हिंदू धर्म कैसे मज़बूत होगा?...


user

Achal Kumar

Business & Industry

4:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हिंदू धर्म कैसे मजबूत होगा भाई हिंदू धर्म को मजबूत करने की आवश्यकता नहीं है अब सकता है समझने के हिंदू धर्म विश्व का सबसे पुराना धर्म है जिसके प्रमाण हजारों हजारों वर्षों पूर्व से मिलते आ रहे हैं यह इतने सालों से चला आ रहा धर्म है जिसको हमने बढ़ता हुआ देखा है इस धर्म की सबसे अच्छी और सबसे व्यापक बात यह है कि यह किसी को भी एक तरीके से या एक भगवान मानने के लिए फिक्स नहीं करता यह बात नहीं करता है कि आपको एक ही भगवान को मानना है हिंदू धर्म में तो 33 करोड़ देवी देवता है 33 करोड़ देवी देवताओं से तात्पर्य है कि जिस समय पर यह बोलचाल में कहा जाता था कि 33 करोड़ देवी देवता हैं उस समय पर अनुमानित भारतवर्ष की जनसंख्या 33 करोड़ हुआ करती थी मतलब यह है कि हिंदू धर्म यह मानता है कि हर मानव में भगवान होते हैं और वह भगवान के ही स्वरूप है इससे सुंदर अभिव्यक्ति क्या हो सकती है धर्म की के जहां वह सभी को भगवान मानता हूं हिंदू धर्म एक ऐसा धर्म है जिसमें सभी धर्मों का समावेश हुआ है और आज तक अगर हम इतिहास को भी देखें तो हम यह देखेंगे कि हिंदू धर्म में बाकी धर्मों को भी अपने यहां पर रहने और पनपने दिया है भले ही वह पारसी हूं भले वह इस आई हूं भले वह शेख हो मुस्लिम हो सबको समानता से देखता है इतना अच्छे धर्म की परिभाषा और कहां मिल सकती है आज लगभग 800 साल के अंग्रेज और मुगल शासन के बावजूद हिंदू राष्ट्र ना होने के बाद भी एक सेक्युलर देश होने के बाद भी 85% आबादी हिंदू है तो अपने आप मैं हिंदू धर्म बहुत मजबूत है हिंदू धर्म 800 वर्षों तक अपने आप को बनाए रखा है यह सबसे अच्छी बात है आज भी हिंदू धर्म को सिर्फ समझने की आवश्यकता है ऐसा नहीं है कि हिंदू धर्म में कुछ खराबी आ चुकी है या कुछ कट्टरपंथी लोगों की वजह से हिंदू धर्म को हम को मजबूत करने की आवश्यकता नहीं हिंदू धर्म अपने आप में मजबूत है केवल और केवल हिंदू धर्म को समझने की आवश्यकता है हिंदू धर्म हिंदू धर्म मजबूत करने के लिए सबसे अच्छा यह है के सभी हिंदू परिवारों को अपने बच्चों को हिंदू धर्म की पुरानी परंपराओं के ग्रंथों का अध्ययन करवाना चाहिए सिर्फ सुनी सुनाई बातें नहीं उन्हें अध्ययन कराएं इतने ग्रंथ हैं वेद हैं सभी प्रकार की पुरानी परंपराओं से जब वह होता है तो अपने आप हिंदू धर्म मजबूत होगा इसके लिए हमें विशेष कुछ भी नहीं करना है सिर्फ यह है कि बच्चों में इतना अपने को सजग बनाना है कि वह पुराने ग्रंथों को पड़े उन्हें समझें और उसमें आंख साफ करें तो अपने आप हिंदू धर्म मजबूत होगा

hindu dharm kaise majboot hoga bhai hindu dharm ko majboot karne ki avashyakta nahi hai ab sakta hai samjhne ke hindu dharm vishwa ka sabse purana dharm hai jiske pramaan hazaro hazaro varshon purv se milte aa rahe hain yah itne salon se chala aa raha dharm hai jisko humne badhta hua dekha hai is dharm ki sabse achi aur sabse vyapak baat yah hai ki yah kisi ko bhi ek tarike se ya ek bhagwan manne ke liye fix nahi karta yah baat nahi karta hai ki aapko ek hi bhagwan ko manana hai hindu dharm me toh 33 crore devi devta hai 33 crore devi devatao se tatparya hai ki jis samay par yah bolchal me kaha jata tha ki 33 crore devi devta hain us samay par anumanit bharatvarsh ki jansankhya 33 crore hua karti thi matlab yah hai ki hindu dharm yah maanta hai ki har manav me bhagwan hote hain aur vaah bhagwan ke hi swaroop hai isse sundar abhivyakti kya ho sakti hai dharm ki ke jaha vaah sabhi ko bhagwan maanta hoon hindu dharm ek aisa dharm hai jisme sabhi dharmon ka samavesh hua hai aur aaj tak agar hum itihas ko bhi dekhen toh hum yah dekhenge ki hindu dharm me baki dharmon ko bhi apne yahan par rehne aur panapne diya hai bhale hi vaah parasi hoon bhale vaah is I hoon bhale vaah shaikh ho muslim ho sabko samanata se dekhta hai itna acche dharm ki paribhasha aur kaha mil sakti hai aaj lagbhag 800 saal ke angrej aur mughal shasan ke bawajud hindu rashtra na hone ke baad bhi ek secular desh hone ke baad bhi 85 aabadi hindu hai toh apne aap main hindu dharm bahut majboot hai hindu dharm 800 varshon tak apne aap ko banaye rakha hai yah sabse achi baat hai aaj bhi hindu dharm ko sirf samjhne ki avashyakta hai aisa nahi hai ki hindu dharm me kuch kharabi aa chuki hai ya kuch kattarapanthi logo ki wajah se hindu dharm ko hum ko majboot karne ki avashyakta nahi hindu dharm apne aap me majboot hai keval aur keval hindu dharm ko samjhne ki avashyakta hai hindu dharm hindu dharm majboot karne ke liye sabse accha yah hai ke sabhi hindu parivaron ko apne baccho ko hindu dharm ki purani paramparaon ke granthon ka adhyayan karwana chahiye sirf suni sunayi batein nahi unhe adhyayan karaye itne granth hain ved hain sabhi prakar ki purani paramparaon se jab vaah hota hai toh apne aap hindu dharm majboot hoga iske liye hamein vishesh kuch bhi nahi karna hai sirf yah hai ki baccho me itna apne ko sajag banana hai ki vaah purane granthon ko pade unhe samajhe aur usme aankh saaf kare toh apne aap hindu dharm majboot hoga

हिंदू धर्म कैसे मजबूत होगा भाई हिंदू धर्म को मजबूत करने की आवश्यकता नहीं है अब सकता है सम

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  171
KooApp_icon
WhatsApp_icon
12 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!