मुझे अक्सर यह समझने में दिक़्क़त होती है की मैं किन चीज़ों को अपनी प्राथमिकता बनाऊँ। क्या आप मुझे बता सकते है की मुझे जीवन में किन चीज़ों को अपनी प्राथमिकता बनानी चाहिए?...


user

Gopal Srivastava

Acupressure Acupuncture Sujok Therapist

0:51
Play

Likes  145  Dislikes    views  3868
WhatsApp_icon
20 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बहुत अच्छा प्रश्न है आपका कि मुझे एक्सप्रेस आईना दिक्कत होती है कि मैं किन चीजों को अपनी प्राथमिकता बनाओ आपको परम मित्र बनाने के लिए इन चीजों से बारिश हुई जन से बाहर निकलने के लिए आपको समाज एकता को प्राथमिकता देने की खुद को समाज के लोगों से जोड़ना होगा वह सारे लोग हैं जो समाज के कार्यों का दायित्व पा रहे हैं गरीबों की सेवा कर रहे हैं या हवन कीर्तन कर रहे हैं भैया पेड़ लगा रहे हैं तो ऐसी चिड़िया में हमें जल्दी से हमारे अंदर रचनात्मकता का विकास होता है और जीवन को संतुलित बना पाते हैं यह समाज ने केवला में परिपक्व बनाता है बल्कि हमें सिखा देता है कि हमें किस समय किस चीज को प्राथमिकता देने हैं

bahut accha prashna hai aapka ki mujhe express aaina dikkat hoti hai ki main kin chijon ko apni prathamikta banao aapko param mitra banane ke liye in chijon se barish hui jan se bahar nikalne ke liye aapko samaj ekta ko prathamikta dene ki khud ko samaj ke logo se jodna hoga vaah saare log hain jo samaj ke karyo ka dayitva paa rahe hain garibon ki seva kar rahe hain ya hawan kirtan kar rahe hain bhaiya ped laga rahe hain toh aisi chidiya me hamein jaldi se hamare andar rachnatmaka ka vikas hota hai aur jeevan ko santulit bana paate hain yah samaj ne kevala me paripakva banata hai balki hamein sikha deta hai ki hamein kis samay kis cheez ko prathamikta dene hain

बहुत अच्छा प्रश्न है आपका कि मुझे एक्सप्रेस आईना दिक्कत होती है कि मैं किन चीजों को अपनी

Romanized Version
Likes  175  Dislikes    views  1798
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बनाने की विधि द्वारा निर्धारित राजनीति करना है विधायक प्रोफ़ेसर बनना है क्या बनना है तो जीवन में मेहनत करने के लिए जीवन में आगे जाने के लिए बगैर सब कुछ जीवन अंधकार में होता है उसको चार चरणों में बाय स्टेप बाय स्टेप इन को पूरा करने का प्रयास कीजिए कम से कम दिन में मिलाकर के 16 घंटे की मेहनत कीजिए शहर छोड़ दीजिए ऐसा परमो धर्मा को अपना धर्म बना लीजिए समाज के थोड़ा सा सेवा की है थोड़ा सा ध्यान दुखी होगा कीजिए अपने जीवन की दिशा दर्शन आगे बढ़ने के लिए उसका निर्धारण आप स्वयं करना पड़ेगा और सोच को सकारात्मकता देनी पड़ेगी

banane ki vidhi dwara nirdharit raajneeti karna hai vidhayak professor banna hai kya banna hai toh jeevan me mehnat karne ke liye jeevan me aage jaane ke liye bagair sab kuch jeevan andhakar me hota hai usko char charno me bye step bye step in ko pura karne ka prayas kijiye kam se kam din me milakar ke 16 ghante ki mehnat kijiye shehar chhod dijiye aisa paramo dharma ko apna dharm bana lijiye samaj ke thoda sa seva ki hai thoda sa dhyan dukhi hoga kijiye apne jeevan ki disha darshan aage badhne ke liye uska nirdharan aap swayam karna padega aur soch ko sakaraatmakata deni padegi

बनाने की विधि द्वारा निर्धारित राजनीति करना है विधायक प्रोफ़ेसर बनना है क्या बनना है तो जी

Romanized Version
Likes  231  Dislikes    views  1883
WhatsApp_icon
user

Ankur Bhardwaj

Lawn Tennis Coach, Motivational Speaker.

3:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार नकुल भारद्वाज हूं मुझे पैसे मिला है मुझसे पूछा गया कि मुझे अक्सर यह समझने में दिक्कत होती है कि मैं किन चीजों को अपनी प्राथमिकता बनाऊं क्या मुझे बता सकते हैं कि मुझे जीवन में किन चीजों को अपनी प्राथमिकता बनाना चाहिए जी बिल्कुल मैं बहुत ही गौरवान्वित महसूस करूंगा अगर मैं आपके प्रश्न का हल कर सकूं आपको कोई समाधान दे सकूं तो देखिए प्राथमिकता की जहां तक बात है तो जीवन के हर पहलू पर हर समय में प्राथमिकता का जो एक दायरा है वह बदलता है उसमें बदलाव आना स्वाभाविक है अगर आप शिक्षार्थी हैं शिक्षा चयन करते हैं तो आपका प्राथमिक दायित्व जो है वह शिक्षा ग्रहण करना होगा अगर आप व्यवसाय करते हैं या नौकरी पेशे में आप हैं तो आपका जो प्राथमिकता है वो अपने व्यवसाय को आगे बढ़ाना होगा अपनी नौकरी में तरक्की लेके आना हुआ तो प्राथमिकताओं का जो एक दौर है वह समय के साथ साथ बदलता है यह बात सत्य है पर सबसे पहले जो मैं जहां तक मेरा खुद का जहां तक मैंने मना किया है तो मैं इस चीज के उत्कर्ष तक पहुंच चुका हूं कि अस्मिता आप उसी चीज को दीजिए जिस चीज में आप अपने आप को जिंदगी में कामयाब बनाना चाहते हैं या जो आपका एक निर्धारित लक्ष्य है उसकी प्राप्ति के लिए आप उससे जुड़ी हुई उन चीजों को प्राथमिकता दें जिनसे आप एक-एक करके श्रीधर चिड़िया ने पायदान तक पहुंच सकते हो तो हर एक अच्छे काम को प्राथमिकता देना अभी आपका कर्तव्य दायित्व है एक सोसाइटी में रहने के साथ-साथ आप परिवार में भी है रहते हैं वितरण करते हैं तो परिवार की समस्याओं का समाधान करना भी एक तरह का उसके लिए भी आपको प्राथमिकता देनी पड़ेगी तो बहुत सारा से अधिकता के रोल है जो आपको अदा करने पड़ते हैं अपने जीवन में तो मैं यह कहना चाहूंगा कि हर एक अच्छा काम किसी भी चीज से संबंधित हो तो उसके लिए आप प्राथमिकता दें जहां को लगता है कि किसी व्यक्ति विशेष को xe1 सोसाइटी को समाज के किसी एक वर्ग की जरूरत है तो जरूर आप उसकी मदद करने के लिए प्राथमिकता दें अपने परिवार की खुशहाली के लिए उनकी सहूलियत के लिए मेहनत करें उस मेहनत के लिए प्राथमिकता देनी पड़ेगी तो इस तरह से इसकी जो वर्ग है जो अलग-अलग भरते हैं तो जो सबसे इसका एक निष्कर्ष निकाला है तो वही है कि आप कोई भी काम करें किसी भी अच्छी चीज से जुड़ा हुआ कोई भी कार्य करें तो उसको प्राथमिकता दें तो उसको मेहनत से करें धन्यवाद

namaskar nakul bhardwaj hoon mujhe paise mila hai mujhse poocha gaya ki mujhe aksar yah samjhne me dikkat hoti hai ki main kin chijon ko apni prathamikta banau kya mujhe bata sakte hain ki mujhe jeevan me kin chijon ko apni prathamikta banana chahiye ji bilkul main bahut hi gaurvanvit mehsus karunga agar main aapke prashna ka hal kar sakun aapko koi samadhan de sakun toh dekhiye prathamikta ki jaha tak baat hai toh jeevan ke har pahaloo par har samay me prathamikta ka jo ek dayara hai vaah badalta hai usme badlav aana swabhavik hai agar aap shiksharthi hain shiksha chayan karte hain toh aapka prathmik dayitva jo hai vaah shiksha grahan karna hoga agar aap vyavasaya karte hain ya naukri peshe me aap hain toh aapka jo prathamikta hai vo apne vyavasaya ko aage badhana hoga apni naukri me tarakki leke aana hua toh prathamiktaon ka jo ek daur hai vaah samay ke saath saath badalta hai yah baat satya hai par sabse pehle jo main jaha tak mera khud ka jaha tak maine mana kiya hai toh main is cheez ke utkarsh tak pohch chuka hoon ki asmita aap usi cheez ko dijiye jis cheez me aap apne aap ko zindagi me kamyab banana chahte hain ya jo aapka ek nirdharit lakshya hai uski prapti ke liye aap usse judi hui un chijon ko prathamikta de jinse aap ek ek karke shridhar chidiya ne payadan tak pohch sakte ho toh har ek acche kaam ko prathamikta dena abhi aapka kartavya dayitva hai ek society me rehne ke saath saath aap parivar me bhi hai rehte hain vitaran karte hain toh parivar ki samasyaon ka samadhan karna bhi ek tarah ka uske liye bhi aapko prathamikta deni padegi toh bahut saara se adhikata ke roll hai jo aapko ada karne padate hain apne jeevan me toh main yah kehna chahunga ki har ek accha kaam kisi bhi cheez se sambandhit ho toh uske liye aap prathamikta de jaha ko lagta hai ki kisi vyakti vishesh ko xe1 society ko samaj ke kisi ek varg ki zarurat hai toh zaroor aap uski madad karne ke liye prathamikta de apne parivar ki khushahali ke liye unki sahuliyat ke liye mehnat kare us mehnat ke liye prathamikta deni padegi toh is tarah se iski jo varg hai jo alag alag bharte hain toh jo sabse iska ek nishkarsh nikaala hai toh wahi hai ki aap koi bhi kaam kare kisi bhi achi cheez se juda hua koi bhi karya kare toh usko prathamikta de toh usko mehnat se kare dhanyavad

नमस्कार नकुल भारद्वाज हूं मुझे पैसे मिला है मुझसे पूछा गया कि मुझे अक्सर यह समझने में दिक्

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  171
WhatsApp_icon
user

Meenaxi Yadav

Wellness Coach

0:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको हमेशा ऐसी चीजों को अपनी प्रार्थना चाहिए जो आपकी प्राथमिक आवश्यकता हो सबसे ज्यादा जरूरी हो और आपको खुशी देती हो

aapko hamesha aisi chijon ko apni prarthna chahiye jo aapki prathmik avashyakta ho sabse zyada zaroori ho aur aapko khushi deti ho

आपको हमेशा ऐसी चीजों को अपनी प्रार्थना चाहिए जो आपकी प्राथमिक आवश्यकता हो सबसे ज्यादा जरूर

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  128
WhatsApp_icon
user

Dr Yogi Ravi

Certified Yoga Expert | Naturopathic Consultant | Health Blogger

0:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सभी चीजों का एक सिक्वेंस बनाएं जिसे आप सबसे ज्यादा पाना चाहते हैं उसे सबसे पहले उसके बाद जिन चीजों को बाद में भी या लेट पा सकते हैं उसको उसके बाद किस इक्वेंस में रखें

sabhi chijon ka ek sikwens banaye jise aap sabse zyada paana chahte hain use sabse pehle uske baad jin chijon ko baad me bhi ya late paa sakte hain usko uske baad kis ikwens me rakhen

सभी चीजों का एक सिक्वेंस बनाएं जिसे आप सबसे ज्यादा पाना चाहते हैं उसे सबसे पहले उसके बाद ज

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  92
WhatsApp_icon
user

Alfaiz

Assistant Director In Bollywood | Motivational Speaker | Philosopher

2:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जैसे कि आपने बोला के आपको किन चीजों के अपनी प्राथमिकता बनानी चाहिए तो मेरा यह मानना है कि सबसे पहले खुद को अपनी प्राथमिकता बना चुके अगर हम को बोल देना कि लाइफ में आगे बढ़ना है तो पहले हम खुद इंस्टेबल होने चाहिए सब कंडीशन में खुद को पहले रखो आजकल के जमाने में लोग खुद को बाद में खुद सोचो दूसरों का भी सोचो ऐसा नहीं है पर सबसे पहले खुद का देखो वह देखो मिश्रा सब कुछ कर पाएंगे कि नहीं बनाना अपना परिवार है अपने दोस्त को प्राथमिकता के अंदर आता है खुद अपनी प्राथमिकता से देखो क्या क्या आपको जरूर होते जीवन में क्या आपको चाहिए क्या नहीं चाहिए आगे बढ़ सकते हो कि नहीं बढ़ सकते हो क्या चीज आपको दे रही है किस दिशा को तकलीफ होती है तो हमें तो वह चीज को आप एक ही स्टार्ट करो कि मुझे यह जीवन में यह करना है और उस हिसाब से काम करना यह सर्वे लिस्ट बनाऊंगा यह डायरी लिखूंगा यह लिखूंगा वह लोग आप लोग आओगे अभी कुछ आगे होगा वरना वहां तक कुछ नहीं होगा मैंने भी बहुत ट्राई किया है कि यह करो वह करो मैं कुछ भी करूंगा करूंगा मुझे चलो आप एकदम बिल का पोस्ट एक्स वाई जेड ए चीज पसंद है वही चीज के पीछे दोनों अगर दुनिया को ठीक लगे दुनिया का खुद का देखो आप खुद खुश रहो कि आपको मजा आ रहा है तो सब कुछ है आपको मजा नहीं आ रहा है तो आपको कुछ कोई सामने वाला खुद करेगा तो कुछ नहीं होगी तो मेरा तो यही मतलब को समझो और उसको प्राचीन

jaise ki aapne bola ke aapko kin chijon ke apni prathamikta banani chahiye toh mera yah manana hai ki sabse pehle khud ko apni prathamikta bana chuke agar hum ko bol dena ki life me aage badhana hai toh pehle hum khud installable hone chahiye sab condition me khud ko pehle rakho aajkal ke jamane me log khud ko baad me khud socho dusro ka bhi socho aisa nahi hai par sabse pehle khud ka dekho vaah dekho mishra sab kuch kar payenge ki nahi banana apna parivar hai apne dost ko prathamikta ke andar aata hai khud apni prathamikta se dekho kya kya aapko zaroor hote jeevan me kya aapko chahiye kya nahi chahiye aage badh sakte ho ki nahi badh sakte ho kya cheez aapko de rahi hai kis disha ko takleef hoti hai toh hamein toh vaah cheez ko aap ek hi start karo ki mujhe yah jeevan me yah karna hai aur us hisab se kaam karna yah survey list banaunga yah diary likhunga yah likhunga vaah log aap log aaoge abhi kuch aage hoga varna wahan tak kuch nahi hoga maine bhi bahut try kiya hai ki yah karo vaah karo main kuch bhi karunga karunga mujhe chalo aap ekdam bill ka post x why z a cheez pasand hai wahi cheez ke peeche dono agar duniya ko theek lage duniya ka khud ka dekho aap khud khush raho ki aapko maza aa raha hai toh sab kuch hai aapko maza nahi aa raha hai toh aapko kuch koi saamne vala khud karega toh kuch nahi hogi toh mera toh yahi matlab ko samjho aur usko prachin

जैसे कि आपने बोला के आपको किन चीजों के अपनी प्राथमिकता बनानी चाहिए तो मेरा यह मानना है कि

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  61
WhatsApp_icon
user

Dr. Swatantra Jain

Psychotherapist, Family & Career Counsellor and Parenting & Life Coach

4:32
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपके प्रश्न है कि मुझे अक्सर यह समझने में दिक्कत होती है कि मैं किन चीजों को अपनी प्राथमिकता का नाम क्या आप मुझे बता सकते हैं कि मुझे जीवन में किस चीजों को प्राथमिकता देनी चाहिए अच्छी बात है पूछ रहे हो लेकिन बच्चे प्राथमिक तत्व अपनी अपनी होती है ना जो भी प्राथमिकता है वह आपकी कैसे हो जाते मैं जिस चीज को देती हूं उसको आप रहने देंगे तभी आपके प्राथमिकता देने की नितनेम पॉजिटिविटी मुझे हर हाल में पॉजिटिव रहना मुझे किसी के बारे में नकारात्मक नहीं सोचना जो नकारात्मक दिखाई देता है उसको भी वैसा ही सोच कर देखा है ऐसा है पर आकर बैठ जाओ मेरी एक क्या अभी अपनी प्राथमिकता बना सकते हो तो बहुत अच्छी बात है और नहीं बता सकते तो आप देखेंगे आपके जीवन की जानी चाहिए मेरी प्राथमिकता ईश्वर में श्रद्धा मतलब कुदरत के नियम में अपने कर्म में जो मैं कर्म करती हूं ऐसा ना करो कि मुझे फालतू तेरे दर्द हो तुम पर कोई असर नहीं करते अनजाने में कुछ हो जाए तो हमारे बस में नहीं है मन जाने यह बहुत कुछ होता रहता है लेकिन जानबूझकर किसी को कष्ट पहुंचाना जानबूझकर किसी को दर्द ना किसी को मारना कुछ बात करना है हम कुछ भी करते वे चाहते हैं इसके लिए अब आपकी प्राथमिकता यह बन सकती है या नहीं बन सकती आप जाने देखो बच्चे अपने जीवन की कोई वैल्यू होती है ईमानदारी से रहना है कुछ भी हो जाए तो वह मेरी प्राथमिकता होगी अब मुझे कितनी भी मुसीबतों का सामना करना पड़े कितने भी लालच मेरे सामने रखे जाएंगे क्योंकि मैं ईमानदारी मेरी प्राथमिकता है तो मैं उस लालच को ठोकर मार दूंगी ना तो इमानदार हर परिस्थिति में बड़े से बड़े लालच के आगे नहीं है भ्रष्टाचार नहीं होते उनकी प्राथमिकता की इमानदारी बाकी बाद में सब कुछ और चाहे ऐसे लोग दुनिया में बात करनी है चित्र किसी की प्राथमिकता है पैसा बढ़ाना जिनकी प्राथमिकता पैसा बनाना है वह बाकी सब चीजों को लात मार देंगे वो फिर पैसा कमाएंगे अब तो कैसे मरते कि मैं उनको कोई फर्क नहीं पड़ता किसी को लूटना है किसी को मारना है किसी को सताना है किसी का शोषण करना है किसी को धोखा देना है कोई फर्क नहीं पड़ता कहीं एडल्टरेशन करनी है खाने पीने की चीज में मिलावट करने जैसे भी मैं उनको पैसा बनाने की उनकी प्राथमिकता है कोई मुझे अपनी प्राथमिकता यह बना आप क्या बनाना चाहते कि आप पर डिपेंड करता है आपकी प्राथमिकता कुछ सोचो और कोशिश लिखना शुरू करो सूचना शुरू करो क्या प्राथमिकता दी है लाइफ की आप की वैल्यू सिस्टम क्या है और अगर आपको लगता है कि आदर्श बनना है तो आदर्श बातें सोचो अगर सूचना के बाद पैसे के पीछे भागने कामनाओं के पीछे पीछे कुछ भी हो सकता है तो यू

aapke prashna hai ki mujhe aksar yah samjhne me dikkat hoti hai ki main kin chijon ko apni prathamikta ka naam kya aap mujhe bata sakte hain ki mujhe jeevan me kis chijon ko prathamikta deni chahiye achi baat hai puch rahe ho lekin bacche prathmik tatva apni apni hoti hai na jo bhi prathamikta hai vaah aapki kaise ho jaate main jis cheez ko deti hoon usko aap rehne denge tabhi aapke prathamikta dene ki nitnem positivity mujhe har haal me positive rehna mujhe kisi ke bare me nakaratmak nahi sochna jo nakaratmak dikhai deta hai usko bhi waisa hi soch kar dekha hai aisa hai par aakar baith jao meri ek kya abhi apni prathamikta bana sakte ho toh bahut achi baat hai aur nahi bata sakte toh aap dekhenge aapke jeevan ki jani chahiye meri prathamikta ishwar me shraddha matlab kudrat ke niyam me apne karm me jo main karm karti hoon aisa na karo ki mujhe faltu tere dard ho tum par koi asar nahi karte anjaane me kuch ho jaaye toh hamare bus me nahi hai man jaane yah bahut kuch hota rehta hai lekin janbujhkar kisi ko kasht pahunchana janbujhkar kisi ko dard na kisi ko marna kuch baat karna hai hum kuch bhi karte ve chahte hain iske liye ab aapki prathamikta yah ban sakti hai ya nahi ban sakti aap jaane dekho bacche apne jeevan ki koi value hoti hai imaandaari se rehna hai kuch bhi ho jaaye toh vaah meri prathamikta hogi ab mujhe kitni bhi musibaton ka samana karna pade kitne bhi lalach mere saamne rakhe jaenge kyonki main imaandaari meri prathamikta hai toh main us lalach ko thokar maar dungi na toh imaandaar har paristhiti me bade se bade lalach ke aage nahi hai bhrashtachar nahi hote unki prathamikta ki imaandari baki baad me sab kuch aur chahen aise log duniya me baat karni hai chitra kisi ki prathamikta hai paisa badhana jinki prathamikta paisa banana hai vaah baki sab chijon ko laat maar denge vo phir paisa kamayenge ab toh kaise marte ki main unko koi fark nahi padta kisi ko lootna hai kisi ko marna hai kisi ko sataana hai kisi ka shoshan karna hai kisi ko dhokha dena hai koi fark nahi padta kahin edaltareshan karni hai khane peene ki cheez me milavat karne jaise bhi main unko paisa banane ki unki prathamikta hai koi mujhe apni prathamikta yah bana aap kya banana chahte ki aap par depend karta hai aapki prathamikta kuch socho aur koshish likhna shuru karo soochna shuru karo kya prathamikta di hai life ki aap ki value system kya hai aur agar aapko lagta hai ki adarsh banna hai toh adarsh batein socho agar soochna ke baad paise ke peeche bhagne kamanaon ke peeche peeche kuch bhi ho sakta hai toh you

आपके प्रश्न है कि मुझे अक्सर यह समझने में दिक्कत होती है कि मैं किन चीजों को अपनी प्राथमिक

Romanized Version
Likes  419  Dislikes    views  4786
WhatsApp_icon
user

Vinod Kumar Pandey

Life Coach | Career Counsellor ::Relationship Counsellor :: Parenting Counsellor

2:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने जो प्रश्न किया उसका उत्तर में मैं यही कहना चाहता हूं कि हर एक व्यक्ति के जीवन में बहुत सारी ऐसी प्राथमिकताएं होती हैं जो अलग-अलग होती हैं लेकिन कुछ ऐसी प्राथमिकताएं हैं जो हर व्यक्ति के लिए एक जैसी होती हैं इसलिए उन चीजों को हर व्यक्ति को अपने जीवन में प्राथमिकता में शामिल जरूर करना चाहिए जैसे आप कोई भी कार्य करें तो जरूर सुनिश्चित करें कि उस कार्य को करने के बाद आपको आत्म संतुष्टि जरूर मिल रही है कि नहीं मिल रही है अगर आपको आपकी संतुष्टि मिले तभी उस कार्य को करें अगर ऐसा नहीं होता है तो आप उस कार्य को बिल्कुल ना करें दूसरी जो प्राथमिकता है कि उस कार्य को करने के बाद क्या आपको खुशी मिल रही है या नहीं मिल रही है उस कार्य को अगर करने में खुशी मिलती है तभी वह कार्य करें अन्यथा ना करें तीसरी प्राथमिकता में रखें कि उस कार्य को करने के बाद क्या आपको शांति मिल रही है या नहीं मिल रही है अगर आपके जीवन में शांति बनी रह गई है तभी उस कार्य करें अन्यथा ना करें तो ध्यान रहे हर एक पति को अपने जीवन में तीन प्राथमिकताओं को जरूर शामिल करना चाहिए संतुष्टि शांति और खुशी अगर यह तीन चीजें आ प्राथमिकता में शामिल करेंगे तो आप अपने आप आपके जीवन के सभी कार्यों का निर्धारण होता चला जाएगा कि आपको कौन सा कार्य करना है और कौन सा कार्य नहीं करना है अगर आप अपने जीवन को बारीकी से स्टडी करेंगे तो आप यहीं पाएंगे कि कहीं ना कहीं हम जीवन भर जो भी कार्य करते हैं जो भी अपने प्रोफेशन बनाते हैं हर प्रोफेशन हर कार्य के पीछे हमारा इंटेंशन यही आता है कि हमें उससे खुशी मिले और यही कारण है कि हम उसी को तो देखते हैं लेकिन कहीं ना कहीं जब हम चीजों को कलेक्ट करने लगती है चीजों के पैसे भरने लगते हैं तो यह सारी चीजें हमारे जीवन से गायब होती चली जाती हैं इसलिए ध्यान रहे कभी भी अपने जीवन में लक्ष्य निर्धारण करना हो तो यह जरूर सुनिश्चित करें कि संतुष्टि खुशी और शांति अगर चीजें बनी रहे तभी उस काम को करें अन्यथा ना करें इस तरीके से आप अपने जीवन को आनंदमय तरीके से जी पाएंगे और शायद बहुत ही खुशहाल जीवन जाएंगे मेरी शुभकामनाएं आपके लिए धन्यवाद

aapne jo prashna kiya uska uttar me main yahi kehna chahta hoon ki har ek vyakti ke jeevan me bahut saari aisi prathamiktaen hoti hain jo alag alag hoti hain lekin kuch aisi prathamiktaen hain jo har vyakti ke liye ek jaisi hoti hain isliye un chijon ko har vyakti ko apne jeevan me prathamikta me shaamil zaroor karna chahiye jaise aap koi bhi karya kare toh zaroor sunishchit kare ki us karya ko karne ke baad aapko aatm santushti zaroor mil rahi hai ki nahi mil rahi hai agar aapko aapki santushti mile tabhi us karya ko kare agar aisa nahi hota hai toh aap us karya ko bilkul na kare dusri jo prathamikta hai ki us karya ko karne ke baad kya aapko khushi mil rahi hai ya nahi mil rahi hai us karya ko agar karne me khushi milti hai tabhi vaah karya kare anyatha na kare teesri prathamikta me rakhen ki us karya ko karne ke baad kya aapko shanti mil rahi hai ya nahi mil rahi hai agar aapke jeevan me shanti bani reh gayi hai tabhi us karya kare anyatha na kare toh dhyan rahe har ek pati ko apne jeevan me teen prathamiktaon ko zaroor shaamil karna chahiye santushti shanti aur khushi agar yah teen cheezen aa prathamikta me shaamil karenge toh aap apne aap aapke jeevan ke sabhi karyo ka nirdharan hota chala jaega ki aapko kaun sa karya karna hai aur kaun sa karya nahi karna hai agar aap apne jeevan ko baareekee se study karenge toh aap yahin payenge ki kahin na kahin hum jeevan bhar jo bhi karya karte hain jo bhi apne profession banate hain har profession har karya ke peeche hamara intention yahi aata hai ki hamein usse khushi mile aur yahi karan hai ki hum usi ko toh dekhte hain lekin kahin na kahin jab hum chijon ko collect karne lagti hai chijon ke paise bharne lagte hain toh yah saari cheezen hamare jeevan se gayab hoti chali jaati hain isliye dhyan rahe kabhi bhi apne jeevan me lakshya nirdharan karna ho toh yah zaroor sunishchit kare ki santushti khushi aur shanti agar cheezen bani rahe tabhi us kaam ko kare anyatha na kare is tarike se aap apne jeevan ko anandamay tarike se ji payenge aur shayad bahut hi khushahal jeevan jaenge meri subhkamnaayain aapke liye dhanyavad

आपने जो प्रश्न किया उसका उत्तर में मैं यही कहना चाहता हूं कि हर एक व्यक्ति के जीवन में बहु

Romanized Version
Likes  186  Dislikes    views  1305
WhatsApp_icon
user
0:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जिंदगी में प्राइवेट में सुनाएं तरह के होते हैं कभी रिलेशनशिप के लिए कभी नौकरी के लिए सभी फ्रेंड्स के लिए उसके लिए तो अपने को यह देखना चाहिए कि हम किस एरिया में थोड़ा ठीक है तो फरवरी में प्रवेश करने से अपनी जिंदगी काफी होती है

zindagi mein private mein sunaen tarah ke hote hain kabhi Relationship ke liye kabhi naukri ke liye sabhi friends ke liye uske liye toh apne ko yah dekhna chahiye ki hum kis area mein thoda theek hai toh february mein pravesh karne se apni zindagi kaafi hoti hai

जिंदगी में प्राइवेट में सुनाएं तरह के होते हैं कभी रिलेशनशिप के लिए कभी नौकरी के लिए सभी फ

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  301
WhatsApp_icon
play
user

Er Pankaj Rai

International Motivational speaker · Counsellor · Writer. Trainer

3:20

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आईटी मतलब हमारे जीवन में जुटा सकता है वह क्या होना चाहिए तो हर एक व्यक्ति की प्राथमिकता अलग-अलग होती है अगर आके के स्टूडेंट क्या बात करें तो स्टूडेंट के लिए प्राथमिकता होती है कि वह कुछ अच्छे एग्जाम निकाले अगर हम आप बड़े लोगों की बात करते हैं जैसे कोई पेरेंट्स हैं तो करंट की प्राथमिकताएं होते हैं कि उनके बच्चे अच्छे से पढ़ लो अच्छे से पैसा कमाने अपना जीवन सफल पुरवा सफलता जीवन एक सफल सफल जीवन व्यतीत कर पाए लोगों की अलग-अलग व्यक्ति विशेष के हिसाब से मैं अपनी बात करूं तुम मेरे जीवन की वास्तविकता यह है कि मैं जिस तरह से मेरा जीवन परिवर्तित हुआ है मानपुर में सकारात्मक विचारधारा से उसी तरह से हजारों और लोगों का जीवन परिवर्तित कार्पॉम यह मेरे जीवन के पास लगता है बच्चे की बात करेंगे तो बच्चा है या कोई कारण है क्या कोई टीचर है सबसे पहला होता है हमें अक्षमता के चलते अगर आपके जीवन में कुछ लक्ष्य है आपकी जरूरतों के हिसाब से एक व्यक्ति जो अमीर है उसके लक्ष्य लक्ष्य लक्ष्य दो तरह के होते हैं एक होता है मैटेरियलिस्टिक मतलब बाहरी वर्ल्ड जिसमें पैसा नौकरी शोहरत इज्ज़त यह सब होता है और दूसरा लगता है आंतरिक लक्ष्य कमीशन बिगेस्ट अनुरोध है कि आप क्या हो आपके टैलेंट क्या है आपकी क्षमता है क्या है आपकी योग्यता है क्या है आपके तो यह दोनों चीजों के बारे में अगर हमें क्लियर हैं आंतरिक प्राथमिकताएं अलग होती है और बाहरी प्राथमिकताएं अलग होती लेकिन जब आप सोते हो तो आप की बाहरी प्राथमिकताएं हैं जिनका पैसा कमाना अच्छी नौकरी अच्छा रोजगार को प्राप्त करने में बहुत आसानी होती है इंग्लिश में हम जिनको बोलते हैं हम जितना हमारा आत्मविश्वास कैसा है हमारा सोच कैसी है हमारा बिहेवियर कैसा है हम दयालु प्रवृत्ति के हैं कि नहीं हम ऊंचा माल है कि नहीं हम बिल्कुल है कि हम रचनात्मक है कि नहीं अम्मा हमारा कोई व्यक्तित्व है कि नहीं तो यह हमारी अंदर की प्राथमिकताएं होना चाहिए और हर एक व्यक्ति विशेष वर्ग और आयु वर्ग के लिए होना चाहिए कि उनका चैट क्यूट है उनका जो व्यवहार है वह सकारात्मक और दीजिए आज आपके प्रति अतुल स्वयं के प्रति जागरूक होना एक व्यक्ति विशेष की सबसे पहली प्राथमिकता होना चाहिए और जब यह हो जाती है तो हमारी जो बाहरी है मटक लिपस्टिक वर्ल्ड की बात करता है उनको आप आशा से प्राप्त कर सकते हो और भी होते हैं कि क्या करना है और क्या नहीं करना आपका दृष्टिकोण साफ हो जाता है परिस्थितियां आपकी खुद की क्षमताओं के हिसाब से आप चल सकते हो या देख सकते हो कि आपके लिए आप अपनी प्राथमिकताओं को आसानी से निर्धारित कर सकते

it matlab hamare jeevan mein jutta sakta hai vaah kya hona chahiye toh har ek vyakti ki prathamikta alag alag hoti hai agar aake ke student kya baat kare toh student ke liye prathamikta hoti hai ki vaah kuch acche exam nikale agar hum aap bade logo ki baat karte hain jaise koi parents hain toh current ki prathamiktaen hote hain ki unke bacche acche se padh lo acche se paisa kamane apna jeevan safal purva safalta jeevan ek safal safal jeevan vyatit kar paye logo ki alag alag vyakti vishesh ke hisab se main apni baat karu tum mere jeevan ki vastavikta yah hai ki main jis tarah se mera jeevan parivartit hua hai manapur mein sakaratmak vichardhara se usi tarah se hazaro aur logo ka jeevan parivartit karpam yah mere jeevan ke paas lagta hai bacche ki baat karenge toh baccha hai ya koi karan hai kya koi teacher hai sabse pehla hota hai hamein akshamata ke chalte agar aapke jeevan mein kuch lakshya hai aapki jaruraton ke hisab se ek vyakti jo amir hai uske lakshya lakshya lakshya do tarah ke hote hain ek hota hai materialistic matlab bahri world jisme paisa naukri shoharat izzat yah sab hota hai aur doosra lagta hai aantarik lakshya commision biggest anurodh hai ki aap kya ho aapke talent kya hai aapki kshamta hai kya hai aapki yogyata hai kya hai aapke toh yah dono chijon ke bare mein agar hamein clear hain aantarik prathamiktaen alag hoti hai aur bahri prathamiktaen alag hoti lekin jab aap sote ho toh aap ki bahri prathamiktaen hain jinka paisa kamana achi naukri accha rojgar ko prapt karne mein bahut aasani hoti hai english mein hum jinako bolte hain hum jitna hamara aatmvishvaas kaisa hai hamara soch kaisi hai hamara behaviour kaisa hai hum dayalu pravritti ke hain ki nahi hum uncha maal hai ki nahi hum bilkul hai ki hum rachnatmak hai ki nahi amma hamara koi vyaktitva hai ki nahi toh yah hamari andar ki prathamiktaen hona chahiye aur har ek vyakti vishesh varg aur aayu varg ke liye hona chahiye ki unka chat cute hai unka jo vyavhar hai vaah sakaratmak aur dijiye aaj aapke prati atul swayam ke prati jagruk hona ek vyakti vishesh ki sabse pehli prathamikta hona chahiye aur jab yah ho jaati hai toh hamari jo bahri hai matak lipstick world ki baat karta hai unko aap asha se prapt kar sakte ho aur bhi hote hain ki kya karna hai aur kya nahi karna aapka drishtikon saaf ho jata hai paristhiyaann aapki khud ki kshamataon ke hisab se aap chal sakte ho ya dekh sakte ho ki aapke liye aap apni prathamiktaon ko aasani se nirdharit kar sakte

आईटी मतलब हमारे जीवन में जुटा सकता है वह क्या होना चाहिए तो हर एक व्यक्ति की प्राथमिकता अल

Romanized Version
Likes  31  Dislikes    views  438
WhatsApp_icon
user

Umesh Upaadyay

Life Coach | Motivational Speaker

1:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए यह आप पर डिपेंड करते हैं कि आप लाइट के किस चीज पर हैं अगर एक बच्चा है स्टूडेंट है तो उसकी अलग तरह की जॉब अलर्ट इससे करेगा अगर एक कॉलेज कोई नहीं आने दोगे प्रोफेसर ने उसकी अलग हाउसवाइफ किया लोगों की किस पड़ाव पर हैं और आप की प्रेक्टिस क्या होनी चाहिए या खुद डिसाइड करेंगे एक बार class10 में है उसकी परिमिति क्या होगी सबसे पहला उसके लिए इंपॉर्टेंट होगा कि उसका आने वाले बोर्ड एग्जाम वहीं पर एक बच्चा जो कि ए फाइनल ईयर में है उसको कॉलेज से निकलते ही जवाब लेना है तो उसकी प्राइस क्या हो जाती है मेरे को कंप्लीट अच्छे से कॉलेज अपने गम भी करें ताकि मेरी मां सच है और मेरे को याद केंपस प्लेसमेंट हो जाएगा मेरे को फटाफट जवाब मिल जाए उसको उस अंडर में देखना चाहिए तो उसको उस हिसाब से अपनी तैयारी करनी पड़ेगी रिचार्ज करना पड़ेगा देखना पड़ेगा कौन सी कंपनी से कौन सी कंपनी जा रही है बहुत सारी चीज करनी पड़ेगी जांच की जाती है उस समय को बचाइए सेट कर लेना है तो मेरे को मेरे दोस्त बनाने तो मुझे यहां नहीं तो यह आप पर निर्भर करता है कि आप कहां पर है कौन से स्टेशन पर है उस हिसाब से आप अपनी प्रायरिटी सेट कीजिए जो सबसे टॉप मोस्ट पार्टी और होती है पार्टी भी होगी वह चीज जो आपको इमीडीएटली चाहिए उसको आप ही मिलिट्री क्लोज करना है और उसके बाद बाकी सारी चीजें आती हैं इन एंड सिमर टेक्नोलॉजी के लिए आती है सारी चीजें तो घर आपने एक बार यह सेट कर ली तो एक तरह से आपको यह पता भी लग जाएगा कि यह होने के बाद यह होने के बाद यह होने के बाद यह कोई उसमें असमंजस नहीं रहेगा बाद में थोड़ा उपर नीचे हो जाए कोई फर्क नहीं पड़ता लेकिन यह इसका चुनाव डिसिशन ऑफ़ लेत चॉइस आपकी है यह आप पर निर्भर करता है

dekhiye yah aap par depend karte hai ki aap light ke kis cheez par hai agar ek baccha hai student hai toh uski alag tarah ki job alert isse karega agar ek college koi nahi aane doge professor ne uski alag housewife kiya logo ki kis padav par hai aur aap ki practice kya honi chahiye ya khud decide karenge ek baar class10 mein hai uski parimiti kya hogi sabse pehla uske liye important hoga ki uska aane waale board exam wahi par ek baccha jo ki a final year mein hai usko college se nikalte hi jawab lena hai toh uski price kya ho jaati hai mere ko complete acche se college apne gum bhi kare taki meri maa sach hai aur mere ko yaad campus placement ho jaega mere ko phataphat jawab mil jaaye usko us under mein dekhna chahiye toh usko us hisab se apni taiyari karni padegi recharge karna padega dekhna padega kaun si company se kaun si company ja rahi hai bahut saree cheez karni padegi jaanch ki jaati hai us samay ko bachaiye set kar lena hai toh mere ko mere dost banane toh mujhe yahan nahi toh yah aap par nirbhar karta hai ki aap kahaan par hai kaunsi station par hai us hisab se aap apni prayariti set kijiye jo sabse top most party aur hoti hai party bhi hogi vaah cheez jo aapko imidietali chahiye usko aap hi miltary close karna hai aur uske baad baki saree cheezen aati hai in and simar technology ke liye aati hai saree cheezen toh ghar aapne ek baar yah set kar li toh ek tarah se aapko yah pata bhi lag jaega ki yah hone ke baad yah hone ke baad yah hone ke baad yah koi usme asamanjas nahi rahega baad mein thoda upar niche ho jaaye koi fark nahi padta lekin yah iska chunav decision of late choice aapki hai yah aap par nirbhar karta hai

देखिए यह आप पर डिपेंड करते हैं कि आप लाइट के किस चीज पर हैं अगर एक बच्चा है स्टूडेंट है तो

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  302
WhatsApp_icon
user

Vikas Singh

Political Analyst

1:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जिंदगी में किन चीजों को अपनी प्राथमिकता बनाया जाए यह दुनिया के बहुत लोगों का सवाल है और इस सवाल के ऊपर हमें ग्रुप में बैठकर डिस्कशन भी करना चाहिए देखे जिंदगी कोई अमर हो कि नहीं आया है अगर धरती पर कोई भगवान ने भी जन्म लिया है तो उनको भी जाना पड़ा है और हम लोगों को भी एक न एक दिन जाना ही है तो जो हम लोग आपस में लड़ते हैं गलत चीजों के लिए गलत बातों के लिए तो यह हमें नहीं करना चाहिए रही बात जिंदगी में क्या प्राथमिकता होनी चाहिए जीवन को जीने के लिए तो उसके लिए मैं आपको बताना चाहता हूं जीवन में ईमानदारी ईमानदार होना बहुत जरूरी है सच्चाई होना बहुत जरूरी है अच्छे से कार्य करने के लिए प्रतिबंध होना बहुत जरूरी है ईमानदारी सच्चाई यह सब बहुत जरूरी है आप कसम खा लीजिए कि जीवन में मैं कभी किसी को धोखा नहीं दूंगा हमें कोई धोखा दे देगा कोई दिक्कत नहीं है लेकिन मैं किसी को नहीं दूंगा मैं हमेशा सत्य बोलूंगा सूट भी बोलूंगा अगर किसी की जान बच रही होती होगी या किसी का कुछ भला हो रहा होगा तू झूठ बोलूंगा ईमानदारी से कार्य करूंगा कुछ ऐसा करूंगा जिससे समाज का विकास होगा समाज का नुकसान नहीं होगा तो ऐसा दृढ़ संकल्प होना चाहिए आपके पास इन चीजों को जब आप प्राथमिकता देंगे तो आप हो सकता है बहुत बड़े बन जाए इतने बड़े बन जाएं कि पूरी दुनिया आप का समर्थन करने लगे मैं प्रधानमंत्री मोदी जी का उदाहरण लिखकर बताना चाहता हूं मोदी जी बहुत चाय वाले के बेटे थे लेकिन उन्होंने अपने जीवन को सच्चाई से मदारी सेजिया आज पूरी दुनिया के सबसे पॉपुलर लीटर है मोदी जी तो आइए हम उनके आदर्शो पर चलें धन्यवाद

zindagi mein kin chijon ko apni prathamikta banaya jaaye yah duniya ke bahut logo ka sawaal hai aur is sawaal ke upar hamein group mein baithkar discussion bhi karna chahiye dekhe zindagi koi amar ho ki nahi aaya hai agar dharti par koi bhagwan ne bhi janam liya hai toh unko bhi jana pada hai aur hum logo ko bhi ek na ek din jana hi hai toh jo hum log aapas mein ladte hai galat chijon ke liye galat baaton ke liye toh yah hamein nahi karna chahiye rahi baat zindagi mein kya prathamikta honi chahiye jeevan ko jeene ke liye toh uske liye main aapko bataana chahta hoon jeevan mein imaandaari imaandaar hona bahut zaroori hai sacchai hona bahut zaroori hai acche se karya karne ke liye pratibandh hona bahut zaroori hai imaandaari sacchai yah sab bahut zaroori hai aap kasam kha lijiye ki jeevan mein main kabhi kisi ko dhokha nahi dunga hamein koi dhokha de dega koi dikkat nahi hai lekin main kisi ko nahi dunga main hamesha satya boloonga suit bhi boloonga agar kisi ki jaan bach rahi hoti hogi ya kisi ka kuch bhala ho raha hoga tu jhuth boloonga imaandaari se karya karunga kuch aisa karunga jisse samaj ka vikas hoga samaj ka nuksan nahi hoga toh aisa dridh sankalp hona chahiye aapke paas in chijon ko jab aap prathamikta denge toh aap ho sakta hai bahut bade ban jaaye itne bade ban jayen ki puri duniya aap ka samarthan karne lage main pradhanmantri modi ji ka udaharan likhkar bataana chahta hoon modi ji bahut chai waale ke bete the lekin unhone apne jeevan ko sacchai se madari sejiya aaj puri duniya ke sabse popular litre hai modi ji toh aaiye hum unke adarsho par chalen dhanyavad

जिंदगी में किन चीजों को अपनी प्राथमिकता बनाया जाए यह दुनिया के बहुत लोगों का सवाल है और इस

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  434
WhatsApp_icon
user

Vaibhav kedia

Life Coach

1:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

डिफेंस फ्रॉम पर्सन टो पर्सन यह सब हर व्यक्ति के लिए अलग-अलग है क्या अभिप्राय रोटी बना दिया कर आप स्टूडेंट हैं सबसे पहले आपको प्राप्त होना चाहिए कि अच्छे नंबर से एग्जाम पास करें अच्छे माइंडसेट से बात करें क्या ताकि आपका दिमाग का विकास हो रखो आप सोच सकते ऑफ क्रिएटिव चीज सोच सकते इमैजिनेशन कर सकते हो कि मैं आज नहीं है एक नॉर्मल आदमी सोचता कि वह आएगा कॉलेज करेगा जॉब करेगा इमैजिनेशन कुछ बिल्ड करता कुछ नया करता बड़ा करता है तो आप स्टूडेंट हो तो आप का तरीका अगर आपको जॉब वाले हो तो आप जो चाहो वह कर सकते हो और आप पेरेंट्स हो तो आपका होना चाहिए अपने बच्चों को कैसे अच्छा शिक्षा दिया जाए तो कैसे आगे रेस करना प्लानिंग कैसे करना है और अगर आप थोड़ी और ओल्ड गए हम तो आपको यह तो पूरा टीना जी की कैसे जो आपने स्क्रीन सेवर यंगस्टर किया था कैसे शेयर कर सकते हो और अपने बच्चों के साथ टाइम स्पेंड कर सकते हैं और सोसाइटी को क्या दे सकते हैं सोसाइटी को क्या रिटर्न दे सकते हैं

defence from person toe person yah sab har vyakti ke liye alag alag hai kya abhipray roti bana diya kar aap student hain sabse pehle aapko prapt hona chahiye ki acche number se exam paas kare acche mindset se baat kare kya taki aapka dimag ka vikas ho rakho aap soch sakte of creative cheez soch sakte imaijineshan kar sakte ho ki main aaj nahi hai ek normal aadmi sochta ki vaah aayega college karega job karega imaijineshan kuch build karta kuch naya karta bada karta hai toh aap student ho toh aap ka tarika agar aapko job waale ho toh aap jo chaho vaah kar sakte ho aur aap parents ho toh aapka hona chahiye apne baccho ko kaise accha shiksha diya jaaye toh kaise aage race karna planning kaise karna hai aur agar aap thodi aur old gaye hum toh aapko yah toh pura tina ji ki kaise jo aapne screen sevar youngster kiya tha kaise share kar sakte ho aur apne baccho ke saath time spend kar sakte hain aur society ko kya de sakte hain society ko kya return de sakte hain

डिफेंस फ्रॉम पर्सन टो पर्सन यह सब हर व्यक्ति के लिए अलग-अलग है क्या अभिप्राय रोटी बना दिया

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  278
WhatsApp_icon
user

Rakesh Tiwari

Life Coach, Management Trainer

1:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है मुझे अक्षय समझने में दिक्कत होती है कि मैं किन चीजों को प्राथमिकता बनाऊं क्या आप मुझे बता सकते हो मुझे जीवन में किन चीजों को अपनी बता देना चाहिए अपने दृष्टिकोण अपनी पसंद नापसंद समझते हैं हम आपकी तरह से कमेंट नहीं कर सकते लेकिन हम पांच ऐसी पसंद जो आपको सबसे अच्छा लगता है ऐसे पांच काम 55 किया खुशियां मनाइए सूची बना सर्वाधिक पसंद है दिल की मूर्ति और अपने जीवन की प्राथमिकता को निर्धारित कर लेंगे जीवन में प्राथमिकताओं का निर्धारण लक्ष्य का निर्धारण नहीं किया तो आप की गुड़िया का संवहन ठीक उसी तरह होगा वालों के मैदान में हॉकी के मैदान में खिलाड़ी पूर्व से पश्चिम उत्तर दक्षिण दौड़ते रहे लेकिन पूरे मैदान में कुछ पोस्ट नहीं हूं तो कुल कितने कसम का कोई सार्थक परिणाम नहीं आएगा इसलिए अपने स्वभाव को जाने को जाने लक्ष्य बनाएं और लक्ष्य को एक्शन में तब्दील करें और जीवन में सफल हो

aapka prashna hai mujhe akshay samjhne mein dikkat hoti hai ki main kin chijon ko prathamikta banau kya aap mujhe bata sakte ho mujhe jeevan mein kin chijon ko apni bata dena chahiye apne drishtikon apni pasand napasand samajhte hain hum aapki tarah se comment nahi kar sakte lekin hum paanch aisi pasand jo aapko sabse accha lagta hai aise paanch kaam 55 kiya khushiya manaiye suchi bana sarvadhik pasand hai dil ki murti aur apne jeevan ki prathamikta ko nirdharit kar lenge jeevan mein prathamiktaon ka nirdharan lakshya ka nirdharan nahi kiya toh aap ki gudiya ka sanvahan theek usi tarah hoga walon ke maidan mein hockey ke maidan mein khiladi purv se paschim uttar dakshin daudte rahe lekin poore maidan mein kuch post nahi hoon toh kul kitne kasam ka koi sarthak parinam nahi aayega isliye apne swabhav ko jaane ko jaane lakshya banaye aur lakshya ko action mein tabdil kare aur jeevan mein safal ho

आपका प्रश्न है मुझे अक्षय समझने में दिक्कत होती है कि मैं किन चीजों को प्राथमिकता बनाऊं क्

Romanized Version
Likes  221  Dislikes    views  1799
WhatsApp_icon
user

Mehnaz Amjad

Certified Life Coach

1:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है कि आपको अक्सर यह समझने में प्रॉब्लम दिखा चाहती है कि आपकी कौन सी चीज में आपकी प्राथमिकता याने आपकी प्रवृत्ति आप बनाएं क्या आप मुझे बता सकते हैं कि आपके जीवन में क्या प्रभाव रखती हो मैंने पहले भी यह बात का जवाब दिया है मैं आप सभी वापस घर आऊंगी के और रोटी बनाने के लिए बेहतर इंसान आप खुद है इसलिए कि हर किसी का जीवन अलग है जीवन की परिस्थितियां अलग है जीवन के अप्रोच अलग है जीवन के उतार-चढ़ाव अलग है एक उदाहरण के तौर पर एक लड़का जो 10th लिख रहा है अभी टेन स्टैंडर्ड के लिए ऑडिटिंग होगी उसका एग्जाम साथ आराम से हो जाए अच्छे रिजल्ट है एक लड़की जिसकी शादी होने जा रही है उसकी प्रवृत्ति होगी क्या उसका जीवन विवाहित जीवन अच्छा एक लेडी जो मां बनने जा रही है उनकी प्रवृत्ति होगी कि वह स्वस्थ रहें उनका बच्चा स्वस्थ रहें उनकी डिलीवरी से हो जो ट्रैवल कर रहा है उसको है उसकी प्रवृत्ति है कि वह अपने मकसद में कामयाब हो जिसने बिजनेस स्टार्ट किया उसकी प्रॉपर्टी होगी कि उसका बिजनेस कैसे चल पड़े कैसे उसमें उसको कामयाबी मिले इतने धारण से समझ रहे हैं कि एक फार्मूला नहीं है जिस पर कहा जाकर चलो यह तुम्हारी परिवार की इस प्रवृत्ति को जानने के लिए या तो आपको एक कोच की जरूरत पड़ेगी लाइफ कोच जिससे आप कोचिंग लो आप को समझाएं कि कैसे आप अपनी जीवन के जो भी आपकी राइट ना परिस्थितियां हैं उसमें से आप अपनी प्रैक्टिस कैसे ढूंढ निकाले या फिर आपको खुद बैठकर इसका एनालिसिस करना होगा कोई और यह नहीं कर पाएगा धन्यवाद

aapka sawaal hai ki aapko aksar yah samjhne me problem dikha chahti hai ki aapki kaun si cheez me aapki prathamikta yane aapki pravritti aap banaye kya aap mujhe bata sakte hain ki aapke jeevan me kya prabhav rakhti ho maine pehle bhi yah baat ka jawab diya hai main aap sabhi wapas ghar aaungi ke aur roti banane ke liye behtar insaan aap khud hai isliye ki har kisi ka jeevan alag hai jeevan ki paristhiyaann alag hai jeevan ke approach alag hai jeevan ke utar chadhav alag hai ek udaharan ke taur par ek ladka jo 10th likh raha hai abhi ten standard ke liye auditing hogi uska exam saath aaram se ho jaaye acche result hai ek ladki jiski shaadi hone ja rahi hai uski pravritti hogi kya uska jeevan vivaahit jeevan accha ek lady jo maa banne ja rahi hai unki pravritti hogi ki vaah swasth rahein unka baccha swasth rahein unki delivery se ho jo travel kar raha hai usko hai uski pravritti hai ki vaah apne maksad me kamyab ho jisne business start kiya uski property hogi ki uska business kaise chal pade kaise usme usko kamyabi mile itne dharan se samajh rahe hain ki ek formula nahi hai jis par kaha jaakar chalo yah tumhari parivar ki is pravritti ko jaanne ke liye ya toh aapko ek coach ki zarurat padegi life coach jisse aap coaching lo aap ko samjhaye ki kaise aap apni jeevan ke jo bhi aapki right na paristhiyaann hain usme se aap apni practice kaise dhundh nikale ya phir aapko khud baithkar iska analysis karna hoga koi aur yah nahi kar payega dhanyavad

आपका सवाल है कि आपको अक्सर यह समझने में प्रॉब्लम दिखा चाहती है कि आपकी कौन सी चीज में आपकी

Romanized Version
Likes  388  Dislikes    views  2769
WhatsApp_icon
user

Aniel K Kumar Imprints

NLP Master Life Coach, Motivational Speaker

5:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार मैं अनिल के कुंवारे में प्रिंट एक बार फिर आपके साथ जुड़ा हूं आप का सवाल है कि आपको अक्सर यह समझने में दिक्कत होती है कि किन चीजों को अपनी प्राथमिकता दें और आप जीवन में किन चीजों को अपने लिए चुने और उन पर कार्य करना शुरू करें दोस्त इन चीजों के लिए अगर हम फोकस करें अपने जीवन पूरे जीवन तो दुख और सुख के कारण सिर्फ पांच है जिसमें सबसे पहला आता है आपका स्वास्थ्य जी हां चाहे आपके पास कितना ही पैसा हो कितनी ही धन दौलत हो कितनी ऐसो आराम की सुविधाएं हो यदि आपका स्वास्थ्य सही नहीं है तो शायद ही आप अपने जीवन का पूरा आनंद उठाता है तो सही स्वास्थ्य के लिए आपकी प्राथमिकता होनी चाहिए दूसरा आता है आपके रिश्ते जी हां आपके परिवार में चाहे किसी भी तरह का समृद्धि सुख समृद्धि हो लेकिन यदि आपके परिवार में रिश्तो में कटुता है दुश्मनों जीवन रुक सा जाता है तीसरा फाइनेंस हां जिसके पास पैसा है उसको शायद फर्क ना पड़े लेकिन जिसके पास पैसा नहीं है उसको बहुत फर्क पड़ता है तो पैसे का भी अपने आप में बहुत बड़ा वजूद है हर कोई चाहता कि कम से कम उसके पास इतना पैसा तो हो कि वह अपने बच्चों की अपने परिवार की और अपने आप की बेसिक रिक्वायरमेंट को पूरा कर पाए चौथा होता है सोशल समाज मानव एक सामाजिक प्राणी है और वह उसमें किस तरह से डिलीट करता है किस तरह कम्युनिकेट करता है वही डिपेंड करता है एक दूसरे के साथ में यह समाज हमें जहां बड़ा करने के लिए प्रेरित करता है वही यह समाज को हमें गलत करने से भी रोकता है और पांचवा है आपका मेंटल एंड इमोशनल वैलनेस जी हां आज चलती का नाम गाड़ी है जीवन चलने का नाम है और चलते हुए जीवन में कभी भी आपके सामने किसी भी तरह की चुनौतियां सकती हैं कोई भी चैलेंज जी जा सकते हैं यदि आप मेंटली इमोशनली रूप से स्ट्रांग नहीं है पर पेड़ नहीं है तो आप इस दिक्कतों से अपने आप को गिरा हुआ महसूस कर सकते हैं इस तरह से पांच क्षेत्र हैं अब आपने यह देखना है कि इनमें से कौनसा क्षेत्र आपके पास फिल्म है और कौन से व्यापक काम करना है पहला स्वास्थ्य यदि आपका स्वास्थ्य में कोई दिक्कत है तो यू हैव टो फोकस ओं योर हेल्थ फर्स्ट और यदि आप स्वस्थ हैं दूसरा अपने रिलेशनशिप को देखिए कि आपके परिवार में रिश्तो में माधुरी है या नहीं है नहीं है तो उस पर काम कीजिए वापस रोटी हो सकता है तीसरा फाइनेंस की हां आपकी जरूरतें पूरी हो रही है नहीं हो रही है नहीं हो रही तू भी अब फाइनेंस आपकी भी हो सकता है चौथा समाज समाज में के प्रति यह पहले तीनों चीजें आपके पास है तो समाज में आपकी रेपुटेशन कैसी है किस तरह लोग आप पर विश्वास करते हैं इस तरह लोग आपको रिस्पेक्ट देते हैं किस तरह लोग आपकी बात को सुनते हैं सभी चीजों को देखोगे तब पाओगे कि इस पर भी आपको यदि काम करने की जरूरत होती है अभी आपकी प्रवृत्ति हो सकता है 5 मई का आज तक का आता है मेंटल और इमोशनल वैलनेस जी हां नहीं पता कल को आपके पास किस वक्त क्या सिचुएशन आ जाए यदि आप मेंटली इमोशनली स्ट्रॉन्ग नहीं है तो आप वहां पर अपना बैलेंस नहीं बना पाओगे लाइफ के साथ में अपने आप पोस्ट पे स्लिप रेस्टोरेंट्स है कि मैं फील करोगे तो हो सकता है आपके लिए अपने आपको मेंटल एंड इमोशनल स्ट्रांग बनाना ही आपका आप रोटी हो तो आप इस मैन टू मैन वेरी करता है किसी के लिए कुछ प्रॉबिटी है किसी के लिए कुछ प्रोटिती आपने डिसाइड करना है कहां पर आपके पास शॉर्टेज है कहां पर आपको काम करने की जरूरत है और अगर आप देखोगे तो यही शर्ट एंड फीचर्स हैं जिनमें सारी दुनिया उलझी हुई है यही दुखी के कारण है यही सुख के कारण यदि चीजें यह हैं तो आप खुश मिजाज हैं आप सुखी हैं आप समृद्धि में जी रहे हैं और यही चीजें आपके पास नहीं है तो आप अपने आप को स्टेशन जाए जो डिप्रेशन में फेल करते हुए दुखी होंगे तो अपने जीवन की पॉटी डिसाइड करने के लिए आपको देखना होगा कि आप किस क्षेत्र में कमजोर हैं आपको किस क्षेत्र में अपने आप को ग्रो करना है वहीं क्षेत्र आप डिसाइड कीजिए वह आपके जीवन के प्रति हो सकता है उसमें आप अपने आप को करो करके अपने जीवन को सुखद समृद्ध और खुशहाल बना सकते हैं ना करता हूं यह जवाब आपको सहायता करेगा अपने जीवन को आगे बढ़ाने में खुश रहने में और जीवन के आनंद लेने नमस्कार जय हिंद जय भारत

namaskar main anil ke kunware mein print ek baar phir aapke saath juda hoon aap ka sawaal hai ki aapko aksar yah samjhne mein dikkat hoti hai ki kin chijon ko apni prathamikta de aur aap jeevan mein kin chijon ko apne liye chune aur un par karya karna shuru kare dost in chijon ke liye agar hum focus kare apne jeevan poore jeevan toh dukh aur sukh ke karan sirf paanch hai jisme sabse pehla aata hai aapka swasthya ji haan chahen aapke paas kitna hi paisa ho kitni hi dhan daulat ho kitni aiso aaram ki suvidhaen ho yadi aapka swasthya sahi nahi hai toh shayad hi aap apne jeevan ka pura anand uthaata hai toh sahi swasthya ke liye aapki prathamikta honi chahiye doosra aata hai aapke rishte ji haan aapke parivar mein chahen kisi bhi tarah ka samridhi sukh samridhi ho lekin yadi aapke parivar mein rishto mein katuta hai dushmano jeevan ruk sa jata hai teesra finance haan jiske paas paisa hai usko shayad fark na pade lekin jiske paas paisa nahi hai usko bahut fark padta hai toh paise ka bhi apne aap mein bahut bada wajood hai har koi chahta ki kam se kam uske paas itna paisa toh ho ki vaah apne baccho ki apne parivar ki aur apne aap ki basic requirement ko pura kar paye chautha hota hai social samaj manav ek samajik prani hai aur vaah usme kis tarah se delete karta hai kis tarah kamyuniket karta hai wahi depend karta hai ek dusre ke saath mein yah samaj hamein jaha bada karne ke liye prerit karta hai wahi yah samaj ko hamein galat karne se bhi rokta hai aur panchava hai aapka mental and emotional vailnes ji haan aaj chalti ka naam gaadi hai jeevan chalne ka naam hai aur chalte hue jeevan mein kabhi bhi aapke saamne kisi bhi tarah ki chunautiyaan sakti hai koi bhi challenge ji ja sakte hai yadi aap mentally emotionally roop se strong nahi hai par ped nahi hai toh aap is dikkaton se apne aap ko gira hua mehsus kar sakte hai is tarah se paanch kshetra hai ab aapne yah dekhna hai ki inme se kaunsa kshetra aapke paas film hai aur kaunsi vyapak kaam karna hai pehla swasthya yadi aapka swasthya mein koi dikkat hai toh you have toe focus on your health first aur yadi aap swasthya hai doosra apne Relationship ko dekhiye ki aapke parivar mein rishto mein madhuri hai ya nahi hai nahi hai toh us par kaam kijiye wapas roti ho sakta hai teesra finance ki haan aapki jaruratein puri ho rahi hai nahi ho rahi hai nahi ho rahi tu bhi ab finance aapki bhi ho sakta hai chautha samaj samaaj mein ke prati yah pehle tatvo cheezen aapke paas hai toh samaj mein aapki reputation kaisi hai kis tarah log aap par vishwas karte hai is tarah log aapko respect dete hai kis tarah log aapki baat ko sunte hai sabhi chijon ko dekhoge tab paoge ki is par bhi aapko yadi kaam karne ki zarurat hoti hai abhi aapki pravritti ho sakta hai 5 may ka aaj tak ka aata hai mental aur emotional vailnes ji haan nahi pata kal ko aapke paas kis waqt kya situation aa jaaye yadi aap mentally emotionally strong nahi hai toh aap wahan par apna balance nahi bana paoge life ke saath mein apne aap post pe slip Restaurants hai ki main feel karoge toh ho sakta hai aapke liye apne aapko mental and emotional strong banana hi aapka aap roti ho toh aap is man to man very karta hai kisi ke liye kuch prabiti hai kisi ke liye kuch protiti aapne decide karna hai kaha par aapke paas shortage hai kaha par aapko kaam karne ki zarurat hai aur agar aap dekhoge toh yahi shirt and features hai jinmein saari duniya ulajhi hui hai yahi dukhi ke karan hai yahi sukh ke karan yadi cheezen yah hai toh aap khush mizaaz hai aap sukhi hai aap samridhi mein ji rahe hai aur yahi cheezen aapke paas nahi hai toh aap apne aap ko station jaaye jo depression mein fail karte hue dukhi honge toh apne jeevan ki potee decide karne ke liye aapko dekhna hoga ki aap kis kshetra mein kamjor hai aapko kis kshetra mein apne aap ko grow karna hai wahi kshetra aap decide kijiye vaah aapke jeevan ke prati ho sakta hai usme aap apne aap ko karo karke apne jeevan ko sukhad samriddh aur khushahal bana sakte hai na karta hoon yah jawab aapko sahayta karega apne jeevan ko aage badhane mein khush rehne mein aur jeevan ke anand lene namaskar jai hind jai bharat

नमस्कार मैं अनिल के कुंवारे में प्रिंट एक बार फिर आपके साथ जुड़ा हूं आप का सवाल है कि आपको

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  397
WhatsApp_icon
user

Acharya Vivekaditya(Guru shree)

Spiritual Guru, Educationist,Wellness & Yoga Expert, Founder Of Pavitram Meditation yoga Retreat , Founder :Karmyoga International , Founder Secy ,STSJ Degree College

7:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पूछा कि मुझे अक्सर गया है समझने में दिक्कत होती है कि मैं किन चीजों को अपनी प्राथमिकता बना लिखिए किन चीजों को आप अपनी प्राथमिकता में सबसे पहले जिन जिन चीजों को आपको लगता है कि ये इंपॉर्टेंट मेरे लाइफ में उनको एक जगह आप लिख लीजिए माननीय सी पांच बातें हैं एक आपका कैरियर हो सकता है परिवार के कुछ मुद्दे हो सकते हैं स्वास्थ्य की समस्या हो सकती है आर्थिक समस्या हो सकती है कोई पर्सनल डेवलपमेंट की समस्या हो सकती है जो भी समझता है आपको लगता है क्योंकि आपके दिमाग में आए हैं उन्हें आप लिख लीजिए और जैसे-जैसे को दिमाग में आते जाए वैसे वैसे आप फिर आप इस खुशी के इनमें से अगर एक कम करनी हो तो मैं कौनसी करूंगा उसको काट दिया फिर आपके पास मालिया अपने 10 लिखी है पांच लिखें एक आपने काट दी तो आपके पास 4:00 बज गए फिर आप सोचिए कि अगर इन चार में से मुझे केवल तीन चीज से संतोष करना पड़े तो कौन सी एक चीज को मैं सैक्रिफाइस कर सकता हूं या उसको पीछे हटा सकता हूं उस पर आप नजर डाली उसको काट दीजिए फिर आपके पास पांच में से दो कट गए 3:00 बजे फिर आप देखिए किन तीन में से अगर आपको एक छोड़नी पड़े तो आप किस चीज को छोड़ सकते हैं फिर उसको क्रॉस करते हैं अब आपके पास दो बच्चे उन दो में से भी अगर आपको एक चीज छोड़नी पड़े तो आप किस को छोड़ सकते हैं इमीडिएट किस चीज की आपको ज्यादा जरूरत है यह आप सोचेंगे तो एक चीज कैंसिल हो जाएगी एक आपके पास बचेगी यही आपकी प्राथमिकता है फिर उल्टा सोचना शुरू करें कि जितनी चीजें आपने काट दी उनमें से केवल एक बच्ची जो आपकी पहली प्राथमिकता होगी अब उनमें से अगर आपको एक और उठा नहीं है तो आप जो हैं कौन सी को उठाएंगे तो फिर जो बाकी चार आपने काटी थी उनमें से फिर एक लेनी पड़े तो आपको आप किसको पहले उठाएंगे फिर उसको रिटर्न कर लीजिए और इस तरीके से आपके पास एक राइट लिस्ट बन जाएगी कि पहले नंबर पर क्या दूसरे नंबर पर क्या और तीसरे नंबर पर क्या 5 प्रति आप अपनी तय कर लेंगे उनमें से जो टॉप पर गई है वह की पहली ब्राइट है उनका क्रम उनके सिक्वेंस आपके पास आ जाएगी आप अगर कल्पना करें कि आपके सामने कोई फरिश्ता आ जाए गॉड जिसको आप मानते वह आ जाए और आपसे कहे कि आप अपनी एक विशिष्ट फुलफिल कर ले सत्या फुल फिल्म एक्स एक्स एक्स बाकी फिर आप देखें फिर वह कुछ और मांग ले ऐसे करके वह बारी-बारी से आपको तो आप पहले कौन सी दूसरी में कौन सी तीसरे में कौन सी ऐसी आपकी 5 विशेष क्या बनेगी जो आप की पहली लिस्ट बनी थी क्रॉस करने वाले मेथड से और जूजू विच मेथड से आप की दूसरी लिस्ट बनी है दोनों को मैच करके फिर थोड़ा सा सोच ले उनमें कोई बातें इधर उधर तो नहीं है इस तरह से आपको अपनी पार्टी से हो रही राजनीति करते हो एक चीज हम और देखें कि कुछ चीजें हमारे लिए महत्वपूर्ण होती हैं लेकिन वह अभी नहीं उनके लिए कुछ समय हो सकता है वह लेटर फेज में हो सकते हैं तो उनको हम थोड़ा पीछे के लिए सस्पेंड कर दें लेकिन जो चीजें हमारे लिए हमारी अवस्था के हिसाब से कि हमारी उम्र क्या है और किस चीज की हमें पहले जरूरत है तो उस समय और अवस्था कौन सा टाइम चल रहा है और किस अवस्था में आप है उसको ध्यान में रख केवी पार्टी क्या होती है और एग्जांपल हम कहीं जंगल में गए हमें पता चला कि यहां पर कोई एक डायमंड माइन है और यहां से हम डायमंड ले जाएंगे और उससे हमारी सो जाएंगे और अपने सारे इच्छाओं को पूरी करेंगे सारी ड्यूटीज को फुल फील कर लेंगे जब हमारे पास पैसा होगा डायमंड सोंग लेकिन जैसे ही आप जंगल में जा रहे थे आपने देखा कि शेर आ गया यह खतरनाक जानवर आ गया अब आपकी पार्टी क्या है डायमंड लेना या फिर जिंदगी बचाना वक्त नहीं आपको ऐसे मोड़ पर लाकर खड़ा कर दिया कि आपकी अपनी पार्टी बदल गई फिर और एक बात देखी मान लिया जाए आप एग्जाम देने जा रहे हैं और रास्ते में कोई आपसे कहे कि आइए पार्टी करते हैं उसको छोड़ देते हैं एग्जाम देने के लिए आज आपकी प्लांटी एग्जाम है लेकिन थोड़ी देर बाद आपको रास्ते में खबर मिलती है कि आपके कोई नियर एंड डियर बिल्कुल क्रिटिकल स्टेज में है और अगर आप समझ नहीं पहुंचे तो अपनी जान से हाथ धो सकते हैं तो आप की प्रेक्टिस बदल गई फिर एग्जाम भी पार्टी नहीं कहा फिर आपको हम पर पहुंच गए उनके लिए चल पड़े लेकिन जब आप अपने नियर एंड डियर को बचाने के लिए अस्पताल की तरफ जा रहे थे तभी कुछ ऐसी परिस्थिति आ गई कि शहर में दंगा फैल गया और आपको लगा कि मैं जब शहर से गुजर लूंगा तो मैं ही मारा जाऊंगा तो आपकी फिर फ्राइडे बदल गई अब आप के प्रति अपनी आपकी अपनी जान बचाना प्राइटी वक्त के हिसाब से बदल जाती है अभी देखे कि हमारी जिंदगी में कौन सा वक्त चल रहा है हम किस अवस्था में एक परिवार के रूप में और एक इंडिविजुअल के रूप में हम कौन सी ऐसी ड्यूटी हमारी हैं कौन सी ऐसी रिक्वायरमेंट हमारी है जो पहले थी होनी चाहिए उसके हिसाब से हम अपनी प्राथमिकताएं बना सकते हैं और देख सकते हैं और इस पर लगातार थोड़ा सा मनन करते रहे सवाल क्लियर हो जाता है थोड़ा सोचने और जब प्राथमिकता क्लियर हो जाती है और लक्ष्य स्पष्ट हो जाता है और जब लक्ष्य स्पष्ट हो जाता है तो हमारे कार्य करने की क्षमता बहुत बढ़ जाती है और सफलता नदी का धन्यवाद नमस्कार

aapne poocha ki mujhe aksar gaya hai samjhne me dikkat hoti hai ki main kin chijon ko apni prathamikta bana likhiye kin chijon ko aap apni prathamikta me sabse pehle jin jin chijon ko aapko lagta hai ki ye important mere life me unko ek jagah aap likh lijiye mananiya si paanch batein hain ek aapka carrier ho sakta hai parivar ke kuch mudde ho sakte hain swasthya ki samasya ho sakti hai aarthik samasya ho sakti hai koi personal development ki samasya ho sakti hai jo bhi samajhata hai aapko lagta hai kyonki aapke dimag me aaye hain unhe aap likh lijiye aur jaise jaise ko dimag me aate jaaye waise waise aap phir aap is khushi ke inmein se agar ek kam karni ho toh main kaunsi karunga usko kaat diya phir aapke paas maliya apne 10 likhi hai paanch likhen ek aapne kaat di toh aapke paas 4 00 baj gaye phir aap sochiye ki agar in char me se mujhe keval teen cheez se santosh karna pade toh kaun si ek cheez ko main sacrifice kar sakta hoon ya usko peeche hata sakta hoon us par aap nazar dali usko kaat dijiye phir aapke paas paanch me se do cut gaye 3 00 baje phir aap dekhiye kin teen me se agar aapko ek chhodni pade toh aap kis cheez ko chhod sakte hain phir usko cross karte hain ab aapke paas do bacche un do me se bhi agar aapko ek cheez chhodni pade toh aap kis ko chhod sakte hain imidiet kis cheez ki aapko zyada zarurat hai yah aap sochenge toh ek cheez cancel ho jayegi ek aapke paas bachegi yahi aapki prathamikta hai phir ulta sochna shuru kare ki jitni cheezen aapne kaat di unmen se keval ek bachi jo aapki pehli prathamikta hogi ab unmen se agar aapko ek aur utha nahi hai toh aap jo hain kaun si ko uthayenge toh phir jo baki char aapne kaati thi unmen se phir ek leni pade toh aapko aap kisko pehle uthayenge phir usko return kar lijiye aur is tarike se aapke paas ek right list ban jayegi ki pehle number par kya dusre number par kya aur teesre number par kya 5 prati aap apni tay kar lenge unmen se jo top par gayi hai vaah ki pehli bright hai unka kram unke sikwens aapke paas aa jayegi aap agar kalpana kare ki aapke saamne koi farishta aa jaaye god jisko aap maante vaah aa jaaye aur aapse kahe ki aap apni ek vishisht fulfil kar le satya full film xxx baki phir aap dekhen phir vaah kuch aur maang le aise karke vaah baari baari se aapko toh aap pehle kaun si dusri me kaun si teesre me kaun si aisi aapki 5 vishesh kya banegi jo aap ki pehli list bani thi cross karne waale method se aur juju which method se aap ki dusri list bani hai dono ko match karke phir thoda sa soch le unmen koi batein idhar udhar toh nahi hai is tarah se aapko apni party se ho rahi raajneeti karte ho ek cheez hum aur dekhen ki kuch cheezen hamare liye mahatvapurna hoti hain lekin vaah abhi nahi unke liye kuch samay ho sakta hai vaah letter phase me ho sakte hain toh unko hum thoda peeche ke liye Suspend kar de lekin jo cheezen hamare liye hamari avastha ke hisab se ki hamari umar kya hai aur kis cheez ki hamein pehle zarurat hai toh us samay aur avastha kaun sa time chal raha hai aur kis avastha me aap hai usko dhyan me rakh kv party kya hoti hai aur example hum kahin jungle me gaye hamein pata chala ki yahan par koi ek diamond mine hai aur yahan se hum diamond le jaenge aur usse hamari so jaenge aur apne saare ikchao ko puri karenge saari duties ko full feel kar lenge jab hamare paas paisa hoga diamond song lekin jaise hi aap jungle me ja rahe the aapne dekha ki sher aa gaya yah khataranaak janwar aa gaya ab aapki party kya hai diamond lena ya phir zindagi bachaana waqt nahi aapko aise mod par lakar khada kar diya ki aapki apni party badal gayi phir aur ek baat dekhi maan liya jaaye aap exam dene ja rahe hain aur raste me koi aapse kahe ki aaiye party karte hain usko chhod dete hain exam dene ke liye aaj aapki planti exam hai lekin thodi der baad aapko raste me khabar milti hai ki aapke koi near and dear bilkul critical stage me hai aur agar aap samajh nahi pahuche toh apni jaan se hath dho sakte hain toh aap ki practice badal gayi phir exam bhi party nahi kaha phir aapko hum par pohch gaye unke liye chal pade lekin jab aap apne near and dear ko bachane ke liye aspatal ki taraf ja rahe the tabhi kuch aisi paristhiti aa gayi ki shehar me danga fail gaya aur aapko laga ki main jab shehar se gujar lunga toh main hi mara jaunga toh aapki phir friday badal gayi ab aap ke prati apni aapki apni jaan bachaana praiti waqt ke hisab se badal jaati hai abhi dekhe ki hamari zindagi me kaun sa waqt chal raha hai hum kis avastha me ek parivar ke roop me aur ek individual ke roop me hum kaun si aisi duty hamari hain kaun si aisi requirement hamari hai jo pehle thi honi chahiye uske hisab se hum apni prathamiktaen bana sakte hain aur dekh sakte hain aur is par lagatar thoda sa manan karte rahe sawaal clear ho jata hai thoda sochne aur jab prathamikta clear ho jaati hai aur lakshya spasht ho jata hai aur jab lakshya spasht ho jata hai toh hamare karya karne ki kshamta bahut badh jaati hai aur safalta nadi ka dhanyavad namaskar

आपने पूछा कि मुझे अक्सर गया है समझने में दिक्कत होती है कि मैं किन चीजों को अपनी प्राथमिकत

Romanized Version
Likes  50  Dislikes    views  368
WhatsApp_icon
user

Pankaj Kr(youtube -AJ PANKAJ MATHS GURU)

Motivational Speaker/YouTube-AJ PANKAJ MATHS GURU

0:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको हमेशा अपने जीवन में तो 3 पॉइंट पर फोकस करने वाला समय का महत्व देना दूसरा अधिक से अधिक मेहनत करना कठिन परिश्रम करना लगन के साथ आगे बढ़ना किस्सा जो लक्ष्य उस लक्ष्य की प्राप्ति के लिए आप ज्यादा ज्यादा प्रयास करें ज्यादा नेता मेहनत करें जो उस लक्ष्य को प्राप्त करने में बाधा हो इस बाधा को दूर करने का कुछ करें आप निश्चित ही अपने लक्ष्य प्राप्त कर लेंगे आप अधिक से अधिक ध्यान दें अध्यक्ष या साबित हुआ

aapko hamesha apne jeevan mein toh 3 point par focus karne vala samay ka mahatva dena doosra adhik se adhik mehnat karna kathin parishram karna lagan ke saath aage badhana kissa jo lakshya us lakshya ki prapti ke liye aap zyada zyada prayas kare zyada neta mehnat kare jo us lakshya ko prapt karne mein badha ho is badha ko dur karne ka kuch kare aap nishchit hi apne lakshya prapt kar lenge aap adhik se adhik dhyan de adhyaksh ya saabit hua

आपको हमेशा अपने जीवन में तो 3 पॉइंट पर फोकस करने वाला समय का महत्व देना दूसरा अधिक से अधिक

Romanized Version
Likes  165  Dislikes    views  1195
WhatsApp_icon
user

Chandni Anand

Life Coach

2:01
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए मैं आपको यह बताना चाहूंगी कि हावर्ड मेकर बहुत ही इंपॉर्टेंट रिसर्च हुई है जहां पर यह पता चला है कि इसको हम बोलते हैं लॉन्ग लाइफ लोंग रिसर्च मतलब लोगों पर 70 80 वर्ष के लिए पूरी शरीफ की गई है तब यह नतीजा निकला ठीक है उसका नतीजा क्या है कि लोगों को अपने बेस्ट बेड पर मतलब जब वह अपनी मृत्यु के बहुत करीब होते हैं तब सबसे ज्यादा चीज क्या वह सोचते हैं किस तरह से वह खुद को माफ़ पाते हैं उनके रिश्ते तो इसका मतलब यह है कि रिश्तो की जो क्वालिटी है उस पर हमें बहुत ज्यादा काम करना चाहिए हम ज्यादा तरह हम लोग भागदौड़ में इतने व्यस्त हो जाते हैं कि हमें ऑफिस में ग्रो करना है हमें अपने बच्चे को यह करना है इस को वहां लेकर जाना है खुद के लिए हमें यह चाहिए तो बहुत ही टैलेंटेड हो जाता है पर रिश्ते सिर्फ यही नहीं होते अपने मां-बाप भी होते हैं आपके रिश्तेदार भी होते हैं आपके दोस्त भी होते हैं और आपके जो गरीब लोग हैं इस तरह की चीजें जब आप अपने को उसमें इन्वॉल्व करते हैं तो उसकी जो ऑप्शन है उसका कोई कंपैरिजन ना किसी पैसे से किया जा सकता है और ना ही किसी और स्टेटस सिंबल के साथ किया जा सकता है और फाइनली उसी चीजें हमारे दिमाग में मेमोरी बन जाती है हम यह भी बोल सकते हैं कि हमें वर्ल्ड वर करना है उसे भी हम खुश होते हैं बिल्कुल कीजिए क्योंकि वह भी आपकी मेमोरी होगी लेकिन फाइनली जो इंसान है जो दूसरे इंसान को एम टच करता है तो उससे ज्यादा खुशी किसी भी इंसान के लिए हो पाना मुश्किल है कि जब वह मृत्यु के करीब होते हैं तो उन्हें यह अहसास सबसे ज्यादा होता है रिश्तो में हो अच्छा नहीं कर पाया जो रिश्तो में उनको अब और देना चाहते थे पर नहीं दे पाए तो इसलिए जब जब तक जिंदगी है इन चीजों पर अच्छे से काम की

dekhiye main aapko yah bataana chahungi ki Howard maker bahut hi important research hui hai jaha par yah pata chala hai ki isko hum bolte hain long life long research matlab logo par 70 80 varsh ke liye puri sharif ki gayi hai tab yah natija nikala theek hai uska natija kya hai ki logo ko apne best bed par matlab jab vaah apni mrityu ke bahut kareeb hote hain tab sabse zyada cheez kya vaah sochte hain kis tarah se vaah khud ko maaf paate hain unke rishte toh iska matlab yah hai ki rishto ki jo quality hai us par hamein bahut zyada kaam karna chahiye hum zyada tarah hum log bhagdaud mein itne vyast ho jaate hain ki hamein office mein grow karna hai hamein apne bacche ko yah karna hai is ko wahan lekar jana hai khud ke liye hamein yah chahiye toh bahut hi talented ho jata hai par rishte sirf yahi nahi hote apne maa baap bhi hote hain aapke rishtedar bhi hote hain aapke dost bhi hote hain aur aapke jo garib log hain is tarah ki cheezen jab aap apne ko usme involve karte hain toh uski jo option hai uska koi kampairijan na kisi paise se kiya ja sakta hai aur na hi kisi aur status symbol ke saath kiya ja sakta hai aur finally usi cheezen hamare dimag mein memory ban jaati hai hum yah bhi bol sakte hain ki hamein world var karna hai use bhi hum khush hote hain bilkul kijiye kyonki vaah bhi aapki memory hogi lekin finally jo insaan hai jo dusre insaan ko M touch karta hai toh usse zyada khushi kisi bhi insaan ke liye ho paana mushkil hai ki jab vaah mrityu ke kareeb hote hain toh unhe yah ehsaas sabse zyada hota hai rishto mein ho accha nahi kar paya jo rishto mein unko ab aur dena chahte the par nahi de paye toh isliye jab jab tak zindagi hai in chijon par acche se kaam ki

देखिए मैं आपको यह बताना चाहूंगी कि हावर्ड मेकर बहुत ही इंपॉर्टेंट रिसर्च हुई है जहां पर यह

Romanized Version
Likes  16  Dislikes    views  254
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!