अगर हम फ्री बैठे हैं, तो हमें किस के बारे में सोचना चाहिए और क्या सोचना चाहिए?...


play
user

Neeraj Shukla

Philosopher || Avid Reader.

1:25

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेरे मुताबिक जब हम फ्री बैठे हो तो हमें यही सोचना चाहिए कि समय एक ऐसी चीज है जो मां कीमती बेशकीमती चीज है संसार की सबसे कीमती चीज है और हमें इसका किस तरह से उपयोग करना है और आगे किस किस तरह से किस किस वक्त किस समय के साथ क्या करना है और हमें क्या बनना है आगे हमें क्या क्या चीज करना है क्या चाहिए क्या नहीं चाहिए तो मैं कहूंगा अगर आप फ्री बैठते हो तो आप कहीं ना कहीं समय को एक यूनिटी दो और टाइम के लिए सोचो समय के लिए सोचो कि अपना टाइम किस तरह से सही सिचुएशन में सही प्लेस पर उसका इंप्लीमेंट कर सको और टाइम को एक अच्छा रूप देख सकूं अपने समय को वेस्ट ना करो और अपने समय के यूजर्स के लिए सोचो कि आप अपने समय कहां-कहां यूज करेंगे और कहां-कहां आपको बेनिफिट रेसिपी और टाइम को मतलब है कि इस चीज होती है जिस पर मतलब मैं कहता हूं पैसे से भी कीमती चीज होती है टाइम तो आपने टाइम को अपने टाइम को वैल्यू दे और अपने टाइम के लिए सोचे कि आप क्या टाइम सही जगह लगा रहे हैं आपका टाइम सही जा रहा है आप मतलब दिन के 24 घंटे को सही से बता रहे हैं कि नहीं बता रहे हैं और उसका अच्छा उपयोग कर रहे हैं या नहीं लोगों से बेहतर अगर आप अपने समय का उपयोग करेंगे तो आप भी शिक्षक सबसे सफल इंसान होंगे और आपकी सफलता आपका सिर चूमेगी बस यही है आप समय की वैल्यू को समझे समय के वैल्यू को देवर समय के बारे में सोच

mere mutabik jab hum free baithe ho toh hamein yahi sochna chahiye ki samay ek aisi cheez hai jo maa kimti beshkimati cheez hai sansar ki sabse kimti cheez hai aur hamein iska kis tarah se upyog karna hai aur aage kis kis tarah se kis kis waqt kis samay ke saath kya karna hai aur hamein kya banna hai aage hamein kya kya cheez karna hai kya chahiye kya nahi chahiye toh main kahunga agar aap free baithate ho toh aap kahin na kahin samay ko ek unity do aur time ke liye socho samay ke liye socho ki apna time kis tarah se sahi situation mein sahi place par uska implement kar Sako aur time ko ek accha roop dekh sakun apne samay ko west na karo aur apne samay ke users ke liye socho ki aap apne samay kahaan kahaan use karenge aur kahaan kahaan aapko benefit recipe aur time ko matlab hai ki is cheez hoti hai jis par matlab main kahata hoon paise se bhi kimti cheez hoti hai time toh aapne time ko apne time ko value de aur apne time ke liye soche ki aap kya time sahi jagah laga rahe hain aapka time sahi ja raha hai aap matlab din ke 24 ghante ko sahi se bata rahe hain ki nahi bata rahe hain aur uska accha upyog kar rahe hain ya nahi logo se behtar agar aap apne samay ka upyog karenge toh aap bhi shikshak sabse safal insaan honge aur aapki safalta aapka sir choomegi bus yahi hai aap samay ki value ko samjhe samay ke value ko devar samay ke bare mein soch

मेरे मुताबिक जब हम फ्री बैठे हो तो हमें यही सोचना चाहिए कि समय एक ऐसी चीज है जो मां कीमती

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  3
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!