लड़का और लड़की खुले में सेक्स क्यों नहीं करते?...


play
user

G P Kanaugia

Teacher And Career Counselor With Personal Advisor.

1:38

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न लड़का और लड़की खुले में सेक्स क्यों नहीं करते तो उसे भारतीय समाज में कुछ परंपराएं दिया है कुछ काम हम पर्दे के बाहर करते कुछ काम पर्दे के पीछे करते हैं सेक्स प्रक्रिया शुरु से ही जब मनुष्य आदिमानो था तो जानवरों जैसा जब जीवन देश जीता था जिस तरह जानवर आज खुले में सेक्स करते हैं उसी तरीके से हाथ में भी खुले में करते थे उसमें किसी भी प्रकार का कोई बंधन नहीं होता था कोई रिश्ते नहीं होते थे जिस तरह आज हम जानवरों जैसे हमारे आदिमानव रहा करते थे लेकिन जैसे जैसे हमारे देश के साथ पूरे विश्व में संस्कृत सभ्यताओं का विकास हुआ वैसे उसे समाज ने नित नए आयाम बनाते हुए कुछ सामाजिक बंधनों को किया उसी आधार पर हम कुछ काम वह पहली करते हैं कुछ काम में छुपकर करते हैं उसी तरीके से हम हमारे समाज में पूरे विश्व में सेक्स प्रक्रिया छुपकर की जाने वाली प्रक्रिया बन गई और लगभग पूरे विश्व के लोग सेक्स को छुपकर ही करते हैं पश्चिम देशों में कुछ खुलापन लेकिन वहां भी खुलापन का मतलब यह नहीं कि आप ओपनली कैसे कर सकते हैं लेकिन हमारा समाज चुकी होती परंपराओं का रहा है इसलिए इसे बहुत ही पवित्र और नेक कार्य माना गया जो हमारे पीढ़ी दर पीढ़ी को आगे बढ़ाने में काम करता है इसीलिए इस प्रक्रिया को छुपकर किया जाता है

aapka prashna ladka aur ladki khule me sex kyon nahi karte toh use bharatiya samaj me kuch paramparayen diya hai kuch kaam hum parde ke bahar karte kuch kaam parde ke peeche karte hain sex prakriya shuru se hi jab manushya adimano tha toh jaanvaro jaisa jab jeevan desh jita tha jis tarah janwar aaj khule me sex karte hain usi tarike se hath me bhi khule me karte the usme kisi bhi prakar ka koi bandhan nahi hota tha koi rishte nahi hote the jis tarah aaj hum jaanvaro jaise hamare adimanav raha karte the lekin jaise jaise hamare desh ke saath poore vishwa me sanskrit sabhyatao ka vikas hua waise use samaj ne neeta naye aayam banate hue kuch samajik bandhanon ko kiya usi aadhar par hum kuch kaam vaah pehli karte hain kuch kaam me chhupakar karte hain usi tarike se hum hamare samaj me poore vishwa me sex prakriya chhupakar ki jaane wali prakriya ban gayi aur lagbhag poore vishwa ke log sex ko chhupakar hi karte hain paschim deshon me kuch khulapan lekin wahan bhi khulapan ka matlab yah nahi ki aap openly kaise kar sakte hain lekin hamara samaj chuki hoti paramparaon ka raha hai isliye ise bahut hi pavitra aur neck karya mana gaya jo hamare peedhi dar peedhi ko aage badhane me kaam karta hai isliye is prakriya ko chhupakar kiya jata hai

आपका प्रश्न लड़का और लड़की खुले में सेक्स क्यों नहीं करते तो उसे भारतीय समाज में कुछ परंपर

Romanized Version
Likes  24  Dislikes    views  466
KooApp_icon
WhatsApp_icon
1 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!