जब जीवन में कोई लक्ष्य न हो और ज़िंदगी से मोह न रहे तब क्या करना चाहिए?...


user

Shahin Fidai

Counseling as per Neuroscience, www.Youtube.com/Shahintalks www.Thevitalitycafe.com/Counseling

3:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है जब जीवन में कोई लक्ष्य ना हो और जिंदगी से मोना रहे तब यह बहुत जरूरी है कि हम अपने आप के बारे में थोड़ा सा सोचे कि हम अपनी जिंदगी में और क्या करना चाहते हैं क्योंकि मैं बहुत जरूरी है जैसे ही अपने आप पर फोकस करने लगते हैं हम यह सोचने लगती है कि आप से करीबन 2 या 3 सालों के बाद मैं अपने आपको क्या कह कर महसूस करूं या मैं अपने आप में ऐसे कौन से चेंज दिलाओ कि जिसे देखकर मुझे खुद को अपने आप पर गर्व हो जैसे ही आप अपना फोकस अपने आप की जिंदगी पर रखोगे और रिफ्लेक्शंस पर रखोगे आपको तुरंत एक जिंदगी जीने का पद मिल जाएगा इसके साथ-साथ आपको जिंदगी जीने का भी बहुत मजा आएगा क्योंकि यह बहुत जरूरी है कि हम ऐसा कुछ करें जिस हमें ऐसा लगे कि यह चीज मेरे बहुत काम आएगी इनफेक्ट कई बार ऐसा होता है कि जब हम दूसरों की मदद करते हैं या हम दूसरों के लिए कुछ काम करते हैं उससे हमारे दिल में भी बहुत खुशी मिलती है और हमारी जिंदगी में यह एक हो कभी कारण बनता है और इससे भी हम जिंदगी जीने का हमारे में एक उत्साह आता है तो यह बहुत जरूरी है कि हम थोड़ा सा फोकस जो है वह अपने आप पर शक करें क्योंकि एक एक पीस शेयर करती हूं एक बहुत ही बुजुर्ग लेडीस की जो परी 17576 की अच्छी सी और वह बहुत बीमार रहती थी उसकी एक किडनी भी खराब हो गई थी और मैं एक बार जब भी मैं उससे मिलती थी तो मैं उसे हमेशा यही पूछती थी कि आप की तबीयत कैसी है और वह आंटी कहते थे तबीयत तो मिल सही है बस इतनी दुआ कर कि मैं किसी के लिए यहां पर बैठे-बैठे किसी के लिए अच्छी दुआएं मांगी और ऐसी दुआएं मांगी कि ईश्वर जो है उनके कामों में सफलता दे और साथ-साथ सभी बच्चों को अपनी पढ़ाई करने में हिम्मत शक्ति और प्रेरणा दें यह बातें सुनकर में हमेशा आंटी से कहती थी कि क्या बात है आंटी और वंचित रहते थे बेटा जितने दिन मैं जिंदा हूं मेरा सिर्फ एक ही गोल है कि मैं इन लोगों के लिए दुआएं मांगी सारी शूटिंग के लिए दुआएं मांगी और उन सारी मांओं के लिए दुआएं मांगी जो अपने बच्चों को कुछ हासिल करवाने के लिए और उनके गोल्ड को वह वहां तक पहुंचाने के लिए मेहनत करती है मैं रोज सुबह उठकर अगर यह चीज कर पाती हूं तो मान लो मेरे पूरे जीवन जो है मेरी पूरी दिन का जो मेरा पल-पल जियोसॉल हो जाता है बात बहुत छोटी सी है लेकिन बहुत बड़ी सीख देती है कि हमारे अंदर अगर हो पावर है या नहीं है जैसे भी हो हम जो भी कॉन्ट्रिब्यूशन कर सकते हैं किसी की खुशियों में कम से कम कुछ नहीं तो हम पॉजिटिव सोच कर और उन्हें दुआएं लेकर भी उनके बारे में अच्छी सोच रख सकते हैं इसी तरह से हम अपना पलटन जो है वह डिसाइड कर सकते हैं आपका जीवन शुभ हो

aapka prashna hai jab jeevan me koi lakshya na ho aur zindagi se mona rahe tab yah bahut zaroori hai ki hum apne aap ke bare me thoda sa soche ki hum apni zindagi me aur kya karna chahte hain kyonki main bahut zaroori hai jaise hi apne aap par focus karne lagte hain hum yah sochne lagti hai ki aap se kariban 2 ya 3 salon ke baad main apne aapko kya keh kar mehsus karu ya main apne aap me aise kaun se change dilao ki jise dekhkar mujhe khud ko apne aap par garv ho jaise hi aap apna focus apne aap ki zindagi par rakhoge aur riflekshans par rakhoge aapko turant ek zindagi jeene ka pad mil jaega iske saath saath aapko zindagi jeene ka bhi bahut maza aayega kyonki yah bahut zaroori hai ki hum aisa kuch kare jis hamein aisa lage ki yah cheez mere bahut kaam aayegi inafekt kai baar aisa hota hai ki jab hum dusro ki madad karte hain ya hum dusro ke liye kuch kaam karte hain usse hamare dil me bhi bahut khushi milti hai aur hamari zindagi me yah ek ho kabhi karan banta hai aur isse bhi hum zindagi jeene ka hamare me ek utsaah aata hai toh yah bahut zaroori hai ki hum thoda sa focus jo hai vaah apne aap par shak kare kyonki ek ek peace share karti hoon ek bahut hi bujurg ladies ki jo pari 17576 ki achi si aur vaah bahut bimar rehti thi uski ek KIDNEY bhi kharab ho gayi thi aur main ek baar jab bhi main usse milti thi toh main use hamesha yahi puchti thi ki aap ki tabiyat kaisi hai aur vaah aunty kehte the tabiyat toh mil sahi hai bus itni dua kar ki main kisi ke liye yahan par baithe baithe kisi ke liye achi duaen maangi aur aisi duaen maangi ki ishwar jo hai unke kaamo me safalta de aur saath saath sabhi baccho ko apni padhai karne me himmat shakti aur prerna de yah batein sunkar me hamesha aunty se kehti thi ki kya baat hai aunty aur vanchit rehte the beta jitne din main zinda hoon mera sirf ek hi gol hai ki main in logo ke liye duaen maangi saari shooting ke liye duaen maangi aur un saari maon ke liye duaen maangi jo apne baccho ko kuch hasil karwane ke liye aur unke gold ko vaah wahan tak pahunchane ke liye mehnat karti hai main roj subah uthakar agar yah cheez kar pati hoon toh maan lo mere poore jeevan jo hai meri puri din ka jo mera pal pal jiyosal ho jata hai baat bahut choti si hai lekin bahut badi seekh deti hai ki hamare andar agar ho power hai ya nahi hai jaise bhi ho hum jo bhi contribution kar sakte hain kisi ki khushiyon me kam se kam kuch nahi toh hum positive soch kar aur unhe duaen lekar bhi unke bare me achi soch rakh sakte hain isi tarah se hum apna paltan jo hai vaah decide kar sakte hain aapka jeevan shubha ho

आपका प्रश्न है जब जीवन में कोई लक्ष्य ना हो और जिंदगी से मोना रहे तब यह बहुत जरूरी है कि ह

Romanized Version
Likes  67  Dislikes    views  1323
KooApp_icon
WhatsApp_icon
30 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!