भारत में सुबह फाँसी क्यों दी जाती है?...


user

Farhan Yahiya

Chief Reporter

1:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सुबह फांसी बेसिकली देने का सिक्का सारे रिजल्ट हैं सिर्फ एक रीजन नहीं है जो कि सबसे बड़ी वजह होती है कि जो डॉन मतलब सुबह के वक्त होता है जिसको जो होता है होने जा रहा है अगर उनको इतना नहीं है और दूसरी चीज सुबह का होगा जिन्हें इस तरीके के कामों के लिए हमेशा से अब से नहीं जब से फांसी की सजा चाहे मुगलों के टाइम पे चाहे आर्यन के टाइम टेबल डायबिटीज के बक्से या चाहे ब्रिटिश के वक्त रखने का यही होता है कि लोगों को इसके बारे में ज्यादा इतना नदी जा सके ताकि लोग उसके फेवर में ना आ सके लोग सड़कों पर नहीं उतर सके गंगा में न कर सके और भी बहुत सारी बहुत

subah fansi basically dene ka sikka saare result hai sirf ek reason nahi hai jo ki sabse baadi wajah hoti hai ki jo don matlab subah ke waqt hota hai jisko jo hota hai hone ja raha hai agar unko itna nahi hai aur dusri cheez subah ka hoga jinhen is tarike ke kaamo ke liye hamesha se ab se nahi jab se fansi ki saza chahe mugalon ke time pe chahe aryan ke time table diabetes ke bakse ya chahe british ke waqt rakhne ka yahi hota hai ki logo ko iske bare mein zyada itna nadi ja sake taki log uske favour mein na aa sake log sadkon par nahi utar sake ganga mein na kar sake aur bhi bahut saree bahut

सुबह फांसी बेसिकली देने का सिक्का सारे रिजल्ट हैं सिर्फ एक रीजन नहीं है जो कि सबसे बड़ी वज

Romanized Version
Likes  36  Dislikes    views  475
WhatsApp_icon
9 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Markandey Pandey

Senior Journalist

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जज के द्वारा गीत क्यों न्यायालय के द्वारा दी जाती है इसके बाद होता है अभिजीत जब शुरू होता है तो उसके पहले ही वह 12:00 बजने में रात्रि के 12:00 बजे रात के 12:00 बजने के बाद और अगले दिन सुबह 6:00 के पहले ही यह दिल में टूटी हुई थी उसके बाद 30 तारीख को फांसी दी जाती है

judge ke dwara geet kyon nyayalaya ke dwara di jati hai iske baad hota hai abhijeet jab shuru hota hai toh uske pehle hi wah 12:00 bajne mein ratri ke 12:00 baje raat ke 12:00 bajne ke baad aur agle din subah 6:00 ke pehle hi yeh dil mein tuti hui thi uske baad 30 tarikh ko fansi di jati hai

जज के द्वारा गीत क्यों न्यायालय के द्वारा दी जाती है इसके बाद होता है अभिजीत जब शुरू होता

Romanized Version
Likes  69  Dislikes    views  1112
WhatsApp_icon
play
user

Jairam Jatav

Indian Politician

1:08

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मॉर्निंग में भारतीय सेना का जो उनको अभिप्राय है या पहले से भी सोचो वर्ल्ड में कितनी खुशियां होती है तो रामपुरा का 15 लोगों को 8 जून को रात को नींद आएगी नहीं आती है और पूरा दिन उसके बाद में उसका मेडिकल है ना जो बोलता है वह परिजनों को दी जाती है उनका जो संस्कार किया जाता है

morning mein bharatiya sena ka jo unko abhipray hai ya pehle se bhi socho world mein kitni khushiya hoti hai toh rampura ka 15 logo ko 8 june ko raat ko neend aayegi nahi aati hai aur pura din uske baad mein uska medical hai na jo bolta hai wah parijanon ko di jati hai unka jo sanskar kiya jata hai

मॉर्निंग में भारतीय सेना का जो उनको अभिप्राय है या पहले से भी सोचो वर्ल्ड में कितनी खुशिया

Romanized Version
Likes  23  Dislikes    views  759
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में सोना कहां से क्यों दी जाती है फांसी देने का प्रावधान इसलिए क्योंकि बाकी सभी काम सूर्योदय के बाद होते हैं और फांसी देना एक बहुत बड़ा काम होता है इसलिए उसको सबसे पर एक्टिविटी रखा जाता है कि उसने अपने बाकी काम जो उन में बाधा ना पड़े उसमें किस तरह कभी ना पड़े इसलिए भारत में सुबह से फांसी देने का प्रावधान है

bharat mein sona kahan se kyon di jaati hai fansi dene ka pravadhan isliye kyonki baki sabhi kaam suryoday ke baad hote hain aur fansi dena ek bahut bada kaam hota hai isliye usko sabse par activity rakha jata hai ki usne apne baki kaam jo un mein badha na pade usme kis tarah kabhi na pade isliye bharat mein subah se fansi dene ka pravadhan hai

भारत में सोना कहां से क्यों दी जाती है फांसी देने का प्रावधान इसलिए क्योंकि बाकी सभी काम स

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  86
WhatsApp_icon
user

Sneha Dubey

Journalist

0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में सुबह 5:00 से लेकर 7:00 के बीच में फांसी देने का प्रावधान है ऐसा इसलिए होता है क्योंकि जो कैदी होता है जिसे फांसी होने वाली होती है वह की मौत का इंतजार पूरा दिन ना करें अगर शाम को या रात में होती है तो इसके अलावा उस जेल के दूसरे कैदी फांसी की सजा सुनकर या किसी की मौत की बात सुनकर डिस्टर्ब ना हो जाए इसके सुबह सुबह फांसी दी जाती है

bharat mein subah 5 00 se lekar 7 00 ke beech mein fansi dene ka pravadhan hai aisa isliye hota hai kyonki jo kaidi hota hai jise fansi hone wali hoti hai vaah ki maut ka intejar pura din na kare agar shaam ko ya raat mein hoti hai toh iske alava us jail ke dusre kaidi fansi ki saza sunkar ya kisi ki maut ki baat sunkar disturb na ho jaaye iske subah subah fansi di jaati hai

भारत में सुबह 5:00 से लेकर 7:00 के बीच में फांसी देने का प्रावधान है ऐसा इसलिए होता है क्य

Romanized Version
Likes  110  Dislikes    views  679
WhatsApp_icon
user

Sampat Techno

Welcome to my YouTube channel "Sampat Techno"

1:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है भारत में सुबह फांसी क्यों दी जाती है इसका करके कंडीशन भी है सुबह फांसी इसलिए दी जाती है क्योंकि बाकी जो कैदी होता है जेल का वह जो है तभी सोते हैं ठीक है और तभी जगते ही है या तू जाने से पहले ही पूरा कर लिया जाता है यदि शाम को फांसी दिया जाए या 12 दिन में कोई काम भी प्रभावित नहीं होता है यदि सुबह में फांसी दे दिया जाता क्योंकि जब आप सुनाते हैं तो वह लास्ट में बोलते हैं इट विल बी हैं टिल डेट इसका मतलब हुआ इसे तब तक लटका के रखा जाएगा जब तक यह जीवित है तो फांसी का फंदा लगाया यदि कानूनी प्रक्रिया है जिसके कारण जेल में फांसी दिया जाता है ताकि उसका जो है आगे की प्रक्रिया जल्दी से निपटाया जा सके और डेड बॉडी को उसके जेल के

aapka prashna hai bharat me subah fansi kyon di jaati hai iska karke condition bhi hai subah fansi isliye di jaati hai kyonki baki jo kaidi hota hai jail ka vaah jo hai tabhi sote hain theek hai aur tabhi jagte hi hai ya tu jaane se pehle hi pura kar liya jata hai yadi shaam ko fansi diya jaaye ya 12 din me koi kaam bhi prabhavit nahi hota hai yadi subah me fansi de diya jata kyonki jab aap sunaate hain toh vaah last me bolte hain it will be hain til date iska matlab hua ise tab tak Latka ke rakha jaega jab tak yah jeevit hai toh fansi ka fanda lagaya yadi kanooni prakriya hai jiske karan jail me fansi diya jata hai taki uska jo hai aage ki prakriya jaldi se niptaya ja sake aur dead body ko uske jail ke

आपका प्रश्न है भारत में सुबह फांसी क्यों दी जाती है इसका करके कंडीशन भी है सुबह फांसी इसलि

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  90
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भारत में सूचना दीजिए जी जाती है कि इंसान जिस वक्त को फांसी दी जाती उसकी सभी इच्छाओं को पूर्ण करके सुबह में फांसी दी जाती है कि भगवान के शरणागत में मौत प्राप्त कर सके

bharat mein soochna dijiye ji jaati hai ki insaan jis waqt ko fansi di jaati uski sabhi ikchao ko purn karke subah mein fansi di jaati hai ki bhagwan ke sharanagat mein maut prapt kar sake

भारत में सूचना दीजिए जी जाती है कि इंसान जिस वक्त को फांसी दी जाती उसकी सभी इच्छाओं को पूर

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  120
WhatsApp_icon
user

Farha Hussain

Community Developer at Vokal

0:17
Play

रहे थे भारत को उस समय पर भी हमारे जो फ्रीडम फाइटर्स हुआ करते थे...

Likes  1  Dislikes    views  235
WhatsApp_icon
user

Rahul kumar

Junior Volunteer

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

फांसी का समय सुबह 4:00 बजे क्यों होता है उसके पीछे रीजन ना कुछ यह है कि जब भी ब्रिटिश रूल था यह भारत में जब भी ब्रिटिश शासन का इतिहास जो है जो क्रांतिकारी थे उनको सुबह फांसी दिया तू खुश थे शायद यही चीज जो है अभी तक फॉलो होती आणि है कुछ चेंज नहीं हुआ है तो इसलिए फांसी का समय जो हमेशा सुबह ही होता है

fansi ka samay subah 4 00 baje kyon hota hai uske peeche reason na kuch yah hai ki jab bhi british rule tha yah bharat mein jab bhi british shasan ka itihas jo hai jo krantikari the unko subah fansi diya tu khush the shayad yahi cheez jo hai abhi tak follow hoti aani hai kuch change nahi hua hai toh isliye fansi ka samay jo hamesha subah hi hota hai

फांसी का समय सुबह 4:00 बजे क्यों होता है उसके पीछे रीजन ना कुछ यह है कि जब भी ब्रिटिश रूल

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  120
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
फांसी सूरज निकलने से पहले क्यों दी जाती है ; फांसी का समय 4 बजे ही क्यों ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!