चंद्रगुप्त मौर्य और सम्राट अशोक के गुरु एक कैसे हो सकते हैं?...


play
user

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इतिहास चंद्रगुप्त मौर्य और उनके पात्र अशोक के ग्रुप एक कैसे हो सकते हैं हां सही सवाल है पर सोचने वाली बात यह है कि चंद्रगुप्त मौर्य के गुरु थे इनको चाणक्य बोलते हैं ठीक है चंद्रगुप्त मौर्य से चालक लगभग 15 से 16 साल बड़े थे और जब वह 10:00 12 साल के थे चाणक्य ने उनको शिक्षा दीक्षा दी और उनको आगे बढ़ाया लेकिन कुछ समय के बाद चंद्रगुप्त मौर्य उन्हें सिंहासन पाने के बाद उन्होंने अपने जीवन के अंतिम काल में सन्यास ले लिया चाणक्य पाटलिपुत्र में ही बने रहे उसके बाद उनके पुत्र बिंदुसार हुए और उनके पात्र अशोक चाणक्य अपने अंतिम समय में 90 वर्ष की आयु में अशोक कभी कभी उनसे परामर्श लेने आते थे उनको गुरु ऐसे नहीं बोल सकते वह अपने जीवन के अंतिम क्षण में थे चाणक्य और कभी-कभी अशोक उनसे जो कि अशोक लगभग उस टाइम भी युवावस्था में थे किशोर अवस्था में थे वह उनसे कभी कभी परामर्श आते थे पर उनकी सिंहासन के बनने के बाद ऐसा कोई कोई भी ऐसा तारु कोई भी प्रतिनिधि या कोई ऐसा कुछ नहीं है कि उनके राजा बनने तक चाणक्य सिंगापुर की गुरु बन गए युवावस्था में लगभग किशोरावस्था में जब वह बालक टेंपो चालक जिंदा थे और उस टाइम तक हमने कुछ राय बगैरा मजदूरों से किया है उनका है थोड़ा बहुत प्रारंभिक जांच की प्रारंभिक जीवन में चालक का जिक्र आता है किंतु बाद में के वर्षों में देखेंगे तो चाणक्य शंकर जी वितरण संभव नहीं है तो चाणक्य का देखा जाए तो जीवन की जो बताई जाती है उस हिसाब से वह अशोक के युवावस्था और किशोरावस्था में उनके परामर्श देने वाले एक गुरु के रूप में हो सकते हैं पर उनके कोई राजगुरु या कोई ऐसी गुरु एक नहीं मान सकते उनको

itihas chandragupta maurya aur unke patra ashok ke group ek kaise ho sakte hain haan sahi sawaal hai par sochne wali baat yah hai ki chandragupta maurya ke guru the inko chanakya bolte hain theek hai chandragupta maurya se chaalak lagbhag 15 se 16 saal bade the aur jab vaah 10 00 12 saal ke the chanakya ne unko shiksha diksha di aur unko aage badhaya lekin kuch samay ke baad chandragupta maurya unhe sinhaasan paane ke baad unhone apne jeevan ke antim kaal me sanyas le liya chanakya patliputra me hi bane rahe uske baad unke putra bindusar hue aur unke patra ashok chanakya apne antim samay me 90 varsh ki aayu me ashok kabhi kabhi unse paramarsh lene aate the unko guru aise nahi bol sakte vaah apne jeevan ke antim kshan me the chanakya aur kabhi kabhi ashok unse jo ki ashok lagbhag us time bhi yuvavastha me the kishore avastha me the vaah unse kabhi kabhi paramarsh aate the par unki sinhaasan ke banne ke baad aisa koi koi bhi aisa taru koi bhi pratinidhi ya koi aisa kuch nahi hai ki unke raja banne tak chanakya singapore ki guru ban gaye yuvavastha me lagbhag kishoraavastha me jab vaah balak tempo chaalak zinda the aur us time tak humne kuch rai bagaira majduro se kiya hai unka hai thoda bahut prarambhik jaanch ki prarambhik jeevan me chaalak ka jikarr aata hai kintu baad me ke varshon me dekhenge toh chanakya shankar ji vitaran sambhav nahi hai toh chanakya ka dekha jaaye toh jeevan ki jo batai jaati hai us hisab se vaah ashok ke yuvavastha aur kishoraavastha me unke paramarsh dene waale ek guru ke roop me ho sakte hain par unke koi raajguru ya koi aisi guru ek nahi maan sakte unko

इतिहास चंद्रगुप्त मौर्य और उनके पात्र अशोक के ग्रुप एक कैसे हो सकते हैं हां सही सवाल है पर

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  71
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!