पितृ दोष या पित्रु दोष क्या होता है?...


play
user

Pt.BRAJESH JI.9827290276

Astrologer,Rashi Ratna & Vastu Visesagya.

3:00

Likes  51  Dislikes    views  581
WhatsApp_icon
10 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

फैशन का आध्यात्मिक से रिश्ता टूटता जा रहा है जिसके कारण कई परंपराएं हैं वह क्रियाएं होती है यह पूरी नहीं हो पा रही है कुछ हमारे पूर्वजों का जो कर्म है बुरे कर्मों सकते अच्छे कर्म हो सकते हैं या पूर्वजों का कोई अंतिम संस्कार है वह ठीक तरीके से नहीं हो पाया किसी को कष्ट हुआ है तो इस तरीके के निशान में जातक की कुंडली में पितृदोष भी कह सकते हैं कि मृत पूर्वजों की आत्मा तृप्त हो गई है तो वह क्या है कि परिवार के लोगों को परेशानी देकर अपनी इच्छा पूरी करने के लिए प्रश्न डालती है पितृदोष के रूप में कुंडली में दिखता है उसे पढ़ सकते हैं एसएस का विवाह नहीं हो सकता या विवाह जीवन में कलह हो जाए जितनी मेहनत करना है उतना नाश्ते में फंस सकता है नौकरी नहीं लगना अब बार-बार नौकरी का छूट जाना बच्चे नहीं हो पा रहे हैं इसके कारण हो सकती है इसके उपचार है उसका उनको करके इस दोष से मुक्ति पाई जा सकती है

fashion ka aadhyatmik se rishta tootata ja raha hai jiske karan kai paramparayen hain vaah kriyaen hoti hai yah puri nahi ho paa rahi hai kuch hamare purvajon ka jo karm hai bure karmon sakte acche karm ho sakte hain ya purvajon ka koi antim sanskar hai vaah theek tarike se nahi ho paya kisi ko kasht hua hai toh is tarike ke nishaan mein jatak ki kundali mein pitridosh bhi keh sakte hain ki mrit purvajon ki aatma tript ho gayi hai toh vaah kya hai ki parivar ke logo ko pareshani dekar apni iccha puri karne ke liye prashna daalti hai pitridosh ke roop mein kundali mein dikhta hai use padh sakte hain SS ka vivah nahi ho sakta ya vivah jeevan mein kalah ho jaaye jitni mehnat karna hai utana naste mein fans sakta hai naukri nahi lagna ab baar baar naukri ka chhut jana bacche nahi ho paa rahe hain iske karan ho sakti hai iske upchaar hai uska unko karke is dosh se mukti payi ja sakti hai

फैशन का आध्यात्मिक से रिश्ता टूटता जा रहा है जिसके कारण कई परंपराएं हैं वह क्रियाएं होती ह

Romanized Version
Likes  124  Dislikes    views  4019
WhatsApp_icon
user

Vimal Kishor

Astrologer

1:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वर्तमान में कुंडली सिद्ध होता है

vartmaan mein kundali siddh hota hai

वर्तमान में कुंडली सिद्ध होता है

Romanized Version
Likes  151  Dislikes    views  2588
WhatsApp_icon
user

U. C Jain

Jyotish And Vaastu Consultant

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पितृदोष होता है क्या जो है राहु और सूर्य यह मतलब पिता और पुत्र के संबंध के लिए हो गया कर चली हमने किस लिए जन्मदिन की कैसे करती है पिता को राष्ट्रीय पिता पिता पिता की हत्या कर दी तो कोई जन्म कुंडली

pitridosh hota hai kya jo hai rahu aur surya yah matlab pita aur putra ke sambandh ke liye ho gaya kar chali humne kis liye janamdin ki kaise karti hai pita ko rashtriya pita pita pita ki hatya kar di toh koi janam kundali

पितृदोष होता है क्या जो है राहु और सूर्य यह मतलब पिता और पुत्र के संबंध के लिए हो गया कर च

Romanized Version
Likes  139  Dislikes    views  2629
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कालसर्प दोष पित्र दोष इन सब के नाम पर जो है देखा जाए तो व्यवस्था बहुत अधिक बढ़ गई है कि शांति कालू जी हो जाएगा 50000 देशों की सजा दे दो सुनने के बाद पुलिस उसे हमारे आसपास कहीं ना कहीं और महीने में कितने पक्ष में और कहां जाता है कि वह हमारे घर के दरवाजे पर आगे बढ़ जाते हैं भोजन और सब चीजें डाल देंगे और भोजन देते हैं अपितु अपितु कष्ट नहीं देते क्यों नहीं देते हम तो उनके काम कर रहे हैं धन्यवाद देने के लिए होते हैं आपकी सहायता करने के लिए होते हैं किंतु शास्त्रों में ऐसा उल्लेख है कि ऐसे लोग जो अकाल मृत्यु को प्राप्त होते हैं अगर नहीं दुर्घटना में या किसी कारण से आती होगी तो उनकी प्रॉपर्टी नहीं होने पर भी जाती है और उनसे तर्पण पूजन वगैरह नहीं होता तो उनकी आत्माएं भटकती रहती है तो कभी-कभी मनुष्य के जीवन में बहुत ही आपकी तरह बहुत कम लोगों को का सामना करना पड़ता है जो भी बन सकता है वह सब मैक्सिमम अधिक से अधिक उसमें करते हैं लेकिन थोड़ा और परेशान करने का काम करती है उनके कारण थोड़ी बहुत परेशानी होती है तो

kalsarp dosh pitra dosh in sab ke naam par jo hai dekha jaaye toh vyavastha bahut adhik badh gayi hai ki shanti kalu ji ho jaega 50000 deshon ki saza de do sunne ke baad police use hamare aaspass kahin na kahin aur mahine mein kitne paksh mein aur kahaan jata hai ki vaah hamare ghar ke darwaze par aage badh jaate hai bhojan aur sab cheezen daal denge aur bhojan dete hai apitu apitu kasht nahi dete kyon nahi dete hum toh unke kaam kar rahe hai dhanyavad dene ke liye hote hai aapki sahayta karne ke liye hote hai kintu shastron mein aisa ullekh hai ki aise log jo akaal mrityu ko prapt hote hai agar nahi durghatna mein ya kisi karan se aati hogi toh unki property nahi hone par bhi jaati hai aur unse tarpan pujan vagera nahi hota toh unki aatmaen bhatakti rehti hai toh kabhi kabhi manushya ke jeevan mein bahut hi aapki tarah bahut kam logo ko ka samana karna padta hai jo bhi ban sakta hai vaah sab maximum adhik se adhik usme karte hai lekin thoda aur pareshan karne ka kaam karti hai unke karan thodi bahut pareshani hoti hai toh

कालसर्प दोष पित्र दोष इन सब के नाम पर जो है देखा जाए तो व्यवस्था बहुत अधिक बढ़ गई है कि शा

Romanized Version
Likes  150  Dislikes    views  2595
WhatsApp_icon
user

Dr. Ravindra Kumar

Asrtologers & Numerologists.

1:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पित्र दोष नही होता है कि हम अपने पिता के पिता के पिता और माता की भौसी हमको सेवा और आदर करनी चाहिए और उनका आशीर्वाद है आशीर्वाद में बहुत शक्ति होती है आपको पता होगा कि महाभारत में कहा जाता है कि दुर्योधन को बहुत नुकसान उठाने पड़े और उसका मुख्य कारण यह था कि उसको किसी ने आशीर्वाद नहीं दिया क्योंकि उसके व्यवहार में तुलसी थी तो जो अपने पिता और पितामह की जन्म पत्रिका चार्ट चंदन मिश्रा जाता है मंत्र जाप करें पितृदोष भी हो सकता है

pitra dosh nahi hota hai ki hum apne pita ke pita ke pita aur mata ki bhausi hamko seva aur aadar karni chahiye aur unka ashirvaad hai ashirvaad mein bahut shakti hoti hai aapko pata hoga ki mahabharat mein kaha jata hai ki duryodhan ko bahut nuksan uthane pade aur uska mukhya karan yah tha ki usko kisi ne ashirvaad nahi diya kyonki uske vyavhar mein tulsi thi toh jo apne pita aur pitamah ki janam patrika chart chandan mishra jata hai mantra jaap kare pitridosh bhi ho sakta hai

पित्र दोष नही होता है कि हम अपने पिता के पिता के पिता और माता की भौसी हमको सेवा और आदर करन

Romanized Version
Likes  86  Dislikes    views  1345
WhatsApp_icon
user

Dr Ravindra kumar

Ayurvedic Doctor

1:04
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पित्र दोष नही होता है कि हम अपने पिता के पिता के पिता और माता की भौसी हमको सेवा और आदर करनी चाहिए और उनका आशीर्वाद है आशीर्वाद में बहुत शक्ति होती है आपको पता होगा कि महाभारत में कहा जाता है कि दुर्योधन को बहुत नुकसान उठाने पड़े और उसका मुख्य कारण यह था कि उसको किसी ने आशीर्वाद नहीं दिया क्योंकि उसके व्यवहार में तुलसी थी तो जो अपने पिता और पितामह की जन्म पत्रिका चार्ट चंदन मिश्रा जाता है मंत्र जाप करें तो पितृदोष भी हो सकता है

pitra dosh nahi hota hai ki hum apne pita ke pita ke pita aur mata ki bhausi hamko seva aur aadar karni chahiye aur unka ashirvaad hai ashirvaad mein bahut shakti hoti hai aapko pata hoga ki mahabharat mein kaha jata hai ki duryodhan ko bahut nuksan uthane pade aur uska mukhya karan yah tha ki usko kisi ne ashirvaad nahi diya kyonki uske vyavhar mein tulsi thi toh jo apne pita aur pitamah ki janam patrika chart chandan mishra jata hai mantra jaap kare toh pitridosh bhi ho sakta hai

पित्र दोष नही होता है कि हम अपने पिता के पिता के पिता और माता की भौसी हमको सेवा और आदर करन

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  232
WhatsApp_icon
user
0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विद्वान ब्राह्मणों की शांति का कारण कुंडली में आता है तो जनता के द्वारा कितने बड़े बुजुर्ग एवं सम्मान सम्मान जितना आप कहेंगे उत्तर प्रदेश काटेगा

vidwaan brahmanon ki shanti ka karan kundali mein aata hai toh janta ke dwara kitne bade bujurg evam sammaan sammaan jitna aap kahenge uttar pradesh katega

विद्वान ब्राह्मणों की शांति का कारण कुंडली में आता है तो जनता के द्वारा कितने बड़े बुजुर्ग

Romanized Version
Likes  31  Dislikes    views  391
WhatsApp_icon
user
0:23
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कुछ नहीं कहा चंद्रमा का चंद्रमा के साथ में पांच ग्रहों का केतु का राहुल गांधी का सहयोग हो जाता है याद आता माझी तो पितृदोष निर्मित होता है

kuch nahi kaha chandrama ka chandrama ke saath mein paanch grahon ka Ketu ka rahul gandhi ka sahyog ho jata hai yaad aata majhi toh pitridosh nirmit hota hai

कुछ नहीं कहा चंद्रमा का चंद्रमा के साथ में पांच ग्रहों का केतु का राहुल गांधी का सहयोग हो

Romanized Version
Likes  28  Dislikes    views  345
WhatsApp_icon
user

Chinta Haran Tripathi

Astrologer/Vastu Shastra

0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पृथ्वी-2 से होता है जैसे किसी ने हमारे पृथ्वी मलिक जो हमारे पूर्वज हैं उनकी मृत्यु के 30 शिक्षकों मरे हैं वह दिन का उस दिन उनकी पूजा की जाती है और अगर उनकी पूजा या सम्मान नहीं किया गया तो उससे जो आदमी में कुल विकार आता है या किसी प्रकार की कोई चीज आती है उसी को पितृ दोष खाते हैं

prithvi 2 se hota hai jaise kisi ne hamare prithvi malik jo hamare purvaj hain unki mrityu ke 30 shikshakon mare hain vaah din ka us din unki puja ki jaati hai aur agar unki puja ya sammaan nahi kiya gaya toh usse jo aadmi mein kul vikar aata hai ya kisi prakar ki koi cheez aati hai usi ko pitr dosh khate hain

पृथ्वी-2 से होता है जैसे किसी ने हमारे पृथ्वी मलिक जो हमारे पूर्वज हैं उनकी मृत्यु के 30 श

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  313
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!