कुछ ऐसी चीज़ें क्या है जो जीवन में देर से समझ आती है? उससे हमारे जीवन पर क्या असर पड़ता है?...


user

Kankan Sarmah

Psychologist

1:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कुछ ऐसी चीजें क्या है जो जीवन में देर से समझ जाती है उससे हमारे जीवन पर क्या असर पड़ता है दोस्तों कुछ ऐसी चीजें मतलब वैसे पछतावा कुछ काम हम करते हैं मान लीजिए दो-तीन साल पहले या 5 साल पहले और उसका जो असर है वह 3 साल के बाद या 5 साल के बाद हमें दिखाई देती है तो क्या होता है एक डिग्रीस होता है पछतावा होता है काश अगर वह कमेंट नहीं करता काश अगर वह चीजें मैं नहीं बोलता क्यों नहीं बोलते काश अगर वह चीज हम वक्त पर कर लेते ठीक है कि पछतावा होता है एक विवेक होते हैं फिर वही चीजों को लेकर हम क्या करते हैं बैठ जाते हैं और जब वही चीजों को लेकर हम बैठना शुरु कर देंगे तो हमारा मन कहीं और नहीं लगता है बस वही डीजे पर लटका रहता है कि मैंने क्यों किया क्यों किया क्यों किया मेरे साथ ही क्यों ऐसे होते हैं काश अगर मैं नहीं करता तो इसलिए दोस्तों असर उसका जो रिएक्शन है जो असर है वह काफी निकट इस डायरेक्शन पर जाते हैं तो जो हो गया सो हो गया जो बीत गया सो बीत गया पुरानी चीजों को आप लेकर तो नहीं आ सकते हैं लेकिन जो गलत कदम आप ने उठाई है उसको आप कैसे सही डायरेक्शन पर ले जा सकते हैं उसके बारे में सोचना और उसके ऊपर काम करना जरूरी होता है ठीक है जो हो गया सो हो गया जो बीत गया सो बीत गया लेकिन फिर वही चीजें अगर ना हो आपकी लाइफ में तो आपको थोड़ा सा सावधानी थोड़ा सा अपने आप को संतुलित करके रखना बहुत ही जरूरी होता है धन्यवाद

kuch aisi cheezen kya hai jo jeevan mein der se samajh jaati hai usse hamare jeevan par kya asar padta hai doston kuch aisi cheezen matlab waise pachtava kuch kaam hum karte hain maan lijiye do teen saal pehle ya 5 saal pehle aur uska jo asar hai vaah 3 saal ke baad ya 5 saal ke baad hamein dikhai deti hai toh kya hota hai ek degrees hota hai pachtava hota hai kash agar vaah comment nahi karta kash agar vaah cheezen main nahi bolta kyon nahi bolte kash agar vaah cheez hum waqt par kar lete theek hai ki pachtava hota hai ek vivek hote hain phir wahi chijon ko lekar hum kya karte hain baith jaate hain aur jab wahi chijon ko lekar hum baithana shuru kar denge toh hamara man kahin aur nahi lagta hai bus wahi DJ par Latka rehta hai ki maine kyon kiya kyon kiya kyon kiya mere saath hi kyon aise hote hain kash agar main nahi karta toh isliye doston asar uska jo reaction hai jo asar hai vaah kafi nikat is direction par jaate hain toh jo ho gaya so ho gaya jo beet gaya so beet gaya purani chijon ko aap lekar toh nahi aa sakte hain lekin jo galat kadam aap ne uthai hai usko aap kaise sahi direction par le ja sakte hain uske bare mein sochna aur uske upar kaam karna zaroori hota hai theek hai jo ho gaya so ho gaya jo beet gaya so beet gaya lekin phir wahi cheezen agar na ho aapki life mein toh aapko thoda sa savadhani thoda sa apne aap ko santulit karke rakhna bahut hi zaroori hota hai dhanyavad

कुछ ऐसी चीजें क्या है जो जीवन में देर से समझ जाती है उससे हमारे जीवन पर क्या असर पड़ता है

Romanized Version
Likes  545  Dislikes    views  4019
KooApp_icon
WhatsApp_icon
8 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!