मुझे कैसे पता चलेगा कि मैंने अपनी कुंडली का उपयोग करके कितना पैसा कमाया है?...


play
user

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सत्य है कि इस तरह का कोई बैरोमीटर आपन निर्धारित हुआ एक समाज में हम अपनी आस्था और जीवन की अर्थव्यवस्था के देखे तो ग्लोबलाइजेशन के युग में इसके पहले लखपति लाख दो लाख ₹500000 होते तो उसका पति बहुत पैसे वाला खोने पर क्या इलाज होना एक सामान्य सी बात हो गई राजू मर्सिडीज होता है तो हम भी उन पर अलग से अटेंड नहीं करता जो तू देश काल परिस्थिति के हिसाब से देश काल परिस्थिति के हिसाब से सामी की स्थिति के ऊपर निर्भर करता है कि आज कितना टाइम किसके पास होगा लेकिन जन्मपत्रिका जहां तक ट्रेस्चो जन्मपत्री के जो बने हुए थे उसमें उसने शब्दों का सटीक ढंग से उनका विश्लेषण किया है उनके पास होगा आंदोलन को ना बहुत दर्द होता है नहीं करोड़ों रुपए होते तो समय के साथ दी परिभाषाएं बदल जाती हैं लेकिन उसका देखकर इनकम टैक्स लैंग्वेज आएगा तभी तो थोड़ा मुश्किल माना जाएगा उससे सोच सको तो जो आर्थिक रूप से संपन्न होगा पहले भी इनकम टैक्स आज की तारीख में ढाई ₹300000 को कौन कल के पति का इस बात को अलग से मालदा दिन होगा होगा होगा पत्रिका में पता चल जाता है

satya hai ki is tarah ka koi barometer apan nirdharit hua ek samaj mein hum apni astha aur jeevan ki arthavyavastha ke dekhe toh globalization ke yug mein iske pehle lakhapati lakh do lakh Rs hote toh uska pati bahut paise vala khone par kya ilaj hona ek samanya si baat ho gayi raju mercedes hota hai toh hum bhi un par alag se attend nahi karta jo tu desh kaal paristithi ke hisab se desh kaal paristithi ke hisab se shami ki sthiti ke upar nirbhar karta hai ki aaj kitna time kiske paas hoga lekin janmapatrika jaha tak trescho janampatri ke jo bane hue the usme usne shabdon ka sateek dhang se unka vishleshan kiya hai unke paas hoga andolan ko na bahut dard hota hai nahi karodo rupaye hote toh samay ke saath di paribhashayen badal jaati hain lekin uska dekhkar income tax language aayega tabhi toh thoda mushkil mana jaega usse soch Sako toh jo aarthik roop se sampann hoga pehle bhi income tax aaj ki tarikh mein dhai Rs ko kaun kal ke pati ka is baat ko alag se malda din hoga hoga hoga patrika mein pata chal jata hai

सत्य है कि इस तरह का कोई बैरोमीटर आपन निर्धारित हुआ एक समाज में हम अपनी आस्था और जीवन की अ

Romanized Version
Likes  144  Dislikes    views  2601
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!