भूमि को उपजाऊ बनाने के क्या उपाय हैं बताइए?...


play
user

Saurabh

Student

6:27

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भूमि को उपजाऊ बनाने के क्या उपाय हैं बताइए देखिए अगर आप की भूमि बंजर है या उसे भूमि है तो उसे सुधारने के लिए किसान अपने खेतों को पहले छोटे-छोटे भागों में बांटते हैं तो इसे कुछ प्रोसेसेस है मैं आपको बताता हूं एक तो इसके जो प्रोसेस में उनको जानिए सबसे बड़ा तो मिट्टी की जांच कीजिए दूसरा है कि मेड़बंदी तीसरी टाइपिंग 34ab प्लांट इन 5 समतलीकरण चेतना ली रात में लांचिंग आठवीं मिक्सिंग नौवीं दसवीं क्षेत्र सुधार 11वीं हरी खाद है यह सारी चीजें मिलकर आपकी जो जमीन है उसे 2 साल लगेंगे पूरी तरह से ऊंचा हो जाएगी अगर आपकी बंजर जमीन है तुम्हें बताता हूं प्रोसेस क्या क्या है मिट्टी की जांच की जांच में खेत की मिट्टी का सैंपल लीजिए उसका उसका पीएच मान और उसकी क्षमता यह मिट्टी की छमता पता चलेगी कितनी इसमें उपज हो सकती है कैसे सेट होगी और उसके बाद ना बेबी जान पाएंगे कि मिट्टी किस श्रेणी की और किस तरह की आवश्यकता है उस फसल करने की दूसरी चीज मेड़बंदी जो मैंने मन मेड बंदी से अच्छी मजबूत मेड किसी भी खेत में नमी को टिकाए रखने और अनुशासित पिचाई और अतिक्रमण से बचाए रखने की सबसे पहले सर कि जब भी उसे सुधार सबसे पहले उसे सुधार का सबसे पहला काम यही है कि आप न्यूनतम डेटशीट ऊंची मेड बनाएं और इसके लिए भूमि सुधार है उसे सुधारे बंजर भूमि विकास संबंधी योजना परियोजना से आपको लाभ भी मिल सकता है टाइपिंग उसर भूमि को बजाओ नहीं बनाया जा सकता शॉपिंग मिट्टी की ऊपरी परत में उभरा नमक को पूरी तरह हटाने का काम करती है तो उससे क्या होगा उससे आपके जो नमक जो जो भी सॉल्ट होता है अंदर वह किसी गड्ढे में बाहर किसी गड्ढे में डाल दिया किसी नाले में उसको निकाल कर के डाल दें ऐसी जगह कतई ना डालें जहां बारिश के दौरान वह वापस खेत में आ जाए फिर आता है सब प्लांटी प्लांटी का मतलब होता है खेत को छोटे-छोटे कार्यों में बांट देना यह तीसरा सबसे महत्वपूर्ण कदम है ऐसा करना समतलीकरण और आगे की प्रक्रिया में मददगार सिद्ध होता है अब समतलीकरण खेत का समतलीकरण आप जानते हुए भी यदि खेत समतल नहीं होगा तो फिर डाला जाने वाला जिप्सम जो मैंने आपको पहले बताया वह एक जगह किसी एक जगह इकट्ठा हो जाएगा उस से क्या होगा पूरे खेत में एक समान जिप्सम में तैरने असर भी एक समान होगा जो कि अनुचित है खेत में खेत में ढाल की ओर अथवा खेत के बीच चेतनालय बनाएं खेत नाली का उपयोग जल निकासी के लिए किया जाता है प्रक्रिया है जिसमें उस लिली जमीन को 15 सेंटीमीटर ऊंचा पानी भर देते हैं और 48 घंटे बाद पानी को बढ़ाया जाता है तो इसके साथ-साथ नुकसान दे जो भी जो खराब लवण होता है पानी में वह भूल कर बह जाता है उसके बाद जिप्सम मिक्सिंग जो मैं आपको पहले बताया प्लान सिंह के बाद नंबर आता है उस सर को उर्वरक बनाने वाले जिप्सम को मिट्टी में मिलाने का जो भी बंजर जमीन होती है उसको उपजाऊ जिप्सम बनाता है जिप्सम सस्ता लेकिन उसे सुधार के लिए सबसे महत्वपूर्ण करता है इसे किसी भी मात्रा में अधिक से अधिक मात्रा में नहीं मिलाना चाहिए इसी श्रेणी में पोषक तत्व को की कितनी मात्रा कम है उसके अनुसार जिप्सम की मात्रा तय की गई इसलिए मिट्टी की जांच मैंने आपको पहले बताया था मिट्टी में जिप्सम को भली प्रकार से मिला देने के बाद जून के दूसरे पखवाड़े में खेत को एक बार फिर 10 से 12 सेंटीमीटर उसे पाने से बनते और 10 से 12 दिन बाद बचे हुए पानी को निकाल दो पिया फुल चिड़ी कहा जाता है लिंग के बाद धान की खेती के लिए तैयार होगा किंतु यदि आप खेत खेत को हरी देसी नाडेप अथवा केंचुआ खाद दे सके तो सोने में सुहागा हो जाएगा ध्यान रहे कि धान की रोपाई के समय तैयार तक ध्यान तैयार करें और उचित कराने उचित बीच का चयन भी आप की खेती के लिए एक वैज्ञानिक तरीका सिद्ध होगा खेत की सुरक्षा और उचित तकनीक का उपयोग करें तो और बेहतर होगी हरी खाद है अच्छे अवसर सुधार के लिए ढांचा की हरी खाद बहुत उपयोगी होती हरी खाद के लिए चाय कर्म उत्तम फसल उत्तर में डाटा को आप को जवाब भोकर बड़ा होने पर उसी खेत में जुताई कर दे कर दी जाती है जिससे भूमि की मिट्टी उपजाऊ होने लगती है तो इन शॉर्ट में आपको जो एक प्रोसेस बता रहा हूं अगर उसे मैं हमरा इस करके आपको बताऊं तो यह किस तरह से होगा कि आपको सबसे पहले अपने खेतों को छोटे-छोटे भागों में बांट कर उनको मेड़बंदी करना है और जहां जहां ज्यादा लोन आया नहीं नमक फूल रहा हो वहां की मिट्टी को रखकर हटा ले फिर ऑन फ्लड प्लॉटों की जुताई कर समतल का मैं इसके बाद उसमें पानी भर कर निकाल दे फिर जुताई करके संपर्क कर पानी भर दे फिर निकाल दे अर्जुन के महीने में सबसे पहले जिप्सम डालने और पानी मिले इसके बाद पहली फसल धान की करें और फिर गेहूं की फसल पेड़ हटा की फसल 2 वर्षों तक ऐसे ही खेती करें जिससे उसर भूमि पूरी तरह से उठ जाओ जाएगी

bhoomi ko upajau banane ke kya upay hain bataiye dekhiye agar aap ki bhoomi banjar hai ya use bhoomi hai toh use sudhaarne ke liye kisan apne kheton ko pehle chote chote bhaagon me bantate hain toh ise kuch processes hai main aapko batata hoon ek toh iske jo process me unko janiye sabse bada toh mitti ki jaanch kijiye doosra hai ki medabandi teesri typing 34ab plant in 5 samatalikaran chetna li raat me lanching aatthvi mixing nauveen dasavi kshetra sudhaar vi hari khad hai yah saari cheezen milkar aapki jo jameen hai use 2 saal lagenge puri tarah se uncha ho jayegi agar aapki banjar jameen hai tumhe batata hoon process kya kya hai mitti ki jaanch ki jaanch me khet ki mitti ka sample lijiye uska uska PH maan aur uski kshamta yah mitti ki kshamta pata chalegi kitni isme upaj ho sakti hai kaise set hogi aur uske baad na baby jaan payenge ki mitti kis shreni ki aur kis tarah ki avashyakta hai us fasal karne ki dusri cheez medabandi jo maine man made bandi se achi majboot made kisi bhi khet me nami ko tikaye rakhne aur anushasit pichai aur atikraman se bachaye rakhne ki sabse pehle sir ki jab bhi use sudhaar sabse pehle use sudhaar ka sabse pehla kaam yahi hai ki aap nyuntam detshit unchi made banaye aur iske liye bhoomi sudhaar hai use sudhare banjar bhoomi vikas sambandhi yojana pariyojana se aapko labh bhi mil sakta hai typing usar bhoomi ko bajao nahi banaya ja sakta shopping mitti ki upari parat me ubhra namak ko puri tarah hatane ka kaam karti hai toh usse kya hoga usse aapke jo namak jo jo bhi salt hota hai andar vaah kisi gaddhe me bahar kisi gaddhe me daal diya kisi naale me usko nikaal kar ke daal de aisi jagah katai na Daalein jaha barish ke dauran vaah wapas khet me aa jaaye phir aata hai sab planti planti ka matlab hota hai khet ko chote chote karyo me baant dena yah teesra sabse mahatvapurna kadam hai aisa karna samatalikaran aur aage ki prakriya me madadgaar siddh hota hai ab samatalikaran khet ka samatalikaran aap jante hue bhi yadi khet samtal nahi hoga toh phir dala jaane vala gypsum jo maine aapko pehle bataya vaah ek jagah kisi ek jagah ikattha ho jaega us se kya hoga poore khet me ek saman gypsum me tairne asar bhi ek saman hoga jo ki anuchit hai khet me khet me dhal ki aur athva khet ke beech chetanalay banaye khet nali ka upyog jal nikasi ke liye kiya jata hai prakriya hai jisme us lily jameen ko 15 centimetre uncha paani bhar dete hain aur 48 ghante baad paani ko badhaya jata hai toh iske saath saath nuksan de jo bhi jo kharab lavan hota hai paani me vaah bhool kar wah jata hai uske baad gypsum mixing jo main aapko pehle bataya plan Singh ke baad number aata hai us sir ko urvarak banane waale gypsum ko mitti me milaane ka jo bhi banjar jameen hoti hai usko upajau gypsum banata hai gypsum sasta lekin use sudhaar ke liye sabse mahatvapurna karta hai ise kisi bhi matra me adhik se adhik matra me nahi milana chahiye isi shreni me poshak tatva ko ki kitni matra kam hai uske anusaar gypsum ki matra tay ki gayi isliye mitti ki jaanch maine aapko pehle bataya tha mitti me gypsum ko bhali prakar se mila dene ke baad june ke dusre pakhvade me khet ko ek baar phir 10 se 12 centimetre use paane se bante aur 10 se 12 din baad bache hue paani ko nikaal do piya full chidi kaha jata hai ling ke baad dhaan ki kheti ke liye taiyar hoga kintu yadi aap khet khet ko hari desi nadep athva kenchuaa khad de sake toh sone me suhaga ho jaega dhyan rahe ki dhaan ki ropai ke samay taiyar tak dhyan taiyar kare aur uchit karane uchit beech ka chayan bhi aap ki kheti ke liye ek vaigyanik tarika siddh hoga khet ki suraksha aur uchit taknik ka upyog kare toh aur behtar hogi hari khad hai acche avsar sudhaar ke liye dhancha ki hari khad bahut upyogi hoti hari khad ke liye chai karm uttam fasal uttar me data ko aap ko jawab bhokar bada hone par usi khet me jutai kar de kar di jaati hai jisse bhoomi ki mitti upajau hone lagti hai toh in short me aapko jo ek process bata raha hoon agar use main hamara is karke aapko bataun toh yah kis tarah se hoga ki aapko sabse pehle apne kheton ko chote chote bhaagon me baant kar unko medabandi karna hai aur jaha jaha zyada loan aaya nahi namak fool raha ho wahan ki mitti ko rakhakar hata le phir on flood platon ki jutai kar samtal ka main iske baad usme paani bhar kar nikaal de phir jutai karke sampark kar paani bhar de phir nikaal de arjun ke mahine me sabse pehle gypsum dalne aur paani mile iske baad pehli fasal dhaan ki kare aur phir gehun ki fasal ped hata ki fasal 2 varshon tak aise hi kheti kare jisse usar bhoomi puri tarah se uth jao jayegi

भूमि को उपजाऊ बनाने के क्या उपाय हैं बताइए देखिए अगर आप की भूमि बंजर है या उसे भूमि है तो

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  64
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!