राजनीति में आने के लिए क्या एजुकेशन होना चाहिए?...


user

Daulat Ram Sharma Shastri

Psychologist | Ex-Senior Teacher

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज की राजनीति में तो कोई एजुकेशन की आवश्यकता नहीं हो रही है अधिकतम जो डिलीट देख रहे हैं उन लेटेस्ट आगे पढ़े लिखे को भी हो उनकी बेस्ट एजुकेशन नजर नहीं आती क्योंकि उनकी जो बोल चाल की लैंग्वेज है बहुत डाउन है कि वह एक दूसरे को गाली गलौज करना है एक दूसरे की टांग सेट करना एक दूसरे के बारे में अनशन बोलना उनकी यहां तक की फैमिली का मैटर जो तारीफ करने के लायक नहीं होता है किंतु उसमें भी एक दूसरे के बारे में चुटकुला बन चुका है यह कहते पढ़ ले पढ़ ले नहीं तो थूक देता बनेगा आज की राजनीति वाली फाइट एक दूसरे का विरोध हो लेकिन प्लेलिस्ट आचार तरीके से हो या पर्स में कुर्सियां पर शिंचन खुले मंच से गालियां देना यह कि राजनीति की अच्छी राजनीति के पक्ष में नहीं है राजनीति के जो कि आज के दिखाई दे रही है मेरे विचार से राजनीति के लिए आज एजुकेशन की आवश्यकता नहीं बल्कि मेहनत सुधार के लिए होना चाहिए यहां तक कि मुझे बड़ा आश्चर्य की बात का कि वह चीज के लिए क्वालिफिकेशन है काशी के बीवी 10th पास होना चाहिए बाबू के लिए इतना ना चाही तो कालू कालू अवश्य होनी चाहिए वेल क्वालिफाइड की राजनीति में तो देश का सुधार भी उपदेश अधिकारी हूं एक दूसरे की टांग खिंचाई नहीं होनी चाहिए जबकि आज यह स्थिति है कि चैप्टर ओदी कैसा भी अच्छा काम कर लेकिन उसकी कभी समालोचना नहीं करते उसकी हमेशा बुराइयां करते हैं उसकी टांग रहते हैं जबरदस्ती विरोध करना कि का राजनीति का बन गया है जो नहीं होना चाहिए देसी प्लीज सभी को एक होना चाहिए देशोन्नती

aaj ki raajneeti mein toh koi education ki avashyakta nahi ho rahi hai adhiktam jo delete dekh rahe hain un latest aage padhe likhe ko bhi ho unki best education nazar nahi aati kyonki unki jo bol chaal ki language hai bahut down hai ki vaah ek dusre ko gaali galoj karna hai ek dusre ki taang set karna ek dusre ke bare mein anshan bolna unki yahan tak ki family ka matter jo tareef karne ke layak nahi hota hai kintu usme bhi ek dusre ke bare mein chutkula ban chuka hai yah kehte padh le padh le nahi toh thuk deta banega aaj ki raajneeti wali fight ek dusre ka virodh ho lekin playlist aachar tarike se ho ya purse mein kursiyan par shinchan khule manch se galiya dena yah ki raajneeti ki achi raajneeti ke paksh mein nahi hai raajneeti ke jo ki aaj ke dikhai de rahi hai mere vichar se raajneeti ke liye aaj education ki avashyakta nahi balki mehnat sudhaar ke liye hona chahiye yahan tak ki mujhe bada aashcharya ki baat ka ki vaah cheez ke liye qualification hai kashi ke biwi 10th paas hona chahiye babu ke liye itna na chahi toh kalu kalu avashya honi chahiye well qualified ki raajneeti mein toh desh ka sudhaar bhi updesh adhikari hoon ek dusre ki taang khinchai nahi honi chahiye jabki aaj yah sthiti hai ki chapter odi kaisa bhi accha kaam kar lekin uski kabhi samalochna nahi karte uski hamesha buraiyan karte hain uski taang rehte hain jabardasti virodh karna ki ka raajneeti ka ban gaya hai jo nahi hona chahiye desi please sabhi ko ek hona chahiye deshonnati

आज की राजनीति में तो कोई एजुकेशन की आवश्यकता नहीं हो रही है अधिकतम जो डिलीट देख रहे हैं उन

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  323
KooApp_icon
WhatsApp_icon
6 जवाब
no img
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!