क्या प्रभाव होता है अगर लग्न में रा हूँ और सातवें घर में केतु होता है?...


user

Jitendra Varma

Astrologer_#vastu_Expert

0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लग्न में राहु होने पर व्यक्ति को क्रोध बहुत आता है उसके चेहरे में यह सर में चोट जरूर लगेगी धैर्य कम होता है बहुत जल्दी आगरे से हो जाता है उसे उसका वैवाहिक जीवन में उथल-पुथल रहती है पत्नी भी क्रोधी और जिद्दी स्वभाव की होती है पत्नी के बीच चेहरे में कोई ना कोई दाग धब्बा का निशान होता है

lagn me rahu hone par vyakti ko krodh bahut aata hai uske chehre me yah sir me chot zaroor lagegi dhairya kam hota hai bahut jaldi agre se ho jata hai use uska vaivahik jeevan me uthal puthal rehti hai patni bhi krodhi aur jiddi swabhav ki hoti hai patni ke beech chehre me koi na koi daag dhabba ka nishaan hota hai

लग्न में राहु होने पर व्यक्ति को क्रोध बहुत आता है उसके चेहरे में यह सर में चोट जरूर लगेगी

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  101
WhatsApp_icon
29 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लग्न में राहु सातवें भाव में केतु हो तो व्यक्ति का जीवन व्यवहारिक जीवन छिन्न-भिन्न हो जाता है उसके जीवन में विधायक सुख की प्राप्ति नहीं होती है और अगर ऐसा कोई व्यक्ति है जिसके पास में प्राप्त नहीं होती है और किसी भी कार्य गृह क्लेश m-aadhaar चल रहे हैं तो मैं संपर्क करें उसके उपाय हाय जय श्री बाबा महाकाल

lagn me rahu satve bhav me Ketu ho toh vyakti ka jeevan vyavaharik jeevan chinn bhinn ho jata hai uske jeevan me vidhayak sukh ki prapti nahi hoti hai aur agar aisa koi vyakti hai jiske paas me prapt nahi hoti hai aur kisi bhi karya grah kalesh m aadhaar chal rahe hain toh main sampark kare uske upay hi jai shri baba mahakal

लग्न में राहु सातवें भाव में केतु हो तो व्यक्ति का जीवन व्यवहारिक जीवन छिन्न-भिन्न हो जाता

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  176
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राम राम मित्रों जैसा कि आप का सवाल है क्या प्रभाव होता है अगर लग्न में राहु और सातवें घर में क्यों होता है तो आपको सर्वप्रथम बताना चाहता हूं यह डिपेंड होता है लग्न के ऊपर कौन सी लग्न है आपकी अलग-अलग लखनऊ में राहु का प्रभाव

ram ram mitron jaisa ki aap ka sawaal hai kya prabhav hota hai agar lagn me rahu aur satve ghar me kyon hota hai toh aapko sarvapratham batana chahta hoon yah depend hota hai lagn ke upar kaun si lagn hai aapki alag alag lucknow me rahu ka prabhav

राम राम मित्रों जैसा कि आप का सवाल है क्या प्रभाव होता है अगर लग्न में राहु और सातवें घर म

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  100
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  18  Dislikes    views  258
WhatsApp_icon
user
1:34
Play

Likes  108  Dislikes    views  1153
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  77  Dislikes    views  746
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रसन्न है क्या प्रभाव होता है अगर लग्न में राहु और सातवें घर में केतु होते हैं तो सबसे पहले मैं आपको यह बताता हूं अगर लग्न में राहु हो तो उस जातक के शरीर से संबंधित कुछ ना कुछ बीमारी रहती है शरीर का रंग सांवला या कालेपन का होता है सातवें घर में अगर राहु हो अगर काल सर्प योग बना रहा है तो उसके जीवन में विकट परिस्थिति बन सकती है केवल लग्न में राहु और सातवें घर में केतु होने से अन्य कोई प्रॉब्लम नहीं होती तब तक अगर कालसर्प नहीं है तो

namaskar aapka prasann hai kya prabhav hota hai agar lagn me rahu aur satve ghar me Ketu hote hain toh sabse pehle main aapko yah batata hoon agar lagn me rahu ho toh us jatak ke sharir se sambandhit kuch na kuch bimari rehti hai sharir ka rang sanvala ya kalepan ka hota hai satve ghar me agar rahu ho agar kaal sarp yog bana raha hai toh uske jeevan me vikat paristhiti ban sakti hai keval lagn me rahu aur satve ghar me Ketu hone se anya koi problem nahi hoti tab tak agar kalsarp nahi hai toh

नमस्कार आपका प्रसन्न है क्या प्रभाव होता है अगर लग्न में राहु और सातवें घर में केतु होते ह

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  84
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लग्न में राहु एवं सप्तम भाव में केतु होना व्यक्ति के दांपत्य को प्रभावित करने वाला होता है व्यक्ति का दांपत्य जीवन प्रायः खराब रहता है परंतु यदि शुभ ग्रहों की दृष्टि चिति और सप्तमेश सप्तमेश की स्थिति अच्छी हो सप्तमेश उच्च से उच्च राशि में विराजमान हो और शुभ ग्रहों से संबंध करता हो तो फिर यह दोष कट जाता है

lagn me rahu evam saptam bhav me Ketu hona vyakti ke danpatya ko prabhavit karne vala hota hai vyakti ka danpatya jeevan prayah kharab rehta hai parantu yadi shubha grahon ki drishti chiti aur saptamesh saptamesh ki sthiti achi ho saptamesh ucch se ucch rashi me viraajamaan ho aur shubha grahon se sambandh karta ho toh phir yah dosh cut jata hai

लग्न में राहु एवं सप्तम भाव में केतु होना व्यक्ति के दांपत्य को प्रभावित करने वाला होता है

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  131
WhatsApp_icon
user

ASTRO GURU DR UMESH DWIVEDII WhatsApp No. 9782864507

Astrologer And Vastu Shastra Consultant

0:51
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लग्न में राहु लेकिन राहु किस नक्षत्र में यह भी बहुत एक महत्व रखता है इसकी उस नक्षत्र को देखकर उसकी स्थिति को तब बताया जा सकता है दूसरा के उसके ऊपर बाकी ग्रहों की क्या दृष्टि है कि से किसी बाकी ग्रहों से क्या उसका रिलेशन हो रहा है यह सब चीज देखने के बाद भी किसी आदमी को उसके राहु की स्थिति के बारे में एक अनुमान और कि तू किसी भी ऐसा है कि केतु का स्वभाव ऐसा होता है कि वह जैसे दूध के अंदर नींबू डालने से पानी को अलग कर देता है छेना को अलग कर देता है वह केतु की प्रकृति होती है लेकिन फिर मैं एक चीज और फिर बोलना चाहूंगा कि नक्षत्र किस नक्षत्र में केतु है कितने डिग्री पर है यह सब चीज देखने के बाद आदमी को उसका प्रेडिक्शन करना चाहिए

lagn me rahu lekin rahu kis nakshtra me yah bhi bahut ek mahatva rakhta hai iski us nakshtra ko dekhkar uski sthiti ko tab bataya ja sakta hai doosra ke uske upar baki grahon ki kya drishti hai ki se kisi baki grahon se kya uska relation ho raha hai yah sab cheez dekhne ke baad bhi kisi aadmi ko uske rahu ki sthiti ke bare me ek anumaan aur ki tu kisi bhi aisa hai ki Ketu ka swabhav aisa hota hai ki vaah jaise doodh ke andar nimbu dalne se paani ko alag kar deta hai chena ko alag kar deta hai vaah Ketu ki prakriti hoti hai lekin phir main ek cheez aur phir bolna chahunga ki nakshtra kis nakshtra me Ketu hai kitne degree par hai yah sab cheez dekhne ke baad aadmi ko uska predikshan karna chahiye

लग्न में राहु लेकिन राहु किस नक्षत्र में यह भी बहुत एक महत्व रखता है इसकी उस नक्षत्र को दे

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  75
WhatsApp_icon
user

Daivagya Krishna Shastri

Astrologer, Ved, Bhagvat Mahapuran

0:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जय श्री राधे कृष्णा श्रीमान जी प्रथम भाव का राहु विशेष शुभ नहीं माना जाता है किंतु वह है राहु किस भाव पर बैठा हुआ है किस लगने पर बैठा हुआ है और किसकी दृष्टि है इन सब को देखने के बाद ही राहु एवं केतु के फल के बारे में विचार एवं विमर्श किया जा सकता है किंतु उसके पूर्व में जिसके लग्न भाव में राहु बैठता है प्राय उसे बीमारियों में से शुगर इत्यादि की बीमारियों का सामना करना पड़ सकता है खून के संबंधित बीमारियों से ग्रसित हो सकता है एवं राहु के कारण मानसिक तनाव का भी सामना करना पड़ सकता है जय श्री राधे कृष्णा

jai shri radhe krishna shriman ji pratham bhav ka rahu vishesh shubha nahi mana jata hai kintu vaah hai rahu kis bhav par baitha hua hai kis lagne par baitha hua hai aur kiski drishti hai in sab ko dekhne ke baad hi rahu evam Ketu ke fal ke bare mein vichar evam vimarsh kiya ja sakta hai kintu uske purv mein jiske lagn bhav mein rahu baithta hai paraya use bimariyon mein se sugar ityadi ki bimariyon ka samana karna pad sakta hai khoon ke sambandhit bimariyon se grasit ho sakta hai evam rahu ke karan mansik tanaav ka bhi samana karna pad sakta hai jai shri radhe krishna

जय श्री राधे कृष्णा श्रीमान जी प्रथम भाव का राहु विशेष शुभ नहीं माना जाता है किंतु वह है र

Romanized Version
Likes  129  Dislikes    views  1902
WhatsApp_icon
play
user
0:13

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो दांपत्य जीवन और व्यवसायिक दोनों परेशानी रहेगी

hello danpatya jeevan aur vyavasayik dono pareshani rahegi

हेलो दांपत्य जीवन और व्यवसायिक दोनों परेशानी रहेगी

Romanized Version
Likes  121  Dislikes    views  4102
WhatsApp_icon
user

Gurudev Jyotish Kendra, Call-09334552913

Online Astrologer & Palmist, Gemstones Advice, Astrology Solution/Remedies

5:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो नमस्कार मैं ऑनलाइन अष्टभुजा बोल रहा हूं मेरा काम है ऑनलाइन ज्योतिष परामर्श देना आपके लाइफ में कोई भी समस्या हो क्या यह बिजनेस नौकरी स्टडी लव मैरिज इमली से रिलेटेड कोई भी सवाल लोग को भी तकलीफ हो लाइफ में कोई उलझन हो या किसी प्रकार का कोई कंफ्यूजन हो या कोई डिसीजन लेना चाहते हैं दूसरा नहीं ले पा रहे हैं इन सारी बातों में आप मुझसे सलाह ले सकते हैं ज्योतिष परामर्श ले सकते हैं इसके लिए आपको और मेरे को कॉल करना पड़ेगा और अपना सारा डिटेल मेरे को भेजना पड़ेगा नाम जन्म तिथि जन्म समय जन्म स्थान दोनों हाथ का फोटो भेजिएगा यहां से हम आपको बताएंगे कि जो आप पूछना चाहते हैं अगर कुंडली में कोई दोस्त निकलेगा तो उस काम ज्योतिषी उपाय भी आपको बताएंगे और लाइफ में कोई प्रैक्टिकल पर परेशानी बढ़ेगी एस्टर कल आ रहा तो उसका भी हम ज्योतिष उपाय बताएंगे ब्लैक पेपर मार्गदर्शन चाहिए तो उसके बारे में भी आपको बताएंगे आप का सवाल है कि क्या प्रभाव होता है अगर लग्न में राहु और सातवें घर में केतु होता है बहुत सारे प्रभाव हो सकते हैं दोनों निगेटिव गिरा है नकारात्मक को बोला जाता है यह दोनों छाया ग्रह है शैडो ग्रह में इसकी गिनती आती है जिस घर में बैठेगा उस घर को अंधकार से भर देगा उस घर के प्रभाव को कम कर देगा उस घर से मिलने वाला बेनिफिट को कम कर देगा अगर राहु प्रथम घर में बैठता हूं लग्न में बैठता हूं यह आदमी के मानसिक अवस्था को ख़राब करता है जिसे जल लेने में परेशानी देता है अगर राहु ज्यादा खराब हालत में है राहुल न्यूज करा वह करके वहां बैठा हुआ है अशुभ राशि में होकर बैठा हुआ है राहुल बहुत स्ट्रांग ली है राहु के डिग्री ज्यादा है तो उस स्थिति में सर पर गंभीर बीमारी मेंटल डिप्रेशन और भी मानसिक परेशानी हो सकता है उसको ऐसे लोग अस्त व्यस्त रहते हैं मन हमेशा इधर-उधर भागते रहता है कभी स्टेबल नहीं हो पाते हैं दिमागी तौर पर स्थिर रहते हैं उम्र बढ़ने के साथ-साथ की परेशानी बढ़ती चली जाती है और डेफिनेटली नगर निकट विरागो करके बैठा हुआ है तो मस्जिद से रिलेटेड गंभीर बीमारी गंभीर परेशानी तो देते ही हैं केतु सप्तम घर में बैठा हुआ है साथ में घर में बैठा हुआ है राहु की दृष्टि भी साथ में घर पर है तो नॉर्मल सी बात के साथ मगर शादी विवाह मैरिज पति या पत्नी मेरे सुख और बिजनेस व्यापार पार्टनरशिप से रिलेटेड होता है तो गिराया गया है कि तू ही छाया कर रहा है तू यह सब अपने घर में बैठ कर के उस मैरेज हाउस कोस पार्टनरशिप हाउस को खराब करेगा अगर राहु केतु लग्न और साथ में में है तहसीलों का मैरिज मैरिज लाइफ जो होता है बहुत डिस्टर्ब उसमें आता है डिस्टर्ब मैरिज लाइफ यह तो तुम पक्का है अगर आओ थोड़ा पॉजिटिव है तो भी डिस्टर्ब आएगा मैरिज लाइफ में डिस्टरबेंस आना पक्का है सिर्फ उसी कंडीशन में मैरिज लाइफ में डिस्टर्ब नहीं आ सकता है अगर दोनों लड़का लड़की दोनों का कुंडली मैचिंग हुआ हो और मैचिंग में साथ में घर में और लग्न में कोई दूसरे पॉजिटिव पर मौजूद हो तो उस परिस्थिति में मैरेज हाउस में जो दोष बनता है वह दोस्त बहुत हद तक कम हो जाता है और इस प्रस्तुति में मैरिज लाइफ में कम से कम परेशानी आती है अगर बाज मैरिज लाइफ इसके कारण से डिस्टर्ब हो जाता है अगर राहु और केतु ज्यादा खराब है उसका बेटा हुआ न्यूज़ कहां पर बैठा हुआ है तो मैसेज में ब्रेक हो सकता है मैरिज लाइफ टूट सकता है और रात में राहु और केतु का दोष लगा है सामने वाला जो पक्ष है उसको मेंटली डिस्टर्ब नेस पहुंच ज्यादा होगा इस तरह का परेशानी होता है बिजनेस करते हैं बिजनेस पार्टनरशिप धोखा देता किसी को प्रॉब्लम आएगा पार्टनर धोखा दे सकता है किसी भी प्रकार का पार्टनरशिप इस कारण से नहीं चलेगा और करना भी नहीं बिजनेस में तरक्की भले हो लेकिन काफी स्ट्रगल के साथ ही तरक्की हो पाएगी इस कारण से किसी भी हालत में राहु और केतु का आमने सामने मत बोला करो सच में नहीं होना चाहिए बहुत सारे प्ले स्टोर की रेट करेगा बिजनेस व्यापार पार्टनरशिप पति पत्नी का प्रेम मैरिज लाइफ मेंटल रब्बुल मस्तिष्क आघात होना दिमाग का सही नहीं होना कभी-कभी अचानक से डिप्रेशन अचानक से मन मंडीदीप की बात ही आ जाना इस तरह की बातें हो सकती है लेकिन इस बारे में और ज्यादा डिटेल जानने के लिए अपनी जन्मपत्री कम उसे दिखलाइए आपको लगता है कि आप इस तरह की कुछ बातें हैं तो आप मेरे से संपर्क कीजिए और मेरे को अपनी जन्म पत्रिका दिखाइए अपना डिटेल नाम जन्म तिथि जन्म समय जन्म स्थान बताइए मैं आपकी जन्म पत्रिका देखूंगा बना करके उसके बाद आपको सारा डिटेल बताऊंगा जो भी दोस्त है उस प्रॉब्लम का सलूशन भी बताऊंगा ज्योतिषी उपाय भी बताऊंगा मेरा ऑनलाइन कंसल्टेशन फी है रुपीस फाइव हंड्रेड ज्योतिष परामर्श शुल्क मेरा ₹500 है आपको किसी भी काम के ₹500 पे करना पड़ेगा मेरे को कॉल कीजिए मेरा नंबर है 99342 52913 यह मेरा व्हाट्सएप नंबर भी है आप मेरे को वेबसाइट पर भी चेक कीजिए www.marugujarat.in राहु केतु से रिलेटेड कोई भी परेशानी हो कुंडली में राहु और केतु किसी प्रकार से अपनी लाइफ को डिस्टर्ब कर रहा है तब मेरे से इसलिए मैंने आपको राहु केतु को शांत करने का उसके दुष्प्रभावों से बचने का बहुत ही सुंदर और सटीक ज्योतिष रेमेडीज उपाय बताऊंगा

hello namaskar main online ashtabhuja bol raha hoon mera kaam hai online jyotish paramarsh dena aapke life mein koi bhi samasya ho kya yah business naukri study love marriage imli se related koi bhi sawaal log ko bhi takleef ho life mein koi uljhan ho ya kisi prakar ka koi confusion ho ya koi decision lena chahte hain doosra nahi le paa rahe hain in saree baaton mein aap mujhse salah le sakte hain jyotish paramarsh le sakte hain iske liye aapko aur mere ko call karna padega aur apna saara detail mere ko bhejna padega naam janam tithi janam samay janam sthan dono hath ka photo bhejiega yahan se hum aapko batayenge ki jo aap poochna chahte hain agar kundali mein koi dost niklega toh us kaam jyotishi upay bhi aapko batayenge aur life mein koi practical par pareshani badhegi ester kal aa raha toh uska bhi hum jyotish upay batayenge black paper margdarshan chahiye toh uske bare mein bhi aapko batayenge aap ka sawaal hai ki kya prabhav hota hai agar lagn mein rahu aur satve ghar mein Ketu hota hai bahut saare prabhav ho sakte hain dono negative gira hai nakaratmak ko bola jata hai yah dono chhaya grah hai shadow grah mein iski ginti aati hai jis ghar mein baithega us ghar ko andhakar se bhar dega us ghar ke prabhav ko kam kar dega us ghar se milne vala benefit ko kam kar dega agar rahu pratham ghar mein baithta hoon lagn mein baithta hoon yah aadmi ke mansik avastha ko kharab karta hai jise jal lene mein pareshani deta hai agar rahu zyada kharab halat mein hai rahul news kara vaah karke wahan baitha hua hai ashubh rashi mein hokar baitha hua hai rahul bahut strong li hai rahu ke degree zyada hai toh us sthiti mein sir par gambhir bimari mental depression aur bhi mansik pareshani ho sakta hai usko aise log ast vyast rehte hain man hamesha idhar udhar bhagte rehta hai kabhi stable nahi ho paate hain dimagi taur par sthir rehte hain umr badhne ke saath saath ki pareshani badhti chali jaati hai aur definetli nagar nikat virago karke baitha hua hai toh masjid se related gambhir bimari gambhir pareshani toh dete hi hain Ketu saptam ghar mein baitha hua hai saath mein ghar mein baitha hua hai rahu ki drishti bhi saath mein ghar par hai toh normal si baat ke saath magar shadi vivah marriage pati ya patni mere sukh aur business vyapar partnership se related hota hai toh giraya gaya hai ki tu hi chhaya kar raha hai tu yah sab apne ghar mein baith kar ke us marriage house kos partnership house ko kharab karega agar rahu Ketu lagn aur saath mein mein hai tahseelo ka marriage marriage life jo hota hai bahut disturb usme aata hai disturb marriage life yah toh tum pakka hai agar aao thoda positive hai toh bhi disturb aayega marriage life mein distarabens aana pakka hai sirf usi condition mein marriage life mein disturb nahi aa sakta hai agar dono ladka ladki dono ka kundali matching hua ho aur matching mein saath mein ghar mein aur lagn mein koi dusre positive par maujud ho toh us paristithi mein marriage house mein jo dosh baata hai vaah dost bahut had tak kam ho jata hai aur is prastuti mein marriage life mein kam se kam pareshani aati hai agar baaj marriage life iske karan se disturb ho jata hai agar rahu aur Ketu zyada kharab hai uska beta hua news kahaan par baitha hua hai toh massage mein break ho sakta hai marriage life toot sakta hai aur raat mein rahu aur Ketu ka dosh laga hai saamne vala jo paksh hai usko mentally disturb Ness pohch zyada hoga is tarah ka pareshani hota hai business karte hain business partnership dhokha deta kisi ko problem aayega partner dhokha de sakta hai kisi bhi prakar ka partnership is karan se nahi chalega aur karna bhi nahi business mein tarakki bhale ho lekin kaafi struggle ke saath hi tarakki ho payegi is karan se kisi bhi halat mein rahu aur Ketu ka aamane saamne mat bola karo sach mein nahi hona chahiye bahut saare play store ki rate karega business vyapar partnership pati patni ka prem marriage life mental rabbul mastishk aaghat hona dimag ka sahi nahi hona kabhi kabhi achanak se depression achanak se man mandideep ki baat hi aa jana is tarah ki batein ho sakti hai lekin is bare mein aur zyada detail jaanne ke liye apni janampatri kam use dikhlaiye aapko lagta hai ki aap is tarah ki kuch batein hain toh aap mere se sampark kijiye aur mere ko apni janam patrika dikhaaiye apna detail naam janam tithi janam samay janam sthan bataye main aapki janam patrika dekhunga bana karke uske baad aapko saara detail bataunga jo bhi dost hai us problem ka salution bhi bataunga jyotishi upay bhi bataunga mera online kansalteshan fee hai rupees five hundred jyotish paramarsh shulk mera Rs hai aapko kisi bhi kaam ke Rs pe karna padega mere ko call kijiye mera number hai 99342 52913 yah mera whatsapp number bhi hai aap mere ko website par bhi check kijiye www marugujarat in rahu Ketu se related koi bhi pareshani ho kundali mein rahu aur Ketu kisi prakar se apni life ko disturb kar raha hai tab mere se isliye maine aapko rahu Ketu ko shaant karne ka uske dushprabhavo se bachne ka bahut hi sundar aur sateek jyotish remedies upay bataunga

हेलो नमस्कार मैं ऑनलाइन अष्टभुजा बोल रहा हूं मेरा काम है ऑनलाइन ज्योतिष परामर्श देना आपके

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  8
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार जैसा कि आपका प्रश्न है अगर लग्न में राहु और सातवें भाव में केतु हो तो उसका क्या प्रभाव होता है मैं आप उस संबंध में बताना चाहूंगा अगर राहु लग्न में हो और केतु सप्तम में हो तो यह अच्छा नहीं होता है और यह ग्रहण खासतौर से हमारी लगता तुम्हारे शरीर और सातवां भाव जो कुंडली के अंदर हम विवाह के लिए भी देखते हैं साथ ही साथ व्यापार के लिए भी देखते हैं तो इस स्थिति में यह ग्रह आपको शारीरिक मानसिक परेशानियां दे सकते हैं साथ ही साथ यह आपके वैवाहिक जीवन में भी बाधाएं लाते हैं साथ ही साथ यह करें आपके व्यापार को भी बाधित करते हैं और उसमें आपको परेशानी और कठिनाइयां देते अच्छा होगा अगर ऐसा आपकी कुंडली में है आप इसी जोशी से परामर्श करें और उसके द्वारा बताए गए उपायों को करें जिससे आपको जीवन में जो क्षेत्र मैंने बताएं उनसे संबंधित समस्याएं ना धन्यवाद

namaskar jaisa ki aapka prashna hai agar lagn mein rahu aur satve bhav mein Ketu ho toh uska kya prabhav hota hai aap us sambandh mein bataana chahunga agar rahu lagn mein ho aur Ketu saptam mein ho toh yah accha nahi hota hai aur yah grahan khaasataur se hamari lagta tumhare sharir aur satvaan bhav jo kundali ke andar hum vivah ke liye bhi dekhte hai saath hi saath vyapar ke liye bhi dekhte hai toh is sthiti mein yah grah aapko sharirik mansik pareshaniya de sakte hai saath hi saath yah aapke vaivahik jeevan mein bhi baadhayain laate hai saath hi saath yah kare aapke vyapar ko bhi badhit karte hai aur usme aapko pareshani aur kathinaiyaan dete accha hoga agar aisa aapki kundali mein hai aap isi joshi se paramarsh kare aur uske dwara bataye gaye upayo ko kare jisse aapko jeevan mein jo kshetra maine bataye unse sambandhit samasyaen na dhanyavad

नमस्कार जैसा कि आपका प्रश्न है अगर लग्न में राहु और सातवें भाव में केतु हो तो उसका क्या

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  7
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यदि लग्न में राहु और सप्तम भाव में केतु हो तो मनुष्य शारीरिक रूप से कमजोर होता है पेट की समस्या उसको बनी रहती है कहीं ना कहीं फोड़ा फुंसी होते रहता है और उसके चोट से पेट की भी संभावना बनी रहती है यदि सुभद्रा में है तो थोड़ा सा एरिया प्रभाव कम हो जाता है परंतु यदि अशुभ ग्रहों के साथ है अशुभ ग्रह की दृष्टि यदि है उस पर तो वह बहुत ही खराब और खतरनाक हो जाता है

yadi lagn mein rahu aur saptam bhav mein Ketu ho toh manushya sharirik roop se kamjor hota hai pet ki samasya usko bani rehti hai kahin na kahin foda phunsi hote rehta hai aur uske chot se pet ki bhi sambhavna bani rehti hai yadi subhadra mein hai toh thoda sa area prabhav kam ho jata hai parantu yadi ashubh grahon ke saath hai ashubh grah ki drishti yadi hai us par toh vaah bahut hi kharab aur khataranaak ho jata hai

यदि लग्न में राहु और सप्तम भाव में केतु हो तो मनुष्य शारीरिक रूप से कमजोर होता है पेट की स

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  636
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न है क्या प्रभाव होता है अगर लग्न में राहु और सातवें घर में कि तू होता है देखिए आप ने सर्वप्रथम यह नहीं बताया कि आप किस लग्न के बारे में बातें कर रहे हैं क्योंकि कुछ जगह पर राहु कुछ भी हो जाते हैं और बीच में हो जाते हैं इसी तरह का न्यूज़ होना मतलब बहुत ही ज्यादा खराब फल देना अगर नीच का होकर लग्न भाव में लग्न होता है हमारा शरीर का भाव और यह प्रथम भाव भी होता है इससे दिमाग का संचालन मतलब प्रथम भाव हमारा दिमाग से का हिस्सा होता है द्वितीय भाव हमारा मुख्य का होता है ऐसे ऐसे करके 12 भाव पूरे शरीर को इंडिकेट करते हैं तो अगर लग्न में राहु रहते हैं तो राहु का काम होता है एलिवेशन में रखना मतलब अपनी तरह की एक अलग दुनिया बना देना जिसका रियल लाइफ से कोई संबंध नहीं होता है तो जिस जातक के लग्न में राहु रहते हैं उनकी सोच अलग ही होती है वह अपनी दुनिया में खोए रहते हैं ज्यादातर उनका सामाजिक चीजों से ज्यादा कुछ लेना-देना नहीं रहता है वह धर्म को मानना भी छोड़ देते हैं उनको यह सब चीजें बकवास लगती हैं और इन चीजों पर विश्वास करना भी धीरे-धीरे बंद कर देते हैं इसी प्रकार केतु सप्तम भाव में बैठते हैं सप्तम भाव हमारा डेली वेजेस बिजनेस बिजनेस पार्टनर लाइफ पार्टनर का होता है और एक तरह से गुप्तांग का भी यह लाभ होता है तो यह ग्रह माया भी ग्रह होते हैं राहु और केतु इनको उपग्रह कहा गया है इनको नवग्रह में स्थान तो मिला है परंतु यह एक तरह के राक्षसी प्रवृत्ति के ग्रह हैं इनकी कथा प्रचलित है स्वर भानु नामक दैत्य था उसने समुद्र मंथन से जो अमृत निकला था देवताओं की पंक्ति में बैठकर उसका पान कर लिया था विष्णु भगवान ने सूर्य और चंद्रमा के कहने पर यह देखे जाने पर इनका धड़ से अलग कर दिया था तो जो सिर का हिस्सा हो रहा हूं कल आया हो जो नीचे का हिस्सा हो किंतु कहलाया तो इसीलिए राहु हमेशा दिमाग पर अटैक करता है और केतु बाकी की बॉडी पर कि तुम उसकी तरफ ले जाता है परंतु राहु इसमें सबसे ज्यादा खतरनाक रहता है क्योंकि वह दूसरी ही दुनिया मायावी दुनिया भुला देता है और जिनके राहु केतु खराब होते हैं उन पर ऊपरी हवाओं का असर सबसे ज्यादा होता है इस तरह राहु और केतु अगर इन्हीं भावों में बैठते हैं तो निश्चित है कि अगर शरीर भाव में बैठे तो शरीर में दिक्कतें देंगी इनकी जहां-जहां दृष्टया पड़ेगी उन्होंने जो कुछ खराब करेंगे इनकी पांचवी शातिर 9वी दृष्टि होती है तो राहु की लगन से बैठने पर पांचवी दृष्टि संतान भाव विद्या भाव में रुकावट देंगे संतान में भी दिक्कत देंगे और प्रेम भी जो मिलेगा जिससे प्रेम करेंगे मैंने छोड़कर जाएगा सप्तम भाव वैवाहिक जीवन का हो गया यहां पर पाटनर भी इनको धोखेबाज मिल सकता है या बिजनेसमैन को पार्टनर के और हानि हो सकती है नवम भाव धर्म को मानने का होता है तो यह धर्म में भी रुचि नहीं लेंगे इस प्रकार केतु सप्तम भाव में बैठकर वैवाहिक जीवन को खराब करेंगे लाइफ पार्टनर के भाव को खराब दिल्ली का मदनी में दिक्कत कराएंगे और सप्तम दृष्टि लग्न पर पड़ेगी शरीर में भी दिक्कत परेशानी देंगे और इनकी नवम दृष्टि जो है साहस भाव पर बिना बात की व्यर्थ की छोटी छोटी यात्राएं कर आएंगे परिश्रम ज्यादा कर आएंगे फल बिल्कुल नहीं मिलेगा तो इस प्रकार यह राहु और केतु का फल मैंने आपको बताया अगर आपको मेरा यह जवाब इसका उत्तर अच्छा लगा तो कृपया मुझे लाइक कीजिए मुझे फॉलो कीजिए मैं आपका मित्र आपका सका ज्योतिष आचार्य जितेंद्र कौशिक मेरा व्हाट्सएप नंबर 92121 23803 क्यू

namaskar aapka prashna hai kya prabhav hota hai agar lagn mein rahu aur satve ghar mein ki tu hota hai dekhiye aap ne sarvapratham yah nahi bataya ki aap kis lagn ke bare mein batein kar rahe hain kyonki kuch jagah par rahu kuch bhi ho jaate hain aur beech mein ho jaate hain isi tarah ka news hona matlab bahut hi zyada kharab fal dena agar neech ka hokar lagn bhav mein lagn hota hai hamara sharir ka bhav aur yah pratham bhav bhi hota hai isse dimag ka sanchalan matlab pratham bhav hamara dimag se ka hissa hota hai dwitiya bhav hamara mukhya ka hota hai aise aise karke 12 bhav poore sharir ko indicate karte hain toh agar lagn mein rahu rehte hain toh rahu ka kaam hota hai elevation mein rakhna matlab apni tarah ki ek alag duniya bana dena jiska real life se koi sambandh nahi hota hai toh jis jatak ke lagn mein rahu rehte hain unki soch alag hi hoti hai vaah apni duniya mein khoe rehte hain jyadatar unka samajik chijon se zyada kuch lena dena nahi rehta hai vaah dharm ko manana bhi chod dete hain unko yah sab cheezen bakwas lagti hain aur in chijon par vishwas karna bhi dhire dhire band kar dete hain isi prakar Ketu saptam bhav mein baithate hain saptam bhav hamara daily wedges business business partner life partner ka hota hai aur ek tarah se guptang ka bhi yah labh hota hai toh yah grah maya bhi grah hote hain rahu aur Ketu inko upgrah kaha gaya hai inko navgrah mein sthan toh mila hai parantu yah ek tarah ke raakshasi pravritti ke grah hain inki katha prachalit hai swar bhanu namak daitya tha usne samudra manthan se jo amrit nikala tha devatao ki pankti mein baithkar uska pan kar liya tha vishnu bhagwan ne surya aur chandrama ke kehne par yah dekhe jaane par inka dhad se alag kar diya tha toh jo sir ka hissa ho raha hoon kal aaya ho jo niche ka hissa ho kintu kehlaya toh isliye rahu hamesha dimag par attack karta hai aur Ketu baki ki body par ki tum uski taraf le jata hai parantu rahu isme sabse zyada khataranaak rehta hai kyonki vaah dusri hi duniya mayavi duniya bhula deta hai aur jinke rahu Ketu kharab hote hain un par upari hawaon ka asar sabse zyada hota hai is tarah rahu aur Ketu agar inhin bhavon mein baithate hain toh nishchit hai ki agar sharir bhav mein baithe toh sharir mein dikkaten dengi inki jaha jahan drishtaya padegi unhone jo kuch kharab karenge inki paanchvi shatir va drishti hoti hai toh rahu ki lagan se baithne par paanchvi drishti santan bhav vidya bhav mein rukavat denge santan mein bhi dikkat denge aur prem bhi jo milega jisse prem karenge maine chhodkar jaega saptam bhav vaivahik jeevan ka ho gaya yahan par partner bhi inko dhokhebaj mil sakta hai ya bussinessmen ko partner ke aur hani ho sakti hai navam bhav dharm ko manne ka hota hai toh yah dharm mein bhi ruchi nahi lenge is prakar Ketu saptam bhav mein baithkar vaivahik jeevan ko kharab karenge life partner ke bhav ko kharab delhi ka madani mein dikkat karaenge aur saptam drishti lagn par padegi sharir mein bhi dikkat pareshani denge aur inki navam drishti jo hai saahas bhav par bina baat ki vyarth ki choti choti yatraen kar aayenge parishram zyada kar aayenge fal bilkul nahi milega toh is prakar yah rahu aur Ketu ka fal maine aapko bataya agar aapko mera yah jawab iska uttar accha laga toh kripya mujhe like kijiye mujhe follow kijiye main aapka mitra aapka saka jyotish aacharya jitendra kaushik mera whatsapp number 92121 23803 kyun

नमस्कार आपका प्रश्न है क्या प्रभाव होता है अगर लग्न में राहु और सातवें घर में कि तू होता ह

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  178
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बीके लग्न में राहु व्यक्ति को सबसे अच्छा तो इनट्यूशन पावर देता है दूसरा लग्न का राहु व्यक्ति को जीवन में थोड़ा सा संघर्ष शारीरिक कष्ट और दुर्घटनाओं का योग बनाता है वही सप्तम स्थान पर केतु और राहु की दृष्टि होने से हमारे विवाह में दो विभव जैसी योग और उसके साथ-साथ लग्न का राहु व्यक्ति को बहुत बुद्धिमान भी बना देता है एक बार आती है व्यक्ति हर किसी को अपने बस में कर लेता है व्यक्ति बात करने का बहुत बड़ा शहंशाह होता है यह राहु केतु का प्रभाव होता है लेकिन वह किस राशि में है कौन सी दृष्टि पड़ रही है इसके आधार पर परीक्षण करना अभी बाकी

BK lagn mein rahu vyakti ko sabse accha toh inatyushan power deta hai doosra lagn ka rahu vyakti ko jeevan mein thoda sa sangharsh sharirik kasht aur durghatnaon ka yog banata hai wahi saptam sthan par Ketu aur rahu ki drishti hone se hamare vivah mein do vibhav jaisi yog aur uske saath saath lagn ka rahu vyakti ko bahut buddhiman bhi bana deta hai ek baar aati hai vyakti har kisi ko apne bus mein kar leta hai vyakti baat karne ka bahut bada shahanshah hota hai yah rahu Ketu ka prabhav hota hai lekin vaah kis rashi mein hai kaun si drishti pad rahi hai iske aadhar par parikshan karna abhi baki

बीके लग्न में राहु व्यक्ति को सबसे अच्छा तो इनट्यूशन पावर देता है दूसरा लग्न का राहु व्यक्

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  117
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यदि लग्न में राहु और सप्तम भाव में केतु हो तो व्यक्ति मानसिक उद्वेग ना मानसिक अस्थिरता से गुजरता रहता है और उसमें किसी भी प्रकार की एक बुरी लत देखने में आती है या तो वह झूठ बोलना शुरू कर देता है अथवा किसी चीज का व्यसनी हो जाता है कभी-कभी कोई व्यक्ति लंपट और धूर्त भी बन जाता है सप्तम भाव का केतु पत्नी की तरफ से सदैव चिंतित रखता है प्राप्ति का सुख प्राप्त होता है पति पत्नी में विचारों के मेल नहीं मिल पाते हैं

yadi lagn mein rahu aur saptam bhav mein Ketu ho toh vyakti mansik udweg na mansik asthirata se guzarta rehta hai aur usme kisi bhi prakar ki ek buri lat dekhne mein aati hai ya toh vaah jhuth bolna shuru kar deta hai athva kisi cheez ka vyasani ho jata hai kabhi kabhi koi vyakti lanpat aur dhurt bhi ban jata hai saptam bhav ka Ketu patni ki taraf se sadaiv chintit rakhta hai prapti ka sukh prapt hota hai pati patni mein vicharon ke male nahi mil paate hain

यदि लग्न में राहु और सप्तम भाव में केतु हो तो व्यक्ति मानसिक उद्वेग ना मानसिक अस्थिरता से

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  100
WhatsApp_icon
user

RAJKUMAR

Sharp Astrology

3:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ओम विघ्नेश्वराय नमः दोस्त सवाल है कि लग्न में राहु और सातवें घर में केतु होता है तो क्या होता है दिल तो राहुल जो है और ड्रामेबाज है अगर किसी कुंडली लड़की की कुंडली में अगर आपको राहु देखने को मिल जाए लगना मैं तो देख लो कितने ड्रामेबाज है सातवें स्थान में केतु है तो इसका मतलब यह हुआ जहां पर केतु उसकी उसकी वह सामने वाले को तड़प रहती है अगर मान लो धन स्थान में केतु है तो धन की तड़प रहेगी लग्न में केतु है तो अपने आप के दिखावे की तड़प रहेगी ऐसी अगर सातवें स्थान में कितने तो अच्छे उनको जीवनसाथी की तलाश है वह अच्छे साथी की तलाश में है और अगर मैं उनको अच्छा साथी मिल जाता है उसके बाद क्या होता है वह आपकी कुंडली का केतु इस नक्षत्र में बैठा हुआ है सातवें स्थान में उसके ऊपर से जाना जाएगा लगना में जोरा होता है दोस्तों वह यह लोग उल्टी चाल चलने वाले होते क्योंकि राहु हमेशा उल्टा चलता है अगर आप बोलोगे यह तो यह तो नहीं बोलेगा यह पागल यह चाहिए कभी-कभी क्या होता है कि यह जो लग्न में राहु होता है वह बड़े बड़े साइंटिस्ट भी बन जाते हैं बड़े-बड़े कलाकार भी बन जाते हैं क्योंकि उल्टा चलना भी कभी-कभी क्या होता है दोस्तों की यह भी एक कला होती है उल्टा चलकर जी अपना काम निकालना भी कला होती है और यह कैसे काम निकाला जाता है वह लग्न में राहु वाला ही जानता है तो देखो दोस्तों लग्न में राहु किसी को चप्पल भी दे सकता है देखना है केवल वह कौन से नक्षत्र में हैं लग्न में राहु हमेशा बुरा नहीं होता यह लोग भी कुछ कम नहीं होता इन लोग का टैलेंट जोधा है 12:00 बजे राहुल देसाई होता है थोड़ा सा क्योंकि 12:00 बजे राहुल होता है वह अपनी लाल कर देता है और जो लगना कराओ होता है वह जो अपनी आंखें ग्रीन कर देता है दूसरे स्थान में राहु होता है तो धन का लाल क्यों हो जाता है और वह जो अपनी आंखें हैं वह जो राहु है वह अपनी आंखें वह जो उसका जेमस्टोन है वह मैं घर का कलर जैसा तो ऐसी अपनी आंखें कर देता है कौन से स्थान में राहु अपनी कैसे आंखें करता है वह भी मैं आपको बाद में बताऊंगा और उसके आंखों के पीछे क्या रीजन होता है और उसकी आंखों की दृष्टि पड़ती है और किस तरह की पांचवीं साफ्रीन होगी दृष्टि पड़ती है वह भी मैं आपको बताऊंगा कि तो केवल पूछ है किंतु केवल तड़प है मान लो राहुल जो है वह सर है सर क्या करता है खाता है बोलता है जबकि तू है वह पूछे कि तू क्या करता है मत मारता है तड़पता रहता है कि तू क्या करता है टेंडरिंग जाने की सुनता रहता है फिर चलता रहता है ग्रुप में फिर उसके दो भाग हो गए और अमृत पीने के बजाय वह दोनों जिंदा रह गए देव और परेशान हो गए क्या होता यह तो दोनों हो गया था और कराओ सबसे ज्यादा दुश्मन जो होता है वह सूर्य का होता है किंतु जब दुश्मन होता है और चंद्र का होता है मन का दुश्मन होता है तो केवल लखनऊ किस तरह का है वह भी देखना पड़ेगा राहु के साथ कौन बैठा है कौन दूसरा खिलाड़ी उसके साथ खेल खेलने बैठा है वह भी आपको मैं बताऊंगा कि तू जीत के साथ बैठा है वह क्या कमाल करेगा क्या दान करेगा वह भी बताऊंगा ओम शांति ही

om vighneshwaray namah dost sawaal hai ki lagn me rahu aur satve ghar me Ketu hota hai toh kya hota hai dil toh rahul jo hai aur dramebaj hai agar kisi kundali ladki ki kundali me agar aapko rahu dekhne ko mil jaaye lagna main toh dekh lo kitne dramebaj hai satve sthan me Ketu hai toh iska matlab yah hua jaha par Ketu uski uski vaah saamne waale ko tadap rehti hai agar maan lo dhan sthan me Ketu hai toh dhan ki tadap rahegi lagn me Ketu hai toh apne aap ke dikhaave ki tadap rahegi aisi agar satve sthan me kitne toh acche unko jeevansathi ki talash hai vaah acche sathi ki talash me hai aur agar main unko accha sathi mil jata hai uske baad kya hota hai vaah aapki kundali ka Ketu is nakshtra me baitha hua hai satve sthan me uske upar se jana jaega lagna me JORA hota hai doston vaah yah log ulti chaal chalne waale hote kyonki rahu hamesha ulta chalta hai agar aap bologe yah toh yah toh nahi bolega yah Pagal yah chahiye kabhi kabhi kya hota hai ki yah jo lagn me rahu hota hai vaah bade bade scientist bhi ban jaate hain bade bade kalakar bhi ban jaate hain kyonki ulta chalna bhi kabhi kabhi kya hota hai doston ki yah bhi ek kala hoti hai ulta chalkar ji apna kaam nikalna bhi kala hoti hai aur yah kaise kaam nikaala jata hai vaah lagn me rahu vala hi jaanta hai toh dekho doston lagn me rahu kisi ko chappal bhi de sakta hai dekhna hai keval vaah kaun se nakshtra me hain lagn me rahu hamesha bura nahi hota yah log bhi kuch kam nahi hota in log ka talent jodha hai 12 00 baje rahul desai hota hai thoda sa kyonki 12 00 baje rahul hota hai vaah apni laal kar deta hai aur jo lagna karao hota hai vaah jo apni aankhen green kar deta hai dusre sthan me rahu hota hai toh dhan ka laal kyon ho jata hai aur vaah jo apni aankhen hain vaah jo rahu hai vaah apni aankhen vaah jo uska jemaston hai vaah main ghar ka color jaisa toh aisi apni aankhen kar deta hai kaun se sthan me rahu apni kaise aankhen karta hai vaah bhi main aapko baad me bataunga aur uske aakhon ke peeche kya reason hota hai aur uski aakhon ki drishti padti hai aur kis tarah ki panchavin safrin hogi drishti padti hai vaah bhi main aapko bataunga ki toh keval puch hai kintu keval tadap hai maan lo rahul jo hai vaah sir hai sir kya karta hai khaata hai bolta hai jabki tu hai vaah pooche ki tu kya karta hai mat maarta hai tadpata rehta hai ki tu kya karta hai tendering jaane ki sunta rehta hai phir chalta rehta hai group me phir uske do bhag ho gaye aur amrit peene ke bajay vaah dono zinda reh gaye dev aur pareshan ho gaye kya hota yah toh dono ho gaya tha aur karao sabse zyada dushman jo hota hai vaah surya ka hota hai kintu jab dushman hota hai aur chandra ka hota hai man ka dushman hota hai toh keval lucknow kis tarah ka hai vaah bhi dekhna padega rahu ke saath kaun baitha hai kaun doosra khiladi uske saath khel khelne baitha hai vaah bhi aapko main bataunga ki tu jeet ke saath baitha hai vaah kya kamaal karega kya daan karega vaah bhi bataunga om shanti hi

ओम विघ्नेश्वराय नमः दोस्त सवाल है कि लग्न में राहु और सातवें घर में केतु होता है तो क्या ह

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  336
WhatsApp_icon
user

Sem

Astrologer

2:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लग्न में राहु है सागर में केतु है की जन्मपत्री कैसे हैं आपका जन्म कहां हुआ है और आप कल बढ़ गई हो गए कि जब आपका पैसे आपको दिक्कत प्रॉब्लम आती है उसमें शादी के समय कम उम्र में कम उम्र में शादी होता है मैं तो छोड़ कर चले जाते हैं बिछड़ जाते हैं जल्दी मतलब 18197 चिकन बिरयानी रेसिपी

lagn me rahu hai sagar me Ketu hai ki janampatri kaise hain aapka janam kaha hua hai aur aap kal badh gayi ho gaye ki jab aapka paise aapko dikkat problem aati hai usme shaadi ke samay kam umar me kam umar me shaadi hota hai main toh chhod kar chale jaate hain bichhad jaate hain jaldi matlab 18197 chicken biryani recipe

लग्न में राहु है सागर में केतु है की जन्मपत्री कैसे हैं आपका जन्म कहां हुआ है और आप कल ब

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  136
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

वैवाहिक जीवन पर बहुत बड़ा असर पड़ता है कि तू किस राशि में है वह भी देखना होता है लग्न का केतु इंसान को स्वार्थी बना देता है झूठ बोलने वाला चालाक मंडी और दिखावा करने वाला और केतु सप्तम का कभी-कभी दो शादी का कारक भी होता है अपनी वाइफ से ऑपरेशन भी करवा देता है और चेक भी देखे गए

vaivahik jeevan par bahut bada asar padta hai ki tu kis rashi me hai vaah bhi dekhna hota hai lagn ka Ketu insaan ko swaarthi bana deta hai jhuth bolne vala chalak mandi aur dikhawa karne vala aur Ketu saptam ka kabhi kabhi do shaadi ka kaarak bhi hota hai apni wife se operation bhi karva deta hai aur check bhi dekhe gaye

वैवाहिक जीवन पर बहुत बड़ा असर पड़ता है कि तू किस राशि में है वह भी देखना होता है लग्न का क

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  104
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है क्या प्रभाव होता है अगर लग्न में राहु और सातवें घर में केतु होता है देखिए प्रत्येक लग्न चाहे वह प्रथम भाव में मेष लग्न वृष लग्न हो या 12 में से कोई भी लगना हो उन राशियों के अनुसार और कौन से स्थान पर कौन सी राशि विद्यमान है एवं उनमें ग्रह कौन-कौन से बैठे हैं किस नक्षत्र में आपका जन्म हुआ है तब जाकर के आप के सातवें और प्रथम या किसी भी अन्य भाव को देख कर के किसी ग्रह का फल आपको बताया जा सकता है इस प्रकार से केवल राहु और केतु का फल करना ज्योतिष का मजाक बनाना होगा यदि आप जानना ही चाहते हैं तो आप अपना जन्म विवरण भेजें जिससे सट्टे की जानकारी आपको दी जा सके धन्यवाद

aapka prashna hai kya prabhav hota hai agar lagn me rahu aur satve ghar me Ketu hota hai dekhiye pratyek lagn chahen vaah pratham bhav me mesh lagn vrsh lagn ho ya 12 me se koi bhi lagna ho un raashiyon ke anusaar aur kaun se sthan par kaun si rashi vidyaman hai evam unmen grah kaun kaun se baithe hain kis nakshtra me aapka janam hua hai tab jaakar ke aap ke satve aur pratham ya kisi bhi anya bhav ko dekh kar ke kisi grah ka fal aapko bataya ja sakta hai is prakar se keval rahu aur Ketu ka fal karna jyotish ka mazak banana hoga yadi aap janana hi chahte hain toh aap apna janam vivran bheje jisse satte ki jaankari aapko di ja sake dhanyavad

आपका प्रश्न है क्या प्रभाव होता है अगर लग्न में राहु और सातवें घर में केतु होता है देखिए प

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  105
WhatsApp_icon
user
0:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राहु का प्रभाव तब जाना जाता है कि राहु किस कौन सी राशि के ऊपर बैठा है किस लग्न को पर है और उसी से उसका प्रभाव जाता जाता है अगर मित्र राशि में है तो वैसा बराबर है अगर दुश्मन राशि में तो वैसा बराबर रहेगा

rahu ka prabhav tab jana jata hai ki rahu kis kaun si rashi ke upar baitha hai kis lagn ko par hai aur usi se uska prabhav jata jata hai agar mitra rashi me hai toh waisa barabar hai agar dushman rashi me toh waisa barabar rahega

राहु का प्रभाव तब जाना जाता है कि राहु किस कौन सी राशि के ऊपर बैठा है किस लग्न को पर है और

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  118
WhatsApp_icon
user

Astro Anupam

Astrologer

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर लग्न में राहु होता है तो वह आदमी जो है वह व्यक्ति का लंबा कद होता है और शारीरिक उसका भरवा शरीर होता है और वह धार्मिक प्रवृत्ति का तो होता है बट ज्यादा पूजा पाठ नहीं करता है और जिसके केतु सप्तम में होता है उसके विवाह के उपरांत या विवाह से पहले उसको विवाह करने में थोड़ी सी दिखते परेशानी आती हैं और शादी के उपरांत भी पत्नी से विचारों का मतभेद रहता है बहुत सारी चीजें ऐसी होती हैं जो पत्नी से जो है विचारों में मेल नहीं खाती हैं

agar lagn me rahu hota hai toh vaah aadmi jo hai vaah vyakti ka lamba kad hota hai aur sharirik uska bharava sharir hota hai aur vaah dharmik pravritti ka toh hota hai but zyada puja path nahi karta hai aur jiske Ketu saptam me hota hai uske vivah ke uprant ya vivah se pehle usko vivah karne me thodi si dikhte pareshani aati hain aur shaadi ke uprant bhi patni se vicharon ka matbhed rehta hai bahut saari cheezen aisi hoti hain jo patni se jo hai vicharon me male nahi khati hain

अगर लग्न में राहु होता है तो वह आदमी जो है वह व्यक्ति का लंबा कद होता है और शारीरिक उसका भ

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  128
WhatsApp_icon
user

Chanderkant

Astrology

0:12
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

व्यक्ति ज्यादा जिद्दी स्वभाव का होता है और अपनी जिद के आगे कोई बात नहीं मानता

vyakti zyada jiddi swabhav ka hota hai aur apni jid ke aage koi baat nahi maanta

व्यक्ति ज्यादा जिद्दी स्वभाव का होता है और अपनी जिद के आगे कोई बात नहीं मानता

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  74
WhatsApp_icon
user

Astrologer & Vaastu Vid Pankaj Mehra

Astrologer & Vaastu Lecturer & Consultant

0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राहु केतु जिस राशि में बैठे उस राशि के पहले चौथे पांचवें साथ में 9वीं 10वीं 11वीं घर में बैठे किसी तरह से केतु कायद्याचे घर में बैठा हुआ चेक आरकब रिजल्ट अच्छे ही होते हैं उसमें कोई प्रॉब्लम नहीं होती

rahu Ketu jis rashi me baithe us rashi ke pehle chauthe panchwe saath me vi vi vi ghar me baithe kisi tarah se Ketu kayadyache ghar me baitha hua check arakab result acche hi hote hain usme koi problem nahi hoti

राहु केतु जिस राशि में बैठे उस राशि के पहले चौथे पांचवें साथ में 9वीं 10वीं 11वीं घर में ब

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  99
WhatsApp_icon
user

Brajwasi sharma

Astrologer

0:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भाई अगर लग्न में सातवें घर में कितने गांव है उसमें तो बड़ा असर पड़ता है आदमी उसका ऐड होता पूरा परिवार विखंडित होने लगता है इसलिए क्या करें आप पीपल के पेड़ के नीचे तेल का दीपक जलाएं और चार बहनों को थोड़ा दान देगा तो तो कुत्तों को भोजन दे अक्षय को भी दाना डालें ताकि जो लावा के ग्रह

bhai agar lagn me satve ghar me kitne gaon hai usme toh bada asar padta hai aadmi uska aid hota pura parivar vikhandit hone lagta hai isliye kya kare aap pipal ke ped ke niche tel ka deepak jalaen aur char bahnon ko thoda daan dega toh toh kutto ko bhojan de akshay ko bhi dana Daalein taki jo lava ke grah

भाई अगर लग्न में सातवें घर में कितने गांव है उसमें तो बड़ा असर पड़ता है आदमी उसका ऐड होता

Romanized Version
Likes  28  Dislikes    views  324
WhatsApp_icon
user

Ritesh

Astrologer

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लग्न में राहु हो तो इस वीडियो से किसी की सुनते हर बात में लौकी की बात करते हैं ध्यान लगी जैसे लोग बहुत कम सहमत हो पाते हैं सत्ता में संकेत होता है क्योंकि मेरी लाइफ ज्यादा अच्छी नहीं होती होती है शादी तो लग्न में राहु अच्छी नहीं हो पाती

lagn me rahu ho toh is video se kisi ki sunte har baat me lauki ki baat karte hain dhyan lagi jaise log bahut kam sahmat ho paate hain satta me sanket hota hai kyonki meri life zyada achi nahi hoti hoti hai shaadi toh lagn me rahu achi nahi ho pati

लग्न में राहु हो तो इस वीडियो से किसी की सुनते हर बात में लौकी की बात करते हैं ध्यान लगी ज

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  131
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लग्न में राहु पर होने से इंसान की बुद्धिमत्ता तेज होती है और इंसान किसी के धोखे में या किसी की साजिश नहीं आ सकता सातवें स्थान में केतु की हाजिरी दांपत्य सुख को हर लेती है इसलिए राहु केतु का उपाय करना चाहिए

lagn me rahu par hone se insaan ki buddhimatta tez hoti hai aur insaan kisi ke dhokhe me ya kisi ki saajish nahi aa sakta satve sthan me Ketu ki hajiri danpatya sukh ko har leti hai isliye rahu Ketu ka upay karna chahiye

लग्न में राहु पर होने से इंसान की बुद्धिमत्ता तेज होती है और इंसान किसी के धोखे में या कि

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  107
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इसे वैवाहिक जीवन में तनाव होता है जी इसमें वैवाहिक जीवन में तनाव होता है विवाह समिति प्रशांत आती है जी कहती

ise vaivahik jeevan me tanaav hota hai ji isme vaivahik jeevan me tanaav hota hai vivah samiti prashant aati hai ji kehti

इसे वैवाहिक जीवन में तनाव होता है जी इसमें वैवाहिक जीवन में तनाव होता है विवाह समिति प्रशा

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  74
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!