फिलिस्तीन देश संयुक्त राष्ट्र संघ के सदस्य नहीं होने का कारण क्या है?...


user

Abhishek Shekher Gaur

Civil Engineer

3:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भेजो फिलिस्तीन है जिसको पैलेस टाइम भी बोला जाता है पहले इस टाइम का जो झगड़ा है वह है जरा हल के साथ जो वहां की वहां का जो एरिया है उसके बारे में यूएन में 2 स्टेट सलूशन दिया गया था कि मतलब दोनों स्टेट्स अलग-अलग देश बन जाएंगे लेकिन इस्राएल ने अपने आप को देश बना लिया और उसको क्योंकि उसे मेजॉरिटी कंट्रीज जो थे वह मेरिका के सपोर्ट वाले थे तो उन सब ने उसको रिकॉग्नाइज भी कर लिया तो अब अब पुलिस टीम के साथ दिक्कत यह है कि फिलीस्तीन को बहुत सारे लोग सपोर्ट नहीं करते हैं और है जीवन का सदस्य प्रॉपर होने के लिए आपको जो वह है मेंबर से उनका सपोर्ट बिजी होता है और उसमें भी जो यूनाइटेड नेशन सिक्योरिटी काउंसिल हाई कोर्ट परीक्षा जो है उसके भी किसी का भी तो नहीं होना चाहिए तो जो वह है यूएसए है वह इस्राएल का बहुत बड़ा सपोर्टर है तो अगर फिलिस्तीन के उसके बारी आएगी की फिलिस्तीन का आएगा कि जो जलाल का एरिया भूमि मूवी मेरा ही है और मुझ को मान्यता दी जाए कंट्री के तौर पर तो अमेरिका नहीं देखा सीधी सी बात तो कर सकता है और अमेरिका भी तो कर देगा तो वह हमेशा रिजेक्ट हो जाएगा इसलिए अभी तक फिलिस्तीन युक्त राष्ट्र नहीं उसमें एक सदस्य नहीं बन पाया क्योंकि उसको ऐसे स्टेट एंट्री रिकॉग्नाइजिंग करते बहुत सारे लोग बहुत सारे कंट्रीज जो है एक मैसेज नहीं करते हैं लेकिन आपको सपोर्ट चाहिए होता है जब कश्मीर रोटी सपोर्ट होता तब आप जाकर एक दावेदारी पेश करते हैं फिर आपके सामने यूनाइटेड नेशन सकते काउंसिल में अगर कोई विरोध नहीं करता भी तो नहीं करता तब आप एक्सेप्ट कर लिया जाते हैं तो यह दिक्कत है फिलिस्तीन के साथ और फिलिस्तीन में इसलिए भी बहुत ज्यादा विरोध रहा है लेकिन बेस्ट कंट्री इज वेस्ट जो कंट्रीज है वह अगर आप हथियार उठा लेते हैं और स्पेशली उनके साथ 40 घंटे इसके खिलाफ तो वह लोग बहुत हॉस्टल हो जाते हैं मतलब फिर वह आप को आड़े हाथों लेते हैं जैसे ईरान ईरान के साथ अमेरिका की ठीक चल रही थी लेकिन जैसे ही ईरान में जो क्रांति आए उसके बाद वह इस्लामिक एजेंडा आगे उनके अंडर तुरंत अमेरिका के लिए वह दुश्मन जैसा हो गया और फिर इस इजरायल के ऊपर हमला करने की बात कर दी गई रामसेतु इस्राएल को तो बहुत अच्छा दोस्त मानता है मेरे को तो फिर उसके पूरे विरोध में आ गया आज रात और अमेरिका की पूरी दुश्मनी आप बताइए तो यह चीजें बहुत मैटर करती है और यूनाइटेड नेशन सिक्योरिटी काउंसिल के सुरक्षा परिषद के 2 मेंबर हैं वह बहुत मैटर करते हैं इंडिया अभी यूनाइटेड नेशन सिक्योरिटी काउंसिल का मेंबर इसीलिए नहीं बन पा रहा है क्योंकि चाइना है उसमें चाहे रसिया इंडिया को हां कर देगा बाकी सब खा कर देंगे लेकिन चाइना में कभी नहीं करेगा इंडिया को यूनाइटेड नेशन सिक्योरिटी काउंसिल नेशनल सिक्योरिटी काउंसिल मेरी बन पाएगा क्योंकि वहां पर भी वही चीज आ जाएगी जैसे फिलिस्तीन के लिए मेंबर बनने में दिक्कत है हमारे लिए यूनाइटेड नेशन सिक्योरिटी काउंसिल बाद जाने में दिक्कत है कि उसमें भी जो मेंबर से यूनाइटेड सिक्योरिटी काउंसिल इन यूनाइटेड नेशन सिक्योरिटी काउंसिल उनकी ऊंचाई होती है उसमें जो हमेशा कर देगा को नहीं आने देंगे तो फ्री हो ही नहीं सकता थैंक यू

bhejo philistine hai jisko Palace time bhi bola jata hai pehle is time ka jo jhagda hai vaah hai zara hal ke saath jo wahan ki wahan ka jo area hai uske bare me un me 2 state salution diya gaya tha ki matlab dono states alag alag desh ban jaenge lekin israel ne apne aap ko desh bana liya aur usko kyonki use mejariti countries jo the vaah merika ke support waale the toh un sab ne usko rikagnaij bhi kar liya toh ab ab police team ke saath dikkat yah hai ki filistin ko bahut saare log support nahi karte hain aur hai jeevan ka sadasya proper hone ke liye aapko jo vaah hai member se unka support busy hota hai aur usme bhi jo united nation Security council high court pariksha jo hai uske bhi kisi ka bhi toh nahi hona chahiye toh jo vaah hai usa hai vaah israel ka bahut bada supporter hai toh agar philistine ke uske baari aayegi ki philistine ka aayega ki jo JALAAL ka area bhoomi movie mera hi hai aur mujhse ko manyata di jaaye country ke taur par toh america nahi dekha seedhi si baat toh kar sakta hai aur america bhi toh kar dega toh vaah hamesha reject ho jaega isliye abhi tak philistine yukt rashtra nahi usme ek sadasya nahi ban paya kyonki usko aise state entry rikagnaijing karte bahut saare log bahut saare countries jo hai ek massage nahi karte hain lekin aapko support chahiye hota hai jab kashmir roti support hota tab aap jaakar ek davedari pesh karte hain phir aapke saamne united nation sakte council me agar koi virodh nahi karta bhi toh nahi karta tab aap except kar liya jaate hain toh yah dikkat hai philistine ke saath aur philistine me isliye bhi bahut zyada virodh raha hai lekin best country is west jo countries hai vaah agar aap hathiyar utha lete hain aur speshli unke saath 40 ghante iske khilaf toh vaah log bahut hostel ho jaate hain matlab phir vaah aap ko ade hathon lete hain jaise iran iran ke saath america ki theek chal rahi thi lekin jaise hi iran me jo kranti aaye uske baad vaah islamic agenda aage unke under turant america ke liye vaah dushman jaisa ho gaya aur phir is israel ke upar hamla karne ki baat kar di gayi ramsetu israel ko toh bahut accha dost maanta hai mere ko toh phir uske poore virodh me aa gaya aaj raat aur america ki puri dushmani aap bataiye toh yah cheezen bahut matter karti hai aur united nation Security council ke suraksha parishad ke 2 member hain vaah bahut matter karte hain india abhi united nation Security council ka member isliye nahi ban paa raha hai kyonki china hai usme chahen rasiya india ko haan kar dega baki sab kha kar denge lekin china me kabhi nahi karega india ko united nation Security council national Security council meri ban payega kyonki wahan par bhi wahi cheez aa jayegi jaise philistine ke liye member banne me dikkat hai hamare liye united nation Security council baad jaane me dikkat hai ki usme bhi jo member se united Security council in united nation Security council unki unchai hoti hai usme jo hamesha kar dega ko nahi aane denge toh free ho hi nahi sakta thank you

भेजो फिलिस्तीन है जिसको पैलेस टाइम भी बोला जाता है पहले इस टाइम का जो झगड़ा है वह है जरा ह

Romanized Version
Likes  113  Dislikes    views  3767
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!