जीवन को आनन्दमय बनाने के लिए कुछ सरल सुझाव दीजिएँ?...


user

मीनाक्षी शर्मा

Enterpreneur, Author, Teacher, Motivational Speaker, Career Counsellor.

0:17
Play

Likes  10  Dislikes    views  70
WhatsApp_icon
30 जवाब
qIcon
ask
ऐसे और सवाल
Loading...
Loading...
user

Bk Arun Kaushik

Youth Counselor Motivational Speaker

7:04
Play

Likes  6  Dislikes    views  98
WhatsApp_icon
user

Dr. Shakeel Akhtar

Homeopathy Doctor

0:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

दिखे जीवन को आनंदमय मन बनाने के लिए सबसे पहले यह जरूरी है कि आप अपने माता पिता की सेवा करें बड़ों का आदर करें छोटों को प्यार दे मान सम्मान दे अपने पड़ोसियों से प्रेम करें अपने रिश्तेदारों से अच्छा व्यवहार करें परोपकार करें असहयोग की मदद करें तो जब आप यह सब काम करेंगे तो आपकी अंतरात्मा जो है वह बहुत खुश होगी आपकी आत्मा बहुत खुश होगी यार आपको जो उस वक्त जीवन का आनंद प्राप्त होगा वह एक अलग ही आनंद होगा थैंक यू

dikhe jeevan ko anandamay man banane ke liye sabse pehle yah zaroori hai ki aap apne mata pita ki seva kare badon ka aadar kare choton ko pyar de maan sammaan de apne padoshiyon se prem kare apne rishtedaron se accha vyavhar kare paropkaar kare asahayog ki madad kare toh jab aap yah sab kaam karenge toh aapki antaraatma jo hai vaah bahut khush hogi aapki aatma bahut khush hogi yaar aapko jo us waqt jeevan ka anand prapt hoga vaah ek alag hi anand hoga thank you

दिखे जीवन को आनंदमय मन बनाने के लिए सबसे पहले यह जरूरी है कि आप अपने माता पिता की सेवा करे

Romanized Version
Likes  186  Dislikes    views  2021
WhatsApp_icon
Likes  221  Dislikes    views  1907
WhatsApp_icon
user

Shailesh Kumar Dubey

Yoga Teacher , Retired Government Employee

1:29
Play

Likes  86  Dislikes    views  1930
WhatsApp_icon
user

Gopal Srivastava

Acupressure Acupuncture Sujok Therapist

1:31
Play

Likes  164  Dislikes    views  5530
WhatsApp_icon
user

bhaand's Theatre and Acting Classes

Acting And drama Coach Casting director Drama Director

2:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका सवाल है जीवन को आनंदमय बनाने के लिए कुछ सरल सुझाव दीजिए हां जी सबसे पहले तो मैं आपको यह कहना चाहूंगा कि जीवन को अगर आनंद में बनाना है तो पहला रूल अपनाई है कि आपको मेडिटेशन करना है और योगा करना है दिमाग शांत रहेगा दूसरी बात यह करना है कि आपके जो भी रिश्ते में लोग हैं चाहे आपकी पत्नी हो पति हो बेटे हो बच्चे हो मां बाप को जो भी व्यक्ति जो जैसा है उसे उसे रुक रुक ना करें अगर रुक तो करनी है तो कुछ ऐसा समझा कर करें कि वह चीज हमको भी समझ में आए अर्थात कि जो व्यक्ति जैसा है जैसा उसका बिहेवियर है जैसी उसकी प्रवृत्ति है उसके साथ उसे स्वीकार करें आपका जीवन आनंद में होगा क्योंकि जब आप किसी को उस प्रकार स्वीकार करते हैं तो आप जो चाहते हैं उसी प्रकार लोग भी आपको स्वीकार करेंगे और आपका जीवन आनंद में रहे तू जीतू तीन चीजें हैं जिससे आपका जीवन आनंद में रहेगा और परोपकार की भावना रखें शिष्टाचार रखें लोगों को सुख कैसे देना है मोदी के लोगों का ध्यान रखें इस प्रकृति का ध्यान रखिए पेड़ पौधे भी बात करते हैं आप अगर अपनी श्वास को पिक महसूस करेंगे आपकी दिल की धड़कन को महसूस करेंगे पूरी बॉडी में कहां-कहां क्या-क्या प्रतिक्रियाएं हो रही है अब सब महसूस करेंगे आप आनंद में रहे और आनंद में रहने के लिए सबसे पहले अब आपको अपने आपको पहचानना होगा आप क्या है आपकी योग्यता है क्या है आपके नेगेटिव प्वाइंट क्या है आपके पॉजिटिव प्वाइंट क्या है आप को समझाना पड़ेगा उसके बाद जो मैंने बताया सारी चीजें कर पाएंगे तो सबसे पहले अपने आप को जानी है धन्यवाद

aapka sawaal hai jeevan ko anandamay banane ke liye kuch saral sujhaav dijiye haan ji sabse pehle toh main aapko yah kehna chahunga ki jeevan ko agar anand me banana hai toh pehla rule apnai hai ki aapko meditation karna hai aur yoga karna hai dimag shaant rahega dusri baat yah karna hai ki aapke jo bhi rishte me log hain chahen aapki patni ho pati ho bete ho bacche ho maa baap ko jo bhi vyakti jo jaisa hai use use ruk ruk na kare agar ruk toh karni hai toh kuch aisa samjha kar kare ki vaah cheez hamko bhi samajh me aaye arthat ki jo vyakti jaisa hai jaisa uska behaviour hai jaisi uski pravritti hai uske saath use sweekar kare aapka jeevan anand me hoga kyonki jab aap kisi ko us prakar sweekar karte hain toh aap jo chahte hain usi prakar log bhi aapko sweekar karenge aur aapka jeevan anand me rahe tu jeetu teen cheezen hain jisse aapka jeevan anand me rahega aur paropkaar ki bhavna rakhen shishtachar rakhen logo ko sukh kaise dena hai modi ke logo ka dhyan rakhen is prakriti ka dhyan rakhiye ped paudhe bhi baat karte hain aap agar apni swas ko pic mehsus karenge aapki dil ki dhadkan ko mehsus karenge puri body me kaha kaha kya kya pratikriyaen ho rahi hai ab sab mehsus karenge aap anand me rahe aur anand me rehne ke liye sabse pehle ab aapko apne aapko pahachanana hoga aap kya hai aapki yogyata hai kya hai aapke Negative point kya hai aapke positive point kya hai aap ko samajhana padega uske baad jo maine bataya saari cheezen kar payenge toh sabse pehle apne aap ko jani hai dhanyavad

आपका सवाल है जीवन को आनंदमय बनाने के लिए कुछ सरल सुझाव दीजिए हां जी सबसे पहले तो मैं आपको

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  33
WhatsApp_icon
user

Dr.Monika Baliyan

Consultant Physiotherapist

2:36
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीवन का आनंद में बनाने के लिए कुछ सरल सुझाव दीजिए खुश रहें सबसे पहले जी पॉजिटिव रहे हैं अपने आप से प्यार करें अपने आप को समझे अपने लिए जिए अपने आप को जो चीजें पसंद आते हो अपने आप से खुद विचार विमर्श करें बात करें अपने आप को एक अकाउंट समय दें सोचे हैं आपको क्या पसंद है आपको क्या नापसंद है अपने आप का आनंद जब होता है जब हम अपने आप से बात की तथा अपने आप को पहचानते हैं अपने आप को समय देते हैं अपनी वोटिंग समझते हैं और उसके बाद जब हम अपने आप को समझ जाते हैं तो आज दिन हम सब के लिए खड़े होते हैं क्योंकि हम हर एक चीज का फर्ज अच्छे से निभा सकते क्योंकि मैं पता होता है यह हम हम नेगेटिव नहीं आ गए सामने वाला कहीं गलती से हमें कुछ गलत समझ रहा है अपने आप सवाल अपने आपसे करें समझे कि वह ऐसा गलत क्यों समझ रहा है क्या उसकी गलती है समझने में वाकई में हमारी में कोई गलतियां अपने आप से सवाल जरूर करें आप आनंद में रहे बनाने के सरल सुझाव तो यही है और बाकी जितना हो सके खुशनुमा एटमॉस्फेयर घर में बनाने की कोशिश करें या फिर एक पसंद होता है जो कि एक अच्छा माहौल बना के सामने वाले क्या आपने जितने भी आसपास बैठे होने खुश रख सके उसका मतलब यह नहीं कि हर चीज में सेटिस्फाया नहीं मेरा मतलब है कि इंजॉय करो जो करना कुछ ना कुछ मस्ती करना मजाक करना बचपना चंचल व्यवहार करना बचपना दिखाना बचपन वाली थोड़ी सी बातें करना आप जैसे लोग डाउन है तो हमें सबको कुछ इसी तरीके का माल घर में बना कर रखना चाहिए बिकॉज़ हर समय आसपास हैं 10 काम होते हैं थकान भी हो गीता वाइफ के साथ में हेल्प करें मकान बनाने के लिए तो यही है कि कल बैलेंस बनाकर रखें वाइफ को समझें प्यार दे और बैठकर बातचीत करें उसके दिमाग से दिल से जो भी चीज की विचारा समझ पा रहे हैं वह से समझे ग्राफ कर लेता क्या आगे जब बिजी शेड्यूल हो तो आप उस चीज का भरपूर फायदा उठा सकें और अपनी वाइफ को हर तरीके से मानसिक और मानसिक तरीके से खासकर इस वर्ष भी देख सकें

jeevan ka anand me banane ke liye kuch saral sujhaav dijiye khush rahein sabse pehle ji positive rahe hain apne aap se pyar kare apne aap ko samjhe apne liye jiye apne aap ko jo cheezen pasand aate ho apne aap se khud vichar vimarsh kare baat kare apne aap ko ek account samay de soche hain aapko kya pasand hai aapko kya napasand hai apne aap ka anand jab hota hai jab hum apne aap se baat ki tatha apne aap ko pehchante hain apne aap ko samay dete hain apni voting samajhte hain aur uske baad jab hum apne aap ko samajh jaate hain toh aaj din hum sab ke liye khade hote hain kyonki hum har ek cheez ka farz acche se nibha sakte kyonki main pata hota hai yah hum hum Negative nahi aa gaye saamne vala kahin galti se hamein kuch galat samajh raha hai apne aap sawaal apne aapse kare samjhe ki vaah aisa galat kyon samajh raha hai kya uski galti hai samjhne me vaakai me hamari me koi galtiya apne aap se sawaal zaroor kare aap anand me rahe banane ke saral sujhaav toh yahi hai aur baki jitna ho sake khushnuma etamasfeyar ghar me banane ki koshish kare ya phir ek pasand hota hai jo ki ek accha maahaul bana ke saamne waale kya aapne jitne bhi aaspass baithe hone khush rakh sake uska matlab yah nahi ki har cheez me setisfaya nahi mera matlab hai ki enjoy karo jo karna kuch na kuch masti karna mazak karna bachapana chanchal vyavhar karna bachapana dikhana bachpan wali thodi si batein karna aap jaise log down hai toh hamein sabko kuch isi tarike ka maal ghar me bana kar rakhna chahiye because har samay aaspass hain 10 kaam hote hain thakan bhi ho geeta wife ke saath me help kare makan banane ke liye toh yahi hai ki kal balance banakar rakhen wife ko samajhe pyar de aur baithkar batchit kare uske dimag se dil se jo bhi cheez ki vichara samajh paa rahe hain vaah se samjhe graph kar leta kya aage jab busy schedule ho toh aap us cheez ka bharpur fayda utha sake aur apni wife ko har tarike se mansik aur mansik tarike se khaskar is varsh bhi dekh sake

जीवन का आनंद में बनाने के लिए कुछ सरल सुझाव दीजिए खुश रहें सबसे पहले जी पॉजिटिव रहे हैं अप

Romanized Version
Likes  32  Dislikes    views  616
WhatsApp_icon
user

Anshu Sarkar

Founder & Director, Sarkar Yog Academy

3:33
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सबसे पहले तो मैं आपको नमस्कार आपका सवाल है जीवन को आनंदमय बनाने के लिए कुछ सरल बहुत सुंदर बहुत प्यारा सा सवाल है अपना अपना अपना अपना रुचि अपने तरीके से होता है इसको क्या चीज में खुश होता है आप किस चीज में आनंद महसूस करते हैं कोई मूवी देख कर कोई दोस्तों के साथ समय बिता के कोई खेल के ग्राउंड में जाकर कोई टीवी देख कर कोई नशा करके सबका सोच अलग-अलग है हर इंसान कोई अलग अलग चीज में आनंद महसूस करता है मुझे योग करके आनंद मिलता है अगर देखा जाए आनंद कश्मीर उच्च है रिश्वत है जो मूल मंत्र है कैसे आनंद लग सकता आनंद कहां से आती है मन से जब आपका निरोग शरीर रहेगा चिंता मुक्त मन रहेगा तनाव रहित मन रहेगा तभी तो आप अनिल कपूर कर पाएंगे तभी तो खुश अग्रसर ही आपका निरोग नहीं है बीमार ग्रस्त है आप मन में तनाव है कुछ चलता है टेंशन है नेगेटिव थॉट्स मानसिक अवसाद है डिप्रेशन है तो आप आनंद कैसे रह सकते हैं तो मेरे लिए जो सबसे सरल उपाय आनंद रहने के लिए मुझे मिला है वह मुझे योग प्रणाम एवं से मिला कि अगर हम योग प्राइम ध्यान करते हैं तो निरोग शरीर एवं चिंतामन आंखों में ताकत हमको यू अप्लाई मन धन से प्राप्त होता है तो अगर मेरे पास इतना कुछ चीज है तो हम किसी भी खुश रहते हैं दाल भात करके भी आनंद में रहते हैं और चिली चिकन कोलेबिरा दयानंद है दूसरों को खुश में आनंद महसूस करते हैं दूसरों को दुख में अपने आप को दुखी हो जाते हैं माता-पिता का सम्मान करके आनंद महसूस करते हैं उनको रिस्पेक्ट देकर उनको रुला के खुशी के आंसू रुला कर खुशी के आंसू रुला कर आनंद महसूस करते हैं कि मम्मी पापा इतना प्यार देखना सलमान दे ऐसे लगे कि उनका आंसू गिरे लेकिन खुशी कहां शुरू हो जाना महसूस होता है जो दूसरों के प्रति जागरूकता बहुत बड़ी बात है जो दूसरों को जागरूक करना है जो प्रबंधन के प्रति मुझे बहुत आनंद मिलता है जरूरतमंद को उसके जरूरत को पूरा करने में आपका सहयोग देने में आनंद मिलता है गाना गाने में अच्छा लगता है तू मेरा आपसे अनुरोध है पहले आप अपना निरोगी शरीर एवं चिंतामन पाएं तभी जाकर जीवन में आनंद का उपयोग कर सकते हैं उसको महसूस कर सकता उसको फील कर सकते हैं और उसको यादगार बना सकते हैं योग अपनाएं रोग भगाए योग अपनाए आनंदपाल धन्यवाद

sabse pehle toh main aapko namaskar aapka sawaal hai jeevan ko anandamay banane ke liye kuch saral bahut sundar bahut pyara sa sawaal hai apna apna apna apna ruchi apne tarike se hota hai isko kya cheez me khush hota hai aap kis cheez me anand mehsus karte hain koi movie dekh kar koi doston ke saath samay bita ke koi khel ke ground me jaakar koi TV dekh kar koi nasha karke sabka soch alag alag hai har insaan koi alag alag cheez me anand mehsus karta hai mujhe yog karke anand milta hai agar dekha jaaye anand kashmir ucch hai rishwat hai jo mul mantra hai kaise anand lag sakta anand kaha se aati hai man se jab aapka nirog sharir rahega chinta mukt man rahega tanaav rahit man rahega tabhi toh aap anil kapur kar payenge tabhi toh khush agrasar hi aapka nirog nahi hai bimar grast hai aap man me tanaav hai kuch chalta hai tension hai Negative thoughts mansik avsad hai depression hai toh aap anand kaise reh sakte hain toh mere liye jo sabse saral upay anand rehne ke liye mujhe mila hai vaah mujhe yog pranam evam se mila ki agar hum yog prime dhyan karte hain toh nirog sharir evam chintaman aakhon me takat hamko you apply man dhan se prapt hota hai toh agar mere paas itna kuch cheez hai toh hum kisi bhi khush rehte hain daal bhat karke bhi anand me rehte hain aur chili chicken kolebira dayanand hai dusro ko khush me anand mehsus karte hain dusro ko dukh me apne aap ko dukhi ho jaate hain mata pita ka sammaan karke anand mehsus karte hain unko respect dekar unko rula ke khushi ke aasu rula kar khushi ke aasu rula kar anand mehsus karte hain ki mummy papa itna pyar dekhna salman de aise lage ki unka aasu gire lekin khushi kaha shuru ho jana mehsus hota hai jo dusro ke prati jagrukta bahut badi baat hai jo dusro ko jagruk karna hai jo prabandhan ke prati mujhe bahut anand milta hai jaruratmand ko uske zarurat ko pura karne me aapka sahyog dene me anand milta hai gaana gaane me accha lagta hai tu mera aapse anurodh hai pehle aap apna nirogee sharir evam chintaman paen tabhi jaakar jeevan me anand ka upyog kar sakte hain usko mehsus kar sakta usko feel kar sakte hain aur usko yaadgaar bana sakte hain yog apanaen rog bhagaye yog apnaye anandapal dhanyavad

सबसे पहले तो मैं आपको नमस्कार आपका सवाल है जीवन को आनंदमय बनाने के लिए कुछ सरल बहुत सुंदर

Romanized Version
Likes  315  Dislikes    views  3541
WhatsApp_icon
user

Dr. J.Singh

Financial Expert || Ayurvedic Doctor

0:40
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

मित्र जीवन को आगे बढ़ाने के लिए आप फ्रेंकली और फ्रेंडली बनाइए और शिक्षक हमेशा मुसाफिर बनता है कितना अच्छा जी बताओ

mitra jeevan ko aage badhane ke liye aap frankly aur friendly banaiye aur shikshak hamesha musafir banta hai kitna accha ji batao

मित्र जीवन को आगे बढ़ाने के लिए आप फ्रेंकली और फ्रेंडली बनाइए और शिक्षक हमेशा मुसाफिर बनता

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  147
WhatsApp_icon
user

Somit Yoga Varanasi

Yoga Trainer and Astrologer

0:34
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीवन को आनंदमय बनाने के लिए सबसे पहले तो आप के जीवन के एक लक्ष्य होना चाहिए दूसरा आपको जीवन में अपने हमेशा खुश रहना चाहिए मानसिक रूप से और शारीरिक रूप से तो तभी जो है आपका जीवन को आनंदमय बिता पाएंगे हमेशा टेंशन मुक्त रखिए और खुशी चेहरे में रखिए सामने अगर कोई अगर टेंशन में है तो उसको भी खुश करने की कोशिश कीजिए इस तरीके से जीवन आनंद में बना रहेगा

jeevan ko anandamay banane ke liye sabse pehle toh aap ke jeevan ke ek lakshya hona chahiye doosra aapko jeevan me apne hamesha khush rehna chahiye mansik roop se aur sharirik roop se toh tabhi jo hai aapka jeevan ko anandamay bita payenge hamesha tension mukt rakhiye aur khushi chehre me rakhiye saamne agar koi agar tension me hai toh usko bhi khush karne ki koshish kijiye is tarike se jeevan anand me bana rahega

जीवन को आनंदमय बनाने के लिए सबसे पहले तो आप के जीवन के एक लक्ष्य होना चाहिए दूसरा आपको जीव

Romanized Version
Likes  7  Dislikes    views  70
WhatsApp_icon
user

DR OM PRAKASH SHARMA

Principal, Education Counselor, Best Experience in Professional and Vocational Education cum Training Skills and 25 years experience of Competitive Exams. 9212159179. dsopsharma@gmail.com

0:35
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

भगवान बनाने के लिए कुछ सरल उपाय बताइए सुंदर-सुंदर बात कीजिए सबके साथ संरक्षण कीजिए सबको इंसानों के निवासी देखिए सब के साथ मानवीय व्यवहार कीजिए सबको अपना समाज सेवा भाव कीजिए धर्म का पालन कीजिए जीवन सुखमय और आनंदित हो जाएगा

bhagwan banane ke liye kuch saral upay bataiye sundar sundar baat kijiye sabke saath sanrakshan kijiye sabko insano ke niwasi dekhiye sab ke saath manviya vyavhar kijiye sabko apna samaj seva bhav kijiye dharm ka palan kijiye jeevan sukhmay aur anandit ho jaega

भगवान बनाने के लिए कुछ सरल उपाय बताइए सुंदर-सुंदर बात कीजिए सबके साथ संरक्षण कीजिए सबको इं

Romanized Version
Likes  387  Dislikes    views  3170
WhatsApp_icon
user

DR. I.P.SINGH

Doctorate in Literature

3:38
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपके जीवन को आनंदमय बनाने के लिए कुछ सरल स्वभाव सीधी सी बात है कि आनंद दुख के बाहर की चीजें नहीं है अनुभूति है बाहर किसी के माध्यम होती है मनचाही सफलता मिलती है तो जो अनुभूति होती है उसे आनंद कहते हैं और मनचाही सफलता नहीं मिलती तो से जो अनुभूति होती उसे दुख कहते हैं निराशा पराजय में दुख देता है आशा और विजय हमें सुख देता नंदिनी का ठीक है तो बस ऐसा है की सबसे बड़ी बात यह है कि हम क्या करें इसके लिए तो हमेशा रखना धर्मी बने रहें गीत आया था पुराने समय में संसार 70 के दशक में गाया जाता बुरी है बुराई मेरे दोस्तों बुरा कहो ना बुरा मत सोचो बुरा देखो तो बुराई बुराई क्या है समाज परिवार या मानवता इसे अनुचित समझती जितेश का नुकसान होता है अपना भी नुकसान हो वह भी बुरा ही पूछा था चाय पीनी चाहिए तुलना में चाय पीना कहीं ज्यादा अच्छा है और मैं मानता हूं कि काम करने के लिए सहारा तो चाहिए बहुत कम आते समय नहीं होते तो सुबह नाश्ता कर लिए दोपहर का खाना खा लिए तो काम कर ले आपके साथ में काम करने वाले लोग जब हो जाते हैं तो उसके लिए एक माध्यम बन गया है और चाय तो अब क्या कहा जा पूरे वर्ल्ड में शायद है आलू और सरदार कहा जाता था तो हमारी चलते आलू सरदारनी मिली चाय जरूर मिलती है ऐसी चीज है जो गर्मी में भी चलती है ठंडी लगती है ठीक है अति सर्वत्र वर्जित बेटा आपसे यही आग्रह है कि बुराई से दूर रहो इंसान और इंसानियत के रास्ते पर जो बाधा बने उसे ढूंढो अच्छे विचार को चलने की कोशिश करो और कभी मन अगर दुखी नहीं होता है तो मन क्यों पर सत्ता का विश करने की कोशिश करो निश्चित है आनंद हमेशा आपके पास विराजमान रहेगा आनंद एक अनुभूति है आप पास में होते तो मैं आपको बताता है कि रुकी रोटी को भी गुलाब जामुन समझ खाया जाए तो धीरे-धीरे गुलाब जामुन का स्वाद आ जाएगा क्योंकि गुलाब जामुन कम होती है पेट भरने का बीच में दलाली आ गई है जी सकता लेकिन पत्नी अब जिंदगी का एक हिस्सा बन गई है क्योंकि हमारी मानसिकता कुछ ऐसी हो गई है पशु-पक्षी भी वासना से जुड़े हैं लेकिन एक गाय या भैंस साल भर में एक दो बार शारीरिक संबंध करके एजेंसी के बाद भूल जाते हैं अपने साथी को हम रोज इसी में डूबे रहते हैं केवल एक मानसिकता का अंतर है तो बस आपसे निवेदन है कि सादा जीवन उच्च विचार अपना आनंद से जीवन जीने

aapke jeevan ko anandamay banane ke liye kuch saral swabhav seedhi si baat hai ki anand dukh ke bahar ki cheezen nahi hai anubhuti hai bahar kisi ke madhyam hoti hai manchahi safalta milti hai toh jo anubhuti hoti hai use anand kehte hain aur manchahi safalta nahi milti toh se jo anubhuti hoti use dukh kehte hain nirasha parajay me dukh deta hai asha aur vijay hamein sukh deta nandini ka theek hai toh bus aisa hai ki sabse badi baat yah hai ki hum kya kare iske liye toh hamesha rakhna dharami bane rahein geet aaya tha purane samay me sansar 70 ke dashak me gaaya jata buri hai burayi mere doston bura kaho na bura mat socho bura dekho toh burayi burayi kya hai samaj parivar ya manavta ise anuchit samajhti Jitesh ka nuksan hota hai apna bhi nuksan ho vaah bhi bura hi poocha tha chai peeni chahiye tulna me chai peena kahin zyada accha hai aur main maanta hoon ki kaam karne ke liye sahara toh chahiye bahut kam aate samay nahi hote toh subah nashta kar liye dopahar ka khana kha liye toh kaam kar le aapke saath me kaam karne waale log jab ho jaate hain toh uske liye ek madhyam ban gaya hai aur chai toh ab kya kaha ja poore world me shayad hai aalu aur sardar kaha jata tha toh hamari chalte aalu sardarni mili chai zaroor milti hai aisi cheez hai jo garmi me bhi chalti hai thandi lagti hai theek hai ati sarvatra varjit beta aapse yahi agrah hai ki burayi se dur raho insaan aur insaniyat ke raste par jo badha bane use dhundho acche vichar ko chalne ki koshish karo aur kabhi man agar dukhi nahi hota hai toh man kyon par satta ka wish karne ki koshish karo nishchit hai anand hamesha aapke paas viraajamaan rahega anand ek anubhuti hai aap paas me hote toh main aapko batata hai ki ruki roti ko bhi gulab jamun samajh khaya jaaye toh dhire dhire gulab jamun ka swaad aa jaega kyonki gulab jamun kam hoti hai pet bharne ka beech me dalali aa gayi hai ji sakta lekin patni ab zindagi ka ek hissa ban gayi hai kyonki hamari mansikta kuch aisi ho gayi hai pashu pakshi bhi vasana se jude hain lekin ek gaay ya bhains saal bhar me ek do baar sharirik sambandh karke agency ke baad bhool jaate hain apne sathi ko hum roj isi me doobe rehte hain keval ek mansikta ka antar hai toh bus aapse nivedan hai ki saada jeevan ucch vichar apna anand se jeevan jeene

आपके जीवन को आनंदमय बनाने के लिए कुछ सरल स्वभाव सीधी सी बात है कि आनंद दुख के बाहर की चीजे

Romanized Version
Likes  130  Dislikes    views  1633
WhatsApp_icon
user
Play

Likes  110  Dislikes    views  2019
WhatsApp_icon
user

Anita Maurya

कवियित्री & गायिकी

1:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

सबसे अच्छा सवाल आपके हैं जीवन को आनंदमय बनाने के सुझाव में इतने कहना चाहेंगे हम मेरी रानी के जीवन का आनंद इसमें ही है कि आप आपका जो मतलब आपका जो संस्कार के लीजिए आपके अंदर जो संस्कार जैसे भी संस्कार आपके अंदर हो उस आधार पर उसी आधार पर आपका नेचर होगा तो उसी नेचर के आधार पर आपको हो सका फर्नीचर दूषित हो तो आप किसी को मार कर खुश हो सकते हैं या बहुत सरल है तो आप परोपकार होकर को एकदम पक्की बता दीजिए

sabse accha sawaal aapke hain jeevan ko anandamay banane ke sujhaav me itne kehna chahenge hum meri rani ke jeevan ka anand isme hi hai ki aap aapka jo matlab aapka jo sanskar ke lijiye aapke andar jo sanskar jaise bhi sanskar aapke andar ho us aadhar par usi aadhar par aapka nature hoga toh usi nature ke aadhar par aapko ho saka furniture dushit ho toh aap kisi ko maar kar khush ho sakte hain ya bahut saral hai toh aap paropkaar hokar ko ekdam pakki bata dijiye

सबसे अच्छा सवाल आपके हैं जीवन को आनंदमय बनाने के सुझाव में इतने कहना चाहेंगे हम मेरी रानी

Romanized Version
Likes  167  Dislikes    views  2200
WhatsApp_icon
user

Peyush Bhatia

Lifecoach | Relationship Coach

2:00
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीवन को आनंदित बनाने के लिए सबसे पहले तो कंट्रोल करने की चेष्टा ना करें किसी भी चीज को कंट्रोल करने की चेष्टा ना करें बहुत सी बातें जो परिस्थितियां ऐसी होती है जिसके बारे में मैं चाह कर भी कुछ नहीं कर सकते उन्हें बदलने की जगह स्वयं पर काम करें रिया करने की बजाय स्वयं का प्रयोग करें इससे बढ़िया सुझाव नहीं हो सकता दूसरी चीज जो मैं कहना चाहती हूं वह यह है कि जो भी आप दूसरों से चाहते हैं ना वह दूसरों को देने लगे आपने मेरी मां कहती थी अगर तुम्हें इज्जत चाहिए अभी अगर तुम्हें प्रेम चाहिए तो लोगों को वह देना शुरू कर दो तुम्हें वह अपने आप आ जाएगा तो दूसरों से अपेक्षा रखने की बजाय उन्हें देने लगे और सोच कर देखें जब हम कोई चीज किसी को देते हैं तो वह पहले हमें मिलती है पर अगर मैं किसी को गुस्सा करती हूं तो वह गुस्सा पहले कहां महफिल करती हूं अपनी बॉडी में ना अपने अंदर ना तो जो भी हम चाहते हैं लोगों से बहुत गर्म देना शुरू कर दे दे बदले में वह हमें दिल ने भी लगेगा तो मैं आपसे शेयर करना चाहती हूं कि अपने चारों और नजर घुमाओ इतनी खूबसूरती बिखरी पड़ी है इतना हर एक चीज भगवान ने जो बनाई है वह बहुत ही खूबसूरत है उसका आनंद लें अगर इससे भी खाना है ना तो उसे आराम से 11 फाइट को इंजॉय करते हुए खाएं ठीक हैं आप कितना अपने आपको इसमें आपको कितनी आनंद की प्राप्ति होगी चीज जो मैं आपसे शेयर करना चाहती हूं यह है कि जीवन बहुत ही छोटा है लोगों की गलतियों को बुझा लेकर मत चले अगर किसी ने आपके साथ कुछ गलत किया है तो उसका बुझा बनाकर अपने ऊपर लात के चलने की बजाय जल्दी-जल्दी माफ करना शुरू करें हटो ब्रजेश को छोड़ दो आप बहुत हल्का महसूस करोगे इस पर इस हर परिस्थिति को ऐसे देखो कि जैसे वह परिस्थिति आपको कुछ सिखाने आई है जब आप इस नजरिए से जीवन को देखना शुरू करो

jeevan ko anandit banaane ke liye sabse pehle toh control karne ki cheshta na karen kisi bhi cheez ko control karne ki cheshta na karen bahut si batein jo paristhiyaann aisi hoti hai jiske bare mein main chah kar bhi kuch nahi kar sakte unhe badalne ki jagah swayam par kaam karen riya karne ki bajay swayam ka prayog karen isse badhiya sujhaav nahi ho sakta dusri cheez jo main kehna chahti hoon vaah yah hai ki jo bhi aap dusron se chahte hain na vaah dusron ko dene lage aapne meri maa kehti thi agar tumhe izzat chahiye abhi agar tumhe prem chahiye toh logon ko vaah dena shuru kar do tumhe vaah apne aap aa jaega toh dusron se apeksha rakhne ki bajay unhe dene lage aur soch kar dekhen jab hum koi cheez kisi ko dete hain toh vaah pehle hamein milti hai par agar main kisi ko gussa karti hoon toh vaah gussa pehle kahaan mehfil karti hoon apni body mein na apne andar na toh jo bhi hum chahte hain logon se bahut garam dena shuru kar de de badle mein vaah hamein dil ne bhi lagega toh main aapse share karna chahti hoon ki apne charo aur nazar ghumao itni khoobsoorti bikhri padi hai itna har ek cheez bhagwan ne jo banai hai vaah bahut hi khoobsurat hai uska anand lein agar isse bhi khana hai na toh use aaram se 11 fight ko enjoy karte hue khayen theek hain aap kitna apne aapko isme aapko kitni anand ki prapti hogi cheez jo main aapse share karna chahti hoon yah hai ki jeevan bahut hi chota hai logon ki galatiyon ko bujha lekar mat chale agar kisi ne aapke saath kuch galat kiya hai toh uska bujha banakar apne upar laat ke chalne ki bajay jaldi jaldi maaf karna shuru karen hato brajesh ko chhod do aap bahut halka mahsus karoge is par is har paristhiti ko aise dekho ki jaise vaah paristhiti aapko kuch sikhane I hai jab aap is nazariye se jeevan ko dekhna shuru karo

जीवन को आनंदित बनाने के लिए सबसे पहले तो कंट्रोल करने की चेष्टा ना करें किसी भी चीज को कंट

Romanized Version
Likes  11  Dislikes    views  326
WhatsApp_icon
user

Dr. Suman Aggarwal

Personal Development Coach

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीवन को आनंद में बनाने के लिए सबसे सरल और सही उपाय मेरे हिसाब से यह है कि आप इस पल में खुश रहे पास्ट के बारे में ना सोचो जो हो चुका है उसे आप नहीं बन सकते तो उसे लेट इट गो कर दें और शिव जी आप को डिजाइन करना है अपने हिसाब से बनाना है लेकिन उसका स्ट्रेस ना हो और आप प्रसन्न मोमेंट में खुश रह कर आनंदित हो कर जी सकूं सिंपल

jeevan ko anand mein banaane ke liye sabse saral aur sahi upay mere hisab se yah hai ki aap is pal mein khush rahe past ke bare mein na socho jo ho chuka hai use aap nahi ban sakte toh use let it go kar dein aur shiv ji aap ko design karna hai apne hisab se banana hai lekin uska stress na ho aur aap prasann moment mein khush reh kar anandit ho kar ji sakun simple

जीवन को आनंद में बनाने के लिए सबसे सरल और सही उपाय मेरे हिसाब से यह है कि आप इस पल में खुश

Romanized Version
Likes  10  Dislikes    views  340
WhatsApp_icon
user

Yog Guru Amit Agrawal Rishiyog

Yoga Acupressure Expert

1:22
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कि जीवन को आनंद बनाने के लिए कुछ सरल सुझाव दीजिए अगर आप जीवन को आनंदमय बनाना चाहते हैं तो आप अपनी सभी चीजों का इस्तेमाल मर्यादा में करना सीख लीजिए आप जो भी भौतिक सुख सुविधाएं जो भी आप अपने दिनचर्या का चीजों का इस्तेमाल करते हैं उनमें एक लिमिटेशन बना लीजिए एक दायरा मैं कहूंगा कि एक सीमित मात्रा में उनका इस्तेमाल करिए पैसे के पीछे मत भाग्य शांति और आनंद की खोज करिए अपने जीवन में योग को फॉलो करिए योग को जीवन में उतार लीजिए योग सिर्फ आसन और प्राणायाम नहीं है योग जीवन जीने की कला है आपको मानसिक रूप से सुकून देता है शांति देता है आनंद देता है जब आप ईश्वर के म घर को पर आगे बढ़ते हैं क्योंकि वह ईश्वर आनंद का स्रोत है तो नेचुरल जब आप नदी के पास जाते हैं तो आपको ठंडक का अहसास होता है ठीक इसी तरह जवाब ईश्वर मार्ग पर चलते हैं तो उस ऊर्जा उस आनंद का स्रोत हमारे अंदर भी धीरे-धीरे बहने लगता है हरि ओम

aapka prashna hai ki jeevan ko anand banane ke liye kuch saral sujhaav dijiye agar aap jeevan ko anandamay banana chahte hain toh aap apni sabhi chijon ka istemal maryada mein karna seekh lijiye aap jo bhi bhautik sukh suvidhaen jo bhi aap apne dincharya ka chijon ka istemal karte hain unmen ek limitation bana lijiye ek dayara main kahunga ki ek simit matra mein unka istemal kariye paise ke peeche mat bhagya shanti aur anand ki khoj kariye apne jeevan mein yog ko follow kariye yog ko jeevan mein utar lijiye yog sirf aasan aur pranayaam nahi hai yog jeevan jeene ki kala hai aapko mansik roop se sukoon deta hai shanti deta hai anand deta hai jab aap ishwar ke main ghar ko par aage badhte hain kyonki vaah ishwar anand ka srot hai toh natural jab aap nadi ke paas jaate hain toh aapko thandak ka ahasas hota hai theek isi tarah jawab ishwar marg par chalte hain toh us urja us anand ka srot hamare andar bhi dhire dhire behne lagta hai hari om

आपका प्रश्न है कि जीवन को आनंद बनाने के लिए कुछ सरल सुझाव दीजिए अगर आप जीवन को आनंदमय बनान

Romanized Version
Likes  429  Dislikes    views  3807
WhatsApp_icon
user

Rishi Mishra

Rehabilitation Psychologist

1:52
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीवन को आनंद में बनाने के लिए आपको नेचर के पास और जाना पड़ेगा फर्नीचर के पास जाने का मतलब यह है कि छोटी छोटी चीजों में हम जो हर सुख की तलाश करते हैं हमें उसको अपने दिमाग में हमेशा संजोकर रखना चाहिए क्योंकि वही हमारा एक-एक सोर्स आफ एनर्जी होता है और क्या है कि हर इंसान में हर विचार में और उसने हमें इन्वेस्ट करना है मंडे शनिवार है उसमें हमें विश करना है और बिना लगाएं सप्तमी करते हैं कि नहीं हम अपने काम में 2 लोगों की एक जरूरी काम है जो देता है लेकिन हमारे अंदर क्या है कि एंड ग्रिटिफिकेशन बीमारी होती है के रिजल्ट आने में कोई अच्छे काम में जो रिजल्ट आता है वह लेट आता है लेकिन कंक्रीट आता है और कोई बुरा काम आ जाता है लेकिन वह आगे जाकर जो है वह नुकसान देता आदमी को शायद इतनी प्रॉब्लम ना हो लोग लाइफ में

jeevan ko anand mein banane ke liye aapko nature ke paas aur jana padega furniture ke paas jaane ka matlab yeh hai ki choti choti chijon mein hum jo har sukh ki talash karte hain humein usko apne dimag mein hamesha sanjokar rakhna chahiye kyonki wahi hamara ek ek source of energy hota hai aur kya hai ki har insaan mein har vichar mein aur usne humein invest karna hai monday shaniwaar hai usmein humein wish karna hai aur bina lagaen saptami karte hain ki nahi hum apne kaam mein 2 logon ki ek zaroori kaam hai jo deta hai lekin hamare andar kya hai ki end gritifikeshan bimari hoti hai ke result aane mein koi acche kaam mein jo result aata hai wah let aata hai lekin kankrit aata hai aur koi bura kaam aa jata hai lekin wah aage jaakar jo hai wah nuksan deta aadmi ko shayad itni problem na ho log life mein

जीवन को आनंद में बनाने के लिए आपको नेचर के पास और जाना पड़ेगा फर्नीचर के पास जाने का मतलब

Romanized Version
Likes  82  Dislikes    views  1625
WhatsApp_icon
user
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

नमस्कार आपका प्रश्न है जीवन को आनंदमय बनाने के लिए कुछ सरल सुझाव दीजिए लिखी यदि आप जीवन को आनंद में बढ़ाना चाहते हैं तो उसके लिए आपको अपने मनपसंद अपनी इच्छा अनुरूप कार्य करने होते हैं जिनसे आपको आनंद की प्राप्ति होती है खुशियां मिलती है और आपके मन में शांति का अनुभव करने लगते हैं इसलिए जो भी कार्य आपको पसंद हो उन कार्य करें दूसरों की सहायता करें जिससे मन को सुख और शांति दोनों का ही भाव प्राप्त होता है धन्यवाद आपका दिन शुभ हो

namaskar aapka prashna hai jeevan ko anandamay banane ke liye kuch saral sujhaav dijiye likhi yadi aap jeevan ko anand mein badhana chahte hain toh uske liye aapko apne manpasand apni iccha anurup karya karne hote hain jinse aapko anand ki prapti hoti hai khushiyan milti hai aur aapke man mein shanti ka anubhav karne lagte hain isliye jo bhi karya aapko pasand ho un karya karen dusron ki sahaayata karen jisse man ko sukh aur shanti dono ka hi bhav prapt hota hai dhanyavad aapka din shubha ho

नमस्कार आपका प्रश्न है जीवन को आनंदमय बनाने के लिए कुछ सरल सुझाव दीजिए लिखी यदि आप जीवन को

Romanized Version
Likes  205  Dislikes    views  2254
WhatsApp_icon
user
3:02
Play

Likes  19  Dislikes    views  377
WhatsApp_icon
user

Medha Gupta

Clinical Psychologist

4:46
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपके जीवन में हम हम सब लाचार लगे हम भाव के तौर पर इमोशनल लाइन इन इंटेलेक्चुअल व्हाट्सएप जीवन को किस नजरिए से देखते हैं जो मतलब आपकी जीवन में आपको कौन सी चीज से सुख मिलता है सुख एक रोजमर्रा की खुशी के बहुत गंदे सुख में कहीं ना कहीं है ओम शांति शांति की उपलब्धि होती है जहां पर आपको लगता है कि मेरा स्टेटस अगर आपको अगर आपको एक अच्छा जीवन जीना अपने जीवन को शहर बनाना सबसे पहले तो इसका मतलब सादा जीवन उच्च विचार उतना ज्यादा परेशान हो चुकी हमेशा जीवन में कोई ना कोई होगा जो आपसे आंसर देती है आपको इमोशनली मेंटल हॉस्पिटल हर तरीके से आपकी खुशी को मेंटेन करते हो अगर आप अपने लिए कुछ कर रहे हैं जैसे कि आप जो मेरे मेरे अंदर बिल्कुल ताकत ही कुछ काम करो अच्छे लोगों के साथ रहते हैं अच्छी बातें करते हैं उनके साथ आप लोगों का आपस में अच्छा रिलेशनशिप है अच्छे लोगों से शुरू करेंगे अच्छी बात होती है जैसे कि आपको अच्छा लगता है छोटे बच्चे का छोटे जानवर आपके पास आकर बैठते हैं आपको हम को सहलाने में प्यार करने में आपको कैसा महसूस होता है जिस जिस भी चीज को करके आपके मन में प्रेम मराठी ट्यून महसूस हो इसका मतलब आपकी जिंदगी में प्रॉब्लम पैदा करते हैं थोड़ा सा टॉपिक इन जैसे लोगों को धीमे धीमे तेज करने की आप कुछ कर सकते हैं आप चाहे आप मेरे लिए कुछ अच्छी से अच्छी प्रैक्टिस डांस फ्लोर कंप्लीट करते अपने दिमाग में या ब्रेक फ्री करने में हेल्प जाकर व्यक्तित्व के होते हैं अपने आप अवधि में कि मैं अच्छा और बहुत कंट्रोल में ही करने लगे

aapke jeevan mein hum hum sab lachar lage hum bhav ke taur par emotional line in intellectual whatsapp jeevan ko kis nazariye se dekhte hain jo matlab aapki jeevan mein aapko kaun si cheez se sukh milta hai sukh ek rozmarra ki khushi ke bahut gande sukh mein kahin na kahin hai om shanti shanti ki upalabdhi hoti hai jahan par aapko lagta hai ki mera status agar aapko agar aapko ek accha jeevan jeena apne jeevan ko shehar banana sabse pehle toh iska matlab saada jeevan ucch vichar utana zyada pareshan ho chuki hamesha jeevan mein koi na koi hoga jo aapse answer deti hai aapko emotionally mental hospital har tarike se aapki khushi ko maintain karte ho agar aap apne liye kuch kar rahe hain jaise ki aap jo mere mere andar bilkul takat hi kuch kaam karo acche logon ke saath rehte hain achi batein karte hain unke saath aap logon ka aapas mein accha Relationship hai acche logon se shuru karenge achi baat hoti hai jaise ki aapko accha lagta hai chhote bacche ka chhote janwar aapke paas aakar baithate hain aapko hum ko sahlane mein pyar karne mein aapko kaisa mahsus hota hai jis jis bhi cheez ko karke aapke man mein prem marathi tune mahsus ho iska matlab aapki zindagi mein problem paida karte hain thoda sa topic in jaise logon ko dhime dhime tez karne ki aap kuch kar sakte hain aap chahen aap mere liye kuch achi se achi practice dance floor complete karte apne dimag mein ya break free karne mein help jaakar vyaktitva ke hote hain apne aap awadhi mein ki main accha aur bahut control mein hi karne lage

आपके जीवन में हम हम सब लाचार लगे हम भाव के तौर पर इमोशनल लाइन इन इंटेलेक्चुअल व्हाट्सएप ज

Romanized Version
Likes  22  Dislikes    views  388
WhatsApp_icon
user

J.P. Y👌g i

Psychologist

3:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

प्रश्न है जीवन को आनंद बनाने के लिए कुछ सरल सुझाव दीजिए देखे जीवन को आनंद बनाने की आवश्यकता ही नहीं है क्योंकि अज्ञानता के कारण हमें ऐसा लगता है कि संघर्ष करना पड़ेगा नंद के लिए क्योंकि जीवात्मा और आत्मा का जो स्वरूप दिखाएगा शर्मा आनंद युक्त है और उसका जो स्वरूप * है वह आनंदित है और आनंद और स्वच्छंदता है इसका प्रमुख कौन है क्योंकि यह बिंदास कहां से आता है कहां चला जाता है उसका कोई रोक-टोक है ही नहीं यह वर्तमान एक जो जीवन है यह कुछ शरीर के पलों के लिए है जिसमें जीवित है उसमें हम जो भी कुछ बटोर पा रहे हैं क्योंकि प्रकृति ने इस जन्म इसीलिए दिया है कि वह स्वाभाविक रूप से बाय मुखी हो और उसमें कार्यरत हो तो पकड़ती ही चलाएं मान करके जीवो की सृजना कर रहे और जीवन को जब वह निर्धारित करके उसको सेल्फ छोड़ रही है तो उसको करता भी अकेली ही छोड़ रहा है तो उसे कुछ करना पड़ेगा तो यहां भाग्य वरिया दुर्भाग्यवश राजस्थान के अंदर ज्ञान की चेष्टा धारा प्रवाहित होती है और उसमें वह किस कर्मों में लिप्त हो रहा है उसी का ही परिणाम भोगना पड़ता है सुख-दुख की जो भी चीज है वह है कर्मों के आधार पर हो जाता और ज्ञान का संकलन निहायत तो जिनको अध्यात्मिक ज्ञान हो जाता है उन्हें पता है कि जगत चेतन तब से प्रकाशमान हो रहा है संसार समग्र संसार की जो भी चीजें हमें साक्षात्कार करा रही है वह हमारी ही चेतन बिंदु का कारण है तो यूज़ रंजकता आ रही है विषयों की प्रकृति रूप से तो शरीर के रूप यंत्र से जो संसार की संरचना है उसका जो आनंद भोग होता है वह कौन कर रहा है वह चेतन पुरी करता है उसी कांसा मारे अंतर्गत है लेकिन आ सकती और कामनाओं बस हम उस पर रोड होते हैं और उसको दूसरे ढंग से पकड़ने की कोशिश करते हैं तो यही है कि उसका दी पत्ते बनने के लिए जो हमार चेष्टा प्रयास होता है और वह एक तो संभावित रूप से प्राप्त रहता ही है और कुछ कर्मों के द्वारा उस पर हम अपना वशिष्ठ निर्धारित कर लेते हैं तो यही सारी चीजें है कि अगर आनंद से रहने का जो सुझाव है स्वयं ही है विद्या जी समय आने लगती है योगेश्वर चित्र वृत्ति निरोध से ऐसी स्थिति के अंदर जब बाहरी व्यक्तियों का विरोध हो जाता है तो उसके अंदर चुप्पी रन प्रभु जिससे यह सुनिश्चित हो करके तंग धाराएं बहती है और वह और अंतर्मुखी में अगर प्रेरणा के स्रोत ले करके हम अंदर जाएं तो वह स्वभाविक स्वरूप हमारा भाषित हो जाता है जो सदैव आनंद युक्त होता है तो यह कारण को आप जान करके सेमी स्वच्छंदता से निर्वाह कर सकते हैं और यह आपका प्रयास होगा धन्यवाद में जेपी योगी वह कल प्लेटफार्म से बोल रहा हूं

prashna hai jeevan ko anand banane ke liye kuch saral sujhaav dijiye dekhe jeevan ko anand banane ki avashyakta hi nahi hai kyonki agyanata ke karan hamein aisa lagta hai ki sangharsh karna padega nand ke liye kyonki jivaatma aur aatma ka jo swaroop dikhaega sharma anand yukt hai aur uska jo swaroop hai vaah anandit hai aur anand aur swacchandata hai iska pramukh kaun hai kyonki yah bindas kaha se aata hai kaha chala jata hai uska koi rok tok hai hi nahi yah vartmaan ek jo jeevan hai yah kuch sharir ke palon ke liye hai jisme jeevit hai usme hum jo bhi kuch bator paa rahe hain kyonki prakriti ne is janam isliye diya hai ki vaah swabhavik roop se bye mukhi ho aur usme karyarat ho toh pakadti hi chalaye maan karke jeevon ki srijna kar rahe aur jeevan ko jab vaah nirdharit karke usko self chhod rahi hai toh usko karta bhi akeli hi chhod raha hai toh use kuch karna padega toh yahan bhagya variya durbhaagyavash rajasthan ke andar gyaan ki cheshta dhara pravahit hoti hai aur usme vaah kis karmon mein lipt ho raha hai usi ka hi parinam bhogna padta hai sukh dukh ki jo bhi cheez hai vaah hai karmon ke aadhar par ho jata aur gyaan ka sankalan nihayat toh jinako adhyatmik gyaan ho jata hai unhe pata hai ki jagat chetan tab se prakashman ho raha hai sansar samagra sansar ki jo bhi cheezen hamein sakshatkar kara rahi hai vaah hamari hi chetan bindu ka karan hai toh use ranjakata aa rahi hai vishyon ki prakriti roop se toh sharir ke roop yantra se jo sansar ki sanrachna hai uska jo anand bhog hota hai vaah kaun kar raha hai vaah chetan puri karta hai usi kansa maare antargat hai lekin aa sakti aur kamanaon bus hum us par road hote hain aur usko dusre dhang se pakadane ki koshish karte hain toh yahi hai ki uska di patte banne ke liye jo hamar cheshta prayas hota hai aur vaah ek toh sambhavit roop se prapt rehta hi hai aur kuch karmon ke dwara us par hum apna vashistha nirdharit kar lete hain toh yahi saari cheezen hai ki agar anand se rehne ka jo sujhaav hai swayam hi hai vidya ji samay aane lagti hai yogeshwar chitra vriti nirodh se aisi sthiti ke andar jab baahri vyaktiyon ka virodh ho jata hai toh uske andar chuppi run prabhu jisse yah sunishchit ho karke tang dharayen behti hai aur vaah aur antarmukhi mein agar prerna ke srot le karke hum andar jayen toh vaah swabhavik swaroop hamara bhashit ho jata hai jo sadaiv anand yukt hota hai toh yah karan ko aap jaan karke semi swacchandata se nirvah kar sakte hain aur yah aapka prayas hoga dhanyavad mein jp yogi vaah kal platform se bol raha hoon

प्रश्न है जीवन को आनंद बनाने के लिए कुछ सरल सुझाव दीजिए देखे जीवन को आनंद बनाने की आवश्यक

Romanized Version
Likes  197  Dislikes    views  3179
WhatsApp_icon
user

Pankaj Kr(youtube -AJ PANKAJ MATHS GURU)

Motivational Speaker/YouTube-AJ PANKAJ MATHS GURU

0:29
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीवन को आनंद में बनाना चाहते हैं और मन को प्रसन्न रखें आत्म संतुष्टि से कार्य करें संतोष की भावना रखें शांति का माहौल बताओ क्रिएट करें यदि संभव हो तो परेशान दिखाई करें ईमानदारी से कार्य करें दूसरे की भलाई करें दूसरे को परोपकार करें आपको जरूर जीवन में आनंद प्राप्ति होगी दूसरे कमेंट करने से दूसरे को काटने से जीवन में खुशियां होती है

jeevan ko anand mein banana chahte hain aur man ko prasann rakhen aatm santushti se karya karen santosh ki bhavna rakhen shanti ka maahaul batao create karen yadi sambhav ho toh pareshan dikhai karen imaandaari se karya karen dusre ki bhalai karen dusre ko paropkaar karen aapko zaroor jeevan mein anand prapti hogi dusre comment karne se dusre ko katne se jeevan mein khushiyan hoti hai

जीवन को आनंद में बनाना चाहते हैं और मन को प्रसन्न रखें आत्म संतुष्टि से कार्य करें संतोष क

Romanized Version
Likes  177  Dislikes    views  1621
WhatsApp_icon
user

Er Pankaj Rai

International Motivational speaker · Counsellor · Writer. Trainer

4:05
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आनंद कृषि जीवन में अगर कहीं है और कहीं आप उसको पा सकते हैं तो वह केवल अभी हो रही है और इसी शिक्षण है वरना कभी नहीं है आनंद आपकी मानसिक अवस्था है और जब दिमाग अपनी चैटिंग बंद कर देता है या दिमाग आपको भोपाल या पाकिस्तान में जाने से रोक देता है जबकि दे मां का अमन अमन हो जाता है तो दिल आपकी भावनाओं को अभिव्यक्त करने के लिए प्रेरित होता है और जब भी आपको ही कार्य दिल से करते हैं दिमाग उसको फॉलो करता है और आप आनंदित होते हैं आप गाना दिमाग भी नहीं कर सकते गाना आप दिल से कहते हैं आप टेंशन दिमाग से नहीं कर सकते आप दिल पर डांस करते हैं तीन-तीन आप दिमाग से नहीं कर सकते हैं आप दिल से पेंटिंग करते हैं आनंद एक कला की अभिव्यक्ति है और जब आप भी अपनी अभिव्यक्ति को व्यक्त करने के लिए आपके पास कुछ नहीं रहता है तो आप अपनी कला के बारे में कभी व्यक्त करते हैं आनंद पूर्ण होने के लिए सबसे पहली कंडीशन है और ज्यादा से ज्यादा आप वर्तमान में चाहिए क्योंकि आनंद जो है आपको अभी और यही पता है वरना कभी नहीं दूसरा अपने मुस्कान को अपने वर्तमान में ज्यादा से ज्यादा नालाकर वर्तमान में ग्राम जी रहे हैं आप आनंद तीसरा जो सबसे महत्वपूर्ण चीज है अगर आप जीवन में आनंदित होना चाहते हैं तो अपने आप से प्यार करें जिस ठाठ लागे चौकी जब तक आप अपने आप से प्यार नहीं करेंगे आप आनंदित नहीं हो सकते और ना ही वह प्यार आप दूसरे को दे पाएंगे क्योंकि दूसरे को आपको वही दे पाएंगे जो आपके पास होगा यह साड़ी वाली औरतों समाचार यू कैन चौथा जो सबसे महत्वपूर्ण चाहिए अगर आप जीवन में आरंभिक होना चाहते हैं तो निस्वार्थ भाव से काम करें तो नहीं होना चाहिए अहंकार भीम जीवन वासियों की थी कि मुझे आपकी आनंद होने में सबसे सबसे बड़ा क्या होता है जैसे अंधेरा और उजाला एक साथ नहीं हो सकते हैं ऐसे व्यक्ति जो बहुत ही कोई भी पिक है या इंकारी है वह आनंदित नहीं हो सकता क्योंकि को आपके आनंद में सबसे बड़ा देव थान काला करता है वह आपको खुल्ले नहीं देता बाप को सरल नहीं होने देता वह आपको रेपिड्टैग्स तक और राजनीतिक बनाता है आपको कठिन बनाता है आपको कठोर बनाता है और जब तक आप के सरल नहीं हो सकते नेत्रालय हो सकते वास्तविक क्यों सकते फ्लैक्सिबल नहीं हो सकते सजाएं नहीं हो सकते तब तक आप जीवन में आनंद एक नहीं हो सकते और पांचवी और महत्वपूर्ण कंडीशन है थोड़े से सकारात्मक रहे कोई भी नकारात्मक व्यक्ति जीवन में आनंद नहीं हो पाता उसे हर चीज गलत ही गलत दिखाई देता है तो जीवन का दृष्टिकोण बदले चीजों में सकारात्मकता देखें जीवन में जो कुछ भी घटित हो रहा है वह कहीं ना कहीं आपकी बहादुरी के लिए गठित हो रहा है उसको स्वीकार करें और पूरे दिल के साथ को आत्मसात करें उस परिस्थिति का नाम एकाकी सामना करने की बजाय खुद परिस्थिति को आत्मसात करें और यह मानकर अपने भाषण को चाहिए कि आपकी बहादुरी के लिए इससे बेहतर कुछ नहीं हो सकता तो इस तरह अगर आप जीवन यापन करेंगे तो जीवन का हर क्षण आपको आनंद की अनुभूति देगा

anand krishi jeevan mein agar kahin hai aur kahin aap usko paa sakte hain toh vaah keval abhi ho rahi hai aur isi shikshan hai varana kabhi nahi hai anand aapki mansik avastha hai aur jab dimag apni chatting band kar deta hai ya dimag aapko bhopal ya pakistan mein jaane se rok deta hai jabki de maa ka aman aman ho jata hai toh dil aapki bhavnao ko abhivyakt karne ke liye prerit hota hai aur jab bhi aapko hi karya dil se karte hain dimag usko follow karta hai aur aap anandit hote hain aap gaana dimag bhi nahi kar sakte gaana aap dil se kehte hain aap tension dimag se nahi kar sakte aap dil par dance karte hain teen teen aap dimag se nahi kar sakte hain aap dil se painting karte hain anand ek kala ki abhivyakti hai aur jab aap bhi apni abhivyakti ko vyakt karne ke liye aapke paas kuch nahi rehta hai toh aap apni kala ke bare mein kabhi vyakt karte hain anand purn hone ke liye sabse pehli condition hai aur zyada se zyada aap vartmaan mein chahiye kyonki anand jo hai aapko abhi aur yahi pata hai varana kabhi nahi doosra apne muskaan ko apne vartmaan mein zyada se zyada nalakar vartmaan mein gram ji rahe hain aap anand teesra jo sabse mahatvapurna cheez hai agar aap jeevan mein anandit hona chahte hain toh apne aap se pyar karen jis thaath lage chowki jab tak aap apne aap se pyar nahi karenge aap anandit nahi ho sakte aur na hi vaah pyar aap dusre ko de payenge kyonki dusre ko aapko wahi de payenge jo aapke paas hoga yah saree waali auraton samachar you can chautha jo sabse mahatvapurna chahiye agar aap jeevan mein aarambhik hona chahte hain toh niswarth bhav se kaam karen toh nahi hona chahiye ahankar bhim jeevan vasiyo ki thi ki mujhe aapki anand hone mein sabse sabse bada kya hota hai jaise andhera aur ujaala ek saath nahi ho sakte hain aise vyakti jo bahut hi koi bhi pic hai ya inkari hai vaah anandit nahi ho sakta kyonki ko aapke anand mein sabse bada dev than kaala karta hai vaah aapko khulle nahi deta baap ko saral nahi hone deta vaah aapko repidtaigs tak aur raajnitik banata hai aapko kathin banata hai aapko kathor banata hai aur jab tak aap ke saral nahi ho sakte netralaya ho sakte vastavik kyon sakte flaiksibal nahi ho sakte sajayen nahi ho sakte tab tak aap jeevan mein anand ek nahi ho sakte aur paanchvi aur mahatvapurna condition hai thode se sakaratmak rahe koi bhi nakaratmak vyakti jeevan mein anand nahi ho pata use har cheez galat hi galat dikhai deta hai toh jeevan ka drishtikon badle chijon mein sakaraatmakata dekhen jeevan mein jo kuch bhi ghatit ho raha hai vaah kahin na kahin aapki bahaduri ke liye gathit ho raha hai usko sweekar karen aur poore dil ke saath ko aatmsat karen us paristhiti ka naam ekaki samana karne ki bajay khud paristhiti ko aatmsat karen aur yah manakar apne bhashan ko chahiye ki aapki bahaduri ke liye isse behtar kuch nahi ho sakta toh is tarah agar aap jeevan yaapan karenge toh jeevan ka har kshan aapko anand ki anubhuti dega

आनंद कृषि जीवन में अगर कहीं है और कहीं आप उसको पा सकते हैं तो वह केवल अभी हो रही है और इसी

Romanized Version
Likes  38  Dislikes    views  543
WhatsApp_icon
user

Shipra Ranjan

Life Coach

0:58
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीवन को आनंदमय बनाने के लिए कुछ सुझाव दीजिए अपनी सोच सकारात्मक बनाएंगे अपने किशन को देखने के लिए तो आप अपने आसपास खुशियां ही खुशियां ना सीख जाएंगे बल्कि दूसरों में खुशियां बांटना शुरू कर देंगे लेकिन अगर आपसे प्रसन्न होंगे मन प्रसन्न होंगे तो बिल्कुल खुश हैं तो दूसरों को भी खुश नहीं है जो भी चीजें हैं जो साधन है उसमें देखें और अपनी सोच को

jeevan ko anandamay banane ke liye kuch sujhaav dijiye apni soch sakaratmak banayenge apne kishan ko dekhne ke liye toh aap apne aaspass khushiya hi khushiya na seekh jaenge balki dusro me khushiya bantana shuru kar denge lekin agar aapse prasann honge man prasann honge toh bilkul khush hain toh dusro ko bhi khush nahi hai jo bhi cheezen hain jo sadhan hai usme dekhen aur apni soch ko

जीवन को आनंदमय बनाने के लिए कुछ सुझाव दीजिए अपनी सोच सकारात्मक बनाएंगे अपने किशन को देखने

Romanized Version
Likes  544  Dislikes    views  7078
WhatsApp_icon
user

Dr. Parul Adlakha

Clinical Psychologist

1:25
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

लेके पहला तो यह होता है कि हम अपने लाइफ स्टाइल ऑफ कर रखी थी हमारे लिए भी हिंदी हो और जो हम काम कर रहे हैं उसमें हमारा एक्टिव रहे हम मोटिवेशन रहे चीजो को लेकर थोड़ा कितना को लेकर डार्लिंग बनाना बहुत ज्यादा ध्यान देना और उसके साथ प्रेस करना फीलिंग आफ इवेपरेशन आता है तो आमिर ओन्ली के लिए सिर्फ मेरे साथ हो रहा है या फिर बता नहीं पाते और वो और ज्यादा बढ़ता जाता है बहुत सारी की बेइज्जती फिजिकल एक्टिविटी

leke pehla toh yah hota hai ki hum apne life style of kar rakhi thi hamare liye bhi hindi ho aur jo hum kaam kar rahe hain usmein hamara active rahe hum motivation rahe cheejo ko lekar thoda kitna ko lekar darling banana bahut zyada dhyan dena aur uske saath press karna feeling of ivepreshan aata hai toh aamir only ke liye sirf mere saath ho raha hai ya phir bata nahi paate aur vo aur zyada badhta jata hai bahut saree ki bejjati physical activity

लेके पहला तो यह होता है कि हम अपने लाइफ स्टाइल ऑफ कर रखी थी हमारे लिए भी हिंदी हो और जो हम

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  395
WhatsApp_icon
user

Dr.Nisha Joshi

Psychologist

0:55
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न है कि जीवन को आनंदमय बनाने के लिए कुछ सरल सुझाव दीजिए जीवन को आनंदमय बनाना है तो आपको खुद पॉजिटिव सोचना होगा जी हां और अच्छे काम करनी होगी जो आपको पसंद है वह जिससे आपको भी खुशी मिले और आप के आजू-बाजू में जो रहते हैं उनको भी खुशी मिले फैमिली है फ्रेंड से लेकिन जो भी काम करें अच्छा सच्चा करें जिससे किसी का भी नुकसान ना हो तो आप अपना जीवन आनंदमय व्यतीत करते हो एग्जांपल अगर मैं आपको दूं तो कोई 10000 की सैलरी में है और कोई 50000 की सैलरी में भी दुखी रहता है सिंपल चीज है जो भी है नजरिया और सोचने का यह दोनों चीज अगर सही हो तो लाइफ ही सुखमय और आनंद में रहती आपका दिन शुभ हो धन्यवाद गुड लाइफ एंजॉय

aapka prashna hai ki jeevan ko anandamay banaane ke liye kuch saral sujhaav dijiye jeevan ko anandamay banana hai toh aapko khud positive sochna hoga ji haan aur acche kaam karni hogi jo aapko pasand hai vaah jisse aapko bhi khushi mile aur aap ke aju baju mein jo rehte hain unko bhi khushi mile family hai friend se lekin jo bhi kaam karen accha saccha karen jisse kisi ka bhi nuksan na ho toh aap apna jeevan anandamay vyatit karte ho example agar main aapko doon toh koi 10000 ki salary mein hai aur koi 50000 ki salary mein bhi dukhi rehta hai simple cheez hai jo bhi hai najariya aur sochne ka yah dono cheez agar sahi ho toh life hi sukhmay aur anand mein rehti aapka din shubha ho dhanyavad good life enjoy

आपका प्रश्न है कि जीवन को आनंदमय बनाने के लिए कुछ सरल सुझाव दीजिए जीवन को आनंदमय बनाना है

Romanized Version
Likes  615  Dislikes    views  5312
WhatsApp_icon
user

Rakesh Tiwari

Life Coach, Management Trainer

1:17
Play

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

आपका प्रश्न जीवन को आनंदमय बनाने के लिए कुछ सुझाव दीजिए बनाकर भेजा है तो आपको कोई भी काम करें उसमें कोई न कोई आनंद का वास्तविक है आप भी पहली बार मन में यह विचार करें क्या मन से वचन से कर्म से किसी भी व्यक्ति को उसकी भावनाओं को आहत नहीं करेंगे मनसा वाचा कर्मणा अहिंसक रहेंगे और तीसरी बात सादगी और सरलता विशेषता और चुटकी यह पहचान है आप शहद रहे बनल रहे और जीवन को परिवर्तन से एवं प्रसन्न रहें और पूरा ध्यान वर्तमान में रखें यही सुझाव है आपको जीवन को आनंदमय बनाने के लिए कल के बारे में विचार करें आने वाले कल के बारे में वर्तमान का जो समय उसमें

aapka prashna jeevan ko anandamay banane ke liye kuch sujhaav dijiye banakar bheja hai toh aapko koi bhi kaam kare usme koi na koi anand ka vastavik hai aap bhi pehli baar man me yah vichar kare kya man se vachan se karm se kisi bhi vyakti ko uski bhavnao ko aahat nahi karenge manasa watchaa karmana ahinsak rahenge aur teesri baat saadgi aur saralata visheshata aur chutakee yah pehchaan hai aap shehed rahe banal rahe aur jeevan ko parivartan se evam prasann rahein aur pura dhyan vartaman me rakhen yahi sujhaav hai aapko jeevan ko anandamay banane ke liye kal ke bare me vichar kare aane waale kal ke bare me vartaman ka jo samay usme

आपका प्रश्न जीवन को आनंदमय बनाने के लिए कुछ सुझाव दीजिए बनाकर भेजा है तो आपको कोई भी काम क

Romanized Version
Likes  236  Dislikes    views  1654
WhatsApp_icon

चेतावनी: इस टेक्स्ट में गलतियाँ हो सकती हैं। सॉफ्टवेर के द्वारा ऑडियो को टेक्स्ट में बदला गया है। ऑडियो सुन्ना चाहिये।

जीवन को आनंदमय बढ़ाने के लिए कुछ सरल सुझाव दीजिए यह आपका कहना है आप बहुत ही आसान तरीके से अपने जीवन को आनंदमय बना सकते हो और इसके साथ जब मैं आपको दे रहा हूं प्लीज नोट कीजिए इसका सबसे सरल उपाय है संतुष्टि हमारे जीवन में बहुत ही महत्वपूर्ण शब्द है संतुष्टि शब्द ही नहीं है वास्तविकता है जिस व्यक्ति ने संतोष नहीं किया है वह व्यक्ति जिंदगी भर भटका है और भटकता रहा है आपको अपना जीवन आनंदमय बनाना है तो आपको सबसे पहले संतुष्ट रहना होगा वो इस प्रकार से अगर आप 10000 का कमा रहे हो महीने में जो भी कार्य कर रहे हो तो आप 10000 से संतुष्टि करें ना कि अगला 50 हजार कमा रहा है तो आप उसकी टककर लगाएं मेरे कहने का मतलब यह नहीं है कि आप 10000 पर ही अटके रहो लेकिन जिस तरह का जैसा भी आप काम आ रहे हो उसी में संतुष्ट गई है और अपने बीवी बच्चे बस जो भी जीवन में आपकी लाइफ है उनको सही ढंग से सही तरीके से बैलेंस बनाकर अपनी जिंदगी को आगे बढ़ाइए संतुष्टि ही जीवन का आनंद है धन्यवाद

jeevan ko anandamay badhane ke liye kuch saral sujhaav dijiye yah aapka kehna hai aap bahut hi aasaan tarike se apne jeevan ko anandamay bana sakte ho aur iske saath jab main aapko de raha hoon please note kijiye iska sabse saral upay hai santushti hamare jeevan mein bahut hi mahatvapurna shabd hai santushti shabd hi nahi hai vastavikta hai jis vyakti ne santosh nahi kiya hai vaah vyakti zindagi bhar bhataka hai aur bhatakta raha hai aapko apna jeevan anandamay banana hai toh aapko sabse pehle santusht rehna hoga vo is prakar se agar aap 10000 ka kama rahe ho mahine mein jo bhi karya kar rahe ho toh aap 10000 se santushti karen na ki agla 50 hazaar kama raha hai toh aap uski takkar lagaen mere kehne ka matlab yah nahi hai ki aap 10000 par hi atake raho lekin jis tarah ka jaisa bhi aap kaam aa rahe ho usi mein santusht gayi hai aur apne biwi bacche bus jo bhi jeevan mein aapki life hai unko sahi dhang se sahi tarike se balance banakar apni zindagi ko aage badhaiye santushti hi jeevan ka anand hai dhanyavad

जीवन को आनंदमय बढ़ाने के लिए कुछ सरल सुझाव दीजिए यह आपका कहना है आप बहुत ही आसान तरीके से

Romanized Version
Likes  13  Dislikes    views  166
WhatsApp_icon
qIcon
ask
QuestionsProfiles

Vokal App bridges the knowledge gap in India in Indian languages by getting the best minds to answer questions of the common man. The Vokal App is available in 11 Indian languages. Users ask questions on 100s of topics related to love, life, career, politics, religion, sports, personal care etc. We have 1000s of experts from different walks of life answering questions on the Vokal App. People can also ask questions directly to experts apart from posting a question to the entire answering community. If you are an expert or are great at something, we invite you to join this knowledge sharing revolution and help India grow. Download the Vokal App!