क्या बैंक में लोन-रेट्स कम करने के लिए सरकार कुछ कर सकती है?...


user

vivek sharma

BANK PO| Astrologer | Mutual Fund Advisor। Career Counselor

0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जैसा कि आपको पता होगा कि ऑलरेडी आरबीआई अपना करना कि लोग डॉन के बाद में आरबीआई रेट कम कर चुकी है और बहुत ही ज्यादा कम कर चुकी है एक परसेंट तक लोन में अगर मान लीजिए आप का लोन है आठ परसेंट पर 8:30 पर्सेंट चल रहा है तो 7:30 परसेंट हो गया है जैसे हाउसिंग लोन है और लगभग 6 परसेंट तक हाउसिंग लोन पहुंच गया है कार लोन लगभग 7:30 परसेंट तक पहुंच गया है तो ऑलरेडी सरकार ने जो कदम उठाए सरकार को कुछ करने की जरूरत नहीं पड़ी उसने क्योंकि आरबीआई ने जैसे ही अपने दाम घटाए अपने रेट कम किए तो सारे बैंकों को ऑटोमेटिकली हो रेट कम करने पड़े और आपकी जो लोन किधर है आपको कमिंग मंथ में दिखेगा वह अपने आप कम हो चुकी है

jaisa ki aapko pata hoga ki already RBI apna karna ki log don ke baad me RBI rate kam kar chuki hai aur bahut hi zyada kam kar chuki hai ek percent tak loan me agar maan lijiye aap ka loan hai aath percent par 8 30 percent chal raha hai toh 7 30 percent ho gaya hai jaise housing loan hai aur lagbhag 6 percent tak housing loan pohch gaya hai car loan lagbhag 7 30 percent tak pohch gaya hai toh already sarkar ne jo kadam uthye sarkar ko kuch karne ki zarurat nahi padi usne kyonki RBI ne jaise hi apne daam ghataye apne rate kam kiye toh saare bankon ko atometikli ho rate kam karne pade aur aapki jo loan kidhar hai aapko coming month me dikhega vaah apne aap kam ho chuki hai

जैसा कि आपको पता होगा कि ऑलरेडी आरबीआई अपना करना कि लोग डॉन के बाद में आरबीआई रेट कम कर चु

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  121
WhatsApp_icon
3 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

N. Lal

Banking & Finance, Business Idea https://www.nutanprabhat.com

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आज ही रिजर्व बैंक ने बैंक लोन में इंटरेस्ट रेट को कम करने के लिए रेपो रेट को कम कर दिया पहले रेपो रेट 448% आज रेपो रेट कट के चार पर्सेंट पर आ गई मतलब 40 पैसे कम कर दी उसकी वजह से आपका लोन का इंटरेस्ट रेट भी कम हो जाएगा

aaj hi reserve bank ne bank loan me interest rate ko kam karne ke liye repo rate ko kam kar diya pehle repo rate 448 aaj repo rate cut ke char percent par aa gayi matlab 40 paise kam kar di uski wajah se aapka loan ka interest rate bhi kam ho jaega

आज ही रिजर्व बैंक ने बैंक लोन में इंटरेस्ट रेट को कम करने के लिए रेपो रेट को कम कर दिया पह

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  206
WhatsApp_icon
play
user

Chandraprakash Joshi

Ex-AGM RBI & CEO@ixamBee.com

0:57

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पहले तो मैं यह बोलना चाहूंगा कि यह जरुरी नहीं है कि अगर लोन पर इंटरेस्ट रेट कम हो जाए तो उससे 19 मी को फायदा ही होगा बहुत सारी कंट्री जैसी है जहां पर इंटरेस्ट रेट बहुत कम है 1% 2:00 प्रतिशत के आसपास और जो डिपाजिट है उस पर तो निगेटिव इंटरनेट में चले गई हो यानि कि बैंक में पैसा रखने के लिए आपको पैसा देना पड़ता है वह घंटे डिस्ट्रिक्ट कर रही है लोन इंटरेस्ट रेट से इंटरेस्ट रेट कम करने के लिए सरकार चाहे तो सीआरआर एसएलआर रिक्वायरमेंट कम कर सकती है जिससे की मार्केट में और अधिक पैसा आ जाएगा लेकिन मार्केट में और अधिक पैसा आ जाएगा और इंटरेस्ट रेट कम हो जाएंगे तो उससे इन्फेक्शन नहीं बढ़ेगा इस बात की कोई गारंटी नहीं है ज्यादा इंटरेस्ट रेट कम होने से इन्फेक्शन बढ़ सकता है और उससे हमारी इकॉनॉमी को नुकसान भी हो सकता है इसलिए इंटरेस्ट रेट को एक सही जगह पर निर्धारित करना जरूरी है

pehle toh main yah bolna chahunga ki yah zaroori nahi hai ki agar loan par interest rate kam ho jaaye toh usse 19 me ko fayda hi hoga bahut saree country jaisi hai jaha par interest rate bahut kam hai 1 2 00 pratishat ke aaspass aur jo deposit hai us par toh negative internet mein chale gayi ho yani ki bank mein paisa rakhne ke liye aapko paisa dena padta hai vaah ghante district kar rahi hai loan interest rate se interest rate kam karne ke liye sarkar chahen toh CRR SLR requirement kam kar sakti hai jisse ki market mein aur adhik paisa aa jaega lekin market mein aur adhik paisa aa jaega aur interest rate kam ho jaenge toh usse infection nahi badhega is baat ki koi guarantee nahi hai zyada interest rate kam hone se infection badh sakta hai aur usse hamari ikanami ko nuksan bhi ho sakta hai isliye interest rate ko ek sahi jagah par nirdharit karna zaroori hai

पहले तो मैं यह बोलना चाहूंगा कि यह जरुरी नहीं है कि अगर लोन पर इंटरेस्ट रेट कम हो जाए तो उ

Romanized Version
Likes  27  Dislikes    views  304
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!