अपने लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित कैसे रखूँ जब हमारे जीवन में हमारा ध्यान बटाने वाली हज़ारों चीज़ें होती रहती हैं?...


user

Ankur Nautiyal

Career & Relationship Counsellor, Motivator

3:32
Play

Likes  9  Dislikes    views  172
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Bk Arun Kaushik

Youth Counselor Motivational Speaker

4:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

एकाग्रता की शक्ति को पाने के लिए जरा इन बातों की तरफ ध्यान देना एक आंकड़ा की शक्ति विश्व की सबसे बड़ी शक्ति द्वारा उत्पन्न की गई शक्ति होती है इसको प्राप्त करने के लिए कुछ विशेष नहीं करना पड़ता केवल अपने आप पर नियंत्रण रखना होता है उसके लिए प्रतिदिन उसको ध्यान देना पड़ता है सबसे पहले तो उसे अपना लक्ष्य निर्धारण करना होगा उसके पश्चात उस लक्ष्य को पाने के लिए उसे शक्तिशाली एवं सकारात्मक विचारों को चलाना होगा तो उसी मध्य में नकारात्मक विचार कमजोर विचार दिमाग में चलने लगेंगे उन पर विजय प्राप्त करना होगा उनको मन से बाहर निकालना होगा केवल लक्ष्य को पाने के लिए ही चिंतन करना होगा खुशी का खुली आंखों से सपना देखना होगा उसी विषय पर चर्चा करनी होगी अर्थात अपना पूरा ध्यान व्यर्थ की बातों से निकालकर कमजोरी और असफलता के विचारों को मन में प्रवेश नहीं करने देना दूसरा मेडिटेशन द्वारा दी आप एक बार एकाग्रता की शक्ति को बढ़ा सकते हैं लक्ष्य के बारे में कमजोर एवं असफलता के विचार चलाना अपने लक्ष्य से दूर होना है इससे लक्ष्मी कैसे एकाग्रता की शक्ति से प्रतियोगिता जीती जा सकती है आपको एक कहानी सुनाते हैं एक बार एक राजा ने अपने राज्य के लिए एक सेनापति का चुनाव करना था उसने अपनी राज्य के सभी धुरंधर धनुष धारियों को प्रतियोगिता के लिए बुलाया और उनको बताया गया कि आपको एक प्रतियोगिता के अंदर भाग लेना रूबी धनुषधारी उसको जीतेगा वह राज्य का प्रमुख सेनापति घोषित किया जाएगा तो राजा ने उनको पूरी कंडीशन बताएं कि आपको एक ग्राउंड के अंदर खड़ा किया जाएगा उस ग्राउंड के अंदर बहुत से सैनिक गुट सवार होकर एक दूसरे पर तीर चलाते हुए उस ग्राउंड के अंदर भाग रहे होंगे उनके मध्य में आपको खड़े होना है तो एक काले रंग की गेंद आकाश में उड़ाई जाएगी उस गेंद को गिरने से पहले ही आपने उस पर निशाना लगाना है सभी ने चुनौती स्वीकार कर ली और सबको मैदान में अपने अपने स्थान पर खड़ा कर दिया गया उनके चारों तरफ घुड़सवार अपने तीर कमान लेकर एक दूसरे पर चलाते हुए मांग रहे थे तभी मध्य में एक घंटा बजा और एक व्यक्ति ने काले रंग की गेंद आकाश में फेंकी और मैगजीन नीचे जल्दी से गिर रही थी सभी धनुष धारियों ने उस दिन पर निशाना लगाया हुआ क्या दोस्तों के नीचे गिरी तो केवल एक ही चीज उस में लगा हुआ था तो आप क्या समझते हैं कि ऐसा क्यों हुआ कैसे हुआ जबकि सभी धनुषधारी हो ने उस पर निशाना लगाया था अंत में परिणाम घोषित किया गया उसमें से एक गाड़ी को निशाना लगाया था उसको मुख्य सेनापति घोषित किया गया बाकी से उनका अनुभव पूछा गया तो कुछ नहीं बताया कि कुछ जिम्मेदारी अपने आप को बचाने के कारण उनका ध्यान विचलित हुआ कुछ सैनिकों के तीरों से अपने आप को बचाने के प्रयास में लगे थे उसके कारण उनका ध्यान विचलित हुआ उसका दिमाग गुरुद्वारों की तक चला गया केवल एक ही सैनी कैसा था जिसने किसी ध्यान नहीं दिया केवल नीचे से हवा में उड़ाई गई गेंद पर पूर्ण रूप से उसकी आंखें और नीचे गिरते ही उस निशाना लगा दिया तो साथियों यह एकता की शक्ति तो है इसीलिए हमें इस बात पर ध्यान देना होगा कि जो भी हम लक्ष्य रखे हैं हमें पूरा ध्यान उसी तरह देना होगा अन्यथा अपने लक्ष्य को कभी भी प्राप्त नहीं कर सकेंगे इसके लिए हमें छोटे-छोटे कार्यो से प्रयास शुरु करना होगा ताकि हम अपने जीवन में प्राप्त होने वाले लक्ष्य पूर्ण रूप से केंद्रित हो सके तो इस प्रकार हम अपनी एकाग्रता की शक्ति को बढ़ाकर व्यर्थ की बातों से मन को हटा कर एक लक्ष्य पर ध्यान देकर अपने लक्ष्य को प्राप्त कर सकते हैं इन्हीं शुभकामनाओं के साथ धन्यवाद

ekagrata ki shakti ko paane ke liye zara in baaton ki taraf dhyan dena ek akanda ki shakti vishwa ki sabse badi shakti dwara utpann ki gayi shakti hoti hai isko prapt karne ke liye kuch vishesh nahi karna padta keval apne aap par niyantran rakhna hota hai uske liye pratidin usko dhyan dena padta hai sabse pehle toh use apna lakshya nirdharan karna hoga uske pashchat us lakshya ko paane ke liye use shaktishali evam sakaratmak vicharon ko chalana hoga toh usi madhya me nakaratmak vichar kamjor vichar dimag me chalne lagenge un par vijay prapt karna hoga unko man se bahar nikalna hoga keval lakshya ko paane ke liye hi chintan karna hoga khushi ka khuli aakhon se sapna dekhna hoga usi vishay par charcha karni hogi arthat apna pura dhyan vyarth ki baaton se nikalakar kamzori aur asafaltaa ke vicharon ko man me pravesh nahi karne dena doosra meditation dwara di aap ek baar ekagrata ki shakti ko badha sakte hain lakshya ke bare me kamjor evam asafaltaa ke vichar chalana apne lakshya se dur hona hai isse laxmi kaise ekagrata ki shakti se pratiyogita jeeti ja sakti hai aapko ek kahani sunaate hain ek baar ek raja ne apne rajya ke liye ek senapati ka chunav karna tha usne apni rajya ke sabhi dhurandhar dhanush dhariyon ko pratiyogita ke liye bulaya aur unko bataya gaya ki aapko ek pratiyogita ke andar bhag lena ruby dhanushdhari usko jitega vaah rajya ka pramukh senapati ghoshit kiya jaega toh raja ne unko puri condition bataye ki aapko ek ground ke andar khada kiya jaega us ground ke andar bahut se sainik gut savar hokar ek dusre par teer chalte hue us ground ke andar bhag rahe honge unke madhya me aapko khade hona hai toh ek kaale rang ki gend akash me udai jayegi us gend ko girne se pehle hi aapne us par nishana lagana hai sabhi ne chunauti sweekar kar li aur sabko maidan me apne apne sthan par khada kar diya gaya unke charo taraf ghudsavaar apne teer kamaan lekar ek dusre par chalte hue maang rahe the tabhi madhya me ek ghanta baja aur ek vyakti ne kaale rang ki gend akash me fenki aur magazine niche jaldi se gir rahi thi sabhi dhanush dhariyon ne us din par nishana lagaya hua kya doston ke niche giri toh keval ek hi cheez us me laga hua tha toh aap kya samajhte hain ki aisa kyon hua kaise hua jabki sabhi dhanushdhari ho ne us par nishana lagaya tha ant me parinam ghoshit kiya gaya usme se ek gaadi ko nishana lagaya tha usko mukhya senapati ghoshit kiya gaya baki se unka anubhav poocha gaya toh kuch nahi bataya ki kuch jimmedari apne aap ko bachane ke karan unka dhyan vichalit hua kuch sainikon ke tiron se apne aap ko bachane ke prayas me lage the uske karan unka dhyan vichalit hua uska dimag gurudwaron ki tak chala gaya keval ek hi saini kaisa tha jisne kisi dhyan nahi diya keval niche se hawa me udai gayi gend par purn roop se uski aankhen aur niche girte hi us nishana laga diya toh sathiyo yah ekta ki shakti toh hai isliye hamein is baat par dhyan dena hoga ki jo bhi hum lakshya rakhe hain hamein pura dhyan usi tarah dena hoga anyatha apne lakshya ko kabhi bhi prapt nahi kar sakenge iske liye hamein chote chote karyon se prayas shuru karna hoga taki hum apne jeevan me prapt hone waale lakshya purn roop se kendrit ho sake toh is prakar hum apni ekagrata ki shakti ko badhakar vyarth ki baaton se man ko hata kar ek lakshya par dhyan dekar apne lakshya ko prapt kar sakte hain inhin shubhkamnaon ke saath dhanyavad

एकाग्रता की शक्ति को पाने के लिए जरा इन बातों की तरफ ध्यान देना एक आंकड़ा की शक्ति विश्व क

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  82
WhatsApp_icon
user

bhaand's Theatre and Acting Classes

Acting And drama Coach Casting director Drama Director

5:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए यह आपके साथ नहीं कहीं लोगों के साथ होता है यह वाक्य कि अपने लक्ष्य पर कैसे ध्यान दिया जाए कि जीवन में इतनी सारी प्रॉब्लम से इतने परिस्थितियां कठिन होती है यह होता है वह होता है देखिए आपने अगर लक्ष्य बना रखा है तू आपको सिर्फ लक्ष्य पर ध्यान देना होगा इसके लिए मैं छोटा सा उदाहरण देता हूं कि एक व्यक्ति था जिसने अपना लक्ष्य बना रखा था और कुछ सामने देख कर चल रहा था अब एक तरफ उसके सारे विरोधी थे जूम उसको हमेशा बॉक्स आते रहते थे और एक तरफ उसके पूरे परिवार वाले थे उसकी यार दोस्त से अब जो लेफ्ट राइट में थे वह सारे उसके विरोधी थे वह हमेशा उसको बोलते थे कि आदत उससे नहीं होगा तू नहीं कर पाएगा वह व्यक्ति हमेशा यही जवाब देता था कि ठीक है नहीं होगा जो भी होगा मैं कोशिश कर लूं उसके बाद आप लोगों से आकर मिलूंगा इस साइड उसके मां-बाप भाई-बहन दोस्त यार बोलते थे कि अरे थोड़ा हमें भी समय दे दो हमारे पास भी बैठ जाओ और कुछ बातें कर लो या तो अभी 1:00 तक प्यार और वह चीजें भी रूकती है और एक तरफ आपकी विरोधी भी रोकते हैं तो अब वह व्यक्ति इधर वाले लोगों को भी यह समझाने लगा कि हां ठीक है अभी थोड़ा सा गया हूं थोड़ा सा और जाने दो थोड़ा वक्त दो मुझे उसके बाद में आप लोगों के साथ में बैठकर गप्पे सब पर जो भी करना मैं कर लूंगा लेकिन थोड़ा सा मुझे वक्त दो और वह दोनों चीजों को बैलेंस करते हुए आगे बढ़ जाता है तो आपको भी बैलेंस करना पड़ेगा सारी चीजें बैलेंस कीजिए और आगे बढ़ते जाइए यही एक आपने जो टारगेट है जो आपने ध्यान का मतलब एक केंद्र बिंदु बनाया उस पर आप ध्यान रखिए आप को प्रगति की ओर बढ़ी लेकिन आपके जीवन के हर एक व्यक्ति जो आपके अपने हैं अभी वह भी रोकते हैं जो आपके विरोधी वह भी रोकते हैं तो यह आपन कुवत होना चाहिए यह आपने काला होना चाहिए कि दोनों को समझा दे और आगे बढ़े देखिए यह आपके साथ नहीं कहीं लोगों के साथ होता है यह वाक्य कि अपने लक्ष्य पर कैसे ध्यान दिया जाए जीवन में इतनी सारी प्रॉब्लम से इतने परिस्थितियां कठिन होती है यह होता है वह होता है देखिए आपने अगर लक्ष्य बना रखा है तू आपको सिर्फ लक्ष्य पर ध्यान देना होगा इसके लिए मैं छोटा सा उदाहरण देता हूं कि एक व्यक्ति था जिसने अपना लक्ष्य बना रखा था और कुछ सामने देख कर चल रहा था अब एक तरफ उसके सारे विरोधी थे जूम उसको हमेशा एक साथ रहते थे और एक तरफ उसके पूरे परिवार वाले थे उसकी यार दोस्त से अब जो लेफ्ट राइट में थे वह सारे उसके विरोधी थे वह हमेशा उसको बोलते थे कि आदत उससे नहीं होगा तू नहीं कर पाएगा वह व्यक्ति हमेशा यही जवाब देता था कि ठीक है नहीं होगा जो भी होगा मैं कोशिश कर लूं उसके बाद आप लोगों से आकर मिलूंगा इस साइड उसके मां-बाप भाई-बहन दोस्त यार बोलते थे कि अरे थोड़ा हमें भी समय दे दो हमारे पास भी बैठ जाओ और कुछ बातें कर लो या तो अभी एक पैक प्यार और वह चीजें भी रूकती है और एक तरफ आपके विरोधी भी रोकते हैं तो अब वह व्यक्ति इधर वाले लोगों को भी समझाने लगा कि हां ठीक है अभी थोड़ा सा गया हूं थोड़ा सा और जाने दो थोड़ा वक्त तो मुझे उसके बाद में आप लोगों के साथ में बैठकर गप्पे सब पर जो भी करना मैं कर लूंगा लेकिन थोड़ा सा मुझे वक्त दो और वह दोनों चीजों को बैलेंस करते हुए आगे बढ़ जाता है तो आपको भी बैलेंस करना पड़ेगा सारी चीजें बैलेंस कीजिए और आगे बढ़ते जाइए यही एक आपने जो टारगेट है जो आपने ध्यान का मतलब एक केंद्र बिंदु बनाया उस पर आप ध्यान रखिए आप को प्रगति की ओर बढ़ी लेकिन आपके जीवन के हर एक व्यक्ति जो आपके अपने हैं अभी वह भी रोकते हैं जो आपके विरोधी वह भी रोकते हैं तो यह आपन कूवत होना चाहिए यह आपने काला होना चाहिए कि दोनों को समझा दे और आगे बढ़े

dekhiye yah aapke saath nahi kahin logo ke saath hota hai yah vakya ki apne lakshya par kaise dhyan diya jaaye ki jeevan me itni saari problem se itne paristhiyaann kathin hoti hai yah hota hai vaah hota hai dekhiye aapne agar lakshya bana rakha hai tu aapko sirf lakshya par dhyan dena hoga iske liye main chota sa udaharan deta hoon ki ek vyakti tha jisne apna lakshya bana rakha tha aur kuch saamne dekh kar chal raha tha ab ek taraf uske saare virodhi the zoom usko hamesha box aate rehte the aur ek taraf uske poore parivar waale the uski yaar dost se ab jo left right me the vaah saare uske virodhi the vaah hamesha usko bolte the ki aadat usse nahi hoga tu nahi kar payega vaah vyakti hamesha yahi jawab deta tha ki theek hai nahi hoga jo bhi hoga main koshish kar loon uske baad aap logo se aakar milunga is side uske maa baap bhai behen dost yaar bolte the ki are thoda hamein bhi samay de do hamare paas bhi baith jao aur kuch batein kar lo ya toh abhi 1 00 tak pyar aur vaah cheezen bhi rukti hai aur ek taraf aapki virodhi bhi rokte hain toh ab vaah vyakti idhar waale logo ko bhi yah samjhane laga ki haan theek hai abhi thoda sa gaya hoon thoda sa aur jaane do thoda waqt do mujhe uske baad me aap logo ke saath me baithkar gappe sab par jo bhi karna main kar lunga lekin thoda sa mujhe waqt do aur vaah dono chijon ko balance karte hue aage badh jata hai toh aapko bhi balance karna padega saari cheezen balance kijiye aur aage badhte jaiye yahi ek aapne jo target hai jo aapne dhyan ka matlab ek kendra bindu banaya us par aap dhyan rakhiye aap ko pragati ki aur badhi lekin aapke jeevan ke har ek vyakti jo aapke apne hain abhi vaah bhi rokte hain jo aapke virodhi vaah bhi rokte hain toh yah apan kuvat hona chahiye yah aapne kaala hona chahiye ki dono ko samjha de aur aage badhe dekhiye yah aapke saath nahi kahin logo ke saath hota hai yah vakya ki apne lakshya par kaise dhyan diya jaaye jeevan me itni saari problem se itne paristhiyaann kathin hoti hai yah hota hai vaah hota hai dekhiye aapne agar lakshya bana rakha hai tu aapko sirf lakshya par dhyan dena hoga iske liye main chota sa udaharan deta hoon ki ek vyakti tha jisne apna lakshya bana rakha tha aur kuch saamne dekh kar chal raha tha ab ek taraf uske saare virodhi the zoom usko hamesha ek saath rehte the aur ek taraf uske poore parivar waale the uski yaar dost se ab jo left right me the vaah saare uske virodhi the vaah hamesha usko bolte the ki aadat usse nahi hoga tu nahi kar payega vaah vyakti hamesha yahi jawab deta tha ki theek hai nahi hoga jo bhi hoga main koshish kar loon uske baad aap logo se aakar milunga is side uske maa baap bhai behen dost yaar bolte the ki are thoda hamein bhi samay de do hamare paas bhi baith jao aur kuch batein kar lo ya toh abhi ek pack pyar aur vaah cheezen bhi rukti hai aur ek taraf aapke virodhi bhi rokte hain toh ab vaah vyakti idhar waale logo ko bhi samjhane laga ki haan theek hai abhi thoda sa gaya hoon thoda sa aur jaane do thoda waqt toh mujhe uske baad me aap logo ke saath me baithkar gappe sab par jo bhi karna main kar lunga lekin thoda sa mujhe waqt do aur vaah dono chijon ko balance karte hue aage badh jata hai toh aapko bhi balance karna padega saari cheezen balance kijiye aur aage badhte jaiye yahi ek aapne jo target hai jo aapne dhyan ka matlab ek kendra bindu banaya us par aap dhyan rakhiye aap ko pragati ki aur badhi lekin aapke jeevan ke har ek vyakti jo aapke apne hain abhi vaah bhi rokte hain jo aapke virodhi vaah bhi rokte hain toh yah apan kuvat hona chahiye yah aapne kaala hona chahiye ki dono ko samjha de aur aage badhe

देखिए यह आपके साथ नहीं कहीं लोगों के साथ होता है यह वाक्य कि अपने लक्ष्य पर कैसे ध्यान दिय

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  96
WhatsApp_icon
user

Naresh Kumar Chaudhary

Mix Martial Art Trainer

0:36
Play

Likes  58  Dislikes    views  1341
WhatsApp_icon
user
5:44
Play

Likes  8  Dislikes    views  110
WhatsApp_icon
user

sulekhayoga03

Yoga Teacher & health beauty expert

1:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपने लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित का निर्गुण जब हमारी जीवन में हमारा ध्यान पटने वाली है जरूरी होती है होती रहती है देखिए जब किसी चीज के लिए कोई इंसान पागल रहता है ना किसी चीज के लिए कि मुझे वह चीज चाहिए तो चाहिए तो उसको उसमें ध्यान लगाने की जरूरत नहीं होती है वह और ऑटोमेटिक ही उसकी दिमाग में 24 घंटे वह चीज रहती है क्योंकि उससे वह चीज पागल कर देती पाने के लिए तो अगर आपको कोई चीज चाहिए तो उसके लिए पागल हो जाओ उसके लिए तुम्हें हर टाइम एक्टिव रहना चाहिए उस चीज को पाने के लिए उस चीज को करने के लिए उसी के पीछे मेहनत करने के लिए उस चीज को पाने के लिए जो चीज जरूरी है वह चीज करने के लिए कोई भी किसी चीज पर आपको पहुंचना है तो उसके लिए एक पागलपन होना बहुत जरूरी है एक जुनून होना बहुत जरूरी है तभी वह चीज आप आ सकते हैं अगर कोई चीज आपको भटका रही आपके ध्यान इसका मतलब है कि आप उस चीज के लिए इतना पागलपन आपके अंदर नहीं है उस चीज के लिए इतना जुनून आपके अंदर नहीं है कहीं ना कहीं का उस चीज के पास चीज को पाने के लिए जुनून रखिए डेफिनेट कि आपका ध्यान वही जाएगा थैंक यू

apne lakshya par dhyan kendrit ka nirgun jab hamari jeevan me hamara dhyan patane wali hai zaroori hoti hai hoti rehti hai dekhiye jab kisi cheez ke liye koi insaan Pagal rehta hai na kisi cheez ke liye ki mujhe vaah cheez chahiye toh chahiye toh usko usme dhyan lagane ki zarurat nahi hoti hai vaah aur Automatic hi uski dimag me 24 ghante vaah cheez rehti hai kyonki usse vaah cheez Pagal kar deti paane ke liye toh agar aapko koi cheez chahiye toh uske liye Pagal ho jao uske liye tumhe har time active rehna chahiye us cheez ko paane ke liye us cheez ko karne ke liye usi ke peeche mehnat karne ke liye us cheez ko paane ke liye jo cheez zaroori hai vaah cheez karne ke liye koi bhi kisi cheez par aapko pahunchana hai toh uske liye ek pagalpan hona bahut zaroori hai ek junun hona bahut zaroori hai tabhi vaah cheez aap aa sakte hain agar koi cheez aapko bhataka rahi aapke dhyan iska matlab hai ki aap us cheez ke liye itna pagalpan aapke andar nahi hai us cheez ke liye itna junun aapke andar nahi hai kahin na kahin ka us cheez ke paas cheez ko paane ke liye junun rakhiye definet ki aapka dhyan wahi jaega thank you

अपने लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित का निर्गुण जब हमारी जीवन में हमारा ध्यान पटने वाली है जरूरी

Romanized Version
Likes  216  Dislikes    views  2721
WhatsApp_icon
user

Suresh Kumar

Motivational Speaker, Trainer, Counsellor, Handwriting Analyst

2:59
Play

Likes  121  Dislikes    views  1038
WhatsApp_icon
user

Gopal Srivastava

Acupressure Acupuncture Sujok Therapist

0:32
Play

Likes  149  Dislikes    views  4983
WhatsApp_icon
user

ज्योतिषी झा मेरठ (Pt. K L Shashtri)

Astrologer Jhaमेरठ,झंझारपुर और मुम्बई

0:44
Play

Likes  65  Dislikes    views  1472
WhatsApp_icon
user

Kanhaiya Bhardwaj

Yoga Expert, M D Panchgavya, Spiritual ,National & Motivational Speaker

0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखी ध्यान को केंद्रित करने के लिए आपको योग का सहारा लेना चाहिए अगर योग का सहारा लेते हैं तो आपको जो समस्या आती हैं आप बार-बार जो भी आप काम करने आपका ध्यान भटक जा रहा है तो यह समस्या हंड्रेड परसेंट एक महीना अगर अच्छी तरह से आप करते हैं कोई जड़ से समाप्त हो जाएगी आप योग करना प्रारंभ कर दीजिए किसी योगा सेंटर में जो अनुभवी हो जिसके पास अच्छी जानकारी हो कि उसके पास ना करके ध्यान का अभ्यास कीजिए तो आपको यह समस्या मतलब 1 महीने के अंदर ही समाप्त हो जाएगी

dekhi dhyan ko kendrit karne ke liye aapko yog ka sahara lena chahiye agar yog ka sahara lete hain toh aapko jo samasya aati hain aap baar baar jo bhi aap kaam karne aapka dhyan bhatak ja raha hai toh yah samasya hundred percent ek mahina agar achi tarah se aap karte hain koi jad se samapt ho jayegi aap yog karna prarambh kar dijiye kisi yoga center me jo anubhavi ho jiske paas achi jaankari ho ki uske paas na karke dhyan ka abhyas kijiye toh aapko yah samasya matlab 1 mahine ke andar hi samapt ho jayegi

देखी ध्यान को केंद्रित करने के लिए आपको योग का सहारा लेना चाहिए अगर योग का सहारा लेते हैं

Romanized Version
Likes  57  Dislikes    views  1134
WhatsApp_icon
user

Anand Kumar Tiwari

Yoga Instructor

4:13
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ओम नमस्कार प्रश्न है अपने लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित कैसे करूं जब हमारे जीवन में हमारा ध्यान बताने वाली हजारों चीजें होती होती यह केवल आप ही के लिए नहीं है सबके जीवन में हजारों चीजें होती रहती है चीजों का होना एक सतत प्रक्रिया है और जब आप ऐसा कहते हैं कि अपने लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित कैसे करें इसका मतलब आपने अपना लक्ष्य निर्धारित करती हो जब आपने अपना लक्ष्य निर्धारित कर लिया तो आपकी जिम्मेदारी हो जाती है उस लक्ष्य की साधना करें उस लक्ष्य की प्राप्ति करें उस लक्ष्य की ओर निरंतर बढ़ते रहें लक्ष्य की ओर बढ़ते रहना ही जीवन है पुरुषार्थ हैं पर ही आपकी विजय और यही आपका जीवन है यदि आपने अपने जीवन में लक्ष्य निर्धारित कर लिया और उस लक्ष्य की प्राप्ति के लिए आप दृढ़ हैं तो हजारों बाधाएं जो आपको बाधाएं लग रही है वह आपके लिए चुनौतियां हो जाएंगे उन चुनौतियों से पार पाना उन चुनौतियों का सामना करना आपके जीवन का दे हो जाएगा कोई भी मुकाम कोई भी पड़ाव आपके इस यात्रा को रोक नहीं सकता निरंतर उस लक्ष्य की ओर ध्यान निरंतर उस लक्ष्य की प्राप्ति उस लक्ष्य के संधान के विषय में आप की सोच आप का चिंतन यही आपको उन सारी बाधाओं से उन सारी दिक्कतों से ऊपर उठाएगा जो आप अपने जीवन में अपने समक्ष पा रहे हैं निरंतरता चरैवेति चरैवेति लगातार चलते रहना अपने लक्ष्य की ओर संभव है कभी आप की गति धीमी पड़ जाए संभव है कभी समस्याओं का पहाड़ आपको बहुत विकराल दिखाई दे लेकिन इसके बावजूद आपको देना होगा आपकी डरता ही आपको आपके लक्ष्य तक पहुंचाएगी निरंतर उस लक्ष्य का ध्यान और उसकी प्राप्ति के लिए डिनर आने की आपकी भावना शरीर से मंत्र निरंतर दृढ़ता उस लक्ष्य की साधना आपकी संकल्प शक्ति यह सारी चीजें जो भी मार्ग में बाधाएं हैं उन माथा उन बाधाओं को दूर कर देंगे और फिर आपने अपने लक्ष्य की ओर अग्रसर हो जाएंगे आपको अपना लक्ष्य प्राप्त हो अपने लक्ष्य की प्राप्ति के लिए आप अपनी समस्त ऊर्जा समस्त शक्ति का उपयोग करते हुए भरते रहेंगे अंतर यही मेरी कामना है धन्यवाद आपका दिन शुभ हो

om namaskar prashna hai apne lakshya par dhyan kendrit kaise karu jab hamare jeevan me hamara dhyan batane wali hazaro cheezen hoti hoti yah keval aap hi ke liye nahi hai sabke jeevan me hazaro cheezen hoti rehti hai chijon ka hona ek satat prakriya hai aur jab aap aisa kehte hain ki apne lakshya par dhyan kendrit kaise kare iska matlab aapne apna lakshya nirdharit karti ho jab aapne apna lakshya nirdharit kar liya toh aapki jimmedari ho jaati hai us lakshya ki sadhna kare us lakshya ki prapti kare us lakshya ki aur nirantar badhte rahein lakshya ki aur badhte rehna hi jeevan hai purusharth hain par hi aapki vijay aur yahi aapka jeevan hai yadi aapne apne jeevan me lakshya nirdharit kar liya aur us lakshya ki prapti ke liye aap dridh hain toh hazaro baadhayain jo aapko baadhayain lag rahi hai vaah aapke liye chunautiyaan ho jaenge un chunautiyon se par paana un chunautiyon ka samana karna aapke jeevan ka de ho jaega koi bhi mukam koi bhi padav aapke is yatra ko rok nahi sakta nirantar us lakshya ki aur dhyan nirantar us lakshya ki prapti us lakshya ke sandhaan ke vishay me aap ki soch aap ka chintan yahi aapko un saari badhaon se un saari dikkaton se upar uthayega jo aap apne jeevan me apne samaksh paa rahe hain nirantarata charaiveti charaiveti lagatar chalte rehna apne lakshya ki aur sambhav hai kabhi aap ki gati dheemi pad jaaye sambhav hai kabhi samasyaon ka pahad aapko bahut vikrale dikhai de lekin iske bawajud aapko dena hoga aapki darta hi aapko aapke lakshya tak pahunchayegi nirantar us lakshya ka dhyan aur uski prapti ke liye dinner aane ki aapki bhavna sharir se mantra nirantar dridhta us lakshya ki sadhna aapki sankalp shakti yah saari cheezen jo bhi marg me baadhayain hain un matha un badhaon ko dur kar denge aur phir aapne apne lakshya ki aur agrasar ho jaenge aapko apna lakshya prapt ho apne lakshya ki prapti ke liye aap apni samast urja samast shakti ka upyog karte hue bharte rahenge antar yahi meri kamna hai dhanyavad aapka din shubha ho

ओम नमस्कार प्रश्न है अपने लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित कैसे करूं जब हमारे जीवन में हमारा ध्यान

Romanized Version
Likes  46  Dislikes    views  412
WhatsApp_icon
user

Anshu Saxena

Business Manager

1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपने लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित कैसे रखो देखिए यहां पर मुझे आपके सवाल में कमी दिखाई दे रही यह लक शायद आपने खुद ने नहीं चुना क्योंकि अगर लक्ष्य आपका खुद का होता तो आपके जीवन में ध्यान बंटाने की चाय हजारों चीजें आपके आसपास होती हैं आपका लक्ष्य से ध्यान कभी नहीं आता कि कहीं यह लक्ष आपने किसी और के कहने पर तो नहीं बनाया आपको बताना चाहूंगा कई बार मां-बाप यह कहते हैं कि तुम्हें डॉक्टर बनना है आपकी इच्छा ही नहीं है डॉक्टर बनने की लक्ष्य तय हो गया कि मां-बाप ने कह दिया ध्यान आपका उसमें कैसे जाएगा तो एक बार फिर टटोली है कि आपका लक्ष्य सही भी है कि नहीं अगर लक्ष सही है और फिर आपका ध्यान इधर उधर भटक रहा है तो लक्ष्य बनाना छोड़ दीजिए ताकि जिंदगी भटके नहीं

apne lakshya par dhyan kendrit kaise rakho dekhiye yahan par mujhe aapke sawaal me kami dikhai de rahi yah luck shayad aapne khud ne nahi chuna kyonki agar lakshya aapka khud ka hota toh aapke jeevan me dhyan bantane ki chai hazaro cheezen aapke aaspass hoti hain aapka lakshya se dhyan kabhi nahi aata ki kahin yah lakshya aapne kisi aur ke kehne par toh nahi banaya aapko batana chahunga kai baar maa baap yah kehte hain ki tumhe doctor banna hai aapki iccha hi nahi hai doctor banne ki lakshya tay ho gaya ki maa baap ne keh diya dhyan aapka usme kaise jaega toh ek baar phir tatoli hai ki aapka lakshya sahi bhi hai ki nahi agar lakshya sahi hai aur phir aapka dhyan idhar udhar bhatak raha hai toh lakshya banana chhod dijiye taki zindagi bhatke nahi

अपने लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित कैसे रखो देखिए यहां पर मुझे आपके सवाल में कमी दिखाई दे रही य

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  66
WhatsApp_icon
user

अशोक गुप्ता

Founder of Vision Commercial Services.

1:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमारा मच्छर बहुत फर्टाइल है इसलिए हमेशा वह एक से अधिक विषयों पर चिंता या विचार शील बना रहता है इसके लिए अगर हम जब हमें अपने को किसी विषय पर केंद्रित करना होता है तो उसके लिए हमारे यहां योग और प्राणायाम में ऐसी बहुत से सुंदर आसन और प्राणायाम है जो हमारे मानसिक शक्तियों को एकाग्र करके किसी विषय पर फोकस करने में हमें सक्षम बना देते हैं तो आप अपने जीवन में नियमित रूप से योग और प्राणायाम करते रहें और विशेष रूप से अनुलोम विलोम प्राणायाम करें क्योंकि वह आपके नर्वस सिस्टम को अपडेट कर देता है और अगर नर्वस सिस्टम आपका अच्छी स्थिति में है तो वह किसी भी विषय पर एकत्रित होकर अपनी पूरी क्षमता से काम करता है आप को मेरा स्नेह स्वीकार हो धन्यवाद

hamara macchar bahut fertile hai isliye hamesha vaah ek se adhik vishyon par chinta ya vichar sheela bana rehta hai iske liye agar hum jab hamein apne ko kisi vishay par kendrit karna hota hai toh uske liye hamare yahan yog aur pranayaam me aisi bahut se sundar aasan aur pranayaam hai jo hamare mansik shaktiyon ko ekagra karke kisi vishay par focus karne me hamein saksham bana dete hain toh aap apne jeevan me niyamit roop se yog aur pranayaam karte rahein aur vishesh roop se anulom vilom pranayaam kare kyonki vaah aapke nervous system ko update kar deta hai aur agar nervous system aapka achi sthiti me hai toh vaah kisi bhi vishay par ekatrit hokar apni puri kshamta se kaam karta hai aap ko mera sneh sweekar ho dhanyavad

हमारा मच्छर बहुत फर्टाइल है इसलिए हमेशा वह एक से अधिक विषयों पर चिंता या विचार शील बना रहत

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  121
WhatsApp_icon
user

Dr. J.Singh

Financial Expert || Ayurvedic Doctor

1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

यही तो सबसे बड़ा आपका लक्ष्य होना चाहिए कि आपको अपने लक्ष्य को पाने से आपको अपने जीवन में सफल बनाने से अपने लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित करने से कोई भी बाधा आपको रोक ना पाए तभी तो आपका लक्ष्य का पता लगा कि आपका अपने लक्ष्य कितना ध्यान है रुकावट तो आती है इतना बड़ा लक्ष्य को इतनी बड़ी दुकान पर आएगी और सबसे ज्यादा रुकावटें आती हैं हमें हमारे रास्ते में हमारे अपनों से जिनको हम अपना मानते हैं वह पारिवारिक मित्र की हो सकते हैं पर हमारी हो सकते हैं वह अपने मित्र भी हो सकते हैं सबसे ज्यादा दिक्कत वहीं पर आती हुई लोग पैदा करते हैं तो सारे मुश्किल को पार करते हुए आपको कोई मुश्किल नहीं हो सकती यदि आपका ध्यान आपके लक्ष्य पर है और अगर आप उस सबकी से भटक रहे थे कि आपका ध्यान करीना की अटका हुआ है आपका ध्यान अपने लक्ष्य उतरा नहीं जितना आपको करना चाहिए धन्यवाद

yahi toh sabse bada aapka lakshya hona chahiye ki aapko apne lakshya ko paane se aapko apne jeevan me safal banane se apne lakshya par dhyan kendrit karne se koi bhi badha aapko rok na paye tabhi toh aapka lakshya ka pata laga ki aapka apne lakshya kitna dhyan hai rukavat toh aati hai itna bada lakshya ko itni badi dukaan par aayegi aur sabse zyada rookaavatein aati hain hamein hamare raste me hamare apnon se jinako hum apna maante hain vaah parivarik mitra ki ho sakte hain par hamari ho sakte hain vaah apne mitra bhi ho sakte hain sabse zyada dikkat wahi par aati hui log paida karte hain toh saare mushkil ko par karte hue aapko koi mushkil nahi ho sakti yadi aapka dhyan aapke lakshya par hai aur agar aap us sabki se bhatak rahe the ki aapka dhyan kareena ki ataka hua hai aapka dhyan apne lakshya utara nahi jitna aapko karna chahiye dhanyavad

यही तो सबसे बड़ा आपका लक्ष्य होना चाहिए कि आपको अपने लक्ष्य को पाने से आपको अपने जीवन में

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  99
WhatsApp_icon
user

Krishna Kumar Gupta

Astrologer And Tantrokt Vastu Consultant

0:48
Play

Likes  83  Dislikes    views  1655
WhatsApp_icon
user

Debabrata Maity

Business Owner | Motivational Speaker

3:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको तो पहले ही बोलना चाहूंगा मैं जो लक कैसे टाइप करते हैं आपको एक जाना चाहिए आप का गिफ्ट कैरियर में आपको कौन सा चीज है जो काम आपको बहुत करता है करने को बहुत मन करता है और वह काम आप उसी खुशी से करते हैं यह हो गया नंबर वन क्रीम यूज़ करने का नंबर दो अभी फेवरेट चीज है जो कम आपको खुशी देता है वह कब करते हैं लेकिन उसमें टाइम का आपका कोई पता ना चले हैं काम करने का नंबर अगर आपको कोई पारिश्रमिक ना तो कोई पैसा ना दे वो काम करने के लिए मैंने आपको बोला यह काम कर दे भाई तो आपने क्या किया काम करने लग गया परेशान मेरे से ऐसा मैं नहीं दूंगा वह आपको पता है तू भी आप इतनी खुशी के साथ अपने जुनून के साथ ओपन करना चाहेंगे तो इन तीनों चीज जिस काम पर है आपका इंटरेस्ट का साथ जुड़ा है जिसके नियर के साथ जुड़ा है जिस फील्ड के साथ जुड़ा हुआ है उसका करना सेट कर दीजिए उसको आप का गोल बना लीजिए और जिस काम में कोई ऐसा ना दे तो भी कर सकते हैं और जिस काम करते समय मेरे को टाइम का ख्याल ना आता है वह काम अगर करेंगे तो माइंड ऋतिक बन जाता है तो प्रीति भी हमारा सीरियल आता है उसमें देख लेन देना भी जरूरी है मान लीजिए मैं दिसंबर 28 तक में एक गोल को झुका लूंगा ऐसे होना चाहिए दे देना चाहिए किसको बोलते हैं उसको हमको फ़ास्ट करने का इजी चीजें होनी चाहिए काम करने लगेंगे मिलबा में जो आज करना ही है मस्त इसको करना ही है ऐसे उसको पहले नंबर पर रखे उसके बाद जो थोड़ा सा यह है उसको दूसरे नंबर पर एक ऐसा करके काम का सीरियल और इसी टाइम के अंदर तू माइंड पूरी तरह से एक्टिव हो जाएगा क्योंकि की लिस्ट काम करेगा तो क्या होगा आपका नहीं थैंक यू

aapko toh pehle hi bolna chahunga main jo luck kaise type karte hain aapko ek jana chahiye aap ka gift carrier me aapko kaun sa cheez hai jo kaam aapko bahut karta hai karne ko bahut man karta hai aur vaah kaam aap usi khushi se karte hain yah ho gaya number van cream use karne ka number do abhi favourite cheez hai jo kam aapko khushi deta hai vaah kab karte hain lekin usme time ka aapka koi pata na chale hain kaam karne ka number agar aapko koi parishramik na toh koi paisa na de vo kaam karne ke liye maine aapko bola yah kaam kar de bhai toh aapne kya kiya kaam karne lag gaya pareshan mere se aisa main nahi dunga vaah aapko pata hai tu bhi aap itni khushi ke saath apne junun ke saath open karna chahenge toh in tatvo cheez jis kaam par hai aapka interest ka saath juda hai jiske near ke saath juda hai jis field ke saath juda hua hai uska karna set kar dijiye usko aap ka gol bana lijiye aur jis kaam me koi aisa na de toh bhi kar sakte hain aur jis kaam karte samay mere ko time ka khayal na aata hai vaah kaam agar karenge toh mind ritik ban jata hai toh preeti bhi hamara serial aata hai usme dekh len dena bhi zaroori hai maan lijiye main december 28 tak me ek gol ko jhuka lunga aise hona chahiye de dena chahiye kisko bolte hain usko hamko fast karne ka easy cheezen honi chahiye kaam karne lagenge milba me jo aaj karna hi hai mast isko karna hi hai aise usko pehle number par rakhe uske baad jo thoda sa yah hai usko dusre number par ek aisa karke kaam ka serial aur isi time ke andar tu mind puri tarah se active ho jaega kyonki ki list kaam karega toh kya hoga aapka nahi thank you

आपको तो पहले ही बोलना चाहूंगा मैं जो लक कैसे टाइप करते हैं आपको एक जाना चाहिए आप का गिफ्ट

Romanized Version
Likes  151  Dislikes    views  1690
WhatsApp_icon
user

Manoj Kumar Srivastava

सेवानिवृत्त उपसचिव,स्वास्थ्य, चिकित्सा शिक्षा एवं परिवार कल्याण विभाग, झारखंड रांची

1:45
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित करने के लिए मन को नियंत्रित करना जरूरी है मन को स्थिर और शांत करना जरूरी है और मन स्वभाव से चंचल होता है हमेशा चलाएं मान होता है कि नहीं होता इसलिए यह तो होता जाता है और मित्र जीवन की समस्याएं अजीम वालिया भक्ति तुम मन बहुत ही कम हो जाता है ऐसी स्थिति में आप जीवन में सफलता प्राप्त करना बहुत ही मुश्किल होती है कड़े कदम कदम पर कातिल है कोई निर्णय नहीं ले सकते हैं उचित नहीं जा सकते हैं मेरा गांव लगता है किसी भी क्षेत्र में आप पूर्ण मनोयोग से प्रयास कर सकते हैं और सफलता जो मन को नियंत्रित व केंद्रित करने के लिए ध्यान यामी टेशन से बढ़कर कोई उपाय नहीं है और उसके बाल व्यास करते करते हैं 1 दिन शाजापुर पर कर सकेंगे और सफलता मिलती रहेगी

lakshya par dhyan kendrit karne ke liye man ko niyantrit karna zaroori hai man ko sthir aur shaant karna zaroori hai aur man swabhav se chanchal hota hai hamesha chalaye maan hota hai ki nahi hota isliye yah toh hota jata hai aur mitra jeevan ki samasyaen ajeem waleya bhakti tum man bahut hi kam ho jata hai aisi sthiti me aap jeevan me safalta prapt karna bahut hi mushkil hoti hai kade kadam kadam par kaatil hai koi nirnay nahi le sakte hain uchit nahi ja sakte hain mera gaon lagta hai kisi bhi kshetra me aap purn manoyog se prayas kar sakte hain aur safalta jo man ko niyantrit va kendrit karne ke liye dhyan yami teshan se badhkar koi upay nahi hai aur uske baal vyas karte karte hain 1 din shajapur par kar sakenge aur safalta milti rahegi

लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित करने के लिए मन को नियंत्रित करना जरूरी है मन को स्थिर और शांत करन

Romanized Version
Likes  5  Dislikes    views  98
WhatsApp_icon
user

Siyaram Dubey

YouTuber/Spiritual Person/Thinker/Social-media Activist

1:22
Play

Likes  201  Dislikes    views  1456
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इस प्रकार से हर दिन में केवल मछली की आंख को अपना दे बनाया था कितने पेड़ पौधे प्रतिक्रिया सब होने के बाद भी दिमाग को थोड़ा सा इसके लिए प्रयास करना पड़ता ध्यास करना पड़ता है लक्ष्य को केंद्र करने के लिए काफी प्रयास करना पड़ता है करत करत अभ्यास के जड़मति होत सुजान रसरी आवत जात

is prakar se har din me keval machli ki aankh ko apna de banaya tha kitne ped paudhe pratikriya sab hone ke baad bhi dimag ko thoda sa iske liye prayas karna padta dhyas karna padta hai lakshya ko kendra karne ke liye kaafi prayas karna padta hai karat karat abhyas ke jadmati hot sujaan rasari avat jaat

इस प्रकार से हर दिन में केवल मछली की आंख को अपना दे बनाया था कितने पेड़ पौधे प्रतिक्रिया स

Romanized Version
Likes  239  Dislikes    views  1978
WhatsApp_icon
user

Peyush Bhatia

Lifecoach | Relationship Coach

1:16
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सबसे पहले तो सिर्फ अपने लक्ष्य के बारे में सोचें और आप उस काम को क्यों करना चाहते हैं क्या मिलेगा आपको उस काम को करने से जितना आपका बाय बड़े हो गाना उतना ही हा उतना ही छोटा होता चला चला जाएगा और दूसरी बात जो भी चीजें आपको डिस्टर्ब करती हैं जो आपको आपके काम से दूर रखने की कोशिश करती हैं उन से दूर रहने की कोशिश करें उनसे दूर रहने के लिए आपको अपने भाई को बड़ा करना पड़ेगा एक और बात है जो दिन भर के सभी कार्य हैं उनकी सूची बना ले उनमें से दो तीन कारें जो सबसे अर्जेंट है उन्हें सबसे पहले करें और जब उन्हें हम करने के में इतने तल्लीन हो जाते हैं तो हमारा ध्यान ही नहीं जाता उन चीजों के ऊपर जो हमें डिस्टिक कर रहे हैं टाइम टेबल बनाइए हर काम को करने के लिए समय निर्धारित करें जब आप समय से काम करेंगे तो डिस्ट्रिक्ट होने का मतलब ही नहीं है जो चीज हमारे बस में नहीं है ना उन पर ज्यादा समय नष्ट मत कीजिए इससे भी फोकस आता है जो बातें आपके दिमाग में चल रही हैं उनको एक पेपर पर लिख डालिए अच्छी जीवनी पढ़िए सफल लोगों के बारे में जानिए वह कैसे अपने आप को डिसिप्लिन में रखते हैं वह कैसे उन्होंने अपने लक्ष्य को कैसे पाया जब उनके उनको फॉलो करेंगे तो आप खुद-ब-खुद इन चीजों से दूर होते चले जाएंगे और अपने लक्ष्य के करीब होते चले जाएंगे

sabse pehle toh sirf apne lakshya ke bare mein sochen aur aap us kaam ko kyon karna chahte hain kya milega aapko us kaam ko karne se jitna aapka bye bade ho gaana utana hi ha utana hi chota hota chala chala jaega aur dusri baat jo bhi cheezen aapko disturb karti hain jo aapko aapke kaam se dur rakhne ki koshish karti hain un se dur rehne ki koshish karen unse dur rehne ke liye aapko apne bhai ko bada karna padega ek aur baat hai jo din bhar ke sabhi karya hain unki suchi bana le unmen se do teen karen jo sabse urgent hai unhe sabse pehle karen aur jab unhe hum karne ke mein itne tallinn ho jaate hain toh hamara dhyan hi nahi jata un chijon ke upar jo hamein district kar rahe hain time table banaiye har kaam ko karne ke liye samay nirdharit karen jab aap samay se kaam karenge toh district hone ka matlab hi nahi hai jo cheez hamare bus mein nahi hai na un par zyada samay nasht mat kijiye isse bhi focus aata hai jo batein aapke dimag mein chal rahi hain unko ek paper par likh daaliye achi jeevni padhiye safal logon ke bare mein janiye vaah kaise apne aap ko discipline mein rakhte hain vaah kaise unhone apne lakshya ko kaise paya jab unke unko follow karenge toh aap khud bsp khud in chijon se dur hote chale jaenge aur apne lakshya ke kareeb hote chale jaenge

सबसे पहले तो सिर्फ अपने लक्ष्य के बारे में सोचें और आप उस काम को क्यों करना चाहते हैं क्या

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  392
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

1:59
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपने कहा है कि मेरे जीवन में बहुत चीजें ध्यान भटकाने वाली है आखिरकार हम उस पर ध्यान अपने लक्षण कैसे कनेक्ट करें डॉक्टर से लक्ष्य kay2 लक्ष्य को एक निगाह से देखें और जब दोनों निगाह से देखेंगे तुम्हारी आंखों की दूर दृष्टि व दूर दूर तक जाएगी और दूर की बहुत सी चीजें हमें अपनी तरफ आकर्षित करेंगे और जब हम की चमक पर चमक से प्रभावित होंगे तो निश्चित रूप से बचने के लिए क्या उपाय सबसे बड़ा ध्यान यानी एकाग्रता धर्म को निरंतर करना अब बिल्कुल एकांत ओके करना बिल्कुल बिना किसी प्रभु गुंडा के करना और लक्ष्य को जब तक माना ने तब तक पीछे मुड़ के ना देख अगर हम इन सिद्धांतों का अनुसरण करते हैं और अपने पूरे जीवन चक्र को एक निश्चित टाइम टेबल मुझे जोड़ लेते हैं तो सवाल ही नहीं उठता कि हम अपने लक्ष्य को प्राप्त ना कर सकें जब लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए माना ध्यान किसी एक बिंदु पर टिक जाएगा एकाग्र चित्त हो जाएगा तो दुनिया की कितनी ही चीजें कितनी खूबसूरत हो ना कितनी ही चमकदार क्यों ना कितनी ही वह बदसूरत चुनावों में अपने मार्ग से बड़का नहीं सकते

aapne kaha hai ki mere jeevan mein bahut cheezen dhyan bhatkane waali hai aakhirkaar hum us par dhyan apne lakshan kaise connect karen doctor se lakshya kay2 lakshya ko ek nigah se dekhen aur jab dono nigah se dekhenge tumhari aakhon ki dur drishti v dur dur tak jayegi aur dur ki bahut si cheezen hamein apni taraf aakarshit karenge aur jab hum ki chamak par chamak se prabhavit honge toh nishchit roop se bachne ke liye kya upay sabse bada dhyan yani ekagrata dharam ko nirantar karna ab bilkul ekant ok karna bilkul bina kisi prabhu gunda ke karna aur lakshya ko jab tak mana ne tab tak peeche mud ke na dekh agar hum in siddhanto ka anusaran karte hain aur apne poore jeevan chakra ko ek nishchit time table mujhe jod lete hain toh sawaal hi nahi uthata ki hum apne lakshya ko prapt na kar sakein jab lakshya ko prapt karne ke liye mana dhyan kisi ek bindu par tick jaega ekagra chitt ho jaega toh duniya ki kitni hi cheezen kitni khoobsurat ho na kitni hi chamakdar kyon na kitni hi vaah badsoorat chunavon mein apne marg se badka nahi sakte

आपने कहा है कि मेरे जीवन में बहुत चीजें ध्यान भटकाने वाली है आखिरकार हम उस पर ध्यान अपने

Romanized Version
Likes  60  Dislikes    views  1191
WhatsApp_icon
user

Kavita Panyam

Certified Award Winning Counseling Psychologist

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अगर आप अपने लक्ष्य से प्यार करते हैं अब आपका लक्ष्य आपके लिए सब कुछ है आप उसके सपने देखते हैं आप उसके लिए मेहनत कर रहे हैं आपको सिर्फ हर टाइम नहीं दिखता है वही नजर आता है तो उस वक्त आपका लक्ष्य सबसे इंपॉर्टेंट हो जाता है लाइफ में और उसको पाने के लिए आप कहीं ना कहीं से कुछ ना कुछ करके कठिनाई में भी आप समय दे पाते हैं अब अपने मन में अपने दिमाग में आप उसके लिए अलग स्थान देते हैं जहां पर डिस्ट्रेक्शंस राहु अगर आप डिस्ट्रक्शन से तकलीफ में है जहां पर रखो ध्यान बढ़ाने वाली चीजें हैं तो आपको चाहिए कि आप अपने ध्यान को केंद्रित करें मेडिटेशन करें अर्जेंट है जो आपको तकलीफ देते हैं उनकी तरफ ध्यान ना दें जहां आप टेंशन देंगे वह आपका इमोशन जाएगा तो आपको टेंशन नहीं लेना चाहिए और चीजों को जहां पर को तकलीफ पहुंचता है टेंशन मत दीजिए दोस्तों को नजरअंदाज करना सीखिए नियंत्रण रखना सीखें और अपना एक बार भी क्रिएट किए जाते लोग क्रॉस ना कर सके और जहां आप दूसरों के पांडे स्वस्थ रखे तो वहां पर जो है आपकी परेशानियां कम हो जाएंगी क्योंकि वहां पर उतना आप मिलेंगे नहीं तो फिर देखिए

agar aap apne lakshya se pyar karte hain ab aapka lakshya aapke liye sab kuch hai aap uske sapne dekhte hain aap uske liye mehnat kar rahe hain aapko sirf har time nahi dikhta hai wahi nazar aata hai toh us waqt aapka lakshya sabse important ho jata hai life mein aur usko paane ke liye aap kahin na kahin se kuch na kuch karke kathinai mein bhi aap samay de paate hain ab apne man mein apne dimag mein aap uske liye alag sthan dete hain jahan par distrekshans rahu agar aap destruction se takleef mein hai jahan par rakho dhyan badhane waali cheezen hain toh aapko chahiye ki aap apne dhyan ko kendrit karen meditation karen urgent hai jo aapko takleef dete hain unki taraf dhyan na dein jahan aap tension denge vaah aapka emotion jaega toh aapko tension nahi lena chahiye aur chijon ko jahan par ko takleef pahunchta hai tension mat dijiye doston ko najarandaj karna sikhiye niyantran rakhna sikhe aur apna ek baar bhi create kiye jaate log cross na kar sake aur jahan aap dusron ke pandey swasth rakhe toh wahan par jo hai aapki pareshaniyan kam ho jaengi kyonki wahan par utana aap milenge nahi toh phir dekhiye

अगर आप अपने लक्ष्य से प्यार करते हैं अब आपका लक्ष्य आपके लिए सब कुछ है आप उसके सपने देखते

Romanized Version
Likes  53  Dislikes    views  934
WhatsApp_icon
user

Dr. Suman Aggarwal

Personal Development Coach

0:47
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हमें अपना ध्यान अपनी लक्ष्य की तरफ केंद्रित रखने के लिए बार-बार स्वयं को व लक्ष्य दिखाना होगा बार-बार खुद को याद दिलाना होगा कि यह मेरा लक्ष्य है और आज के जमाने में जहां ध्यान बताने वाली हजारों चीजें हैं मैं आपकी इस बात से सहमत हूं पर उन चीजों का इस्तेमाल भी हम अपने पेपर में कर सकते हैं जैसे मैं आपको एक एग्जांपल देती हूं मोबाइल आज किसी का कोई भी लक्ष्य पर मोबाइल उसको अपने लक्ष्य से भटका देता है और आप उसका इस्तेमाल कैसे कर सकते हैं आप अपने लक्ष्य की एक पिक्चर बनाकर अपने मोबाइल के 10 टॉप पर लगाइए अपना फ्रेंड उस पर लगा लीजिए पेज पर अपने लैपटॉप पर लगा लीजिए आप अपने घर में दीवार पर कहीं कोई पोस्टर बनाकर लगा सकते हो जो आपको हर समय अपने लक्ष्य की याद दिलाता रहे

hamein apna dhyan apni lakshya ki taraf kendrit rakhne ke liye baar baar swayam ko v lakshya dikhana hoga baar baar khud ko yaad dilana hoga ki yah mera lakshya hai aur aaj ke jamaane mein jahan dhyan batane waali hazaron cheezen hain main aapki is baat se sahmat hoon par un chijon ka istemal bhi hum apne paper mein kar sakte hain jaise main aapko ek example deti hoon mobile aaj kisi ka koi bhi lakshya par mobile usko apne lakshya se bhataka deta hai aur aap uska istemal kaise kar sakte hain aap apne lakshya ki ek picture banakar apne mobile ke 10 top par lagaaiye apna friend us par laga lijiye page par apne laptop par laga lijiye aap apne ghar mein deewaar par kahin koi poster banakar laga sakte ho jo aapko har samay apne lakshya ki yaad dilata rahe

हमें अपना ध्यान अपनी लक्ष्य की तरफ केंद्रित रखने के लिए बार-बार स्वयं को व लक्ष्य दिखाना ह

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  353
WhatsApp_icon
user

sadhak vijay

Yoga Teacher

1:14
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अपने लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित कैसे रखूं जब हमारे जीवन में हमारा ध्यान मिटाने वाली हजारों चीजें होती हैं यह बहुत अच्छा प्रश्न आपका आप अपने लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित कर सकते हैं जिद्दी बनकर अपने लक्ष्य के प्रति में जिद्दी हो जाएं क्योंकि आपके बीच में एक लक्ष्य है आपका और एक आप हैं और हमेशा आपकी लक्ष्य से लड़ाई होती रहती है लक्ष्य से आपकी लड़ाई होती रहती है बात को समझ गए आप सोचते हैं कि मेरे को जल्दी से मंजिल पाए उसके लिए मैं कुछ भी करूंगा यह करूंगा को का स्कोर का पूरा ध्यान के दिल कर दीजिए तो लक से भी आपसे उतना ही सोचता है क्या यह मेरे को पकड़ना पाए वह फिर आपके लिए कभी व्हाट्सएप फेसबुक अन्य प्रकार से जितने भी ध्यान कीमत खाएगा लेकिन आपको जीत होनी चाहिए अगर तू जितना मेल से पीछे भागेगा लक्ष्य मैं तुझे इतना ही पूछ पकड़ लूंगा तब बहुत जल्दी से तरक्की करोगे इस बात को समझ जाइए आपका लक्ष्य और आप जिंदगी में मनुष्य लड़ता रहता है अपने लक्ष्य के लिए अब देखना यह है बच्चे पहले जीता है या पहले जी धन्यवाद

apne lakshya par dhyan kendrit kaise rakhun jab hamare jeevan mein hamara dhyan mitaane waali hazaron cheezen hoti hain yah bahut accha prashna aapka aap apne lakshya par dhyan kendrit kar sakte hain jiddi bankar apne lakshya ke prati mein jiddi ho jayen kyonki aapke beech mein ek lakshya hai aapka aur ek aap hain aur hamesha aapki lakshya se ladai hoti rehti hai lakshya se aapki ladai hoti rehti hai baat ko samajh gaye aap sochte hain ki mere ko jaldi se manjil paye uske liye main kuch bhi karunga yah karunga ko ka score ka pura dhyan ke dil kar dijiye toh luck se bhi aapse utana hi sochta hai kya yah mere ko pakadna paye vaah phir aapke liye kabhi whatsapp facebook anya prakar se jitne bhi dhyan kimat khaega lekin aapko jeet honi chahiye agar tu jitna male se peeche bhagega lakshya main tujhe itna hi poochh pakad lunga tab bahut jaldi se tarakki karoge is baat ko samajh jaiye aapka lakshya aur aap zindagi mein manushya ladata rehta hai apne lakshya ke liye ab dekhna yah hai bacche pehle jita hai ya pehle ji dhanyavad

अपने लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित कैसे रखूं जब हमारे जीवन में हमारा ध्यान मिटाने वाली हजारों च

Romanized Version
Likes  23  Dislikes    views  530
WhatsApp_icon
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

1:03
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है अपने लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित कैसे रखो जब हमारे जीवन में हमारा ध्यान बंटाने वाले हजारों चीजें रहते होती रहती है अपने जीवन में अपने जीवन में होता रहता है ठीक है जो हमारा ध्यान केंद्रित नहीं होने देते लेकिन आपको तय करना है कि आप को ध्यान केंद्रित करना है या नहीं करना है आपको ध्यान केंद्रित करना है आपको ध्यान केंद्रित करना ही है लेकिन आपका मन नहीं लग रहा है सबका ध्यान केंद्रित होगा लेकिन आपका मन लग रहा है सबका ध्यान केंद्रित होगा वह सब कुछ आपकी ही डिपेंड है कि आपको क्या करना है ठीक है हां इतना इतना उपाय में बता सकती हो कि आप हर रोज सुबह उठकर मेडिटेशन करो उससे काफी फायदा होगा 45 डेज तक कंटिन्यू मेडिटेशन करें ध्यान केंद्रित अपने आप को होगा मन लगाकर काम करिए करना होगा ठीक है और साथ ही साथ में अपना ध्यान रखना होगा पॉजिटिव सोच रहा होगा तो आप अपने लक्ष्य पर ध्यान दे सकते हो ध्यान केंद्रित कर सकते आपका दिन शुभ हो धन्यवाद

aapka prashna hai apne lakshya par dhyan kendrit kaise rakho jab hamare jeevan mein hamara dhyan bantane waale hazaron cheezen rehte hoti rehti hai apne jeevan mein apne jeevan mein hota rehta hai theek hai jo hamara dhyan kendrit nahi hone dete lekin aapko tay karna hai ki aap ko dhyan kendrit karna hai ya nahi karna hai aapko dhyan kendrit karna hai aapko dhyan kendrit karna hi hai lekin aapka man nahi lag raha hai sabka dhyan kendrit hoga lekin aapka man lag raha hai sabka dhyan kendrit hoga vaah sab kuch aapki hi depend hai ki aapko kya karna hai theek hai haan itna itna upay mein bata sakti ho ki aap har roj subah uthakar meditation karo usse kafi fayda hoga 45 days tak continue meditation karen dhyan kendrit apne aap ko hoga man lagakar kaam kariye karna hoga theek hai aur saath hi saath mein apna dhyan rakhna hoga positive soch raha hoga toh aap apne lakshya par dhyan de sakte ho dhyan kendrit kar sakte aapka din shubha ho dhanyavad

आपका प्रश्न है अपने लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित कैसे रखो जब हमारे जीवन में हमारा ध्यान बंटाने

Romanized Version
Likes  240  Dislikes    views  4262
WhatsApp_icon
user

Prabhmeet Bawa

Psychologist

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

अब बहुत कुछ बहुत कुछ चीजें मैं यहां पर ध्यान को टिकट का रेट आफ इंर्पोटेंट विद्या आपका इंटरेस्ट है उसको कितना तक जाते हैं आपका ध्यान देने वाला

ab bahut kuch bahut kuch cheezen main yahan par dhyan ko ticket ka rate of important vidya aapka interest hai usko kitna tak jaate hain aapka dhyan dene vala

अब बहुत कुछ बहुत कुछ चीजें मैं यहां पर ध्यान को टिकट का रेट आफ इंर्पोटेंट विद्या आपका इंटर

Romanized Version
Likes  40  Dislikes    views  503
WhatsApp_icon
user

Kankan Sarmah

Psychologist

3:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है अपने लक्ष्य पर ध्यान के अंदर कैसे रखो जब हमारे जीवन में हमारा ध्यान बताने वाली हजारों चीजें होती रहती है यह क्वेश्चन बहुत ही अच्छी है अभिषेक यह सवाल के लिए देखिए ध्यान फोकस लक्ष्य का मतलब होता है लक्ष्मी जिसे हम लक्ष्मी जी की पूजा करते हैं ताकि हम लोग के घर पर पैसा आए और हम अपने जो लक्ष्य है उस लक्ष्य को कामयाब हासिल कर सके उसी हिसाब से आपका जो लक्ष्य जीवन का तो उसको हमेशा आप एक रिमाइंडर के हिसाब से अपने जीवन पर लाना बहुत ही जरूरी है कि आने वाले थे मुझे वहां पर जाना है या आने वाले दशक के मुझे लेवल वन से लेकर लेवल 3 तक मुझे पहुंचना है तो यह बात आपको थोड़ा सा टाइम टू टाइम कॉल करना जरूरी हो सकते आप आज एक नया जूता अपने खरीदा है उसको पहना है फिर 2 दिन के बाद क्या होगा धूल मिट्टी जम जाएगी फिर आप उसको पॉलिश करना जरूरी है ताकि वह हमेशा फ्रेश देखे ना देखे अच्छे दिखें ठीक उसी हिसाब से आपके जो दिमाग में जितने चारों ओर से जो भी उड़ जाते हैं जितना कि जिस साक्षम से आते हैं जितना भी मुसीबतें आते हैं तो सबको हटा के जो अपना लक्ष्य उस लक्ष्य को पॉलिश करना बहुत ही जरूरी होता है क्योंकि आपको याद रखना जरूरी है कि आप किसके लिए इस धरती पर आए हो आपका जीवन का महत्व क्या है आप कितने लोगों को आपकी और खींच सकते हो अपनी पर्सनैलिटी इसे अपने व्यवहार से अपने बर्ताव से और आपके साथ और अन्ना और भी लोगों को कैसे एक लेबल से दूसरे लेवल तक आप ले जा सकते हो अपने कर्म के माध्यम से जिंदगी ऐसी चीज है अगर आप करना चाहेंगे तो बहुत कुछ आप कर सकते हो लेकिन फोकस हमेशा एक चीज पर ध्यान रखना जरूरी है कि मुझे इस स्तर से लेकर दूसरा स्तर तक मुझे कैसे पहुंचना है और उसको फुलफिल करने के लिए मुझे हमेशा छोटी-छोटी जो मिशन सोते हैं तो उसको क्लियर करना बहुत ही जरूरी होता है और जिस हिसाब से माली जी नई दिल्ली से एक एरोप्लेन चेन्नई जा रहे हैं तो यह जाने जाने का यह होता है रूत होता है वह हवा में दिखाई नहीं देता लेकिन दिन रवि किशन का मैप एरोप्लेन के अंदर होता है तो उसमें एक लाइन हिसाब से एक डॉट के हिसाब से उस प्लेन की गति और उस प्लेन की डिडक्शन दिखा जाता है कि यह प्ले नई दिल्ली से उड़ान भरकर चेन्नई की ओर जा रही है कि वहां पर कोई पर्टिकुलर लोड नहीं होता है जो टाइम टेबल हो क्योंकि वह जो आकाश में जो लोड है वह लोड इंटरजेवेल फोन पर रहता है अगर उससे वह प्लेन इधर-उधर हो जाते हैं तो वहां पर सिग्नल आ जाता है उसी हिसाब से आपको भी टाइम पर टाइम खुद को एनालिसिस करना जरूरी है कि आप सही रूट पर हो या कहीं गलत पर जा रहे हो अगर गलत है तो फिर सही तो जाने के लिए जो आपकी मेहनत है जो लगन है वह भी हमेशा आपको पॉजिटिव के साथ लेना बहुत ही जरूरी है ठीक है धन्यवाद

aapka sawaal hai apne lakshya par dhyan ke andar kaise rakho jab hamare jeevan mein hamara dhyan batane waali hazaron cheezen hoti rehti hai yah question bahut hi achi hai abhishek yah sawaal ke liye dekhiye dhyan focus lakshya ka matlab hota hai laxmi jise hum laxmi ji ki puja karte hain taki hum log ke ghar par paisa aaye aur hum apne jo lakshya hai us lakshya ko kamyab hasil kar sake usi hisab se aapka jo lakshya jeevan ka toh usko hamesha aap ek reminder ke hisab se apne jeevan par lana bahut hi zaroori hai ki aane waale the mujhe wahan par jana hai ya aane waale dashak ke mujhe level van se lekar level 3 tak mujhe pahunchana hai toh yah baat aapko thoda sa time to time call karna zaroori ho sakte aap aaj ek naya juta apne kharida hai usko pahana hai phir 2 din ke baad kya hoga dhul mitti jam jayegi phir aap usko polish karna zaroori hai taki vaah hamesha fresh dekhe na dekhe acche dikhein theek usi hisab se aapke jo dimag mein jitne charo aur se jo bhi ud jaate hain jitna ki jis saksham se aate hain jitna bhi musibatein aate hain toh sabko hata ke jo apna lakshya us lakshya ko polish karna bahut hi zaroori hota hai kyonki aapko yaad rakhna zaroori hai ki aap kiske liye is dharti par aaye ho aapka jeevan ka mahatva kya hai aap kitne logon ko aapki aur khinch sakte ho apni personality ise apne vyavhar se apne bartaav se aur aapke saath aur anna aur bhi logon ko kaise ek lebal se dusre level tak aap le ja sakte ho apne karm ke madhyam se zindagi aisi cheez hai agar aap karna chahenge toh bahut kuch aap kar sakte ho lekin focus hamesha ek cheez par dhyan rakhna zaroori hai ki mujhe is sthar se lekar doosra sthar tak mujhe kaise pahunchana hai aur usko fulfil karne ke liye mujhe hamesha choti choti jo mission sote hain toh usko clear karna bahut hi zaroori hota hai aur jis hisab se maali ji nayi delhi se ek aeroplane Chennai ja rahe hain toh yah jaane jaane ka yah hota hai rut hota hai vaah hawa mein dikhai nahi deta lekin din ravi kishan ka map aeroplane ke andar hota hai toh usmein ek line hisab se ek dot ke hisab se us plane ki gati aur us plane ki deduction dikha jata hai ki yah play nayi delhi se udhaan bharkar Chennai ki aur ja rahi hai ki wahan par koi particular load nahi hota hai jo time table ho kyonki vaah jo akash mein jo load hai vaah load intarajevel phone par rehta hai agar usse vaah plane idhar udhar ho jaate hain toh wahan par signal aa jata hai usi hisab se aapko bhi time par time khud ko analysis karna zaroori hai ki aap sahi root par ho ya kahin galat par ja rahe ho agar galat hai toh phir sahi toh jaane ke liye jo aapki mehnat hai jo lagan hai vaah bhi hamesha aapko positive ke saath lena bahut hi zaroori hai theek hai dhanyavad

आपका सवाल है अपने लक्ष्य पर ध्यान के अंदर कैसे रखो जब हमारे जीवन में हमारा ध्यान बताने वाल

Romanized Version
Likes  108  Dislikes    views  2044
WhatsApp_icon
user

Dr Asha B Jain

Dip in Naturopathy, Yoga therapist Pranic healer, Counselor

0:41
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मेक अ क्राफ्ट अपने लक्ष्य पर रहना है तो उसके लिए आपको नहीं हो पा रहे हैं अगर तू उसके लिए आपको देखने के लिए ध्यान मेडिटेशन डीप रिलैक्सेशन मेडिटेशन ओं प्राणायाम का अभ्यास करेंगी आधा घंटा सुबह और शाम अगर आप करेंगे तो आप बहुत अच्छे से फोकस कर पाएंगे ध्यान को हटाने वाली चीजें तो आजकल बहुत हैं टीवी है मोबाइल है मोबाइल में हजारों चीज है जिसको जाता है तो उसके लिए मेडिटेशन डिफ्लोटेशन करना ही होगा

make a craft apne lakshya par rehna hai toh uske liye aapko nahi ho paa rahe hain agar tu uske liye aapko dekhne ke liye dhyan meditation deep Relaxation meditation on pranayaam ka abhyas karengi aadha ghanta subah aur shaam agar aap karenge toh aap bahut acche se focus kar payenge dhyan ko hatane waali cheezen toh aajkal bahut hain TV hai mobile hai mobile mein hazaron cheez hai jisko jata hai toh uske liye meditation difloteshan karna hi hoga

मेक अ क्राफ्ट अपने लक्ष्य पर रहना है तो उसके लिए आपको नहीं हो पा रहे हैं अगर तू उसके लिए आ

Romanized Version
Likes  147  Dislikes    views  2098
WhatsApp_icon
user

Mr. Mukesh Kumar

Youtuber, https://youtu.be/lxwi7CXLHSQ

1:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

देखिए जब तक आप अपने मन पर कंट्रोल नहीं करेंगे तब तक तो आपका ध्यान भटकता रहेगा क्योंकि हमारा जो मन होता है बहुत चंचल होता और जो भी चीजें देखता है कहता है कि यह तो चीजें मेरी होनी चाहिए इस चीज को मैं कर दूंगा इसमें मैं पूरी योगिता रखता हूं परंतु वास्तविकता यह नहीं है कि प्रत्येक व्यक्ति प्रत्येक कार्य में योगिता रखें और प्रत्येक चीज को प्राप्त कर लें क्योंकि यदि ऐसा होता तो वह साधारण व्यक्ति नहीं कल आएगा वह साधारण और इस संसार में कोई भी ऐसा प्राणी नहीं है जो है साधारण है इसलिए मैं आपसे यही कहूंगा कि आप अपने मन को एकाग्र करने के लिए जो भी आपका मन कहता है स्वाद के लिए मेरे लिए क्यों आवश्यक है क्या मैं इसको करना है ना करूं तो मुझे नुकसान है या नहीं इसको कर देता हूं इससे नुकसान है इस तरह की सवाल कीजिए और अपने मन पर नियंत्रण रखें क्योंकि एक कहावत है कि जिस प्रकार जानवरों को खुटा में बांधा जाता है कि ना भागे उचित रख बुद्धिमान व्यक्ति अपने मन को बांध रखता है ताकि उसका मन इधर उधर ना भटके

dekhiye jab tak aap apne man par control nahi karenge tab tak toh aapka dhyan bhatakta rahega kyonki hamara jo man hota hai bahut chanchal hota aur jo bhi cheezen dekhta hai kahata hai ki yah toh cheezen meri honi chahiye is cheez ko main kar dunga isme main puri yogita rakhta hoon parantu vastavikta yah nahi hai ki pratyek vyakti pratyek karya mein yogita rakhen aur pratyek cheez ko prapt kar lein kyonki yadi aisa hota toh vaah sadhaaran vyakti nahi kal aayega vaah sadhaaran aur is sansar mein koi bhi aisa prani nahi hai jo hai sadhaaran hai isliye main aapse yahi kahunga ki aap apne man ko ekagra karne ke liye jo bhi aapka man kahata hai swaad ke liye mere liye kyon aavashyak hai kya main isko karna hai na karun toh mujhe nuksan hai ya nahi isko kar deta hoon isse nuksan hai is tarah ki sawaal kijiye aur apne man par niyantran rakhen kyonki ek kahaavat hai ki jis prakar jaanvaro ko khuta mein bandha jata hai ki na bhaage uchit rakh buddhiman vyakti apne man ko bandh rakhta hai taki uska man idhar udhar na bhatke

देखिए जब तक आप अपने मन पर कंट्रोल नहीं करेंगे तब तक तो आपका ध्यान भटकता रहेगा क्योंकि हमार

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  271
WhatsApp_icon
user

Prachi Rathi

Psychologist & Life Coach

0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सबसे पहले आपको यह देखना होगा कि क्या यह लक्ष्य आप ही ने जूस किया है अगर यह लक्ष्य आपको किसी के इनफ्लुएंस से मिला है तो आप कभी उस में अपना हंड्रेड परसेंट नहीं दे पाएंगे अपना हंड्रेड परसेंट देने के लिए सबसे पहले खुद देखिए कि यह आपका लक्ष्य है या नहीं उसके बाद आप अपने आपको याद दिलाते रहे कि अगर यह लक्ष्य अपने पा लिया तो इससे आपको क्या क्या मिलेगा वह मिलने से आपको कितनी खुशी होगी और उसी खुशी को महसूस करते हुए अपने आप को बार बार यह याद दिलाते रहे कि मुझे यह लक्ष्य पाना ही है जब आप ऐसा करेंगे आपका ध्यान नहीं भटके गा और आप अपने लक्ष्य की तरफ केंद्रित रह पाएंगे

sabse pehle aapko yah dekhna hoga ki kya yah lakshya aap hi ne juice kiya hai agar yah lakshya aapko kisi ke inafluens se mila hai toh aap kabhi us mein apna hundred percent nahi de payenge apna hundred percent dene ke liye sabse pehle khud dekhiye ki yah aapka lakshya hai ya nahi uske baad aap apne aapko yaad dilate rahe ki agar yah lakshya apne paa liya toh isse aapko kya kya milega vaah milne se aapko kitni khushi hogi aur usi khushi ko mahsus karte hue apne aap ko baar baar yah yaad dilate rahe ki mujhe yah lakshya paana hi hai jab aap aisa karenge aapka dhyan nahi bhatke jaayega aur aap apne lakshya ki taraf kendrit reh payenge

सबसे पहले आपको यह देखना होगा कि क्या यह लक्ष्य आप ही ने जूस किया है अगर यह लक्ष्य आपको किस

Romanized Version
Likes  18  Dislikes    views  503
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!