कर्क राशि के व्यक्ति की कुंडली में यदि शनि 7वें घर में हो, तो वो उसके विवाहित जीवन को कैसे प्रभावित करता है?...


user

Dr R K Pathak

Astrologer

1:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कुंडली के सातवें घर में बैठा शनि वाले तो विवाह में विलंब कर आता है और विवाह होने के पश्चात भी कंपैटिबिलिटी प्रॉब्लम होती है साथ ही साथ जीवन साथी के शरीर को प्रभावित करता है और साथ ही साथ यह जीवन साथी के साथ तनाव की स्थिति उत्पन्न कर सकता है परंतु इसका पूर्ण विवरण या फल जानने के लिए राशि के अनुसार नहीं बल्कि लग्न के अनुसार दिखाया जाता है कि किस लग्न कौन सी है और सातवें घर में कौन सी राशि जहां शनि बैठा है और शनि की स्थिति कैसी है मित्र हर में है शत्रु घर में है उच्च का है नीच का है किस अवस्था का है इससे पुरानी धारण हो पाएगा अतः पूर्ण जानकारी के लिए आप अपना डेट ऑफ बर्थ टाइम आफ बर्थ प्लेस आफ बर्थ भेजें नाम के साथ तो पूरा विवरण पूरा फलादेश आपको बताया सकता है धन्यवाद

kundali ke satve ghar me baitha shani waale toh vivah me vilamb kar aata hai aur vivah hone ke pashchat bhi kampaitibiliti problem hoti hai saath hi saath jeevan sathi ke sharir ko prabhavit karta hai aur saath hi saath yah jeevan sathi ke saath tanaav ki sthiti utpann kar sakta hai parantu iska purn vivran ya fal jaanne ke liye rashi ke anusaar nahi balki lagn ke anusaar dikhaya jata hai ki kis lagn kaun si hai aur satve ghar me kaun si rashi jaha shani baitha hai aur shani ki sthiti kaisi hai mitra har me hai shatru ghar me hai ucch ka hai neech ka hai kis avastha ka hai isse purani dharan ho payega atah purn jaankari ke liye aap apna date of birth time of birth place of birth bheje naam ke saath toh pura vivran pura faladesh aapko bataya sakta hai dhanyavad

कुंडली के सातवें घर में बैठा शनि वाले तो विवाह में विलंब कर आता है और विवाह होने के पश्चात

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  113
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार मित्रों यहां पर एक यूजर्स का सवाल आया है कर्क राशि के व्यक्ति की कुंडली में सातवें घर में शनि हो तो उसके वैवाहिक जीवन को कैसे प्रभावित करता है

namaskar mitron yahan par ek users ka sawaal aaya hai kark rashi ke vyakti ki kundali me satve ghar me shani ho toh uske vaivahik jeevan ko kaise prabhavit karta hai

नमस्कार मित्रों यहां पर एक यूजर्स का सवाल आया है कर्क राशि के व्यक्ति की कुंडली में सातवें

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  106
WhatsApp_icon
user
0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर उनके बीवी के कुंडली में शनि ग्रह की स्थिति अच्छी है तो उनका जीवन अच्छा रहेगा अच्छे प्रभाव रहेगी

agar unke biwi ke kundali me shani grah ki sthiti achi hai toh unka jeevan accha rahega acche prabhav rahegi

अगर उनके बीवी के कुंडली में शनि ग्रह की स्थिति अच्छी है तो उनका जीवन अच्छा रहेगा अच्छे प्र

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  48
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कर्क राशि वाले कुंडली में शनि सप्तम भाव का अष्टम भाव का स्वामी होता है ऐसे में शनि मार्केट होता है मार्केट शनि सप्तम भाव बैठकर के पत्नी को पीड़ा देता है और पत्नी रोगमुक्त रहेगी धन्यवाद

kark rashi waale kundali me shani saptam bhav ka ashtam bhav ka swami hota hai aise me shani market hota hai market shani saptam bhav baithkar ke patni ko peeda deta hai aur patni rogmukt rahegi dhanyavad

कर्क राशि वाले कुंडली में शनि सप्तम भाव का अष्टम भाव का स्वामी होता है ऐसे में शनि मार्क

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  71
WhatsApp_icon
user
2:09
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सामान्यतः देखा जाता है कि कर्क राशि और सिंह राशि के लोगों का वैवाहिक जीवन कुछ चुनौतियों से भरा हुआ होता है लेकिन चुका अपने शनि की स्थिति सातवें घर में रखी है तो स्पष्ट है कि कर्क राशि के व्यक्ति की कुंडली में यदि शनि सातवें घर में है तो राशि कुंडली के आधार पर व शनि मकर राशि में स्थित होगा और मकर सैनी की खुद की राशि है अतः सप्तम स्थान में शनि स्वच्छता करके स्थापित होता है तो ऐसी स्थिति में व्यक्ति के जीवन में शनि संबंधी व्यवसाय तथा वैवाहिक जीवन कुछ विलंब के साथ और लगभग हम उम्र की अथवा कुछ बड़ी भी हो सकती है कन्या के साथ में विवाह का संकेत देता है कन्या स्वयं जॉब से हो सकती है नौकरी से भी हो सकती है सप्तम स्थान में शिक्षा क्षेत्र की है तो रचित हूं नौकरी व्यक्ति के व्यक्तित्व और जीवन को प्रभावित करती है लेकिन सप्तम शनि उसे एक संपन्न महिला के साथ वैवाहिक जीवन का संकेत स्पष्ट करता है

samanyatah dekha jata hai ki kark rashi aur Singh rashi ke logo ka vaivahik jeevan kuch chunautiyon se bhara hua hota hai lekin chuka apne shani ki sthiti satve ghar me rakhi hai toh spasht hai ki kark rashi ke vyakti ki kundali me yadi shani satve ghar me hai toh rashi kundali ke aadhar par va shani makar rashi me sthit hoga aur makar saini ki khud ki rashi hai atah saptam sthan me shani swachhta karke sthapit hota hai toh aisi sthiti me vyakti ke jeevan me shani sambandhi vyavasaya tatha vaivahik jeevan kuch vilamb ke saath aur lagbhag hum umar ki athva kuch badi bhi ho sakti hai kanya ke saath me vivah ka sanket deta hai kanya swayam job se ho sakti hai naukri se bhi ho sakti hai saptam sthan me shiksha kshetra ki hai toh rachit hoon naukri vyakti ke vyaktitva aur jeevan ko prabhavit karti hai lekin saptam shani use ek sampann mahila ke saath vaivahik jeevan ka sanket spasht karta hai

सामान्यतः देखा जाता है कि कर्क राशि और सिंह राशि के लोगों का वैवाहिक जीवन कुछ चुनौतियों से

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  90
WhatsApp_icon
user

Pt.BRAJESH JI.9827290276

Astrologer,Rashi Ratna & Vastu Visesagya.

2:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां जी राधे कृष्ण राधे कृष्ण अनुसंधान केंद्र के आचार्य रितेश पांडे बात कर रहे हैं आपका प्रश्न उठा कि कर्क राशि की कुंडली हो या कर्क लग्न हो दोनों की कुंडली में सप्तम भाव का स्वामी जो है वह सनी हो जाते क्योंकि 4 कर्क राशि मतलब 44 से सातवीं राशि हो गई 10 मतलब मकर राशि कर्क राशि का सप्तम मकर राशि उस पर स्वयं सनी बैठ गया ऐसा आपका प्रश्न है कि सनी जो है सप्तम भाव में बैठ गया दसवां घर उसका खुद का हो जाएगा तो खुद के घर में जब सनी बैठ जाएगा पति या पत्नी के भाव पर तो वह कर्क राशि वालों को क्या प्रभाव देगा ऐसा का प्रश्न है चलिए ठीक है कर्क राशि मन का कारक ग्रह है और जब भी शनि कर्क राशि के साथ दृष्टि संबंध युति ऐसा योग बना लेता है तो वहां पर बन जाता विष योग कर्क राशि का स्वामी चंद्रमा और शनि मकर राशि का स्वामी जो सत्ता में आएगा ऐसा आपने कहा था यह दोनों आपस में एक दूसरे के परम शत्रु है ठीक है परम शत्रु होने के कारण मन जो है वह पति के तरफ पति जो है सब मकर राशि का स्वर्ग रही होकर बैठ जाएगा तो वह पत्नी के प्रति पूर्ण विश्वास नहीं कर पाएगा और वह पत्नी को प्रताड़ित करने की कोशिश करेगा क्योंकि शनि सप्तम में स्वर्ग रही हो जाएगा कर्क राशि जो है चंद्रमा बहुत कोमल कोमल स्वभाव का है और यह उसका पति उसको बात बात में ऐसी बातें कह देगा जिससे वह उसका जीवन साथी अगर वह महिला है तो विशेष और पुरुषों की दिन में दो चार बार जब तक वह पति या पत्नी के नाम से पीड़ित नहीं होगा वह दिन उसका गुजर नहीं सकता ऐसा जब मकर राशि का स्वामी शनि सप्तम हो जाए और राशि का स्वामी चंद्रमा लग्न में आ जाए तो ऐसा यूपी दोनों के बीच में बनती है कि वह जो है वह उतार-चढ़ाव भरा रहता है अगर कर्क राशि के स्वामी कंप्रोमाइज कर ले उसकी हर बातें लीगल अनलीगल पर हां में हां मिलाई तो वह विवाहित जीवन चल पाएगा अन्यथा दोनों के बीच में ताला क्यों निर्मित होने की शंकाएं प्रबल हो जाती है

haan ji radhe krishna radhe krishna anusandhan kendra ke aacharya ritesh pandey baat kar rahe hain aapka prashna utha ki kark rashi ki kundali ho ya kark lagn ho dono ki kundali me saptam bhav ka swami jo hai vaah sunny ho jaate kyonki 4 kark rashi matlab 44 se satvi rashi ho gayi 10 matlab makar rashi kark rashi ka saptam makar rashi us par swayam sunny baith gaya aisa aapka prashna hai ki sunny jo hai saptam bhav me baith gaya dasvan ghar uska khud ka ho jaega toh khud ke ghar me jab sunny baith jaega pati ya patni ke bhav par toh vaah kark rashi walon ko kya prabhav dega aisa ka prashna hai chaliye theek hai kark rashi man ka kaarak grah hai aur jab bhi shani kark rashi ke saath drishti sambandh yuti aisa yog bana leta hai toh wahan par ban jata vish yog kark rashi ka swami chandrama aur shani makar rashi ka swami jo satta me aayega aisa aapne kaha tha yah dono aapas me ek dusre ke param shatru hai theek hai param shatru hone ke karan man jo hai vaah pati ke taraf pati jo hai sab makar rashi ka swarg rahi hokar baith jaega toh vaah patni ke prati purn vishwas nahi kar payega aur vaah patni ko pratarit karne ki koshish karega kyonki shani saptam me swarg rahi ho jaega kark rashi jo hai chandrama bahut komal komal swabhav ka hai aur yah uska pati usko baat baat me aisi batein keh dega jisse vaah uska jeevan sathi agar vaah mahila hai toh vishesh aur purushon ki din me do char baar jab tak vaah pati ya patni ke naam se peedit nahi hoga vaah din uska gujar nahi sakta aisa jab makar rashi ka swami shani saptam ho jaaye aur rashi ka swami chandrama lagn me aa jaaye toh aisa up dono ke beech me banti hai ki vaah jo hai vaah utar chadhav bhara rehta hai agar kark rashi ke swami compromise kar le uski har batein legal analigal par haan me haan milai toh vaah vivaahit jeevan chal payega anyatha dono ke beech me tala kyon nirmit hone ki shankaen prabal ho jaati hai

हां जी राधे कृष्ण राधे कृष्ण अनुसंधान केंद्र के आचार्य रितेश पांडे बात कर रहे हैं आपका प्

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  192
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत अच्छा प्रश्न पूछा है आपने कर्क राशि के व्यक्ति के जीवन में अगर साहा शनि सातवें वापस अभी तक तो यह होती है और अगर आपने जल्दी कर लिए तो भाई तोबा तोबा हो जाती है मतलब आपका होगा कुछ ठीक है थोड़ी सी थोड़ी ज्यादा सी प्रॉब्लम स्ट्रेट होती है क्योंकि सातवें का सनी अच्छा नहीं माना जाता और यदि आपने शादी से पहले और आप के लिए थोड़ी सी देर से पहले अगर करते हो तो और कितने अच्छे ग्रहों की दृष्टि है यह बिना देखे हम कुछ भी आप मुझे मैसेज कीजिए हमारे नंबर पर अगली मैसेज कीजिए आपको पूरी तरीके की जानकारी में देने की कोशिश करूंगा बेस्ट ऑफ लक

bahut accha prashna poocha hai aapne kark rashi ke vyakti ke jeevan me agar saha shani satve wapas abhi tak toh yah hoti hai aur agar aapne jaldi kar liye toh bhai toba toba ho jaati hai matlab aapka hoga kuch theek hai thodi si thodi zyada si problem straight hoti hai kyonki satve ka sunny accha nahi mana jata aur yadi aapne shaadi se pehle aur aap ke liye thodi si der se pehle agar karte ho toh aur kitne acche grahon ki drishti hai yah bina dekhe hum kuch bhi aap mujhe massage kijiye hamare number par agli massage kijiye aapko puri tarike ki jaankari me dene ki koshish karunga best of luck

बहुत अच्छा प्रश्न पूछा है आपने कर्क राशि के व्यक्ति के जीवन में अगर साहा शनि सातवें वापस अ

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  98
WhatsApp_icon
user

Krishna Kumar Gupta

Astrologer And Tantrokt Vastu Consultant

0:39
Play

Likes  89  Dislikes    views  1441
WhatsApp_icon
play
user

Likes  2  Dislikes    views  60
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जा तन की पत्रिका के विषय में आप पहुंच रहे हो यदि स्थानीय साथ में घर में हो तो जातक का विवाह विलंब से होता है एवं व्यावहारिक जीवन में कहीं ना कहीं करें

ja tan ki patrika ke vishay me aap pohch rahe ho yadi sthaniye saath me ghar me ho toh jatak ka vivah vilamb se hota hai evam vyavaharik jeevan me kahin na kahin kare

जा तन की पत्रिका के विषय में आप पहुंच रहे हो यदि स्थानीय साथ में घर में हो तो जातक का विवा

Romanized Version
Likes  23  Dislikes    views  247
WhatsApp_icon
user
0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ओम नमो नारायण आपका प्रश्न सही पर पूरी कुंडली देखे बिना इसका अनुमान नहीं लगाया जा सकता इसके लिए लखना कुंडली की देखनी पड़ती है और 9 मार्च को

om namo narayan aapka prashna sahi par puri kundali dekhe bina iska anumaan nahi lagaya ja sakta iske liye lakhna kundali ki dekhni padti hai aur 9 march ko

ओम नमो नारायण आपका प्रश्न सही पर पूरी कुंडली देखे बिना इसका अनुमान नहीं लगाया जा सकता इसक

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  47
WhatsApp_icon
user
0:47
Play

Likes  150  Dislikes    views  976
WhatsApp_icon
user

Ravi Soni

Astrologer

0:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सनी साथ में घर में कर्क राशि में शिवा राशि का होता है तो मैंने थोड़ा लेट कर आता है तो

sunny saath mein ghar mein kark rashi mein shiva rashi ka hota hai toh maine thoda let kar aata hai toh

सनी साथ में घर में कर्क राशि में शिवा राशि का होता है तो मैंने थोड़ा लेट कर आता है तो

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  155
WhatsApp_icon
play
user

Daivagya Krishna Shastri

Astrologer, Ved, Bhagvat Mahapuran

0:30

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कर्क राशि की कुंडली में यदि लग्न कर्क है तो सातवें घर में शनि बैठने का मतलब यह है कि शनि तृतीय और सप्तम भाव एवं दशम भाव को पूर्ण दृष्टि से देखता है जिसका प्रभाव यह होगा कि तृतीय स्थान हो गया दशम स्थान पिता पक्ष कमजोर होगा राज्य पक्ष कमजोर होगा पैतृक पक्ष कमजोर होगा स्वास्थ्य से पेट संबंधी विकार होंगे और भाइयों से मेलापक कम रहेगा

kark rashi ki kundali mein yadi lagn kark hai toh satave ghar mein shani baithne ka matlab yah hai ki shani tritiya aur saptam bhav evam dasham bhav ko purn drishti se dekhta hai jiska prabhav yah hoga ki tritiya sthan ho gaya dasham sthan pita paksh kamjor hoga rajya paksh kamjor hoga paitrik paksh kamjor hoga swasthya se pet sambandhi vikar honge aur bhaiyon se melapak kam rahega

कर्क राशि की कुंडली में यदि लग्न कर्क है तो सातवें घर में शनि बैठने का मतलब यह है कि शनि त

Romanized Version
Likes  123  Dislikes    views  2013
WhatsApp_icon
user

Neeraj Kumar

Astrologer & Software Engineer

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कर्क राशि वाले जातकों के लिए या किसी भी राशि वाले जातकों को अगर सैटर्न सेवंथ हाउस में हो तो यह निश्चित तौर पर पति पत्नी में दूरियां लाता है मनमुटाव उत्पन्न करता है और मिसअंडरस्टैंडिंग ट्रेड करता है या मिसअंडरस्टैंडिंग किस लेवल तक होगी या या सिपरेशन किसके लेवल तक होगा या कुंडली थे कंपलीट स्टडी के बाद ही बताई जा सकती है धन्यवाद

kark rashi waale jatakon ke liye ya kisi bhi rashi waale jatakon ko agar saturn sevanth house mein ho toh yah nishchit taur par pati patni mein duriyan lata hai manmutaav utpann karta hai aur misunderstanding trade karta hai ya misunderstanding kis level tak hogi ya ya separation kiske level tak hoga ya kundali the complete study ke baad hi batai ja sakti hai dhanyavad

कर्क राशि वाले जातकों के लिए या किसी भी राशि वाले जातकों को अगर सैटर्न सेवंथ हाउस में हो त

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  168
WhatsApp_icon
user

Anil Kumar Tiwari

Yoga, Meditation & Astrologer

1:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कर्क राशि के व्यक्ति की कुंडली में यदि सातवें घर में शनि हो तो उसके विवाहित जीवन को कैसे प्रभावित करेगा उसके विवाह में देरी कराएगा सामान्य उम्र की से अधिक आयु में शादी होगी पति या पत्नी जो भी होगा उसका शरीर क्रश होगा हल्का सावला होगा विवाह में अड़चनें बहुत ज्यादा आएंगे पत्नी या पति बीमार रहने के योग हैं विवाद उठने के योग रहेंगे इसका एक ही उपाय है कि विवाह ऐसी जगह किया जाए जहां कहीं पहले उसका एक रिश्ता हो चुका हो या कोई रिश्ता छूट चुका हो किसी कारण बस इस प्रकार विवाह यदि ऐसी पत्तियों में किया जाता है तो सफल रहता है विवाह जल्दी नहीं होगा विवाह लेट होगा जल्दी विवाह होने में दिक्कत परेशानी आएगी जितना विवाह लेट होगा उतना शुभ रहेगा और कोई ऐसा रिश्ता जिसका विवाह एक बार हो चुका है उससे यदि किया जाएगा पुनर्विवाह इसका तो यह ज्योतिष की दृष्टि से शुभ कहा जा सकता है धन्यवाद

kark rashi ke vyakti ki kundali mein yadi satave ghar mein shani ho toh uske vivaahit jeevan ko kaise prabhavit karega uske vivah mein deri karaega samanya umr ki se adhik aayu mein shadi hogi pati ya patni jo bhi hoga uska sharir crush hoga halka saavala hoga vivah mein adchanein bahut zyada aayenge patni ya pati bimar rehne ke yog hain vivaad uthane ke yog rahenge iska ek hi upay hai ki vivah aisi jagah kiya jaaye jahan kahin pehle uska ek rishta ho chuka ho ya koi rishta chhut chuka ho kisi karan bus is prakar vivah yadi aisi pattiyo mein kiya jata hai toh safal rehta hai vivah jaldi nahi hoga vivah let hoga jaldi vivah hone mein dikkat pareshani aaegi jitna vivah let hoga utana shubha rahega aur koi aisa rishta jiska vivah ek baar ho chuka hai usse yadi kiya jaega punarvivah iska toh yah jyotish ki drishti se shubha kaha ja sakta hai dhanyavad

कर्क राशि के व्यक्ति की कुंडली में यदि सातवें घर में शनि हो तो उसके विवाहित जीवन को कैसे प

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  534
WhatsApp_icon
user

ज्योतिष गुरु आचार्य शैलेश उपाध्याय

पाराशर ज्योतिष कार्यालय,हरहुआ,वाराणसी।

9:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हरि ओम नमो नारायण जय श्री कृष्णा मैं हूं ज्योतिष गुरु आचार्य शैलेश उपाध्याय वाराणसी से आप सब जने प्रश्न किया है कर्क राशि के व्यक्ति की कुंडली में यदि शनि सातवें घर में हो तो वह उसकी विवाहित जीवन को कैसे प्रभावित करता है प्रश्न अच्छा है और सर्वविदित है सबके लिए सर्वजन है और मैं आपको बता दूं हां अगर आपको व्यक्तिगत अपने इससे संबंधित अगर उद्धार आयु तक जानना चाहते हैं तो उसके लिए आप जन्म दिनांक जन्म समय जन्म स्थान देश करके इसकी गहराई तक आप जा सकते हैं पूछ सकते हैं और नहीं तो आपकी कुंडली होगी या जन्मांग चक्र देश करके भी प्राप्त कर सकते हैं देखिए मैं आपको बता दूं सातवें घर में जब शनि होता है तो एक श्लोक आता है इस जन्म परीक्षण में आपको बस कर रहा हूं उसके बाद मैं भी अभी बता दे रहा हूं आप जो प्रश्न पूछा गया है कि विश्राम भूतम विनंती जायं सूर्य सप्तम अगस्त रो बांधते पुनर अदम बदरा महीना मित्र स्वयंसेवी पुतास रिद्धि अर्थात कहा गया है कि यदि सातवें घर में शनि जिसके हो बैठे हो स्थित हो तो व्यक्ति गुणवती पत्नी का नाश करता होता है रोगी हंकारी भूमिहीन तथा अपने मित्र को मित्रों में शत्रुता लगाने वाला होता है मतलब दो मित्रों में आपसे गिराने वाला 77 कराने वाला होता यह तो जनरल इलेक्शन हुआ मैं आपको बता दूं आप ने बोला है कर्क राशि तो कर्क राशि से सातवें में अगर शनि होता है तो चुकी केंद्र में शनि है और स्वयं अपनी राशि में स्थित री बैठा हुआ है तो इसका परिणाम यह होता है कि गृहस्थ के अंदर जो है एक मार्ग में विशेष चमत्कार और रोजी रोजगार मार्ग में शक्ति सामर्थ दिलाता है तथा आयु स्त्री अस्थान में भी शक्ति सामर्थ प्रदान करते लेकिन अष्टमेश होने के कारण स्त्री और रोजगार के मार्ग में कठिनाइयां प्राप्त करते हैं और गोगा अधीक्षकों की विशेषता इसी प्रकार शनि की तीसरी दृष्टि वह भाग्य स्थान को देख रहा है पढ़ रहा है और गुरु का स्थान है मीन की राशि है उसको देखा है अतः दिवस के संबंधों से भाग्य में कुछ त्रुटि अनुभव करेगा और धर्म की श्रद्धा में कुछ कमी आएगी और सातवीं शत्रु दृष्टि जो है दें का स्थान मतलब लगन को जो देख रहा है चंद्रमा की कर्क राशि को देखा है तो ऐसे जातक तो ऐसे कर्क कर्क राशि वाले कर्क लग्न वाले सुंदर होते हैं सुंदर स्वरूप कौन होते हैं परंतु अगर पापा ग्रहों की दृष्टि हो जाती है तो सुंदर सुंदरता में कमी आ जाती है ऐसा स्थिति होगा स्वास्थ्य में कमी रहती है मान प्रतिष्ठा में भी कमी रह जाती है और सनी की जो दसवीं दृष्टि पड़ रही है सीधे चौथे स्थान पर तो चौथे स्थान पर पड़ने चाहिए सुख सुख का स्थान होता है भूमि भवन प्रस्थान होता है परंतु इतना ही है कि दसवीं दृष्टि पड़ रही है परंतु अपने मित्र की मित्र है जो शुक्र की तुला राशि को देख रहा है तुझसे तो मात्र स्थान तथा घरेलू सुख साधनों में और मकान आदि संबंधों में वह शक्ति सामर्थ्य प्राप्त करेगा सफलता प्राप्त करेगा परंतु शनि की दृष्टि थोड़ा सा को दृष्टि मानी गई है कि नहीं मानी गई है इतना ही है क्योंकि दसवीं दृष्टि तुला तुला का शनि उच्च का हो जाता है तो उस स्थान में वह शक्ति सामर्थ्य प्रदान करेगा फिर भी प्रसाद दृष्टि अच्छी नहीं होती है तो उसका परिणाम माता नहीं होता है लेकिन अधिक अच्छा परिणाम ही होगा ताकि उसका वह उच्च स्थान है यही हमारे द्वारा इसका प्रोडक्शन हो सकता है आपने विवाहित जीवन को कैसे प्रभावित करता है कि आपने पूछा है तो यही मैं कहूंगा कि सातवें घर का जो मैंने शुरू में बताया उसका परिणाम नहीं होता है और एक ही और होता है सातवें घर का अगर सनी स्वाग रही है तब तो कुछ हद तक ठीक होता है वैसे स्वग्रही भी हो या पापा ग्रह की राशि में हो या शत्रु क्षेत्री हो या शत्रुओं द्वारा पापा ग्रह द्वारा देखे जाते हो तो यह सब कष्टकारी होता है सातवें घर में कोई भी जो है सुगरा हो या अशुभ रहो अच्छा नहीं माना जाता परंतु अशुभ ग्रह है वह ज्यादा कष्ट तारीख होते हैं और अशुभ ग्रह अपेक्षाकृत कम होते हैं सब कुछ क्षेत्रों के लिए अच्छा होता है जैसे दांपत्य जीवन के लिए शुभ राशि बता दे सकते हैं वह देखने के अनुसार ग्रहों के अनुसार बताया जाता है तो ऐसा योग बना रहता है शादी सफल नहीं माना जाता है दांपत्य जीवन सफल नहीं माना जाता है ऐसा स्थिति देखा गया है अगर जितना अधिक पर रह रहे इतने मानिए की शादी जो है दांपत्य जीवन आपस में मतभेद रहेगा और एक समय ऐसा भी आता है कि विवादों विवाह शिव विवाह ऐसा होता है ऐसा अक्सर ऐसा देखा गया है और और है कि तलाक का योग बनता है चुप ईश्वर ही हो नेसेसरी स्वाग रही है तो इतना तो तय है इतना अगर कोई पाप ग्रह और ना देखते हो राहु केतु द्वारा ना देखे जाते हो फिर भी राहु-केतु तो यह दो हमारे संपादक बिंदु है इनका छाया पड़ता है यह जो ग्रह प्रबल होते हैं उन्हें करो कार्य करते हैं तो वह कुछ नहीं कर पाएंगे क्योंकि शनि अपने घर में जब बैठा है तो इतना तय है कि दांपत्य जीवन में सब कुछ ठीक रहेगा लेकिन प्योर राजस्थानी दिशा स्थान में रहता है उस स्थान की वृद्धि करता है स्थान वृद्धि करो और जीवन किसको कहा गया है कि हानि करो जी वह स्थान हानि करो जीवन और जीव जो जी शैतान बैठता है मतलब राजस्थान का हानि करता है तो शनि की थोड़ी दृष्टि अच्छी नहीं होती है तो वह अगर लड़के की कुंडली होगी और लड़के की कुंडली में सबसे में अगर शनि होम करता हो तो उस लड़के को पत्नी के द्वारा देखा गया और लड़की का हो तो उस लड़की को पति के द्वारा कष्ट मिलता है ऐसा दंपति सुख में कमी आती है परंतु एक चीज हमेशा याद रखना चाहिए कि शनि जिस घर में रहता है उस घर के वृद्धि करता है और खासतौर से अपने अपने घर में है तो अपने घर को कोई जलाता नहीं है अपने घर को कोई को दृष्टि नहीं रखता है अपने घर को संभाल के रखता है सुरक्षित रखता है स्वच्छता से लगता है कि हमेशा दिमाग में रखना चाहिए और उसी के अनुसार प्रेडिक्शन करना चाहिए तो मैं यह अंतिम निष्कर्ष यही कहूंगा कि दांपत्य जीवन में कुछ मामलों में जैसे रोजगार के क्षेत्रों में बहुत अच्छा सफलता दिलाएगा और धन प्रॉपर्टी सब अच्छा रहेगा दांपत्य जीवन भी अच्छी रहेगी बीच में थोड़ा सा शनि का दृष्टि होने से एक दूसरे का दांपत्य जीवन में मतभेद हो सकता है परंतु तलाक नहीं हो सकता अंतिम करते हैं मैं समझता हूं कि हमारे द्वारा बताए गए आदेशों से आदेश से संतुष्ट हो गए होंगे या होंगे ऐसा मैं संभावना व्यक्त करता हूं आपका दिन आने वाला शुभ हो मंगल हो जय श्री कृष्णा नमो नारायण

hari om namo narayan jai shri krishna main hoon jyotish guru aacharya shailesh upadhyay varanasi se aap sab jane prashna kiya hai kark rashi ke vyakti ki kundali mein yadi shani satave ghar mein ho toh vaah uski vivaahit jeevan ko kaise prabhavit karta hai prashna accha hai aur sarvavidit hai sabke liye sarvajan hai aur main aapko bata doon haan agar aapko vyaktigat apne isse sambandhit agar uddhar aayu tak janana chahte hain toh uske liye aap janam dinank janam samay janam sthan desh karke iski gehrai tak aap ja sakte hain poochh sakte hain aur nahi toh aapki kundali hogi ya janmang chakra desh karke bhi prapt kar sakte hain dekhiye main aapko bata doon satave ghar mein jab shani hota hai toh ek shlok aata hai is janam parikshan mein aapko bus kar raha hoon uske baad main bhi abhi bata de raha hoon aap jo prashna poocha gaya hai ki vishram bhutam vinanti jayan surya saptam august ro bandhate punar adam badara mahina mitra swayansevi putas riddhi arthat kaha gaya hai ki yadi satave ghar mein shani jiske ho baithe ho sthit ho toh vyakti gunvati patni ka nash karta hota hai rogi hankari bhumihin tatha apne mitra ko mitron mein shatruta lagane vala hota hai matlab do mitron mein aapse girane vala 77 karane vala hota yah toh general election hua main aapko bata doon aap ne bola hai kark rashi toh kark rashi se satave mein agar shani hota hai toh chuki kendra mein shani hai aur swayam apni rashi mein sthit ri baitha hua hai toh iska parinam yah hota hai ki grihasth ke andar jo hai ek marg mein vishesh chamatkar aur rozi rojgar marg mein shakti samarth dilata hai tatha aayu stree asthan mein bhi shakti samarth pradan karte lekin ashtamesh hone ke karan stree aur rojgar ke marg mein kathinaiyaan prapt karte hain aur goga adhikshakon ki visheshata isi prakar shani ki teesri drishti vaah bhagya sthan ko dekh raha hai padh raha hai aur guru ka sthan hai meen ki rashi hai usko dekha hai atah divas ke sambandhon se bhagya mein kuch truti anubhav karega aur dharam ki shraddha mein kuch kami aaegi aur satavin shatru drishti jo hai dein ka sthan matlab lagan ko jo dekh raha hai chandrama ki kark rashi ko dekha hai toh aise jatak toh aise kark kark rashi waale kark lagn waale sundar hote hain sundar swaroop kaun hote hain parantu agar papa grahon ki drishti ho jaati hai toh sundar sundarta mein kami aa jaati hai aisa sthiti hoga swasthya mein kami rehti hai maan prathishtha mein bhi kami reh jaati hai aur sunny ki jo dasavi drishti pad rahi hai seedhe chauthe sthan par toh chauthe sthan par padane chahiye sukh sukh ka sthan hota hai bhoomi bhawan prasthan hota hai parantu itna hi hai ki dasavi drishti pad rahi hai parantu apne mitra ki mitra hai jo shukra ki tula rashi ko dekh raha hai tujhse toh matra sthan tatha gharelu sukh saadhano mein aur makan aadi sambandhon mein vaah shakti samarthya prapt karega safalta prapt karega parantu shani ki drishti thoda sa ko drishti maani gayi hai ki nahi maani gayi hai itna hi hai kyonki dasavi drishti tula tula ka shani ucch ka ho jata hai toh us sthan mein vaah shakti samarthya pradan karega phir bhi prasad drishti achi nahi hoti hai toh uska parinam mata nahi hota hai lekin adhik accha parinam hi hoga taki uska vaah ucch sthan hai yahi hamare dwara iska production ho sakta hai aapne vivaahit jeevan ko kaise prabhavit karta hai ki aapne poocha hai toh yahi main kahunga ki satave ghar ka jo maine shuru mein bataya uska parinam nahi hota hai aur ek hi aur hota hai satave ghar ka agar sunny swag rahi hai tab toh kuch had tak theek hota hai waise swagrahi bhi ho ya papa grah ki rashi mein ho ya shatru kshetri ho ya shatruo dwara papa grah dwara dekhe jaate ho toh yah sab kashtakari hota hai satave ghar mein koi bhi jo hai sugara ho ya ashubh raho accha nahi mana jata parantu ashubh grah hai vaah zyada kasht tarikh hote hain aur ashubh grah apekshakrit kam hote hain sab kuch kshetro ke liye accha hota hai jaise danpatya jeevan ke liye shubha rashi bata de sakte hain vaah dekhne ke anusaar grahon ke anusaar bataya jata hai toh aisa yog bana rehta hai shadi safal nahi mana jata hai danpatya jeevan safal nahi mana jata hai aisa sthiti dekha gaya hai agar jitna adhik par reh rahe itne maniye ki shadi jo hai danpatya jeevan aapas mein matbhed rahega aur ek samay aisa bhi aata hai ki vivadon vivah shiv vivah aisa hota hai aisa aksar aisa dekha gaya hai aur aur hai ki talak ka yog banta hai chup ishwar hi ho necessary swag rahi hai toh itna toh tay hai itna agar koi paap grah aur na dekhte ho rahu Ketu dwara na dekhe jaate ho phir bhi rahu Ketu toh yah do hamare sampadak bindu hai inka chhaya padta hai yah jo grah prabal hote hain unhe karo karya karte hain toh vaah kuch nahi kar payenge kyonki shani apne ghar mein jab baitha hai toh itna tay hai ki danpatya jeevan mein sab kuch theek rahega lekin pure rajasthani disha sthan mein rehta hai us sthan ki vriddhi karta hai sthan vriddhi karo aur jeevan kisko kaha gaya hai ki hani karo ji vaah sthan hani karo jeevan aur jeev jo ji shaitaan baithta hai matlab rajasthan ka hani karta hai toh shani ki thodi drishti achi nahi hoti hai toh vaah agar ladke ki kundali hogi aur ladke ki kundali mein sabse mein agar shani home karta ho toh us ladke ko patni ke dwara dekha gaya aur ladki ka ho toh us ladki ko pati ke dwara kasht milta hai aisa dampati sukh mein kami aati hai parantu ek cheez hamesha yaad rakhna chahiye ki shani jis ghar mein rehta hai us ghar ke vriddhi karta hai aur khaasataur se apne apne ghar mein hai toh apne ghar ko koi jalata nahi hai apne ghar ko koi ko drishti nahi rakhta hai apne ghar ko sambhaal ke rakhta hai surakshit rakhta hai swachhta se lagta hai ki hamesha dimag mein rakhna chahiye aur usi ke anusaar predikshan karna chahiye toh main yah antim nishkarsh yahi kahunga ki danpatya jeevan mein kuch mamlon mein jaise rojgar ke kshetro mein bahut accha safalta dilaega aur dhan property sab accha rahega danpatya jeevan bhi achi rahegi beech mein thoda sa shani ka drishti hone se ek dusre ka danpatya jeevan mein matbhed ho sakta hai parantu talak nahi ho sakta antim karte hain main samajhata hoon ki hamare dwara bataye gaye aadesho se aadesh se santusht ho gaye honge ya honge aisa main sambhavna vyakt karta hoon aapka din aane vala shubha ho mangal ho jai shri krishna namo narayan

हरि ओम नमो नारायण जय श्री कृष्णा मैं हूं ज्योतिष गुरु आचार्य शैलेश उपाध्याय वाराणसी से आप

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  149
WhatsApp_icon
user

Prakash Chandra Shukla

Indian Railway (RRB) | Astrologer

0:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी भी एक ग्रह से फलित कर पाना संभव नहीं है सही और सटीक फलित के लिए पूरी कुंडली का विवेचन आवश्यक होता है

kisi bhi ek grah se falit kar paana sambhav nahi hai sahi aur sateek falit ke liye puri kundali ka vivechan aavashyak hota hai

किसी भी एक ग्रह से फलित कर पाना संभव नहीं है सही और सटीक फलित के लिए पूरी कुंडली का विवेचन

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  404
WhatsApp_icon
user

Chinta Haran Tripathi

Astrologer/Vastu Shastra

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कर्क राशि कर्क लग्न वालों के लिए सप्तम में शनि अपनी सुहागरात में मटर में होता है और इसकी दूसरी राशि कुंभ जो है अष्टम स्थान में होती है मकर राशि में शनि होने से दूसरे विवाह के अनंतर भाग्योदय होता है किंतु श्री अनुकूल स्वभाव की नहीं होती अतः अच्छा स्त्री सुख नहीं मिलता पंडित चिंता शास्त्री लखनऊ व्हाट्सएप नंबर 99940 52639

kark rashi kark lagn walon ke liye saptam mein shani apni suhaagraat mein matar mein hota hai aur iski dusri rashi kumbh jo hai ashtam sthan mein hoti hai makar rashi mein shani hone se dusre vivah ke anantar bhagyoday hota hai kintu shri anukul swabhav ki nahi hoti atah accha stree sukh nahi milta pandit chinta shastri lucknow whatsapp number 99940 52639

कर्क राशि कर्क लग्न वालों के लिए सप्तम में शनि अपनी सुहागरात में मटर में होता है और इसकी द

Romanized Version
Likes  158  Dislikes    views  1564
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राजा साहब का सवाल है कर्क राशि के व्यक्ति की कुंडली के अंदर सेवंथ विवाह में पार्टनरशिप भाव में शनि हो तो वह कैसा मतलब होगा उसका जीवन कैसे प्रभावित होगा जीवन तो प्रभावित होना ही है अगर शनि सप्तम भाव केंद्र बैठेगा तो वह अपने पार्टनर को आपसे बहुत ज्यादा महत्व खांसी बना देगा आपसे ज्यादा कर्मठ बना देगा और इसी के चलते हुए वह आपसे बहस बाजी करेगा सर्वप्रथम तो यह है कि जब कर्क राशि वाला शादी करने को जाएगा तो उसको उससे अगर सनी उसके सेवंथ हाउस में बैठा है तो उसकी शादी अपने से थोड़ी बड़ी उम्र की या मैच्योरिटी व्यक्ति से होगी चाहे वह लड़का होना चाहिए लड़की हो अब रह गई बाकी अगर सेवंथ पे गलत या पाप ग्रहों का प्रभाव हो तो डाइवोर्स तक हो जाता है काफी बार देखने को मिलता है कि मंगल और शनि की युति हो और दृष्टि हो सब उस पर तो वो एक बहुत ही घातक युति बोले स्पष्ट होने पर यह बहुत अच्छा होता है गुरु की दृष्टि एकेडमी पड़ जाए तो पड़ जाए तो यह तो सोने पर सुगंध हो जाएगा इससे जैसी व्यक्ति शादी करेगा तो उसके उसका भाग्य आदत है यह है कर्क राशि के व्यक्ति की कुंडली में शनि के होने पर शनि के साथ में और भी ग्रह हो सकते हैं काफी सारी चीजें होती है लगन चार्ट देखना पड़ता है राशि चार्ट देखनी पड़ती है दशा देखनी पड़ती है या ज्योतिष जयशंकर

raja saheb ka sawaal hai kark rashi ke vyakti ki kundali ke andar sevanth vivah me partnership bhav me shani ho toh vaah kaisa matlab hoga uska jeevan kaise prabhavit hoga jeevan toh prabhavit hona hi hai agar shani saptam bhav kendra baithega toh vaah apne partner ko aapse bahut zyada mahatva khansi bana dega aapse zyada karmath bana dega aur isi ke chalte hue vaah aapse bahas baazi karega sarvapratham toh yah hai ki jab kark rashi vala shaadi karne ko jaega toh usko usse agar sunny uske sevanth house me baitha hai toh uski shaadi apne se thodi badi umar ki ya maturity vyakti se hogi chahen vaah ladka hona chahiye ladki ho ab reh gayi baki agar sevanth pe galat ya paap grahon ka prabhav ho toh divorce tak ho jata hai kaafi baar dekhne ko milta hai ki mangal aur shani ki yuti ho aur drishti ho sab us par toh vo ek bahut hi ghatak yuti bole spasht hone par yah bahut accha hota hai guru ki drishti academy pad jaaye toh pad jaaye toh yah toh sone par sugandh ho jaega isse jaisi vyakti shaadi karega toh uske uska bhagya aadat hai yah hai kark rashi ke vyakti ki kundali me shani ke hone par shani ke saath me aur bhi grah ho sakte hain kaafi saari cheezen hoti hai lagan chart dekhna padta hai rashi chart dekhni padti hai dasha dekhni padti hai ya jyotish jaishankar

राजा साहब का सवाल है कर्क राशि के व्यक्ति की कुंडली के अंदर सेवंथ विवाह में पार्टनरशिप भाव

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  76
WhatsApp_icon
user

RAJKUMAR

Sharp Astrology

1:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दोस्तों कर कर व्यक्ति की कुंडली में यदि शनि सातवें घर में हो तो कैसे विवाहित जीवन को कैसे प्रभावित करता है इसका मतलब वहां पर शनि वक्री हो जाता है तो आपको जीवन साथी तो मिलेगा यह पक्का है लेकिन जीवन साथी के साथ आप का तालमेल जो होता है वह कभी-कभी कुछ समय के बाद थोड़ा बिगड़ता रहता है लेकिन अगर वहां पर गुरु की दृष्टि है वहां पर बुध की दृष्टि वहां पर शुक्र की दृष्टि से तालमेल अच्छा बैठ जाता है और कुछ समय तक लड़ाई झगड़ा होने के बाद भी आप एक साथ हो जाते हो ज्यादा गर्मी नहीं पाया के साथ में शनि हो तो जातक की उम्र से बड़ी उम्र का व्यक्ति के जीवन में आता है और ज्यादातर पाकिस्तानी होता है उसको अपनी उम्र के हिसाब से छोटा लड़का मिलता ही अपनी उम्र के 20 साल की लड़का 18 साल का 25 साल का लड़की 18 साल की

doston kar kar vyakti ki kundali me yadi shani satve ghar me ho toh kaise vivaahit jeevan ko kaise prabhavit karta hai iska matlab wahan par shani vakri ho jata hai toh aapko jeevan sathi toh milega yah pakka hai lekin jeevan sathi ke saath aap ka talmel jo hota hai vaah kabhi kabhi kuch samay ke baad thoda bigadta rehta hai lekin agar wahan par guru ki drishti hai wahan par buddha ki drishti wahan par shukra ki drishti se talmel accha baith jata hai aur kuch samay tak ladai jhagda hone ke baad bhi aap ek saath ho jaate ho zyada garmi nahi paya ke saath me shani ho toh jatak ki umar se badi umar ka vyakti ke jeevan me aata hai aur jyadatar pakistani hota hai usko apni umar ke hisab se chota ladka milta hi apni umar ke 20 saal ki ladka 18 saal ka 25 saal ka ladki 18 saal ki

दोस्तों कर कर व्यक्ति की कुंडली में यदि शनि सातवें घर में हो तो कैसे विवाहित जीवन को कैसे

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  550
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कर्क लग्न में सप्तमेश शनि होता है अतः कर्क लग्न का प्रभाव कारक ग्रह भी है शनि शुक्र है भाई क्यों नहीं मानता रहता है क्योंकि यहां सनी अपनी स्वयं की राशि मकर में है अतः विवाह विनम्र से रहेगा किंतु दांपत्य सुख आपका बना रहेगा सामान्य वैचारिक मतभेदों को छोड़कर

kark lagn me saptamesh shani hota hai atah kark lagn ka prabhav kaarak grah bhi hai shani shukra hai bhai kyon nahi maanta rehta hai kyonki yahan sunny apni swayam ki rashi makar me hai atah vivah vinamra se rahega kintu danpatya sukh aapka bana rahega samanya vaicharik matbhedon ko chhodkar

कर्क लग्न में सप्तमेश शनि होता है अतः कर्क लग्न का प्रभाव कारक ग्रह भी है शनि शुक्र है भाई

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  106
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कर्क लग्न वालों के लिए सप्तम भाव में शनि कर्क राशि में विराजमान होता है और कर्क राशि उसकी अपनी राशि है अपनी राशि में बैठे हुए शनि महाराज अपनी राशि को नुकसान नहीं पहुंचाते वैसे सप्तम भाव में शनि का शुभ फल नहीं माना जाता विवाह में विलंब दांपत्य जीवन को प्रभावित करने वाला होता है परंतु सप्तम भाव में यदि शनि स्वराशि का बैठा हुआ है तो वह अपनी राशि को दुष्ट प्रभावित नहीं करता एवं अच्छे फल को ही देता है हो सकता है कि विवाह में विलंब हो या अपने से कुछ उम्र अधिक की लड़की या लड़के से विवाह हो ऐसा संभव है

kark lagn walon ke liye saptam bhav me shani kark rashi me viraajamaan hota hai aur kark rashi uski apni rashi hai apni rashi me baithe hue shani maharaj apni rashi ko nuksan nahi pahunchate waise saptam bhav me shani ka shubha fal nahi mana jata vivah me vilamb danpatya jeevan ko prabhavit karne vala hota hai parantu saptam bhav me yadi shani swarashi ka baitha hua hai toh vaah apni rashi ko dusht prabhavit nahi karta evam acche fal ko hi deta hai ho sakta hai ki vivah me vilamb ho ya apne se kuch umar adhik ki ladki ya ladke se vivah ho aisa sambhav hai

कर्क लग्न वालों के लिए सप्तम भाव में शनि कर्क राशि में विराजमान होता है और कर्क राशि उसकी

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  98
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने प्रश्न पूछा है कि कर्क राशि के व्यक्तित्व को सातवें घर में जो शनि हो तो उसके विवाहित जीवन को कैसे प्रभावित करता है प्रथम दृष्टया यह है कि कर्क राशि वाले जातक का दुश्मनी होता है उस सप्तम भाव में मकर राशि का बनता है मकर राशि की जो दृष्टि होती हो भाग्य स्थान स्वयं कर्क राशि के ऊपर और चतुर्थ स्थान में शनि उच्च की तुला राशि के ऊपर उसकी दृष्टि होती हैं विवाहित जीवन में व्यक्ति का सामना नहीं करना पड़ता अगर सापेक्ष निर्णय न देखा जाए केवल राष्ट्रीय कर्तव्य वर्सेस को देखा जाए तो शनि शुभ रविवार वह भी करवाता है और सनी फिल्म बनी वह भी करवाता है अन्य ग्रहों की उपस्थिति के आधार पर उसके विवाहित जीवन के प्रभाव पर हम वर्णन कर सकते हैं वहां के लिए उसका कार शुक्र ग्रह कहां बैठा हुआ है गुरु ग्राहक कहां बैठा हुआ है मंगल ग्रह कहां बैठा हुआ है लग्न कौन सा है व्यक्ति का चंद्रमा कौन सा है या चंद्रमा करके ही है तो अन्य ग्रहों की उपस्थिति इसके लिए आप यदि आपका जन्म समय जन्म स्थान और जन्म तारीख सही सही भेजें उस पर निर्णय सटीक और भी आ सकता है

aapne prashna poocha hai ki kark rashi ke vyaktitva ko satve ghar me jo shani ho toh uske vivaahit jeevan ko kaise prabhavit karta hai pratham drishtaya yah hai ki kark rashi waale jatak ka dushmani hota hai us saptam bhav me makar rashi ka banta hai makar rashi ki jo drishti hoti ho bhagya sthan swayam kark rashi ke upar aur chaturth sthan me shani ucch ki tula rashi ke upar uski drishti hoti hain vivaahit jeevan me vyakti ka samana nahi karna padta agar sapeksh nirnay na dekha jaaye keval rashtriya kartavya versus ko dekha jaaye toh shani shubha raviwar vaah bhi karwata hai aur sunny film bani vaah bhi karwata hai anya grahon ki upasthitee ke aadhar par uske vivaahit jeevan ke prabhav par hum varnan kar sakte hain wahan ke liye uska car shukra grah kaha baitha hua hai guru grahak kaha baitha hua hai mangal grah kaha baitha hua hai lagn kaun sa hai vyakti ka chandrama kaun sa hai ya chandrama karke hi hai toh anya grahon ki upasthitee iske liye aap yadi aapka janam samay janam sthan aur janam tarikh sahi sahi bheje us par nirnay sateek aur bhi aa sakta hai

आपने प्रश्न पूछा है कि कर्क राशि के व्यक्तित्व को सातवें घर में जो शनि हो तो उसके विवाहित

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  69
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जय श्री राधे प्रश्न है कि कर्क राशि के व्यक्ति के जन्म कुंडली में शनि सातवें घर में हूं तो उसके विवाह विवाहित जीवन को किस प्रकार प्रभावित करते हैं तो सर्वप्रथम मैं कहूंगा यह प्रश्न आया ओनली में लगने से विचार किया जाता है ना की राशि से और लगन को ही प्रधानता दी जाती है अतः कुंडली दिखा करके और लगन से ग्रहों का विवेचन किया जाए तो वह सर्वोत्तम रहेगा

jai shri radhe prashna hai ki kark rashi ke vyakti ke janam kundali me shani satve ghar me hoon toh uske vivah vivaahit jeevan ko kis prakar prabhavit karte hain toh sarvapratham main kahunga yah prashna aaya only me lagne se vichar kiya jata hai na ki rashi se aur lagan ko hi pradhanta di jaati hai atah kundali dikha karke aur lagan se grahon ka vivechan kiya jaaye toh vaah sarvottam rahega

जय श्री राधे प्रश्न है कि कर्क राशि के व्यक्ति के जन्म कुंडली में शनि सातवें घर में हूं तो

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  336
WhatsApp_icon
user
0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कर्क राशि में शनि व्यक्ति के सातवें घर में हो तो विवाह जीवन पर क्या प्रभाव पड़ेगा अपने घर में होने से उसकी स्वराज्य मकर राशि और कर्क लग्न के लिए शनि अष्टमेश और सप्तमेश का स्वामी होता है अगर सातवें घर में बैठा है तो विवाह में विलंब करेगा कर्क राशि में शनि लोगों का नहीं है लेकिन विवाह में विलंब करेगा लेकिन उनके साथ पत्नी अच्छा मिलेगी स्थिर स्वभाव के जाएगी और किसी तरह की और परेशानी जीवन में न खड़ा करता

kark rashi me shani vyakti ke satve ghar me ho toh vivah jeevan par kya prabhav padega apne ghar me hone se uski swarajya makar rashi aur kark lagn ke liye shani ashtamesh aur saptamesh ka swami hota hai agar satve ghar me baitha hai toh vivah me vilamb karega kark rashi me shani logo ka nahi hai lekin vivah me vilamb karega lekin unke saath patni accha milegi sthir swabhav ke jayegi aur kisi tarah ki aur pareshani jeevan me na khada karta

कर्क राशि में शनि व्यक्ति के सातवें घर में हो तो विवाह जीवन पर क्या प्रभाव पड़ेगा अपने घर

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  482
WhatsApp_icon
user

Astrologer & Vaastu Vid Pankaj Mehra

Astrologer & Vaastu Lecturer & Consultant

0:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कर्क लग्न की कुंडली में यदि स्वाधीनतर में शनि हो तो यह बहुत नवीद और शाहजहां की जाए तो उसमें डक डक की डेथ हो जाती

kark lagn ki kundali me yadi swadhinatar me shani ho toh yah bahut naveeda aur shahjahan ki jaaye toh usme duck duck ki death ho jaati

कर्क लग्न की कुंडली में यदि स्वाधीनतर में शनि हो तो यह बहुत नवीद और शाहजहां की जाए तो उसमे

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  78
WhatsApp_icon
user

पण्डित - इन्द्रकृष्ण भारद्वाज mobile - 9314147672

श्रीसारस्वत पंचांग कार्यालय बीकानेर राजस्थान

0:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपके साथ में घर का शनि आपको बहुत ज्यादा परेशान कर सकता है यहां तक कि दांपत्य जीवन आपका पूरी तरह से बिगाड़ सकता है कृपया ज्योतिष परामर्श जरूर लें और कुछ पाठ पूजा अनुष्ठान इत्यादि करा देगी उसका निवारण करवाएं

aapke saath me ghar ka shani aapko bahut zyada pareshan kar sakta hai yahan tak ki danpatya jeevan aapka puri tarah se bigad sakta hai kripya jyotish paramarsh zaroor le aur kuch path puja anushthan ityadi kara degi uska nivaran karvaaein

आपके साथ में घर का शनि आपको बहुत ज्यादा परेशान कर सकता है यहां तक कि दांपत्य जीवन आपका पूर

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  69
WhatsApp_icon
user

Astro Anupam

Astrologer

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रामाचार्य अनुपम गुप्ता कर्क राशि मून से चंद्रमा से संबंधित होती है और जो है उसका स्वामी चंद्रमा होता है और शनि अगर सत्ता में बैठा है तो शादी के अंदर अल्ताफ पैदा करता है पति पत्नी में झगड़े होना या विचारों का मतभेद होना यह होता है इसके लिए आप शनि के उपाय करें शनिवार को शनि देव की पूजा करें तेल चढ़ाएं पीपल में जल चढ़ाएं पीपल में दीपक लगाएं और जो है वह अपनी पारिवारिक समस्याएं जो है वह अब आपस में पति-पत्नी बैठकर समझाने की कोशिश करें मलिक और उसे उसके बारे में चर्चा वगैरा करने से भी नुकसान होता नमस्कार

ramacharya anupam gupta kark rashi moon se chandrama se sambandhit hoti hai aur jo hai uska swami chandrama hota hai aur shani agar satta me baitha hai toh shaadi ke andar altaf paida karta hai pati patni me jhagde hona ya vicharon ka matbhed hona yah hota hai iske liye aap shani ke upay kare shaniwaar ko shani dev ki puja kare tel chadhaen pipal me jal chadhaen pipal me deepak lagaye aur jo hai vaah apni parivarik samasyaen jo hai vaah ab aapas me pati patni baithkar samjhane ki koshish kare malik aur use uske bare me charcha vagera karne se bhi nuksan hota namaskar

रामाचार्य अनुपम गुप्ता कर्क राशि मून से चंद्रमा से संबंधित होती है और जो है उसका स्वामी चं

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  106
WhatsApp_icon
user
2:31
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कृषि यंत्र सातवें भाव में कर्क राशि का दैनिक राशिफल अपने पति के लिए अभी जीवन सहित देखता है स्पेशल भाग्य अगर सुख संपत्ति

krishi yantra satve bhav me kark rashi ka dainik rashifal apne pati ke liye abhi jeevan sahit dekhta hai special bhagya agar sukh sampatti

कृषि यंत्र सातवें भाव में कर्क राशि का दैनिक राशिफल अपने पति के लिए अभी जीवन सहित देखता है

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  92
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!