गीता में कितने श्लोक हैं?...


user

Manoj Kumar

Spiritual Knowdge / working as a Social Worker

2:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पवित्र गीता जी में 18 अध्याय और 700 श्लोक हैं और पवित्र गीता जी का बोतल निचोड़ जिसे हम कहते हैं वह यही है गीता जी अध्याय नंबर 4 का श्लोक नंबर 94 पिताजी अध्याय नंबर 4 का श्लोक नंबर 34 जिसमें पूर्ण मोक्ष के लिए अर्जुन को किसी तत्वदर्शी संत की खोज करने के लिए कहा है यानी पवित्र गीता जी ने यह आप सिद्ध कर दिया है कि गुरु के बिना मोक्ष संभव नहीं और पूर्व यानी सतगुरु की पहचान बताते हुए पवित्र गीता जी अध्याय नंबर 15 श्लोक नंबर 1 से 3 16 17 वर्णन वर्णन किया गया है कि जो उल्टे लटके हुए वृक्ष की जड़ से लेकर 55 तक पूर्ण जानकारी दे देगा वह तत्वदर्शी संत है भैया ने जो संत हमें शास्त्र अनुकूल साधना करवाए वह तत्वदर्शी संत अब यह हमें खोजना है कि तत्वदर्शी संत हैं कौन वर्तमान में धरती पर इस तरह हम यूट्यूब पर भी सर्च कर सकते हैं कि तत्वदर्शी संत की पहचान बताएं या आप खुद देखें वीडियो तत्वदर्शी संत की खोज करें यूट्यूब पर सर्च करें जो तंत्र शास्त्रों के अनुसार भक्ति करवाएं जो हमारे पवित्र धर्म ग्रंथों को खोल कर हमें दिखाएं उसकी खोज हमें यूट्यूब या फेसबुक पर कहीं भी मिले जैसे भी अपने भारतवर्ष में ना जाने कितने समय है देखिए कि कौन हमें अपने पवित्र धर्म ग्रंथों को इत्र बाइबल गीता जी कुरान शरीफ पवित्र गीता जी कविता गुरु ग्रंथ साहिब इन सभी से मेल खाता ज्ञान जोकर में सभी धर्म ग्रंथों का ज्ञाता हो उसकी खोज करने के लिए कोई सर गीता के अध्याय नंबर 4 के श्लोक नंबर 34 में कहा है

pavitra geeta ji me 18 adhyay aur 700 shlok hain aur pavitra geeta ji ka bottle nichod jise hum kehte hain vaah yahi hai geeta ji adhyay number 4 ka shlok number 94 pitaji adhyay number 4 ka shlok number 34 jisme purn moksha ke liye arjun ko kisi tatvadarshi sant ki khoj karne ke liye kaha hai yani pavitra geeta ji ne yah aap siddh kar diya hai ki guru ke bina moksha sambhav nahi aur purv yani satguru ki pehchaan batatey hue pavitra geeta ji adhyay number 15 shlok number 1 se 3 16 17 varnan varnan kiya gaya hai ki jo ulte latke hue vriksh ki jad se lekar 55 tak purn jaankari de dega vaah tatvadarshi sant hai bhaiya ne jo sant hamein shastra anukul sadhna karwaye vaah tatvadarshi sant ab yah hamein khojana hai ki tatvadarshi sant hain kaun vartaman me dharti par is tarah hum youtube par bhi search kar sakte hain ki tatvadarshi sant ki pehchaan bataye ya aap khud dekhen video tatvadarshi sant ki khoj kare youtube par search kare jo tantra shastron ke anusaar bhakti karvaaein jo hamare pavitra dharm granthon ko khol kar hamein dikhaen uski khoj hamein youtube ya facebook par kahin bhi mile jaise bhi apne bharatvarsh me na jaane kitne samay hai dekhiye ki kaun hamein apne pavitra dharm granthon ko itra bible geeta ji quraan sharif pavitra geeta ji kavita guru granth sahib in sabhi se male khaata gyaan joker me sabhi dharm granthon ka gyaata ho uski khoj karne ke liye koi sir geeta ke adhyay number 4 ke shlok number 34 me kaha hai

पवित्र गीता जी में 18 अध्याय और 700 श्लोक हैं और पवित्र गीता जी का बोतल निचोड़ जिसे हम कहत

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  174
WhatsApp_icon
12 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Karan Janwa

Automobile Engineer

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

श्रीमद भगवत गीता में कुल 7 श्लोक हैं इनमें से 574 श्लोक श्री कृष्ण द्वारा 84 श्लोक अर्जुन के द्वारा 41 लोक संजय के द्वारा और एक श्लोक धृतराष्ट्र के द्वारा कहा गया है तो कुल मिलाकर 18 अध्याय मैसेज चल ओके धन्यवाद

srimad bhagwat geeta mein kul 7 shlok hai inme se 574 shlok shri krishna dwara 84 shlok arjun ke dwara 41 lok sanjay ke dwara aur ek shlok Dhritarashtra ke dwara kaha gaya hai toh kul milakar 18 adhyay massage chal ok dhanyavad

श्रीमद भगवत गीता में कुल 7 श्लोक हैं इनमें से 574 श्लोक श्री कृष्ण द्वारा 84 श्लोक अर्जुन

Romanized Version
Likes  127  Dislikes    views  2004
WhatsApp_icon
play
user

महेश हिन्दू

विधार्थी

0:14

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार प्रिय भगवान के भक्तों ऐसा है कि श्रीमद्भागवत गीता में 18 अध्याय और कुल मिलाकर 700 सालों का धन्यवाद

namaskar priya bhagwan ke bhakton aisa hai ki shri bhagwat geeta mein 18 adhyay aur kul milakar 700 salon ka dhanyavad

नमस्कार प्रिय भगवान के भक्तों ऐसा है कि श्रीमद्भागवत गीता में 18 अध्याय और कुल मिलाकर 700

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  710
WhatsApp_icon
user

Avi Sharma

Child Artist Anchor, Motivational Speaker ,Mythology, Science And General Knowledge Expert

0:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है गीता में कितने श्लोक की श्रीमद्भागवत गीता में कुल 700 श्लोक

aapka sawaal hai geeta me kitne shlok ki shrimadbhagavat geeta me kul 700 shlok

आपका सवाल है गीता में कितने श्लोक की श्रीमद्भागवत गीता में कुल 700 श्लोक

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  90
WhatsApp_icon
user

Mithilesh Sharma

Real Estate & Finance Advisior/ Social Activist

0:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पौराणिक कथा के अनुसार गीता में 700 श्लोक हैं

pouranik katha ke anusaar geeta mein 700 shlok hain

पौराणिक कथा के अनुसार गीता में 700 श्लोक हैं

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  93
WhatsApp_icon
user
2:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गीता महर्षि वेदव्यास द्वारा रचित महाभारत नामक महाकाव्य के भीष्म पर्व में संग्रहित है गीता में कुल 18 अध्याय एवं 700 लोग हैं गीता में भगवान श्रीकृष्ण ने अर्जुन को कुरुक्षेत्र भूमि में किंकर्तव्यविमूढ़ हुए अर्जुन को अपने कर्तव्य पथ का ज्ञान कराने के लिए जो उपदेश दिया है वही गीता के नाम से प्रसिद्ध है गीता भारतीय धार्मिक चिंतन परंपरा का एक प्रमुख महंत होने के साथ-साथ दार्शनिक चिंतन परंपरा में प्रस्थानत्रई के अंतर्गत किया जाता है प्रस्थानत्रई में उपनिषद ब्रह्मसूत्र एवं गीता आते हैं गीता में अर्जुन मानव मात्र का प्रतिनिधि है अर्जुन ने विस्तमर कृष्ण भगवान श्री कृष्ण के समक्ष रखे हैं जो एक सामान्य मनुष्य के समक्ष उपस्थित होते हैं जबकि मनुष्य अपने कर्तव्य के मार्ग पर विचलित होने लगता है और जब उसका मन संचय से ग्रस्त होने लगता है और वह मानसिक विकृति होता है तो उसके मन में क्या-क्या प्रश्न हो सकते हैं उसके और व्यवहारिक जीवन से संबंधित नैतिक जीवन से संबंधित एवं आध्यात्मिक जीवन से संबंधित अर्जुन ने उन प्रश्नों का जवाब भगवान श्रीकृष्ण से जानने का प्रयास किया है यहां अर्जुन मानव मात्र का प्रतिनिधि है गीता हमें अपने कर्तव्य की मार्ग की ओर उन्मुख होकर कर्तव्य पालन कम करने के लिए प्रेरित करती है गीता जो है यह तो पी भारतीय चिंतन परंपरा का महत्वपूर्ण ग्रंथ माना जाता है किंतु गीता के उपदेश सर्वकालिक एवं प्रदेशिक हैं वे किसी विशेष धर्म या संप्रदाय जाति या वर्ण लिंग पर आधारित नहीं होकर समस्त मानव जाति के लिए कल्याणकारी गीता के साथ लोगों में कर्म ज्ञान भक्ति इन सभी विषयों पर विस्तृत रूप से विचार किया गया है और गीता का एक योग मनुष्य के जीवन को एक नवीन संदेश प्रदान करता है यह ताने केवल भारतीय चिंतकों के लिए अपितु पाश्चात्य चिन्हों के लिए भी प्रेरणा का महान स्त्रोत रहा है हमारा एक कर्तव्य है कि हम गीता को अध्ययन करके उसे अपने जीवन में क्रियान्वित करने का सतत प्रयास करें धन्यवाद

geeta maharshi vedvyas dwara rachit mahabharat namak mahakavya ke bhishma parv me sangrahit hai geeta me kul 18 adhyay evam 700 log hain geeta me bhagwan shrikrishna ne arjun ko kurukshetra bhoomi me kinkartavyavimudh hue arjun ko apne kartavya path ka gyaan karane ke liye jo updesh diya hai wahi geeta ke naam se prasiddh hai geeta bharatiya dharmik chintan parampara ka ek pramukh mahant hone ke saath saath darshnik chintan parampara me prasthanatrai ke antargat kiya jata hai prasthanatrai me upanishad brahmasutra evam geeta aate hain geeta me arjun manav matra ka pratinidhi hai arjun ne vistamar krishna bhagwan shri krishna ke samaksh rakhe hain jo ek samanya manushya ke samaksh upasthit hote hain jabki manushya apne kartavya ke marg par vichalit hone lagta hai aur jab uska man sanchaya se grast hone lagta hai aur vaah mansik vikriti hota hai toh uske man me kya kya prashna ho sakte hain uske aur vyavaharik jeevan se sambandhit naitik jeevan se sambandhit evam aadhyatmik jeevan se sambandhit arjun ne un prashnon ka jawab bhagwan shrikrishna se jaanne ka prayas kiya hai yahan arjun manav matra ka pratinidhi hai geeta hamein apne kartavya ki marg ki aur unmukh hokar kartavya palan kam karne ke liye prerit karti hai geeta jo hai yah toh p bharatiya chintan parampara ka mahatvapurna granth mana jata hai kintu geeta ke updesh sarvakalik evam pradeshik hain ve kisi vishesh dharm ya sampraday jati ya varn ling par aadharit nahi hokar samast manav jati ke liye kalyaankari geeta ke saath logo me karm gyaan bhakti in sabhi vishyon par vistrit roop se vichar kiya gaya hai aur geeta ka ek yog manushya ke jeevan ko ek naveen sandesh pradan karta hai yah tane keval bharatiya chintakon ke liye apitu pashchayat chinho ke liye bhi prerna ka mahaan satrot raha hai hamara ek kartavya hai ki hum geeta ko adhyayan karke use apne jeevan me kriyanwit karne ka satat prayas kare dhanyavad

गीता महर्षि वेदव्यास द्वारा रचित महाभारत नामक महाकाव्य के भीष्म पर्व में संग्रहित है गीता

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  95
WhatsApp_icon
user

zareen

upsc aspirant

0:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गीता में कुल 18 अध्याय और 700 श्लोक हैं

geeta me kul 18 adhyay aur 700 shlok hain

गीता में कुल 18 अध्याय और 700 श्लोक हैं

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  329
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवत गीता के 18 अध्याय और 700 किलो के

bhagwat geeta ke 18 adhyay aur 700 kilo ke

भगवत गीता के 18 अध्याय और 700 किलो के

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  83
WhatsApp_icon
user

Farha Hussain

Community Developer at Vokal

0:07
Play

गीता में 18 प्रकरण है और 700 श्लोक हैं

Likes  2  Dislikes    views  252
WhatsApp_icon
user

Sid Malhotra

Volunteer

0:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

श्रीमद्भागवत गीता गीता में 18 अध्याय हैं और 700 श्लोक ऐसे वन हंड्रेड श्लोक

shrimadbhagavat geeta geeta mein 18 adhyay hai aur 700 shlok aise van hundred shlok

श्रीमद्भागवत गीता गीता में 18 अध्याय हैं और 700 श्लोक ऐसे वन हंड्रेड श्लोक

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  9
WhatsApp_icon
user

Faiz

Software Tester at Cognizant Technology Solutions.

0:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गीता में टोटल 700 श्लोक है 700

geeta mein total 700 shlok hai 700

गीता में टोटल 700 श्लोक है 700

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  160
WhatsApp_icon
user

Gunjan

Junior Volunteer

0:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरा पिताजी बात करते हैं तो श्रीमद भगवत गीता में जो है वो 18 अध्याय और 700 श्लोक है

mera pitaji BA at karte hai toh srimad bhagwat geeta mein jo hai vo 18 adhyay aur 700 shlok hai

मेरा पिताजी बात करते हैं तो श्रीमद भगवत गीता में जो है वो 18 अध्याय और 700 श्लोक है

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  380
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
भगवत गीता में कितने श्लोक है ; गीता में कितने श्लोक हैं ; geeta me kitne shlok hai ; geeta mein kitne shlok hai ; गीता में कितने श्लोक है ; bhagwat geeta me kitne shlok hai ; bhagwat geeta mein kitne shlok hai ; bhagwat geeta mein kitne shlok hain ; bhagwat geeta mein kul kitne shlok hain ; geeta mein kitne shlok hain ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!