एक देश को एक संविधान की आवश्यकता क्यों है?...


play
user

Anurag Dubey

Director Of Vedas IAS Academy call me @ 9540558037

0:54

Likes  19  Dislikes    views  1495
WhatsApp_icon
11 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Norang sharma

Social Worker

1:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार दोस्तों में नो रंग शर्मा आज बात करने जा रहा हूं संविधान की कॉन्स्टिट्यूशन की की एक देश को एक संविधान की आखिर जरूरत ही क्यों है देखिए अगर आप कभी ट्रैवलिंग पर गए हो तो वहां मेन रोड पर रेंडमली सारे भी कल चलते रहें और आपस में एक दूसरे से टकराते रहे तो क्या आपको अच्छा लगेगा और आप क्या ऐसी सिचुएशन में अपने गंतव्य अपने डेस्टिनेशन तक पहुंच पाएंगे निश्चित रूप से नहीं पहुंच पाएंगे आप जिसमें आप कभी भी नहीं पहुंचना चाहेंगे माफ कीजिएगा जैसे हर चीज को व्यवस्थित करने का सिस्टम होता है उसी तरह देश को चलाने का भी एक सिस्टम होता है और वही सिस्टम संविधान हमें प्रभावित करता है यह में नियमों में बांधता है ताकि एक देश का संचालन बड़ी ही व्यवस्था पूर्वक चलता रहे और सुचारू ढंग चलता रहे सभी नागरिकों को कुछ अधिकार दिए गए हैं और कुछ कर्तव्य दिए गए हैं इसी संविधान के तहत तो संविधान मुझे लगता है वह मूलभूत स्तंभ है जिसके बिना हम किसी देश के सफल संचालन की परिकल्पना नहीं कर सकते तो हमें एक मैप चाहिए होता है हमें डायरेक्शन चाहिए होता है किसी भी दिशा में चलने के लिए तो वही रोड मैप वही दिशा-निर्देश हमें हमारा संविधान देता है और यही हमारे संविधान की आवश्यकता है किसी भी देश को जरूरत है धन्यवाद

namaskar doston mein no rang sharma aaj baat karne ja raha hoon samvidhan ki Constitution ki ki ek desh ko ek samvidhan ki aakhir zarurat hi kyon hai dekhie agar aap kabhi travelling par gaye ho toh wahan main road par rendamali saare bhi kal chalte rahen aur aapas mein ek dusre se takaraate rahe toh kya aapko accha lagega aur aap kya aisi situation mein apne gantavya apne destination tak pohch payenge nishchit roop se nahi pohch payenge aap jisme aap kabhi bhi nahi pahunchana chahenge maaf kijiyega jaise har cheez ko vyavasthit karne ka system hota hai usi tarah desh ko chalane ka bhi ek system hota hai aur wahi system samvidhan humein prabhavit karta hai yeh mein niyamon mein bandhata hai taki ek desh ka sanchalan badi hi vyavastha purvak chalta rahe aur sucharu dhang chalta rahe sabhi nagriko ko kuch adhikaar diye gaye hain aur kuch kartavya diye gaye hain isi samvidhan ke tahat toh samvidhan mujhe lagta hai wah mulbhut stambh hai jiske bina hum kisi desh ke safal sanchalan ki parikalpana nahi kar sakte toh humein ek map chahiye hota hai humein direction chahiye hota hai kisi bhi disha mein chalne ke liye toh wahi road map wahi disha nirdesh humein hamara samvidhan deta hai aur yahi hamare samvidhan ki avashyakta hai kisi bhi desh ko zarurat hai dhanyavad

नमस्कार दोस्तों में नो रंग शर्मा आज बात करने जा रहा हूं संविधान की कॉन्स्टिट्यूशन की की एक

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  336
WhatsApp_icon
user

kamlesh Chouhan

मिशन यूपीएससी

0:18
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखे बिना संविधान के कोई भी देश नहीं चलाया जा सकता है घर के समस्त कार्य चलाने के लिए किसी नियम की आवश्यकता होती है इसी प्रकार देश को शांति और काम ढंग से चलाने के लिए सविधान की बहुत ही आवश्यकता होती है

dekhe bina samvidhan ke koi bhi desh nahi chalaya ja sakta hai ghar ke samast karya chalane ke liye kisi niyam ki avashyakta hoti hai isi prakar desh ko shanti aur kaam dhang se chalane ke liye savidhan ki bahut hi avashyakta hoti hai

देखे बिना संविधान के कोई भी देश नहीं चलाया जा सकता है घर के समस्त कार्य चलाने के लिए किसी

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  37
WhatsApp_icon
play
user

P Narahari (IAS)

IAS Officer-2001Batch-MP Cadre

1:60

Likes  56  Dislikes    views  2150
WhatsApp_icon
user
0:56
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका क्वेश्चन है यह एक देश को एक संविधान की आवश्यकता क्यों पड़ती है तो किसी भी देश को सही तरह से चलाने के लिए संविधान की आवश्यकता होती है अगर आप का संविधान नहीं होगा नहीं तो हमें हमारे कर्तव्य को पता होगा नहीं हमारे अधिकार को पता होगा तो इसलिए अपने अधिकार और कर्तव्यों को जानने के लिए विधान की आवश्यकता होती है अगर संविधान नहीं होगा तो कोई भी मनमानी करेगा जैसा बोल देगा पहले राजा होते थे जो बोल देते तो ऐसा ही हो जाता था तो यह संविधान से होने से यही फायदा है तो हम अपने अधिकारों को जो होते हैं उनको मांग सकते हैं अगर नहीं देगा तो उनकी अपील कर सकते हैं अगर सविधान ही नहीं होगा तो कहां पर ही करेंगे हम तो इसलिए छोटे शब्दों में बड़ा समझना सबसे मेन उद्देश्य यही है कि हमारे अधिकार और कर्तव्य का में पता चल जाए और वह हमें मिल सके

aapka question hai yeh ek desh ko ek samvidhan ki avashyakta kyon padti hai toh kisi bhi desh ko sahi tarah se chalane ke liye samvidhan ki avashyakta hoti hai agar aap ka samvidhan nahi hoga nahi toh humein hamare kartavya ko pata hoga nahi hamare adhikaar ko pata hoga toh isliye apne adhikaar aur kartavyon ko jaanne ke liye vidhan ki avashyakta hoti hai agar samvidhan nahi hoga toh koi bhi manmani karega jaisa bol dega pehle raja hote the jo bol dete toh aisa hi ho jata tha toh yeh samvidhan se hone se yahi fayda hai toh hum apne adhikaaro ko jo hote hain unko maang sakte hain agar nahi dega toh unki appeal kar sakte hain agar savidhan hi nahi hoga toh kahaan par hi karenge hum toh isliye chote shabdo mein bada samajhna sabse main uddeshya yahi hai ki hamare adhikaar aur kartavya ka mein pata chal jaye aur wah humein mil sake

आपका क्वेश्चन है यह एक देश को एक संविधान की आवश्यकता क्यों पड़ती है तो किसी भी देश को सही

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  481
WhatsApp_icon
user
0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एक देश को सावधान गेज और चंदन कारण से पड़ती है जैसे कि देश को सुचारू रूप से चलाने के लिए और जिससे कि सभी व्यक्ति नियमों कानूनों के अनुसार जीवन व्यतीत करें

ek desh ko savdhaan gauge aur chandan karan se padti hai jaise ki desh ko sucharu roop se chalane ke liye aur jisse ki sabhi vyakti niyamon kanuno ke anusaar jeevan vyatit karen

एक देश को सावधान गेज और चंदन कारण से पड़ती है जैसे कि देश को सुचारू रूप से चलाने के लिए और

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  3
WhatsApp_icon
play
user

Raman yadhuvansi

UPSC aspirant

2:00

Likes  7  Dislikes    views  265
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्योंकि इस देश के सभी नागरिकों को समान अवसर के साथ जीने के लिए मिल सके और सबको नियम

kyonki is desh ke sabhi nagriko ko saman avsar ke saath jeene ke liye mil sake aur sabko niyam

क्योंकि इस देश के सभी नागरिकों को समान अवसर के साथ जीने के लिए मिल सके और सबको नियम

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  16
WhatsApp_icon
play
user

Aahil

Storyteller

0:51

Likes  15  Dislikes    views  395
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जिस प्रकार मनुष्य के लिए खाना जरूरी है कपड़ा जरूरी है उसी प्रकार एक देश के लिए संविधान जरूरी है

jis prakar manushya ke liye khana zaroori hai kapda zaroori hai usi prakar ek desh ke liye samvidhan zaroori hai

जिस प्रकार मनुष्य के लिए खाना जरूरी है कपड़ा जरूरी है उसी प्रकार एक देश के लिए संविधान जरू

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  2
WhatsApp_icon
play
user

Dilsh Sheikh

Journalist

1:54

Likes  2  Dislikes    views  158
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
हमें संविधान की आवश्यकता क्यों है ; क्यों हमें एक संविधान की ज़रूरत है ; samvidhan ki avashyakta kyu hoti hai ; कारण है कि हम संविधान की आवश्यकता क्यों है ; संविधान की आवश्यकता ; संविधान की आवश्यकता क्यों है ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!