मैं अपने आप को दबाव में प्रेरित और उत्साहित कैसे रख सकता हूँ?...


user
Play

Likes  279  Dislikes    views  2407
WhatsApp_icon
22 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Es Sanjay Agarwal

Motivational Speaker

0:49
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

शिव क्वेश्चन है कि मैं अपने आप को दबाव में प्रेरित और उत्साहित कैसे रख सकता हूं लेकिन आप लोगों के पास अपनी जिंदगी में कोई प्रॉब्लम होता रहता है प्रॉब्लम के बारे में सोचेंगे तो कभी भी सलूशन के पास नहीं पहुंच पाएंगे तो आपको क्या करना होगा अगर आप कोई भी चीज का सलूशन निकालना चाहते हैं तो आपको पहले तो प्रॉब्लम ओरिएंटेड नहीं होना है आपको होना है क्या सलूशन ओरिएंटेड होना है और जैसे होंगे उसके बाद आपको उस टाइट रखने के लिए आप क्या करेंगे जो भी चीज करना चाहते हैं जो भी चीज बनना चाहते हैं उस चीज को क्या करेंगे आपके मोबाइल में आपके वॉलपेपर में आपके घर में आपके सारे उसका पोस्ट कर दीजिए करेंगे तो क्या होगा को देखेंगे तो आप

shiv question hai ki main apne aap ko dabaav me prerit aur utsaahit kaise rakh sakta hoon lekin aap logo ke paas apni zindagi me koi problem hota rehta hai problem ke bare me sochenge toh kabhi bhi salution ke paas nahi pohch payenge toh aapko kya karna hoga agar aap koi bhi cheez ka salution nikalna chahte hain toh aapko pehle toh problem oriented nahi hona hai aapko hona hai kya salution oriented hona hai aur jaise honge uske baad aapko us tight rakhne ke liye aap kya karenge jo bhi cheez karna chahte hain jo bhi cheez banna chahte hain us cheez ko kya karenge aapke mobile me aapke wallpaper me aapke ghar me aapke saare uska post kar dijiye karenge toh kya hoga ko dekhenge toh aap

शिव क्वेश्चन है कि मैं अपने आप को दबाव में प्रेरित और उत्साहित कैसे रख सकता हूं लेकिन आप ल

Romanized Version
Likes  63  Dislikes    views  735
WhatsApp_icon
user

Aniel K Kumar Imprints

NLP Master Life Coach, Motivational Speaker

1:54
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार जी हां आप का सवाल है कि आप अपने आप को दबाव में प्रेरित उत्साहित कैसे रख सकते हैं देखे दोस्त प्रेरित और उत्साहित दबाव में रखने के लिए दबाव डाला इसे जाता ही ताकि इस व्यक्ति का अपना लक्ष्य नहीं होता जिस व्यक्ति के पास अपनी वजह नहीं होती उस काम को करने की वहां पर हतोत्साहित हो जाता लेकिन जिसके पास अपनी उपज होती है जिसके पास अपना जुनून होता है जिसका अपना लक्ष्य क्लियर होता है इसे अपने ऊपर विश्वास होता है अपने काम पर विश्वास होता अपने आईडी अप विश्वास है वह कभी भी वहां पर उत्साह और उत्साहित नहीं होता कभी भी उसका उत्पन्न प्रेरित होने की क्षमता रखती हूं कम नहीं होती इनके लिए आपको ची अपना कॉल बनाना आपको चाहिए अपने सिस्टम में ब्लू सिस्टम पैदा करना अपनी सेल्फी भेज को बड़ा करना और आपको चाहिए कि आप स्पेसिफिक प्लानिंग के साथ में आप काम करें तो जब आप इन चीजों पर काम करते हैं तो आप कभी भी किसी भी प्रेशर में हो आप शालीनता से ठंडे दिमाग से काम करते हैं एक बात आती है कि जब आप पर एसे मेरे काम करते हैं तू भी आप अपना सर्वश्रेष्ठ दे पाते जो आदमी नॉलेज इसके पास कम होती है वह जल्दी बिखर जाता है उसको यह तो कहता नहीं कि मुझे उसका पता नहीं है मुझे आता नहीं है इसको कहने की वजह कुशल जाहिर करने की कोशिश करता है जिससे कि वह हतोत्साहित हो जाता है जब उसमें प्रेशर डाला जाता है इसके लिए आप का नाता कोई चीज अगर आप करोगी तो आप ही समस्याओं से निकल पाओगे ज्यादा डिटेल्स के लिए ज्यादा डिटेल में समझने के लिए आप हमारी वेबसाइट 11 एआईजी यू आर यू गुरु डॉट कॉम पर जा सकते हैं और अपने आप को रजिस्टर कर सकते हमारी स्पेशल हैंडल्स पर भी अपना कांटेक्ट शेयर कर सकते हैं ताकि हम जो लाइव फ्री सेट जो अभी ले रहे हैं लाइव ऑनलाइन फैशन ले रहे हैं तो आप अपने घर बैठे भी उन चीजों को और बेहतर तरीके से समझ सकते हैं सीख सकते हैं वह जीवन को बेहतर बना सकते हैं जय हिंद जय भारत आपका दिन शुभ रहे

namaskar ji haan aap ka sawaal hai ki aap apne aap ko dabaav me prerit utsaahit kaise rakh sakte hain dekhe dost prerit aur utsaahit dabaav me rakhne ke liye dabaav dala ise jata hi taki is vyakti ka apna lakshya nahi hota jis vyakti ke paas apni wajah nahi hoti us kaam ko karne ki wahan par hatotsahit ho jata lekin jiske paas apni upaj hoti hai jiske paas apna junun hota hai jiska apna lakshya clear hota hai ise apne upar vishwas hota hai apne kaam par vishwas hota apne id up vishwas hai vaah kabhi bhi wahan par utsaah aur utsaahit nahi hota kabhi bhi uska utpann prerit hone ki kshamta rakhti hoon kam nahi hoti inke liye aapko chee apna call banana aapko chahiye apne system me blue system paida karna apni selfie bhej ko bada karna aur aapko chahiye ki aap specific planning ke saath me aap kaam kare toh jab aap in chijon par kaam karte hain toh aap kabhi bhi kisi bhi pressure me ho aap shalinata se thande dimag se kaam karte hain ek baat aati hai ki jab aap par essay mere kaam karte hain tu bhi aap apna sarvashreshtha de paate jo aadmi knowledge iske paas kam hoti hai vaah jaldi bikhar jata hai usko yah toh kahata nahi ki mujhe uska pata nahi hai mujhe aata nahi hai isko kehne ki wajah kushal jaahir karne ki koshish karta hai jisse ki vaah hatotsahit ho jata hai jab usme pressure dala jata hai iske liye aap ka nataa koi cheez agar aap karogi toh aap hi samasyaon se nikal paoge zyada details ke liye zyada detail me samjhne ke liye aap hamari website 11 AIG you R you guru dot com par ja sakte hain aur apne aap ko register kar sakte hamari special handles par bhi apna Contact share kar sakte hain taki hum jo live free set jo abhi le rahe hain live online fashion le rahe hain toh aap apne ghar baithe bhi un chijon ko aur behtar tarike se samajh sakte hain seekh sakte hain vaah jeevan ko behtar bana sakte hain jai hind jai bharat aapka din shubha rahe

नमस्कार जी हां आप का सवाल है कि आप अपने आप को दबाव में प्रेरित उत्साहित कैसे रख सकते हैं द

Romanized Version
Likes  119  Dislikes    views  1450
WhatsApp_icon
user

Porshia Chawla Ban

Psychologist

1:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दबाव में आप अपने आप को प्रेरित और उत्साहित अभी रख सकते हैं जब आप दबाव की स्थिति ना होने पर कुछ ऐसी चीजें सीख लें कि जिससे आप अपने इमोशंस को भी कंट्रोल कर पाए और 1 रन ही बना पाए कि जब कभी प्रभाव आए ना ऐसी कोई स्थिति आएगी जिसमें आपको तुरंत निर्णय लेना है तो आप क्या करेंगे यानी कि हमारा अगर बैकअप क्लियर है हमारा होमवर्क अगर नहीं तो फिर हम टेस्ट जो है वह दे सकते हैं जिंदगी में कभी भी कोई ऐसी परीक्षा की घड़ी आए तो हम तभी सफलता पा सकते हैं जब हमने उस अपना होमवर्क ठीक किया हूं अपनी पढ़ाई ठीक से की हूं इसीलिए आप विश्लेषण करें और कहां आप कमजोर है और कौन से एरिया में आपको यानी जैसे किसी किसी का इमोशनल लेवल बहुत ज्यादा और जो है वह हेलो होता रहता है बहुत ज्यादा वाली टाइल होता है तो इसीलिए उनको अपने मोशंस पर कंट्रोल करना सीखना चाहिए कोई कोई लोगे सर टाइम नहीं होते हैं अपनी बात को दूसरों के समक्ष नहीं रख पाते हैं तो उनको उस चीज में ट्रेनिंग लेनी चाहिए और वहां अपना आत्म विकास करना चाहिए ऐसे ही आप का कौन सा ऐसा पाठ है जो क्लियर नहीं है तो आपको और स्ट्रांग करना है वह आप करके रखें ताकि जब कभी जीवन में ऐसी स्टेशन आएगी जहां आपको कोई स्टेप लेना है कुछ एक्शन लेना है तो वहां आप बिना डगमगाए और गिरे और सफलता पा सकें धन्यवाद मैं आपको एक लिंक भेज रही हूं वह लिंक को आप जरूर देखें उससे आपको और हेल्प मिलेगी

dabaav me aap apne aap ko prerit aur utsaahit abhi rakh sakte hain jab aap dabaav ki sthiti na hone par kuch aisi cheezen seekh le ki jisse aap apne emotional ko bhi control kar paye aur 1 run hi bana paye ki jab kabhi prabhav aaye na aisi koi sthiti aayegi jisme aapko turant nirnay lena hai toh aap kya karenge yani ki hamara agar backup clear hai hamara homework agar nahi toh phir hum test jo hai vaah de sakte hain zindagi me kabhi bhi koi aisi pariksha ki ghadi aaye toh hum tabhi safalta paa sakte hain jab humne us apna homework theek kiya hoon apni padhai theek se ki hoon isliye aap vishleshan kare aur kaha aap kamjor hai aur kaun se area me aapko yani jaise kisi kisi ka emotional level bahut zyada aur jo hai vaah hello hota rehta hai bahut zyada wali tile hota hai toh isliye unko apne moshans par control karna sikhna chahiye koi koi loge sir time nahi hote hain apni baat ko dusro ke samaksh nahi rakh paate hain toh unko us cheez me training leni chahiye aur wahan apna aatm vikas karna chahiye aise hi aap ka kaun sa aisa path hai jo clear nahi hai toh aapko aur strong karna hai vaah aap karke rakhen taki jab kabhi jeevan me aisi station aayegi jaha aapko koi step lena hai kuch action lena hai toh wahan aap bina dagamagaye aur gire aur safalta paa sake dhanyavad main aapko ek link bhej rahi hoon vaah link ko aap zaroor dekhen usse aapko aur help milegi

दबाव में आप अपने आप को प्रेरित और उत्साहित अभी रख सकते हैं जब आप दबाव की स्थिति ना होने पर

Romanized Version
Likes  353  Dislikes    views  5056
WhatsApp_icon
user

Sanjay K Raval

Motivational Speaker

0:26
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

उसमें प्लानिंग नहीं करते प्लानिंग करने के बाद समय पर इंप्लीमेंट नहीं करते और उसका शॉर्टकट में तुरंत रिजल्ट चाहते हैं और नहीं मिलता तो आप अंदर हो जाते हैं

usmein planning nahi karte planning karne ke baad samay par implement nahi karte aur uska shortcut mein turant result chahte hain aur nahi milta toh aap andar ho jaate hain

उसमें प्लानिंग नहीं करते प्लानिंग करने के बाद समय पर इंप्लीमेंट नहीं करते और उसका शॉर्टकट

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  150
WhatsApp_icon
user

Dr. Suman Aggarwal

Personal Development Coach

0:24
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

खुद पर भरोसा रख कर आप अपने आप को दबाव में भी प्रेरित उत्साहित रख सकते हैं जब आपको यह भरोसा होगा स्वयं के ऊपर कि हां मैं इस दबाव को फाइनल कर सकता हूं मैं सिचुएशन को सही कर सकता हूं तो यह जो भरोसे वाली बातें हैं ना यह आपको अपने आप उत्साहित करेंगे किसी भी काम को करने के लिए किसी भी प्रॉब्लम को सॉल्व करने के लिए

khud par bharosa rakh kar aap apne aap ko dabaav mein bhi prerit utsaahit rakh sakte hain jab aapko yah bharosa hoga swayam ke upar ki haan main is dabaav ko final kar sakta hoon main situation ko sahi kar sakta hoon toh yah jo bharose wali batein hain na yah aapko apne aap utsaahit karenge kisi bhi kaam ko karne ke liye kisi bhi problem ko solve karne ke liye

खुद पर भरोसा रख कर आप अपने आप को दबाव में भी प्रेरित उत्साहित रख सकते हैं जब आपको यह भरोसा

Romanized Version
Likes  9  Dislikes    views  330
WhatsApp_icon
user

Peyush Bhatia

Lifecoach | Relationship Coach

1:19
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पहली बात को समझने की जरूरत है वह यह है कि दबाव वर्तमान में नहीं होता दबाव बनता है जब अब हम भविष्य के बारे में अधीर होते हैं या चिंता करते हैं या अतीत की व्यवस्थाओं को याद करते हैं सबसे पहले वर्तमान में रहने का प्रयास करो आज जो रो रहा है उस पर अपने दिमाग को केंद्रित करो अतीत को पीछे छोड़ दो भविष्य का इंतजार बंद कर दो तभी आप खुशहाल रह सकते हो खुद से बातें करो अपने मन को समझाओ एफर्मेशंस करो अपना मनोबल बढ़ाओ अपने अतीत की उपलब्धियों को याद करो अगर तब आप यह कर पाए थे तो आप भी कर पाओगे सबसे इंपॉर्टेंट है अपने विचारों को पॉजिटिव रखना खूब हंसी कॉमेडी देखो फैमिली के साथ दोस्तों के साथ समय बताओ एक्सरसाइज करना भी बहुत इंपॉर्टेंट है क्योंकि इससे हमारी एनर्जी मूव होती है और जिससे कि हम हम बहुत अपने आपको उत्साहित तो प्रेरित रख सकते हैं एक और चीज बहुत इंपॉर्टेंट है वह है रोल मॉडल किसी को अपना रोल मॉडल बनाए ऐसा देखेगी उस व्यक्ति ने उस प्रॉब्लम में क्या किया होगा या वह अगर मेरी जगह पर होता तो वह सिचुएशन को कैसे डील करता यह भी आपको इस प्रॉब्लम से निकलने में बहुत हेल्प करेगी

pehli baat ko samjhne ki zarurat hai vaah yah hai ki dabaav vartaman mein nahi hota dabaav baata hai jab ab hum bhavishya ke bare mein adhir hote hain ya chinta karte hain ya ateet ki vyavasthaon ko yaad karte hain sabse pehle vartaman mein rehne ka prayas karo aaj jo ro raha hai us par apne dimag ko kendrit karo ateet ko peeche chod do bhavishya ka intejar band kar do tabhi aap khushahal reh sakte ho khud se batein karo apne man ko samjhao efarmeshans karo apna manobal badhao apne ateet ki uplabdhiyon ko yaad karo agar tab aap yah kar paye the toh aap bhi kar paoge sabse important hai apne vicharon ko positive rakhna khoob hansi comedy dekho family ke saath doston ke saath samay batao exercise karna bhi bahut important hai kyonki isse hamari energy move hoti hai aur jisse ki hum hum bahut apne aapko utsaahit toh prerit rakh sakte hain ek aur cheez bahut important hai vaah hai roll model kisi ko apna roll model banaye aisa dekhenge us vyakti ne us problem mein kya kiya hoga ya vaah agar meri jagah par hota toh vaah situation ko kaise deal karta yah bhi aapko is problem se nikalne mein bahut help karegi

पहली बात को समझने की जरूरत है वह यह है कि दबाव वर्तमान में नहीं होता दबाव बनता है जब अब हम

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  320
WhatsApp_icon
user

Er Pankaj Rai

International Motivational speaker · Counsellor · Writer. Trainer

5:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

टिकट प्रश्न जो होता है वह एक दिमाग की अवस्था होता है जैसे हम स्टेट ऑफ माइंड बोलते हैं परेशान कोई शारीरिक रूप से परेशान नहीं होता है परेशान होता है मानसिकता सबसे पहले गर्म प्रेशर को समझ नहीं तो हम उस प्रेशर में कैसे मोटिवेटर सकते हैं उसको हम आसानी से समझ सके परिषद क्या होता है विश्व की सुबह से शाम तक अगर हम साइकोलॉजी की भाषा में बात करें तो एक व्यक्ति के दिमाग में 70000 से 80000 या 90005 आते हैं 1 दिन में विचार आते हैं और ढेर सारे नेगेटिव विचार भी आते तो जब हम प्रेशर की बात करते हैं विचारों का ट्रैफिक या यह विचारों का हुआ तो दिमाग में बहुत ज्यादा होता है तो हमारे दिमाग में प्रेशर बढ़ जाता है मतलब एक ही विचार अगर मेरे दिमाग में हजारों बार रिपीट हो रहा है कि मैं आज मैं एग्जाम तैयारी कर रहा हूं पता नहीं कहां सोऊंगा कि नहीं रास्ते में जा रहा हूं कहीं मेरा एक्सीडेंट ना हो जाए मैं यह काम कर रहा हूं इसमें सफल होगा कि नहीं होगा उस व्यक्ति ने मुझे गंदे तरीके से बात की पता नहीं क्योंकि इस तरह के विचार हजारों लाखों की तादाद में घूमते रहते हैं वह जमीन का ट्रैफिक बहुत ज्यादा बढ़ जाता है तो हमारे दिमाग की समस्या होती जिसका मूल से तनाव या प्रेशर हमारे दिमाग में डिलीट होता है विचारों से ज्यादा प्रवाह की बचत अगर हम विचारों के प्रवाह को थोड़ा सा कम कर ले नकारात्मक विचारों के प्रवाह को अगर हम थोड़ा सा काम कर ले तो हमारा पराशर कम होता जाता है और जैसे-जैसे परेशन हमारा कम होता जाता है हम वर्तमान में आने लगते हैं क्योंकि जैसे-जैसे आप का तनाव ज्यादा होता है आपके दिमाग में विचारों का ट्रैफिक ज्यादा होता है आप उतना ज्यादा पास्ट फ्यूचर में चले जाते हो या भूतकाल वर्तमान के भविष्य काल के बारे में पूछने लगते तो मोटिवेशन के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है मोटिवेशन जो वर्ल्ड है वह मोगरी मोगरी का मतलब होता है तो मुंह फोन अगर आप वर्तमान में होश पूर्वक आगे बढ़ रहे हैं तो आप मोटिवेशन पड़ोस पूर्वक जवाब होंगे तो आपके दिमाग में विचारों का प्रवाह नहीं होता तो विचारों का प्रभाव जैसे-जैसे कम होगा ऐसे वैसे आपका होश का स्तर बढ़ता जाएगा या उल्टा कहे जैसे-जैसे आप बेहोश होते जाएंगे अनकांशस होते जाएंगे माइंड लेंस होते जाएंगे अन्ना प्यार होते जाएंगे वैसे-वैसे आपके दिमाग में विचारों का बढ़ता जाएगा तो प्रेशर कम करने के लिए आपको पूर्वक काम करना है ध्यान से काम करना है दूसरा तो विचारों के बीच का अंतराल तो अगर आप देखने में सक्षम होते हैं तो आप अपने प्रेशर को कम कर सकते हैं तीसरा आप इस साक्षी भाव से अगर आप अपने आप को देख पाते हैं तो आप उस प्रेशर को कम कर सकते हैं आप अपने विचारों के साथ साथ आपकी तो श्वास लेने की गति है जैसे अभी हम तनाव में होते हैं तो हमारी सांस लेने की गति तेज हो जाती है जबकि हमें गुस्सा आता है हमारी सांस लेने की गति तेज हो जाती है जापान में उन्होंने जो टीचर से हैं या स्कूल है उन्होंने एक बच्ची का डांस किया जिसको बोलते माइंडफुल प्रीति होश पूर्वक सांस लेना अगर आप साथ लेने की गति परिवर्तित कर लो मतलब अगर आप धीरे-धीरे सांस लो उसको रोको से धीरे-धीरे सांस लो छोड़ो तो आप अपने तनाव को कम कर सकते हो जिसका मोटे माइंडफुल मेडिटेशन मेडिटेशन की ऐसी 100 से ज्यादा तकनीक है जो हम अपने सच में लोगों को समझाते हैं इस तरह से वह अपने तनाव या प्रेशर को कम कर सकते हैं सिर्फ अगर आप अपनी सांस लेने की गति परिवर्तित करने सांस लेने की गति धीमी कर ले तो आपके दिमाग में जो विचारों का लगा था प्रमाण चल रहा है वह धीरे धीरे धीरे धीरे काम होता है क्योंकि जैसे ही आप अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक होते हो वैसे ही दिमाग में आप तो वर्तमान में आ जाते हैं और कैसी हैं आप वर्तमान में आते हो वैसे ही पूछा भविष्य काल के जो विचार आपके दिमाग में चल रहे हैं वह कम होने लगता है तो तनाव को कम करने के लिए 2 विचारों के अंतराल को देखें दूसरा साक्षी भाव अपने अंदर उत्साह उत्पन्न करें आप अपने विचारों को स्वयं को देख पाने में सक्षम रहे तीसरा ट्रांसलेट गति आप चेंज कर ले अगर आप धीरे-धीरे सांस लेंगे गहरी सांस लेंगे तो तनाव आपका काम हो जाएगा चौथा आप जब भी तनाव की स्थिति में हैं आप तो सिंपली अपना चाहे आप खाना खा रहे हो चाय पानी पी रहे हो क्या आप टीवी देख रहे हो आप जो कुछ भी कर रहे हो अपनी आंखें बंद करें आप अपनी सांसों को देख कर रहे हैं मतलब जिस को बोलते हैं सांसों के प्रति साक्षी होना सांसो को अगर आप अफजल करने लगेंगे तो भी आप अपने तनाव को कम कर पाएंगे और चौथा जैसे ही आपके अंदर तनाव कम होगा जैसे ही आपके अंदर विचारों का प्रवाह का मौका वर्तमान में आ जाएंगे और जैसे ही आप वर्तमान में आएंगे तो निश्चित तौर पर जो कुछ भी काम आप वर्तमान में होश पूर्वक करेंगे आप उसको प्रेरित होकर करेंगे मोटी बैठे हो इसलिए नहीं हो पाते क्योंकि हम वर्तमान में नहीं हो पा रहा है कि हमारे दिमाग में ढेर सारे विचार चल रहे हैं आप जैसे विचारों के प्रवाह को काम करेंगे तब आपका काम होगा पर आपका काम होगा डर आपका काम होगा और आप निर्भीक होकर निष्पक्ष होकर सजग होकर अपने जीवन की गतिविधियों को और अच्छी बेहतर तरीके से कर पाए

ticket prashna jo hota hai vaah ek dimag ki avastha hota hai jaise hum state of mind bolte hain pareshan koi sharirik roop se pareshan nahi hota hai pareshan hota hai mansikta sabse pehle garam pressure ko samajh nahi toh hum us pressure mein kaise motivator sakte hain usko hum aasani se samajh sake parishad kya hota hai vishwa ki subah se shaam tak agar hum psychology ki bhasha mein baat kare toh ek vyakti ke dimag mein 70000 se 80000 ya 90005 aate hain 1 din mein vichar aate hain aur dher saare Negative vichar bhi aate toh jab hum pressure ki baat karte hain vicharon ka traffic ya yah vicharon ka hua toh dimag mein bahut zyada hota hai toh hamare dimag mein pressure badh jata hai matlab ek hi vichar agar mere dimag mein hazaro baar repeat ho raha hai ki main aaj main exam taiyari kar raha hoon pata nahi kahaan sounga ki nahi raste mein ja raha hoon kahin mera accident na ho jaaye main yah kaam kar raha hoon isme safal hoga ki nahi hoga us vyakti ne mujhe gande tarike se baat ki pata nahi kyonki is tarah ke vichar hazaro laakhon ki tadad mein ghumte rehte hain vaah jameen ka traffic bahut zyada badh jata hai toh hamare dimag ki samasya hoti jiska mul se tanaav ya pressure hamare dimag mein delete hota hai vicharon se zyada pravah ki bachat agar hum vicharon ke pravah ko thoda sa kam kar le nakaratmak vicharon ke pravah ko agar hum thoda sa kaam kar le toh hamara parashar kam hota jata hai aur jaise jaise pareshan hamara kam hota jata hai hum vartaman mein aane lagte hain kyonki jaise jaise aap ka tanaav zyada hota hai aapke dimag mein vicharon ka traffic zyada hota hai aap utana zyada past future mein chale jaate ho ya bhootkaal vartaman ke bhavishya kaal ke bare mein poochne lagte toh motivation ke liye sabse zyada zaroori hai motivation jo world hai vaah mogri mogri ka matlab hota hai toh mooh phone agar aap vartaman mein hosh purvak aage badh rahe hain toh aap motivation pados purvak jawab honge toh aapke dimag mein vicharon ka pravah nahi hota toh vicharon ka prabhav jaise jaise kam hoga aise waise aapka hosh ka sthar badhta jaega ya ulta kahe jaise jaise aap behosh hote jaenge anakanshas hote jaenge mind lens hote jaenge anna pyar hote jaenge waise waise aapke dimag mein vicharon ka badhta jaega toh pressure kam karne ke liye aapko purvak kaam karna hai dhyan se kaam karna hai doosra toh vicharon ke beech ka antaral toh agar aap dekhne mein saksham hote hain toh aap apne pressure ko kam kar sakte hain teesra aap is sakshi bhav se agar aap apne aap ko dekh paate hain toh aap us pressure ko kam kar sakte hain aap apne vicharon ke saath saath aapki toh swas lene ki gati hai jaise abhi hum tanaav mein hote hain toh hamari saans lene ki gati tez ho jaati hai jabki hamein gussa aata hai hamari saans lene ki gati tez ho jaati hai japan mein unhone jo teacher se hain ya school hai unhone ek bachi ka dance kiya jisko bolte mindful preeti hosh purvak saans lena agar aap saath lene ki gati parivartit kar lo matlab agar aap dhire dhire saans lo usko roko se dhire dhire saans lo chodo toh aap apne tanaav ko kam kar sakte ho jiska mote mindful meditation meditation ki aisi 100 se zyada taknik hai jo hum apne sach mein logo ko smajhate hain is tarah se vaah apne tanaav ya pressure ko kam kar sakte hain sirf agar aap apni saans lene ki gati parivartit karne saans lene ki gati dheemi kar le toh aapke dimag mein jo vicharon ka laga tha pramaan chal raha hai vaah dhire dhire dhire dhire kaam hota hai kyonki jaise hi aap apne swasthya ke prati jagruk hote ho waise hi dimag mein aap toh vartaman mein aa jaate hain aur kaisi hain aap vartaman mein aate ho waise hi poocha bhavishya kaal ke jo vichar aapke dimag mein chal rahe hain vaah kam hone lagta hai toh tanaav ko kam karne ke liye 2 vicharon ke antaral ko dekhen doosra sakshi bhav apne andar utsaah utpann kare aap apne vicharon ko swayam ko dekh paane mein saksham rahe teesra translate gati aap change kar le agar aap dhire dhire saans lenge gehri saans lenge toh tanaav aapka kaam ho jaega chautha aap jab bhi tanaav ki sthiti mein hain aap toh simply apna chahen aap khana kha rahe ho chai paani p rahe ho kya aap TV dekh rahe ho aap jo kuch bhi kar rahe ho apni aankhen band kare aap apni shanson ko dekh kar rahe hain matlab jis ko bolte hain shanson ke prati sakshi hona saanso ko agar aap afzal karne lagenge toh bhi aap apne tanaav ko kam kar payenge aur chautha jaise hi aapke andar tanaav kam hoga jaise hi aapke andar vicharon ka pravah ka mauka vartaman mein aa jaenge aur jaise hi aap vartaman mein aayenge toh nishchit taur par jo kuch bhi kaam aap vartaman mein hosh purvak karenge aap usko prerit hokar karenge moti baithe ho isliye nahi ho paate kyonki hum vartaman mein nahi ho paa raha hai ki hamare dimag mein dher saare vichar chal rahe hain aap jaise vicharon ke pravah ko kaam karenge tab aapka kaam hoga par aapka kaam hoga dar aapka kaam hoga aur aap nirbheek hokar nishpaksh hokar sajag hokar apne jeevan ki gatividhiyon ko aur achi behtar tarike se kar paye

टिकट प्रश्न जो होता है वह एक दिमाग की अवस्था होता है जैसे हम स्टेट ऑफ माइंड बोलते हैं परेश

Romanized Version
Likes  34  Dislikes    views  427
WhatsApp_icon
user

Aditya Vikram Lohia

Certified Life Coach

1:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

पीके असली प्रेशर में मोटिवेट तक ना तो सब बोलते हैं कि बहुत अपने आप को अंदर से स्ट्रांग बनाओ यह वह प्रेस नोट असली इस तरह से नहीं होता है हम लोग साहब रिफ्लेक्शन होता ना तो समय स्ट्रांग नहीं बन पाते तो हमको कोई कारण से होता उस पैसे से निकलने का कोई कारण तो पैसे से निकलने का वह कारण हम लोगों का होता है एक क्वार्टर पास्ट अगर हमारा कोई गोल हो हमारा कोई लक्ष्य हो तो हम लोग उस पैसे से निकल सकते हैं क्योंकि हमको पता हम कुछ लगते तक जाना है और हमारा पाचन हम लोग कोई चीज की तरह बहुत ज्यादा जी जान से लगे हुए हैं क्या कोई हमारा अंदर का ऐसा इच्छा है या कोई टैलेंट है जिसको हम लोग सामने हटाना चाहते हैं इसको मिशन बोलते हैं वह पार्षद नगर वह अपने अंदर तो हम लोगों से पासिंग थ्रू स्टेशन निकल सकते हैं तो यह बहुत जरूरी है कि हमारे लाइफ में गोल यह दोनों चीज होने से हम लोग जैसे बहुत इधर ही निकल सकता

pk asli pressure mein motivate tak na toh sab bolte hain ki bahut apne aap ko andar se strong banao yah vaah press note asli is tarah se nahi hota hai hum log saheb reflection hota na toh samay strong nahi ban paate toh hamko koi karan se hota us paise se nikalne ka koi karan toh paise se nikalne ka vaah karan hum logo ka hota hai ek quarter past agar hamara koi gol ho hamara koi lakshya ho toh hum log us paise se nikal sakte hain kyonki hamko pata hum kuch lagte tak jana hai aur hamara pachan hum log koi cheez ki tarah bahut zyada ji jaan se lage hue kya koi hamara andar ka aisa iccha hai ya koi talent hai jisko hum log saamne hatana chahte hain isko mission bolte hain vaah parshad nagar vaah apne andar toh hum logo se passing through station nikal sakte hain toh yah bahut zaroori hai ki hamare life mein gol yah dono cheez hone se hum log jaise bahut idhar hi nikal sakta

पीके असली प्रेशर में मोटिवेट तक ना तो सब बोलते हैं कि बहुत अपने आप को अंदर से स्ट्रांग बना

Romanized Version
Likes  8  Dislikes    views  116
WhatsApp_icon
user

Sonule Ramesh

Motivational Speaker

0:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

क्या देखो सबको एक दिन तुम्हें कटना एक दिन हम एक ना एक दिन तुम्हें करना इतना हमें कटनी दुनिया का एक दिन काटना कटने से पहले ध्यान में रखो पतंग तो बनाई जाती कटने के लिए किन पतंग उड़ी पतंग को किसको आकाश में पड़ी पलंग लगानी पड़ती है लेकिन कुछ कर दिखाना है कर दिखाने के लिए तुम जो काम करेंगे ना काम करते-करते सफल हो जाएंगे तो तुम हमेशा

kya dekho sabko ek din tumhe kaatna ek din hum ek na ek din tumhe karna itna hamein katni duniya ka ek din kaatna katane se pehle dhyan mein rakho patang toh banai jaati katane ke liye kin patang udi patang ko kisko akash mein padi palang lagani padti hai lekin kuch kar dikhana hai kar dikhane ke liye tum jo kaam karenge na kaam karte karte safal ho jaenge toh tum hamesha

क्या देखो सबको एक दिन तुम्हें कटना एक दिन हम एक ना एक दिन तुम्हें करना इतना हमें कटनी दुनि

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  67
WhatsApp_icon
user

Mr.NARESH TRIVEDI

PSYCHOLOGIST

0:21
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

बटर यह है कि जब भी आप बहुत ही सुंदर छवि कर रहे हैं तब आप अगर यह सोचते हैं कि हर परिस्थिति पूर्व निर्धारित है और आप अपनी फ्रेंड लिमिटेशंस आपकी शक्ति मर्यादा और वास्तविकता को अगर पहचान सकते हैं तो आप अपने आपको रिलैक्स कर सकते हैं

butter yeh hai ki jab bhi aap bahut hi sundar chhavi kar rahe hain tab aap agar yeh sochte hain ki har paristhiti purv nirdharit hai aur aap apni friend Limitations aapki shakti maryada aur vastavikta ko agar pehchaan sakte hain toh aap apne aapko relax kar sakte hain

बटर यह है कि जब भी आप बहुत ही सुंदर छवि कर रहे हैं तब आप अगर यह सोचते हैं कि हर परिस्थिति

Romanized Version
Likes  32  Dislikes    views  437
WhatsApp_icon
user

ASHOKBHAI METALIYA

REHABILITATION PSYCHOLOGIST

0:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मोटिवेशन के लिए आपको जो भी किसने अभिरुचि मलिक का कोई भी चीज पर ध्यान दो और कौन से स्टेशन पर है और पूरा दिन तो आपको जो भी मानी हो जाएगा उस दिन निकलना पड़ेगा

motivation ke liye aapko jo bhi kisne abhiruchi malik ka koi bhi cheez par dhyan do aur kaun se station par hai aur pura din toh aapko jo bhi maani ho jayega us din nikalna padega

मोटिवेशन के लिए आपको जो भी किसने अभिरुचि मलिक का कोई भी चीज पर ध्यान दो और कौन से स्टेशन प

Romanized Version
Likes  32  Dislikes    views  468
WhatsApp_icon
user

Dr. SMITA TIWARY

PSYCHOLOGIST

0:43
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

करना खुद को मन नहीं कर रहा फिर भी रूटीन ब्रिटेन करना एंड हल्का-फुल्का मेडिटेशन एंड हल्का-फुल्का एक्सरसाइज के साथ दूसरों को हल करना तो क्या होता है कि सेल्फ मोटिवेशन आता है थोड़ा एक्टिव लाइफ मोटिवेशन आता है और अगर मदद करने में आपको लगे कि हां मुझमें कमी है तो आपको दोबारा पढ़ कर बता सकते हेल्पिंग अदर अदर और हल्का फुल्का मेडिटेशन एंड टाइम मैनेजमेंट क्वेश्चन बहुत अच्छा हो जाता है और दर्द हो सकता है

karna khud ko man nahi kar raha phir bhi routine britain karna end halka fulka meditation end halka fulka exercise ke saath dusro ko hal karna toh kya hota hai ki self motivation aata hai thoda active life motivation aata hai aur agar madad karne mein aapko lage ki haan mujhmein kami hai toh aapko dobara padh kar bata sakte helping other other aur halka fulka meditation end time management question bahut accha ho jata hai aur dard ho sakta hai

करना खुद को मन नहीं कर रहा फिर भी रूटीन ब्रिटेन करना एंड हल्का-फुल्का मेडिटेशन एंड हल्का-फ

Romanized Version
Likes  17  Dislikes    views  518
WhatsApp_icon
user

Ambika Chawla

Clinical Psychologist

1:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

इसी के लिए तो सबसे पहले थोड़ी सी और जानकारी जरूरी दे रहे गीतिया किस चीज के लिए और मोटिवेशन चाहिए काम में या फिर घर पर या अली की तरह की जानकारी दो सबसे पहले मैं नाचूंगी बट अभी क्योंकि वह भी नहीं है तो फिर क्यों फिर भी रखनी होती जिसमें मोटिवेट करने की अलग-अलग तक निकलेगी सिंपल एक होता है कॉस्ट बेनिफिट अति को पूछा जाएगा कि आपके लिए यह चीज कितनी जरूरी है कि आपको हमने काम करना कितना दम है तो उसके प्रोस एंड कोंस को भी किया जाता है और और थॉट को इंप्रूव करने में भी हेल्प करते हैं तो और और इसके अलावा थॉट कार्टून और देखे जाते हैं कि जिसकी वजह से मोटिवेशन नहीं आ रही है गुड्डी के कोई एनवायरमेंटल फैक्टर्स हो सकते हैं अपनी जगह पर काम करती हूं ऑफिस में काम करते हैं जिसकी वजह से निकाले जा सकते हैं और उनको बहुत हॉट एनालाइज करेंगे और भूत और पॉजिटिव साइज फॉर हेल्प किया जाएगा उठाने में अगर नहीं दिखेगा

isi ke liye toh sabse pehle thodi si aur jaankari zaroori de rahe gitiya kis cheez ke liye aur motivation chahiye kaam mein ya phir ghar par ya ali ki tarah ki jaankari do sabse pehle main nachungi but abhi kyonki vaah bhi nahi hai toh phir kyon phir bhi rakhni hoti jisme motivate karne ki alag alag tak nikalegi simple ek hota hai cost benefit ati ko poocha jaega ki aapke liye yah cheez kitni zaroori hai ki aapko humne kaam karna kitna dum hai toh uske pros and kons ko bhi kiya jata hai aur aur thought ko improve karne mein bhi help karte hain toh aur aur iske alava thought cartoon aur dekhe jaate hain ki jiski wajah se motivation nahi aa rahi hai guddi ke koi environmental factors ho sakte hain apni jagah par kaam karti hoon office mein kaam karte hain jiski wajah se nikale ja sakte hain aur unko bahut hot analyse karenge aur bhoot aur positive size for help kiya jaega uthane mein agar nahi dikhega

इसी के लिए तो सबसे पहले थोड़ी सी और जानकारी जरूरी दे रहे गीतिया किस चीज के लिए और मोटिवेशन

Romanized Version
Likes  23  Dislikes    views  573
WhatsApp_icon
user

Rakesh Tiwari

Life Coach, Management Trainer

1:06
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है मैं अपने आप को दबाव में प्रेरित और उत्साहित कैसे रख सकता हूं दबाव किस चीज का है दबाव अपेक्षाओं का है यह दबाव दूसरों से आगे निकल जाने का है यह दवा प्रतिस्पर्धा का है कौन सी चीज का दबाव आप महसूस कर रहे हैं और जगाओ तो एक सफल प्रक्रिया है वह भी अगर आप करेंगे अगर आपने उसे समय बंद कर दिया है कि निश्चित समय के अंदर करना है किसी भी काल का प्रशासन दरगाह का उर्स यह स्वभाविक होता है प्रभावी किस लिए है क्या बेहतर करना चाहते हैं आप अच्छा करना चाहते हैं अच्छा और बेहतर करने की इच्छा के कारण ही आप असर महसूस करते हैं यह अच्छा सेंटर अच्छा संकेत है थैंक यू

aapka prashna hai apne aap ko dabaav mein prerit aur utsaahit kaise rakh sakta hoon dabaav kis cheez ka hai dabaav apekshaon ka hai yah dabaav dusro se aage nikal jaane ka hai yah dawa pratispardha ka hai kaun si cheez ka dabaav aap mehsus kar rahe hain aur jagao toh ek safal prakriya hai vaah bhi agar aap karenge agar aapne use samay band kar diya hai ki nishchit samay ke andar karna hai kisi bhi kaal ka prashasan dargah ka urs yah swabhavik hota hai prabhavi kis liye hai kya behtar karna chahte hain aap accha karna chahte hain accha aur behtar karne ki iccha ke karan hi aap asar mehsus karte hain yah accha center accha sanket hai thank you

आपका प्रश्न है मैं अपने आप को दबाव में प्रेरित और उत्साहित कैसे रख सकता हूं दबाव किस चीज क

Romanized Version
Likes  237  Dislikes    views  1275
WhatsApp_icon
user

CHARANPAL Sharma

Motivational Speaker And Life Coach And Business Consultant

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मैं अपने आप को द्वार से प्रेरित और उत्साहित कैसे रख सकता हूं तो पहली बात तो यह कि आपको जवाब किस चीज का है उसको देखिए तो आपको कंपनी है उसकी वजह देखिए प्रेरित और उत्साहित अपने प्रेरित और उत्साहित तब होते हैं जब अपने को कोई अचीवमेंट मिलती है यानी कोई उपलब्धि मिलती है अपना लक्ष्य बनाओ लक्ष्य पर काम करो अपने आप प्रेरित और उत्साहित हो जाओगे

main apne aap ko dwar se prerit aur utsaahit kaise rakh sakta hoon toh pehli baat toh yah ki aapko jawab kis cheez ka hai usko dekhiye toh aapko company hai uski wajah dekhiye prerit aur utsaahit apne prerit aur utsaahit tab hote hain jab apne ko koi achievement milti hai yani koi upalabdhi milti hai apna lakshya banao lakshya par kaam karo apne aap prerit aur utsaahit ho jaoge

मैं अपने आप को द्वार से प्रेरित और उत्साहित कैसे रख सकता हूं तो पहली बात तो यह कि आपको जवा

Romanized Version
Likes  6  Dislikes    views  135
WhatsApp_icon
user

Raj Kiran Sharma Bhartiya

LifeCoach MotivationalSpeaker

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीवन की किसी भी परिस्थिति में प्रेरित प्रोत्साहित रहने के लिए तो सबसे पहले तो यह जरूरी है कि आप उसी परिस्थिति में रहे अपना भविष्य में रहे और ना ही आपस में रहे तो आप वर्तमान में रहे यह तभी संभव है जब आप अपने विचारों को सिर रखना चालू करते हैं जब आप अपने विचारों में सिर्फ होते हैं और यह कोई बहुत मुश्किल काम नहीं है यह मैं लगभग कई सवालों में ही कोशिश करता हूं कि आप मेडिटेशन करिए मेडिटेशन से एक बार आपका दिमाग स्थिर होता है एक बार आपके विचार से रोते हैं तो फिर आप वर्तमान में आते हैं और फिर आप मुझसे लेना चालू करते हैं अच्छी चीजों को एंजॉय करना चालू कर दे दबाव अक्सर कई बार कुछ पुरानी घटनाओं के कारण क्रिएट होता है या फिर कुछ भविष्य के हमने टारगेट सेट किए हैं उनके कारण होता है या फिर कोई चीज है जो नहीं हो रही है इन के कारण होता है यही दो तीन कारणों दबाव के इस सबसे पहले तो जरूरी होता है कि आप इस दबाव से बाहर निकलिए वेजिटेशन इसमें भी हेल्प करता है आपको दबाव को भूलना पड़ता है आपको दबाव के कारणों को बोलना पड़ता है तो आप वर्तमान में आ जाते हो जाता है एक बार आप दबाव के कारणों से बाहर आए आप के लिए अंदर अच्छे हसाने चालू हुए फिर आप प्रेरित भी रह सकते हो और उत्साहित भी रख सकते हैं मोटिवेटेड रह सकते क्यों आप यह विश्वास करिए की दुनिया में कुछ भी ऐसा नहीं है जो असंभव मतलब दुनिया में हर चीज संभव है जब एक आदमी पहाड़ तोड़ सकता है तो एक अकेला आदमी क्या कुछ नहीं कर सकता तो आप बस इस चीज को अपनी प्रेरणा में लाइए एवरीथिंग इस पॉसिबल बदलनी चालू हो जाएगी अपने लक्ष्य आसान दिखने लगेंगे सारी बुराइयां खत्म हो जाएगी जय हिंद जय भारत

jeevan ki kisi bhi paristithi mein prerit protsahit rehne ke liye toh sabse pehle toh yeh zaroori hai ki aap usi paristithi mein rahe apna bhavishya mein rahe aur na hi aapas mein rahe toh aap vartaman mein rahe yeh tabhi sambhav hai jab aap apne vicharon ko sir rakhna chalu karte hain jab aap apne vicharon mein sirf hote hain aur yeh koi bahut mushkil kaam nahi hai yeh main lagbhag kai sawalon mein hi koshish karta hoon ki aap meditation kariye meditation se ek baar aapka dimag sthir hota hai ek baar aapke vichar se rote hain toh phir aap vartaman mein aate hain aur phir aap mujhse lena chalu karte hain acchi chijon ko enjoy karna chalu kar de dabaav aksar kai baar kuch purani ghatnaon ke kaaran create hota hai ya phir kuch bhavishya ke humne target set kiye hain unke kaaran hota hai ya phir koi cheez hai jo nahi ho rahi hai in ke kaaran hota hai yahi do teen karanon dabaav ke is sabse pehle toh zaroori hota hai ki aap is dabaav se bahar nikliye vegetation ismein bhi help karta hai aapko dabaav ko bhoolna padta hai aapko dabaav ke karanon ko bolna padta hai toh aap vartaman mein aa jaate ho jata hai ek baar aap dabaav ke karanon se bahar aaye aap ke liye andar acche hasane chalu hue phir aap prerit bhi reh sakte ho aur utsaahit bhi rakh sakte hain motivated reh sakte kyon aap yeh vishwas kariye ki duniya mein kuch bhi aisa nahi hai jo asambhav matlab duniya mein har cheez sambhav hai jab ek aadmi pahad tod sakta hai toh ek akela aadmi kya kuch nahi kar sakta toh aap bus is cheez ko apni prerna mein laiye everything is possible badalni chalu ho jayegi apne lakshya aasaan dikhne lagenge saree buraiyan khatam ho jayegi jai hind jai bharat

जीवन की किसी भी परिस्थिति में प्रेरित प्रोत्साहित रहने के लिए तो सबसे पहले तो यह जरूरी है

Romanized Version
Likes  14  Dislikes    views  363
WhatsApp_icon
user

Chandrakant Shrivastav

Educationist N Counsellor. PD Trainer. Motivator

3:42
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

हां साहब इसका कोई एक फिक्स तरीका नहीं है क्योंकि जैसा हमारा स्वभाव होता है जैसे हमारी परवरिश होती है हमने कितने मुसीबतों का सामना किया है हम कितना डर जेल सकते हैं सबका अपना पैक मेजरमेंट होता है जैसे आपको पता है केमिस्ट्री में कई धातु होते हैं जैसे कि आर्यन है कॉपर है सिल्वर है गोल्ड है सबका अपना-अपना मेल्टिंग पॉइंट है ऐसे ही आदमियों में भी मेल्टिंग पॉइंट है एक ऐसा समय आता है तो उतना दवा को सेंड नहीं कर सकता और वह मेंट हो जाता तो इसका कोई जनरलाइज नियम नहीं है इसका जनरल आंसर देना बहुत मुश्किल है स्पेसिफिक क्वेश्चन है कि हम कितना दबाव झेल सकते हैं वापस डिपेंड करता है यह क्वेश्चन है इंटरव्यू क्वेश्चंस को कहा जाता है इसका आंसर आप मेरी बात करोगे तो हमने अपनी पोस्टर किसी डाला है योग करके साधना करते भक्ति करके प्रार्थना करके लोगों से मिलजुल के तेज धूप में दौड़कर भूखे रहकर ऊंचे पहाड़ चढ़कर अपमान सहन करके भगवत गीता पढ़ के रामायण महाभारत पढ़कर मिलती है हमको गुस्सा दिलाने वाला बहुत ही पहुंचा होना चाहिए ताकि हम को गुस्सा आता है गुस्सा नहीं आता नाम को अपमान क्यों होता है दे दे भाई जितनी गालियां देना जैसे ठाकुर कुछ भी करने वाला नहीं है अपना मेल्टिंग प्वाइंट बढ़ाइए वैसे मैं अभी मैक्सिमम की बात करूं तो हम भगवान राम का उदाहरण लेते कितना दबा उन्होंने सहन किया जो कई कई मायने हैं उनको वनवास दिलाया वनवास जाने के पहले मुंशी आशीर्वाद लेने गए गौर फरमाइए आप अभियान पिता की आज्ञा उन्होंने सर आंखों पर रखे नहीं पिता के मुंह से शब्द निकला ना मुझे पालन करना ही पड़ेगा उनका छोटा भाई भरत तैयार ना नहीं भैया आपको अनुवाद नहीं जाना है अयोध्या के राजा आती है पिता की आज्ञा का पालन करूंगा और भक्त ले चला रे राम की निशानी हमारे पास अनंत शक्ति है हमने अपने मन को कमजोर बना कर रखा है इसकी जिम्मेदारी हमारी है छोटी-छोटी बातों से हम रूठ जाते हैं ब्रेकअप होने पर लड़कियां आत्महत्या कर लेती है मूर्ख परीक्षा कहां है और उसकी जिम्मेदारी उनकी मम्मी पापा की भी है क्योंकि वह किसान को सुनाते नहीं है कि हम कैसे पढ़े कैसे आगे बढ़े तो यह सारी चीजें हैं तो आपका की जो सवाल है हम कितना दबाव सहन कर सकते हैं मैं तो यह कहूंगा आप अनंत दबाव सहन कर सकते हैं आपके मन में इतनी शक्ति है यदि आपको शक्ति का पता चले आप उसको खोजिए साधना कीजिए महा भयंकर शक्ति है मानवीय मन में आपने सुना नहीं हिमालय में कितने साल हुए हैं एक-एक महीना में समाधि लेते हैं भाई आनंद लेते हैं ना जल देते हैं इससे ज्यादा दबाव क्या होगा यहां नाश्ते का समय हो गया तो गुस्सा आ जाता है कि वेरी मच

haan saheb iska koi ek fix tarika nahi hai kyonki jaisa hamara swabhav hota hai jaise hamari parvarish hoti hai humne kitne musibaton ka samana kiya hai hum kitna dar jail sakte hain sabka apna pack measurement hota hai jaise aapko pata hai chemistry me kai dhatu hote hain jaise ki aryan hai copper hai silver hai gold hai sabka apna apna melting point hai aise hi adamiyo me bhi melting point hai ek aisa samay aata hai toh utana dawa ko send nahi kar sakta aur vaah ment ho jata toh iska koi janaralaij niyam nahi hai iska general answer dena bahut mushkil hai specific question hai ki hum kitna dabaav jhel sakte hain wapas depend karta hai yah question hai interview questions ko kaha jata hai iska answer aap meri baat karoge toh humne apni poster kisi dala hai yog karke sadhna karte bhakti karke prarthna karke logo se miljul ke tez dhoop me daudakar bhukhe rahkar unche pahad chadhakar apman sahan karke bhagwat geeta padh ke ramayana mahabharat padhakar milti hai hamko gussa dilaane vala bahut hi pohcha hona chahiye taki hum ko gussa aata hai gussa nahi aata naam ko apman kyon hota hai de de bhai jitni galiya dena jaise thakur kuch bhi karne vala nahi hai apna melting point badhaiye waise main abhi maximum ki baat karu toh hum bhagwan ram ka udaharan lete kitna daba unhone sahan kiya jo kai kai maayne hain unko vanvas dilaya vanvas jaane ke pehle munshi ashirvaad lene gaye gaur faramaiye aap abhiyan pita ki aagya unhone sir aakhon par rakhe nahi pita ke mooh se shabd nikala na mujhe palan karna hi padega unka chota bhai Bharat taiyar na nahi bhaiya aapko anuvad nahi jana hai ayodhya ke raja aati hai pita ki aagya ka palan karunga aur bhakt le chala ray ram ki nishani hamare paas anant shakti hai humne apne man ko kamjor bana kar rakha hai iski jimmedari hamari hai choti choti baaton se hum rooth jaate hain breakup hone par ladkiya atmahatya kar leti hai murkh pariksha kaha hai aur uski jimmedari unki mummy papa ki bhi hai kyonki vaah kisan ko sunaate nahi hai ki hum kaise padhe kaise aage badhe toh yah saari cheezen hain toh aapka ki jo sawaal hai hum kitna dabaav sahan kar sakte hain main toh yah kahunga aap anant dabaav sahan kar sakte hain aapke man me itni shakti hai yadi aapko shakti ka pata chale aap usko khojiye sadhna kijiye maha bhayankar shakti hai manviya man me aapne suna nahi himalaya me kitne saal hue hain ek ek mahina me samadhi lete hain bhai anand lete hain na jal dete hain isse zyada dabaav kya hoga yahan naste ka samay ho gaya toh gussa aa jata hai ki very match

हां साहब इसका कोई एक फिक्स तरीका नहीं है क्योंकि जैसा हमारा स्वभाव होता है जैसे हमारी परवर

Romanized Version
Likes  58  Dislikes    views  1046
WhatsApp_icon
play
user

Sanchi Sharma

Journalist, Photographer

0:39

Likes  1  Dislikes    views  124
WhatsApp_icon
user

Riya

Artist, Traveller

0:10
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपको जो काम करना पसंद है उससे संबंधित आप काम करना शुरू कर दीजिए तो शायद वह दबाव में आप को प्रेरित प्रोत्साहित कर सके

aapko jo kaam karna pasand hai usse sambandhit aap kaam karna shuru kar dijiye toh shayad vaah dabaav mein aap ko prerit protsahit kar sake

आपको जो काम करना पसंद है उससे संबंधित आप काम करना शुरू कर दीजिए तो शायद वह दबाव में आप को

Romanized Version
Likes    Dislikes    views  92
WhatsApp_icon
play
user

Neha

Journalist , Writer

1:06

Likes  14  Dislikes    views  185
WhatsApp_icon
play
user

Kavita

Writer

1:43

Likes    Dislikes    views  8
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!