राम सेतु पूल का निर्माण कब हुआ था?...


play
user

Sa Sha

Journalist since 1986

0:48

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रामसेतु के निर्माण के समय को लेकर विवाद रहा है दुनिया के लिए यह एडवांस पुलिस के रूप में जाना जाता है जब वे ऑफ इंडिया की ओर से प्रोजेक्ट रामेश्वरम के तहत हुई सोच से पता चला है कि इस इलाके में पाया जाने वाला मूंगा लगभग 125000 साल पहले विकसित हुआ था वही यहां रेत के टीलों की बात की जाए तो जान से पता चला है कि यह 500 साल पुरानी है इसके अलावा तमिलनाडु के भारतीय दर्शन यूनिवर्सिटी के सेंटर ऑफ रिमोट सेंसिंग के प्रोफेसर रामास्वामी ने 2003 में दावा किया कि रामसेतु कोई 3:30 4 साल पहले बना था उनके इस दावे का आधार यह है कि इलाके के समुद्र तट की जो कार्बन डेटिंग किए की गई है वह रामायण काल से मैच करती है

ramsetu ke nirmaan ke samay ko lekar vivaad raha hai duniya ke liye yah advance police ke roop mein jana jata hai jab ve of india ki aur se project rameshwaram ke tahat hui soch se pata chala hai ki is ilaake mein paya jaane vala munga lagbhag 125000 saal pehle viksit hua tha wahi yahan ret ke tilon ki baat ki jaaye toh jaan se pata chala hai ki yah 500 saal purani hai iske alava tamil nadu ke bharatiya darshan university ke center of remote sensing ke professor ramaswami ne 2003 mein daawa kiya ki ramsetu koi 3 30 4 saal pehle bana tha unke is daave ka aadhaar yah hai ki ilaake ke samudra tat ki jo carbon dating kiye ki gayi hai vaah ramayana kaal se match karti hai

रामसेतु के निर्माण के समय को लेकर विवाद रहा है दुनिया के लिए यह एडवांस पुलिस के रूप में जा

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  19
WhatsApp_icon
5 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

राम सेतु पुल का निर्माण कब हुआ था जब राम जी अपनी बीवी अर्धांगिनी सीता को रावण लंका के राजा से बचाने के लिए वानर सेना के संग समुद्र को पार करना चाहते थे तो उन्होंने हनुमान से कहा कि एक ऐसा है तुम पत्थर में श्रीराम करके समुद्र में छोड़ोगे वह पुलिस बन जाएगा और उस पुलिस से हम श्रीलंका तक जा पाएंगे

ram setu pool ka nirmaan kab hua tha jab ram ji apni biwi ardhangini sita ko ravan lanka ke raja se bachane ke liye vanar sena ke sang samudra ko par karna chahte the toh unhone hanuman se kaha ki ek aisa hai tum patthar mein shriram karke samudra mein chodoge vaah police ban jaega aur us police se hum sri lanka tak ja payenge

राम सेतु पुल का निर्माण कब हुआ था जब राम जी अपनी बीवी अर्धांगिनी सीता को रावण लंका के राजा

Romanized Version
Likes  1  Dislikes    views  34
WhatsApp_icon
user

amitkul

CA student,pursuing bcom too

1:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आदित्य राम सेतु पुल जो है वह इस समय उस फूल को कहां जा रहा है जो एक पत्थर का पुल जो है भारत के तमिलनाडु राज्य से श्रीलंका तक जो जोड़ता है अब इसका ऐतिहासिक महत्व यह है कि स्कूल को राम सेतु पुल स्कूल को कहा गया है जो रामायण के वक्त जय श्री राम अपनी पूरी वानर सेना के साथ जिस पुल पर चलकर समुद्र पार करके लंका पहुंचे थे रावण के राज्य में अपनी पत्नी सीता जी सीता देवी को उसके रावण की कैद से छुड़ाने के लिए इस पुल का निर्माण इस तरह हुआ था कि राम जी जब समुद्र देव को प्रार्थना करते हैं कि उनको मार दे क्योंकि आज की उनकी पूरी सेना लंका पहुंच सके तो समुद्र देवगन से विनती करते हैं कि यह संभव नहीं है क्योंकि बहुत सारे प्राणी जो है जो पानी के अंदर रहते हैं उनके जीव को खतरा हो सकता है तो समुद्र देव ने एक और मार्क सो जाते है कि आप जो भी है सारे पत्थर पर श्रीराम लिखकर समुद्र में फेंकोगे तो वह बिल्कुल नहीं डूबेंगे जिसे आप अपना फुल तैयार कर सकते अब इसकी जांच वैज्ञानिकों ने की स्कूल की यादें बेचैन है कि उस पत्थर की है जो पत्थर इस्तेमाल किया गया उसकी आयु को देखा जाए तो लगभग 1700000 साल पुराने पत्थर हो सकते तो यह बिलकुल संभव है कि यह उसी समय रामायण के रामायण के समय बनाया हुआ पुल है जो रामायण की कथा को सत्य साबित कर सकता है

aditya ram setu pool jo hai vaah is samay us fool ko kahaan ja raha hai jo ek patthar ka pool jo hai bharat ke tamil nadu rajya se sri lanka tak jo Jodta hai ab iska etihasik mahatva yah hai ki school ko ram setu pool school ko kaha gaya hai jo ramayana ke waqt jai shri ram apni puri vanar sena ke saath jis pool par chalkar samudra par karke lanka pahuche the ravan ke rajya mein apni patni sita ji sita devi ko uske ravan ki kaid se chudane ke liye is pool ka nirmaan is tarah hua tha ki ram ji jab samudra dev ko prarthna karte hai ki unko maar de kyonki aaj ki unki puri sena lanka pohch sake toh samudra devgan se vinati karte hai ki yah sambhav nahi hai kyonki bahut saare prani jo hai jo paani ke andar rehte hai unke jeev ko khatra ho sakta hai toh samudra dev ne ek aur mark so jaate hai ki aap jo bhi hai saare patthar par shriram likhkar samudra mein fenkoge toh vaah bilkul nahi dubenge jise aap apna full taiyar kar sakte ab iski jaanch vaigyaniko ne ki school ki yaadain bechain hai ki us patthar ki hai jo patthar istemal kiya gaya uski aayu ko dekha jaaye toh lagbhag 1700000 saal purane patthar ho sakte toh yah bilkul sambhav hai ki yah usi samay ramayana ke ramayana ke samay banaya hua pool hai jo ramayana ki katha ko satya saabit kar sakta hai

आदित्य राम सेतु पुल जो है वह इस समय उस फूल को कहां जा रहा है जो एक पत्थर का पुल जो है भारत

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  21
WhatsApp_icon
user

Pragati

Aspiring Lawyer

0:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रामसेतु के निर्माण की सही तिथि तो किसी को भी ज्ञात नहीं है पर ऐसा कहा जाता है और रामायण में भी यही लिखा है कि त्रेता युग में जब भगवान राम अपनी पत्नी सीता को लेने और रावण से युद्ध करने लंका की ओर प्रस्थान कर रहे थे तब रास्ते में समुद्र को पार करके लंका पहुंचने के लिए राम सेतु का निर्माण करा गया था

ramsetu ke nirmaan ki sahi tithi toh kisi ko bhi gyaat nahi hai par aisa kaha jata hai aur ramayana mein bhi yahi likha hai ki treta yug mein jab bhagwan ram apni patni sita ko lene aur ravan se yudh karne lanka ki aur prasthan kar rahe the tab raste mein samudra ko par karke lanka pahuchne ke liye ram setu ka nirmaan kara gaya tha

रामसेतु के निर्माण की सही तिथि तो किसी को भी ज्ञात नहीं है पर ऐसा कहा जाता है और रामायण मे

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  14
WhatsApp_icon
user

Ridhima

Mass Communications Student

0:44
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

रामसेतु तमिल नाडु भारत के दक्षिण पूर्वी तट के किनारे रामेश्वरम द्वीप तथा श्रीलंका के उत्तर पश्चिमी तट पर महाद्वीप के मध्य मध्य चूना पत्थर से बनी एक रंगला है भौगोलिक परमाणु से पता चलता है कि किसी समय यह सेतु भारत तथा श्रीलंका को बुकमार्क से आपस में जोड़ता था हिंदू पुराणों की मान्यता के अनुसार इस सेतु का निर्माण अयोध्या के राजा राम श्री राम की सेना ने सेना के 2 सैनिक जो की वानर थे जिनका वर्णन प्रमुखता नल नील नाम से रामायण में मिलता है द्वारा किए गए थे

ramsetu tamil nadu bharat ke dakshin purvi tat ke kinare rameshwaram dweep tatha sri lanka ke uttar pashchimi tat par mahadweep ke madhya madhya chuna patthar se bani ek rangla hai bhaugolik parmanu se pata chalta hai ki kisi samay yah setu bharat tatha sri lanka ko bookmark se aapas mein Jodta tha hindu purano ki manyata ke anusaar is setu ka nirmaan ayodhya ke raja ram shri ram ki sena ne sena ke 2 sainik jo ki vanar the jinka varnan pramukhta nal neel naam se ramayana mein milta hai dwara kiye gaye the

रामसेतु तमिल नाडु भारत के दक्षिण पूर्वी तट के किनारे रामेश्वरम द्वीप तथा श्रीलंका के उत्तर

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  10
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
ram setu ka nirman kis yug mein hua tha ;

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!