यहां अपने से कोई भगवान को देखा है?...


user

Pratibha

Author

1:57
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पोस्ट किया है यहां किसी ने भगवान को देखा है भगवान को देखने से तात्पर्य क्या समझते हैं आपकी दृष्टिकोण पर है फिल्मों में देखते हैं हम जितनी भी फिल्में बनी हो जाते हैं चार भुजाएं हैं और रोशनी होती है या किसी के माध्यम के द्वारा आपकी सहायता करने आते हैं और इस धरा पर ईश्वर का दूसरा रूप है मां कह सकते हो कि मैंने जो कार्य मां अपने बच्चों के लिए करती है जो कार्य मां करती है जो सहनशीलता वात्सल्य प्रेम हमेशा उनका लालन पोषण करता माही कर सकती हो सकती और ना ही ईश्वर का प्रतिनिधि प्रतिनिधि है तो इस धरा पर अगर माहेश्वर है हमने देखा है ईश्वर एक अनुभव का नाम है एक एहसास का नाम है बहुत आप देखते होंगे आपके महसूस किया होगा कि कभी किसी कार्य के होने की आशा नहीं होती है फिर भी अचानक सेव कार्य बन जाते हैं ईश्वर से प्रार्थना करते हैं भक्ति भाव से दूर होते हैं आप प्रार्थना करते हैं तो आपके इस न किसी माध्यम से कोई ना कोई रास्ता आपके लिए निकल आता क्या है ईश्वर ही तो है

aapne post kiya hai yahan kisi ne bhagwan ko dekha hai bhagwan ko dekhne se tatparya kya samajhte hain aapki drishtikon par hai filmo me dekhte hain hum jitni bhi filme bani ho jaate hain char bhujaen hain aur roshni hoti hai ya kisi ke madhyam ke dwara aapki sahayta karne aate hain aur is dhara par ishwar ka doosra roop hai maa keh sakte ho ki maine jo karya maa apne baccho ke liye karti hai jo karya maa karti hai jo sahansheelta vatsalya prem hamesha unka lalan poshan karta maahi kar sakti ho sakti aur na hi ishwar ka pratinidhi pratinidhi hai toh is dhara par agar maheshvar hai humne dekha hai ishwar ek anubhav ka naam hai ek ehsaas ka naam hai bahut aap dekhte honge aapke mehsus kiya hoga ki kabhi kisi karya ke hone ki asha nahi hoti hai phir bhi achanak save karya ban jaate hain ishwar se prarthna karte hain bhakti bhav se dur hote hain aap prarthna karte hain toh aapke is na kisi madhyam se koi na koi rasta aapke liye nikal aata kya hai ishwar hi toh hai

आपने पोस्ट किया है यहां किसी ने भगवान को देखा है भगवान को देखने से तात्पर्य क्या समझते है

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  163
KooApp_icon
WhatsApp_icon
20 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!