क्या गस्त लगाना जरुरी था?...


user

Awdhesh Singh

Former IRS, Top Quora Writer, IAS Educator

1:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

स्वरुप में आया हुआ है यह तो बहुत ही ज्यादा नुकसान देह है और मैं समझता हूं कि कहीं न कहीं जब राजनेता और आजकल के जो इकोनॉमिक्स इस बात को विचार करेंगे तो यह जरुर पाएंगे कि शायद जो इंडियन इकॉनमी बिना जीएसटी के चल रही थी वह इससे बेहतर इकॉनमी थी लेकिन अब जीएसटी आने के बाद में उसको वापस लेना तो मुश्किल है इसलिए बहुत जरूरी है कि जीएसटी के अंदर बहुत तेजी से सुधार की ताकि जीएसटी एक देश के लिए लाभ रोटीका बने और देश की उन्नति में सहायक हो धन्यवाद

swarup mein aaya hua hai yah toh bahut hi zyada nuksan deh hai aur main samajhata hoon ki kahin na kahin jab raajneta aur aajkal ke jo economics is baat ko vichar karenge toh yah zaroor payenge ki shayad jo indian economy bina gst ke chal rahi thi vaah isse behtar economy thi lekin ab gst aane ke baad mein usko wapas lena toh mushkil hai isliye bahut zaroori hai ki gst ke andar bahut teji se sudhaar ki taki gst ek desh ke liye labh rotika bane aur desh ki unnati mein sahayak ho dhanyavad

स्वरुप में आया हुआ है यह तो बहुत ही ज्यादा नुकसान देह है और मैं समझता हूं कि कहीं न कहीं ज

Romanized Version
Likes  43  Dislikes    views  1041
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Dr. Chinmaya Behera

Eco.,Fin., Pol.,life.,&career

0:09

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां जेस्ट लगाना जरूरी था क्योंकि 1 कंट्री वन मार्केट टैक्स

haan zest lagana zaroori tha kyonki 1 country van market tax

हां जेस्ट लगाना जरूरी था क्योंकि 1 कंट्री वन मार्केट टैक्स

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  420
WhatsApp_icon
user

CA. Ankush Sharma

Chartered Accountant

1:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए जहां तक मैं समझता हूं जीएसटी लगाना जरूरी था या नहीं यह बहुत अच्छा सवाल है और जीएसटी लगाना मेरे मत से सही है उसका एक बहुत बड़ा बड़ा कारण है कि पहले कौन किसी भी चीज में किसी भी काम में जितनी ज्यादा कंप्लीट कॉम्प्लिकेशंस होंगे जितनी ज्यादा कंपलेक्सिटी होगी वह उसमें उतना ही ज्यादा फसने की संभावना रहती है जैसे जीएसटी के पहले बहुत सारे टैक्सेस थे इतने टैक्सेस थे कि कई बार भूल लगाने वाला भी भूल जाता था कि कितने टैक्स एस ए टूल सब को हटाकर सिर्फ एक टैक्स लगाना जिसमें सब किसी भी वस्तु का मूल्य एक ही हो कि हिंदुस्तान के किसी भी कोने में यह सोचकर जीएसटी लाया गया जिसका वन नेशन वन टैक्स किसे कहा गया तो यह जीएसटी लगाना एक सरलीकरण की ओर अग्रसर होना है हम जीएसटी लगाने से सारे टैक्स ओं को मर्ज करके एक टैक्स बनाया गया जिससे टेक्स्ट के रेट में भी सरलीकरण हुआ और उसकी प्रोसेस में विसरली करना होगा जिसे आम आदमी बिजनेस जो है उसको ज्यादा कॉम्प्लिकेशंस में अंदर जाने की जरूरत नहीं है बहुत ही सरल समझने में है जीएसटी एक सिंपल रेट है जीएसटी के कुछ 4 रेट है जीएसटी के जो सिंपल टैक्स लगाओ और उसका क्रेडिट आप ले सकते हो तो मेरी समझ से जीएसटी सरलीकरण और बिजनेस को बढ़ाने के लिए बहुत फायदेमंद होगा हालांकि किसी भी चीज कोई भी नई चीज इंप्लीमेंट होती है तो उसको इंप्लीमेंट होने में समय लगता है उतना समय हमें उसके लिए देना पड़ेगा

dekhie chahiye jaha tak main samajhata hoon gst lagana zaroori tha ya nahi yeh bahut accha sawal hai aur gst lagana mere mat se sahi hai uska ek chahiye bahut bada bada kaaran hai ki pehle kaon kisi bhi cheez mein kisi bhi kaam mein jitni zyada complete kamplikeshans honge jitni zyada kampaleksiti hogi wah usamen chahiye utana chahiye hi zyada fasane ki sambhavna rehti hai jaise gst ke pehle bahut sare taxes the itne taxes the ki kai baar bhul lagane vala bhi bhul jata tha ki kitne tax s a tool sab ko hatakar sirf ek chahiye tax lagana jisme sab kisi bhi vastu ka chahiye mulya ek chahiye hi ho ki Hindustan ke kisi bhi kone mein yeh sochkar gst laya gaya jiska van nation van tax kise kaha gaya to yeh gst lagana ek chahiye saralikaran ki oar agrasar hona hai hum gst lagane se sare tax on ko merge karke ek chahiye tax banaya gaya jisse text ke rate mein bhi saralikaran hua aur uski process mein visarali karna hoga jise aam aadmi business jo hai usko zyada kamplikeshans mein andar jaane ki zarurat nahi hai bahut hi saral samjhne mein hai gst ek chahiye simple rate hai gst ke kuch 4 rate hai gst ke jo simple tax lagao aur uska credit aap le sakte ho to meri samajh se gst saralikaran aur business ko badhane ke liye bahut faydemand hoga halaki kisi bhi cheez koi bhi nayi cheez implement hoti hai to usko implement hone mein samay lagta hai utana chahiye samay hume uske liye dena padega

देखिए जहां तक मैं समझता हूं जीएसटी लगाना जरूरी था या नहीं यह बहुत अच्छा सवाल है और जीएसटी

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  487
WhatsApp_icon
user

Vikas Singh

Political Analyst

1:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां जीएसटी लगाना हमारे देश में बहुत ही जरूरी था क्योंकि यह गुड्स एंड सिंपल टैक्स है यह गुड्स एंड सर्विस टैक्स लोग इसे कहते हैं मैं कहता हूं कि गुड्स एंड सिंपल टैक्स है और टैक्स के दायरे में सबको लाना बहुत जरूरी है जिससे कि हमारे देश में काफी काम होगा हमारा देश काफी आगे बढ़ेगा जो विकासशील देश के नाम से हमारा देश जाना जाता था आज वह विकसित हो रहा है और एक दिन हमारा देश फिर से विकसित देश बोला जाएगा इससे क्या है कि बड़े बड़े लोग बड़े बड़े बिजनेसमैन टैक्स के दायरे में आ गए हैं चोरी बिल्कुल बंद हो गई है पूरी तो बंद नहीं हुई है लेकिन धीरे-धीरे चोरी बंद हो रही है चोरी पर लगाम लग रही और जीएसटी आने से बहुत सारी संभावनाएं बढ़ गई है जिससे कि हमारा देश उन्नति कर सकता है हमारा देश आगे बढ़ सकता इसलिए जीएसटी लगाना बहुत ही जरूरी था और इसका फायदा हमारे देश को मिलता है आज राजस्व अधिकार है और बहुत सारे जो चोरी होती थी उस चोरी पर रोक लग गई है और जाली नोट का जो कारोबार हुआ करता था पहले वह सब कारोबार बंद हो गया है इसके माध्यम से धन्यवाद

ji haan gst lagana hamare desh mein bahut hi zaroori tha kyonki yah goods and simple tax hai yah goods and service tax log ise kehte hain main kahata hoon ki goods and simple tax hai aur tax ke daayre mein sabko lana bahut zaroori hai jisse ki hamare desh mein kaafi kaam hoga hamara desh kaafi aage badhega jo vikasshil desh ke naam se hamara desh jana jata tha aaj vaah viksit ho raha hai aur ek din hamara desh phir se viksit desh bola jaega isse kya hai ki bade bade log bade bade bussinessmen tax ke daayre mein aa gaye hain chori bilkul band ho gayi hai puri toh band nahi hui hai lekin dhire dhire chori band ho rahi hai chori par lagaam lag rahi aur gst aane se bahut saree sambhavnayen badh gayi hai jisse ki hamara desh unnati kar sakta hai hamara desh aage badh sakta isliye gst lagana bahut hi zaroori tha aur iska fayda hamare desh ko milta hai aaj rajaswa adhikaar hai aur bahut saare jo chori hoti thi us chori par rok lag gayi hai aur jaali note ka jo karobaar hua karta tha pehle vaah sab karobaar band ho gaya hai iske madhyam se dhanyavad

जी हां जीएसटी लगाना हमारे देश में बहुत ही जरूरी था क्योंकि यह गुड्स एंड सिंपल टैक्स है यह

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  378
WhatsApp_icon
user

Rishav

Chartered Accountant

0:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीएसटी फॉर जुलाई 2017 से आया था वो काफी मतलब वेट के बाद इंप्लीमेंट हुआ था और उस आफ्टर 10 ईयर्स जब उसको मतलब कंसेप्ट किया गया था आइडिया को आफ्टर लॉट ऑफ ही कप्स मतलब फाइनली 4 जुलाई को आया है वह अभी भी उसमें काफी चेंजेज मतलब इंप्रोवाइजेशन हो रहा है बट से गोइंग हवेली डायरेक्शन टू मेक आइस नवमी माता टेंपल

gst for july 2017 se aaya tha vo kaafi matlab wait ke baad implement hua tha aur us after 10 years jab usko matlab concept kiya gaya tha idea ko after Lot of hi cups matlab finally 4 july ko aaya hai vaah abhi bhi usme kaafi changes matlab improvisations ho raha hai but se going haweli direction to make ice navami mata temple

जीएसटी फॉर जुलाई 2017 से आया था वो काफी मतलब वेट के बाद इंप्लीमेंट हुआ था और उस आफ्टर 10 ई

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  475
WhatsApp_icon
user

CA Vijay Agrawal

Chartered Accountant

0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह जीएसटी लालचंद कोड एंड जीएसटी के अभी क्या हो रहा है कि पहले हमें देना पड़ता था उसी ताजोबैक्टम प्लांट

yeh gst lalchand code end gst ke abhi kya ho raha hai ki pehle humein dena padta tha usi tajobaiktam plant

यह जीएसटी लालचंद कोड एंड जीएसटी के अभी क्या हो रहा है कि पहले हमें देना पड़ता था उसी ताजोब

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  413
WhatsApp_icon
user

Neetu Saxena

Chartered Accountant

0:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ना जी मुझे लगता है कि जैसे लगाना बिल्कुल जरूरी था क्योंकि जहां पर हमारे पास इतने सारे टैक्सटाइल को पता भी नहीं है कि कर रहे थे जब से लोगों को प्रॉब्लम होती

na G mujhe lagta hai ki jaise lagana bilkul zaroori tha kyonki jaha par hamare paas itne sare taiksatail ko pata bhi nahi hai ki kar rahe the jab se logo ko problem hoti

ना जी मुझे लगता है कि जैसे लगाना बिल्कुल जरूरी था क्योंकि जहां पर हमारे पास इतने सारे टैक्

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  460
WhatsApp_icon
user

Ajay Sinh Pawar

Founder & M.D. Of Radiant Group Of Industries

3:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या जीएसटी लगाना जरूरी था हमारे यहां पर भारत देश में अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग तरह की कर दो शादी एक को सेंट्रल से सीएसटी स्पोर्ट्स और दूसरा राज्य का सेल टैक्स बाद न्यू बैट बॉल वैल्यू एडीसन और वैल्यू एडिशन टैक्स था वह हर एक राज में अलग लगता एक ही चीज पर समय लिए गुजरात में 4% था तो उत्तर प्रदेश में 5% था और पश्चिम बंगाल में 6% अलग अलग अलग अलग से अमल में ताकि आम जनता को 1 साल की थी सेंट्रल सेल्स टैक्स वेट वैल्यूएशन तक उसे वापस सेवा करने की सर्विस टैक्स देना पड़ता सब करो को मिलाकर बुक्स एंड सर्विस टैक्स यानी कि जीएसटी का सरकार ने सावधान किया जो कि बहुत ही अच्छी करती है और विश्व में बहुत से देशों में जीएसटी की व्यवस्था कायम है और बहुत अच्छे से चल रही इसमें राज्य को और केंद्र सरकार दोनों को आधा आधा हिस्सा मिलता है और अंतर राज्य जो चल सकती है उसमें भी केंद्र सरकार एक देश एक टैक्स प्रणाली एक तरह के टैक्स हो जाने से जो माल की हेराफेरी होती थी कि अगर किसी स्टेट में कम है दूसरे में ज्यादा है तो लोग ज्यादा जहां पर हो वहां पर माल भेजते से ज्यादा और वहां पर पब्लिक को ज्यादा महंगा माल यह सब बंद हो गया अब क्योंकि पूरे देश में जहां पर जो बाल बनता है वहां पर जिसका उपयोग कर दिया वह भी वैट प्रणाली में है और सेंट्रल सेक्टर 21 में लाने की चोकर जो है जीएसटी के पास से तेज कुछ चीजों पर जाना है उसे कम करने की जरूरत तो आगे चलते और यह चित्र

kya gst lagana zaroori tha hamare yahan par bharat desh mein alag alag rajyo mein alag alag tarah ki kar do shadi ek ko central se CST sports aur doosra rajya ka cell tax baad new bat ball value edisan aur value edition tax tha vaah har ek raj mein alag lagta ek hi cheez par samay liye gujarat mein 4 tha toh uttar pradesh mein 5 tha aur paschim bengal mein 6 alag alag alag alag se amal mein taki aam janta ko 1 saal ki thi central sales tax wait vailyueshan tak use wapas seva karne ki service tax dena padta sab karo ko milakar books and service tax yani ki gst ka sarkar ne savdhaan kiya jo ki bahut hi achi karti hai aur vishwa mein bahut se deshon mein gst ki vyavastha kayam hai aur bahut acche se chal rahi isme rajya ko aur kendra sarkar dono ko aadha aadha hissa milta hai aur antar rajya jo chal sakti hai usme bhi kendra sarkar ek desh ek tax pranali ek tarah ke tax ho jaane se jo maal ki heraferi hoti thi ki agar kisi state mein kam hai dusre mein zyada hai toh log zyada jaha par ho wahan par maal bhejate se zyada aur wahan par public ko zyada mehnga maal yah sab band ho gaya ab kyonki poore desh mein jaha par jo baal baata hai wahan par jiska upyog kar diya vaah bhi vat pranali mein hai aur central sector 21 mein lane ki choker jo hai gst ke paas se tez kuch chijon par jana hai use kam karne ki zarurat toh aage chalte aur yah chitra

क्या जीएसटी लगाना जरूरी था हमारे यहां पर भारत देश में अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग तरह की क

Romanized Version
Likes  70  Dislikes    views  1405
WhatsApp_icon
user

Deb Ashri

Software Developer

0:26
Play

Likes  9  Dislikes    views  143
WhatsApp_icon
user

Dr.Vishal Saxena

Founder & HOD VSCC

1:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अजीत सिंह शांति मेडिटेशन मैं कहूंगा कि भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए बहुत ही पॉजिटिव साइन है और जो हमारे बहुत ही बिगड़े हुए इनडायरेक्ट टैक्सेस होते थे वहीं पर बहुत ही बखूबी अंजाम दिया है और उससे दुष्कर्म करने उसको कम करने के लिए और गवर्नमेंट करे नहीं बचेगा और यह सारी चीजें कम होगी और मुझे ऐसा लगता है कि उसे भारतीय अर्थव्यवस्था को जरूर लगेगा कोई बड़े शूद्र पैमाने पर आगे लेकर जाएगा बताना जाऊंगा लेटेस्ट में डेवलपमेंट करते हुए 20 सेकंड दिसंबर पर आज हम बात कर रहे हो ना जीएसटी काउंसिल की मीटिंग हो रही है उसने भी कर को बैंड देने के लिए बहुत सारी चीजों को घटाएं के ऊपर लगने वाला जीएसटी थोड़ा कम हुआ है ऊपर लगने वाला देश

ajit Singh shanti meditation main kahunga ki bharatiya arthavyavastha ke liye bahut hi positive sign hai aur jo hamare bahut hi bigade huye indirect taxes hote the wahi par bahut hi bakhubi anjaam diya hai aur usse dushkarma karne usko kam karne ke liye aur government kare nahi bachega aur yeh saree cheezen kam hogi aur mujhe aisa lagta hai ki use bharatiya arthavyavastha ko jarur lagega koi bade shudra paimane par aage lekar jayega batana jaunga latest mein development karte huye 20 second december par aaj hum baat kar rahe ho na gst council ki meeting ho rahi hai usne bhi kar ko band dene ke liye bahut saree chijon ko ghataye ke upar lagne vala gst thoda kam hua hai upar lagne vala desh

अजीत सिंह शांति मेडिटेशन मैं कहूंगा कि भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए बहुत ही पॉजिटिव साइन है

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  281
WhatsApp_icon
user

Jitendra kumar Chopra

Chartered Accountant

1:37
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आएंगे रोज़ डैनी ड सी आर आई मोटर कनेक्शन सर्चिंग जितने भी डेवलपमेंट है काफी देर से आया है उन लोगों ने जीता उसका फायदा उठाया है दिल सॉन्ग प्ले करो अभी क्या हर स्टेट का टेशन डिफरेंट टाइप्स होने के कारण एक यूनिट नहीं होती जीएसटी वोल्टेज रिक्वायर्ड जिस तरीके से जीएसटी हिंदी में टाइपिंग कर चोरी चोरी जब पूरा गीत सेंटीमेंट हो जाएगा तब इसका रिटर्न्स कनेक्शन रिक्वायर्ड है वह हो फाइटिंग का उम्र के बाद आएगा फिक्स टाइम एक्सएनएक्स वीडियोस सर्विस टैक्स और बाइक जो था प्ले सर्विस इंडस्ट्री में कोई भी बंदा तो होगा एक कानपुर नहीं ले सकता था लेकिन अभी जीएसटी के अंदर वह चीज होती है जो उसका कॉस्ट कम पड़ जाता है उसे करो उसके कम होती है तो देखें

aayenge roz danny d si R I motor connection searching jitne bhi development hai kaafi der se aaya hai un logo ne jita uska fayda uthaya hai dil song play karo abhi kya har state ka teshan different types hone ke karan ek unit nahi hoti gst voltage required jis tarike se gst hindi mein typing kar chori chori jab pura geet sentiment ho jaega tab iska returns connection required hai vaah ho fighting ka umr ke baad aayega fix time XNX videos service tax aur bike jo tha play service industry mein koi bhi banda toh hoga ek kanpur nahi le sakta tha lekin abhi gst ke andar vaah cheez hoti hai jo uska cost kam pad jata hai use karo uske kam hoti hai toh dekhen

आएंगे रोज़ डैनी ड सी आर आई मोटर कनेक्शन सर्चिंग जितने भी डेवलपमेंट है काफी देर से आया है उ

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  453
WhatsApp_icon
user

Pratik Aich

Accounting Officer

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इनकम टैक्स फॉर्म करती है याद आती एक के बाद एक फैक्ट्री कॉन्टैक्ट कलेक्शन डाउनलोड

income tax form karti hai yaad aati ek ke baad ek factory contract collection download

इनकम टैक्स फॉर्म करती है याद आती एक के बाद एक फैक्ट्री कॉन्टैक्ट कलेक्शन डाउनलोड

Romanized Version
Likes  42  Dislikes    views  1421
WhatsApp_icon
user

Sourav Bhagat

Career Counselor

0:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पहले क्या था कि अनीता सेंट्रल के पास भी उसके पास पैसा रहेगा एंट्री कृपा से सब काम हो रहा है कुछ भी हो सकता है कि प्रॉब्लम होता है उसको लेकर के आया तो अच्छे प्रॉब्लम

pehle kya tha ki anita central ke paas bhi uske paas paisa rahega entry kripa se sab kaam ho raha hai kuch bhi ho sakta hai ki problem hota hai usko lekar ke aaya toh acche problem

पहले क्या था कि अनीता सेंट्रल के पास भी उसके पास पैसा रहेगा एंट्री कृपा से सब काम हो रहा ह

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  187
WhatsApp_icon
user

Subendu Gope

Accountant

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जितेन टैक्स और सर्विस टैक्स टाइप में बहुत लोग अपना छुपा लेते थे सेंटर सर्विस टैक्स को कैसे छुपाते थे यह जो पहले भी और ट्रांसपोर्ट को सबसे ज्यादा पैसा ट्रांसपोर्ट से ठीक है तो ट्रांसपोर्ट में क्या करते थे कि बिना चालान कभी पार कर देते थे ठीक है और चालान जब तक नहीं होगा तब तक तो एक भी नहीं करना पड़ेगा

jiten tax aur service tax type mein bahut log apna chupa lete the center service tax ko kaise chhupaate the yeh jo pehle bhi aur transport ko sabse zyada paisa transport se theek hai toh transport mein kya karte the ki bina chalan kabhi par kar dete the theek hai aur chalan jab tak nahi hoga tab tak toh ek bhi nahi karna padega

जितेन टैक्स और सर्विस टैक्स टाइप में बहुत लोग अपना छुपा लेते थे सेंटर सर्विस टैक्स को कैसे

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  378
WhatsApp_icon
user

Pawan Thakur

Chartered Accountant

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक ही पोस्टर ने एक ही रतन शाइना एक्सपोर्ट के लिए भी आईटी रिटर्न जाएगी तो डेस्टिनेशन सफाई कर दिया थोड़ा हम वह बात अलग है कि पोटलिया काफी स्लो है

ek hi poster ne ek hi ratan shaina export ke liye bhi it return jayegi toh destination safaai kar diya thoda hum wah baat alag hai ki potliya kaafi slow hai

एक ही पोस्टर ने एक ही रतन शाइना एक्सपोर्ट के लिए भी आईटी रिटर्न जाएगी तो डेस्टिनेशन सफाई क

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  524
WhatsApp_icon
user
0:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डीएसपी 1 लीटर ब्लड होता है वह नहीं मिल रहा है

DSP 1 litre blood hota hai wah nahi mil raha hai

डीएसपी 1 लीटर ब्लड होता है वह नहीं मिल रहा है

Romanized Version
Likes  56  Dislikes    views  990
WhatsApp_icon
user

Ramanatha Shetty

Chartered Accountant

1:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इसमें क्या होता क्या होता है मुंबई में डॉक्टर आनंद सिंह का बॉडी टेंपरेचर भी फ्रेश हो जाता है किस टाइम करोगी हमको और कंट्रोल में से डरना क्या करना ट्रैक्टर फाइट करने का बहुत मुश्किल का काम करेंगे तो लोगों को फायदा

ismein kya hota kya hota hai mumbai mein doctor anand Singh ka body temperature bhi fresh ho jata hai kis time karogi hamko aur control mein se darna kya karna tractor fight karne ka bahut mushkil ka kaam karenge toh logo ko fayda

इसमें क्या होता क्या होता है मुंबई में डॉक्टर आनंद सिंह का बॉडी टेंपरेचर भी फ्रेश हो जाता

Romanized Version
Likes  57  Dislikes    views  984
WhatsApp_icon
user

Abhishek Patel

Chartered Accountant

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अभी कोई जरूरी कौन सी कंट्री में परसेंटेज परसेंटेज इन इंडिया एंड जो दिए थे उसी का पेमेंट कब होगा और जो बिजनेसमैन को भी काफी सारे टैक्स रिटर्न फाइल करने के बारे में जानकारी कल की शुरुआत के दिन होते हैं वहां पर जो कि जो भी तकलीफ हो रही है सबको अच्छे से हेल्प करने वाला

abhi koi zaroori kaun si country mein percentage percentage in india end jo diye the usi ka payment kab hoga aur jo bussinessmen ko bhi kaafi saare tax return file karne ke bare mein jankari kal ki shuruat ke din hote hain wahan par jo ki jo bhi takleef ho rahi hai sabko acche se help karne vala

अभी कोई जरूरी कौन सी कंट्री में परसेंटेज परसेंटेज इन इंडिया एंड जो दिए थे उसी का पेमेंट कब

Romanized Version
Likes  25  Dislikes    views  525
WhatsApp_icon
user

Nimesh Khandelwal

Chartered Accountant

0:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

1 तरीके से यह है का बहुत अच्छा कदम है इंपॉर्टेंट इंपॉर्टेंट स्कीम पता चलेगा कि यह है कि आज इस वजह से आपको एक्सपेंस की क्रेडिट बैलेंस क्रेडिट और उसके इनपुट मिल गया क्या कराते ट्रेडिंग कंसर्न

1 tarike se yeh hai ka bahut accha kadam hai important important scheme pata chalega ki yeh hai ki aaj is wajah se aapko expense ki credit balance credit aur uske input mil gaya kya karate trading kansarn

1 तरीके से यह है का बहुत अच्छा कदम है इंपॉर्टेंट इंपॉर्टेंट स्कीम पता चलेगा कि यह है कि आज

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  204
WhatsApp_icon
user

Rohit Drolia

Accountant

0:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भोजपुरी रोमांटिक टेलीकॉम टॉक विद पेपर में देखा था वह चाहते थे कि उनका टाइम हो अगर मान लीजिए कोई कस्टमर आपका झारखंड वहां से प्रोडक्ट है उसको सही प्रोडक्ट उसे महाकाल

bhojpuri romantic telecom talk with paper mein dekha tha wah chahte the ki unka time ho agar maan lijiye koi customer aapka jharkhand wahan se product hai usko sahi product use mahakal

भोजपुरी रोमांटिक टेलीकॉम टॉक विद पेपर में देखा था वह चाहते थे कि उनका टाइम हो अगर मान लीजि

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  607
WhatsApp_icon
user

Pramod Parmar

CA- Tax and GST

0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बिहार जितेंद्र के लिए बहुत इंपोर्टेंट है पहले एक ही प्रोडक्ट अलग-अलग टैक्स लगते थे तब एक साथ होकर अभी एक ही बताएगा दिल के लिए भी और ग्राहकों के लिए भी

bihar jitendra ke liye bahut important hai pehle ek hi product alag alag tax lagte the tab ek saath hokar abhi ek hi batayega dil ke liye bhi aur grahakon ke liye bhi

बिहार जितेंद्र के लिए बहुत इंपोर्टेंट है पहले एक ही प्रोडक्ट अलग-अलग टैक्स लगते थे तब एक स

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  511
WhatsApp_icon
user

Sandeep Pandey

Marketing Manager

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ईस्टर्न फ्रीवे कंट्री टेस्टी लगता था बैठ लगता था

eastern freeway country tasty lagta tha baith lagta tha

ईस्टर्न फ्रीवे कंट्री टेस्टी लगता था बैठ लगता था

Romanized Version
Likes  23  Dislikes    views  869
WhatsApp_icon
user

Ashok Tambi

Chartered Accountant

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीएसटी के बाद काफी कुछ ठीक हुआ है वीडियो बनाने का तरीका नहीं मिल रहा है भाई का विरोध कर रहे हो कुछ हुआ है ऐसा मैं नहीं मानता

gst ke baad kaafi kuch theek hua hai video banane ka tarika nahi mil raha hai bhai ka virodh kar rahe ho kuch hua hai aisa main nahi manata

जीएसटी के बाद काफी कुछ ठीक हुआ है वीडियो बनाने का तरीका नहीं मिल रहा है भाई का विरोध कर रह

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  429
WhatsApp_icon
user

Prakash Ramvani

Owner, Rudra Consultancy

1:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंपॉर्टेंट इन को अभी इसी में नहीं समझना लेकिन कितना आवेदन हुआ है कि क्या बेनिफिट हो सकता है जीएसटी की वजह से आपको इंपॉर्टेंट को पता चलती है क्या फायदे नुकसान पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने वाले इंपोर्टेंट लेटर्स ओं स्मॉल लैपटॉप डिस्टर्ब हो गया पहले उनके और क्या कीजिए कि मैं आ जाना क्यों जरूरी है अंकित अंकित अंकित इंडिया में जाना जरूरी था

important in ko abhi isi mein nahi samajhna lekin kitna avedan hua hai ki kya benefit ho sakta hai gst ki wajah se aapko important ko pata chalti hai kya fayde nuksan postmortem report aane wali important Letters on small laptop disturb ho gaya pehle unke aur kya kijiye ki main aa jana kyon zaroori hai ankit ankit ankit india mein jana zaroori tha

इंपॉर्टेंट इन को अभी इसी में नहीं समझना लेकिन कितना आवेदन हुआ है कि क्या बेनिफिट हो सकता ह

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  464
WhatsApp_icon
user

Praveen Pandya

Chartered Accountant

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां बहुत अच्छा काम किया है यह गाने एचडी मनमोहन सिंह का समय के बाद में एक बहुत अच्छा लगेगा लोगों को अच्छा तरीका है आर्यन भारत के लिए आ जाएगा अब उल्टा हो रहा है 90% वाइट में काम होने लगा है राजनीति मांगने लगा छोटे से छोटा आदमी बांग्लादेश में इतना बड़ा लोगों को कोई दिक्कत

G haan bahut accha kaam kiya hai yeh gaane hd manmohan Singh ka samay ke baad mein ek bahut accha lagega logo ko accha tarika hai aryan bharat ke liye aa jayega ab ulta ho raha hai 90% white mein kaam hone laga hai rajneeti maangne laga chote se chota aadmi bangladesh mein itna bada logo ko koi dikkat

जी हां बहुत अच्छा काम किया है यह गाने एचडी मनमोहन सिंह का समय के बाद में एक बहुत अच्छा लगे

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  470
WhatsApp_icon
user

Sidarth Bhatia

Chartered Accountant

0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जिस टीम इंडिया के लिए पहुंचे लूनी किसकी सहायक संचालक कृषि टैक्स के अंदर आ गया है इस बच्चे की डीपी बेटा और बढ़ गया है और ब्लॉग रन यह सारे जो कुछ मैंने उनको सहायता करेगा

jis team india ke liye pahuche luni kiski sahayak sanchalak krishi tax ke andar aa gaya hai is bacche ki DP beta aur badh gaya hai aur blog run yeh saare jo kuch maine unko sahayta karega

जिस टीम इंडिया के लिए पहुंचे लूनी किसकी सहायक संचालक कृषि टैक्स के अंदर आ गया है इस बच्चे

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  409
WhatsApp_icon
user

CA Anand Mutha

Chartered Accountant

1:47
Play

Likes  6  Dislikes    views  203
WhatsApp_icon
user

K K Bakliwala

Chartered Accountant

1:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिंदुस्तान इंडिया के लिए जीएसटी बहुत जरूरी कदर एक ऐसा ऐतिहासिक कदम जल्दी आ गया है जिंदगी को नानी को एक तरफ रिवॉल्यूशन लाया था उसके लिए हर एक फ्रेंड टेक्स्ट अटैक डिफरेंट के लिए एक्साइज ड्यूटी से लगता आपके लोकल पेंट लोकल टैक्सी चालक के शब्दों के एक एक टेक्स लगे चाहे वह हिंदुस्तान में कहीं भी हो नानी को वापस लाने के लिए एक रेगुलर इनकम करने के लिए हिंदुस्तान के लिए बहुत जरूरी था बहुत बढ़िया बहुत बढ़िया रिजल्ट रहेंगे

Hindustan india ke liye gst bahut zaroori kadar ek aisa etihasik kadam jaldi aa gaya hai zindagi ko naani ko ek taraf revolution laya tha uske liye har ek friend text attack different ke liye excise duty se lagta aapke local paint local taxi chaalak ke shabdo ke ek ek tax lage chahe wah Hindustan mein kahin bhi ho naani ko wapas lane ke liye ek regular income karne ke liye Hindustan ke liye bahut zaroori tha bahut badhiya bahut badhiya result rahenge

हिंदुस्तान इंडिया के लिए जीएसटी बहुत जरूरी कदर एक ऐसा ऐतिहासिक कदम जल्दी आ गया है जिंदगी क

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  412
WhatsApp_icon
user

Amarish Tiwari

Chartered Accountant

4:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस प्रश्न का उत्तर सीधे तो नहीं दिया जा सकता कि जीएसटी लगाना जरूरी था क्योंकि भारत में पहले से ही एक अच्छी कर व्यवस्था थी मगर वह एक का व्यवस्था नहीं थी वह अनेक कर व्यवस्थाएं थी कि भारत के संघीय ढांचे में बहुत सारे राज्य हैं और हर राज्य अपने अपने हिसाब से कर लगा तथा उसका हानि यह थी कि एक व्यक्ति जो भारत के विभिन्न राज्यों में व्यापार करना चाहता था उसको हर जगह की कर व्यवस्था में कंप्लेंट करना पड़ता था जैसे कोई आदमी दिल्ली में व्यापार करता है मध्यप्रदेश में व्यापार करता है पंजाब में व्यापार करता है तो उसे हर जगह के राज्य में जीएसटी माफ कीजिए वहां जो भी कर व्यवस्था थी उसमें रजिस्ट्रेशन करवाना पड़ता था और उसका अलग अलग तरीके से जो भी कराधान होता था उसका पालन करना पड़ता था यह भौतिक जटिल प्रक्रिया थी उस व्यक्ति को हर राज्य में अपने कंसलटेंट नियुक्त करने पड़ते थे और ऐसे में कई बार बस भी जाते थे और हर राज्य की जो है अलग अलग डिपार्टमेंट के अलग-अलग बैतूल से उनको सामना करना पड़ता था इस स्थिति में हो रहा था कि बहुत सारे जो अनैतिक कार्य हैं रिश्वतखोरी बगैरा यह पनप रही थी तो सरकार ने इन सब खामियों को दूर करते हुए जीएसटी लगाने पर विचार किया जो कि बहुत पहले से चल रहा था अटल बिहारी वाजपेई की सरकार थी उन्होंने इसका प्रावधान लाया था और इसको पूर्ण तरह से लगते लगते अब जाकर नरेंद्र मोदी की सरकार ने एक जुलाई 2017 से कोई कमेंट किया हम यह कह सकते हैं कि जीएसटी लगाना जरूरी तो नहीं था आज यह स्टील खाना बहुत फायदेमंद जरूर रहा लोगों को व्यापार करना बहुत आसान हो गया क्योंकि जीएसटी के जो प्रावधान है उस सारे देश में एक है पहले हर राज्य में अलग-अलग प्रावधान थे मगर अब पूरे देश में एक टेक्स व्यवस्था है और एक वस्तु है तो उस पर हर जगह एक ही रेट शीट पहले एक वस्तु पर हर राज्य में अलग-अलग तरीके से टैक्स होता था तो जहां टैक्स कम होता था लोग वहां से परचेस करने का सोचते थे अब सरकार ने उन सब चीजों पर लगाम लगाते हुए जीएसटी में पूरे देश में एक व्यक्ति पर एक कर की व्यवस्था करती है तो हम यह कह सकते हैं कि जीएसटी व्यापार के लिए बहुत फायदेमंद है और इसमें प्रक्रियाओं को बहुत आसान बना दिया है अब कोई भी बहुराष्ट्रीय कंपनी या कोई भारत की कंपनी जॉब पूरे भारत में व्यापार करना चाहती है उसके लिए व्यापार करना और जो मरकर व्यवस्था है उसका पालन करना बहुत आसान हो गया है

is prashna ka uttar sidhe toh nahi diya ja sakta ki gst lagana zaroori tha kyonki bharat mein pehle se hi ek achi kar vyavastha thi magar vaah ek ka vyavastha nahi thi vaah anek kar vyavasthaen thi ki bharat ke sanghiy dhanche mein bahut saare rajya hain aur har rajya apne apne hisab se kar laga tatha uska hani yah thi ki ek vyakti jo bharat ke vibhinn rajyo mein vyapar karna chahta tha usko har jagah ki kar vyavastha mein complaint karna padta tha jaise koi aadmi delhi mein vyapar karta hai madhya pradesh mein vyapar karta hai punjab mein vyapar karta hai toh use har jagah ke rajya mein gst maaf kijiye wahan jo bhi kar vyavastha thi usme registration karwana padta tha aur uska alag alag tarike se jo bhi karadhan hota tha uska palan karna padta tha yah bhautik jatil prakriya thi us vyakti ko har rajya mein apne consultant niyukt karne padte the aur aise mein kai baar bus bhi jaate the aur har rajya ki jo hai alag alag department ke alag alag betul se unko samana karna padta tha is sthiti mein ho raha tha ki bahut saare jo anaitik karya hain rishwat khori bagaira yah panap rahi thi toh sarkar ne in sab khamiyon ko dur karte hue gst lagane par vichar kiya jo ki bahut pehle se chal raha tha atal bihari vajpayee ki sarkar thi unhone iska pravadhan laya tha aur isko purn tarah se lagte lagte ab jaakar narendra modi ki sarkar ne ek july 2017 se koi comment kiya hum yah keh sakte hain ki gst lagana zaroori toh nahi tha aaj yah steel khana bahut faydemand zaroor raha logo ko vyapar karna bahut aasaan ho gaya kyonki gst ke jo pravadhan hai us saare desh mein ek hai pehle har rajya mein alag alag pravadhan the magar ab poore desh mein ek tax vyavastha hai aur ek vastu hai toh us par har jagah ek hi rate sheet pehle ek vastu par har rajya mein alag alag tarike se tax hota tha toh jaha tax kam hota tha log wahan se purchase karne ka sochte the ab sarkar ne un sab chijon par lagaam lagate hue gst mein poore desh mein ek vyakti par ek kar ki vyavastha karti hai toh hum yah keh sakte hain ki gst vyapar ke liye bahut faydemand hai aur isme prakriyaon ko bahut aasaan bana diya hai ab koi bhi bahuraashtreeya company ya koi bharat ki company job poore bharat mein vyapar karna chahti hai uske liye vyapar karna aur jo markar vyavastha hai uska palan karna bahut aasaan ho gaya hai

इस प्रश्न का उत्तर सीधे तो नहीं दिया जा सकता कि जीएसटी लगाना जरूरी था क्योंकि भारत में पहल

Romanized Version
Likes  40  Dislikes    views  334
WhatsApp_icon
user

Nikhil Ranjan

HoD - NIELIT

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसने क्या जीएसटी लगाना जरूरी था तो आपको बताए जाएंगे देखिए गुड्स एंड सर्विस टैक्स कई सारी कंट्रीज में लगा हुआ ही है और अगर भारत को दूसरी कंट्री के साथ चलना है कदम मिलाकर चलना है तो अगर अभी नहीं लगता तो 5 साल 10 साल बाद लगता लेकिन यह मान के चलिए वह चीज होनी तो है ही है तो सरकार ने कुछ सोच समझकर ही निर्णय लिया है तभी उसको शुरू पहले ही इंप्लीमेंट कर दिया है तो आपको भी अब उससे साथ ही आगे बढ़ी है उसको लेकर आगे बढ़िए ज्यादा अच्छा रहेगा मैं शुभकामनाएं आपके साथ हैं धन्यवाद

kisne kya gst lagana zaroori tha toh aapko bataye jaenge dekhiye goods and service tax kai saree countries mein laga hua hi hai aur agar bharat ko dusri country ke saath chalna hai kadam milakar chalna hai toh agar abhi nahi lagta toh 5 saal 10 saal baad lagta lekin yah maan ke chaliye vaah cheez honi toh hai hi hai toh sarkar ne kuch soch samajhkar hi nirnay liya hai tabhi usko shuru pehle hi implement kar diya hai toh aapko bhi ab usse saath hi aage badhi hai usko lekar aage badhiye zyada accha rahega main subhkamnaayain aapke saath hain dhanyavad

किसने क्या जीएसटी लगाना जरूरी था तो आपको बताए जाएंगे देखिए गुड्स एंड सर्विस टैक्स कई सारी

Romanized Version
Likes  694  Dislikes    views  7045
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
vastu ke gane ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!