मैं बहुत शर्मीली लड़की हूँ और ऐसा होने की वजह से मुझे काफ़ी परेशानी होती है। मैं खुल के किसी से बात नहीं कर पाती। मैं अपने आप को बोल्ड कैसे बनाऊँ?...


user

Trainer Yogi Yogendra

Motivational Speaker || Career Coach || Business Coach || Marketing & Management Expert's

1:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हेलो फ्रेंड्स में योगेंद्र शर्मा मोटिवेशनल स्पीकर केरियर को तौर पर परेड बैनर आजम की स्टेशन के बारे में बात करने वाले हमारे देश में बहुत शर्मीली लड़की और ऐसा होने की वजह से मुझे काफी परेशानी होती है मैं खुद के किसी से बात नहीं कर पाती मैं अपने आपको बोर्ड कैसे बनाऊंगा और इस तरह की चीजें होती हैं लेकिन यह चीजें आपको परंपरागत मिली हुई है मतलब अपने परिवार में जो है आप रहे हो जैसे माहौल में रहे हो उससे आपको यह सब कुछ मिला हुआ है और इसी वजह से हम आप जो है इस तरह के हैं अब आपको अपने आपको एक नए माहौल में ढालने की कोशिश करें ऐसे लोगों को अपनी जिंदगी में नहीं ऐसी जगह आप जाना पसंद करें जहां पर से लोग हो जो हे कोल्ड रहते हो जो है एक अच्छे तरीके से बात करते हो किसी से डर नहीं लगता हो जब आप एक नए बाउल में अपने आप को टालने की कोशिश करेंगे एक नए माहौल में आप जाने की कोशिश करेंगे तो धीरे-धीरे आप उस माउस के फोटो अपने आप को बदल आप जैसे बोलेंगे वैसे ही बन जाएंगे इस बारे में अगर आप ज्यादा अच्छे से बात करना चाहते ज्यादा डिटेल में इस पर डिस्कस करना चाहते हैं तो आप हम से कांटेक्ट कर सकते हैं हमारा कांटेक्ट नंबर है 68053 पर बात कर सकते हैं जय हिंद जय भारत

hello friends me yogendra sharma Motivational speaker Career ko taur par parade banner azam ki station ke bare me baat karne waale hamare desh me bahut sharmili ladki aur aisa hone ki wajah se mujhe kaafi pareshani hoti hai main khud ke kisi se baat nahi kar pati main apne aapko board kaise banaunga aur is tarah ki cheezen hoti hain lekin yah cheezen aapko paramparagat mili hui hai matlab apne parivar me jo hai aap rahe ho jaise maahaul me rahe ho usse aapko yah sab kuch mila hua hai aur isi wajah se hum aap jo hai is tarah ke hain ab aapko apne aapko ek naye maahaul me dhalne ki koshish kare aise logo ko apni zindagi me nahi aisi jagah aap jana pasand kare jaha par se log ho jo hai cold rehte ho jo hai ek acche tarike se baat karte ho kisi se dar nahi lagta ho jab aap ek naye bowl me apne aap ko taalane ki koshish karenge ek naye maahaul me aap jaane ki koshish karenge toh dhire dhire aap us mouse ke photo apne aap ko badal aap jaise bolenge waise hi ban jaenge is bare me agar aap zyada acche se baat karna chahte zyada detail me is par discs karna chahte hain toh aap hum se Contact kar sakte hain hamara Contact number hai 68053 par baat kar sakte hain jai hind jai bharat

हेलो फ्रेंड्स में योगेंद्र शर्मा मोटिवेशनल स्पीकर केरियर को तौर पर परेड बैनर आजम की स्टेशन

Romanized Version
Likes  495  Dislikes    views  3277
WhatsApp_icon
7 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Umesh Upaadyay

Life Coach | Motivational Speaker

1:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जिसमें कोई प्रॉब्लम वाली बात नहीं है कि आप शर्म आती है यहां लेकिन जैसा बताने की परेशानी हो जाती है आप खुलकर जीना चाहती है तो खुलकर जीने के लिए क्या करने की जरूरत है आप खुद ही सोचिए एक छोटी छोटी चीजों का जरा अलग रखी है यह तो पूरा शर्मा ने एक हुआ दूसरा अगर आप इसको स्प्लिट करेंगे आप इसको लाइक करेंगे तो आप देखेंगे कि अच्छा जब मैं इससे बात करती हो तो मुझे यह परेशानी आती है क्लास में मुझे परेशानी आते यहां पर मुझे वह परेशानी थी पब्लिकेशन मुझे परेशानी आती है अच्छा वह परेशानी को अगर आप पौधे ऐसे करेंगे तो आप देखेंगे क्या क्लास में मुझे आंसर देने में परेशानी आती है किसी से बात करने में परेशानी होती है क्या टीचर से बात करने में परेशानी होती है क्या परेशानी है तो कहां आती है वहां पर आप थोड़े से कौन से सो जाइए थोड़ा साहब अभी तो खो रहा है कि आप कौन से सो के परेशान हो रहे हैं अब आपको कॉन्शियसली अटेंड करना है और है कि मैं वह आंसर दूं मैं वह काम करूं अब आपको पता है कि यह प्रॉब्लम यहां पर ऐसे में आ रही है तो आपको क्या करना है अब आपको उसको कंस्ट्रेंट करना है उसको विश करना है और ना ही चाहे वह कोई भी चीज जो पब्लिक प्लेस पर बात करने की बातें किसी से कुछ बोलने की बात है किसी लड़के से बात करने की बात है कुछ भी चीज हो सकता है उस पर आपको यह देखना है कि मैं बिना अपने बारे में सोचें कि मैं बात करने पर कैसी लगूंगा या मैंने अभी तक बात नहीं किया तो संकोच या डर है उसको छोड़ना पड़ेगा और बेधड़क बात करना पड़ेगा यही सोचकर कि आज क्या सही है क्या गलत है आप अपने आप से बात कीजिए आप आगे बढ़िए कीजिए जो आपको करना अच्छा लगता है टीवी देखना है गाना गाने सुनना है बात करना है घूमना है जो करना है वह सारे कुछ कीजिए

jisme koi problem wali baat nahi hai ki aap sharm aati hai yahan lekin jaisa bata ki pareshani ho jaati hai aap khulkar jeena chahti hai toh khulkar jeene ke liye kya karne ki zarurat hai aap khud hi sochiye ek choti choti chijon ka zara alag rakhi hai yah toh pura sharma ne ek hua doosra agar aap isko split karenge aap isko like karenge toh aap dekhenge ki accha jab main isse baat karti ho toh mujhe yah pareshani aati hai kashi mein mujhe pareshani aate yahan par mujhe vaah pareshani thi publication mujhe pareshani aati hai accha vaah pareshani ko agar aap paudhe aise karenge toh aap dekhenge kya kashi mein mujhe answer dene mein pareshani aati hai kisi se baat karne mein pareshani hoti hai kya teacher se baat karne mein pareshani hoti hai kya pareshani hai toh kahaan aati hai wahan par aap thode se kaunsi so jaiye thoda saheb abhi toh kho raha hai ki aap kaunsi so ke pareshan ho rahe hain ab aapko kanshiyasali attend karna hai aur hai ki main vaah answer doon main vaah kaam karu ab aapko pata hai ki yah problem yahan par aise mein aa rahi hai toh aapko kya karna hai ab aapko usko constraint karna hai usko wish karna hai aur na hi chahen vaah koi bhi cheez jo public place par baat karne ki batein kisi se kuch bolne ki baat hai kisi ladke se baat karne ki baat hai kuch bhi cheez ho sakta hai us par aapko yah dekhna hai ki main bina apne bare mein sochen ki main baat karne par kaisi lagunga ya maine abhi tak baat nahi kiya toh sankoch ya dar hai usko chhodna padega aur bedhadak baat karna padega yahi sochkar ki aaj kya sahi hai kya galat hai aap apne aap se baat kijiye aap aage badhiye kijiye jo aapko karna accha lagta hai TV dekhna hai gaana gaane sunana hai baat karna hai ghumana hai jo karna hai vaah saare kuch kijiye

जिसमें कोई प्रॉब्लम वाली बात नहीं है कि आप शर्म आती है यहां लेकिन जैसा बताने की परेशानी हो

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  336
WhatsApp_icon
play
user

Mr SUMIT VADSARIYA

REHABILITATION PSYCHOLOGIST

0:20

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसे ही आपका कम्युनिकेशन स्किल डेवलप हो जाएगा तो आप तो कहीं भी मतलब आराम से बोल सकते हैं इसलिए तो फिर तो फिर हो जाएगा

aise hi aapka communication skill develop ho jaega toh aap toh kahin bhi matlab aaram se bol sakte hain isliye toh phir toh phir ho jaega

ऐसे ही आपका कम्युनिकेशन स्किल डेवलप हो जाएगा तो आप तो कहीं भी मतलब आराम से बोल सकते हैं इस

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  159
WhatsApp_icon
user

VEENU

CLINICAL PSYCHOLOGIST

0:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बोल पड़े सब आपको मनीषा याद रहना है तो आप कॉन्फिडेंट रहना है तो यह भी है वह आपको बोल रही

bol pade sab aapko manisha yaad rehna hai toh aap confident rehna hai toh yah bhi hai vaah aapko bol rahi

बोल पड़े सब आपको मनीषा याद रहना है तो आप कॉन्फिडेंट रहना है तो यह भी है वह आपको बोल रही

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  730
WhatsApp_icon
user

Dr. SMITA TIWARY

PSYCHOLOGIST

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इंटरेक्ट विद नहीं है तो आपकी फ्रेंड है ओके अब बताओ इसका क्या आंसर होगा नहीं आता यह इन कम्युनिकेशन मीडिया पोर्टल

intarekt with nahi hai toh aapki friend hai ok ab batao iska kya answer hoga nahi aata yah in communication media portal

इंटरेक्ट विद नहीं है तो आपकी फ्रेंड है ओके अब बताओ इसका क्या आंसर होगा नहीं आता यह इन कम्य

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  509
WhatsApp_icon
user

Porshia Chawla Ban

Psychologist

4:39
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है मैं बहुत शर्मीली लड़की हूं और ऐसा होने की वजह से मुझे काफी परेशानी होती है यह बिल्कुल हमारे को अगर लाइफ में ग्रो करना है तो इंतजार करना बहुत जरूरी है और सही प्रकार का कम्युनिकेशन जो है वह बहुत इंपॉर्टेंट है तो बातचीत करने से अपना जो मत है अपना जो सुझाव है अपनी जो बात है दूसरे के समक्ष रखने से जो हम चाहते हैं जैसा परिणाम चाहते हैं थोड़ा आसान हो जाता है सुबह मजा आता है तो इसीलिए और कम्युनिकेशन स्किल्स इंप्रूव करना जरूरी है या नहीं अपनी बात दूसरे को अच्छे से कह पाना ही नहीं पा रहे हैं मैंने आपने बताया आपका इंट्रोवर्ट नेचर है खुलकर बात नहीं कर पाती हूं खुल कर बात नहीं कर पाती हूं और खुद को कैसे बोल्ड बनाओगे बोल्ड दबंग टाइप जॉब फेयर कहना चाह रही हैं तो ब्वॉय एटीट्यूड है जो इंसान का धीरे-धीरे डेवलपर होता है और यूजर बचपन में ही कुछ ऐसी हमारे प्रिय जिसमें हम लोग करते हैं ऐसा का वीडियो राशि कहते हैं या फिर हमारा को खुद को डिफेंड करना खुद को प्रोटेक्ट करना या खुद को अपनी बात को ऊपर रखना अगर लगता है फॉर्टेंट है ज्यादा तो यह थाना का जो व्यवहार है इस तरह का जो नेचर है स्वभाव है वह डबल हो जाता है और कई बार कुछ लोगों जेनेटिकली ही इस तरह के स्वभाव के रहते हैं शुरू से ही उनका एक थाना का एटीट्यूड रहता है तो अब आप लेकिन किस तरह से विकसित करें अगर आपका यह सवाल है तो सबसे पहले यह जानने की और समझने की कोशिश करें कि आपको ही चक्का हिचकिचाहट कहां महसूस होती है और क्यों महसूस होती है यानी खुलकर बात नहीं कर पाती आप कह रही हैं तो उसकी वजह क्या है आपको डर लगता है कहीं ना कहीं इसीलिए शायद आपसे बात नहीं कर पाती तो डरना इसमें होता होगा कि वह कहीं मेरी बात को रिजेक्ट ना कर दे या कहीं ऐसा ना हो कि मैं जो बोल रही हूं उनको बुरा ना लग जाए तो बहुत एप्स बहुत सारे बर्ड्स है तो उनको अगर हम थोड़ा सा इग्नोर करना सीख जाएंगे हम अगर यह यहां पर महत्व रखें कि हमको क्या कहना है हम को हर्ट करने दूसरे को नहीं बोल रही हूं मैं लेकिन खुद को भी अगर हम महत्व देते हैं इंपॉर्टेंट देते हैं तो अपनी बात कहने में हम ज्यादा सक्षम हो पाते हैं और मराठों विश्वास भी बढ़ जाता है दूसरी चीज है कि आपके जो साक्ष्य और नॉलेज हैं उनको आप बराबर रखें तो भी अब यह डर खत्म होने में हमको मदद मिलती है कि सामने वाले को सही लगेगा नहीं लगेगा गलत तो नहीं है कहीं गलत हो गया तो या कुछ हो गया तो यार ऐसा हुआ पैसा हुआ तो बहुत सारे ऑप्शन बट वहां भी कैंसिल हो जाते हैं अगर हमारे पास तुम्हारी नॉलेज जो है जो हम बात करना चाहते हैं वह ठीक है तो इंफॉर्मेशन और नॉलेज को ज्यादा से ज्यादा गेम करें और फिर सिर्फ और सिर्फ बात करते हो कि यह सोचे कि इस बात को जो भी बोलने जा रही हूं यह सिर्फ मैं पार्ट्स को अपनी नॉलेज को अपने मत को अपने ओपिनियन को दूसरे के सामने रख रही हूं अब इसके बाद क्या हो उसको मुझे ज्यादा तवज्जो नहीं देनी है क्योंकि मैंने यहां पर अच्छे से सोच समझकर ही बोल रही हूं यानी मेरे हिसाब से जो बात कही है और जो बिल्कुल सटीक है और जो दूसरे को तकलीफ नहीं पहुंचाएगी उसके बाद सामने वाला कैसे रेप करता है वह मेरा पास नहीं है सामने वाला कैसे रिस्पांस देगा वह मेरा पास नहीं है तो यह सामने वाले को डिसाइड करने देना है सोचने देना है उसको अनुमति देनी है उसको आता भी डिसीजन लेने जो बोलना चाहे या ना चाहे वह कह सकता है इस तरह का विचार अपने मन में इस तरह से सोचे थे वह जाने लगेंगे फिर धीरे-धीरे धीरे-धीरे जब आपको पॉजिटिव रिस्पांस मिलेगा पॉजिटिव रिजल्ट्स मिलेंगे लोग आपकी बात सुनने लगेंगे समझने लगेंगे इंटरेस्ट लहंगा के अंदर तब आपका यह एटीट्यूड डेवलप होगा जो आप बोल दो बनना चाहते हैं तो आपको लगता है कि मैं ऐसा बहुत बार होता है कि जिस तरह से आप की सोच है तो बहुत सुंदर दबा हुआ होता है बहुत सुधार आना चाहता है पर आ नहीं पा रहा है तो वह क्यों नहीं आ रहा है तो कहीं तो कुछ ऐसा घटा होगा कि जिससे आपके मन में यह बात बैठ गई होगी कि मुझे बोलना नहीं चाहिए तुझे थॉट्स उनको अपनी डिलीट करने को मैं ठीक करना है और हमको एटीट्यूड डेवलप करना है कि जो बाद में पहुंचाना चाहती हूं सामने वाले को उस दिन की वैल्यू है वह भी सुनी जानी चाहिए और की ग्रैजुएल प्रोसेस है रातों रात है तुमने इंस्ट्रूमेंट आता है पर आ सकता है हम यह क्या आज जो डिवेलप कर सकते हैं कोई प्रॉब्लम नहीं है धन्यवाद

aapka sawaal hai main bahut sharmili ladki hoon aur aisa hone ki wajah se mujhe kaafi pareshani hoti hai yah bilkul hamare ko agar life me grow karna hai toh intejar karna bahut zaroori hai aur sahi prakar ka communication jo hai vaah bahut important hai toh batchit karne se apna jo mat hai apna jo sujhaav hai apni jo baat hai dusre ke samaksh rakhne se jo hum chahte hain jaisa parinam chahte hain thoda aasaan ho jata hai subah maza aata hai toh isliye aur communication skills improve karna zaroori hai ya nahi apni baat dusre ko acche se keh paana hi nahi paa rahe hain maine aapne bataya aapka introvert nature hai khulkar baat nahi kar pati hoon khul kar baat nahi kar pati hoon aur khud ko kaise bold banaaoge bold dabang type job fair kehna chah rahi hain toh bway attitude hai jo insaan ka dhire dhire Developer hota hai aur user bachpan me hi kuch aisi hamare priya jisme hum log karte hain aisa ka video rashi kehte hain ya phir hamara ko khud ko defend karna khud ko protect karna ya khud ko apni baat ko upar rakhna agar lagta hai fartent hai zyada toh yah thana ka jo vyavhar hai is tarah ka jo nature hai swabhav hai vaah double ho jata hai aur kai baar kuch logo jenetikli hi is tarah ke swabhav ke rehte hain shuru se hi unka ek thana ka attitude rehta hai toh ab aap lekin kis tarah se viksit kare agar aapka yah sawaal hai toh sabse pehle yah jaanne ki aur samjhne ki koshish kare ki aapko hi chakka hichakichahat kaha mehsus hoti hai aur kyon mehsus hoti hai yani khulkar baat nahi kar pati aap keh rahi hain toh uski wajah kya hai aapko dar lagta hai kahin na kahin isliye shayad aapse baat nahi kar pati toh darna isme hota hoga ki vaah kahin meri baat ko reject na kar de ya kahin aisa na ho ki main jo bol rahi hoon unko bura na lag jaaye toh bahut apps bahut saare birds hai toh unko agar hum thoda sa ignore karna seekh jaenge hum agar yah yahan par mahatva rakhen ki hamko kya kehna hai hum ko heart karne dusre ko nahi bol rahi hoon main lekin khud ko bhi agar hum mahatva dete hain important dete hain toh apni baat kehne me hum zyada saksham ho paate hain aur marathon vishwas bhi badh jata hai dusri cheez hai ki aapke jo sakshya aur knowledge hain unko aap barabar rakhen toh bhi ab yah dar khatam hone me hamko madad milti hai ki saamne waale ko sahi lagega nahi lagega galat toh nahi hai kahin galat ho gaya toh ya kuch ho gaya toh yaar aisa hua paisa hua toh bahut saare option but wahan bhi cancel ho jaate hain agar hamare paas tumhari knowledge jo hai jo hum baat karna chahte hain vaah theek hai toh information aur knowledge ko zyada se zyada game kare aur phir sirf aur sirf baat karte ho ki yah soche ki is baat ko jo bhi bolne ja rahi hoon yah sirf main parts ko apni knowledge ko apne mat ko apne opinion ko dusre ke saamne rakh rahi hoon ab iske baad kya ho usko mujhe zyada tavajjo nahi deni hai kyonki maine yahan par acche se soch samajhkar hi bol rahi hoon yani mere hisab se jo baat kahi hai aur jo bilkul sateek hai aur jo dusre ko takleef nahi pahunchayegi uske baad saamne vala kaise rape karta hai vaah mera paas nahi hai saamne vala kaise response dega vaah mera paas nahi hai toh yah saamne waale ko decide karne dena hai sochne dena hai usko anumati deni hai usko aata bhi decision lene jo bolna chahen ya na chahen vaah keh sakta hai is tarah ka vichar apne man me is tarah se soche the vaah jaane lagenge phir dhire dhire dhire dhire jab aapko positive response milega positive results milenge log aapki baat sunne lagenge samjhne lagenge interest lahanga ke andar tab aapka yah attitude develop hoga jo aap bol do banna chahte hain toh aapko lagta hai ki main aisa bahut baar hota hai ki jis tarah se aap ki soch hai toh bahut sundar daba hua hota hai bahut sudhaar aana chahta hai par aa nahi paa raha hai toh vaah kyon nahi aa raha hai toh kahin toh kuch aisa ghata hoga ki jisse aapke man me yah baat baith gayi hogi ki mujhe bolna nahi chahiye tujhe thoughts unko apni delete karne ko main theek karna hai aur hamko attitude develop karna hai ki jo baad me pahunchana chahti hoon saamne waale ko us din ki value hai vaah bhi suni jani chahiye aur ki graijuel process hai raatoon raat hai tumne instrument aata hai par aa sakta hai hum yah kya aaj jo develop kar sakte hain koi problem nahi hai dhanyavad

आपका सवाल है मैं बहुत शर्मीली लड़की हूं और ऐसा होने की वजह से मुझे काफी परेशानी होती है यह

Romanized Version
Likes  271  Dislikes    views  6260
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी भी व्यक्ति का शव मिला होना गोल्ड नहीं होना यह दर्शाता है कि उसके अंदर आत्मविश्वास और इसके अंदर आत्मविश्वास

kisi bhi vyakti ka shav mila hona gold nahi hona yah darshata hai ki uske andar aatmvishvaas aur iske andar aatmvishvaas

किसी भी व्यक्ति का शव मिला होना गोल्ड नहीं होना यह दर्शाता है कि उसके अंदर आत्मविश्वास और

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  134
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!