गणेश का सिर हाथी के जैसा क्यों है?...


play
user

Aahil

Storyteller

0:52

Likes  1  Dislikes    views  95
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Riya

Artist, Traveller

0:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी कारण गणेश जी का सर कट गया था जिस वजह से उन्हें सर वापस मिलने के लिए एक हाथी का सर काट के लाया गया था उसे लगाया गया था जिस वजह से तनिष्का शेर हाथी जैसा है

kisi karan ganesh ji ka sir cut gaya tha jis wajah se unhe sir wapas milne ke liye ek haathi ka sir kaat ke laya gaya tha use lagaya gaya tha jis wajah se tanishka sher haathi jaisa hai

किसी कारण गणेश जी का सर कट गया था जिस वजह से उन्हें सर वापस मिलने के लिए एक हाथी का सर काट

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  99
WhatsApp_icon
user

Aisha

Writer, Thinker

1:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक बार माता पार्वती स्नान करने गई तो उन्होंने अपने तन से एक लड़की को जन्म दिया और उन्होंने उसे कहा कि जब तक मेरी अनुमति ना होता तो किसी को अंदर नहाने गई उसी वक्त शिवजी आए और उन्होंने उस लड़के से कहा कि मैं उसे अंदर जाने दे पटवा लड़का अपने माता का बहुत बड़ा आज्ञाकारी था उस लड़की का नाम गणेश ठाकुर भोले शिव जी को अंदर जाने नहीं दिया इस बात से शिव जी गुस्सा हो गए और उस लड़की गणेश और शिव जी के बीच में युद्ध छिड़ गया जिसमें शिव जी ने गणेश को हरा दिया उनका सरकार दिया कि माता पार्वती बाहर आई और उन सब के बारे में सुना तो बहुत दुखी और क्रोधित हो गई और उन्होंने शिव जी से कहा कि उन्हें अपना पुत्र वापस चाहिए तो सभी भगवान भांग खट्टे हो गए और सभी भगवानों ने ही समाधान निकाला गणेश जी का सर तो आ नहीं सकता पर ऐसे हाथी का सर जो अपनी मां से उल्टा मुंह करके सोया हो और हाथी का गणेश जी के सर पर अगर फट कर दिया जाएगा तो वहां पर से जीवित हो जाएंगे तो नंदी और कुछ और जो शिवजी के सिपाही थे वह गए ऐसा सर ढूंढने के लिए और उन्हें ऐसा शर्मिला और फिर वह सर गणेश जी की धड़कन जोड़ दिया क्या इसी वजह से गणेश जी का जो सर है वह खाती का है

ek baar mata parvati snan karne gayi toh unhone apne tan se ek ladki ko janam diya aur unhone use kaha ki jab tak meri anumati na hota toh kisi ko andar nahane gayi usi waqt shivaji aaye aur unhone us ladke se kaha ki main use andar jaane de patawa ladka apne mata ka bahut bada aagyaakaaree tha us ladki ka naam ganesh thakur bhole shiv ji ko andar jaane nahi diya is baat se shiv ji gussa ho gaye aur us ladki ganesh aur shiv ji ke beech mein yudh chid gaya jisme shiv ji ne ganesh ko hara diya unka sarkar diya ki mata parvati bahar I aur un sab ke bare mein suna toh bahut dukhi aur krodhit ho gayi aur unhone shiv ji se kaha ki unhe apna putra wapas chahiye toh sabhi bhagwan bhang khatte ho gaye aur sabhi bhagwano ne hi samadhan nikaala ganesh ji ka sir toh aa nahi sakta par aise haathi ka sir jo apni maa se ulta mooh karke soya ho aur haathi ka ganesh ji ke sir par agar phat kar diya jaega toh wahan par se jeevit ho jaenge toh nandi aur kuch aur jo shivaji ke sipahi the vaah gaye aisa sir dhundhne ke liye aur unhe aisa sharmila aur phir vaah sir ganesh ji ki dhadkan jod diya kya isi wajah se ganesh ji ka jo sir hai vaah khati ka hai

एक बार माता पार्वती स्नान करने गई तो उन्होंने अपने तन से एक लड़की को जन्म दिया और उन्होंने

Romanized Version
Likes  12  Dislikes    views  300
WhatsApp_icon
user

Sanchi Sharma

Journalist, Photographer

1:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत ही प्रचलित कथा है क्योंकि पार्वती जी कोई मात्रा बना था जिसकी वजह से वह मां नहीं बन सकती थी लेकिन गणेश भगवान को मैंने खुद बनाया था अपनी मैडम से तो उन्होंने अपने पुत्र बनाया था जिसको नाम दिया था गाने और उसको कहा था कि बुधवार की रक्षा करें जब तक अंदर नहा रही है इसी बीच का होता है भगवान शिव और दरवाजे पर दस्तक देते हैं भगवान शिव को नहीं बताता कि गणेश उन्हीं का पुत्र है तो वह 1 दिन के अंदर जाने से मना कर दे तो एकची की माता अंदर नहा रही है तब अंदर नहीं जा सकता तो जैसे गणेश उनको मना करता है तो शिवजी बहुत क्रोधित हो जाते हैं कौन हमें ऐसे पूछ सकता है अंदर जाने तो पूछते गणेश और शिव भगवान में थोड़ी सी लड़ाई हुई थी जिसके अंदर शिव भगवान उसका सर धड़ से अलग कर देते हैं पार्वती माता अत्यंत ओहो बड़ी दुखी होती है उसे भगवान कहते हैं कि किसी भी तरह से करके मेरे पुत्र को जीवित करते तो वह क्या करते कि मैं तेरे को को भेजते जाओ और यह देखो कि कौन सी मां अपने बच्चे की तरफ पीठ करके सो दी जान से भी मां अपने बच्चे की तरफ पीठ करके सऊदी होगी और बच्चे का साथ ले आओ जब लोग ढूंढने जाते तो ने ऐसी कोई है नहीं मिलती है एक जंगल में हाथी और उसका बच्चा हाथ में अपने बच्चे की तरफ से छत पर सो जाती है तो इस चीज को देखकर जून को मुझे बताना उसका सिर काटकर ले आकर सेवा से जुड़ना पड़ता है

bahut hi prachalit katha hai kyonki parvati ji koi matra bana tha jiski wajah se vaah maa nahi ban sakti thi lekin ganesh bhagwan ko maine khud banaya tha apni madam se toh unhone apne putra banaya tha jisko naam diya tha gaane aur usko kaha tha ki budhavar ki raksha kare jab tak andar naha rahi hai isi beech ka hota hai bhagwan shiv aur darwaze par dastak dete hain bhagwan shiv ko nahi batata ki ganesh unhi ka putra hai toh vaah 1 din ke andar jaane se mana kar de toh ekachi ki mata andar naha rahi hai tab andar nahi ja sakta toh jaise ganesh unko mana karta hai toh shivaji bahut krodhit ho jaate hain kaun hamein aise puch sakta hai andar jaane toh poochhte ganesh aur shiv bhagwan mein thodi si ladai hui thi jiske andar shiv bhagwan uska sir dhad se alag kar dete hain parvati mata atyant oho badi dukhi hoti hai use bhagwan kehte hain ki kisi bhi tarah se karke mere putra ko jeevit karte toh vaah kya karte ki main tere ko ko bhejate jao aur yah dekho ki kaun si maa apne bacche ki taraf peeth karke so di jaan se bhi maa apne bacche ki taraf peeth karke saudi hogi aur bacche ka saath le aao jab log dhundhne jaate toh ne aisi koi hai nahi milti hai ek jungle mein haathi aur uska baccha hath mein apne bacche ki taraf se chhat par so jaati hai toh is cheez ko dekhkar june ko mujhe bataana uska sir katkar le aakar seva se judna padta hai

बहुत ही प्रचलित कथा है क्योंकि पार्वती जी कोई मात्रा बना था जिसकी वजह से वह मां नहीं बन सक

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  410
WhatsApp_icon
play
user

Mohini

Voice Artist

1:51

Likes  14  Dislikes    views  381
WhatsApp_icon
user

Snehasish Gupta

Journalist / Traveller

0:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

गणेश भगवान का जो सारे वहां पे जैसे इसीलिए है क्योंकि गणेश जी ने एक बार जब भगवान शिव को माता दुर्गा के पास जाने से रोक लिया है जबकि की मदद पार्वती नहा रही थी बोलकर करें इस बार गणेश जी उनके पहरा दे रहे थे उन्हें तो उन्हें भोलेनाथ को भी मना कर दे तो बोलना था उसने आखिर 300 सुन का गर्दन काट दिया तो माता पार्वती जीत की कि उन्हें उन्हें बेटा वापस चाहिए तो शिव जी ने बोला कि ब्रह्मा जी ब्रह्मा जी ने बोला कि अगर इमेज डिलीट करना है तो एक प्राणी जो के उधर आप अपनी मां से पीट-पीट घुमा कर सोई हुई हो उसके सर लगेगा तो वह खाती थी जिसका जो ऐसे सोई थी बोलकर उसका सर काट के गणेशजी को लगाकर उन्हें जीवित किया गया

ganesh bhagwan ka jo saare wahan pe jaise isliye hai kyonki ganesh ji ne ek baar jab bhagwan shiv ko mata durga ke paas jaane se rok liya hai jabki ki madad parvati naha rahi thi bolkar kare is baar ganesh ji unke pahara de rahe the unhe toh unhe bholenaath ko bhi mana kar de toh bolna tha usne aakhir 300 sun ka gardan kaat diya toh mata parvati jeet ki ki unhe unhe beta wapas chahiye toh shiv ji ne bola ki brahma ji brahma ji ne bola ki agar image delete karna hai toh ek prani jo ke udhar aap apni maa se peat peat ghuma kar soi hui ho uske sir lagega toh vaah khati thi jiska jo aise soi thi bolkar uska sir kaat ke ganeshji ko lagakar unhe jeevit kiya gaya

गणेश भगवान का जो सारे वहां पे जैसे इसीलिए है क्योंकि गणेश जी ने एक बार जब भगवान शिव को मात

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  375
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!