ठोस कार्बन डाइऑक्साइड को शुष्क बर्फ क्यों कहा जाता है?...


play
user

Rajendra Kumar Jain

Retared servant

0:34

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ठोस कार्बन डाइऑक्साइड को 100 वर्ष इसलिए कहा जाता है कि यह वर्ष की अवस्था में तो होता है परंतु शरीर को या कपड़ों को गिला नहीं करता जब उच्च ताप पर भरी हुई कार्बन डाइऑक्साइड के दाग को एकाएक कम करके खोल दिया जाता है तो वह ठीक है ठोस अवस्था में परिवर्तित हो जाती है इसलिए उसे शुष्क वक्त कहते हैं जैसे जब हम शादियों में फेंक सकते हैं वह को कार्बन डाइऑक्साइड की अवस्था है जो शरीर पर गिर कर के शरीर को मिला नहीं करती

thos carbon dioxide ko 100 varsh isliye kaha jata hai ki yah varsh ki avastha me toh hota hai parantu sharir ko ya kapdo ko gila nahi karta jab ucch taap par bhari hui carbon dioxide ke daag ko ekaek kam karke khol diya jata hai toh vaah theek hai thos avastha me parivartit ho jaati hai isliye use shushk waqt kehte hain jaise jab hum shadiyo me fenk sakte hain vaah ko carbon dioxide ki avastha hai jo sharir par gir kar ke sharir ko mila nahi karti

ठोस कार्बन डाइऑक्साइड को 100 वर्ष इसलिए कहा जाता है कि यह वर्ष की अवस्था में तो होता है पर

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  516
WhatsApp_icon
1 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
Likes    Dislikes    views  
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!