khushi kabhi gum lekin tab bhi apni apni jo bhavnaayen hain vaah apna anger hai ya apni apekshayen par ko nahi hoti hai toh apne jeevan sathi ke saath shikayat bhi karta hai sab shikayat karta hai sab shikayat ek dusre ki sahan kar lete hain lekin aisi jo shikayat hoti hai ki jiski zimmedar pati nahi hai shikayat koi bhi shikayat karne ke liye taiyar nahi hota hai aur vaah turant uska samana karna chahti ho ya patni agar pati apni patni ko yah bolte uske mata pita ke bare mein ke payment ke bare mein kabhi bhi kabool nahi karegi aur vaah turant samana karegi ki main aapke saath shadi karke ghar mein hi hoon mere mata pita ka kasoor kya hai jo aapko karna hai jo karna hai uski zimmedar main hoon mere mata pita nahi yahi baat agar patni apne pati ko agar kuch aisa kar de uske mata pita ke bare mein toh pati ko bhi yah sahan nahi hota hai aur vaah bhi bhadak jata hai ki jo bhi kehna hai mujhse kaho lekin mere mata pita ko kabhi mat karo jo bhavnaayen sabhi shaadishuda logon ki zindagi mein kabhi na kabhi aati hum ek dusre ka khayal rakhte hain ek dusre ka bharan poshan patni koi patang poshan karta hai toh koi iske badle mein bahut kuch dikhta hai bharan poshan ki toh kya kimat de sakte hain hum kisi patni ko vaah toh hamein aane waali jo hamari janadarshan paida karke deti hai uska upchaar toh hum bheetar se utar nahi sakte lekin uske mata pita ko hamein kabhi bhi dost nahi dena chahiye dhanyavad

आप एक मर्द हो या औरत इस सवाल का जवाब जरूर एक पति अपनी पत्नी से सबसे बुरी बात क्या कर सकत

Romanized Version
Likes  73  Dislikes    views  1434
WhatsApp_icon
user

Kavita Panyam

Certified Award Winning Counseling Psychologist

1:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपके सवाल का जवाब है मेरे पास और मेरे हिसाब से झगड़े तो होते हैं वह हर पति पत्नी के बीच में होते हैं जितना प्यार होता है कभी-कभी तकरार उसे ज्यादा होता है और कभी कभी कम होता है या कभी कभी समान रूप में होता है जो भी हो आपस में बातों को सुलझाना जिंदगी को फिर से एक नए सिरे से जीना जो होता है वह हर एक शादीशुदा जिंदगी में होता ही है लेकिन हर झगड़े की को हम माफ कर सकते हैं भूल सकते हैं लेकिन एक जो बात जो पति अपनी पत्नी से कहता है कि मैं तुम्हें खाना खिलाता हूं तुम मेरी वजह से जिंदा है वीडियो तो यह खाना जो होता है यह लक्ष्मी है अन्नपूर्णा है और एक का पति का तो यह फर्क ही होता है कि वह अपनी फैमिली डे के बच्चों को खाना खिलाएं तो जैसे ही पति यह बात कहता है कि मैं तुम्हें खाना खिला रहा हूं उसी वक्त जो पत्नी है वह उनके लिए आदर सम्मान खो देती है क्योंकि 1 केवी जो चीज है खाना खिलाना उसको भी अगर पति एक बोझ समझने लग जाए तो उसको फिर हजम नहीं कर पाती पत्नी और फिर वहां पर उनके हेल्थ इश्यूज भी शुरू हो सकते हैं आप देखेंगे कि हेल्थकेयर आ जाते हैं जहां पर हजम नहीं हो रहा हो खाना या फिर कोई रोका गया हो उनको या फिर किसी और के घर पर किसी और को घर बच्चों को किसी को रोका जाता है एक तरह का बेचैनी होता है और यह जो चीज है खाना खिलाना जो जिंदगी देता है अपना बॉडी को न्यूट्रिशन देता है जो बेसिक नेसेसिटीज जीने के लिए खाना खाना इसके बारे में कभी भी पति को अपनी पत्नी से नहीं कहना चाहिए कि मैं तुम्हें खाना खिलाता हूं तो मेरे हिसाब से यह जो वाक्य है कि मैं तुम्हें खाना खिलाता हूं तुम मेरी वजह से जिंदा हो इससे बड़ी बात और कुछ भी नहीं हो सकती ऐसा हरगिज़ नहीं कहना चाहिए कि कितनी बड़ी बीच झगड़ा हो यह बात कभी नहीं कहना चाहिए

aapke sawaal ka jawab hai mere paas aur mere hisab se jhagde toh hote hain vaah har pati patni ke beech mein hote hain jitna pyar hota hai kabhi kabhi takrar use zyada hota hai aur kabhi kabhi kam hota hai ya kabhi kabhi saman roop mein hota hai jo bhi ho aapas mein baaton ko suljhana zindagi ko phir se ek naye sire se jeena jo hota hai vaah har ek shaadishuda zindagi mein hota hi hai lekin har jhagde ki ko hum maaf kar sakte hain bhool sakte hain lekin ek jo baat jo pati apni patni se kahata hai ki main tumhe khana khilata hoon tum meri wajah se zinda hai video toh yah khana jo hota hai yah laxmi hai annpurna hai aur ek ka pati ka toh yah fark hi hota hai ki vaah apni family day ke bacchon ko khana khilayen toh jaise hi pati yah baat kahata hai ki main tumhe khana khila raha hoon usi waqt jo patni hai vaah unke liye aadar sammaan kho deti hai kyonki 1 kv jo cheez hai khana khilana usko bhi agar pati ek bojh samjhne lag jaaye toh usko phir hajam nahi kar pati patni aur phir wahan par unke health issues bhi shuru ho sakte hain aap dekhenge ki healthcare aa jaate hain jahan par hajam nahi ho raha ho khana ya phir koi roka gaya ho unko ya phir kisi aur ke ghar par kisi aur ko ghar bacchon ko kisi ko roka jata hai ek tarah ka bechaini hota hai aur yah jo cheez hai khana khilana jo zindagi deta hai apna body ko nutrition deta hai jo basic necessities jeene ke liye khana khana iske bare mein kabhi bhi pati ko apni patni se nahi kehna chahiye ki main tumhe khana khilata hoon toh mere hisab se yah jo vakya hai ki main tumhe khana khilata hoon tum meri wajah se zinda ho isse badi baat aur kuch bhi nahi ho sakti aisa hargiz nahi kehna chahiye ki kitni badi beech jhagda ho yah baat kabhi nahi kehna chahiye

आपके सवाल का जवाब है मेरे पास और मेरे हिसाब से झगड़े तो होते हैं वह हर पति पत्नी के बीच मे

Romanized Version
Likes  66  Dislikes    views  1224
WhatsApp_icon
user

Umesh Upaadyay

Life Coach | Motivational Speaker

1:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

चैस पावन पवित्र रिश्ते में पति पत्नी के रिश्ते में कोई भी बात जो कि मुनासिब नहीं है वह बहुत बुरी लग सकती हैं अब इसमें आप कोई भी चीज हटा लीजिए चाहे वह देखने का तरीका हो बोलने का तरीका हो अपमानित दृष्टि से देखना यह बोलना किसी को नीचा देखना है दिखाना बेमतलब में जजमेंट होना और कमेंट पास करना किसी भी तरीके का कॉमेंट हो सकता है सिचुएशन को बिना जांचे समझे पर के कुछ ना कुछ बोल देना किसी को अपमानित करना किसी को एक अलग दृष्टिकोण से देखना है जिसकी जरूरत ही नहीं थी कुछ भी चीज ऐसी हो सकती है जो कि दूसरे को अच्छी ना लगे तो इस रिश्ते में बड़ी सतर्कता से बड़ी सावधानी से एक दूसरों की भावनाओं को बिना ठेस पहुंचाए आगे बढ़ना चाहिए एक बुद्धिमान आदमी यही करते हैं लाइफ किसकी है आपकी पार्टनर किसका है आपका है आप दूसरे आप दोनों एक-दूसरे के पार्टनर रोज एक दूसरे के शूज लाइफ कंपनी अनुष्का आपने खुद किया है आपने चुनाव किया है कि अब हम दोनों मिलकर इस रिश्ते को यहां से आगे ले जाएंगे और अपनी जिंदगी एक साथ बिताने का निर्णय लेते हैं यहां से जब आपने ऐसा सोचा तो आप दोनों ने अपनी पर्सनालिटी को थोड़ा डायलॉग करके एक नई पर्सनालिटी बनाई एक नया व्यक्तित्व बनाएं एक नया रास्ता दिया एक नया आयाम दिया उसको एक नया आकार दिया और उससे बात आगे बढ़ने की कोशिश करते हो इसमें छोटी बहुत भूल चूक त्रुटियां यह सब हो सकता है सिचुएशन कुछ ऐसी आ सकती हैं जिसमें हो सकता है कि थोड़ी दिक्कत परेशानी हो एक दूसरे को समझने में समझाने में और कार्य करने में लेकिन हमें क्या करना चाहिए धैर्य पूर्वक काम करना चाहिए ताकि किसी को कोई किसी बात पर कोई ठेस ना पहुंचे एक दूसरे की भावनाओं को समझते हुए हमें आगे जाना चाहिए और वैसा ही कर काम करना चाहिए वैसा ही हमारा आचरण होना चाहिए दोनों की तरफ से

chess paavan pavitra rishte mein pati patni ke rishte mein koi bhi baat jo ki munasib nahi hai vaah bahut buri lag sakti hain ab isme aap koi bhi cheez hata lijiye chahen vaah dekhne ka tarika ho bolne ka tarika ho apmanit drishti se dekhna yah bolna kisi ko nicha dekhna hai dikhana bematalab mein judgement hona aur comment paas karna kisi bhi tarike ka comment ho sakta hai situation ko bina janche samjhe par ke kuch na kuch bol dena kisi ko apmanit karna kisi ko ek alag drishtikon se dekhna hai jiski zaroorat hi nahi thi kuch bhi cheez aisi ho sakti hai jo ki dusre ko achi na lage toh is rishte mein badi satarkata se badi savadhani se ek dusron ki bhavnao ko bina thes pahunchaye aage badhana chahiye ek buddhiman aadmi yahi karte hain life kiski hai aapki partner kiska hai aapka hai aap dusre aap dono ek dusre ke partner roj ek dusre ke shoes life company anushka aapne khud kiya hai aapne chunav kiya hai ki ab hum dono milkar is rishte ko yahan se aage le jaenge aur apni zindagi ek saath bitane ka nirnay lete hain yahan se jab aapne aisa socha toh aap dono ne apni personality ko thoda dialogue karke ek nayi personality banai ek naya vyaktitva banaye ek naya rasta diya ek naya aayam diya usko ek naya aakaar diya aur usse baat aage badhne ki koshish karte ho isme choti bahut bhool chuk trutiyaan yah sab ho sakta hai situation kuch aisi aa sakti hain jisme ho sakta hai ki thodi dikkat pareshani ho ek dusre ko samjhne mein samjhaane mein aur karya karne mein lekin hamein kya karna chahiye dhairya purvak kaam karna chahiye taki kisi ko koi kisi baat par koi thes na pahuche ek dusre ki bhavnao ko samajhte hue hamein aage jana chahiye aur waisa hi kar kaam karna chahiye waisa hi hamara aacharan hona chahiye dono ki taraf se

चैस पावन पवित्र रिश्ते में पति पत्नी के रिश्ते में कोई भी बात जो कि मुनासिब नहीं है वह बहु

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  446
WhatsApp_icon
user

Maruti Makwana

Performance Strategist

1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक पति अपनी पत्नी से सबसे बुरी बात क्या कह सकता है इस सवाल का आंसर देने के लिए मैं सबसे पहले तो यह बताना चाहूंगा कि पति और पत्नी का रिश्ता जो है यह मेरा मानना है प्यार पर निर्भर होता है तो एक दूसरे से बातचीत करते रहना आया एक दूसरे को अलग अलग चीज है कैसे रहता यह बहुत ही आम बात है इसमें जहां पर प्यार होता है वहां पर झगड़े शिकायतें यह भी होते हैं अब आप को यह पूछना है के सबसे बुरी बात क्या कह सकता है तो पहले तो ही मैं यह बोलना चाहूंगा कि बुरी बात बोली क्यों है इस पावन रिश्ते में जितना ज्यादा प्यार हो उतना अच्छा है तो अगर मेरे हिसाब से कोई बुरी बात है अगर बोलनी है तो यही हो सकती है कि वो हमसे प्यार ही नहीं करता पति अपनी पत्नी से कह दे कि वह उसे प्यार ही नहीं करता मेरे हिसाब से यह उसके लिए सबसे बुरी बात होगी तो अगर ऐसा है तो यह एक चीज जो है वहीं एक महिला आया एक पत्नी जो है वह सहन नहीं कर पाती बाकी सारी चीजों में मैंने देखा है कि पत्नियां हमेशा पति के साथ खड़ी होती है उनको सपोर्ट करती है तो बस यही मेरा आंसर है कि यह कभी नहीं कहना चाहिए

ek pati apni patni se sabse buri baat kya keh sakta hai is sawaal ka answer dene ke liye main sabse pehle toh yah bataana chahunga ki pati aur patni ka rishta jo hai yah mera manana hai pyar par nirbhar hota hai toh ek dusre se batchit karte rehna aaya ek dusre ko alag alag cheez hai kaise rehta yah bahut hi aam baat hai isme jahan par pyar hota hai wahan par jhagde shikayaten yah bhi hote hain ab aap ko yah poochna hai ke sabse buri baat kya keh sakta hai toh pehle toh hi main yah bolna chahunga ki buri baat boli kyon hai is paavan rishte mein jitna zyada pyar ho utana accha hai toh agar mere hisab se koi buri baat hai agar bolani hai toh yahi ho sakti hai ki vo humse pyar hi nahi karta pati apni patni se keh de ki vaah use pyar hi nahi karta mere hisab se yah uske liye sabse buri baat hogi toh agar aisa hai toh yah ek cheez jo hai wahin ek mahila aaya ek patni jo hai vaah sahan nahi kar pati baki saree chijon mein maine dekha hai ki patniyaan hamesha pati ke saath khadi hoti hai unko support karti hai toh bus yahi mera answer hai ki yah kabhi nahi kehna chahiye

एक पति अपनी पत्नी से सबसे बुरी बात क्या कह सकता है इस सवाल का आंसर देने के लिए मैं सबसे पह

Romanized Version
Likes  66  Dislikes    views  1211
WhatsApp_icon
user

Anuraadha Uboweja

Empowerment Coach & Healer

1:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इसका उत्तर में अलग तरीके से देना चाहूंगी मैं उस पर फोकस करना चाहूंगी जो एक रिश्ते को मजबूत बना दें तो बाकी बातों का सवाल ही नहीं उठेगा तो एक रिश्ते को मजबूत बनाने के लिए सबसे जरूरी बात है कि आप एक दूसरे पर विश्वास रखिए अटूट विश्वास एक दूसरे को समय दीजिए एक दूसरे को समझिए एक दूसरे के लिए शुक्र गुजार रहे हैं एक दूसरे के अच्छे दोस्त बनी है और दोस्ती में हम अपने आप को एक दूसरे पर नहीं थोपते बल्कि एक दूसरे को पूरा समय देते हैं कि वह जो करना चाहता है हम उसके साथ हैं एक दूसरे की इंडिविजुअल ठीक हो अब पूरा महत्व दीजिए उसको आगे बढ़ने के लिए पूरा उत्साह दीजिए तो अगर हम यह चीजें कर सकते हैं इन पर ध्यान दें तो आप देखेंगे कि रिश्ता बहुत मजबूत हो जाएगा और उसकी खुशबू सिर्फ आप दोनों में ही नहीं बल्कि आपके आसपास के लोगों में भी नजर आएगी और बाकी चीजों का फिर सवाल ही नहीं उठता

iska uttar mein alag tarike se dena chahungi main us par focus karna chahungi jo ek rishte ko mazboot bana dein toh baki baaton ka sawaal hi nahi uthega toh ek rishte ko mazboot banaane ke liye sabse zaroori baat hai ki aap ek dusre par vishwas rakhiye atut vishwas ek dusre ko samay dijiye ek dusre ko samjhiye ek dusre ke liye shukra gujar rahe hain ek dusre ke acche dost bani hai aur dosti mein hum apne aap ko ek dusre par nahi thopte balki ek dusre ko pura samay dete hain ki vaah jo karna chahta hai hum uske saath hain ek dusre ki individual theek ho ab pura mahatva dijiye usko aage badhne ke liye pura utsaah dijiye toh agar hum yah cheezen kar sakte hain in par dhyan dein toh aap dekhenge ki rishta bahut mazboot ho jaega aur uski khushboo sirf aap dono mein hi nahi balki aapke aaspass ke logon mein bhi nazar aaegi aur baki chijon ka phir sawaal hi nahi uthata

इसका उत्तर में अलग तरीके से देना चाहूंगी मैं उस पर फोकस करना चाहूंगी जो एक रिश्ते को मजबूत

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  546
WhatsApp_icon
user

Chaina Karmakar

Spiritual Healer & Life Coach

1:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पति अपने पति से सबसे बुरी बात क्या कह सकता है आपके ऊपर निर्भर करता है कि आप एक छोटी सी चीज को भी पहाड़ बना सकती रख सकती है तो आपके ऊपर डिपेंड करता है कि आप कही हुई बात को कैसे लेती है कई लोग होता है कई लोगों में होता है कि इन सब चीजों को वर्क करते हैं और हस्बैंड वाइफ के रिलेशनशिप में किसी भी चीज को पकड़ कर बैठ रहा समझदारी का काम नहीं होता है उसे ही कहते हैं जो लेट को करने की याद रखते हैं बुरी बात अगर आपको कोई बात बुरी लग गई है अपनी पति की तो उसको बैठकर डिस्कस कीजिए और उसको समझाइए और बताइए कि आपको बुरी लगी है ना कि उसको अपने के जीवन भर उस चीज को लेकर अंदर टॉक्सिक प्रोड्यूस करना जितना आप अंदर रखेंगे उत्तरा टॉक्सिक प्रोटींस होगा हस्बैंड वाइफ रिलेशन में जो है बहुत डिजास्टर्स होता है ऑफ कीजिए अपने जो भी उलझन है साफ-साफ तरीके से बात कीजिए किसी भी चीज का सलूशन जो है बात करने से वह भी विदाउट यू को डिस्कस करने से निकल आता है

pati apne pati se sabse buri baat kya keh sakta hai aapke upar nirbhar karta hai ki aap ek choti si cheez ko bhi pahad bana sakti rakh sakti hai toh aapke upar depend karta hai ki aap kahi hui baat ko kaise leti hai kai log hota hai kai logon mein hota hai ki in sab chijon ko work karte hain aur husband wife ke Relationship mein kisi bhi cheez ko pakad kar baith raha samajhdari ka kaam nahi hota hai use hi kehte hain jo let ko karne ki yaad rakhte hain buri baat agar aapko koi baat buri lag gayi hai apni pati ki toh usko baithkar discs kijiye aur usko samjhaiye aur bataiye ki aapko buri lagi hai na ki usko apne ke jeevan bhar us cheez ko lekar andar toxic produce karna jitna aap andar rakhenge uttara toxic protins hoga husband wife relation mein jo hai bahut dijastars hota hai of kijiye apne jo bhi uljhan hai saaf saaf tarike se baat kijiye kisi bhi cheez ka salution jo hai baat karne se vaah bhi without you ko discs karne se nikal aata hai

पति अपने पति से सबसे बुरी बात क्या कह सकता है आपके ऊपर निर्भर करता है कि आप एक छोटी सी चीज

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  514
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!