क्या भगवान ऊपर रहता है?...


user
1:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न क्या भगवान ऊपर रहता है कि भगवान इस प्रमाण के सभी कंकर में रहता है भगवान किस पर मौके पर रहता है भगवान मनुष्य के हृदय में रहता है समस्त प्राणियों के अंतर्मन में परमात्मा रूप में व्याप्त रहता है एक बार नारद मुनि प्रश्न भगवान श्रीकृष्ण से पूछा था कि प्रभु आप कहां रखे हैं भगवानाराम शिक्षा में वैकुंठे योग्य नाम विदेशवा चैप्टर गायन के मतदाता प्रतिष्ठान धागा है ना तो मैं बैंक में रहता हूं भाई लोगों के लिए मरता हूं जहां पर मेरे विषय में मेरी कथाओं का में खेतों का दान होता है मैं वहीं पर रहता हूं उसी प्रकार से भगवान पर खत्म चाहिए हम जब भी भगवान को प्रार्थना करते हैं उनका नाम सुन करते हैं तब-तब भगवान हमारे बीच उपस्थित रहते हैं लेकिन वह में दिखते नहीं है क्योंकि हमारे और कर्मों के फल चलो हमें इन चक्रों से भगवान को देखने का अवसर नहीं है लेकिन भगवान व्यक्त करता है उसे जाकर करने के लिए उसका भजन और कितना करना चाहिए

aapka prashna kya bhagwan upar rehta hai ki bhagwan is pramaan ke sabhi kankar me rehta hai bhagwan kis par mauke par rehta hai bhagwan manushya ke hriday me rehta hai samast praniyo ke antarman me paramatma roop me vyapt rehta hai ek baar narad muni prashna bhagwan shrikrishna se poocha tha ki prabhu aap kaha rakhe hain bhagavanaram shiksha me vaikunthe yogya naam videshava chapter gaayan ke matdata pratisthan dhaga hai na toh main bank me rehta hoon bhai logo ke liye marta hoon jaha par mere vishay me meri kathao ka me kheton ka daan hota hai main wahi par rehta hoon usi prakar se bhagwan par khatam chahiye hum jab bhi bhagwan ko prarthna karte hain unka naam sun karte hain tab tab bhagwan hamare beech upasthit rehte hain lekin vaah me dikhte nahi hai kyonki hamare aur karmon ke fal chalo hamein in chakron se bhagwan ko dekhne ka avsar nahi hai lekin bhagwan vyakt karta hai use jaakar karne ke liye uska bhajan aur kitna karna chahiye

आपका प्रश्न क्या भगवान ऊपर रहता है कि भगवान इस प्रमाण के सभी कंकर में रहता है भगवान किस

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  184
WhatsApp_icon
16 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Gopal Srivastava

Acupressure Acupuncture Sujok Therapist

0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान कहीं जाता भगवान आपके दिल में रहता है आपके मन में रहता है आपकी सोच में रहते हैं आपके विचार में रहते हैं आपके आंगन में भगवान है कोई भगवान नहीं है सिर्फ जो मंदिर मुझे खड़ी करी आपको याद दिलाने के लिए कि भगवान की सूरत है भगवान आपके मन में है

bhagwan kahin jata bhagwan aapke dil me rehta hai aapke man me rehta hai aapki soch me rehte hain aapke vichar me rehte hain aapke aangan me bhagwan hai koi bhagwan nahi hai sirf jo mandir mujhe khadi kari aapko yaad dilaane ke liye ki bhagwan ki surat hai bhagwan aapke man me hai

भगवान कहीं जाता भगवान आपके दिल में रहता है आपके मन में रहता है आपकी सोच में रहते हैं आपके

Romanized Version
Likes  149  Dislikes    views  4393
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Amit Agrawal Rishiyog

Yoga Acupressure Expert

1:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नकाब उसने क्या भगवान ऊपर रहता है देखिए आप अगर आध्यात्मिक शास्त्रों को बुक्स को या पूर्ण गुरु को यह पूर्ण गुरु की पुस्तकों को अगर आप पढ़ते हैं तो आपको पता लगता है कि भगवान ऊपर नहीं रहता भगवान हर चीज में विद्यमान है कण-कण में विद्यमान है ईश्वर अंश जीव अविनाशी हर जीव उस ईश्वर का अंश है पुलिस आंशिक ओशन्श में या उसमें मिलना है जिस तरह एक जलते हुए दीपक से आप सो दीपक जलाते हैं ठीक इसी तरह हम सब उस परमपिता ईश्वर की संतान हैं आप विवेकानंद जी को पड़े हैं विवेकानंद जी के पूर्व गुरु रामकृष्ण परमहंस जी को पढ़ें इसके अतिरिक्त आप महर्षि रमण जी को पढ़ें इसके अतिरिक्त आप महात्मा मंगत राम जी के बहुत बड़े संत हुए हैं उनको पड़े तो जब आप इन संतों को इन पूर्ण गुरु को पड़ेंगे तब आपको पता लगेगा कि ईश्वर को जब चाहे आप जहां चाइनीसर के दर्शन कर सकते हैं और खुद पूर्ण गुरु ने उन स्थिति पर पहुंच कर खुद ईश्वर में हो गए खुद साक्षात ईश्वर के दर्शन किए थे आपको शास्त्र पढ़ने के बाद ही पता लगता हरि ओम

nakaab usne kya bhagwan upar rehta hai dekhiye aap agar aadhyatmik shastron ko books ko ya purn guru ko yah purn guru ki pustakon ko agar aap padhte hain toh aapko pata lagta hai ki bhagwan upar nahi rehta bhagwan har cheez me vidyaman hai kan kan me vidyaman hai ishwar ansh jeev avinashi har jeev us ishwar ka ansh hai police aanshik oshansh me ya usme milna hai jis tarah ek jalte hue deepak se aap so deepak jalate hain theek isi tarah hum sab us parampita ishwar ki santan hain aap vivekananda ji ko pade hain vivekananda ji ke purv guru ramakrishna paramhans ji ko padhen iske atirikt aap maharshi raman ji ko padhen iske atirikt aap mahatma mangat ram ji ke bahut bade sant hue hain unko pade toh jab aap in santo ko in purn guru ko padenge tab aapko pata lagega ki ishwar ko jab chahen aap jaha chainisar ke darshan kar sakte hain aur khud purn guru ne un sthiti par pohch kar khud ishwar me ho gaye khud sakshat ishwar ke darshan kiye the aapko shastra padhne ke baad hi pata lagta hari om

नकाब उसने क्या भगवान ऊपर रहता है देखिए आप अगर आध्यात्मिक शास्त्रों को बुक्स को या पूर्ण गु

Romanized Version
Likes  625  Dislikes    views  5398
WhatsApp_icon
user

ज्योतिषी झा मेरठ (Pt. K L Shashtri)

Astrologer Jhaमेरठ,झंझारपुर और मुम्बई

0:26
Play

Likes  79  Dislikes    views  2649
WhatsApp_icon
user

Sunil Kumar Pandey

Editor & Writer

0:53
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न 1 क्या भगवान ऊपर रहता है यह हमारे मन का भ्रम है कि भगवान ऊपर रहता है भगवान तो है ऐसी कोई बात नहीं है जिसे ईश्वर का वास ना हो इसलिए गोस्वामी तुलसीदास जी लिखते हैं कि सिया राम मैं सब जग जानी करूं प्रणाम जोर जुग पानी और राम के रूप में मानता हूं और उनका प्रणाम करता हूं कि इस प्रकार बाहर जाना है ऊपर या नीचे कहां रहता है यह बात पर कि का नहीं है यह हमारे विश्वास पर डिपेंड है विश्वास

namaskar aapka prashna 1 kya bhagwan upar rehta hai yah hamare man ka bharam hai ki bhagwan upar rehta hai bhagwan toh hai aisi koi baat nahi hai jise ishwar ka was na ho isliye goswami tulsidas ji likhte hain ki sia ram main sab jag jani karu pranam jor jug paani aur ram ke roop me maanta hoon aur unka pranam karta hoon ki is prakar bahar jana hai upar ya niche kaha rehta hai yah baat par ki ka nahi hai yah hamare vishwas par depend hai vishwas

नमस्कार आपका प्रश्न 1 क्या भगवान ऊपर रहता है यह हमारे मन का भ्रम है कि भगवान ऊपर रहता है भ

Romanized Version
Likes  155  Dislikes    views  1290
WhatsApp_icon
user

Ghanshyamvan

मंदिर सेवा

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए भगवान ऊपर भी रहता है नीचे रहता है वह भी लगता है बाय हम जाओ उसे सच्चे दिल से पुकारते हैं परमात्मा वहीं प्रकट हो जाते हैं

dekhiye bhagwan upar bhi rehta hai niche rehta hai vaah bhi lagta hai bye hum jao use sacche dil se pukarte hain paramatma wahi prakat ho jaate hain

देखिए भगवान ऊपर भी रहता है नीचे रहता है वह भी लगता है बाय हम जाओ उसे सच्चे दिल से पुकारते

Romanized Version
Likes  233  Dislikes    views  4705
WhatsApp_icon
user

guest_195F3रामफल

डायरेट सेलिंग

2:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या भगवान ऊपर रहता है इसके संबंध में मैं आपको बताना चाहता हूं कि किसी ने कहा भी है क्यों दरबदर खोजता फिरता है तू भगवान को क्यों दरबदर तू खोजता फिरता है तू भगवान को सबसे पहले ठीक करो तुम अपने नेक और यह मानपुर भगवान तो हर जगह विद्वान है जब आपको ऊपर तभी पड़ती है तो हवाई जहाज में रहते हैं फिर भी भगवान को याद करते हैं जब आप धरती पर रहते हैं फिर भी आपको भी दर्शन कर पढ़ता था भगवान को याद करते हैं इसलिए भगवान जो है समस्त स्थानों पर तापमान है इनको खोजने से आपको क्या लाभ होगा आप अपने नेक और ईमान को दूर रखें भगवान तो सब जगह विद्वान हैं हर जर्जर हर कण-कण में इनका भाषण आपके सुख और दुख में हमेशा आपके साथ हैं जो बोलता है वही ईश्वर है और जब वह ईश्वर बोलना बंद कर देता है तो आप एकदम ठंड और मौन हो करके आप मृत्यु को प्राप्त हो जाते हैं जो आपके अंदर शक्ति बोल रही है वही भगवान है आप ऊपर जाकर भगवान ऊपर बोलेगा आप नीचे आ करके बोलेंगे भगवान नीचे बोलेगा आप माइक लगा करके बोलेंगे भगवान भोले इसलिए भगवान ऊपर और नीचे दोनों हैं ऐसा कोई अस्थानिक नहीं है जहां पर ईश्वर विराजमान ना हो

kya bhagwan upar rehta hai iske sambandh me main aapko batana chahta hoon ki kisi ne kaha bhi hai kyon darbadar khojata phirta hai tu bhagwan ko kyon darbadar tu khojata phirta hai tu bhagwan ko sabse pehle theek karo tum apne neck aur yah manapur bhagwan toh har jagah vidhwaan hai jab aapko upar tabhi padti hai toh hawai jahaj me rehte hain phir bhi bhagwan ko yaad karte hain jab aap dharti par rehte hain phir bhi aapko bhi darshan kar padhata tha bhagwan ko yaad karte hain isliye bhagwan jo hai samast sthano par taapman hai inko khojne se aapko kya labh hoga aap apne neck aur iman ko dur rakhen bhagwan toh sab jagah vidhwaan hain har jarjar har kan kan me inka bhashan aapke sukh aur dukh me hamesha aapke saath hain jo bolta hai wahi ishwar hai aur jab vaah ishwar bolna band kar deta hai toh aap ekdam thand aur maun ho karke aap mrityu ko prapt ho jaate hain jo aapke andar shakti bol rahi hai wahi bhagwan hai aap upar jaakar bhagwan upar bolega aap niche aa karke bolenge bhagwan niche bolega aap mike laga karke bolenge bhagwan bhole isliye bhagwan upar aur niche dono hain aisa koi asthaanik nahi hai jaha par ishwar viraajamaan na ho

क्या भगवान ऊपर रहता है इसके संबंध में मैं आपको बताना चाहता हूं कि किसी ने कहा भी है क्यों

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  179
WhatsApp_icon
user

Anil Rajbhar

Motivationel speaker /Counsellor/ business owner,.,mob.7769065459

2:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां बिल्कुल सही है कि भगवान ऊपर ही नहीं भगवान की और यह सारा एक सिस्टमैटिक हुए खेल बना हुआ जिसको लाल और आर्डर पर चलते हैं परमात्मा और प्रकृति के पास तो तुझे बनाकर के अनुसार उसका क्या होता है और उसमें कौन सी गैस होती है अपने मोबाइल प्यारी को दुख देना इससे तो सुबह से चिंतित हो गया जिसकी आप शांत हो गए हैं तो क्या होता कि एक समय चक्र में ऐसा भी आता है कि इसमें देखेंगे इतना भी कहा है कि एंट्रॉपियन मना किया कि हर चीज नहीं बनती है इधर आना पड़ता है क्योंकि परमात्मा हमेशा में नहीं आता इसके लिए फिर से प्रदान करने के लिए जो ज्ञान सागर देते हैं उसको इस धरा पर जब आते हैं तो आते हैं इससे उनको उन्होंने बोला कि जब-जब धर्म की हानि हो तो मुझे आना पड़ता है मैं तो हमेशा रेडी में ठोक दिया पत्थर भी तर चक्कर में असल में जॉब दिया है में होता तो कोई गंदी चीज होती है और देखो किसी को अगर गधा कहते तो गुस्सा आता है तो पता नहीं भगवान का ज्ञान प्रवाहित कर रहे हो अपना की सभी मनुष्य आत्माओं को तो बताते हैं कि सबसे पहले की है वहां से मैं आता हूं कि जब जाना पड़ता पड़ता है इसका मतलब तो आना पड़ता है इसका मोबाइल से जाहिर होता है कि भगवान के ऊपर से आते हैं

haan bilkul sahi hai ki bhagwan upar hi nahi bhagwan ki aur yah saara ek systematic hue khel bana hua jisko laal aur order par chalte hain paramatma aur prakriti ke paas toh tujhe banakar ke anusaar uska kya hota hai aur usme kaun si gas hoti hai apne mobile pyaari ko dukh dena isse toh subah se chintit ho gaya jiski aap shaant ho gaye hain toh kya hota ki ek samay chakra me aisa bhi aata hai ki isme dekhenge itna bhi kaha hai ki entrapiyan mana kiya ki har cheez nahi banti hai idhar aana padta hai kyonki paramatma hamesha me nahi aata iske liye phir se pradan karne ke liye jo gyaan sagar dete hain usko is dhara par jab aate hain toh aate hain isse unko unhone bola ki jab jab dharm ki hani ho toh mujhe aana padta hai main toh hamesha ready me thok diya patthar bhi tar chakkar me asal me job diya hai me hota toh koi gandi cheez hoti hai aur dekho kisi ko agar gadha kehte toh gussa aata hai toh pata nahi bhagwan ka gyaan pravahit kar rahe ho apna ki sabhi manushya atmaon ko toh batatey hain ki sabse pehle ki hai wahan se main aata hoon ki jab jana padta padta hai iska matlab toh aana padta hai iska mobile se jaahir hota hai ki bhagwan ke upar se aate hain

हां बिल्कुल सही है कि भगवान ऊपर ही नहीं भगवान की और यह सारा एक सिस्टमैटिक हुए खेल बना हुआ

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  81
WhatsApp_icon
user

Mahesh Kumar

M.no 8360366118.Business Owner,spiritual.social Worker.

0:50
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ठीक है जी परमेश्वर तो हर जगह विराजमान बाइबिल के मुताबिक चले तो बदल में यह लिखा है कि स्वर्ग उसको सिंहासन है धरती उसके पैर रखने की जगह है तो पूरे शरीर आत्मा है जी वह आपका आत्मा के रूप में हर जगह बल बल है जो बाइबिल बताती है बाइबिल में तो यह दिखाओ कि प्रभु ने कहा जहां दो या तीन मेरे साथ नाम से कट क्यों के भाव में उपस्थित हूं जब दो या तीन लोग प्रभु के यीशु की बात करते हैं उसके वचनों की बात करते तो प्रभु उनके बीच में उपस्थित होते हैं अभी तो प्रवेशक स्वर्ग में विराजमान है बल्कि को स्वर्ग में विराजमान है उनका सिंहासन है और परमेश्वर एक रोशनी है परमेश्वर फ्री में दोबारा भाई बकरीद करेगा परमेश्वर के बारे में आप और उन्होंने ले सकते हैं

theek hai ji parmeshwar toh har jagah viraajamaan bible ke mutabik chale toh badal me yah likha hai ki swarg usko sinhaasan hai dharti uske pair rakhne ki jagah hai toh poore sharir aatma hai ji vaah aapka aatma ke roop me har jagah bal bal hai jo bible batati hai bible me toh yah dikhaao ki prabhu ne kaha jaha do ya teen mere saath naam se cut kyon ke bhav me upasthit hoon jab do ya teen log prabhu ke yeshu ki baat karte hain uske vachano ki baat karte toh prabhu unke beech me upasthit hote hain abhi toh praveshak swarg me viraajamaan hai balki ko swarg me viraajamaan hai unka sinhaasan hai aur parmeshwar ek roshni hai parmeshwar free me dobara bhai bakri eid karega parmeshwar ke bare me aap aur unhone le sakte hain

ठीक है जी परमेश्वर तो हर जगह विराजमान बाइबिल के मुताबिक चले तो बदल में यह लिखा है कि स्वर्

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  106
WhatsApp_icon
user

जय किशन मौर्य

टेलर मास्टर

1:58
Play

Likes  9  Dislikes    views  145
WhatsApp_icon
user
2:20
Play

Likes  43  Dislikes    views  875
WhatsApp_icon
user

Randheer

Student

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जी हां नमस्कार आपका प्रश्न है कि क्या भगवान ऊपर रहता है तो हम आपको बता दो कि भगवान पर नहीं रहते हैं क्योंकि यह लोगों को कहना है लोगों के अंदर विश्वास है मतलब कोई भी पुरान है या रामायण जैसे वेद हिंदू धर्म से रिलेटेड जितने भी आधे उससे कहना है कि भगवान ऊपर में रहते हैं लेकिन शायद ऐसा नहीं मानता है क्योंकि सास भी नहीं मानता है भगवान ऊपर रहते हैं यह लोगों के अंदर अब्बा है कि भगवान तो सब जगह रहते हैं सब चीज में रहते हैं अगर आप भगवान मानते हैं तो आपके अनुसार सबसे जिन्हें जो चीज मांगते हैं ऊपर तो पर है नीचे मानते हैं तो नीचे है आपके ऊपर डिपेंड

ji haan namaskar aapka prashna hai ki kya bhagwan upar rehta hai toh hum aapko bata do ki bhagwan par nahi rehte hain kyonki yah logo ko kehna hai logo ke andar vishwas hai matlab koi bhi puran hai ya ramayana jaise ved hindu dharm se related jitne bhi aadhe usse kehna hai ki bhagwan upar me rehte hain lekin shayad aisa nahi maanta hai kyonki saas bhi nahi maanta hai bhagwan upar rehte hain yah logo ke andar abba hai ki bhagwan toh sab jagah rehte hain sab cheez me rehte hain agar aap bhagwan maante hain toh aapke anusaar sabse jinhen jo cheez mangate hain upar toh par hai niche maante hain toh niche hai aapke upar depend

जी हां नमस्कार आपका प्रश्न है कि क्या भगवान ऊपर रहता है तो हम आपको बता दो कि भगवान पर नहीं

Romanized Version
Likes  42  Dislikes    views  658
WhatsApp_icon
user
0:20
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान कण-कण में रहता है वह पर यह नीचे में उसको देखना ही सकते आप लेकिन उसको महसूस जरूर कर सकते हैं भगवान जीव मात्र में निवास करते हैं प्रत्येक व्यक्ति की आत्मा में निवास करते हैं बशर्ते कि उसको हम अपने अंदर खोज सकें

bhagwan kan kan me rehta hai vaah par yah niche me usko dekhna hi sakte aap lekin usko mehsus zaroor kar sakte hain bhagwan jeev matra me niwas karte hain pratyek vyakti ki aatma me niwas karte hain basharte ki usko hum apne andar khoj sake

भगवान कण-कण में रहता है वह पर यह नीचे में उसको देखना ही सकते आप लेकिन उसको महसूस जरूर कर स

Romanized Version
Likes  19  Dislikes    views  265
WhatsApp_icon
user

आचार्य समशेर सिंह यादव

वास्तुविद् व संस्कृत प्रोफेसर

1:11
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है क्या भगवान ऊपर रहता है ऊपर से हम क्या आप भी समझे यह 7 लोगों की हमारे आध्यात्मिक विधान है कि 7 लोग 14 भवन इस तरह होते हैं और ईश्वर का कोई निश्चित लोग या निश्चित यह नहीं कहा जा सकता क्योंकि जहां भगवान श्रीकृष्ण खुद का है कि मैं प्रत्येक प्राणी के अंदर रहता हूं विश्वास करता हूं तो फ्री हम कैसे कह सकते हैं कि भगवान ऊपर रहता है अर्थात भगवान ऐसी कोई जगह नहीं है जहां नहीं रहता ऐसा कोई इंसान नहीं है जिसमें नहीं रहता ऐसा कोई जीव नहीं है जिसमें नहीं रहता ऐसा कोई वृक्ष पेड़ पौधा आदि और वस्तु नहीं जहां भगवान नहीं रहता अर्थात भगवान की उपस्थिति कण कण में है जर्रे जर्रे में है धन्यवाद

aapka prashna hai kya bhagwan upar rehta hai upar se hum kya aap bhi samjhe yah 7 logo ki hamare aadhyatmik vidhan hai ki 7 log 14 bhawan is tarah hote hain aur ishwar ka koi nishchit log ya nishchit yah nahi kaha ja sakta kyonki jaha bhagwan shrikrishna khud ka hai ki main pratyek prani ke andar rehta hoon vishwas karta hoon toh free hum kaise keh sakte hain ki bhagwan upar rehta hai arthat bhagwan aisi koi jagah nahi hai jaha nahi rehta aisa koi insaan nahi hai jisme nahi rehta aisa koi jeev nahi hai jisme nahi rehta aisa koi vriksh ped paudha aadi aur vastu nahi jaha bhagwan nahi rehta arthat bhagwan ki upasthitee kan kan me hai jarre jarre me hai dhanyavad

आपका प्रश्न है क्या भगवान ऊपर रहता है ऊपर से हम क्या आप भी समझे यह 7 लोगों की हमारे आध्यात

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  238
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ना तो भगवान ऊपर रहता है ना नीचे रहता है ना ही इधर-उधर उत्तर ना पूरा अपना पश्चिम भगवान तो प्रत्येक आत्मा की गुलामी भास्कर प्रत्येक जीव में वास करती है और प्रत्येक चीज जो इस पृथ्वी पर मौजूद है सब में परमात्मा का अंश व सत्य की देखने वाली की नजरिया क्या अगर वह अच्छे से देखते हैं सब लोग परमात्मा उन्हें नजर आएंगे

na toh bhagwan upar rehta hai na niche rehta hai na hi idhar udhar uttar na pura apna paschim bhagwan toh pratyek aatma ki gulaami bhaskar pratyek jeev me was karti hai aur pratyek cheez jo is prithvi par maujud hai sab me paramatma ka ansh va satya ki dekhne wali ki najariya kya agar vaah acche se dekhte hain sab log paramatma unhe nazar aayenge

ना तो भगवान ऊपर रहता है ना नीचे रहता है ना ही इधर-उधर उत्तर ना पूरा अपना पश्चिम भगवान तो प

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  299
WhatsApp_icon
user

anuj pandey

Bollywood

0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान ना ऊपर रहता है ना नीचे रहता भगवान हम सब के अंदर होता है जो आता है वही भगवान है जो अच्छा काम करता वह भगवान है भगवान हमारे पास ही होगा हमारे अंदर युवा नेता भगवान शांतनु होते हैं शैतान अमरेकन के लिए पेश करते करते हैं शैतान केंद्र प्रेम भावना की जो समाचार समरसता के प्रकार और सबके साथ प्रेम से रहो भगवान को ढूंढते भगवान के ऊपर नहीं नीचे हमारे आसपास से हमारे अंदर है हमारे साथ हैं

bhagwan na upar rehta hai na niche rehta bhagwan hum sab ke andar hota hai jo aata hai wahi bhagwan hai jo accha kaam karta vaah bhagwan hai bhagwan hamare paas hi hoga hamare andar yuva neta bhagwan shantanu hote hain shaitaan amarekan ke liye pesh karte karte hain shaitaan kendra prem bhavna ki jo samachar samarsata ke prakar aur sabke saath prem se raho bhagwan ko dhoondhate bhagwan ke upar nahi niche hamare aaspass se hamare andar hai hamare saath hain

भगवान ना ऊपर रहता है ना नीचे रहता भगवान हम सब के अंदर होता है जो आता है वही भगवान है जो अच

Romanized Version
Likes  20  Dislikes    views  227
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!