क्या यह सच है कि रा हूँ अपने महादाशा के दौरान जो कुछ देता है वो सब वापस भी ले जाता है?...


user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

श्रीहरि महोदय आपने जो लिखा है क्या राहु अपने महादशा काल में जो भी कुछ देता है वह वापस ले लेता है ऐसा नहीं है इस बात का निर्णय सिर्फ राहु की महादशा काल से नहीं लिया जा सकता राहु किस राशि में है किस ग्रह के प्रभाव में है क्योंकि राहु और केतु की अपनी कोई जन्म राशि नहीं होती है इसलिए वह जिस रात में बैठते हैं उस ग्रह के अनुसार फल देते हैं यदि राहुल ग्रहों के प्रभाव में है तो राहु के द्वारा दिया गया धन संपत्ति नष्ट नहीं होता है और वे दिल राहु का प्रभाव में है तो राहुल के द्वारा दिया हुआ धन संपत्ति नष्ट भी हो जाता है यह दोनों ही प्रकार की तिथियां कुंडली में अलग-अलग ग्रह किती के अनुसार निर्मित होती है धन्यवाद

shrihari mahoday aapne jo likha hai kya rahu apne Mahadasha kaal me jo bhi kuch deta hai vaah wapas le leta hai aisa nahi hai is baat ka nirnay sirf rahu ki Mahadasha kaal se nahi liya ja sakta rahu kis rashi me hai kis grah ke prabhav me hai kyonki rahu aur Ketu ki apni koi janam rashi nahi hoti hai isliye vaah jis raat me baithate hain us grah ke anusaar fal dete hain yadi rahul grahon ke prabhav me hai toh rahu ke dwara diya gaya dhan sampatti nasht nahi hota hai aur ve dil rahu ka prabhav me hai toh rahul ke dwara diya hua dhan sampatti nasht bhi ho jata hai yah dono hi prakar ki tithiyan kundali me alag alag grah kiti ke anusaar nirmit hoti hai dhanyavad

श्रीहरि महोदय आपने जो लिखा है क्या राहु अपने महादशा काल में जो भी कुछ देता है वह वापस ले ल

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  67
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Likes  3  Dislikes    views  119
WhatsApp_icon
play
user

ज्योतिषी झा मेरठ (Pt. K L Shashtri)

Astrologer Jhaमेरठ,झंझारपुर और मुम्बई

1:13

Likes  59  Dislikes    views  1164
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राहु की महादशा में अगर जीवन में किसी प्रकार के कोई कष्ट होते हैं पंकज छोटे लेकर जा रहा हूं की जाती हुई जो माता है पैसा नहीं है यह गलत आप ध्यान करके जाती है मिट्टी का भला होता है जय बाबा महाकाल

rahu ki Mahadasha me agar jeevan me kisi prakar ke koi kasht hote hain pankaj chote lekar ja raha hoon ki jaati hui jo mata hai paisa nahi hai yah galat aap dhyan karke jaati hai mitti ka bhala hota hai jai baba mahakal

राहु की महादशा में अगर जीवन में किसी प्रकार के कोई कष्ट होते हैं पंकज छोटे लेकर जा रहा हू

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  174
WhatsApp_icon
user

Astro GURU DR UMESH DWIVEDII

Astrologer And Vastu Shastra Consultant

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा नहीं होता है कब राहु अगर 10वें स्थान में होता है तो उसकी महादशा में वह बहुत कुछ देता है आदमी को और फिर मैं इस चीज को आप को आप लोगों को बताना चाहूंगा कि इसके माध्यम से की ग्रह राहु एक परिस्थिति किस-किस जगह पर बैठा हुआ है किस-किस की दृष्टि है उसके ऊपर किसका कॉन्बिनेशन है उसके साथ में कौन से ग्रहों का यह सब किस नक्षत्र में यह सब चीज देखने के बाद ही हमको उसकी स्थिति के बारे में विश्लेषण करना चाहिए या उसके बारे में कोई 11 को बताना चाहिए कि भैया सराहु अच्छा है या खराब है महादशा में अच्छा फल देगा या खराब कर देगा धन जो दिया है वह ले लेगा या नहीं लेगा या और ज्यादा देगा यह सब यह सब इस स्थिति को देखने के बाद ही किसी आदमी को ही प्रेरित करना चाहिए

aisa nahi hota hai kab rahu agar ve sthan me hota hai toh uski Mahadasha me vaah bahut kuch deta hai aadmi ko aur phir main is cheez ko aap ko aap logo ko batana chahunga ki iske madhyam se ki grah rahu ek paristhiti kis kis jagah par baitha hua hai kis kis ki drishti hai uske upar kiska kanbineshan hai uske saath me kaun se grahon ka yah sab kis nakshtra me yah sab cheez dekhne ke baad hi hamko uski sthiti ke bare me vishleshan karna chahiye ya uske bare me koi 11 ko batana chahiye ki bhaiya sarahu accha hai ya kharab hai Mahadasha me accha fal dega ya kharab kar dega dhan jo diya hai vaah le lega ya nahi lega ya aur zyada dega yah sab yah sab is sthiti ko dekhne ke baad hi kisi aadmi ko hi prerit karna chahiye

ऐसा नहीं होता है कब राहु अगर 10वें स्थान में होता है तो उसकी महादशा में वह बहुत कुछ देता ह

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  72
WhatsApp_icon
user

vivek sharma

BANK PO| Astrologer | Mutual Fund Advisor। Career Counselor

1:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वैसे कंपलीट्स तो नहीं है क्योंकि कई लोगों को राहु की महादशा में जो जो उनको ऊंचाई मिली और ऊंचाई मिलती गई मिलती गई मिलती है और वह लास्ट तक मिलती गई ऐसे में होता यह होता कब है कि राहुल की जो बेस्ट पोजीशन होती है जब वह उस पोजीशन पर आपकी कुंडली के अंदर विराजमान होता है और आपको आपको और आप अपने राहुल को किसी भी तरह से खराब नहीं करते हम रोजमर्रा में भी अपने घर के अंदर कहीं ना कहीं किसी न किसी ग्रह को खराब करने का काम कर लेते हैं अगर खराब ना हो और आपकी कोचिंग कुंडली में बहुत अच्छी पोजीशन में हो राहु ऐसा ग्रह है जो बहुत कम ऐसा होता है कि वह कहीं ना कहीं से खराब कहीं ना कहीं से हो रहा होता है इस वजह से अधिकतर लोगों को 12 साल की राव की मानता में सब कुछ बातें भी उसी मात्रा में दिशा में है और बहुत बड़ी चीज कोई खफा भी देते हो स्मार्ट दिशा में इसीलिए ऐसा कहा जाता है कि महादशा के दौरान वह जो देता है वह ले लेता है लेकिन ऐसा नहीं है जो देता है वह नहीं देता है कुछ ऐसी चीज दे देता है जो दिया है उससे भी बड़ी कोई चीज ले लेता है लेकिन अब मालिक पैसा अगर आपको दिया है ठीक है पैसा आपको नौकरी दे दी रहा हूं मैं लेकिन आपके घर में किसी परिजन की मृत्यु हो गई या फिर आपका किसी से मनमुटाव हो गया ऐसा झगड़ा हो गया जिसमें कि आप लगातार उलझे हुए हैं इस तरह का कोई बड़ा एक्सीडेंट हो गया इस तरह का वह काम करता है ऐसा नहीं कि जो देता है पूरा का पूरा ले लेता है तो बहुत कम कुंडली में देखा गया है कि जो देता है देता है वह देता चला जाता है लेकिन ज्यादातर में ऐसा ही होता है देता है और कुछ ना कुछ छीन लेता है अच्छा सोचा ही जाता है

waise kampalits toh nahi hai kyonki kai logo ko rahu ki Mahadasha me jo jo unko unchai mili aur unchai milti gayi milti gayi milti hai aur vaah last tak milti gayi aise me hota yah hota kab hai ki rahul ki jo best position hoti hai jab vaah us position par aapki kundali ke andar viraajamaan hota hai aur aapko aapko aur aap apne rahul ko kisi bhi tarah se kharab nahi karte hum rozmarra me bhi apne ghar ke andar kahin na kahin kisi na kisi grah ko kharab karne ka kaam kar lete hain agar kharab na ho aur aapki coaching kundali me bahut achi position me ho rahu aisa grah hai jo bahut kam aisa hota hai ki vaah kahin na kahin se kharab kahin na kahin se ho raha hota hai is wajah se adhiktar logo ko 12 saal ki rav ki maanta me sab kuch batein bhi usi matra me disha me hai aur bahut badi cheez koi khafa bhi dete ho smart disha me isliye aisa kaha jata hai ki Mahadasha ke dauran vaah jo deta hai vaah le leta hai lekin aisa nahi hai jo deta hai vaah nahi deta hai kuch aisi cheez de deta hai jo diya hai usse bhi badi koi cheez le leta hai lekin ab malik paisa agar aapko diya hai theek hai paisa aapko naukri de di raha hoon main lekin aapke ghar me kisi parijan ki mrityu ho gayi ya phir aapka kisi se manmutaav ho gaya aisa jhagda ho gaya jisme ki aap lagatar ulajhe hue hain is tarah ka koi bada accident ho gaya is tarah ka vaah kaam karta hai aisa nahi ki jo deta hai pura ka pura le leta hai toh bahut kam kundali me dekha gaya hai ki jo deta hai deta hai vaah deta chala jata hai lekin jyadatar me aisa hi hota hai deta hai aur kuch na kuch cheen leta hai accha socha hi jata hai

वैसे कंपलीट्स तो नहीं है क्योंकि कई लोगों को राहु की महादशा में जो जो उनको ऊंचाई मिली और ऊ

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  160
WhatsApp_icon
user

Anil Chotrani

Astrologer

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जन्मपत्रिका लग्न पत्रिका पर पोजीशन लग्न पत्रिका में पत्रिका में

janmapatrika lagn patrika par position lagn patrika mein patrika mein

जन्मपत्रिका लग्न पत्रिका पर पोजीशन लग्न पत्रिका में पत्रिका में

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  402
WhatsApp_icon
play
user

Manju Maharaj

Astrologer

0:38

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह बहुत कुछ कुंडली में राहु की पोजीशन के ऊपर डिपेंड करता है उसमें किस तरीके का है या शत्रु राशि पर है किस भाव में स्थित है उसके ग्रह क्या है आमतौर पर देखा जाता है कि इस कुंडली में फल देता है और कुछ कुंडलियों में ऐसा भी देखा गया है कि शुरू में वह संघर्ष कर आता है वह बाद में फिर उस संघर्ष का परिश्रम बहुत अच्छे तौर पर वह अपनी दशा अंतर्दशा के आखिरी में देता है

yah bahut kuch kundali mein rahu ki position ke upar depend karta hai usme kis tarike ka hai ya shatru rashi par hai kis bhav mein sthit hai uske grah kya hai aamtaur par dekha jata hai ki is kundali mein fal deta hai aur kuch kundaliyon mein aisa bhi dekha gaya hai ki shuru mein vaah sangharsh kar aata hai vaah baad mein phir us sangharsh ka parishram bahut acche taur par vaah apni dasha antardasha ke aakhiri mein deta hai

यह बहुत कुछ कुंडली में राहु की पोजीशन के ऊपर डिपेंड करता है उसमें किस तरीके का है या शत्रु

Romanized Version
Likes  183  Dislikes    views  2884
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जय श्री बालाजी आपका प्रश्न है कि क्या सच है कि राहु अपने महादशा के दौरान जो कुछ देता है वह सब वापस भी ले ले ले जाता है ऐसा कुछ नहीं है क्योंकि अगर राहु के ऊपर किसी शुभ ग्रह की दृष्टि पड़ रही है तो ऐसा कुछ नहीं होगा दूसरी बात अगर राहु त्रिकोण के अंदर है तो भी ऐसा कुछ नहीं हो सकता अगर महादशा में कोई शुभ ग्रह की दशा चल रही है तो भी यह कुछ नहीं हो सकता इसलिए आपसे यही निवेदन है कि ऐसा कुछ नहीं है जो आप सोचते हो कि महादशा के दौरान जो गाली देता है 10 महादशा में ले लेता है वापिस

jai shri balaji aapka prashna hai ki kya sach hai ki rahu apne Mahadasha ke dauran jo kuch deta hai vaah sab wapas bhi le le le jata hai aisa kuch nahi hai kyonki agar rahu ke upar kisi shubha grah ki drishti pad rahi hai toh aisa kuch nahi hoga dusri baat agar rahu trikon ke andar hai toh bhi aisa kuch nahi ho sakta agar Mahadasha me koi shubha grah ki dasha chal rahi hai toh bhi yah kuch nahi ho sakta isliye aapse yahi nivedan hai ki aisa kuch nahi hai jo aap sochte ho ki Mahadasha ke dauran jo gaali deta hai 10 Mahadasha me le leta hai vaapas

जय श्री बालाजी आपका प्रश्न है कि क्या सच है कि राहु अपने महादशा के दौरान जो कुछ देता है वह

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  89
WhatsApp_icon
user

MAA KALI VAATU JYOTISH

World Famous Vastu Consultant & Astrologer

1:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो दोस्तों नमस्ते मैं मा कली वास्तु ज्योतिष से अमूल्य पांडा बात कर रहा हूं वाशी नवी मुंबई महाराष्ट्र से आपका यह सवाल तो यह क्या सच है कि राहु की महादशा में जो कुछ देता वह सब कुछ वापस ले जाता यह बोलना गलत है राहु अपनी महादशा में जो कुछ देता है वह लेता नहीं है राहुल राहुल पापी ग्रह ज्योतिष शास्त्र के अनुसार सब सच है यह बात तो सही है लेकिन आपको इस मामले में जानकारी काम है लेकिन उनके सामान में अचानक धन प्राप्ति होता है अचानक धन दौलत मिलता है थोड़ा सा करना पड़ता है बट आप उसके लिए राहु का छोटा-मोटा जो उपाय होता है जैसे कि आप मान लीजिए कि शनिवार को बलात्कार अन्ना ॐ राम राहवे नमः मंत्र जाप करना सुबह स्नान करने के बाद आपकी जन्मकुंडली में पोजीशन से बात करता हूं बात कर सकते हैं किसी ज्योतिषाचार्य से अच्छा गुण एवं ज्योतिषाचार्य आपको जानकारी नहीं मिल पाता है अच्छा तो अब मां का जवाब तो दीजिए

hello doston namaste main ma kalee vastu jyotish se amuly panda baat kar raha hoon vashi navi mumbai maharashtra se aapka yah sawaal toh yah kya sach hai ki rahu ki Mahadasha me jo kuch deta vaah sab kuch wapas le jata yah bolna galat hai rahu apni Mahadasha me jo kuch deta hai vaah leta nahi hai rahul rahul papi grah jyotish shastra ke anusaar sab sach hai yah baat toh sahi hai lekin aapko is mamle me jaankari kaam hai lekin unke saamaan me achanak dhan prapti hota hai achanak dhan daulat milta hai thoda sa karna padta hai but aap uske liye rahu ka chota mota jo upay hota hai jaise ki aap maan lijiye ki shaniwaar ko balatkar anna om ram rahve namah mantra jaap karna subah snan karne ke baad aapki janmakundali me position se baat karta hoon baat kar sakte hain kisi jyotishacharya se accha gun evam jyotishacharya aapko jaankari nahi mil pata hai accha toh ab maa ka jawab toh dijiye

हेलो दोस्तों नमस्ते मैं मा कली वास्तु ज्योतिष से अमूल्य पांडा बात कर रहा हूं वाशी नवी मुंब

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  72
WhatsApp_icon
user
2:07
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है कि जीवन में जब राहु किसी को देता है वह वापस लेता गलत बात है राहु बाप से नहीं देता राहुल जिसको तकदीर में लिखा होता है कि ऐसा आदमी की जन्म कुंडली के अंदर इस समय यह महादशा चलती है इस समय यह बच्चा स्टडी कर रहा है इस शादी होने के बाद जब आगे इनका महादशा बृहस्पति की आएगी उस बृहस्पति के दौरान इसका आदमी को जो भी मिलेगा इसकी शादी भी होगी इसके बच्चे फैमिली होगी जो तरक्की करेगा उसके बाद समय आएगा शनि की महादशा है कि शनि के कार्यकाल में बहुत लोग एक्टर मर गया मेरी महादशा के बाद जब मैं बृहस्पति से निकला तो मैं फिल्म एक्टर बना हूं सिंगर बना हूं मार्केट में मेरा नाम चल रहा है भाई ग्रह कोई भी ग्रह किसी को देता वापसी कुछ नहीं लेता है लेकिन आपकी गलती है जो आपने पिछले जन्म में की थी उनका फल भी आपको इसी जन्म में मिलना है जो आपके बुरे प्लेनेट आपको किसी बुरे घर में बैठे हैं वह आपको उस समय बुरा फल देंगे जब उन की महादशा आएगी याद रखना शनि जिस घर में बैठा होता है वहां उस कार को मजबूत कर देता है लेकिन जहां शनि की दृष्टि जाती है उस जगह को बर्बाद कर देता है इसलिए शनि का दसवें घर में बैठना लेकिन चौथे घर के अंदर शनि की दृष्टि जाए तो वहां पर कोई प्लेनेट ना हो तो जीवनसाथी को प्रॉब्लम हो जाती है फैमिली में लेकर आएगा वहां पर शनि को काटने वाला आगे से कोई ग्रह हो तो उसकी दृष्टि कमजोर हो जाती है इसलिए वह सही सलामत रहते हैं राहु जाम मंगल या बौद्ध जब कोई भी ग्रह जिसको जो देता है वह अपने समय के बताओ का प्रदोष की महादशा में लिखा वही फल देता है जो उसकी कुंडली में पहले से विराजमान है यह गलत धारणा अपने दिमाग से निकाल लोगे राहु आपको देता है राहुल किसी को देता है तो उसको देता है जिसको देने वाला भी और आएगा राहुल लेता देता है गलत तरीके से ना यह लोगों को भ्रम में पाले जोइसी ऐसे ही जो ओके जो ज्योतिष विज्ञान को गलत कर रहे हैं धन्यवाद आपका शुभचिंतक डॉ बलवान धालीवाल चंडीगढ़

aapka sawaal hai ki jeevan me jab rahu kisi ko deta hai vaah wapas leta galat baat hai rahu baap se nahi deta rahul jisko takdir me likha hota hai ki aisa aadmi ki janam kundali ke andar is samay yah Mahadasha chalti hai is samay yah baccha study kar raha hai is shaadi hone ke baad jab aage inka Mahadasha brihaspati ki aayegi us brihaspati ke dauran iska aadmi ko jo bhi milega iski shaadi bhi hogi iske bacche family hogi jo tarakki karega uske baad samay aayega shani ki Mahadasha hai ki shani ke karyakal me bahut log actor mar gaya meri Mahadasha ke baad jab main brihaspati se nikala toh main film actor bana hoon singer bana hoon market me mera naam chal raha hai bhai grah koi bhi grah kisi ko deta wapsi kuch nahi leta hai lekin aapki galti hai jo aapne pichle janam me ki thi unka fal bhi aapko isi janam me milna hai jo aapke bure planet aapko kisi bure ghar me baithe hain vaah aapko us samay bura fal denge jab un ki Mahadasha aayegi yaad rakhna shani jis ghar me baitha hota hai wahan us car ko majboot kar deta hai lekin jaha shani ki drishti jaati hai us jagah ko barbad kar deta hai isliye shani ka dasven ghar me baithana lekin chauthe ghar ke andar shani ki drishti jaaye toh wahan par koi planet na ho toh jeevansathi ko problem ho jaati hai family me lekar aayega wahan par shani ko katne vala aage se koi grah ho toh uski drishti kamjor ho jaati hai isliye vaah sahi salamat rehte hain rahu jam mangal ya Baudh jab koi bhi grah jisko jo deta hai vaah apne samay ke batao ka pradosh ki Mahadasha me likha wahi fal deta hai jo uski kundali me pehle se viraajamaan hai yah galat dharana apne dimag se nikaal loge rahu aapko deta hai rahul kisi ko deta hai toh usko deta hai jisko dene vala bhi aur aayega rahul leta deta hai galat tarike se na yah logo ko bharam me pale joisi aise hi jo ok jo jyotish vigyan ko galat kar rahe hain dhanyavad aapka shubhchintak Dr. balwan dhaliwal chandigarh

आपका सवाल है कि जीवन में जब राहु किसी को देता है वह वापस लेता गलत बात है राहु बाप से नहीं

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  166
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां यह सच है राहु अपनी महादशा में जो देता है वह अपनी उतरती महादशा में लेके चला गया था पर यह लग्न और किस भाव का राहु है उस पर डिपेंड होता है अगर राव मूलत्रिकोण में है चौधरी है उच्च का है और अच्छे भाव में बैठा तो निश्चित रूप से ऐसा कुछ नहीं होता और अगर तू हर हाल में बैठकर के राजीव किसी कारण बस प्रदान कर रहा है तो निश्चित रूप से जाते जाते वह चीजें में भी लेता है वैसे भी राहु बहुत अधिक बढ़ जाता है और भूख से बनाई हुई संपत्ति क्यों है राहु जो है जाते-जाते नष्ट करवा देता है धन्यवाद

ji haan yah sach hai rahu apni Mahadasha me jo deta hai vaah apni utarati Mahadasha me leke chala gaya tha par yah lagn aur kis bhav ka rahu hai us par depend hota hai agar rav mulatrikon me hai choudhary hai ucch ka hai aur acche bhav me baitha toh nishchit roop se aisa kuch nahi hota aur agar tu har haal me baithkar ke rajeev kisi karan bus pradan kar raha hai toh nishchit roop se jaate jaate vaah cheezen me bhi leta hai waise bhi rahu bahut adhik badh jata hai aur bhukh se banai hui sampatti kyon hai rahu jo hai jaate jaate nasht karva deta hai dhanyavad

जी हां यह सच है राहु अपनी महादशा में जो देता है वह अपनी उतरती महादशा में लेके चला गया था प

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  83
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  90  Dislikes    views  1074
WhatsApp_icon
user
1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जय गणेश जय श्री कृष्णा देखिए ऐसी कोई भी बात है जनरल जो होती हैं वह हर एक कुंडली पर लागू नहीं होती यह सब कहने की बातें होती हैं और किसी भी तरीके से आजकल के माहौल में तो कोई भी ज्योतिष कोई सी भी बात कर सकता है मैं बस यही कहता हूं कि हर एक का चार्ज अलग होता है इंडिविजुअली और उनके चार्टपैनल इस इसके बाद ही कुछ बताया जा सकता है और राहु दशा के बारे में जो कह रहे हैं कि जो देता है वह बाद में वापस भी ले लेता है ऐसी कोई बात नहीं होती है राहुल कितने डिग्री का है किस राशि में बैठा है किसका एस्पेक्ट है उसके ऊपर किस की दृष्टि है वह सब देखना पड़ता है उसके बारे में बताया जा सकता है इसी प्रकार से जब राहु की दशा हो या उसके बाद की जो दशा रहेगी तो उसका क्या फल रहेगा कैसा फल रहेगा वो सब चार्ट एनालिसिस करने के पर्स हाथी कहा जा सकता है धन्यवाद जय श्री कृष्णा

jai ganesh jai shri krishna dekhiye aisi koi bhi baat hai general jo hoti hain vaah har ek kundali par laagu nahi hoti yah sab kehne ki batein hoti hain aur kisi bhi tarike se aajkal ke maahaul me toh koi bhi jyotish koi si bhi baat kar sakta hai main bus yahi kahata hoon ki har ek ka charge alag hota hai indivijuali aur unke chartapainal is iske baad hi kuch bataya ja sakta hai aur rahu dasha ke bare me jo keh rahe hain ki jo deta hai vaah baad me wapas bhi le leta hai aisi koi baat nahi hoti hai rahul kitne degree ka hai kis rashi me baitha hai kiska espekt hai uske upar kis ki drishti hai vaah sab dekhna padta hai uske bare me bataya ja sakta hai isi prakar se jab rahu ki dasha ho ya uske baad ki jo dasha rahegi toh uska kya fal rahega kaisa fal rahega vo sab chart analysis karne ke purse haathi kaha ja sakta hai dhanyavad jai shri krishna

जय गणेश जय श्री कृष्णा देखिए ऐसी कोई भी बात है जनरल जो होती हैं वह हर एक कुंडली पर लागू नह

Romanized Version
Likes  82  Dislikes    views  706
WhatsApp_icon
user

AstroBhoomi

Tarot card reader and and Astrologer

1:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह जो प्रश्न है कि राहु अपनी महादशा के दौरान जो देता है वह सब वापस भी ले जाता है यह प्रश्न सही मतलब याद इसका उत्तर कहूं मैं तो पहला और जो आएगा कि नहीं यह सही नहीं है क्योंकि इसके कुछ रीजन है कि राहु अपनी जब महादशा के समय आपके कर्मों से भाग्य जोड़कर ही आपको देता है जो भी देता है तो यदि आप अपने कर्मों को कंटिन्यू रखते हैं आप रुकते नहीं अपने कर्मों को करने से जो भी आपने पाया है उसको सेव करने के लिए भी आपको कर्म करना पड़ता है तो आपकी वह चीजें वापस नहीं जाएगी यह हो सकता है कि राहु की महादशा में आपको कुछ चढ़ाव मिले हो और उसके बाद आप कुछ उतरने की स्थिति में हो जीवन में यह संभव हो सकता है लेकिन जो देता है वह पूरा सब वापस ले लेता है यह बिल्कुल गलत है यह धारणा गलत है राहु से डरने की बिल्कुल आवश्यकता नहीं है राहु जो है शायद रहे इसके जिस तरह से प्रभाव होते हैं वैसे ही इस की अनुकूलता ए भी होती हैं राहु ग्रह के बारे में और अच्छी उचित जानकारी के लिए आप हमारे एस्ट्रो भूमि कार्यालय 1199 9676 पर भी संपर्क कर सकते हैं आप अपनी व्यक्तिगत कुंडली एनालिसिस करा सकते हैं एस्ट्रो bhoomi.com पर वेबसाइट पर भी संपर्क कर सकते हैं धन्यवाद

yah jo prashna hai ki rahu apni Mahadasha ke dauran jo deta hai vaah sab wapas bhi le jata hai yah prashna sahi matlab yaad iska uttar kahun main toh pehla aur jo aayega ki nahi yah sahi nahi hai kyonki iske kuch reason hai ki rahu apni jab Mahadasha ke samay aapke karmon se bhagya jodkar hi aapko deta hai jo bhi deta hai toh yadi aap apne karmon ko continue rakhte hain aap rukte nahi apne karmon ko karne se jo bhi aapne paya hai usko save karne ke liye bhi aapko karm karna padta hai toh aapki vaah cheezen wapas nahi jayegi yah ho sakta hai ki rahu ki Mahadasha me aapko kuch chadhav mile ho aur uske baad aap kuch utarane ki sthiti me ho jeevan me yah sambhav ho sakta hai lekin jo deta hai vaah pura sab wapas le leta hai yah bilkul galat hai yah dharana galat hai rahu se darane ki bilkul avashyakta nahi hai rahu jo hai shayad rahe iske jis tarah se prabhav hote hain waise hi is ki anukulta a bhi hoti hain rahu grah ke bare me aur achi uchit jaankari ke liye aap hamare aestro bhoomi karyalay 1199 9676 par bhi sampark kar sakte hain aap apni vyaktigat kundali analysis kara sakte hain aestro bhoomi com par website par bhi sampark kar sakte hain dhanyavad

यह जो प्रश्न है कि राहु अपनी महादशा के दौरान जो देता है वह सब वापस भी ले जाता है यह प्रश्न

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  108
WhatsApp_icon
user

Chinta Haran Tripathi

Astrologer/Vastu Shastra

2:48
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ओम महासरस्वती प्रश्न क्या यह सच है कि वो अपने महादशा के दौरान जो कुछ देता है वह सब वापस ले लेता है मेरा मानना है ऐसा नहीं है या कुंडली में राहु की स्थित कहां है किन ग्रहों के साथ किन भाव में बैठा है अगर यह केंद्र त्रिकोण में राई योगकारक ग्रहों के साथ बैठा है तो अपनी दशा में महान राज्य की प्राप्ति देगी और अगर यह अपनी उच्च राशि में भी बैठा है स्थान में तो भी उस भाव का भाव शुभ फल देगा और अगर यह खराब है शान में बैठा है या अशुभ ग्रहों के साथ बैठा है अशुभ भावों के साथ बैठा है तो अपनी दशा में अशुभ फल ही दे सकती अपनी कोई राशि नहीं होती यह जिन कर्मों के साथ युक्त होता है उस भाव का स्वामी ओं के फल को देता है या जिस भाव में होता है उस भाव के स्वामी का फल देता है यार ऐसा नहीं है तो अशुभ फल देगा यह कहना है कि राहुल को अपनी महादशा में देता है वह सब वापस ले लेता है और कोई भी ग्रह है एक परिणाम नहीं देता वह किस भाव में बैठा है भाव का भी फायदे का राशि का फल देगा न मांस का फल देगा जिसमें वह निकाल देगा उसका फल देगा उसका फल देगा और नीच ग्रहों के साथ बहुत ही अशुभ फल देगा यह कहना उचित नहीं है की राहों जो कुछ देता है वापस ले लेता है हां किसी महान पापी ग्रह की अंतर्दशा महादशा में अंतर्दशा चल रही तो हो सकता है कुछ उम्र करें अमिता ऐसा कहीं शास्त्र में नहीं लिखा है पंडित चिंतामणि त्रिपाठी बाद शास्त्र लखनऊ व्हाट्सएप नंबर

om mahasaraswati prashna kya yah sach hai ki vo apne Mahadasha ke dauran jo kuch deta hai vaah sab wapas le leta hai mera manana hai aisa nahi hai ya kundali mein rahu ki sthit kaha kin grahon ke saath kin bhav mein baitha hai agar yah kendra trikon mein rai yogkarak grahon ke saath baitha hai toh apni dasha mein mahaan rajya ki prapti degi aur agar yah apni ucch rashi mein bhi baitha hai sthan mein toh bhi us bhav ka bhav shubha fal dega aur agar yah kharab hai shan mein baitha hai ya ashubh grahon ke saath baitha hai ashubh bhavon ke saath baitha hai toh apni dasha mein ashubh fal hi de sakti apni koi rashi nahi hoti yah jin karmon ke saath yukt hota hai us bhav ka swami on ke fal ko deta hai ya jis bhav mein hota hai us bhav ke swami ka fal deta hai yaar aisa nahi hai toh ashubh fal dega yah kehna hai ki rahul ko apni Mahadasha mein deta hai vaah sab wapas le leta hai aur koi bhi grah hai ek parinam nahi deta vaah kis bhav mein baitha hai bhav ka bhi fayde ka rashi ka fal dega na maas ka fal dega jisme vaah nikaal dega uska fal dega uska fal dega aur neech grahon ke saath bahut hi ashubh fal dega yah kehna uchit nahi hai ki rahon jo kuch deta hai wapas le leta hai haan kisi mahaan papi grah ki antardasha Mahadasha mein antardasha chal rahi toh ho sakta hai kuch umr kare Amita aisa kahin shastra mein nahi likha hai pandit chintamani tripathi baad shastra lucknow whatsapp number

ओम महासरस्वती प्रश्न क्या यह सच है कि वो अपने महादशा के दौरान जो कुछ देता है वह सब वापस ले

Romanized Version
Likes  136  Dislikes    views  1142
WhatsApp_icon
user
0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार क्या यह सच है कि राव हूं अपनी दशा के दौरान जो कुछ देता वास वापस वापस ले जाते यह नहीं है यह किसी सिद्धांत से मारने नहीं है यह कष्टप्रद तो होते हैं पर शुभ स्थान में रहने पर जातक को व्यवस्थित भी रखते हैं और उसका यश और बल भी बढ़ाते हैं

namaskar kya yah sach hai ki rav hoon apni dasha ke dauran jo kuch deta was wapas wapas le jaate yah nahi hai yah kisi siddhant se maarne nahi hai yah kashtaprad toh hote hain par shubha sthan mein rehne par jatak ko vyavasthit bhi rakhte hain aur uska yash aur bal bhi badhate hain

नमस्कार क्या यह सच है कि राव हूं अपनी दशा के दौरान जो कुछ देता वास वापस वापस ले जाते यह नह

Romanized Version
Likes  40  Dislikes    views  216
WhatsApp_icon
user
1:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ज्योतिष शास्त्र में मिथुन राशि में राहु पहुंचे और धनु राशि में राहु पूरी तरह से बताइए यह कुछ विद्वान बताते कुंभ में और मकर में भी राहु शुभ फल देते हैं राहु की महादशा में ज्योतिष शास्त्रों में जो मेहर राहु की महादशा में राहु की महादशा शुभ स्थिति में है राहु 27 भावेश में नहीं है तो उसका फल हमेशा अच्छा ही रहेगा लेकिन एक सार्वभौमिक नियम है कि राहु में केतु की अंतर्दशा राहु के द्वारा दिया हुआ संपूर्ण चीजों को अपनी अंतर्दशा में नष्ट कर देती है मेरे देखने में भी एक दो उदाहरण से आए हैं लेकिन पहले से तैयारी की जाए सचेत रहा जाए तो राहु केतु में केतु की अंतर्दशा में अत्यधिक रिस्क से बचा जा सकता है और होता है यह है कि व्यक्ति अपने कमाई का संपूर्ण धन किसी बिजनेस में कितने पर्सेंट करता है जो फस जाता है राहु में केतु की अंतर्दशा में धन फंसता है बाकी ऐसा हर जगह नहीं है दशा का सफेद दाग के उपाय किए जाएं केतु की अंतर्दशा में अत्यधिक देश का ना लिया जाए शांति चित्र जीवन दिया जाए तो राहु का दिया हुआ चीज रहता

jyotish shastra me maithun rashi me rahu pahuche aur dhanu rashi me rahu puri tarah se bataiye yah kuch vidhwaan batatey kumbh me aur makar me bhi rahu shubha fal dete hain rahu ki Mahadasha me jyotish shastron me jo mehar rahu ki Mahadasha me rahu ki Mahadasha shubha sthiti me hai rahu 27 Bhavesh me nahi hai toh uska fal hamesha accha hi rahega lekin ek sarvabhaumik niyam hai ki rahu me Ketu ki antardasha rahu ke dwara diya hua sampurna chijon ko apni antardasha me nasht kar deti hai mere dekhne me bhi ek do udaharan se aaye hain lekin pehle se taiyari ki jaaye sachet raha jaaye toh rahu Ketu me Ketu ki antardasha me atyadhik risk se bacha ja sakta hai aur hota hai yah hai ki vyakti apne kamai ka sampurna dhan kisi business me kitne percent karta hai jo fas jata hai rahu me Ketu ki antardasha me dhan fansata hai baki aisa har jagah nahi hai dasha ka safed daag ke upay kiye jayen Ketu ki antardasha me atyadhik desh ka na liya jaaye shanti chitra jeevan diya jaaye toh rahu ka diya hua cheez rehta

ज्योतिष शास्त्र में मिथुन राशि में राहु पहुंचे और धनु राशि में राहु पूरी तरह से बताइए यह क

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  172
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा बिल्कुल भी नहीं है कि राहु अपनी दशा में सब कुछ देकर भी ले लेता है डिपेंड करता है कि राहु की स्थिति कुंडली में क्या है जरा वो किस पोजीशन में है किन ग्रहों से संबंध रखता है किन ग्रहों की दृष्टि उस पर पड़ती है या उसके दृष्टि केंद्रों पर पड़ती है तो उसके अनुसार फल मिला करता है

aisa bilkul bhi nahi hai ki rahu apni dasha mein sab kuch dekar bhi le leta hai depend karta hai ki rahu ki sthiti kundali mein kya hai zara vo kis position mein hai kin grahon se sambandh rakhta hai kin grahon ki drishti us par padti hai ya uske drishti kendron par padti hai toh uske anusaar fal mila karta hai

ऐसा बिल्कुल भी नहीं है कि राहु अपनी दशा में सब कुछ देकर भी ले लेता है डिपेंड करता है कि रा

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  115
WhatsApp_icon
user

shiv vikas kukreti

Astrologer 7011184904

1:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न है कि राहु अपनी महादशा के दौरान जो कुछ देता है वह सब वापस ले लेता है ऐसा बिल्कुल भी नहीं है क्योंकि राहु जब देता है महादशा में तो प्रारंभिक अवस्था में राहु बड़ी तीव्र गति से आकस्मिक धन लाभ देता है मानवी देता है पद प्रतिष्ठा भी देता है लेकिन डिपेंड करता है वह किन कार्यों में आपको लाभ देगा वह लाभ आपका अगर शेयर बाहर मार्केट से संबंधित है सट्टा बाजार से संबंधित है कोई कमीशन से संबंधित कोई अदलाब है आपको मिलना है या अन्य किसी तरीके से आपको आपके परिश्रम से अगर धन कमाया हुआ है तो निश्चित रूप से वह धन जब राहु समाप्ति की ओर होगा तो वह वापस नहीं लेगा राहु राहु कब वापिस लेगा अगर राहु की महादशा में आपने बुरे कर्म के सारा किसी को धोखा देकर के धन कमाया है झूठ बोल कर के धन कमाया है आप गलत मार्ग से आपने धन कमाया है तो वह धन वापस हो जाता है क्योंकि राहु की उतरते भी महादशा जब केतु से प्रारंभ होती है राहु में केतु की महादशा अंतर्दशा राहु में शुक्र की प्रत्यंतर दशा राहु में सूर्य की प्रत्यंतर दशा राहु में अंतर प्रत्यंतर दशा और राहु में चंद्रमा की अंतर्दशा उतरता हुआ राहु का फल निश्चित रूप से कष्टकारी होता है लेकिन यह भी देखना पड़ता है कि राहुल आपके किस भाव में बैठा है और आपके कर्म कैसे हैं

namaskar aapka prashna hai ki rahu apni Mahadasha ke dauran jo kuch deta hai vaah sab wapas le leta hai aisa bilkul bhi nahi hai kyonki rahu jab deta hai Mahadasha me toh prarambhik avastha me rahu badi tivra gati se aakasmik dhan labh deta hai manvi deta hai pad prathishtha bhi deta hai lekin depend karta hai vaah kin karyo me aapko labh dega vaah labh aapka agar share bahar market se sambandhit hai satta bazaar se sambandhit hai koi commision se sambandhit koi adalab hai aapko milna hai ya anya kisi tarike se aapko aapke parishram se agar dhan kamaya hua hai toh nishchit roop se vaah dhan jab rahu samapti ki aur hoga toh vaah wapas nahi lega rahu rahu kab vaapas lega agar rahu ki Mahadasha me aapne bure karm ke saara kisi ko dhokha dekar ke dhan kamaya hai jhuth bol kar ke dhan kamaya hai aap galat marg se aapne dhan kamaya hai toh vaah dhan wapas ho jata hai kyonki rahu ki utarate bhi Mahadasha jab Ketu se prarambh hoti hai rahu me Ketu ki Mahadasha antardasha rahu me shukra ki pratyantar dasha rahu me surya ki pratyantar dasha rahu me antar pratyantar dasha aur rahu me chandrama ki antardasha utarata hua rahu ka fal nishchit roop se kashtakari hota hai lekin yah bhi dekhna padta hai ki rahul aapke kis bhav me baitha hai aur aapke karm kaise hain

नमस्कार आपका प्रश्न है कि राहु अपनी महादशा के दौरान जो कुछ देता है वह सब वापस ले लेता है ऐ

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  128
WhatsApp_icon
user
1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों हमेशा हमने सुना है कि शनि व राहु कुछ और केतु क्या लिखे राहु जाता है शनि कैसे काम करता है और केतु जो रहता है वह कुछ यानी के मंगल और शनि की दशा 19 साल की होती है राहुल की 18 साल की होती है यह भी स्लो मूविंग प्लेनेट है तो इसलिए यह कहना जरूर यह कहना है एकदम ठीक नहीं है क्या महादशा में राहु जो फल देगा वह इसे खत्म होगा तो वैसे ही वह वापस लेना स्टार्ट कर देगा क्योंकि दारू कहां बैठा है किसके साथ बैठा है कितने डिग्री का है कौन से नक्षत्र में चाहिए सब बहुत जरूरी है देखना मूल प्रश्न जो यह है आपका कि जो देगा बोलेगा वह सरासर गलत है धन्यवाद

namaskar doston hamesha humne suna hai ki shani va rahu kuch aur Ketu kya likhe rahu jata hai shani kaise kaam karta hai aur Ketu jo rehta hai vaah kuch yani ke mangal aur shani ki dasha 19 saal ki hoti hai rahul ki 18 saal ki hoti hai yah bhi slow moving planet hai toh isliye yah kehna zaroor yah kehna hai ekdam theek nahi hai kya Mahadasha me rahu jo fal dega vaah ise khatam hoga toh waise hi vaah wapas lena start kar dega kyonki daaru kaha baitha hai kiske saath baitha hai kitne degree ka hai kaun se nakshtra me chahiye sab bahut zaroori hai dekhna mul prashna jo yah hai aapka ki jo dega bolega vaah sarasar galat hai dhanyavad

नमस्कार दोस्तों हमेशा हमने सुना है कि शनि व राहु कुछ और केतु क्या लिखे राहु जाता है शनि कै

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  219
WhatsApp_icon
user

Astro Anupam

Astrologer

0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नहीं जी ऐसा नहीं है यह भ्रम मात्र है कि राहुल की एक प्रवृत्ति होती है कि हर एक चीज वह अचानक देता है अचानक नुकसान भी ले सकता है अचानक फायदा भी देता है पर जो है वह यह पता लग लग सकता लग्नाची राहु आपकी कुंडली में बैठना कहां पर है कौन से घर में बैठा कौन से ग्रह पर नजर उसकी दृष्टि है उसके तरीके से वह अपना फल देता है हां पर यह चलता है कि वह जो है अपने जो की दशा में देता है और वह वापस भी ले लेता है ऐसा कुछ भी नहीं है

nahi ji aisa nahi hai yah bharam matra hai ki rahul ki ek pravritti hoti hai ki har ek cheez vaah achanak deta hai achanak nuksan bhi le sakta hai achanak fayda bhi deta hai par jo hai vaah yah pata lag lag sakta lagnachi rahu aapki kundali me baithana kaha par hai kaun se ghar me baitha kaun se grah par nazar uski drishti hai uske tarike se vaah apna fal deta hai haan par yah chalta hai ki vaah jo hai apne jo ki dasha me deta hai aur vaah wapas bhi le leta hai aisa kuch bhi nahi hai

नहीं जी ऐसा नहीं है यह भ्रम मात्र है कि राहुल की एक प्रवृत्ति होती है कि हर एक चीज वह अचान

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  83
WhatsApp_icon
user

Ganesh Shastri

Astrologer

1:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी आपका प्रश्न है कि भाई यह क्या सच्चे के राहु महादशा के अंदर जो कुछ भी देता है वह वापस भी ले लेता है जी ऐसा नहीं है राहु और केतु यह दोनों एक ही हुआ करते थे और देखा जाए तो इनके इनके ऊपर एक प्रहार हुआ था जो शेष था वो केतु बना था और जो धरता वह राहु बना था तो इन दोनों को नौ ग्रह के अंदर में जगह प्राप्त हुई थी और यह राहु और केतु जो है यह शनि के शिष्य और मित्र और उसके मित्र ग्रह माने जाते हैं तो अगर राहु का प्रभाव किसी व्यक्ति के ऊपर पड़ता है तो शनि का प्रभाव भी उसको झेलना पड़ेगा और केतु का प्रभाव पड़ता है तो राहु और शनि का प्रभाव दोनों जनों को झेलना पड़ेगा इसके अंदर देखा जाए तो अगर आपका शनि बलवान है तो राहु केतु आपको कुछ नहीं बिगाड़ सकते और राहुल होता है यह इंसान को ऊपर से नीचे ही लेकर आता है बाकी आगे नहीं लेकर जाता धन हानि मान हमें झूठा कलंक कर्जा किया किसी ने भरना आपको पड़ जाए इस तरह के के युगों के अंदर में यह फसा देता या तक कारावास तक आज के युग में इंसान के जीवन के अंदर में लिखकर आता है उस इंसान के नहीं तो ₹2 की बरकत हो पाती है उसके कार्य और लोहे से संबंधित कार्य के अंदर में उनको बहुत ज्यादा घाटा होता है तो राहु का प्रकोप जो है इसके लिए आप हो सके तो राहु की शांति करवाने की कोशिश करें यार गोमेद धारण करें

ji aapka prashna hai ki bhai yah kya sacche ke rahu Mahadasha ke andar jo kuch bhi deta hai vaah wapas bhi le leta hai ji aisa nahi hai rahu aur Ketu yah dono ek hi hua karte the aur dekha jaaye toh inke inke upar ek prahaar hua tha jo shesh tha vo Ketu bana tha aur jo dharata vaah rahu bana tha toh in dono ko nau grah ke andar me jagah prapt hui thi aur yah rahu aur Ketu jo hai yah shani ke shishya aur mitra aur uske mitra grah maane jaate hain toh agar rahu ka prabhav kisi vyakti ke upar padta hai toh shani ka prabhav bhi usko jhelna padega aur Ketu ka prabhav padta hai toh rahu aur shani ka prabhav dono jano ko jhelna padega iske andar dekha jaaye toh agar aapka shani balwan hai toh rahu Ketu aapko kuch nahi bigad sakte aur rahul hota hai yah insaan ko upar se niche hi lekar aata hai baki aage nahi lekar jata dhan hani maan hamein jhutha kalank karja kiya kisi ne bharna aapko pad jaaye is tarah ke ke yugon ke andar me yah fasa deta ya tak karavas tak aaj ke yug me insaan ke jeevan ke andar me likhkar aata hai us insaan ke nahi toh Rs ki barkat ho pati hai uske karya aur lohe se sambandhit karya ke andar me unko bahut zyada ghata hota hai toh rahu ka prakop jo hai iske liye aap ho sake toh rahu ki shanti karwane ki koshish kare yaar gomed dharan kare

जी आपका प्रश्न है कि भाई यह क्या सच्चे के राहु महादशा के अंदर जो कुछ भी देता है वह वापस भी

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  117
WhatsApp_icon
user

Jitendra Varma

Astrologer_#vastu_Expert

2:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह सब नहीं है कि राहु अपनी महादशा में जो देता है उसे छीन लेता है बल्कि उल्टा है इसका राहु की महादशा स्टार्ट होते ही गांव की पोजीशन पर डिपेंड करता है वह किस घर में बैठा हुआ है इस राशि में बैठा हुआ है कौन क्या क्या उस पर दृष्टि पड़ रहे हैं किस-किस ग्रहों की दृष्टि पर है उस पर डिपेंड करता है फिलहाल स्वतंत्र विचार करते हैं राहु के बारे में तो राहु की दशा में जब राहु में राहु रहता है स्टार्टिंग में तो व्यक्ति को खूब दौड़ आता भगाता परेशान करता है मानसिक उलझनें देता है बहुत मासी तनाव देता है व्यक्ति यदि बहुत सारा काम करता है उसका रिजल्ट बहुत कम मात्रा में मिलता है और इसी प्रकार से राहु अपने 18 वर्ष की दशा में व्यक्ति को स्टार्टिंग में बहुत परेशान करता है मध्य अवस्था तक उसको बहुत डिस्टर्ब करें रहता है पेट संबंधी समस्याएं देता है मानसिक उलझन लेता है अत्यधिक क्रोध देता है पेट के ऑपरेशन संक्रिया गिराता राहों में शनि पर पेड़ से संबंधित कर कष्ट देता है संक्रिया तक करा देता है व्यक्ति की और व्यक्ति आशा असामाजिक तत्वों से उड़ता रहता है जिससे आत्मक कर कष्टों से रहता है परंतु राहु जब जा जाते जाते अंतिम के जब दो ढाई साल बसते हैं तो वह जो इतना चिंता है वह सब दे देता है व्यक्ति को बल्कि उससे ज्यादा देता है यदि व्यक्ति ईमानदारी से अपने समय गुजारता है बेमानी नहीं करता है किसी कुशन कपट नहीं करता है तो राजू राहुल बहुत देता यदि राहु फेवर का है तो व्यक्ति को करोड़पति बना देता है राहु राहु अगर ऐसा है जो व्यक्ति को रंक को राजा बना सकता है राहु ही एक ऐसा है जो व्यक्ति की समस्त समस्याओं को दूर कर सकता है बहुत तेजी से उसको उन्नति दे सकता है तो राहु के उपाय आपने पूछा वह उसके ऑपोजिट है राहुल लास्ट में जाते-जाते देखी जाता है बल्कि अत्यधिक दे देता है धन्यवाद

yah sab nahi hai ki rahu apni Mahadasha me jo deta hai use cheen leta hai balki ulta hai iska rahu ki Mahadasha start hote hi gaon ki position par depend karta hai vaah kis ghar me baitha hua hai is rashi me baitha hua hai kaun kya kya us par drishti pad rahe hain kis kis grahon ki drishti par hai us par depend karta hai filhal swatantra vichar karte hain rahu ke bare me toh rahu ki dasha me jab rahu me rahu rehta hai starting me toh vyakti ko khoob daudh aata bhagata pareshan karta hai mansik ulajhanen deta hai bahut maasi tanaav deta hai vyakti yadi bahut saara kaam karta hai uska result bahut kam matra me milta hai aur isi prakar se rahu apne 18 varsh ki dasha me vyakti ko starting me bahut pareshan karta hai madhya avastha tak usko bahut disturb kare rehta hai pet sambandhi samasyaen deta hai mansik uljhan leta hai atyadhik krodh deta hai pet ke operation sankriya girata rahon me shani par ped se sambandhit kar kasht deta hai sankriya tak kara deta hai vyakti ki aur vyakti asha asamajik tatvon se udta rehta hai jisse aatmkatha kar kaston se rehta hai parantu rahu jab ja jaate jaate antim ke jab do dhai saal baste hain toh vaah jo itna chinta hai vaah sab de deta hai vyakti ko balki usse zyada deta hai yadi vyakti imaandaari se apne samay gujarata hai bemani nahi karta hai kisi cushion kapat nahi karta hai toh raju rahul bahut deta yadi rahu favour ka hai toh vyakti ko crorepati bana deta hai rahu rahu agar aisa hai jo vyakti ko rank ko raja bana sakta hai rahu hi ek aisa hai jo vyakti ki samast samasyaon ko dur kar sakta hai bahut teji se usko unnati de sakta hai toh rahu ke upay aapne poocha vaah uske opposite hai rahul last me jaate jaate dekhi jata hai balki atyadhik de deta hai dhanyavad

यह सब नहीं है कि राहु अपनी महादशा में जो देता है उसे छीन लेता है बल्कि उल्टा है इसका राहु

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  84
WhatsApp_icon
user

Chanderkant

Astrology

0:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसा नहीं है कि राहु अपनी मां दशा के दौरान जो कुछ देता है वह सब वापस ले लेता है जीवन में कोई भी चीज स्थाई नहीं है सब आती है और जाती हैं

aisa nahi hai ki rahu apni maa dasha ke dauran jo kuch deta hai vaah sab wapas le leta hai jeevan me koi bhi cheez sthai nahi hai sab aati hai aur jaati hain

ऐसा नहीं है कि राहु अपनी मां दशा के दौरान जो कुछ देता है वह सब वापस ले लेता है जीवन में को

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  103
WhatsApp_icon
user

Pawan Sharma

Astrologer

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसी कोई बात नहीं है राहु की महादशा बहुत अच्छी होती है और राहु की महादशा में व्यक्ति को ज्यादा उतार-चढ़ाव देखने पड़ते हैं थोड़ी मेहनत ज्यादा क्यों नहीं पड़ती है डिसीजन लेने में बहुत सारी दिक्कतें आती है परंतु राहु बहुत कुछ सिखा देता है जीवन क्या है लोग रिश्तेदार यार मित्र कैसे हैं उनके बारे में सब के बारे में राहुल सिखा देता है समाज परिवार क्या है उन सब की जानकारी राहु में राहु की महादशा में हो जाती है

aisi koi baat nahi hai rahu ki Mahadasha bahut achi hoti hai aur rahu ki Mahadasha me vyakti ko zyada utar chadhav dekhne padate hain thodi mehnat zyada kyon nahi padti hai decision lene me bahut saari dikkaten aati hai parantu rahu bahut kuch sikha deta hai jeevan kya hai log rishtedar yaar mitra kaise hain unke bare me sab ke bare me rahul sikha deta hai samaj parivar kya hai un sab ki jaankari rahu me rahu ki Mahadasha me ho jaati hai

ऐसी कोई बात नहीं है राहु की महादशा बहुत अच्छी होती है और राहु की महादशा में व्यक्ति को ज्य

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  128
WhatsApp_icon
user

Astrologer & Vaastu Vid Pankaj Mehra

Astrologer & Vaastu Lecturer & Consultant

0:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह सच नहीं आएंगे और राहु यदि इनफॉरमेशन अच्छी हो तो कोई प्रॉब्लम नहीं आते लेकिन यदि फॉरमेशन अच्छी नहीं हो तो किसी भी टाइम बेबी आपको फोन कर सकता हूं

yah sach nahi aayenge aur rahu yadi information achi ho toh koi problem nahi aate lekin yadi formation achi nahi ho toh kisi bhi time baby aapko phone kar sakta hoon

यह सच नहीं आएंगे और राहु यदि इनफॉरमेशन अच्छी हो तो कोई प्रॉब्लम नहीं आते लेकिन यदि फॉरमेशन

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  108
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखें आपने पूछा कि राहु अपनी मां दशा में जो कुछ भी देता है क्या वह वापस ले लेता क्या आपको मालूम है राहु की महादशा कितने साल चलती है राहु की महादशा 17 साल चलती है 17 इयर्स आर प्लांट के अंदर महादशा के अलावा अंतर्दशा और प्रत्यंतर दशा भी चलती है और जिन ग्रहों की अंतर्दशा और प्रत्यंतर दशा चलती है वह भी अपना प्रभाव आपके जीवन पर छोड़ते हैं यह ग्रहों की भाव में उपस्थिति उनके ऊपर अपनी दृष्टि वर्क इन भावों को देख रहे हैं क्या वह चुके हैं या नीच के हैं या कोई योग बना रहे हैं यह त्रिकोण में पड़े हैं या वह त्रिक भावों में पड़े हैं यह सब कुछ देखने के बाद ही किसी ग्रह के बारे में परीक्षण की जा सकती है तो राहु के बारे में यह कहना गलत है कि राहुल सब कुछ वापस ले लेता हो सकता राहु त्रिकोण में नवम भाव में भाग्य स्थान में उच्च का पड़ा पड़ा हो तो वहां से वह लगन को देखेगा पांचवी दृष्टि से सातवीं दृष्टि से जो है वह आपके एफर्ट्स के भाग को देखेगा और नवीन दृष्टि से वह आपके पूर्व पुण्य यानी पांचवें भाव सट्टा लॉटरी को देखेगा तो रघु जो है अचानक बहुत कुछ देता है लेकिन जरूरी नहीं है कि वह वापस भी ले इस पर निर्भर करता है कि उसके अंतरे में कौन सी दशा आ गई और राहु कहां पर ट्रांजिट कर रहा है गोचर कर रहा है राहु के ऊपर कौन से ग्रह गोचर कर रहें एक कंबीनेशन नहीं है इधर से बताया जा सके कि उसकी महादशा के दौरान क्या फल होगा बेहतर यही है कि आप अपनी कुंडली दिखाने की सभी ग्रहों का मिलान करें कि ही किसी ग्रह के बारे में जो है विवेचना की जा सकती है उसके लिए आप मेरा नंबर 884 7070 175 नोट करना नहीं चाहता अरोड़ा

dekhen aapne poocha ki rahu apni maa dasha me jo kuch bhi deta hai kya vaah wapas le leta kya aapko maloom hai rahu ki Mahadasha kitne saal chalti hai rahu ki Mahadasha 17 saal chalti hai 17 years R plant ke andar Mahadasha ke alava antardasha aur pratyantar dasha bhi chalti hai aur jin grahon ki antardasha aur pratyantar dasha chalti hai vaah bhi apna prabhav aapke jeevan par chodte hain yah grahon ki bhav me upasthitee unke upar apni drishti work in bhavon ko dekh rahe hain kya vaah chuke hain ya neech ke hain ya koi yog bana rahe hain yah trikon me pade hain ya vaah triyak bhavon me pade hain yah sab kuch dekhne ke baad hi kisi grah ke bare me parikshan ki ja sakti hai toh rahu ke bare me yah kehna galat hai ki rahul sab kuch wapas le leta ho sakta rahu trikon me navam bhav me bhagya sthan me ucch ka pada pada ho toh wahan se vaah lagan ko dekhega paanchvi drishti se satvi drishti se jo hai vaah aapke efforts ke bhag ko dekhega aur naveen drishti se vaah aapke purv punya yani panchwe bhav satta lottery ko dekhega toh raghu jo hai achanak bahut kuch deta hai lekin zaroori nahi hai ki vaah wapas bhi le is par nirbhar karta hai ki uske antare me kaun si dasha aa gayi aur rahu kaha par tranjit kar raha hai gochar kar raha hai rahu ke upar kaun se grah gochar kar rahein ek combination nahi hai idhar se bataya ja sake ki uski Mahadasha ke dauran kya fal hoga behtar yahi hai ki aap apni kundali dikhane ki sabhi grahon ka milaan kare ki hi kisi grah ke bare me jo hai vivechna ki ja sakti hai uske liye aap mera number 884 7070 175 note karna nahi chahta arora

देखें आपने पूछा कि राहु अपनी मां दशा में जो कुछ भी देता है क्या वह वापस ले लेता क्या आपको

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  344
WhatsApp_icon
user

Brajwasi sharma

Astrologer

0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भाई बिल्कुल सही बात है ग्रह की दशा में जमा धमकी देता हूं वापस भी ले लेता है उसके लिए आप क्या करें थोड़ी साधना करें किसी भी देवता की साधना से प्रधान बंगर साधना आपकी तो दाल होगी ना तो राहु और केतु और शनि के सारे के सारे आपके सारे पर घूमने लगते तो फिर आपको परेशान नहीं करेंगे अब हनुमान जी की स्थापना करेंगे शनि और राहु और केतु आपको परेशान नहीं करेंगे इतना है हम तो ईश्वर मंगलकारी आपका धन्यवाद

bhai bilkul sahi baat hai grah ki dasha me jama dhamki deta hoon wapas bhi le leta hai uske liye aap kya kare thodi sadhna kare kisi bhi devta ki sadhna se pradhan bangar sadhna aapki toh daal hogi na toh rahu aur Ketu aur shani ke saare ke saare aapke saare par ghoomne lagte toh phir aapko pareshan nahi karenge ab hanuman ji ki sthapna karenge shani aur rahu aur Ketu aapko pareshan nahi karenge itna hai hum toh ishwar mangalkari aapka dhanyavad

भाई बिल्कुल सही बात है ग्रह की दशा में जमा धमकी देता हूं वापस भी ले लेता है उसके लिए आप क्

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  183
WhatsApp_icon
user
0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यह आपके जन्म कुंडली पर आधारित होता है कि राहु की महादशा आपके लिए तय की जाएगी जब तक इसको नहीं समझा जाएगा उत्तर देना

yah aapke janam kundali par aadharit hota hai ki rahu ki Mahadasha aapke liye tay ki jayegi jab tak isko nahi samjha jaega uttar dena

यह आपके जन्म कुंडली पर आधारित होता है कि राहु की महादशा आपके लिए तय की जाएगी जब तक इसको नह

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  229
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!