भारत में जो प्राथमिक स्तर है, उसमें शिक्षा का स्तर बेहतर नहीं है, तो इस प्राथमिक स्तर की शिक्षा को बेहतर करने के लिए क्या किया जा सकता है?...


user

Prabhakar Tiwari

National Trainer,Motivational Speaker, Social Activist

2:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कि भारत में जो प्राथमिक स्तर है उसमें शिक्षा का स्तर सही नहीं है बेहतर नहीं है और प्राथमिक स्तर की शिक्षा को बेहतर करने के लिए क्या-क्या किया जा सकता है आप बहुत ही अच्छा प्रश्न है आपका की प्राथमिक स्तर में शिक्षा का स्तर नहीं है इसके लिए चार पांच चीजें हम कर सकते हैं सबसे पहली चीज अच्छे अध्यापकों की नियुक्ति अगर वापस अच्छे स्टाफ रहेंगे अच्छे अध्यापक होंगे तो उसके माध्यम से बच्चों को पढ़ा सकते अच्छे तरीके से दूसरी चीज नियुक्ति से पहले उनका बेहतरीन तरीके से इंटरव्यू होना चाहिए कि आपके माध्यम से बच्चे को कैसे कैसे हम पढ़ा सकते हैं बेहतरीन तरीका क्या हो सकता है जो टीचर सबसे अच्छा अच्छा तरीका बताओ उत्तर के टीचर्स को आप विद्यालय में भेजें और रखें इसी चीज प्राथमिक स्तर पर बच्चों को हीरो तरीके से पढ़ाई के कि बच्चे किसी भी चीज को तीन तरीके से सीखते हैं एक मौखिक दोसा लिखित तीसरा का नैतिक मतलब वह बॉडी लैंग्वेज से और चौथा होता है विजुलाइजेशन चीजों को देख कर के तो आप बच्चे को परे मौखिक समझाइए उसको नहीं सुनना है उसको लिखवाई है दूसरा तीसरा उसको दिखाइए कि बेटा कैसे होता है छोटा उसको काइनेस्थेटिक मतलब बॉडी के तरीके से बॉडी मूवमेंट करा करके उसको चीजों को दिखा करके समझाइए जिससे बच्चों का स्तर अच्छा होगा प्राथमिक स्तर का उच्च शिक्षा का स्तर अच्छा होगा अभी चीज है कि स्कूलों में क्रिएटिविटी कराई जाए सब्जेक्ट को लेकर के बच्चों को दिखाया जाए और बच्चों को भ्रमण कराया जाए सच में खबर भी आप कर सकते हैं नजदीक की जगह पर जैसे पानी जैसे कंपनी में इंटरव्यू इन सब जगह पर जहां पर बच्चों का इंटरेस्ट रहता है इसके साथ ही साथ प्राथमिक स्तर शिक्षा को सुधारने के लिए टीचर को बच्चों के लिए क्रिएटिविटी पर ध्यान देना पड़ेगा बच्चों को सब्जेक्ट को इंटरेस्टिंग तरीके चढ़ाना पड़ेगा जब टीचर इंटरेस्टिंग क्रिकेट पर आएगा बच्चा उसमें इंटरेस्ट लेगा तो सब्जेक्ट में इंटरेस्ट आ जाएगा और इंटरेस्टेड तरीके से टीचर बच्चों को पड़ेगा इसी माध्यम से शिक्षा का उठता है

aapka prashna hai ki bharat me jo prathmik sthar hai usme shiksha ka sthar sahi nahi hai behtar nahi hai aur prathmik sthar ki shiksha ko behtar karne ke liye kya kya kiya ja sakta hai aap bahut hi accha prashna hai aapka ki prathmik sthar me shiksha ka sthar nahi hai iske liye char paanch cheezen hum kar sakte hain sabse pehli cheez acche adhyapakon ki niyukti agar wapas acche staff rahenge acche adhyapak honge toh uske madhyam se baccho ko padha sakte acche tarike se dusri cheez niyukti se pehle unka behtareen tarike se interview hona chahiye ki aapke madhyam se bacche ko kaise kaise hum padha sakte hain behtareen tarika kya ho sakta hai jo teacher sabse accha accha tarika batao uttar ke teachers ko aap vidyalaya me bheje aur rakhen isi cheez prathmik sthar par baccho ko hero tarike se padhai ke ki bacche kisi bhi cheez ko teen tarike se sikhate hain ek maukhik dosa likhit teesra ka naitik matlab vaah body language se aur chautha hota hai vijulaijeshan chijon ko dekh kar ke toh aap bacche ko pare maukhik samjhaiye usko nahi sunana hai usko likhvai hai doosra teesra usko dikhaiye ki beta kaise hota hai chota usko kainesthetik matlab body ke tarike se body movement kara karke usko chijon ko dikha karke samjhaiye jisse baccho ka sthar accha hoga prathmik sthar ka ucch shiksha ka sthar accha hoga abhi cheez hai ki schoolon me creativity karai jaaye subject ko lekar ke baccho ko dikhaya jaaye aur baccho ko bhraman karaya jaaye sach me khabar bhi aap kar sakte hain nazdeek ki jagah par jaise paani jaise company me interview in sab jagah par jaha par baccho ka interest rehta hai iske saath hi saath prathmik sthar shiksha ko sudhaarne ke liye teacher ko baccho ke liye creativity par dhyan dena padega baccho ko subject ko interesting tarike chadhana padega jab teacher interesting cricket par aayega baccha usme interest lega toh subject me interest aa jaega aur interested tarike se teacher baccho ko padega isi madhyam se shiksha ka uthata hai

आपका प्रश्न है कि भारत में जो प्राथमिक स्तर है उसमें शिक्षा का स्तर सही नहीं है बेहतर नहीं

Romanized Version
Likes  157  Dislikes    views  1770
KooApp_icon
WhatsApp_icon
13 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!