आपके शरीर को भोजन की ज़रूरत क्यों है?...


user

Dr. Shakeel Akhtar

Homeopathy Doctor

0:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए एक मनुष्य को जीवित रहने के लिए भोजन की आवश्यकता होती है और यह भोजन जो है शरीर को एनर्जी देता है और इम्यून पावर को बढ़ाता है बॉडी के अंदर यदि रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है भोजन जो केक सही मात्रा में केक बैलेंस डाइट जल्दी आ जाए तो बॉडी में बीमारियों से लड़ने की पावर को बढ़ाता है तो भोजन जो है वह एक मनुष्य को लेना इसलिए जरूरी है कि इंसान जीवित रहता है थैंक यू

dekhiye ek manushya ko jeevit rehne ke liye bhojan ki avashyakta hoti hai aur yah bhojan jo hai sharir ko energy deta hai aur immune power ko badhata hai body ke andar yadi rog pratirodhak kshamta ko badhata hai bhojan jo cake sahi matra me cake balance diet jaldi aa jaaye toh body me bimariyon se ladane ki power ko badhata hai toh bhojan jo hai vaah ek manushya ko lena isliye zaroori hai ki insaan jeevit rehta hai thank you

देखिए एक मनुष्य को जीवित रहने के लिए भोजन की आवश्यकता होती है और यह भोजन जो है शरीर को एनर

Romanized Version
Likes  230  Dislikes    views  2008
WhatsApp_icon
7 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जिस शरीर में भोजन की आवश्यकता है इसलिए है क्योंकि जब भी आप किसी भी कार्य को संपादित करते हैं संपादित करने में आपके शरीर की शरीर में ऊर्जा की आवश्यकता है यह ऊर्जा आपकी भोजन द्वारा प्राप्त होता है जिसके लिए शरीर में भोजन की आवश्यकता होती है धन्यवाद

jis sharir me bhojan ki avashyakta hai isliye hai kyonki jab bhi aap kisi bhi karya ko sanpadit karte hain sanpadit karne me aapke sharir ki sharir me urja ki avashyakta hai yah urja aapki bhojan dwara prapt hota hai jiske liye sharir me bhojan ki avashyakta hoti hai dhanyavad

जिस शरीर में भोजन की आवश्यकता है इसलिए है क्योंकि जब भी आप किसी भी कार्य को संपादित करते ह

Romanized Version
Likes  34  Dislikes    views  413
WhatsApp_icon
user

SANJAY MISHRA

Nutritionist Electronics Tech

0:36
Play

Likes  31  Dislikes    views  410
WhatsApp_icon
user

BOB

Teacher

0:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ओके शरीर को भोजन की जरूरत क्यों पड़ती है फिर देखिए पुत्रों का निजाम है कि जिंदा जिसको जो है वह खाने की जरूरत पड़ती है वह खाता है क्वेश्चन करता है तो इसी तरह से जरूरत पड़ी जिससे पेड़ को पानी की जरूरत होती है अगर आप देखे कोई पेड़ है उसमें पानी नहीं आती आप डालेंगे तो पेड़ सूख जाएगा तो उसी तरह का इंसान है इंसान के क्योंकि शरीर जो चलता है वह भोजन चलता है तो पच के जो उसकी चीजें तक जितनी भी है विटामिन से कार्बोहाइड्रेट जो भी चीज उसके हैं तो बॉडी को जो है गलती आपके ₹25 देता तो पिक पद्धती निजाम है के ऊपर पानी खाना इंसान की जरूरत है और इसके बगैर वो जिंदा नहीं रह सकता इसलिए

ok sharir ko bhojan ki zarurat kyon padti hai phir dekhiye putron ka nijam hai ki zinda jisko jo hai vaah khane ki zarurat padti hai vaah khaata hai question karta hai toh isi tarah se zarurat padi jisse ped ko paani ki zarurat hoti hai agar aap dekhe koi ped hai usme paani nahi aati aap daalenge toh ped sukh jaega toh usi tarah ka insaan hai insaan ke kyonki sharir jo chalta hai vaah bhojan chalta hai toh pach ke jo uski cheezen tak jitni bhi hai vitamin se carbohydrate jo bhi cheez uske hain toh body ko jo hai galti aapke Rs deta toh pic paddhati nijam hai ke upar paani khana insaan ki zarurat hai aur iske bagair vo zinda nahi reh sakta isliye

ओके शरीर को भोजन की जरूरत क्यों पड़ती है फिर देखिए पुत्रों का निजाम है कि जिंदा जिसको जो ह

Romanized Version
Likes  15  Dislikes    views  420
WhatsApp_icon
play
user

Mohini

Voice Artist

1:28

Likes  3  Dislikes    views  139
WhatsApp_icon
play
user

Kavita

Writer

1:47

Likes  10  Dislikes    views  255
WhatsApp_icon
user

Riya

Artist, Traveller

0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारे शरीर को भोजन चौथ माता व्रत है क्योंकि हमारे शरीर में काफी पौष्टिक चीज दुखदाई हो जाते हैं पोटैशियम हमारे शरीर में एनर्जी लाने की काफी जरूरत है सेमीनार चाहिए हमें जिंदा रहने के लिए तो उसी हिसाब से हमें भोजन की काफी जरूरत है क्योंकि उससे हमें सब कुछ मिलता है जो शरीर को चाहिए

hamare sharir ko bhojan chauth mata vrat hai kyonki hamare sharir mein kaafi पौष्टिक cheez dukhdai ho jaate hain Potassium hamare sharir mein energy lane ki kaafi zarurat hai seminar chahiye hamein zinda rehne ke liye toh usi hisab se hamein bhojan ki kaafi zarurat hai kyonki usse hamein sab kuch milta hai jo sharir ko chahiye

हमारे शरीर को भोजन चौथ माता व्रत है क्योंकि हमारे शरीर में काफी पौष्टिक चीज दुखदाई हो जाते

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  110
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!