एक औरत की इज़्ज़त एक औरत के लिए क्या होती है?...


user
0:18
Play

Likes  49  Dislikes    views  499
WhatsApp_icon
2 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user
1:08

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर इज्जत की बात हो रही है तो अगर यह कहा जाता है कि इज्जत तो सबकी होती है सिर्फ एक औरत की नहीं होती है इज्जत सबकी होती है तो हमें हर किसी को वैसे ही अच्छे तरीके से डिलीट करना चाहिए हर इंसान एक जैसा नहीं होता तो जैसे जो इंसान कंफर्टेबल फील करता है मैं उसको वैसे ही डिलीट करना चाहिए जैसे कुछ लोग होते हैं जिन्हें सिर्फ प्यार की भाषा समझ आती है कुछ लोग नॉर्मल बोलने पर भी समझ जाते हैं वह प्यार की भाषा वाले वह लोग होते हैं जो जिनको हम नॉर्मल ही बोलते हैं तो उनको नेगेटिव फीलिंग आने लग जाती है तो ऐसा होता है की इज्जत सबकी होती है सिर्फ औरतें हैं उनकी इज्जत नहीं सबकी इज्जत होती है औरतों की भी इज्जत होती है आदमियों की भी इज्जत होती है तो भारत में यह होता है कि औरतों की उतनी ज्यादा इज्जत नहीं की जाती है लेकिन यहां के मर्द लोग ऐसे ही हैं तो हम इस मेंट हमारी सोसाइटी की मेंटालिटी कैसी है तो इसे ही हमने चेंज करना पड़ेगा और आजकल की औरतें बहुत आगे निकल गए हैं तो ऐसी बात नहीं है सब कुछ मॉडर्न हो रहा है

agar izzat ki baat ho rahi hai toh agar yah kaha jata hai ki izzat toh sabki hoti hai sirf ek aurat ki nahi hoti hai izzat sabki hoti hai toh hamein har kisi ko waise hi acche tarike se delete karna chahiye har insaan ek jaisa nahi hota toh jaise jo insaan Comfortable feel karta hai usko waise hi delete karna chahiye jaise kuch log hote hain jinhen sirf pyar ki bhasha samajh aati hai kuch log normal bolne par bhi samajh jaate hain vaah pyar ki bhasha waale vaah log hote hain jo jinako hum normal hi bolte hain toh unko Negative feeling aane lag jaati hai toh aisa hota hai ki izzat sabki hoti hai sirf auraten hain unki izzat nahi sabki izzat hoti hai auraton ki bhi izzat hoti hai adamiyo ki bhi izzat hoti hai toh bharat mein yah hota hai ki auraton ki utani zyada izzat nahi ki jaati hai lekin yahan ke mard log aise hi hain toh hum is ment hamari society ki mentalaity kaisi hai toh ise hi humne change karna padega aur aajkal ki auraten bahut aage nikal gaye hain toh aisi baat nahi hai sab kuch modern ho raha hai

अगर इज्जत की बात हो रही है तो अगर यह कहा जाता है कि इज्जत तो सबकी होती है सिर्फ एक औरत की

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  349
WhatsApp_icon
qIcon
ask

Related Searches:
इज्जत क्या होती है ; औरत की इज्जत ; aurat ki izzat ; izzat kya hoti hai ; औरत की ; औरत की इज्जत कैसे लूटते हैं ; औरत की बात ; aurat ki ijjat ; izzat ki baat ; औरत किसे कहते हैं ;

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!