यह कैसे पता करें कि किसी व्यक्ति की कुंडली जागृत है या नहीं?...


play
user

Likes  34  Dislikes    views  276
WhatsApp_icon
14 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user
Play

Likes  79  Dislikes    views  790
WhatsApp_icon
user

Daivagya Krishna Shastri

Astrologer, Ved, Bhagvat Mahapuran

0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जय श्री राधे कृष्णा जय श्री श्यामा कुंडली किसी व्यक्ति की जागृत है या नहीं यह पता करने के लिए आपको सर्वप्रथम अपना डेट ऑफ बर्थ अर्थात जन्म दिनांक जन्म समय और जन्म स्थान तीनो चीज़ को प्रेषित करें एवं लग्नेश पंचमेश नवमेश और तपेश भाग्य का विचार किया जाता है इसके आधार पर जीवन में क्या कैसे भाग्य की स्थिति रहेगी क्या कैसे तब की स्थिति रहेगी इन चीजों को जानने के लिए आप हमें संपर्क स्थापित कर सकते हैं वह कल ऐप के माध्यम से अथवा आप हमें व्हाट्सएप पर भी संपर्क स्थापित कर सकते हैं गुरु जी का व्हाट्सएप नंबर 1 4000 8473 राधे कृष्णा

jai shri radhe krishna jai shri shyaama kundali kisi vyakti ki jagrit hai ya nahi yah pata karne ke liye aapko sarvapratham apna date of birth arthat janam dinank janam samay aur janam sthan teeno cheez ko preshit kare evam lagnesh panchamesh navmesh aur tapesh bhagya ka vichar kiya jata hai iske aadhar par jeevan me kya kaise bhagya ki sthiti rahegi kya kaise tab ki sthiti rahegi in chijon ko jaanne ke liye aap hamein sampark sthapit kar sakte hain vaah kal app ke madhyam se athva aap hamein whatsapp par bhi sampark sthapit kar sakte hain guru ji ka whatsapp number 1 4000 8473 radhe krishna

जय श्री राधे कृष्णा जय श्री श्यामा कुंडली किसी व्यक्ति की जागृत है या नहीं यह पता करने के

Romanized Version
Likes  201  Dislikes    views  1690
WhatsApp_icon
user
0:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जिन लोगों के पिछले जन्म के अच्छे कर्म है और वह अध्यात्मिक विषय में रहेंगे पिछले जन्म में तो इस जन्म में उनकी डायरेक्टली कुंडलिनी जागृत है ऐसा हो सकता है

jin logo ke pichle janam ke acche karm hai aur vaah adhyatmik vishay me rahenge pichle janam me toh is janam me unki directly kundalini jagrit hai aisa ho sakta hai

जिन लोगों के पिछले जन्म के अच्छे कर्म है और वह अध्यात्मिक विषय में रहेंगे पिछले जन्म में त

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  144
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कुंडलिनी जागृत होती है कुंडली जागृत हो मैंने सुना नहीं कुंडली कुंडली जागृत एक योग विद्या है जो बहुत तब के बाद ऐसा संभव होता है बहुत बहुत दुर्लभ है यह सभी को प्राप्त करना करोड़ों में कोई एक संत महापुरुषों कुंडलिनी को जागृत करता है

kundalini jagrit hoti hai kundali jagrit ho maine suna nahi kundali kundali jagrit ek yog vidya hai jo bahut tab ke baad aisa sambhav hota hai bahut bahut durlabh hai yah sabhi ko prapt karna karodo me koi ek sant mahapurushon kundalini ko jagrit karta hai

कुंडलिनी जागृत होती है कुंडली जागृत हो मैंने सुना नहीं कुंडली कुंडली जागृत एक योग विद्या ह

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  99
WhatsApp_icon
user

Dr. Mahesh Mohan Jha

Asst. Professor,Astrologer,Author

3:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न बहुत ही अच्छा है आजकल जो युग हो गया है इस युग में बहुत से ऐसे व्यक्ति हैं महात्मा है जादू है जो अपने आप को कहते हैं मेरा कुंडलिनी जागृत है किंतु उस भंवर जाल में कुछ व्यक्ति उसके बाद पता को देख करके फस जाते हैं लेकिन बाद में पता चलता है सब कुछ और है अतः कुंडलिनी जागृत है या नहीं इसके लिए आपको बता दूं जिसका कुंडलिनी जागृत हो जाता है कहा जाता है वह देवतुल्य खो जाता है अब आपको कैसे पता चलेगा कि उसका खुले नीनी जागृत हुआ है या नहीं मैं आपको पहले ही बता दो मनुष्य में अष्ट पास होता है अस्त पास यानी कि आज पासपोर्ट से वह बढ़ा हुआ रहता है कुंडलिनी जागृत होने के बाद वह अष्ट पाश से मुक्त हो जाता और यह आपको देखना है क्या हुआ अष्ट पाश से मुक्त व्यक्ति है याद नहीं है या कैसे देखें उसमें लज्जा नहीं होना चाहिए उसमें लोग नहीं होना चाहिए उसमें माया नहीं होना चाहिए उसमें अहंकार नहीं होना चाहिए वह अपने पिता के प्रति अहंकार हो अपने पद के प्रति अहंकार हो अपने ग्रुप के प्रति अखबारों व अहंकार नहीं होना चाहिए उसमें किसी भी प्रकार का है नहीं होना चाहिए उसमें किसी भी प्रकार का शंका नहीं होना चाहिए वह सत्य वचन बोलने वाला हो वह क्षमा करने वाला हूं वह अहिंसा वादी हो इस तरह से आप पता लगा सकते हैं कि यह सब गुण इस व्यक्ति में है या नहीं है मैं आपको बता दूं इसका कुंडलिनी जागृत हो जाता है वह गृहस्थ आश्रम में रहते हुए भी वह अपने आप को गिराते की संस्था खासकर बहुत ऐसे व्यक्ति हैं जिसे कुंडलिनी जागृत हो जाने के बाद वह अपने घर आश्रम को त्याग करके इस संसार से इस समाज से बहुत दूर निकल जाते हैं कुछ व्यक्ति गिरफ्तार सन में रहते हुए भी अपने आप को विराट ही मानते हैं उनके लिए देश अपना पुत्री है जैसा अपना पुत्र के साथ में पत्नी है जैसी अपनी माता है पिता है उसी तरह पूरे संसार को समान भाव से देखते हैं यह सब गुण जिसमें हो उसी का पुद्दी लेनी जागृत हो चुका है धन्यवाद

namaskar aapka prashna bahut hi accha hai aajkal jo yug ho gaya hai is yug me bahut se aise vyakti hain mahatma hai jadu hai jo apne aap ko kehte hain mera kundalini jagrit hai kintu us bhawar jaal me kuch vyakti uske baad pata ko dekh karke fas jaate hain lekin baad me pata chalta hai sab kuch aur hai atah kundalini jagrit hai ya nahi iske liye aapko bata doon jiska kundalini jagrit ho jata hai kaha jata hai vaah devatulya kho jata hai ab aapko kaise pata chalega ki uska khule nini jagrit hua hai ya nahi main aapko pehle hi bata do manushya me asht paas hota hai ast paas yani ki aaj passport se vaah badha hua rehta hai kundalini jagrit hone ke baad vaah asht pash se mukt ho jata aur yah aapko dekhna hai kya hua asht pash se mukt vyakti hai yaad nahi hai ya kaise dekhen usme lajja nahi hona chahiye usme log nahi hona chahiye usme maya nahi hona chahiye usme ahankar nahi hona chahiye vaah apne pita ke prati ahankar ho apne pad ke prati ahankar ho apne group ke prati akhbaron va ahankar nahi hona chahiye usme kisi bhi prakar ka hai nahi hona chahiye usme kisi bhi prakar ka shanka nahi hona chahiye vaah satya vachan bolne vala ho vaah kshama karne vala hoon vaah ahinsa wadi ho is tarah se aap pata laga sakte hain ki yah sab gun is vyakti me hai ya nahi hai main aapko bata doon iska kundalini jagrit ho jata hai vaah grihasth ashram me rehte hue bhi vaah apne aap ko giraate ki sanstha khaskar bahut aise vyakti hain jise kundalini jagrit ho jaane ke baad vaah apne ghar ashram ko tyag karke is sansar se is samaj se bahut dur nikal jaate hain kuch vyakti giraftar san me rehte hue bhi apne aap ko virat hi maante hain unke liye desh apna putri hai jaisa apna putra ke saath me patni hai jaisi apni mata hai pita hai usi tarah poore sansar ko saman bhav se dekhte hain yah sab gun jisme ho usi ka puddi leni jagrit ho chuka hai dhanyavad

नमस्कार आपका प्रश्न बहुत ही अच्छा है आजकल जो युग हो गया है इस युग में बहुत से ऐसे व्यक्त

Romanized Version
Likes  28  Dislikes    views  448
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कुंडलिया कुंडलिनी दोनों अलग-अलग है कुंडली होता है व्यक्ति के जन्म से संबंधित कुंडलिनी होती है जो हमारे शरीर चक्र होते हैं मूलाधार से लेकर आज्ञा चक्र तक उसमें कुंडली जगाई जाती है तो आपका पर्सनल स्पष्ट नहीं है इसलिए उत्तर नहीं दिया जा सकता

kundaliya kundalini dono alag alag hai kundali hota hai vyakti ke janam se sambandhit kundalini hoti hai jo hamare sharir chakra hote hain muladhar se lekar aagya chakra tak usme kundali jagai jaati hai toh aapka personal spasht nahi hai isliye uttar nahi diya ja sakta

कुंडलिया कुंडलिनी दोनों अलग-अलग है कुंडली होता है व्यक्ति के जन्म से संबंधित कुंडलिनी होती

Romanized Version
Likes  4  Dislikes    views  90
WhatsApp_icon
user
0:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कुंडली हर समय जागृत रहती है मरने के बाद भी व्यक्ति को कई लोगों से मिलता है आवाज मिल और कई लोगों का चिंतन भी हो जाता है कुंडली धारावाहिक जागृत रहती है व्यक्ति हो सकता है मर जाए या जीवित रहे वह एक अलग प्रश्न है अगर अधिक जानकारी चाहिए तो आप मुझे 9986 0152 में व्हाट्सएप करें

kundali har samay jagrit rehti hai marne ke baad bhi vyakti ko kai logo se milta hai awaaz mil aur kai logo ka chintan bhi ho jata hai kundali dharawahik jagrit rehti hai vyakti ho sakta hai mar jaaye ya jeevit rahe vaah ek alag prashna hai agar adhik jaankari chahiye toh aap mujhe 9986 0152 me whatsapp kare

कुंडली हर समय जागृत रहती है मरने के बाद भी व्यक्ति को कई लोगों से मिलता है आवाज मिल और कई

Romanized Version
Likes  3  Dislikes    views  116
WhatsApp_icon
user

Rakesh Mishra

Astrologer

0:30
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

कुंडली से जागरण जागृत होना और मृत होना किसी की कुंडली में सारे ग्रह मृत नहीं होते और सारे ग्रह जागृत नहीं है कुछ ग्रह जागृत होते हैं कुछ मित्रों के तो यह कुंडली के धन के बाद ही पता लग सकता है कि कौन से ग्रह जागृत में कौन से व्यक्ति हैं इसके लिए किसी की भी कुंडली का अध्ययन करने के बाद ही आपको बताया जाए

kundali se jagran jagrit hona aur mrit hona kisi ki kundali me saare grah mrit nahi hote aur saare grah jagrit nahi hai kuch grah jagrit hote hain kuch mitron ke toh yah kundali ke dhan ke baad hi pata lag sakta hai ki kaun se grah jagrit me kaun se vyakti hain iske liye kisi ki bhi kundali ka adhyayan karne ke baad hi aapko bataya jaaye

कुंडली से जागरण जागृत होना और मृत होना किसी की कुंडली में सारे ग्रह मृत नहीं होते और सारे

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  85
WhatsApp_icon
play
user

Brajwasi sharma

Astrologer

1:01

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भाई क्या है कि कुंडली जागृत होती है ना वह साधना से जागृत होती है जो कुंडली जागृत साधना से जागृत होती है जो आपकी साधना पधारो प्रकाश होने लगेगी तो आपको अलग ढंग के रोती होगी इस साल आ सकता छोटा लगता है उस समय आपके चेहरे से प्रकाश निकलता है एकली जागरण की पहचान होती है आपके मानसिक विचार पूरे भागवती में बदल जाएगी तभी से खुली जागरण कहते हैं कि कुंडली जागरण का मतलब है आदमी का आत्मा से परमात्मा का मिलन नदी छोटी होती गंगा से नदी मतलब महासागर से मिलन जो मुझ से मिलन हो जाता तभी कुंडली जाग्रत हो जाती है कुल डीजे जागृति हो गुरु की कृपा से ही संभव है ईश्वर आपका मंगल करें धन

bhai kya hai ki kundali jagrit hoti hai na vaah sadhna se jagrit hoti hai jo kundali jagrit sadhna se jagrit hoti hai jo aapki sadhna padhaaro prakash hone lagegi toh aapko alag dhang ke roti hogi is saal aa sakta chota lagta hai us samay aapke chehre se prakash nikalta hai ekali jagran ki pehchaan hoti hai aapke mansik vichar poore bhagvati me badal jayegi tabhi se khuli jagran kehte hain ki kundali jagran ka matlab hai aadmi ka aatma se paramatma ka milan nadi choti hoti ganga se nadi matlab mahasagar se milan jo mujhse se milan ho jata tabhi kundali jagrat ho jaati hai kul DJ jagriti ho guru ki kripa se hi sambhav hai ishwar aapka mangal kare dhan

भाई क्या है कि कुंडली जागृत होती है ना वह साधना से जागृत होती है जो कुंडली जागृत साधना से

Romanized Version
Likes  24  Dislikes    views  200
WhatsApp_icon
user

Govind Khalmania

Ayurvedic Doctor

1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने पूछा कि कैसे पता करें कि किसी व्यक्ति की कुंडली जागृत है या नहीं बिल्कुल आप पता कर सकते हैं इसके लिए लेकिन इसके लिए आपको ध्यान की क्रिया से गुजरना पड़ेगा आपको ध्यान करना पड़ेगा तभी आप पता लगा पाएंगे कि आपकी कुंडली जागृत है कि नहीं कि कहीं भ्रामक जानकारी आपको यूट्यूब पर या कहीं जगह पर आपको मिल जाएगी इसके बाद दिन से आपको बताया जाएगा कि आप में ऐसा है तो आपकी फ्रेंडली जो है आपकी जागृत है या खुला आपका चक्र जागृत है तो ऐसा कुछ नहीं है आप ध्यान लगाइए और ध्यान की क्रिया को आप इतने टाइम से कीजिए आपको 25 10 दिन में नहीं पता लगेगा आपको साल डेढ़ साल तक आपको प्रॉपर तैयार लगाना पड़ेगा तब जाकर आपको पता लग जाएगा कि यहां आपकी कंपनी जो है वह जागरण या नहीं आई जागृत अवस्था में आपको बहुत सारे अनुभव होंगे उसमें उस समय पर लेकिन पहले आपको अपने चित्तौड़ मन को एकाग्र चित्त कर करके ध्यान लगाना पड़ेगा कभी आप कुंडली के बारे में जानकारी पा सकेंगे

aapne poocha ki kaise pata kare ki kisi vyakti ki kundali jagrit hai ya nahi bilkul aap pata kar sakte hain iske liye lekin iske liye aapko dhyan ki kriya se gujarana padega aapko dhyan karna padega tabhi aap pata laga payenge ki aapki kundali jagrit hai ki nahi ki kahin bhramak jaankari aapko youtube par ya kahin jagah par aapko mil jayegi iske baad din se aapko bataya jaega ki aap me aisa hai toh aapki friendly jo hai aapki jagrit hai ya khula aapka chakra jagrit hai toh aisa kuch nahi hai aap dhyan lagaaiye aur dhyan ki kriya ko aap itne time se kijiye aapko 25 10 din me nahi pata lagega aapko saal dedh saal tak aapko proper taiyar lagana padega tab jaakar aapko pata lag jaega ki yahan aapki company jo hai vaah jagran ya nahi I jagrit avastha me aapko bahut saare anubhav honge usme us samay par lekin pehle aapko apne chittor man ko ekagra chitt kar karke dhyan lagana padega kabhi aap kundali ke bare me jaankari paa sakenge

आपने पूछा कि कैसे पता करें कि किसी व्यक्ति की कुंडली जागृत है या नहीं बिल्कुल आप पता कर सक

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  85
WhatsApp_icon
user

Avdhut Kanhere

Astrologer

1:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी की व्यक्ति किसी व्यक्ति की कुंडली जागृत है या नहीं यह पता करने के लिए पहले ज्योतिष शास्त्र के हिसाब से उसका निरीक्षण किया जाता है जिसे हम भविष्यवाणी कहते हैं मान लो अगर एक जातक हमसे आपसे पूछना पूछ रहा है कि भाई मेरी शादी कब होगी मेरा मकान कब होगा मेरा पैसा मेरे को पैसा कब मिलेगा मेरी अच्छी जिंदगी कब आएगी तू ज्योतिष शास्त्र के हिसाब से और उसकी कुंडली के हिसाब से जो भी भविष्यवाणी हम बताते हैं वह बताते हैं भविष्य को जो भी भविष्यवाणी हम बताते हैं वह बन वह भविष्यवाणी उस जाति की सबसे छोटी मैच होनी चाहिए मानो उसका अगर रंग बुरा हूं तो वह दिखने में जेल में पत्रिका में अगर वो लड़का देखने में खूबसूरत हो तो वह वाकई में दिखने में खूबसूरत होना चाहिए जन्मपत्रिका में आकर उसका मकान गाड़ी करें बिकाऊ हो तो बाकी उसके पास मकान और गाड़ी को नहीं चाहिए सो में से अगर पांच 200 में से अगर पास अच्छे सवाल उसके बारे में बराबर आनी चाहिए तो हमें पता लगता है कि वह इसकी कुंडली जागरूक हैं यानी यह लड़का लड़की का जो भविष्य है यह सच्चा है अगर मानो हम आपको बता रहे हैं कि आपकी कुंडली में आपके भविष्य में वास्तविक हो गए वहां निरोग हैं और आपको खुद की मकान भी नहीं है आपकी खुद की गाड़ी भी नहीं है तो इसके हिसाब से उस व्यक्ति की कुंडली जागृत है यानी उस व्यक्ति की कुंडली का रीडिंग और उसका रीडिंग चीज नहीं है इसके साथ से ज्योतिष शास्त्र के हिसाब से यह तय किया जा सकता है कि उस व्यक्ति की कुंडली जागृत है या नहीं इस हिसाब से

kisi ki vyakti kisi vyakti ki kundali jagrit hai ya nahi yah pata karne ke liye pehle jyotish shastra ke hisab se uska nirikshan kiya jata hai jise hum bhavishyavani kehte hain maan lo agar ek jatak humse aapse poochna puch raha hai ki bhai meri shaadi kab hogi mera makan kab hoga mera paisa mere ko paisa kab milega meri achi zindagi kab aayegi tu jyotish shastra ke hisab se aur uski kundali ke hisab se jo bhi bhavishyavani hum batatey hain vaah batatey hain bhavishya ko jo bhi bhavishyavani hum batatey hain vaah ban vaah bhavishyavani us jati ki sabse choti match honi chahiye maano uska agar rang bura hoon toh vaah dikhne me jail me patrika me agar vo ladka dekhne me khoobsurat ho toh vaah vaakai me dikhne me khoobsurat hona chahiye janmapatrika me aakar uska makan gaadi kare bikau ho toh baki uske paas makan aur gaadi ko nahi chahiye so me se agar paanch 200 me se agar paas acche sawaal uske bare me barabar aani chahiye toh hamein pata lagta hai ki vaah iski kundali jagruk hain yani yah ladka ladki ka jo bhavishya hai yah saccha hai agar maano hum aapko bata rahe hain ki aapki kundali me aapke bhavishya me vastavik ho gaye wahan nirog hain aur aapko khud ki makan bhi nahi hai aapki khud ki gaadi bhi nahi hai toh iske hisab se us vyakti ki kundali jagrit hai yani us vyakti ki kundali ka reading aur uska reading cheez nahi hai iske saath se jyotish shastra ke hisab se yah tay kiya ja sakta hai ki us vyakti ki kundali jagrit hai ya nahi is hisab se

किसी की व्यक्ति किसी व्यक्ति की कुंडली जागृत है या नहीं यह पता करने के लिए पहले ज्योतिष शा

Romanized Version
Likes  38  Dislikes    views  989
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका सवाल है यह कैसे पता करें किसी व्यक्ति की कुंडली जागृत है या नहीं हमारे ही हमारे जो होती है वह जागृत अवस्था में होती है पर कितना है किसी का कोई चक्र जागृत होता है जैसे कि विकास मूलाधार जब होता है तो किसका जागरूकता उसके ही अनुसार उसके कार्य होते हैं कुंडलिनी जागृत करना एक साधना और सफल मेडिसिन मेडिटेशन से ही होता है ध्यान धारणा सही होता है और अगर पूरी तरह से जिसकी कुंडली जागृत हो जाए वह सारे और चीजों और मतलब जितने भी आसपास के हमारे मुंह हमको पैसा है गाड़ी है सारी चीजों से उनका मोहभंग उनका मन उतर जाए तब उनका कुंडली नहीं पूरी तरह से जागृत हो सकती है जनपद

namaskar aapka sawaal hai yah kaise pata kare kisi vyakti ki kundali jagrit hai ya nahi hamare hi hamare jo hoti hai vaah jagrit avastha me hoti hai par kitna hai kisi ka koi chakra jagrit hota hai jaise ki vikas muladhar jab hota hai toh kiska jagrukta uske hi anusaar uske karya hote hain kundalini jagrit karna ek sadhna aur safal medicine meditation se hi hota hai dhyan dharana sahi hota hai aur agar puri tarah se jiski kundali jagrit ho jaaye vaah saare aur chijon aur matlab jitne bhi aaspass ke hamare mooh hamko paisa hai gaadi hai saari chijon se unka mohabhang unka man utar jaaye tab unka kundali nahi puri tarah se jagrit ho sakti hai janpad

नमस्कार आपका सवाल है यह कैसे पता करें किसी व्यक्ति की कुंडली जागृत है या नहीं हमारे ही हमा

Romanized Version
Likes  2  Dislikes    views  69
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

किसी व्यक्ति की कोई कुंडली जागृत नहीं होती है कुंडली जागृत होती है और कुंडली जागृत के लिए बहुत साधना करना पड़ता है अभी महापुरुष शुभ सदस्य शक्तिपात करवाना पड़ता है इसके अलावा कोई दूसरा रास्ता नहीं सालों साल लग जाते हैं कुलडल्ली जाने के लिए और कुंडली कभी किसी की जाति

kisi vyakti ki koi kundali jagrit nahi hoti hai kundali jagrit hoti hai aur kundali jagrit ke liye bahut sadhna karna padta hai abhi mahapurush shubha sadasya shaktipat karwana padta hai iske alava koi doosra rasta nahi salon saal lag jaate hain kuladalli jaane ke liye aur kundali kabhi kisi ki jati

किसी व्यक्ति की कोई कुंडली जागृत नहीं होती है कुंडली जागृत होती है और कुंडली जागृत के लिए

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  109
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!