क्या होता है जब रा हूँ की महदशा ख़त्म होती है?...


user
0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

तो ज्यादा नुकसान करके नहीं जाएगा तो बहुत कुछ उसको पीरियड निकाल लिया

toh zyada nuksan karke nahi jaega toh bahut kuch usko period nikaal liya

तो ज्यादा नुकसान करके नहीं जाएगा तो बहुत कुछ उसको पीरियड निकाल लिया

Romanized Version
Likes  26  Dislikes    views  314
WhatsApp_icon
4 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Manju Maharaj

Astrologer

0:18

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राहु की महादशा खत्म होने पर अमूमन रिजल्ट ही मिलते हैं उसके बाद आदमी का संघर्ष खत्म हो जाता है राहु की दशा में उसे संघर्ष किया होता है उसका परिणाम उसके शुभ कथा समाप्त होने के बाद मिलना शुरू हो जाता है

rahu ki Mahadasha khatam hone par amuman result hi milte hain uske baad aadmi ka sangharsh khatam ho jata hai rahu ki dasha mein use sangharsh kiya hota hai uska parinam uske shubha katha samapt hone ke baad milna shuru ho jata hai

राहु की महादशा खत्म होने पर अमूमन रिजल्ट ही मिलते हैं उसके बाद आदमी का संघर्ष खत्म हो जाता

Romanized Version
Likes  142  Dislikes    views  2924
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मुंडा कर रहा हूं की स्थिति पत्रिका में बहुत अच्छी स्थिति में हैं तो राहु में शुक्र की अंतर्दशा तक तो निश्चित रुप से बहुत अच्छे फल देता है जब सूर्य और चंद्र की दर्शन रावल एंड समय आता है तो उसमें राहु में सूर्य और चंद्रमा की दशा जाए तो पत्रिका में गृह कहीं भी स्थान लेकिन व्यक्ति को न्यूनतम ज्यादा उसको मानसिक शारीरिक और आर्थिक रूप से परेशानियां उसकी बढ़ जाती है क्योंकि राहु सूर्य और राहु चंद्र जी दोनों ग्रहण करते हैं राहु की अंतर्दशा होती है मतलब तू कर जो एकदम एंड से समझ लीजिए ढाई साल पहले से वह तकलीफ देना शुरू कर देता है जो चंद्रमा की दशा में और आंतरिक प्रेरणा है होती हैं मानसिक रूप से कष्ट होता है अभी चंद्रमा राहु इनके समीकरण अगर अच्छे नहीं आए तो बड़ा नुकसान भी चलाओगे एंड में होता है वह लेकिन चंद्रमा की दशा में होता है एकदम जब रोता है वह मंगल की दशा होती है तो मंगल की दशा में शुरू हो जाए और हो जाता है चंद्रमा में जो नुकसान होते हैं उसकी भरपाई मंगल की अंतर्दशा से शुरू हो जाती है जो एकदम हैंग होगा वह तो थोड़ा ठीक है लेकिन एंड के पहले राहुल कुछ ना कुछ बड़ा नुकसान करके जाता है अलग ही राहु की दशा भी उपलब्धि कारक भी होती है लेकिन वह गांव में चंद्र तो निश्चित रूप से मनुष्य को कष्ट देते देता है

munda kar raha hoon ki sthiti patrika mein bahut achi sthiti mein hai toh rahu mein shukra ki antardasha tak toh nishchit roop se bahut acche fal deta hai jab surya aur chandra ki darshan raval and samay aata hai toh usme rahu mein surya aur chandrama ki dasha jaaye toh patrika mein grah kahin bhi sthan lekin vyakti ko ninuntam zyada usko mansik sharirik aur aarthik roop se pareshaniya uski badh jaati hai kyonki rahu surya aur rahu chandra ji dono grahan karte hai rahu ki antardasha hoti hai matlab tu kar jo ekdam and se samajh lijiye dhai saal pehle se vaah takleef dena shuru kar deta hai jo chandrama ki dasha mein aur aantarik prerna hai hoti hai mansik roop se kasht hota hai abhi chandrama rahu inke samikaran agar acche nahi aaye toh bada nuksan bhi chalaoge and mein hota hai vaah lekin chandrama ki dasha mein hota hai ekdam jab rota hai vaah mangal ki dasha hoti hai toh mangal ki dasha mein shuru ho jaaye aur ho jata hai chandrama mein jo nuksan hote hai uski bharpai mangal ki antardasha se shuru ho jaati hai jo ekdam hang hoga vaah toh thoda theek hai lekin and ke pehle rahul kuch na kuch bada nuksan karke jata hai alag hi rahu ki dasha bhi upalabdhi kaarak bhi hoti hai lekin vaah gaon mein chandra toh nishchit roop se manushya ko kasht dete deta hai

मुंडा कर रहा हूं की स्थिति पत्रिका में बहुत अच्छी स्थिति में हैं तो राहु में शुक्र की अंतर

Romanized Version
Likes  149  Dislikes    views  2624
WhatsApp_icon
user

Chinta Haran Tripathi

Astrologer/Vastu Shastra

1:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ओम महा सरसों तेल में क्या होता है जब राहु की महादशा खत्म होती है राहु की महादशा में अंतर्दशा चंद्रमा की चलती है राहु की महादशा में चंद्रमा की अंतर्दशा खत में राहु की महादशा खत्म होती है और चंद्रमा की अंतर्दशा में यह हिस्ट्री के लिए नुकसानदायक होता है लोगों से काला कर सकता है मन को संताप होता है मित्रों पर विपत्ति पड़े जल से होता है कृषि धान पशु और संतान की हानि होने की संभावना होती है पंडित चिंताहरण त्रिपाठी बादशाह लखनऊ वार्ड नंबर 9140 5366

om maha sarso tel mein kya hota hai jab rahu ki Mahadasha khatam hoti hai rahu ki Mahadasha mein antardasha chandrama ki chalti hai rahu ki Mahadasha mein chandrama ki antardasha khat mein rahu ki Mahadasha khatam hoti hai aur chandrama ki antardasha mein yah history ke liye nukasanadayak hota hai logo se kaala kar sakta hai man ko santap hota hai mitron par vipatti pade jal se hota hai krishi dhaan pashu aur santan ki hani hone ki sambhavna hoti hai pandit chintaharan tripathi badshah lucknow ward number 9140 5366

ओम महा सरसों तेल में क्या होता है जब राहु की महादशा खत्म होती है राहु की महादशा में अंतर्द

Romanized Version
Likes  133  Dislikes    views  1115
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!