ऐसी कोई प्रेरणदायक कहानी बताएँ ँ जिसमें आपने मात्र एक साल में अपने जीवन को बदल दिया हो?...


user

Dr. Priya Shatanjib Jha

Psychologist|Counselor|Dentist

1:08
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्ते दोस्तों मेरी रानी डॉक्टर प्रिया झा के तरफ से आप सब को दिन की बहुत सारी शुभकामनाएं ऐसी प्रेरणादायक कहानी मेरे लाइफ में तब हुई थी जब तो मुझे एक परीक्षा में बहुत महत्वपूर्ण महत्वपूर्ण परीक्षा दे मेरी जिंदगी की तो उसके फाइनल एग्जाम्स में बहुत ही कम मार्क्स आए थे और उस समय मेरे माता-पिता में से किसी एक व्यक्ति की आंखों में मैंने आंसू देख लिए थे इस वाक्य की मैं रो रही थी तो वह चीज में मुझे एकदम सदमे में डाल दिया और वह जो सेट बाद मुझे मिला था उस चीज के वजह से आगे की जो 4 साल थे मैंने अपने एग्जाम्स में बहुत मेहनत की और मुझे अच्छे मार्क्स दिया है और मैंने मैं एकदम बदल मतलब मैं उस साल में नहीं कुछ महीनों में ही बदल गई और हां वह मेरी जिंदगी में बहुत ही एक लाइफ चेंजिंग टाइम था जी मैं आपके साथ शेयर करना चाहूंगी और मेरे दिमाग में भी अभी यही एक उदाहरण आया था तो हां थैंक यू

namaste doston meri rani doctor priya jha ke taraf se aap sab ko din ki bahut saree subhkamnaayain aisi preranadayak kahani mere life mein tab hui thi jab toh mujhe ek pariksha mein bahut mahatvapurna mahatvapurna pariksha de meri zindagi ki toh uske final exams mein bahut hi kam marks aaye the aur us samay mere mata pita mein se kisi ek vyakti ki aankho mein maine aasu dekh liye the is vakya ki main ro rahi thi toh vaah cheez mein mujhe ekdam sadme mein daal diya aur vaah jo set baad mujhe mila tha us cheez ke wajah se aage ki jo 4 saal the maine apne exams mein bahut mehnat ki aur mujhe acche marks diya hai aur maine main ekdam badal matlab main us saal mein nahi kuch mahinon mein hi badal gayi aur haan vaah meri zindagi mein bahut hi ek life changing time tha ji main aapke saath share karna chahungi aur mere dimag mein bhi abhi yahi ek udaharan aaya tha toh haan thank you

नमस्ते दोस्तों मेरी रानी डॉक्टर प्रिया झा के तरफ से आप सब को दिन की बहुत सारी शुभकामनाएं ऐ

Romanized Version
Likes  80  Dislikes    views  1525
WhatsApp_icon
6 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
play
user

Dr. KRISHNA CHANDRA

Rehabilitation Psychologist

2:00

Likes  87  Dislikes    views  1583
WhatsApp_icon
user

Suresh Jeswani

Life Coach

3:27
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

विकी मुझे पहले गुस्सा बहुत जल्दी आता था जल्दी भी आता था और सदा छोटी-छोटी बात पर बार-बार गुस्सा आता था तो मैंने कहा नहीं सुनी थी मुझे पक्का यादें पड़ी थी सुनी नहीं बल्कि पड़ी थी मार्च 2012 में तोमर द्वारा 2012 के सामने एक छोटा सा कोर्स किया था उसके मेरा जीवन बदला है तो फिर मैंने कुछ मतलब नहीं कहानियां पढ़ना शुरू की उसके बाद में उसमें से कहानी जिसने मेरे गुस्से को जो है वह एकदम बढ़ा दे छूमंतर कर दिया तू कहानी ऐसी है कि 1 बच्चे और उसके पिताजी के बीच का एक बार तालाब है तो वह बच्चा जो है उसको वह तो मेरे जैसा होगा तो उसको बार-बार और बहुत जल्दी गुस्सा आता था फिर उसके पिताजी ने मतलब सोचा किया रेंस को मतलब कुछ किया जाए किस करो गुस्सा है वह मतलब उसकी लाइफ से चला दे नहीं तो उसके लायक कहां जा रही है वह देख सकता था तो उसने उसने बहुत सारे लकड़ी के उसको पढ़ ली थी और उसे कहा है कि तुमको जब जब गुस्सा आए तब तक एक खिला जो है उस लकड़ी में ठोक देना फिर उसने मतलब देखा कि जब शाम को घर पर है उसके पिताजी तब पिताजी ने पूछा कि बताओ कितने की है तुमने इसमें लगाए तो उसने गिना की लेते उसके 5050 के लिए उसके मतलब 50 बार दिन में उसको गुस्सा आया फिर उसकी पिताजी ने बोला कि आप एक काम करो यह दिल है मुश्किल है उसको उस पगली में सब निकालो जो वुडन पतली ज्योति लकड़ी की उस में से निकालो अच्छा उसको इस बात पर भी गुस्सा आ गया बोलते पिताजी पे ऑफिस में डालने को बोलते हो कि ले और फिर निकालने को बोलते हो तो उन्होंने उसके मतलब प्यार से समझाया भैया तेरे को कुछ सीख मिलने वाली है फिर निकाल दो तो उस बच्चे ने एक-एक करके सारे क्लीनिकल लिए उसके पिताजी ने उसको बोला देखो हीरो पटली जो थी वह आपका जीवन है और इसमें जो छेद हो गए ना यह जीवन में आपके जो खराब दिया आपके जो आप गुस्सा आता है तो जिन रिश्तो में आपके कुछ अड़चन आती है कुछ खराबी आती है वह यह गड्ढे है जिसको आप कभी भर नहीं पाओगे बस इतना सा मतलब मैंने सुना है वह मैंने पढ़ा तो मुझे एकदम खेल में आ गया कि मुझे मेरे गुस्से पर काम करना पड़ेगा तो यह वो स्टोरी थी कि जिसने 1 साल के अंदर-अंदर में बदलाव आया और मैंने पाया कि मैंने पहले दिन 50 बार 49 बार मैंने जबकि रेडो की किरणों का मतलब यह था कि मैंने मेरी लाइफ को पटरी से उतारा 49 बार फिर एकदम दूसरे दिन क्या परिवर्तन आया कि मुझे 7:00 पर गुस्सा आया था और उसके बाद में अब यह मतलब है चीज कि मैं देखता हूं कि आया तो आया कभी गुस्सा ऐसा वाला काम है वह भी गुस्सा महीने समझता हूं कि ना जायज है लेकिन हम छोटी-छोटी बातों पर भी गुस्सा कर देते हैं और उसको हम सही ठहराते हैं लेकिन यह बात आपकी है कि बिना गुस्से के लिए और जीवन जी सकते हो तो यह वह तो ली थी जिसने मेरा जीवन बदला थैंक यू और अगर आपको मेरा जवाब पसंद आया हो तो मेरे लिंग क्या मेरे प्रोफाइल के बाजू में क्लीन दिया हुआ है उसमें एक बड़ा प्यारा छोटा सा एक प्यारा सा वीडियो है जो बच्चों के और माता-पिता के बारे में उम्मीद करता हूं उसे जरूर देखेंगे थैंक यू

vicky mujhe pehle gussa bahut jaldi aata tha jaldi bhi aata tha aur sada choti choti baat par baar baar gussa aata tha toh maine kaha nahi suni thi mujhe pakka yaadain padi thi suni nahi balki padi thi march 2012 mein tomar dwara 2012 ke saamne ek chota sa course kiya tha uske mera jeevan badla hai toh phir maine kuch matlab nahi kahaniya padhna shuru ki uske baad mein usme se kahani jisne mere gusse ko jo hai vaah ekdam badha de chumantar kar diya tu kahani aisi hai ki 1 bacche aur uske pitaji ke beech ka ek baar taalab hai toh vaah baccha jo hai usko vaah toh mere jaisa hoga toh usko baar baar aur bahut jaldi gussa aata tha phir uske pitaji ne matlab socha kiya reigns ko matlab kuch kiya jaaye kis karo gussa hai vaah matlab uski life se chala de nahi toh uske layak kahaan ja rahi hai vaah dekh sakta tha toh usne usne bahut saare lakdi ke usko padh li thi aur use kaha hai ki tumko jab jab gussa aaye tab tak ek khila jo hai us lakdi mein thok dena phir usne matlab dekha ki jab shaam ko ghar par hai uske pitaji tab pitaji ne poocha ki batao kitne ki hai tumne isme lagaye toh usne gina ki lete uske 5050 ke liye uske matlab 50 baar din mein usko gussa aaya phir uski pitaji ne bola ki aap ek kaam karo yah dil hai mushkil hai usko us pagli mein sab nikalo jo wooden patli jyoti lakdi ki us mein se nikalo accha usko is baat par bhi gussa aa gaya bolte pitaji pe office mein dalne ko bolte ho ki le aur phir nikalne ko bolte ho toh unhone uske matlab pyar se samjhaya bhaiya tere ko kuch seekh milne wali hai phir nikaal do toh us bacche ne ek ek karke saare clinical liye uske pitaji ne usko bola dekho hero patali jo thi vaah aapka jeevan hai aur isme jo ched ho gaye na yah jeevan mein aapke jo kharab diya aapke jo aap gussa aata hai toh jin rishto mein aapke kuch adachan aati hai kuch kharabi aati hai vaah yah gaddhe hai jisko aap kabhi bhar nahi paoge bus itna sa matlab maine suna hai vaah maine padha toh mujhe ekdam khel mein aa gaya ki mujhe mere gusse par kaam karna padega toh yah vo story thi ki jisne 1 saal ke andar andar mein badlav aaya aur maine paya ki maine pehle din 50 baar 49 baar maine jabki redo ki kirano ka matlab yah tha ki maine meri life ko patri se utara 49 baar phir ekdam dusre din kya parivartan aaya ki mujhe 7 00 par gussa aaya tha aur uske baad mein ab yah matlab hai cheez ki main dekhta hoon ki aaya toh aaya kabhi gussa aisa vala kaam hai vaah bhi gussa mahine samajhata hoon ki na jayaj hai lekin hum choti choti baaton par bhi gussa kar dete hain aur usko hum sahi thahrate hain lekin yah baat aapki hai ki bina gusse ke liye aur jeevan ji sakte ho toh yah vaah toh li thi jisne mera jeevan badla thank you aur agar aapko mera jawab pasand aaya ho toh mere ling kya mere profile ke baju mein clean diya hua hai usme ek bada pyara chota sa ek pyara sa video hai jo baccho ke aur mata pita ke bare mein ummid karta hoon use zaroor dekhenge thank you

विकी मुझे पहले गुस्सा बहुत जल्दी आता था जल्दी भी आता था और सदा छोटी-छोटी बात पर बार-बार गु

Romanized Version
Likes  70  Dislikes    views  1014
WhatsApp_icon
user

deep

Ias

0:28
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

ऐसी कोई प्रेरणादायक कहानी नहीं होगी जब होगी तब बताना मैं भी तो लगा पड़ा हूं प्रेरणादायक कहानी बनाने में एचडी बनाने में अपनी स्टोरी बनाने में जो आके मैं आप सब लोगों से

aisi koi preranadayak kahani nahi hogi jab hogi tab bataana main bhi toh laga pada hoon preranadayak kahani banane mein hd banane mein apni story banane mein jo aake main aap sab logo se

ऐसी कोई प्रेरणादायक कहानी नहीं होगी जब होगी तब बताना मैं भी तो लगा पड़ा हूं प्रेरणादायक कह

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  350
WhatsApp_icon
play
user

Dilsh Sheikh

Journalist

1:56

Likes  12  Dislikes    views  324
WhatsApp_icon
play
user

Mohini

Voice Artist

1:26

Likes  14  Dislikes    views  388
WhatsApp_icon
qIcon
ask

This Question Also Answers:

QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!